Tag Archives: Bad Habits

इन 15 आदतों से बढ़ता है मोटापा (15 Bad Habits That Make You Fat)

अक्सर मोटापे (Obesity) से बचने के चक्कर में लोग ऐसी आदतें अपना लेते हैं, जो मोटापा कम करने की बजाय बढ़ा देती हैं. भूखे रहना, ठीक से खाना न खाना, फैट्स अवॉइड करना, लो फैटवाली चीज़ें खाना आदि ऐसी आदतें हैं, जो अनजाने में ही आपका मोटापा बढ़ा रही हैं. तो सावधान हो जाइए और इन आदतों (Habits) से बचने की कोशिश कीजिए.

Habits That Make You Fat

1. ब्रेकफास्ट न करना

ज़्यादातर लोग यह ग़लती करते हैं. ब्रेकफास्ट न करने से शरीर का मेटाबॉलिज़्म धीमा हो जाता है, जिससे दोपहर के बाद आप ओवर ईटिंग करना शुरू कर देते हैं. रिसर्च में यह बात साबित हो चुकी है कि जो लोग ब्रेकफास्ट नहीं करते, वो बाकी लोगों के मुक़ाबले 5 गुना तेज़ी से मोटापे के शिकार होते हैं.

2. नींद कम लेना या ज़्यादा

वेक फॉरेस्ट यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स के अनुसार, अगर आप 5 घंटे या उससे कम नींद लेते हैं या फिर 8 घंटे से ज़्यादा सोते हैं, तो बाकी लोगों के मुक़ाबले आपका बेली फैट ढाई गुना तेज़ी से बढ़ेगा.

3. बहुत तेज़ी से खाना

अगर आप खाना देखते ही कंट्रोल नहीं कर पाते और जल्दी-जल्दी खाना खा लेते हैं, तो आप अन्य लोगों के मुक़ाबले ज़्यादा ओवरईटिंग करते हैं. दरअसल, हमारे ब्रेन को यह सिग्नल देने में कि पेट भर गया है 20 मिनट लगते हैं, इसलिए 10 मिनट में खाना ख़त्म न करें, बल्कि धीरे-धीरे चबा-चबाकर 20 मिनट तक खाएं. इससे आप ओवरईटिंग से बच जाएंगे.

4. लो फैटवाली चीज़ें खाना

वेट लॉस करने के लिए ज़्यादातर लोग लो फैटवाली चीज़ें खाना शुरू कर देते हैं, पर उन्हें यह जानकर हैरानी होगी कि कुछ कैलोरीज़ बचाने के चक्कर में वो ज़्यादा कैलोरीज़ खा लेते हैं. दरअसल, लो फैट प्रोडक्ट्स में मैन्युफैक्चरर्स फैट को शक्कर और दूसरे फैट्स से रिप्लेस करते हैं. ज़्यादा शक्कर के कारण आपको तुरंत भूख लग जाती है, जिससे आप आमतौर से डबल खा लेते हैं.

5. रोज़ाना सॉफ्ट ड्रिंक का सेवन

आपको शायद मालूम नहीं होगा कि एक सॉफ्ट ड्रिंक या सोडा में 11-15 ग्राम तक शक्कर होती है. सैन एंटोनियो के रिसर्चर्स ने इस बात का खुलासा किया है कि जो लोग रोज़ाना एक या दो सोडा पीते हैं, बाकी लोगों के मुक़ाबले उनका बेली फैट पांच गुना तेज़ी से बढ़ता है.

6. बहुत ज़्यादा टीवी देखना

जो लोग ज़्यादा टीवी देखते हैं, वो बाकी लोगों के मुक़ाबले ज़्यादा स्नैक्स खाते हैं. फैटी और फ्राइड ये स्नैक्स चुपके-चुपके आपका वज़न बढ़ाते हैं और आपका ध्यान भी नहीं जाता.

7. प्लास्टिक की बॉटल से पानी पीना

इस ओर शायद ही आपने ध्यान दिया हो कि आपकी प्लास्टिक की वॉटर बॉटल कई बीमारियों के साथ-साथ मोटापा भी दे सकती है. प्लास्टिक बॉटल्स में मौजूद बीपीए इसे बढ़ावा देते हैं, इसलिए जल्द से जल्द अपनी प्लास्टिक की वॉटर बॉटल को स्टेनलेस स्टील या तांबे से रिप्लेस करें.

8. छोटी-छोटी बातों पर स्ट्रेस

स्ट्रेस होने पर अक्सर लोगों को अनहेल्दी चीज़ें खाने की क्रेविंग होती है. इस चक्कर में वे ओवरईटिंग कर लेते हैं. इसे स्ट्रेस ईटिंग कहते हैं. स्ट्रेस ईटिंग कब आपकी आदत में शुमार हो जाता है, आपको पता भी नहीं चलता और आप मोटापे के शिकार हो जाते हैं.

यह भी पढ़ें:  पीरियड्स देरी से आने के क्या कारण हो सकते हैं? (What Could Be The Reasons For Delayed Periods?)

Habits That Make You Fat

9. बड़ी प्लेट में खाना

एक स्टडी में यह पाया गया कि अगर ऑप्शन दिया जाए, तो 98.6% लोग खाने के लिए बड़ी प्लेट उठाते हैं. बड़ी प्लेट यानी ज़्यादा खाना और ज़्यादा कैलोरीज़ यानी कुल मिलाकर आपका बढ़ता मोटापा. कोशिश करें कि छोटी प्लेट में खाएं, चाहें, तो दोबारा ले लें, पर बड़ी प्लेट अवॉइड करें.

10. पर्याप्त पानी न पीना

पर्याप्त पानी पीने से हमारे बॉडी के सभी फंक्शन्स सुचारु रूप से चलते रहते हैं, पर कम पानी पीने से इनमें समस्या आती है. जब शरीर में पानी की कमी होती है, तो उसकी जगह बॉडी फैट लेने लगता है, जो मोटापे का कारण बनता है.

11. एक्सरसाइज़ न करना

अगर आप सही तरी़के से डायट नहीं फॉलो कर पा रहे हैं, तो कम से कम हफ़्ते में 5 दिन रोज़ाना 45 मिनट तक एक्सरसाइज़ करें. अगर आप यह भी नहीं करेंगे, तो रोज़ाना की एक्स्ट्रा कैलोरीज़ से बढ़नेवाले मोटापे के लिए किसी को दोष नहीं दे पाएंगे.

12. हेल्दी फैट्स से भी दूरी

मोटापे से बचने के लिए बहुत से लोग फैट्स से एकदम दूर रहते हैं, जबकि फ्लैक्स सीड्स और ड्रायफ्रूट्स से मिलनेवाले फैट्स न स़िर्फ हेल्दी होते हैं, बल्कि स्लिम बने रहने में भी आपकी मदद करते हैं, इसलिए अपने रोज़ाना के डायट में हेल्दी फैट्स को शामिल करें.

13. नमक को अनदेखा करना

रिसर्च में यह बात सामने आई है कि बहुत से लोग ज़रूरत से ज़्यादा क़रीब 50% अधिक नमक का सेवन रोज़ाना करते हैं. पैक्ड फूड, प्रोसेस्ड फूड और वेफर्स जैसे स्नैक्स में सोडियम की मात्रा बहुत अधिक होती है. नमक हमारे शरीर में न स़िर्फ वॉटर रिटेंशन बढ़ाता है, बल्कि मोटापे को भी बढ़ाता है.

14. न्यूट्रीशन लेबल न देखना

मार्केट में कुछ भी ख़रीदते व़क्त हम पैकेट के आगे देखते हैं, कभी पलटकर पैकेट के पीछे नहीं देखते, वरना हमें पता चल जाए कि उस प्रोडक्ट में कितनी शक्कर, कितना सोडियम, कितना फैट और कितनी कैलोरीज़ हैं. अगली बार कोई भी स्नैक्स का पैकेट ख़रीदें, तो उसमें मौजूद शक्कर, कैलोरीज़ की मात्रा यकीनन आपको चौंका देगी. आपने सोचा भी नहीं होगा कि अनजाने में आपने कितनी कैलोरीज़ का ओवरडोज़ कर लिया.

15. खाने के तुरंत बाद सो जाना

ज़्यादातर लोग खाना खाते ही बिस्तर पर लुढ़क जाते हैं, जबकि डॉक्टर्स भी कहते हैं कि खाने के 2 घंटे बाद सोएं. इससे हमारे शरीर को खाने को पचाने के लिए समय मिल जाता है, लेकिन ऐसा न करने से हम ख़ुद अपना ही नुक़सान कर बैठते हैं.

– सुनीता सिंह

यह भी पढ़ें: वेट लॉस टिप ऑफ द डे: 7 परफेक्ट वेट लॉस प्रोटीन शेक्स (Weight Loss Tip Of The Day: 7 Perfect Weight Loss Protein Shakes)

जानें महिलाओं की 10 बुरी आदतें (10 Bad Habits Of Women)

Bad Habits Of Women

अनजाने में ही महिलाएं कुछ ऐसी बुरी आदतों (Bad Habits Of Women) की शिकार होती हैं, जिनका उनकी सेहत पर बहुत बुरा असर पड़ता है. ऐसी कई ज़रूरी बातें हैं, जिन्हें महिलाएं गंभीरता से नहीं  लेती. कभी लापरवाही बस, तो कभी यूं ही टालने की आदत से मजबूर ये अपना ही नुक़सान कर बैठती हैं. कहीं आप भी किसी बुरी आदत की शिकार तो नहीं? आइए, जानें महिलाओं की कुछ ऐसी ही बुरी आदतों के बारे में.

 

1. बिना सोचे-समझे अंडरगारमेंट्स का चुनाव

अंडरगारमेंट्स का सही चुनाव बहुत महत्वपूर्ण होता है, क्योंकि इसका आपके स्वास्थ्य पर सीधा असर पड़ता है. ज़्यादातर महिलाओं इसे इतनी गंभीरता से नहीं लेती, पर आप ज़रूर इस पर ध्यान दें.

– ग़लत साइज़ की ब्रा पहनना- महिलाओं को अपने ब्रा का सही साइज़ पता होना बहुत ज़रूरी है, क्योंकि न स़िर्फ ये आपको अच्छा सपोर्ट व शेप देता है, बल्कि इससे आपके कपड़ों की फिटिंग भी अच्छी रहती है. ग़लत साइज़ का ब्रा पहनने से आपके ब्रेस्ट्स को सही सपोर्ट नहीं मिलता, जिसके कारण आपको गर्दन व पीठ में दर्द हो सकता है. इसके अलावा इससे ब्लड सर्कुलेशन में भी प्रॉब्लम  आ सकती है, इसलिए सही साइज़ व फिटिंग का ब्रा ही पहनें.

– सिंथेटिक अंडरवेयर पहनना- अक्सर महिलाएं प्राइवेट पार्ट्स की साफ़-सफ़ाई को उतना महत्व नहीं देेतीं, जितना देना चाहिए. यही कारण है कि वे अंडरवेयर्स पर भी उतना ध्यान नहीं देतीं. सिंथेटिक अंडरवेयर्स पसीना नहीं सोख पाते, जिसके कारण गीलापन बना रहता है और इंफेक्शन व खुजली हो सकती है. याद रहे, यूरिनरी इंफेक्शन कई बार किडनी इंफेक्शन का कारण भी बन सकता है, इसलिए हमेशा कॉटन के अंडरवेयर्स का ही इस्तेमाल करें. कभी-कभार चेंज के लिए स्टाइलिश सिंथेटिक अंडरवेयर्स पहनने में कोई हर्ज़ नहीं, पर रोज़ाना के लिए कॉटन के अंडरवेयर्स का चुनाव ही सही है.

2. बहुत ज़्यादा हाई हील्स पहनना

माना कि महिलाओं को हाई हील्स पहनना बहुत पसंद है, पर अपनी सेहत की क़ीमत पर नहीं. फैशन को फॉलो करने का यह मतलब कतई नहीं कि आप अपनी सेहत को ही अनदेखा कर दें. हाई हील्स के कारण पैरों को पूरा सपोर्ट नहीं मिलता और शरीर का पूरा ज़ोर पैरों की उंगलियों पर पड़ता है. इससे एड़ियों, घुटनों व कूल्हे पर बुरा प्रभाव पड़ता है. हाई हील्स के कारण कई बार ऑस्टियोआर्थराइटिस की समस्या भी हो सकती है. इसलिए पैरों के कंफर्ट को ध्यान में रखकर ही  फुटवेयर्स ख़रीदें.

3. अल्ट्रा टाइट जींस पहनना

स्किनी फिट जींस भले ही आपकी बॉडी को परफेक्ट शेप देकर आपको स्टाइलिश लुक देती हो, पर इसका लगातार इस्तेमाल आपकी सेहत को नुक़सान पहुंचा सकता है. इससे ब्लैडर इंफेक्शन, वेजाइनल यीस्ट इंफेक्शन और ब्लड सर्कुलेशन में प्रॉब्लम के कारण पैरों में खून जमना आदि हेल्थ प्रॉब्लम्स हो सकती हैं. इसके अलावा इससे नर्व डिसऑर्डर भी हो सकता है, इसलिए लगातार या लंबे समय तक टाइट जींस न पहनें.

4. भारी बैग्स उठाना

ऐसा कहा जाता है कि महिलाओं के हैंडबैग में उनकी पूरी दुनिया ही होती है. अपनी सारी ज़रूरी चीज़ें वे हमेशा अपने हैंडबैग में ही रखती हैं. ये हैंडबैग्स या स्लिंग बैग्स एक ही कंधे पर होने के कारण लगातार एक ही जगह पर दबाव डालते हैं. इसके कारण गले व पीठ की नसें खिंच जाती हैं, जो काफ़ी पीड़ादायक हो सकता है. इसके लिए सबसे ज़रूरी है कि आप अपने हैंडबैग में स़िर्फ ज़रूरत की चीज़ें ही रखें और हर हफ़्ते सफ़ाई कर सभी ग़ैरज़रूरी चीज़ें निकाल दें. अगर आपको लैपटॉप भी साथ ही रखना पड़ता है, तो स्लिंग बैग की बजाय बैग पैक का इस्तेमाल करें.

5. भारी ईयररिंंग्स पहनना

महिलाएं ईयररिंग्स की बहुत शौक़ीन होती हैं, पर कभी-कभी यह शौक़ उन पर भारी पड़ सकता है. दरअसल, लगातार या ज़्यादा समय तक भारी झुमके या लॉन्ग ईयररिंग्स पहनने से कान के छेद बड़े हो जाते हैं, जिसे ठीक कराने के लिए आपको डॉक्टर के पास जाना पड़ता है. इसलिए आप बेशक ख़ूबसूरत ईयररिंग्स पहनें, पर भारी ईयररिंग्स ज़्यादा समय तक न पहने रहें और न ही उन्हें पहनकर सोएं. रोज़ाना के लिए लाइट ईयररिंग्स ही पहनें. भारी ईयररिंग्स पहनना पसंद है, तो सपोर्ट के लिए उसमें चेन ज़रूर लगवाएं.

यह भी पढ़ें:  संपत्ति में हक़ मांगनेवाली लड़कियों को नहीं मिलता आज भी सम्मान… (Property For Her… Give Her Property Not Dowry)

Bad Habits Of Women
6. बच्चों का बचा खाना ख़त्म करना

बच्चों का बचा खाना ख़राब न हो जाए या फेंकना न पड़े, इसलिए ज़्यादातर महिलाएं अपने बच्चों का बचा खाना ख़त्म करती हैं. बच्चों का जूठा खाने से उन्हें कई बार मुंह में छाले आदि की समस्या भी जो जाती है. पर खाना ख़राब होगा, सोचकर वो ख़ुद को रोक नहीं पाती हैं. साथ ही इस चक्कर में वे एक्स्ट्रा कैलोरीज़ का सेवन भी कर लेती हैं, जिससे उनके वेट मैनेजमेंट पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है.

7. क्रैश डायट पर जाना

ज़ीरो साइज़ फिगर हर किसी को लुभाता है, तभी तो आजकल इसे पाने की चाहत में लड़कियां व महिलाएं डाइटिंग के नए-नए फंड अपनाती ही रहती हैं. पर सबसे बुरा है, क्रैश डाइटिंग, जिसमें वो अचानक से स़िर्फ सूप-सलाद पर आ जाती हैं. क्रैश डायटिंग से शरीर को पर्याप्त पोषण नहीं मिलता, जिससे कई हेल्थ प्रॉब्लम्स शुरू हो जाती हैं. क्रैश डायट किसी भी हाल में सही नहीं है. वज़न कम करने या अच्छा फिगर पाने के लिए सही डायट, रेग्युलर एक्सरसाइज़ और पर्याप्त नींद ही सही तरीक़ा है.

8. स्वास्थ्य को नज़रअंदाज़ करना

महिलाओं की एक बुरी आदत यह भी है कि वे अपनी कोई तकलीफ़ जल्दी किसी को बताती नहीं. अगर उन्हें कहीं दर्द है, तो या तो ख़ुद कोई घरेलू नुस्ख़ा आज़मा लेंगी या फिर उसे तब तक नज़रअंदाज़ करती रहेंगी, जब तक समस्या बड़ी न हो जाए. कुछ महिलाएं तो अपने डायट का भी ठीक से ध्यान नहीं रखतीं. सुबह का नाश्ता, जो हर किसी के लिए बहुत ज़रूरी होता है, उसे ये अक्सर अनदेखा कर देती हैं. सुबह का नाश्ता नहीं करने से शरीर में ब्लड शुगर लेवल कम हो जाता है और दिमाग़ तक ज़रूरी पोषक तत्वों की आपूर्ति सही तरी़के से नहीं हो पाती. रोज़ाना सुबह का नाश्ता बहुत ज़रूरी है. अपनों के दिल का ख़्याल तो ये बख़ूबी रखती हैं, पर जब अपने दिल की बारी आती है, तो ये यहां भी वही रवैया अपनाती हैं, जो अक्सर ये अपने सेहत को लेकर करती हैं. पर दिल की ज़रूरतों को समझते हुए अपना डायट, एक्सरसाइज़ आदि का ख़्याल रखना ज़रूरी है. इसलिए अपनों के साथ-साथ अपनी सेहत को भी उतनी ही तवज्जों दें, तो बेहतर होगा.

9. ग़ैरज़रूरी शॉपिंग करना

शॉपिंग और महिलाओं का तो जैसे जनम-जनम का नाता है. इनकी इस आदत से बेेचारे पुरुष  भी हमेशा परेशान रहते हैं. ज़रूरी चीज़ों की शॉपिंग करना तो बहुत ज़रूरी है, लेकिन समस्या तो तब आती है, जब ये ग़ैरज़रूरी शॉपिंग करने में जुट जाती हैं. इनकी इस बुरी आदत से बेवजह फ़िज़ूलख़र्ची हो जाती है, जिससे कभी-कभी घर का बजट भी डगमगा जाता है. शॉपिंग के लिए सबसे ज़रूरी है, चीज़ों की लिस्ट बनाना. इससे न तो आप ज़रूरी चीज़ें भूलेंगी और न ही ग़ैरज़रूरी चीज़ें ख़रीदेंगी.

10. बहुत देर तक टीवी देखना

टीवी के शौक़ीन तो बहुत-से लोग होते हैं, पर महिलाएं इसकी कुछ ज़्यादा ही दीवानी होती हैं. अपने पसंदीदा डेली सोप देखने के चक्कर में ये घंटों टीवी के सामने बैठी रहती हैं. इससे टीवी से निकलनेवाली हानिकारक किरणों से इनकी आंखों की रोशनी पर असर तो पड़ता ही है, साथ ही ग़लत बॉडी पोश्‍चर में बैठने के कारण इन्हें कई हेल्थ प्रॉब्लम्स भी हो जाती हैं. लगातार टीवी न देखें, बीच-बीच में गैप लें. इंटरटेनमेंट के लिए और भी बहुत-से ऑप्शन हैं, उन्हें भी ज़रूर आज़माएं.

– अनीता सिंह

यह भी पढ़ें: मल्टी टास्किंग के १० ख़तरे महिलाओं के लिए हैं हानिकारक (10 Risks Of Multitasking Every Woman Must Know)

पुरुषों की आदतें बिगाड़ सकती हैं रिश्ते (Bad Habits Of Men Can Ruin Your Relationship)

Bad Habits Of Men Can Ruin Your Relationship

पुरुषों की आदतें बिगाड़ सकती हैं रिश्ते (Bad Habits Of Men Can Ruin Your Relationship)

पुरुषों की ऐसी कई आदतें हैं, जो उनसे जुड़े लोगों को पसंद नहीं आतीं और आगे चलकर यही आदतें झगड़े का कारण भी बनती हैं, ख़ासतौर पर पति-पत्नी के रिश्ते में. फिर धीरे-धीरे छोटे-छोटे झगड़ों से ही रिश्ते में तनाव आने लगता है और रिश्ते बिगड़ जाते हैं. आइए, संक्षेप में इसके बारे में जानते हैं.

Bad Habits Of Men Can Ruin Your Relationship

– पुरुषों में ईगो यानी अहंकार ख़ूब होता है. वे अपने अहंकार के आगे भावनाओं की कद्र बहुत कम करते हैं. उनकी इस आदत से उनकी पार्टनर बहुत दुखी रहती है और बार-बार ऐसा होने पर वह अपने रिश्ते में घुटन महसूस करने लगती है.

– ऐसे कई पुरुष होते हैं, जो अपनी बात पर कायम नहीं रहते. वे आज कुछ कहते हैं और बाद में उनका स्टेटमेंट कुछ और हो जाता है. इससे रिश्तों में दरार पड़ते देर नहीं लगती.

– ऐसे पुरुषों पर महिलाएं कम ही विश्‍वास करती हैं, क्योंकि उन्हें पता होता है कि कल वह अपनी बात से मुकर जाएंगे.

– यह मानी हुई बात है कि जब रिश्ते में विश्‍वास ही न हो, तो वह टिकेगा कैसे. ऐसे में पत्नियां तो अपने ऐसे पतियों की किसी भी बात को गंभीरता से नहीं लेती हैं और अपनी बातें शेयर करने से भी कतराती हैं.

– क्योंकि पति की बात-बात पर पलट जाने की आदत पत्नी के मन में संशय के बीज बो देती है और रिश्ते में कड़वाहट आ जाती है.

– ऐसे पुरुषों की भी कमी नहीं है, जो अपने घर-परिवार को बिल्कुल वक़्त नहीं देते. उन्हें लगता है कि पैसे कमाकर घर में दे देना ही बहुत है. जबकि परिवार को उनके साथ समय बिताने की अधिक ज़रूरत होती है. ऑफिस से घर आकर वे मोबाइल फोन, टीवी या कंप्यूटर पर चिपक जाते हैं, जो सही नहीं है.

– मनोवैज्ञानिक शामा गुप्ता कहती हैं कि पुरुषों का घर को समय न देना, उससे जुड़े सभी रिश्तों को प्रभावित करता है, विशेषतौर पर जीवनसाथी से. तब वह इस बात को लेकर झगड़ती रहती है या अपनी एक अलग दुनिया बना लेती है और ज़्यादा समय बाहर गुज़ारना शुरू कर देती है. इसका परिणाम अक्सर अलगाव के रूप में दिखाई देता है.

यह भी पढ़ें: आख़िर क्यों बनते हैं अमर्यादित रिश्ते?

यह भी पढ़ें: ज़िद्दी पार्टनर को कैसे हैंडल करेंः जानें ईज़ी टिप्स

– पुरुषों की ज़रूरत से ज़्यादा कंट्रोल करने की आदत से भी रिश्तों में दम घुटने की नौबत आ जाती है.

– साथ ही पुरुषों का बेहद ख़्याल रखने की आदत से भी रिश्ते ख़राब होने लगते हैं.

– शामा गुप्ता कहती हैं कि पार्टनर को भी हक़ है कि वह ख़ुद कुछ निर्णय ले सके और तय कर सके कि उसे क्या करना है. पुरुष का प्रोटेक्टिव होना अच्छी बात है, पर वह इतना भी ख़्याल न रखे कि पार्टनर उसके बिना कुछ कर ही न पाए. इस तरह तो उसका वजूद ही डगमगाने लगता है और कई बार विद्रोह की नौबत आ जाती है.

– अधिकतर पुरुषों की वीकेंड पर देर तक सोने और नहीं नहाने की आदत होती है, जिससे पत्नी परेशान हो जाती है. यह क्या बात हुई कि हर चीज़ बेड पर ही चाहिए. बेड पर ही चाय, कॉफी, लंच और डिनर लेते हैं. दिनभर टीवी पर न्यूज़ और क्रिकेट देखते रहते हैं. और यदि आपने उन्हें नहाने के लिए कह दिया, तो समझो आपने उनका वीकेंड ख़राब कर दिया.

– कई पति इतने लापरवाह होते हैं कि वे अपना गीला तौलिया बिस्तर पर, गंदे मोज़े सोफे के नीचे डाल देते हैं. पत्नी अगर उनके बैग से लंच बॉक्स न निकाले, तो वह बाहर निकलेगा ही नहीं. और न जाने क्या-क्या करते हैं. घर को सजाकर रखनेवाली व व्यवस्थित तरी़के से रहनेवाली सफ़ाई पसंद पत्नी को अपने पति की ये आदत बिल्कुल भी पसंद नहीं आती है.

– पार्टनर ग़लती करे, तो उससे माफ़ी मंगवाए बिना न रहनेवाले पुरुष अपनी ग़लती को कभी मानने को तैयार नहीं होते. पुरुषों की यह ग़लती स्वीकार नहीं करने की आदत से भी महिलाओं को बहुत परेशानी होती है.

– कई पुरुषों की आदत होती है कि लड़ाई-झगड़ा होने पर पुरानी बातों को लेकर ताने-उलाहने देने लगते हैं. उनकी कुरेदने की यह आदत रिश्तों में कड़वाहट ला देती है. अतः यह ज़रूरी है कि हर पुरुष उपरोक्त सभी बातों पर ध्यान दें और उनमें उचित सुधार लाएं, जिससे रिश्तों की डोर मज़बूत बनी रहे.

– सुमन वत्स

यह भी पढ़ें: क्या करें जब पति को हो जाए किसी से प्यार?

पति की ग़लत आदतों को यूं छुड़ाएं (Make Your Husband Quit His Bad Habits)

Husband, Bad Habits
पति की ग़लत आदतों को यूं छुड़ाएं (Make Your Husband Quit His Bad Habits)
आप उन्हें बेपनाह प्यार करती हैं, पर उनकी ग़लत आदतों से भी परेशान रहती हैं. तो क्यों न कुछ ऐसा करें कि वे सुधर भी जाएं और आपसी प्यार भी बना रहे.

ख़ुशहाल पारिवारिक जीवन में पतिपत्नी के आपसी प्यार व सहयोग का काफ़ी महत्व होता है. ऐसे में पत्नी जहां हर ज़िम्मेदारियों को निभाती है, तो वह अपने पति से भी यह उम्मीद रखती है कि वे भी इसमें उसका भरपूर साथ दें और पतिदेव करते भी हैं. लेकिन इसके बावजूद पतियों की कुछ ऐसी आदतें होती हैं, जिनसे पत्नियां परेशान रहती हैं. वे पति की इन ग़लत आदतों को छुड़ाने की भरसक कोशिश भी करती हैं. इस विषय में वीडिटर्ना डॉट इन के फाउंडर सनीष सुकुमारन ने हमें कई उपयोगी जानकारियां दीं.

Husband, Bad Habits

अल्कोहल व स्मोकिंग की आदत

यह समस्या तक़रीबन अधिकतर घरों में देखने को मिलती है. पत्नी चाहे लाख सेहत की दुहाई दे, पर पतिदेव के कान पर जूं तक नहीं रेंगती. पुरुषों की यह प्रवृत्ति रही है कि वे शराब व सिगरेट को अपनी शान समझते हैं. लेकिन जब इसका प्रतिकूल प्रभाव पड़ने लगता है, तब उनकी ज़िंदगी ही नहीं, पारिवारिक स्थिति भी डांवाडोल होने लगती है.

स्मार्ट ट्रिक्स

पति को शराब व सिगरेट से होनेवाले दुष्प्रभाव से अवगत कराएं.

ऐसे कई परिवारों के उदाहरण दे सकती हैं, जिनका घर इसके कारण बर्बाद हो गया.

अपने व बच्चों के प्रति प्यार का वास्ता देकर भी इसे छुड़ाने का प्रयास कर सकती हैं.

पति को प्यार से समझाएं कि इससे उनकी सेहत ही नहीं, बल्कि परिवार की भी मानसिक स्थिति प्रभावित होती है.

शेविंग न करना

अधिकतर पुरुषों की आदत होती है कि वे शेविंग कम ही करते हैं या नियमित रूप से नहीं करते. उनकी इस आदत से पत्नियां अक्सर चिढ़ती हैं. कई तो ऐसे भी होते हैं कि शादीफंक्शन आदि में भी शेविंग करके जाना ज़रूरी नहीं समझते.

स्मार्ट ट्रिक्स

पति को हाइजीन के महत्व के बारे में समझाएं.

पार्टनर को कहें कि रेग्युलर शेविंग करने से उनकी सेहत ही नहीं, बल्कि पर्सनैलिटी भी निखरती है.

आज के ज़माने में प्रेज़ेंटेबल होना कितना ज़रूरी है. अप टु डेट रहेंगे, तो ऑफिस में भी इम्प्रेशन बना रहेगा.

इस इमोशनल कार्ड को भी इस्तेमाल करना न भूलें कि उनका क्लीन शेव रहना आपको बेहद पसंद है.

पर्सनल बातें शेयर न करना

यह हर कोई जानता है कि अधिकतर पतियों की यह आदत होती है कि वे अपनी पत्नी को हर बात नहीं बताते. ख़ासतौर पर दोस्तों से जुड़ी बातें या किसी के साथ कोई लेनदेन हो या फिर किसी की मदद ही क्यों न की हो. ऐसा वे इसलिए करते हैं ताकि घर में कोई विवाद या कलह न हो, लेकिन वे नहीं जानते कि इसी वजह से भविष्य में उन्हें कई मुसीबतों का सामना भी करना पड़ सकता है.

स्मार्ट ट्रिक्स

आप पति को समझा सकती हैं कि उनका ऐसा करना ठीक नहीं है. पतिपत्नी के रिश्ते में पारदर्शिता का होना बेहद

ज़रूरी है.

कल को कोई धोखा दे दे या फिर कोई उनसे ही किसी बात को लेकर पूछताछ करे, तो उनके लिए उस स्थिति को हैंडल करना मुश्किल हो सकता है.

कई बार बहुतसी बातें अपने तक ही रखने से कई अनजानी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.

इससे आपकी सेहत भी प्रभावित हो सकती है और आप खुलकर ज़िंदगी को नहीं जी पाते हैं.

रात को घर देरी से आना

माना आज की फास्ट व बिज़ी लाइफ में वर्कलोड बढ़ता ही जा रहा है, लेकिन पतियों द्वारा अक्सर ओवरटाइम करना, घंटों ऑफिस में समय बिताना, वक़्त पर घर न आना पत्नियों की परेशानी का सबब बनने के साथसाथ उन्हें शंकित भी करने लगता है.

स्मार्ट ट्रिक्स

* पति को समय पर आने के लिए आग्रह करें या फिर कहें कि उनके आने के बाद ही परिवार के सभी डिनर एक

साथ करेंगे.

* आपको और परिवार को समय देने के महत्व को समझाएं.

* काम का महत्व अपनी जगह है और परिवार का अपनी जगहइस पहलू को विस्तार से समझाएं.

* टाइम मैनजमेंट करना सिखाएं. कई बार पति महोदय की लापरवाही और ढुलमुल रवैया भी देरी से आने का कारण

होता है.

यह भी पढ़ें:  क्या करें जब पति को हो जाए किसी से प्यार?

Husband, Bad Habits

अपनों को छोड़ दूसरों को अधिक महत्व देना

पतियों की यह ख़ास आदत होती है कि घर की मुर्गी दाल बराबर यानी अपने घरपरिवार के लोगों के गुणों को कम आंकेंगे और दूसरों के परिवार, ख़ासकर अपने दोस्तों व उनके परिवार की जी भरकर तारीफ़ करेंगे. उनके गुणों की बखान करेंगे.

स्मार्ट ट्रिक्स

* मुसीबत आने पर अपने ही काम आते हैं, इसे पति महोदय को समझाएं.

* बारबार दूसरों के सामने अपने परिवार को कमतर आंकना ख़ुद उनके व्यक्तित्व पर भी प्रश्‍नचिह्न लगाता है.

* पति को आगाह करें कि इससे आप व बच्चे हतोत्साहित होते हैं. कभीकभी आपमें हीनभावना भी पनपने लगती है.

* पार्टनर को बताएं कि बच्चे पिता को महत्व कम देने लगे हैं. उनके दिलोदिमाग़ में यह बात घर कर गई है कि पापा को तो बस अपने दोस्तों के ही बीवीबच्चे अच्छे लगते हैं. अतः पति को इन सभी बातों से अवगत कराएं और उनका व्यवहार बैलेंस रखने के लिए कहें.

इन्हें भी आज़माएं

* पतिपत्नी एकदूसरे के साथ अधिक समय बिताएं.

* पति को क्रोध में व चिढ़कर नहीं, बल्कि संयम व प्रेम से समझाएं.

* हालात व स्थिति के अनुसार पति को उनकी ज़िम्मेदारियों का एहसास करवाएं.

* घरपरिवार व अपनों के महत्व को

समझाएं. ध्यान रहे पहले परिवार, बाक़ी सब बाद में.

* बच्चे बड़ों से ही सीखते हैं, पति की ग़लत आदतों का बच्चों पर भी बुरा प्रभाव पड़ सकता है. इस पहलू पर पति महोदय का ध्यान आकर्षित करें.

* मास्टर स्ट्रोक तो यही होगा कि पत्नी पति को अपनी आदत बना लें, तब उन्हें आपके सिवा किसी और में दिलचस्पी कम

ही होगी.

परमिंदर निज्जर

यह भी पढ़ें: किस राशिवाले किससे करें विवाह?

लिवर के लिए घातक हैं ये 8 आदतें ( 8 Habits Which Are Harmful For Your Liver)

Habits Which Are Harmful For Your Liver

यह तो आप जानते ही होंगे कि लिवर हमारे शरीर के सबसे महत्वपूर्ण अंगों में से एक है. यह हमारे शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालकर शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करता है. इसके अलावा भी लिवर के अनेक कार्य हैं. कहना ग़लत न होगा कि हमारा स्वास्थ्य प्रत्यक्ष रूप से हमारे लिवर के स्वास्थ्य पर निर्भर करता है. सबसे अच्छी चीज़ यह है कि हमारा लिवर ख़ुद ब ख़ुद क्षतिग्रस्त सेल्स को रिप्लेस कर देता है, लेकिन अफ़सोस की बात यह है कि हमारी कुछ आदतें लिवर को इतना क्षतिग्रस्त कर देती हैं कि उसे ठीक कर पाना नामुक़िन हो जाता है. तो जानिए क्या हैं ये आदतें, ताकि समय रहते उन्हें सुधारकर आप अपने लिवर को ख़राब होने से बचा सकें.

Habits Which Are Harmful For Your Liver

 

 

शराब का सेवन

Habits Which Are Harmful For Your Liver
शराब हमारे लिवर का सबसे बड़ा दुश्मन है. यह लिवर के लिए धीमे जहर का काम करता है. आवश्यकता से अधिक शराब का सेवन करने से लिवर की कार्यक्षमता घटती है और यह शरीर से सही ढंग से टॉक्सिन्स निकालने में असमर्थ हो जाता है. हाल ही में हुए अध्ययनों से यह सिद्ध हुआ है कि दिनभर में तीन या उससे अधिक ग्लास शराब का सेवन करने से लिवर कैंसर होने का ख़तरा बढ़ जाता है.

दवाओं का अत्यधिक सेवन

Habits Which Are Harmful For Your Liver
बहुत से लोगों को छोटे-मोटे दर्द में बिना डॉक्टर की सलाह लिए पेन किलर खाने की आदत होती है. यह आदत लिवर के लिए बेहद हानिकारक है, क्योंकि पेन किलर लिवर और किडनी को नुक़सान पहुंचा सकती है. इसके अलावा कुछ लोग फिट रहने और वज़न कम करने के लिए अलग अलग तरह के आकर्षक विज्ञापनों से देखकर दवाएं ले लेते हैं. इन दवाओं के सेवन से भी लिवर को नुक़सान पहुंचता है. पैरासिटामोल भी लिवर के लिए नुक़सानदेह साबित हो सकती है. डॉक्टरों के मुताबिक़ पैरासिटामोल की हैवी डोज़ लिवर को नाकाम कर सकती है. शराब पीने वालों के लिवर को यह दवा दुगुना नुक़सान
पहुंचाती है. इसलिए बेहतर यही होगा कि आप ख़ुद को पेन किलर का गुलाम न बनाएं और डॉक्टर की सलाह लिए बिना इनका सेवन न करें.

धूम्रपान

Habits Which Are Harmful For Your Liver

सिगरेट लिवर को अप्रत्यक्ष रूप से प्रभावित करती है. सिगरेट के धुंए में पाए जाने वाले जहरीले केमिकल्स अंत में लिवर तक पहुंचते हैं और लिवर सेल्स को नुक़सान पहुंचाते हैं. अगर आप चाहते हैं कि आपका लिवर स्वस्थ रहे तो सिगरेट पीने की आदत छोड़ दें.

नींद की कमी
जरनल ऑफ एनॉटमी में प्रकाशित एक स्टडी के मुताबिक़ नींद की कमी से लिवर पर अधिक दबाव पड़ता है. लिवर के साथ साथ अपने शरीर के अन्य अंगों को ठीक रखने के लिए हमें 8 घंटे की नींद लेना ज़रूरी होता है.

ये भी पढ़ेंः गारंटीः उपाय जो दिलाएंगे कब्ज़ से पक्का निजात

ज़्यादा प्रोटीन का सेवन
शोध कहते हैं कि अधिक मात्रा में प्रोटीन का सेवन शरीर के लिए नुक़सानदेह होता है. पर्याप्त कार्बोहाइड्रेट के बिना ज़्यादा प्रोटीन का सेवन लिवर से जुड़ी समस्याओं को बढ़ा सकता है इसलिए मीट और अंडे के साथ हरी सब्ज़ियां और स्टार्च भी भरपूर मात्रा में ग्रहण करना चाहिए.

मोटापा

Habits Which Are Harmful For Your Liver
मोटापा भी लिवर के लिए ख़तरनाक होता है. ज़्यादा खाने से शरीर में चर्बी बढ़ जाती है, जो स्टोरिंग सेल से बाहर आकर लीवर में जमा होने लगती है. जिससे लिवर डैमेज होने लगता है. इतना ही नहीं, लिवर के फैटी होने से हार्ट और कैंसर का ख़तरा भी बढ़ जाता है इसलिए अपने आहार और एक्सरसाइज़ पर ध्यान दें. इन दोनों पर ध्यान न देने की आदत आपका मोटापा बढ़ा सकती है और जैसा कि हमने बताया मोटापा आपके लिवर के लिए नुक़सानदायक होता है.

अत्यधिक मात्रा में प्रोसेस्ड फूड का सेवन
ज़रूरत से ज़्यादा प्रोसेस्ड फूड का सेवन करने से लिवर के ख़राब होने का ख़तरा बढ़ जाता है, क्योंकि प्रोसेस्ड फूड में भरपूर मात्रा में प्रिज़र्वेटिव्स, एडिटिव्स और आर्टिफिशियल स्वीटनर्स होते हैं, जो लिवर को नुक़सान पहुंचाते हैं.

नाश्ता न करना
सुबह का नाश्ता सबसे महत्वपूर्ण भोजन होता है. क्योंकि जब हम सुबह उठते हैं तो एनर्जी बहुत कम होती है, ऐसे में नाश्ता न करने से शरीर का एनर्जी लेवल और कम हो जाता है और लिवर को अपना काम करने में दिक्कत का सामना करना पड़ता है. इसलिए भूल कर भी सुबह का नाश्ता स्किप न करें, यह आपके शरीर व मस्तिष्क दोनों के लिए ज़रूरी है.

करें इन चीज़ों का सेवन

. डेली डायट में सेब और हरी सब्ज़ियों की मात्रा बढ़ा दें. सेब और पत्तेदार सब्जियों में मौजूद पेक्टिन पाचन तंत्र में उपस्थित विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाल कर लिवर की रक्षा करता है. इसके अलावा, हरी सब्ज़ियां पित्त के प्रवाह को बढ़ाती हैं.
. एवोकैडो और अखरोट को अपने आहार में शामिल कर आप लिवर की बीमारियों के आक्रमण से बच सकते हैं. एवोकैडो और अखरोट में मौजूद
ग्लुटथायन, लिवर में जमा विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालकर इसकी सफ़ाई करता है.
.लिवर की बीमारियों के इलाज के लिए मुलेठी का इस्तेमाल कई आयुर्वेदिक औषधियों में किया जाता है. इसके इस्तेमाल के लिए मुलेठी की जड़ का पाउडर बनाकर इसे उबलते पानी में डालें. फिर ठंड़ा होने पर छान लें. इस पानी को दिन में एक या दो बार पीएं.
. हल्दी लीवर के लिए बहुत फ़ायदेमंद होती है. इसमें एंटीसेप्टिक गुण मौजूद होते हैं और यह एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करती है. अतःहल्दी को अपने खाने में शामिल करें या रात को सोने से पहले एक ग्लास दूध में थोड़ी-सी हल्दी मिलाकर पीएं.
. एप्पल साइडर विनेगर लिवर में मौजूद विषैले पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है. खाने से पहले एप्पल साइडर विनेगर पीने से शरीर की चर्बी घटती है. एक गिलास पानी में एक चम्मच एप्पल साइडर विनेगर सिरका मिलाएं और इसे दिन में दो से तीन बार लें.
. आंवला भी लिवर के लिए बहुत फ़ायदेमंद होता है. इसमें लिवर को सुरक्षित रखने वाले सभी तत्व मौजूद होतो हैं. लिवर के स्वस्थ रखने के लिए दिन में 4-5 कच्चे आंवले का सेवन करें.
ये भी पढ़ेंः चेहरा बताता है सेहत का हाल

 

आदतें, जो आपको बूढ़ा बना रही हैं (Daily Habits That Are Aging You?)

Do You Look Older Than Your Age

क्या आप अपनी उम्र से ज़्यादा बड़ी दिखती हैं? आपके जीन्स के अलावा भी ऐसी बहुत-सी आदतें हैं जो आपको समय से पहले बूढ़ा बना रही हैं.

Do You Look Older Than Your Age

 

लो-फैट डायट्स 
झुर्रियों से बचने के लिए व त्वचा को नर्म-मुलायम बनाए रखने के लिए ओमेगा-थ्री फैटी एसिड्स ग्रहण करना बहुत ज़रूरी है. ज़्यादातर लो-फैट डायट्स में इन फैटी एसिड्स की कमी होती है, जिसके कारण त्वचा समय से पहले बूढ़ी होने लगती है.

स्ट्रॉ का इस्तेमाल

Do You Look Older Than Your Age
स्ट्रॉ से ड्रिंक्स इत्यादि का सेवन करने के लिए हमें अपने होंठों को सिकोड़ना पड़ता है, जिसके कारण मुंह के आस-पास लाइन्स व रिंकल्स उभर जाते हैं. ध्रूमपान करने पर भी यही समस्या होती है. इसलिए स्ट्रॉ के बजाय ग्लास से पिएं और अगर स्मोकिंग की आदत है तो इसे छोड़ने के अलावा और कोई विकल्प नहीं है. यह थोड़ा मुश्किल तो ज़रूर है, लेकिन स्मोकिंग छोड़ने के कई फायदे हैं.

ग़लत पॉश्‍चर
ग़लत तरी़के से बैठने-उठने से रीढ़ की हड्डी झुक जाती है, जिसके कारण मसल्स व बोन्स पर दबाव पड़ता है. नतीज़तन शरीर में दर्द व थकान की समस्या होती है व स़िर्फ इतना ही नहीं पीठ हमेशा के लिए झुक जाती है.

ये भी पढ़ें: पीठदर्द से राहत के लिए योग

हीटिंग का ज़रूरत से ज़्यादा इस्तेमाल
घर को गर्म रखने के लिए ज़रूरत से ज़्यादा आर्टिफिशियल हीटिंग का इस्तेमाल करने से घर के अंदर की हवा रूखी हो जाती है. जिससे त्वचा व बाल रूखे हो जाते है, नतीज़तन चेहरे पर ज़्यादा झुर्रियां बनती है. इसलिए घर के अंदर हीट को कम से कम रखने की कोशिश करें.

ये भी पढ़ें: योगा फॉर फ्लैट टमी

सनस्क्रीन का इस्तेमाल न करना
अधिक समय तक सूर्य की हानिकारक यूवी किरणों के संपर्क में आने से त्वचा समय से समय बूढ़ी होने लगती है. इससे बचने के लिए घर से बाहर निकलते समय बिना भूले सनस्क्रीन लगाएं, बारिश के मौसम में भी क्योंकि बादल यूवी रेज़ को मात्र 20 फीसदी ब्लॉक कर पाते हैं.

पेट के बल सोना

Do You Look Older Than Your Age
पेट के बल तकिए में मुंह घुसाकर सोने से गालों व चिन पर रिंकल्स बढ़ते हैं. विशेषज्ञों के अनुसार, पीठ के बल सोने का सबसे सही तरीक़ा है.

नींद की कमी
एक व्यस्क व्यक्ति को कम से कम 7 घंटे की नींद लेना ज़रूरी होता है. नींद पूरी न होने पर न स़िर्फ हम थके हुए दिखते हैं, बल्कि हमारी आयु भी कम होती है. विशेषज्ञों के अनुसार, यदि आप ऊर्जा की कमी या वेट गेन जैसी समस्या का सामना कर रहे हैं तो टाइम पर सोना शुरू कर दीजिए.

तनाव

बहुत-से अध्ययनों से सिद्ध हो चुका है कि तनाव हमारे शरीर में उपस्थित सेल्स को गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त करते हैं, जिससे एज़िंग की प्रक्रिया तेज़ हो जाती है. इसलिए जवां रहना है तो तनाव को ख़ुद से दूर रखिए.

ये भी पढ़ें: बचें ऐसी दवाओं से जो दे सकती है आपको मोटापा

 

हर बीमारी का आयुर्वेदिक उपचार  उपाय जानने के लिए इंस्टॉल करे मेरी सहेली आयुर्वेदिक होम रेमेडीज़ ऐप