bani-ishq da kalma

टीवी पर दिखाए जाने वाले कुछ सीरियल दर्शकों को पसंद आते हैं. तो कुछ सीरियल अपने नाम और कंटेंट को लेकर विवादों में फंस जाते हैं. ऐसा ही सीरियल इन दिनों विवादों में फंसा हुआ है. सीरियल का नाम हैं ‘नमक इश्क का’। टीवी पर दस्तक देने के बाद से ही ये सीरियल सुर्ख़ियों में था. 7 दिसंबर को सीरियल के टेलीकास्ट होने के बाद से ही इसको बंद करवाने की मांग होने लगी थी. 6 जनवरी को लखनऊ हाई कोर्ट में एक अपील भी दायर की गयी थी. जिसे कोर्ट ने ख़ारिज कर दिया है. इस अपील में कोर्ट से गुजारिश की गयी थी की ‘नमक इश्क का’ को बैन किया जाये. ‘कल्चरल क्वेस्ट’ नाम की एक डांस सोसाइटी की तरफ से ये शिकायत दर्ज की गयी थी.

Namak Ishq Ka
सीरियल ‘नमक इश्क का’

इस याचिका में दावा किया गया था ,सीरियल में महिलाओं की छवि को धूमिल किया जा रहा है. याचिकाकर्ता ने सिनेमाटोग्राफ एक्ट 1952 के तहत सीरियल के मेकर्स के खिलाफ शिकायत की थी लेकिन कोर्ट ने इसे ख़ारिज करते हुए कहा कि सीरियल के खिलाफ एक्शन लेने के लिए याचिकाकर्ता को सम्बंधित अधिकारी के पास जाना चाहिए. याचिका का ख़ारिज होना सीरियल के मेकर्स के लिए राहत की खबर है. आपको बता दें की सीरियल में श्रुति शर्मा और आदित्य ओझा मुख्य भूमिका में हैं.

Namak Ishq Ka

ऐसा पहली बार नहीं है की सीरियल्स को विवादों का सामना करना पड़ा है. इससे पहले कई बड़े शो कंट्रोवर्सी के कारण बंद हो गए हैं. कुछ शो को तो कंट्रोवर्सी की वजह से अपने नाम और कंटेंट में बदलाव करना पड़ा था. इसी में एक नाम आता है राजीव खंडेलवाल के पॉपुलर शो ‘सच का सामना’ रियलिटी शो का। इस शो में लोगों को अपने निजी जीवन से जुड़े कुछ सच पूरी दुनिया से सामने उजागर करने पड़ते थे। और बाद में उनका रियलिटी चेक होता था. अपने अनोखे कंटेंट के कारण शो काफी लोकप्रिय तो हुआ लेकिन कई लोगों के सच ने शो में विवाद खड़ा कर दिया. शो को बंद करने की मांग जोर पकड़ने लगी और इसे आखिरकार बंद करना पड़ा। ‘सच का सामना’ शो को बंद करने की मांग राज्यसभा तक पहुंच गयी थी.

Sach Ka Samna
‘सच का सामना’
Sach Ka Samna

सीरियल के हिट होने में उसके कंटेंट की काफी अहम भूमिका होती है लेकिन वहीँ कंटेंट कभी कभी कंट्रोवर्सी भी क्रिएट कर देता है. अपने कांसेप्ट और स्टोरी के कारण प्रसारित होने के कुछ दिनों के भीतर ही बंद होने वाले ऐसे ही एक सीरियल का नाम है ‘पहरेदार पिया की’. शो में दिखाया गया था कि एक नौ साल के बच्चे की शादी 18 साल की लड़की से कर दी गयी है. कहानी में इस अटपटी जोड़ी को दर्शक झेल नहीं पाए और सीरियल को बैन करने की मांग जोर पकड़ने लगी. ‘जय हो’ नामक एक फाउंडेशन ने इसके खिलाफ शिकायत की और शो को उसके अनोखे कंटेंट के कारण बंद कर दिया गया.

Pehredaar Piya Ki
सीरियल ‘पहरेदार पिया की’
Pehredaar Piya Ki

कंट्रोवर्सिअल शो की लिस्ट में नाम में एकता कपूर के सबसे चर्चित सीरियल ‘जोधा अकबर’ का नाम भी आता है. सीरियल जब टेलीकास्ट हुआ था तो शो के खिलाफ काफी आवाज़ें उठीं थीं. एकता पर आरोप लगा था की एकता शो में जोधा -अकबर की गलत कहानी को दिखा रहीं है. शो को बंद करने के लिए काफी मांग की गयीं. लेकिन शो को बंद करने के बजाय एकता ने इसे एक काल्पनिक कहानी का टैग लगाकर टेलीकास्ट करना शुरू कर दिया. ‘जोधा अकबर’ ने विवादों के बावजूद काफी लोकप्रियता पायी और कई अवार्ड भी जीते।

Jodha Akbar
सीरियल ‘जोधा अकबर’

प्रसारित होने से पहले ही विवादों के कारण अपने नाम को पूरी तरह बदल देने वाला शो बना ‘बानी-इश्क़ दा कलमा’। पंजाब की मिटटी से जुड़ी इसकी कहानी का प्रोमो तो लोगों को खूब पसंद आया लेकिन शो के शुरुआती नाम ने विवाद खड़ा कर दिया। शो का पहले नाम गुर्बानी रखा गया था. गुर्बानी नाम सिख समुदाय में काफी पवित्र माना जाता है इसलिए इसके प्रोमो टीवी पर आते ही विवादों में घिर गए. शो का नाम बाद में बदलकर ‘बानी-इश्क़ दा कलमा’ कर दिया गया.

Bani Ishq Da Kalma
सीरियल ‘बानी-इश्क़ दा कलमा’

टीवी भले एक छोटा पर्दा माना गया है लेकिन इसके दर्शकों की संख्या ज्यादा है. इसलिए टीवी के सीरिअल्स घर-घर देखे जाते हैं. ऐसे में निर्माताओं की जिम्मेदारी बनती हैं की वे शो के कंटेंट को लेकर सतर्क रहें. ताकि दर्शक भी शो का मज़ा ले सकें और सीरिअल्स को भी विवादों का सामना न करना पड़े.