Bank Loan

Important Things Before Taking A Loanबैंकिंग क्षेत्र ने अपने उपभोक्ताओं को लोन (Loan) संबंधी अनेक सुविधाएं उपलब्ध कराई हैं, पर सही जानकारी न होने के कारण वे लोन लेने से डरते हैं. कहीं न कहीं उनके मन में एक डर छिपा रहता है. उन्हें यह भ्रम रहता है कि पर्याप्त जानकारी न होने के कारण कहीं कोई वित्तीय हानि न हो जाए. उनके इसी भ्रम को दूर कर रहे हैं आईडीबीआई बैंक (IDBI Bank) के लोन एक्सपर्ट अमित कुमार दुबे, जिन्होंने लोन से जुड़ी बारीक़ियों के बारे में हमें विस्तार से बताया.

Important Things Before Taking A Loan

– कोई भी लोन लेने से पहले अपने एरिया के 4-5 बैंकों से लोन संबंधी जानकारी प्राप्त करें कि कौन-सा बैंक अधिकतम राशि तक कितना लोन दे सकता है? महिलाओं के लिए लोन संबंधी कोई विशेष योजना है? इत्यादि.

और भी पढ़ें: क्या आप पर्सनल लोन लेना चाहते हैं? 

– लोन संबंधी योजना को ध्यान में रखकर और अपनी रिक्वायरमेंट के अनुसार बैंक का चुनाव करें.

– लोन ऐसी संपत्ति के लिए लें, जिससे भविष्य में बेचने पर मुनाफा मिले, जैसे- प्रॉपर्टी, घर, सोना आदि.

– यदि आप व्यापार के लिए लोन ले रही हैं, तो ऐसा व्यापार करें, जिसमें मुनाफे की संभावना जल्दी और अधिक हो.

– अपनी वार्षिक आय का 20% से ज़्यादा लोन न लें.

– लोन की ईएमआई इतनी हो की, आपकी मासिक आय का 10% से ज़्यादा भुगतान न करना पड़े.

– लोन लेने में किसी तरह की जल्दबाज़ी न करें. सभी महत्वपूर्ण जानकारियां प्राप्त करने के बाद ही कोई निर्णय लें.

– कोई भी लोन लेने से पहले मार्केट की पूरी रिसर्च कर लें यानी विभिन्न बैंकों से लोन से जुड़ी सारी जानकारी प्राप्त कर लें, जैसे- ब्याजदर, लोन की अवधि व कौन-कौन से डॉक्युमेंट्स जमा कराने होंगे इत्यादि.

– कार या घर ख़रीदते समय डेवलपर्स का विभिन्न बैंकों के साथ ख़ास अनुबंध होता है. ये बैंक लोन के स्पेशल ऑफर्स के साथ-साथ अधिकतम राशि तक लोन देते हैं.

– डॉक्युमेंट्स के सभी फोटोकॉपीज़ को अटैचटेड कराकर तैयार रखें.

– डॉक्युमेंट्स देते समय बैंक एग्ज़ुक्युटिव को घर-कार आदि के ऑरिजनल डॉक्युमेंट्स न दें.

और भी पढ़ें: एजुकेशन लोन की एबीसी 

– डॉक्युमेंट्स संबंधी सभी डिटेल्स को भरने से पहले अच्छी तरह पढ़ व समझ लें. किसी तरह का संदेह होने पर बैंक एग्ज़ुक्युटिव से संपर्क करें.

– लोन के दस्तावेजों पर हस्ताक्षर करने से पहले सभी ज़रूरी सूचनाओं को अच्छी तरह पढ़ व समझ लें.

– यदि आप किसी चार्ज़ेस या फी के संबंध में कोई चेक इश्यु कर रही हैं, तो बैंक के नाम से चेक इश्यु करें, न कि एग्ज़ुक्युटिव के नाम पर.

– डॉक्युमेंट्स जमा करने के बाद, यदि आपका लोन लेने का निर्णय बदलता है, तो तुरंत बैंक को सूचित करें.

– एक अवधि के बाद यदि लोन के स्वीकृत और अस्वीकृत होने की सूचना बैंक से नहीं मिलती है, तो तुरंत संबंधित अधिकारी से संपर्क करें.

– कोई भी लोन लेने के लिए एक साथ एक से अधिक बैंकों में अप्लाई न करें.

– लोन लेने से पहले अपने क्रेडिट कार्ड के सभी बिलों का भुगतान कुछ महीने पहले ही कर दें.

और भी पढ़ें: अब सस्ते लोन पर ख़रीदिए घर

– पूनम नागेंद्र शर्मा

 


बिज़नेस के क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने व उनकी आर्थिक स्थिति को मज़बूत बनाने के लिए ज़्यादातर बैंक समय-समय पर आकर्षक योजनाएं लॉन्च करते ही रहते हैं. ऐसी ही कुछ बेहतरीन योजनाओं के बारे में हम विस्तार से बता रहे हैं:

महिला उद्यमियों के लिए बेस्ट 7 लोन सुविधाएं
अन्नपूर्णा योजना

इस योजना के तहत फूड केटरिंग क्षेत्र से जुड़ी महिलाओं को लोन दिया जाता है. इसमें अधिकतम 50 हज़ार तक का लोन मिलता है, जिसकी समयावधि तीन साल है. ग्राहकों की सहूलियत के लिए बैंक लोन देने के बाद एक महीना ङ्गईएमआई फ्रीफ की सुविधा देते हैं. इसमें आपको गारंटर और कोलैटरल सिक्योरिटी की ज़रूरत पड़ती है. ब्याज दर मार्केट रेट के अनुसार होगी.

स्त्री शक्ति पैकेज

यह पैकेज उन महिलाओं के लिए है, जो किसी फर्म या बिज़नेस में 50% मालिकाना हक़ रखती हैं. अगर आप 2 लाख से अधिक लोन लेती हैं, तो मौजूदा ब्याज दर में आपको 0.5% की छूट दी जाती है. राज्य स्तर की एंटरप्रेनरशिप डेवलपमेंट प्रोग्राम्स में हिस्सा लेनेवाली महिलाएं ही आवेदन कर सकती हैं.

देना शक्ति योजना:

देना बैंक की यह योजना ख़ासतौर से महिला उद्यमियों के लिए है. इस योजना के तहत महिलाएं खेती, उत्पादन, रिटेल स्टोर व लघु उद्योग के लिए लोन ले सकती हैं. इसमें उन्हें 0.25% ब्याज दर में छूट मिलती है.

और भी पढ़ें: नए बिज़नेस के लिए स्टार्ट अप प्लान

उद्योगिनी योजना

पंजाब और सिंध बैंक की यह योजना है. इसके तहत महिलाओं को लोन कम ब्याज दर में मिलता है और नियम-शर्तों में भी काफ़ी छूट मिलती है.

सेंट कल्याणी योजना

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की यह योजना है. इसके तहत सरकार द्वारा जारी कार्यक्रमों, ग्रामीण इलाकों में कुटीर उद्योग, कृषि उद्योग, हैंडलूम-हैंडीक्राफ्ट, ब्यूटीपार्लर, डे केयर सेंटर, रिटेल व्यवसाय से जुड़ी महिलाओं को आसानी से लोन मिलता है. हर क्षेत्र का ब्याज दर अलग है और मार्केट रेट पर निर्धारित होता है.

महिला उद्यम निधि योजना

लघु उद्योग को बढ़ावा देनेवाला यह लोन पंजाब नेशनल बैंक द्वारा दिया जाता है. इसके तहत आपको 10 लाख तक का लोन मिल सकता है, जिसे 10 साल के भीतर भरना होता है. ज़्यादातर योजनाओं की तरह इसका ब्याज दर भी मार्केट रेट पर आधारित होता है, जो समय-समय पर बदलता रहता है. ब्यूटीपार्लर, डे केयर सेंटर, ऑटोरिक्शा, टू व्हीलर या कार के लिए स्पेशल लोन की सुविधाएं हैं.
– इनके अलावा बैंक ऑफ बड़ौदा की अक्षय महिला आर्थिक सहाय योजना और पंजाब नेशनल बैंक की महिला समृद्धि योजना, महिला उद्यम निधि योजना, महिला सशक्तिकरण योजना और ओरिएंटल बैंक व भारतीय महिला बैंक द्वारा जारी लोन योजनाएं हैं.

लघु उद्यमी क्रेडिट कार्ड

व्यापारियों को लुभाने के लिए बैंक कुछ न कुछ नया लेकर आते ही रहते हैं. इसी कड़ी में कई बैंक लघु उद्यमी क्रेडिट कार्ड लेकर आए हैं. इसकी मदद ने बिज़नेस की शुरुआत को और भी आसान बना दिया है. कई बैंक ये सुविधा देते हैं, सभी के बारे में जानकारी लेकर आप अपनी सहूलियत के मुताबिक़ क्रेडिट कार्ड ले सकते हैं.

और भी पढ़ें: कैसे करें यंगस्टर्स फाइनेंशियल प्लानिंग की शुरूआत?

सुनीता सिंह