Bhupathi

524031-paes-bhupathi-collage-700

टेनिस में भारत को पुरुषों में रिप्रेज़ेंट करनेवाले दो दिग्गज खिलाड़ी आजकल आपस में ही भिड़े हुए हैं. कहने को तो दोनों ही भारतीय हैं, लेकिन जिस तरह से वो नेट प्रैक्टिस कर रहे हैं, उससे तो यही लगता है कि न केवल दोनों भारत के दुश्मन हैं, बल्कि खेल भावना का भी अनादर कर रहे हैं. ये कोई पहली बार नहीं है जब इन दो बड़े खिलाड़ियों के बीच इस तरह की बहस हुई है, लेकिन इस बार ये खेल मैदान के बाहर भी उतना ही खेला जा रहा है, जितना कि अंदर.

The Davis Cup trophy

टेनिस का वर्ल्डकप है डेविस कप. इसमें दुनिया की टीमें हिस्सा लेती हैं. टेनिस खिलाड़ियों के लिए यह एक ऐसा मौक़ा होता है, जब वो कप जीतकर अपनी दावेदारी इस कप पर दिखाते हैं. यहां टीम वर्क काम करता है. भारत में टेनिस को लेकर कभी एकजुटता नहीं दिखती है. लिएंडर पेस देश के सीनियर खिलाड़ी हैं, लेकिन महेश भूपति से उनकी कहासुनी होती रहती है. वैसे तो भूपति टेनिस में पेस से ज्यूनियर हैं, लेकिन वो भी शायद ख़ुद को पेस से बड़ा खिलाड़ी समझते हैं.
दोनों के बीच उठा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है और पेस ने इस मामले में कहा है कि उन्हें यह कभी नहीं कहा गया था कि वो उज़्बेकिस्तान के साथ मुकाबले में नहीं खेलेंगे.

इतना ही नहीं भूपति ने अपने और पेस के बीच हुई व्हाट्सअप चैट को भी पब्लिक कर दिया, जो पेस के हिसाब से ग़ैर ज़िम्मेदाराना रवैया है. इन दोनों प्लेयर की राइवलरी कब ख़त्म होगी ये तो नहीं पता, लेकिन इन दोनों के इस तरह के व्यवहार से देश और खेल को शर्मिंदगी ज़रूर झेलनी पड़ रही है. किसी भी देश के दो खिलाड़ी जब आपस में भिड़ते हैं, तो इससे देश का नाम बदनाम होता है और बाकी खिलाड़ियों का मनोबल गिरने के साथ ही उस खेल की साख भी गिरने लगती है.