Birth Number

क्या आप भी 1, 10, 19 और 28 को जन्मे हैं, तो आपका रूलिंग नंबर है- 1 (Numerology No 1: Personality And Characteristics)

जिन लोगों का जन्म 1, 10, 19 और 28 तारीख़ को होता है, उन्हें 1 नंबर रूल करता है, जिसे हम उनको रूलिंग नंबर या बर्थ नंबर कह सकते हैं. इसका सीधा-सा कैल्कुलेशन है- आपकी डेट ऑफ बर्थ यानी जन्म तारीख़ के अंकों को जोड़ लें और उससे जो नंबर आता है, वो आपका रूलिंग नंबर कहलाता है. आज हम बात करेंगे नंबर वन यानी एक नंबर वालों की, क्या होती है उनकी ख़ासियत और कैसी होती है उनकी पर्सनैलिटी, आइए जानें-

ऑरिजनैलिटी इनकी पहचान होती है: ये न्यू आइडियाज़ और ओरिजनैलिटी में विश्‍वास रखते हैं. क्रिएटिव होते हैं. उन्हें दूसरों से आदेश लेना या किसी के अंडर काम करना पसंद नहीं होता. यही वजह है कि ये या तो अपना बिज़नेस स्टार्ट करते हैं या फिर आप इन्हें बड़ी कंपनियों में बड़े पदों पर देख सकते हैं.

पारिवारिक व ज़िम्मेदार होते हैं: ये परिवार में भी ज़िम्मेदारी निभाते हैं. हां, उन्हें घर के सदस्यों द्वारा सम्मान चाहिए होता है.

यह भी पढ़ें: क्या आप भी 2, 11, 20 और 29 को जन्मे हैं, तो आपका रूलिंग नंबर है- 2

जो ठान लेते हैं, वही करते हैं: एक बार इन्होंने कोई निर्णय ले लिया, तो फिर ये पीछे नहीं हटते, चाहे सारी दुनिया इनके ख़िलाफ़ क्यों न हो जाए. आप इन पर भरोसा कर सकते हैं.

प्यार में वफ़ादारी है इनकी निशानी: ये लॉयल पार्टनर्स होते हैं और प्यार में धोखा नहीं देते. बेहद रोमांटिक होते हैं और अपने पार्टनर को भी काफ़ी महंगे गिफ्ट्स देते हैं. बदले में ये वही वफ़ादारी अपने पार्टनर से भी एक्सपेक्ट करते हैं.

परेशानियों से घबराते नहीं हैं: चाहे इनके सामने कितनी भी परेशानियां या चुनौतियां आएं, ये घबरानेवालों में से बिल्कुल नहीं हैं. यही वजह है कि ये जिस भी क्षेत्र में करियर बनाते हैं, वहां ऊंचाइयों तक जाते हैं.

किन सेलेब्स के साथ शेयर करते हैं आप अपना नंबर: अनुष्का शर्मा, विद्या बालन, रितिक रौशन, ऐश्‍वर्या राय, धीरूभाई अंबानी, सुनील गावस्कर, लता मंगेश्कर, रेखा आदि कुछ उदाहरण हैं, जिनका बर्थ नंबर 1 है.

यह भी पढ़ें: हाथ की रेखाओं से जानें कि कहीं आपको ब्लडप्रेशर का ख़तरा तो नहीं

क्या वाकई नंबर्स हमारी ज़िंदगी से इस क़दर जुड़े होते हैं कि उनकी संख्या का बढ़ना या घटना हमें सफल या असफल बना सकता है? क्या 1 तारीख़ को पैदा हुए लोग वाकई हमेशा नंबर 1 बने रहते हैं और 8 नंबर वालों को बहुत मेहनत के बाद सफलता मिलती है? क्या है अंकशास्त्र यानी न्यूमेरोलॉजी का रहस्य और अंक हमारे जीवन को किस तरह प्रभावित करते हैं? आइए, जानते हैं.

1
नंबर 1
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 1 का स्वामी सूर्य है. 1 नंबर वाले लोग अपने फील्ड में भी नंबर वन होते हैं. इन्हें लीडर भी कहा जा सकता है. 1, 10, 19, 28 तारीख़ को जन्मे लोगों का रूलिंग नंबर 1 होता है. ऐश्‍वर्या राय, धीरूभाई अंबानी, मुकेश अंबानी, रतन टाटा, लता मंगेशकर आदि का रूलिंग नंबर 1 है.
नंबर 2
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 2 का स्वामी चंद्र है. 2, 11, 20,29 तारीख़ को जन्मे लोगों का रूलिंग नंबर 2 होता है. अमिताभ बच्चन, शाहरुख ख़ान आदि इसके अंतर्गत आते हैं. इस नंबर वाले लोग अपने फ़ील्ड के सुपर स्टार होते हैं और ये काफ़ी पॉप्युलर भी होते हैं.
नंबर 3
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 3 का स्वामी गुरु है. इस नंबर वाले लोग ख़ूब पैसा कमाते हैं. ये अपना काम ज़ीरो से शुरू करते हैं और उसमें काफ़ी नाम और पैसा कमाते हैं. 3, 12, 21, 30 तारीख़ को जन्मे लोग इस कैटेगरी में आते हैं. गोविंदा, रजनीकांत, करीना, रानी आदि का रूलिंग नंबर 3 है.

2

न्यूमेरोलॉजिस्ट श्‍वेता जुमानी के अनुसार, “9 ग्रहों के 9 नंबर्स हमारे व्यक्तित्व, व्यवहार को रूल करते हैं और हमारी सफलता या असफलता का कारण भी बनते हैं. अपने डेट ऑफ़ बर्थ यानी जन्म तारीख़ पर तो हमारा कंट्रोल होता नहीं, लेकिन नाम को लकी बनाकर काफ़ी हद तक हम अपना भाग्य बदल सकते हैं. आज अनिल कपूर, इमरान हाशमी, सुनील शेट्टी, इरफ़ान ख़ान, अनु मलिक, अजय देवगन से लेकर स्मृति ईरानी, पूनम ढिल्लन, तनुश्री दत्ता, श्‍वेता साल्वे, सेलीना जेटली जैसे कई सेलिब्रिटीज़ हमसे कंसल्ट करने यूं ही नहीं चले आते. न्यूमेरोलॉजी के सही प्रेडिक्शन ही इसकी लोकप्रियता का सबसे बड़ा कारण हैं.”

3

नंबर 4
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 4 का स्वामी राहू है. इस अंक वाले लोग काफ़ी बुद्धिमान और स्पिरिचुअल होते हैं. इनका एक माइनस प्वाइंट है कि ये एडजस्ट नहीं कर पाते. तब्बू, जूही, उर्मिला मातोंडकर आदि का रूलिंग नंबर 4 है.
नंबर 5
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 5 का स्वामी बुध है. ये बहुमुखी प्रतिभा के धनी होते हैं इसलिए किसी भी काम से बहुत जल्दी बोर हो जाते हैं और अलग-अलग फील्ड में काम करना पसंद करते हैं. 5, 14, 23 तारीख़ को जन्मे लोग 5 अंक की श्रेणी में आते हैं. हिमेश रेशमिया, आमिर ख़ान का रूलिंग नंबर 5 है.
नंबर 6
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 6 का स्वामी शुक्र है. इस फील्ड के लोग फिल्म, मीडिया, स्पोर्ट्स आदि से जुड़ना पसंद करते हैं और उसमें ख़ूब नाम कमाते हैं. 6, 15, 24 तारीख़ को जन्मे लोगों का रूलिंग नंबर 6 है. माधुरी दीक्षित, आलिया भट्ट, सचिन तेंदुलकर, सुभाष घई, कपिल देव, सानिया मिर्ज़ा, संजय लीला भंसाली आदि इस श्रेणी में आते हैं.

4

न्यूमेरोलॉजिस्ट भाविक सांघवी मानते हैं कि अंकशास्त्र तभी सही रिज़ल्ट दे सकता है, जब उसे पूरी तरह फॉलो किया जाए. उनके अनुसार, ⁛ज़्यादातर लोग समझते हैं कि न्यूमेरोलॉजी में स़िर्फ नाम बदलना होता है और आपकी क़ामयाबी पक्की समझो, पर असल में ऐसा है नहीं. स़िर्फ नाम बदलने से ज़िंदगी नहीं बदलती, इसके साथ-साथ मंत्र, दान, उपवास, लकी जेम स्टोन्स, नंबर, कलर आदि का भी ध्यान रखना होता है. आपके बर्थ और कंपाउंड नंबर्स किसके साथ मैच करते हैं और किस समय पर कौन-सा काम आपको शुभ फल देगा, इसके अनुसार यदि कार्य किए जाएं तो ही सही रिज़ल्ट मिल पाते हैं. मेरे पास गोविंदा, सुष्मिता सेन, पूजा बेदी, अपरा मेहता जैसे कई सेलिब्रिटीज़ के अलावा कई कॉमन लोग भी आते हैं और उन्हें इस साइंस का फ़ायदा भी मिला है. फ़िल्म इंडस्ट्री में ही नहीं, आम लोगों में भी न्यूमेरोलॉजी का चलन बढ़ रहा है. फिल्म स्टार्स की कोई भी बात छुपी नहीं रहती इसलिए लोगों इसकी जानकारी तुरंत मिल जाती है.”

5
नंबर 7
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 7 का स्वामी केतु है. इस अंक वाले लोग काफ़ी भावुक और मूडी होते हैं, यही वजह है कि ये क्रिएटिव भी होते हैं. आर्ट से जुड़ना इन्हें पसंद होता है. 7, 16, 25 तारीख़ को जन्मे लोगों का रूलिंग नंबर 7 होता है. एकता कपूर, महेन्द्र सिंह धोनी, सैफ़ अली ख़ान, करण जौहर, कैटरीना कैफ़, विपाशा बसु, शोभा डे आदि इस श्रेणी में आते हैं.
नंबर 8
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 8 का स्वामी शनि है. इस नंबर को अमूमन अनलकी माना जाता है, लेकिन ये लोग यदि स्पिरिचुअल हों तो ये इनके लिए फ़ायदेमंद होता है. इस राशि के लोगों को इनकी क़ाबिलियत के अनुसार सफलता नहीं मिल पाती. 8, 17, 26 तारीख़ को जन्मे लोग इस कैटेगरी में आते हैं. मदर टैरेसा, आसाराम बापू, सौरव गांगुली, शबाना आज़मी, आशा भोसले, शिल्पा शेट्टी आदि का रूलिंग नंबर 8 है.
नंबर 9
न्यूमेरोलॉजी के रूलिंग नंबर 9 का स्वामी मंगल है. ये तेज़ ग्रह है इसलिए इस अंक वाले लोग बहुत ग़ुस्से वाले होते हैं. आर्मी के ़ज़्यादातर ऑफ़िसर्स भी 9 अंक वाले ही पाए जाते हैं. 9, 18, 27 तारीख़ को जन्मे लोग इस श्रेणी में आते हैं. सलमान ख़ान, सुनिल शेट्टी, अक्षय कुमार, जैकी चैन, ब्रूसली आदि का रूलिंग नंबर 9 है.

6

न्यूमरोलॉजिस्ट श्‍वेता बरड़िया किसी भी विज्ञान को 100% सही नहीं मानतीं. उनके अनुसार, “कोई भी शास्त्र किसी के भी भविष्य की सौ फीसदी गारंटी नहीं दे सकता और न ही किसी की तक़दीर बदल सकता है. हां, अन्य शास्त्रों की तरह न्यूमेरोलॉजी भी बारिश में छाते का काम ज़रूर करती है. लेकिन तेज़ बारिश में जाने पर जिस तरह छाता साथ होते हुए भी शरीर पर बारिश के कुछ छींटे पड़ते ही हैं, उसी तरह कर्मों का फल तो भुगतना ही होता है, न्यूमेरोलॉजी कुछ हद तक आपकी राह आसान कर सकता है. आप अपने अच्छे समय में किसी अंक या ज्योतिषशास्त्री के पास जाते हैं और आपका सब कुछ अच्छा होता चला जाता है तो आपका इस पर विश्‍वास बढ़ने लगता है. लेकिन बुरे समय में जब यही शास्त्र असर नहीं दिखा पाता तो यक़ीन करना थोड़ा मुश्क़िल हो जाता है. कोई भी शास्त्र रात को दिन या दिन को रात में नहीं बदल सकता, ये स़िर्फ बता सकता है कि आगे खाई मिलेगी, लेकिन उसे पार तो आपको ही करना होगा. लोग कहते हैं कि अमिताभ बच्चन ने जब से नीलम की अंगूठी पहनी है, तब से उनका अच्छा समय शुरू हो गया, लेकिन तब हम ये सोचना क्यों भूल जाते हैं कि आज वे जादूगर, अजूबा, तू़फ़ान जैसी फ़िल्में नहीं साइन कर रहे हैं.”

7
न्यूमेरोलॉजी में 1, 3, 5, 6 को पॉजीटिव नंबर कहा जाता है, इन नंबर्स के लोगों को क़ामयाबी पाने के लिए अन्य नंबर्स के मुक़ाबले कम मेहनत करनी पड़ती है. 2 और 7 क्रिएटिव नंबर माने जाते हैं, इन नंबर्स के लोग ज़्यादातर क्रिएटिव फ़ील्ड में क़ामयाबी हासिल करते हैं. न्यूमेरोलॉजी के सबसे टफ़ नंबर हैं 4, 8 और 9, इन नंबर्स के लोगों को क़ामयाबी पाने के लिए ज़्यादा मेहनत करनी पड़ती है. 8 नंबर वालों को तो ज़्यादातर 35 साल के बाद ही क़ामयाबी मिल पाती है.

– कमला बडोनी