Bollywood Actor

लॉकडाउन में सोनू सूद ने प्रवासी मज़दूरों के लिए काफ़ी काम किया था और आज भी वो लोगों की और ज़रूरतमंदों की मदद करते रहते हैं. सोनू को उनके काम के लिए काफ़ी सराहा भी जाता है और अब निर्वाचन आयोग ने भी सोनू को पंजाब का स्टेट आइकॉन बनाकर सम्मानित किया है.

Sonu Sood

पंजाब के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एस करुणा राजू ने इस बारे में जानकारी दी कि उनके कार्यालय ने भारत निर्वाचन आयोग को इस संबंध में एक प्रस्ताव भेजा था, जिसे मंजूर कर लिया गया. सोनू अब पंजाब ने चुनाव संबंधी जागरूकता फैलाएंगे. वो एथिकल वोटिंग यानी नैतिक मतदान के लिए लोगों को प्रेरित करेंगे!

Sonu Sood

सोनू पंजाब के मोगा ज़िले के रहनेवाले हैं और यह सम्मान मिलने पर उन्होंने कहा कि मेरे राज्य को मुझ पर गर्व है यह जानकर काफ़ी सम्मानित महसूस कर रहा हूं, इमोशनली यह मेरे लिए बहुत मायने रखता है और मुझे आगे भी बेहतर काम करने के लिए प्रेरित करेगा.

Sonu Sood

सोनू अपनी आत्मकथा पर भी काम कर रहे हैं जिसका शीर्षक होगा मैं मसीहा नहीं हूं… इतना ही नहीं सोनू को उनके द्वारा किए गए सामाजिक कार्यों के लिए यूनाइटेड नेशन्स डेवलपमेंट प्रोग्राम (UNDP) द्वारा प्रतिष्ठित एसडीजी स्पेशल ह्यूमैनीटेरीयन एक्शन अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था और सोनू उनके साथ भी मिलकर काम करने की मंशा ज़ाहिर कर चुके हैं.

Sonu Sood

जैसाकि सभी जानते हैं कि सोनू ने प्रवासी मज़दूरों से लेकर विद्यार्थियों तक की काफ़ी मदद की थी, ना सिर्फ़ उन्हें घर पहुंचाया बल्कि उनके खाने- पीने, दवा और मोबाइल फ़ोन तक का इंतज़ाम सोनू ने किया था और अभी भी वो कभी किसी की पढ़ाई में मदद करते हैं तो कभी किसी के अस्पताल का बिल चुकाकर मदद करते ही रहते हैं. सोनू आम लोगों में काफ़ी लोकप्रिय हो चुके हैं और इसी के चलते अब उन्हें चुनाव में भी जागरूकता फैलाने का ज़िम्मा दिया गया है!

Sonu Sood

यह भी पढ़ें: द कपिल शर्मा शो में अपने मामा गोविंदा के सामने परफ़ॉर्म नहीं करना चाहते कृष्णा अभिषेक… कृष्णा ने बताई दोनों के बीच अनबन की ये वजह! (Krushna Abhishek Refuses To Perform in ‘The Kapil Sharma Show’ Episode With Govinda As Guest)

मुकेश खन्ना के एक इंटरव्यू की क्लिप पर इन दिनों काफ़ी बवाल मचा हुआ है. इस इंटरव्यू में मुकेश खन्ना कहते सुने कि औरत और मर्द बराबरी के नहीं हो सकते. दोनों की संरचना अलग अलग होती है. औरत का काम घर सम्भालना होता है. माफ़ कीजिए मैं कभी कभी बोल जाता हूं लेकिन ये मी टू की समस्या तभी शुरू हुई कब महिलाओं ने बाहर काम करना शुरू किया और आज महिलाएँ मर्दों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर बात करती हैं.

Mukesh Khanna

मुकेश की यह बात ज़ाहिर है लोगों को पसंद नाहीं आई और एक्ट्रेस दिव्यांका त्रिपाठी बेहद नाराज़ हुईं. उन्होंने ट्वीट किया कि यह पुराने ख़यालों को दर्शाता है और पीछे ले जानेवाला बयान है. ऐसे सम्मानित जगहों पर बैठे लोग जब ऐसी बातें करते हैं तो बेहद शर्मिंदगी महसूस होती है. मुकेश जी पूरे सम्मान के साथ मैं आपके इस बयान की कड़ी निंदा करती हूं!

Divyanka Tripathi

इस बयान पर सोना महापतत्रा का भी रिएक्शन आया और उन्होंने कहा कि मुकेश खन्ना कहते हैं औरतों को घर पर रहना चाहिए तो क्या घर पर मर्दों द्वारा उनका शोषण नहीं होता? ऐसे लोगों को नज़रंदाज़ करना चाहिए क्योंकि ये मंदबुद्धि है और ऐसी पिछड़ी सोच वाले हमारे इर्द गिर्द नज़र आएँगे ही.

Divyanka Tripathi

मुकेश खन्ना इस पर सफ़ाई पेश कर चुके हैं और उनका कहना है कि जितनी इज़्ज़त मैं महिलाओं की करता हूं इतना कोई नहीं करता लेकिन मेरे एक बयान को इतना ग़लत तरीक़े से दिखाया और लोगों ने ग़लत समझा है.

Divyanka Tripathi

यह भी पढ़ें: बिग बॉस 14: टास्क में बौखलाई कविता कौशिक ने एजाज़ खान की इतनी निजी बातें कहीं कि घरवाले और टीवी सेलेब भी बोल उठे, यह बहुत चीप है! (Bigg Boss 14: Kavita Kaushik Reveals Personal Details About Eijaz Khan, Housemates Call Her Cheap

लॉकडाउन के दौरान सोनू सूद का अलग ही व्यक्तित्व उभरकर आया और वो बन गए ग़रीबों के मसीहा. जब जहां से जो भी मदद मांगता सोनू उनकी मदद के लिए आगे हाथ बढ़ा देते. सोनू को इस काम के लिए काफ़ी वाहवाही और लोगों का प्यार भी मिला. इसके बाद भी सोनू कई तरह के समाजिक काम करते रहे, कभी किसी बच्चे के इलाज के लिए आगे आए तो कभी किसी की अन्य मदद के लिए… लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्हें सोनू की नेकी रास नहीं आ रही और वो इसे शक की निगाह से देख रहे हैं.

Sonu Sood

ऐसा ही एक बंदा ट्वीटर पर सोनू से सवाल करने लगा और उनकी मंशा पर संदेह जताने लगा. उसने लिखा- एक नया ट्विटर अकाउंट, सिर्फ 2 या 3 ही फॉलोअर, एक ही ट्वीट, कभी सोनू को टैग भी नहीं किया… कोई लोकेशन नहीं, कोई कॉन्टैक्ट डीटेल, इमेल एड्रेस नहीं, पर फिर भी सोनू ने इस ट्वीट को ढूंढ लिया और मदद की पेशकश की. पीआर टीम इसी तरह काम करती है.
पहले भी जो हैंडल्स मदद मांगने आए थे, वे सब अपने ट्वीट डिलीट कर चुके हैं. कुल मिलाकर इस बंदे ने सोनू की मदद को पीआर स्टंट बता दिया.

Sonu Sood
Sonu Sood

सोनू ने भी इसे जवाब देने में देर नहीं की, सोनू ने रसीद और टेस्ट्स की रिपोर्ट्स के स्क्रीन शॉट शेयर करते हुए लिखा- ये सही है भाई, मैंने ज़रूरतमंद को खोजा और उन्होंने ने भी किसी तरह मुझे ढूँढ लिया, ये सब इरादों की बात है जो तुम नहीं समझोगे! आगे सोनू ने लिखा कि वो मरीज़ कल अस्पताल में होगा बेहतर होगा उसके लिए कुछ फल भेज दें, 2-3 फॉलोअर वाला व्यक्ति भी बहुत खुश होगा, जब उसे कई फॉलोअर्स वाले व्यक्ति से कुछ प्यार मिलेगा…

Sonu Sood

लेकिन हैरानी की बात यह है कि यह व्यक्ति इसके बाद भी बाल की खाल निकालते हुए सोनू पर सवाल उठाता रहा और अपनी बात को सही साबित करने के लिए मदद माँगने की तारीख़, मदद की पेशकश की तारीख़ ढूँढता रहा और कहता रहा कि आपने पहले से इलाज करवा रहे किसी व्यक्ति को मदद का आश्वासन दिया. यह सब पीआर स्टंट ही है और आप फ़र्ज़ी काम कर लोगों को धोखा दे रहे हैं.

यह भी पढ़ें: ना अश्लील डायलॉग, ना फूहड़ता, अपनी नेचुरल कॉमेडी से दर्शकों को खूब हंसाया और जीता सबका दिल इन 12 क्लासिक हास्य कलाकारों ने! (12 Classic Bollywood Comedians Who Made Us Laugh Really Hard)

इन दिनों बॉलीवुड में काफ़ी बवाल चल रहा है. जया बच्चन ने जबसे थाली में छेद वाला बयान दिया है तब से कुछ ना कुछ विवाद हो ही रहा है. पहले रवि किशन और कंगना ने कहा कि हम जैसों को अपनी थाली खुद बनानी पड़ती है. कंगना ने तो यह भी कहा कि यहां तो हीरो के साथ सोने के बाद एक आइटम सॉन्ग मिलता है.

अब इस विवाद में एक्टर रणवीर शौरी की भी प्रतिक्रिया आई है और वो जया बच्चन पर बिफर पड़े. उन्होंने ट्वीट करके कहा कि आप लोग अपने बच्चों के लिए थाली सजाते हैं, हम जैसों को तो फेंके हुए टुकड़े दिए जाते हैं.

Ranvir Shorey

रणवीर शौरी बेहद उम्दा एक्टर हैं पर बावजूद इसके उन्हें उतना काम नहीं मिलता जिसके वो हक़दार हैं. रणवीर के इस बयान के बाद लोगों का काफ़ी समर्थन उन्हें मिल रहा है. फैंस ने कहा आप बेहद पसंद हैं लेकिन अब सम्मान और बढ़ गया.

यह भी पढ़ें: क्या पत्नी जया के बचाव में उतरे अमिताभ बच्चन, घुमा फिरा कर कंगना को घमंडी कह साधा निशाना? (Amitabh Bachchan Defends Jaya, Targets Kangana?)

राजकुमार राव भले ही नेशनल अवार्ड हासिल कर चुके हों लेकिन उन्हें आज भी वो स्टारडम नहीं मिला जिसके वो हक़दार हैं. लव सेक्स और धोखा जैसी एक्सपेरिमेंटल मूवी से अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत करनेवाले राजकुमार की गिनती मंजे हुए कलाकारों में होती है और हर किरदार पर उनकी वाहवाही भी होती है लेकिन अन्याय यह है कि उन्हें स्टार या सूपर स्टार की नज़र से आज भी नहीं देखा जाता. अलीगढ़, स्त्री, सिटीलाइट्स, न्यूटन जैसी फ़िल्में करने के बाद भी राजकुमार को बॉलीवुड ने अब तक वो नहीं दिया जिसके वो वाक़ई हक़दार हैं.

Underrated Actors In Bollywood

रणदीप हुड्डा अपने अलग अंदाज़ के लिए जाने जाते हैं और उनके इस अंदाज़ को सभी पसंद करते हैं लेकिन उनका फ़िल्मी सफ़र उन्हें स्टार का दर्जा नहीं दिला पाया. सरबजीत जैसी फ़िल्म करने के बाद भी उन्हें इतना क्रेडिट नाहीं मिला जितना ऐशवर्या को मिला. रणदीप की अदाकारी के क़ायल तो सभी हैं लेकिन बात जब स्टारडम की हो तो उन्हें उनका वो मुक़ाम नहीं मिल पाता जो मिलना चाहिए था. हाइवे जैसी फ़िल्म करने के बाद भी सारी वाहवाही आलिया भट्ट को मिली, हालाँकि रणदीप की भी तारीफ़ ख़ूब हुई लेकिन दबे लफ़्ज़ों में.

randeep hooda

राहुल बोस भले ही हार्डकोर कमर्शियल फ़िल्में नहीं करते लेकिन वो जो करते हैं कमाल करते हैं. अपने काम से उन्होंने यह साबित तो कर दिया कि हुनर की उनमें कोई कमी नहीं लेकिन इंडस्ट्री उन्हें इसके बदले ज़्यादा कुछ ना दे सकी. मिस्टर एंड मिसेज़ अय्यर के अलावा राहुल ने पैरलल सिनेमा में ही ज़्यादा काम किया है लेकिन उनकी चर्चा स्टार के तौर पर कभी नहीं होती.

Rahul Bose

मनोज बाजपेयी ने दूरदर्शन के स्वाभिमान नाम के सीरीयल से अपना करियर शुरू किया था. उसके बाद उन्हें बैंडिट क्वीन में काम मिला. मनोज मंजे हुए कलाकार हैं तभी तो उन्होंने शूल, सत्या, अलीगढ़, अक्स, गैंग्स ओफ वासेपुर जैसी फ़िल्मों में अपनी छाप छोड़ी. उनकी तारीफ़ बहुत होती है लेकिन उन्हें स्टार कलाकार के रूप में आज भी नहीं देखा जाता.

Manoj Bajpayee

अभय देओल के पास ना टैलेंट की कमी है और ना ही गुड लुक्स की लेकिन उन्हें भी इंडस्ट्री से वो नहीं मिला जिसके वो हक़दार थे. रांझना, देव डी, एक चालीस की लास्ट लोकल, ओए लकी लकी ओए… ऐसी कई फ़िल्में हैं जिसमें अभय ने अपने उम्दा अभिनय का लोहा मनवाया, लेकिन वो स्टार नहीं बन पाए.

Abhay Deol

नवाजुद्दीन सिद्दीक़ी भी अलग तरह के किरदार निभाने के लिए जाने जाते हैं. अपनी हर फ़िल्म में वो खूब तारीफ़ें बटोरते हैं लेकिन स्टार का दर्जा उन्हें भी हासिल नहीं हुआ. माँझी द माउंटन मैन जैसी फ़िल्म करने के बाद भी उन्हें पैरलल सिनेमा के लिए परफ़ेक्ट माना जाना लगा लेकिन उन्होंने कमर्शियल सिनेमा में भी उतना ही बेहतरीन काम किया फिर भी स्टार की नज़र से उन्हें नहीं देखा जाता.

Nawazuddin siddiqui

आयुष्मान खुराना को भले ही कामयाब अभिनेता का दर्जा मिला हो लेकिन वो स्टारडम अब तक नहीं मिला जो शायद बहुत पहले मिल जाना चाहिए था. विकी डोनर, ड्रीमगर्ल, अर्टिकल 15 जैसी फ़िल्मों ने ना सिर्फ़ एक कलाकार के रूप में बल्कि सिंगर के तौर पर भी उन्हें स्थापित कर दिया था पर फिर भी ऐसा लगता है कि जितनी उनमें खूबियाँ हैं उसके अनुसार उन्हें सब कुछ नहीं मिला.

Ayushman Khurana

के के मेनन ने अलग तरह का सिनेमा ज़रूर किया है लेकिन उनका हुनर बहुत ज़्यादा है. गुलाल, लाइफ इन ऐ मेट्रो जैसी फ़िल्मों के अलावा उन्होंने गुजराती, मराठी, तेलुगु और तमिल फ़िल्में भी की हैं और स्टेज व टीवी पर भी वो उतने ही एक्टिव हैं. लेकिन इतना सब होने के बाद भी इंडस्ट्री ने उन्हें बदले में देने में कंजूसी ही की.

Kk menon

आशुतोष राणा एक समय में सबके फेवरेट थे. उन्होंने भी स्वाभिमान धारावाहिक से अपना सफ़र शुरू किया और बड़े पर्दे पर अपना जोहार भी खूब दिखाया. दुश्मन का वो सिरफिरा पोस्ट मैन हो या फिर संघर्ष का वो डरावना अवतार आशुतोष ने हर भूमिका के साथ न्याय किया लेकिन इंडस्ट्री ने उनके साथ अन्याय किया इसीलिए देखते ही देखते इतना उम्दा कलाकार लगभग ग़ायब सा हो गया.

Ashutosh Rana

अक्षय खन्ना ने कम ही फ़िल्में की हैं लेकिन हमराज़, दिल चाहता है, ताल, हंगामा और गांधी माय फादर जैसी फ़िल्मों में उन्होंने अपने अभिनय से सबको जता दिया कि वो किसी से कम नाहीं लेकिन इंडस्ट्री उनके हुनर को वो सम्मान नहीं दे सकी जो उन्हें मिलना चाहिए था.

Akshay Khanna

इरफ़ान खान भले ही हमारे बीच नहीं रहे लेकिन उनकी बेजोड़ कलाकारी ने सबको मंत्र मुग्ध किया हुआ है. इंडस्ट्री के मोस्ट टैलेंटेड अभिनेताओं में इरफ़ान का नाम सबसे ऊपर रहा है लेकिन उन्हें भी वो स्टारडम कभी नहीं मिला जिसका सपना हर कलाकार करता है. सलाम बॉम्बे, पान सिंह तोमर, मक़बूल, अंग्रेज़ी मीडियम, लंच बॉक्स जैसी फ़िल्मों के अलावा इरफ़ान ने ब्रिटिश व अमेरिकन सिनेमा में भी काम किया है. उन्हें नेशनल अवार्ड के अलावा पद्मश्री से भी नवाज़ा जा चुका है.

Irrfan Khan

सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या ने सबको जहां चौंका दिया वहीं कई सवाल इस इंडस्ट्री के लिए भी खड़े कर दिए. धोनी, पीके, काई पो चे, छिछोरे जैसी फ़िल्मों के ज़रिए उन्होंने यह साबित कर दिया था कि वो यहां लम्बी पारी खेलने आए हैं लेकिन उन्हें भी कुछ ना कुछ तो साल रहा था इसीलिए वो स्टारडम नहीं मिला जिसके वो हक़दार थे.

Sushant Singh Rajput

टी-सीरीज़ कंपनी की ओनर दिव्या खोसला कुमार और बॉलीवुड सिंगर सोनू निगम के बीच नेपोटिज़्म को लेकर होनेवाली कोल्ड वॉर थमने का नाम ही नहीं ले रही है. बॉलीवुड सिंगर सोनू निगम ने म्यूजिक इंडस्ट्री में नेपोटिज़्म के होने की आवाज़ उठाई थी और सोशल मीडिया पर भूषण कुमार को धमकी दी थी. इसके बाद टी सीरीज़ कंपनी के मालिक भूषण कुमार की पत्नी दिव्या कुमार खोसला ने जवाबी हमला बोल दिया. उन्होंने सोनू निगम पर झूठ बोलने का आरोप लगते हुए उन्हें अहसानफरामोश बताया। दिन-ब दिन दोनों के बीच की कोल्ड वॉर गहराती जा रही है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बॉलीवुड की प्रभावशाली महिलाओं में दिव्या खोसला कुमार का नाम आता है. फिल्म इंडस्ट्री में ही नहीं, बिज़नेस की दुनिया में भी उनका काफी नाम है. आइये हम आपको बताते हैं कि दिव्या खोसला से जुडी हुई कुछ बातें, कैसे दिल्ली की रहने वाली दिव्या खोसला कुमार टी-सीरीज़ की मालकिन और बॉलीवुड का जाना पहचाना चेहरा बन गई. 

दिल्ली के एक मध्यम वर्गीय परिवार से हैं दिव्या खोसला

Divya Khosla Kumar

दिव्या खोसला का जन्म दिल्ली के एक मध्यम वर्गीय परिवार में  हुआ था. उनकी मम्मी टीचर थीं और पिताजी का एक छोटा सा प्रिंटिंग प्रेस था. वे किराये के घर में रहते थे. दिव्या को पढ़ने का बहुत शौक था. वे बचपन से बहुत पढ़ाकू और बुद्धिमान थीं. जब भी समय मिलता दिव्या पढ़ने के लिए लाइब्रेरी चली जाती थी. एक बार दिव्या अपनी मम्मी को बता रही थी मैंने लाइब्रेरी  की सारी किताबें पढ़ ली हैं. एक भी किताब ऐसी नहीं है, जो मैंने नहीं पढ़ी है. दिव्या भले ही मिडिल क्लास फैमिली से थी, पर उनके पेरेंट्स ने उन्हें सारी सुविधाएं दीं, जो वे चाहती थीं. स्कूल-कॉलेज टाइम  में में बहुत सीदी-सादी  टाइप की थी. मेरा कोई बॉयफ्रेंड भी नहीं था. बहुत  सारे लड़के मेरे पीछे पड़े थे।  लेकिन मैं ऐसा कोई काम नहीं करना चाहती थी, जिससे मेरे पेरेंट्स निराश हों.

करियर बनाने के लिए पकड़ी मुंबई की राह

Divya Khosla Kumar

बी.कॉम ऑनर्स करने के साथ-साथ दिव्या ने प्रिंट विज्ञापनों के लिए मॉडलिंग करना शुरू कर दिया था. तब उनकी उम्र केवल १८ साल की थी. दिव्या के मम्मी आर्मी बैक राउंड से थीं, इसलिए उन्हें दिव्या के मॉडलिंग करने पर कोई आपत्ति नहीं थी. पर उनके पिता बिलकुल खुश नहीं थे. पढाई खत्म के बाद वे अकेले ही मुंबई आ गईं. वे मुंबई में किसी को नहीं जानती थी.

Divya Khosla Kumar

अपने आरम्भिक मुंबई प्रवास के दौरान दिव्या को ज्यादा संघर्ष नहीं करना पड़ा. किस्मत ने साथ दिया और दिव्या पहली बार 2000 में सिंगर फाल्गुनी पाठक के म्यूजिक वीडियो ‘अइयो रामा हाथ से ये दिल खो गया’ में नजर आई थीं। जिसमें लोगों ने उन्हें काफी पसंद किया. इसके बाद वे  2003 में कुणाल गांजावाला के म्यूजिक एलबम ‘जिद ना करो ये दिल दा मामला है’ में सलमान खान के साथ नज़र आईं.

पहली ही मुलाकात में भूषण कुमार अपना दिल दे बैठे 

Divya Khosla Kumar

फिल्म ‘अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों’ की शूटिंग के दौरान ही भूषण कुमार और दिव्या की पहली मुलाकात हुई थी.  इसके बाद दोनों की मैसेज और चैट से बात करने लगे. धीरे-धीरे दोनों की दोस्ती परवान चढ़ने लगी.

शादी करते ही छोड़ दी एक्टिंग

Divya Khosla Kumar

इसी बीच  भूषण कुमार की बहन की शादी दिल्ली में तय हो गई. शादी में भूषण कुमार ने दिव्या को पेरेंट्स के साथ इनवाइट किया था. दिव्या की फैमिली को भी भूषण  कुमार अच्छे लगे. दिव्या की माँ ने दिव्या को भूषण कुमार से  शादी करने के लिए तैयार किया. बाद में परिवार की रज़ामंदी से दोनों की शादी हो गई. दिव्या खोसला और भूषण कुमार की शादी १३ फरवरी २००५ में  वैष्णो देवी मंदिर (कटरा) में हुई. शादी के बाद दिव्या खोसला से दिव्या खोसला कुमार बन गई और टी सीरीज़ कंपनी की मालकिन भी. शादी करते ही दिव्या ने एक्टिंग को अलविदा कह दिया.

एक बेटे के मां भी हैं

Divya Khosla Kumar

दिव्या ने  2011 में उन्होंने बेटे रुहान को जन्म दिया और प्यारे से बेटे की मां बनीं.

फिल्म मेकिंग सीखी और डायरेक्टर बनीं

Divya Khosla Kumar

दिव्या खुद को क्रिएटिव मानती है. इसलिए एक्टिंग छोड़ने के बाद फिल्म मेकिंग सीखी. वे हमेशा से ही डायरेक्टर बनना चाहती थी, इसलिए कोर्स खत्म करने के बाद दिव्या ने कई म्यूजिक वीडियोज और एड डायरेक्ट किए. २०१४ में  फिल्म यारियां और  2016 में सनम रे की डायरेक्ट किया. इसके बाद तो  दिव्या ने रणबीर कपूर की ‘रॉय, खानदानी शफाखाना, बाटला हाउस, मरजावां, प्रोड्यूस कीं.

और भी पढ़ें: नरगिस दत्त से लेकर कंगना रनौत तक वो बॉलीवुड एक्ट्रेसेस जिन्होंने अपने करियर में निभाए डबल रोल (10 Bollywood Female Actresses Who Played Double Roles In Their Careers)

हाल ही में सुशांत सिंह राजपूत की मौत से सोशल मीडिया में हड़कंप सा मच गया है. नेपोटिज़्म को लेकर बॉलीवुड दो खेमों में बंट गया है, लेकिन सोशल मीडिया की घमासान से दूर कुछ स्टार्स ऐसे भी हैं जो इस प्लेटफॉर्म से कोसों दूर हैं. कंगना रनौत से लेकर रणबीर कपूर तक ये सभी स्टार्स विभिन्न कारणों से सोशल मीडिया से बचते हैं. सोशल मीडिया से दूर रहने वाले इन स्टार्स के बारे में हम आपको बताते है.

  1. कंगना रनौत
Kangana Ranaut

बॉलीवुड की टेलेंटेड और बोल्ड अभिनेत्रियों में से एक हैं कंगना रनौत. वे अपने मन की बात खुल कर बोलती हैं. अपनी लाइफ को लेकर हमेशा से ही पर्सनल रही हैं और अपने से जुड़ी कॉन्ट्रोवर्सीज को बहुत पॉजिटिव से तरीके से लेती हैं. कंगना रनौत की टीम सोशल मीडिया पर बहुत एक्टिव है और कंगना अपनी टीम के उस अकाउंट से अपने फैंस के साथ जुड़ती हैं. व्यक्तिगत रूप से कंगना का सोशल मीडिया पे कोई अकाउंट नहीं है. हाल ही में द कपिल शर्मा शो पर गेस्ट का तौर पर आई कंगना ने कहा कि सोशल मीडिया बेकार लोगों के लिए है.

2. विद्या बालन

Vidya balan

बॉलीवुड की उन अभिनेत्रियों में से  हैं, जो बोल्ड होने के साथ-साथ अपने मन की बात बेझिझक होकर बोलती हैं. कई लोगों ने बॉडी शेमिंग को लेकर उन्हें शर्मिंदा करने का प्रयास किया पर अपने दमदार अभिनय से सबका मुंह बंद कर दिया. विद्या बालन का सोशल मीडिया पर अकाउंट नहीं है. फैंस को उनके बारे में सारी ख़बरें मीडिया से ही पता चलती हैं. फैंस  को लगता है कि ऐसी बोल्ड एक्ट्रेस का सोशल मीडिया अकाउंट होना चाहिए, जहां पर वे अपने विचार और राय फैंस के साथ शेयर कर सकती हैं.

3. रणबीर कपूर

Ranbir Kapoor

रणबीर कपूर बॉलीवुड के फेमस एक्टर्स में से एक हैं. वे अपनी फिल्म और प्रोडक्ट्स के प्रमोशन में मदद तो करते हैं, लेकिन सोशल मीडिया के माध्यम से बिलकुल नहीं. वे बहुत ही प्राइवेट पर्सन हैं, जो बहुत कम बोलते हैं. सोशल मीडिया पर तो बिलकुल नहीं बोलते हैं. उनका पूरा परिवार हर समय सोशल मीडिया से जुड़ा रहता है. यहां तक कि उनके पिता ऋषि कपूर तो ट्विटर पर अत्यधिक सक्रिय रहते थे. रणबीर अपनी निजी ज़िंदगी को सोशल मीडिया की चकाचौंध से दूर रखना चाहते हैं.

4. रेखा

rekha

बॉलीवुड की आल टाइम फेवरेट एक्ट्रेस हैं रेखा. वह बॉलीवुड के दिग्गज कलाकारों में से एक हैं. उनका कोई भी सोशल मीडिया पेज या सोशल मीडिया अकाउंट नहीं है. उनकी सारी गतिविधियों और ख़बरों के बारे में फैंस को सभी सूचनाएं मीडिया से ही मिलती हैं.

5. जया बच्चन

Jaya Bachchan

जया बच्चन फिल्म अभिनेत्री होने के साथ-साथ राजनीति में भी सक्रिय हैं. इनका न तो फेसबुक अकाउंट है और न ही ट्विटर अकाउंट. उनके बारे में सारी जानकारी फैंस को मीडिया के द्वारा ही मिलती है. उनके फैंस चाहते हैं कि अच्छा तो यही होगा कि पूरा बच्चन परिवार मिलकर सोशल मीडिया पर अपनी उपस्थिति दर्ज़ कराए.

6. रानी मुखर्जी

Rani Mukherjee

फिल्म इंडस्ट्री की बेहतरीन एक्ट्रेसस में से एक है रानी मुखर्जी. रानी ने सोशल मीडिया पर बहुत कम फोटोज शेयर किए हैं, लेकिन वह सोशल मीडिया पर  पूरी तरह से एक्टिव नहीं हैं. शादी के बाद से तो बिलकुल भी नहीं.

7. इमरान खान

Imran Khan

बॉलीवुड एक्टर इमरान खान का सोशल मीडिया पर अकाउंट था, लेकिन उन्होंने अपना अकाउंट डी-एक्टिवेट कर दिया क्योंकि सोशल मीडिया पर बहुत सारे लोग उनको ट्रोल करने लगे थे. उनके फैंस परेशान थे कि उन्होंने सोशल मीडिया छोड़ दिया. सोशल मीडिया के छोड़े जाने पर इमरान का कहना है कि मैं अपने फैंस  के साथ केवल तभी इंटरैक्ट करूंगा जब मेरी कोई फिल्म रिलीज़ होगी. उन्हें अपनी पर्सनल लाइफ सोशल मीडिया पर पोस्ट के जरिये शेयर करना पसंद नहीं है. उनके फैंस को आज भी उम्मीद है वह सोशल मीडिया पर वापस आ जाएंगे.

और भी पढ़ें: 12 बॉलीवुड एक्टर्स जिन्हें किताबें पढ़ना बहुत पसंद है (12 Bollywood Actors Who Love To Read

देश ही नहीं दुनिया के हालात हम सभी देख रहे हैं लेकिन इन सबके बीच प्रशासन, डाक्टर्स और पुलिस जिस तरह अपनाफ़र्ज़ अदा कर रही है वो क़ाबिले तारीफ़ है. 

पुलिस को कई जगह लोगों के रोष का भी सामना करना पड़ रहा है बावजूद इसके वो लोगों की मदद कर रही है और उन्हेंजागरूक भी करने का काम कर रही है.

दरअसल मुंबई पुलिस ने एक विडीओ ट्विटर पर शेयर किया जिसमें लोगों से पूछा जा रहा है कि क्या लोग लॉक डाउन केदौरान घर में बोर हो गए हैं? अगर लोग बोर हो गए तो उन पुलिस वालों की बात करें जो अपना काम बिना थके बिना रुकेकर रहे हैं. अगर इन्हें लॉकडाउन में २१ दिनों के लिए घरों में क़ैद कर दिया जाए तो वो क्या करेंगे?

इसपर अधिकतर पुलिस वालों ने कहा कि वो अपने परिवार के साथ aur बच्चों के साथ समय बिताएँगे क्योंकि उनके कामके चलते उन्हें यह अवसर ना के बराबर मिलता है. किसी ने कहा वो बुक्स पढ़ेंगे, मूवी देखेंगे और बच्चों के साथ खेलेंगे. 

ऐक्टर अजय देवगन को यह विडीओ बेहद पसंद आया और उन्होंने इसको शेयर किया और पुलिस की तारीफ़ की.

मुंबई पुलिस ने जब यह देखा तो उन्होंने भी अजय देवगन का शुक्रिया अदा किया और कहा- डियर सिंघम, हम वही कर रहेहैं जो ख़ाकी से करने की उम्मीद की जाती है, ताकि चीज़ें और हालात पहले जैसे हो सकें- वन्स अपॉन ए टाइम इन मुंबई. 

इस ट्वीट ने इंटरनेट पर काफ़ी वाहवही बटोरी.

इसी तरह सुनील शेट्टी ने भी मुंबई पुलिस की तारीफ़ की थी जिस पर मुंबई पुलिस ने कहा दिल की हर धड़कन इस शहरके लिए,

इसके बाद अक्षय कुमार से लेकर आयुषमान खुराना और कई अन्य ऐक्टर्स ने भी मुंबई पुलिस के इस विडीओ को सराहा.

Ranveer Singh

रणवीर सिंह: बर्थडे पर दिया फैंस को स्पेशल गिफ्ट

बॉलीवुड के बिंदास बाबा अका रणवीर सिंह का आज जन्मदिन है. अपने इस ख़ास दिन को और ख़ास बनाते हुए उन्होंने अपनी आगामी फिल्म 83 का पहला लुक शेयर किया. रणवीर इन दिनों फिल्म ८३ की शूटिंग में व्यस्त हैं, लेकिन इस बिज़ी शेड्यूल में भी उन्होंने अपने फैंस को दिया ये ख़ास तोहफ़ा.

आपको बता दें कि इस फोटो में रणवीर बिल्कुल कपिल देव जैसे लग रहे हैं. फैंस ने उनके इस लुक को काफ़ी सराहा.
अपने सोशल मीडिया अकॉउंट पर फोटो शेयर करते हुए उन्होंने लिखा- मेरे स्पेशल डे पर पेश है हरियाणा के हरिकेन कपिल देव. आपको बता दें कि फिल्म 83 साल 1983 में हुए वर्ल्ड कप पर आधारित है. इसमें रणवीर, कपिल देव का रोल निभा रहे हैं.

Ranveer Singh as Kapil Dev

आपको बता दें कि २५ जून को जब वर्ल्ड कप की जीत को पूरे ३६ साल हुए थे, तब रणवीर ने ये के साथ शेयर किया था. इसमें आप देख सकते हैं कि वर्ल्ड विनिंग मोमेंट को कैद किया गया है और साथ ही रणवीर ने अपनी प्रैक्टिस की भी कुश क्लिपिंग्स फैंस से शेयर की.

हर भारतीय की तरह वो भी क्रिकेट के कितने क्रेज़ी फैन हैं, इसका नज़ारा हम सभी को हाल ही में लंदन में देखने को मिला था. आप भी देखें मशहूर भारतीय क्रिकेटर्स के साथ उनकी कुछ अनोखी तस्वीरें.

Ranveer Singh Ranveer Singh Ranveer Singh Ranveer Singh Ranveer Singh Ranveer Singh Ranveer Singh Ranveer Singh

– अनीता सिंह

नवाज़ुद्दीन सिद्दिकी (Nawazuddin Siddiqui) बॉलीवुड के एक ऐसे अभिनेता हैंं, जो किसी भी किरदार में बेहद आसानी से ढल जाते हैं. अपनी बेमिसाल एक्टिंग के दम पर ही नवाज़ुद्दीन ने बॉलीवुड इंडस्ट्री में अपनी एक अलग पहचान बनाई है. आज वो अपना 45वां जन्मदिन मना रहे हैं. मुज़फ्फरनगर के एक छोटे से गांव बुढ़ाना में 19 मई 1974 को जन्में नवाज़ुद्दीन ने 19 साल पहले आमिर खान की फिल्म ‘सरफरोश’ से अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की थी, लेकिन उन्हें पहचान मिली अनुराग कश्यप की फिल्म ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ से. चलिए उनके जन्मदिन के इस ख़ास मौके पर जानते हैं एक चौकीदार से दमदार कलाकार बनने तक का दिलचस्प सफर….

नवाज़ुद्दीन के पिता एक किसान थे और वो कुल आठ भाई-बहन थे, जिसके चलते परिवार का खर्च उठाना उनके पिता के लिए किसी चुनौती से कम नहीं था. लिहाजा ख़राब आर्थिक स्थिति के चलते नवाज़ ने छोटी सी उम्र से ही नौकरी करना शुरू कर दिया. साइंस में ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद वो दिल्ली आ गए, जहां दो वक़्त की रोटी का जुगाड़ करने के लिए उन्होंने चौकीदारी की नौकरी भी की.

बताया जाता है कि नवाज के गांव में एक भी थिएटर नहीं था इसलिए उन्हें फिल्म देखने के लिए 45 किलोमीटर दूर जाना पड़ता था. आपको जानकर हैरानी होगी कि फिल्मों में आने से पहले उन्होंने सिर्फ़ 5 फिल्में ही देखी है. हालांकि उन्हें एक्टिंग का शौक तो था लेकिन गरीबी उनके सपनों के बीच दीवार बनकर खड़ी थी, लेकिन वो रोज़ाना शीशे के सामने खड़े होकर एक्टिंग की रिहर्सल करते थे. इतना ही नहीं दिल्ली में चौकीदारी की नौकरी करने के साथ-साथ उन्होंने वहां थिएटर में दाखिल भी ले लिया था.

आख़िरकार वो दिन आ ही गया जब नवाज़ुद्दीन को पहली बार पेप्सी के कैंपेन विज्ञापन में काम करने का मौका मिला. इसके लिए उन्हें 500 रुपए फीस के तौर पर दिए गए थे, लेकिन फिल्मों में अपनी पहचान बनाने के लिए उन्हें 12 साल तक कड़ी मेहनत करनी पड़ी. उन्हें पहली बार आमिर की फिल्म ‘सरफरोश’ में एक छोटा सा किरदार निभाने का मौका मिला, लेकिन ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ में फैज़ल का किरदार निभाकर नवाज़ुद्दीन ने ख़ूब नाम कमाया. इस फिल्म के बाद से नवाज़ के पास फिल्मों की झड़ी लगने लगी और वो एक चौकीदार से दमदार कलाकार बन गए. अब बॉलीवुड का यह दमदार कलाकार एक फिल्म के लिए 6 करोड़ रुपए बतौर फीस लेते हैं.

यह भी पढ़ें: Ramadan 2018: बॉलीवुड के इन सितारों ने दी रमज़ान की मुबारकबाद

 

 

आज (25 मार्च 2018) फारुख शेख का 70 वां जन्मदिन है और ख़ास बात ये कि फारुख शेख के 70वें जन्मदिन पर गूगल ने उन्हें डूडल बनाकर श्रद्धांजलि दी है. अगर आज फारुख शेख जिंदा होते तो अपना 70वां जन्मदिन मना रहे होते. फारुख शेख उन कलाकारों में से हैं, जो पर्दे पर अभिनय नहीं करते, बल्कि उसे जीते हैं. आज फारुख शेख ज़िंदा होते, तो उनके चाहने वालों को उनकी अदाकारी के कई और रंग देखने को मिलते. आइए, फारुख शेख की ज़िंदगी से जुड़ी कुछ ख़ास बातें जानते हैं:

Google Doodle, Bollywood Actor Farooq Sheikh

* गुजरात के अमरोली में 25 मार्च, 1948 को एक जमींदार परिवार में जन्मे फारुख शेख पांच भाई बहनों में सबसे बड़े थे.
* फारुख शेख ने वकालत का पेशा छोड़ एक्टिंग को बतौर करियर चुना.
* फारुख शेख ने अपनी पहली फिल्म ‘गर्म हवा (1973)’ में मुफ्त में काम करने के लिए हामी भरी और इस फिल्म के लिए उन्हें 750 रु. मिले, वो भी पांच साल बाद.
* फारुख शेख ने चश्मे बद्दूर, उमराव जान, साथ-साथ, नूरी, शतरंज के खिलाड़ी, माया मेम साब, कथा, बाजार, रंग बिरंगी जैसी कई फिल्मों में यादगार अभिनय किया है.
* 90 के दशक से फारुख शेख ने फि‍ल्मों में काम करना कम कर दिया और टीवी की ओर रुख कर लिया था.
* फारुख बॉलीवुड और टीवी के ऐसे कलाकार हैं, जो कभी विवादों में नहीं फंसे.
* फारुख शेख ने अभिनय के हर मंच और छोटे-बड़े हर किरदार को हमेशा पूरी ईमानदारी से निभाया.

यह भी पढ़ें: Wedding Bells: जीनिवा में होगी सोनम और आनंद की शादी? पिता अनिल कपूर पर्सनली फ़ोन करके कर रहे हैं लोगों को इन्वाइट

* पुरुष प्रधान फिल्मों के दौर में भी फारुख ने रेखा पर केंद्रित ‘उमराव जान’ में एक छोटा-सा किरदार बिना किसी हिचकिचाहट के निभाया और फिल्म में अपनी अदाकारी की अमिट छाप छोड़ी.
* फारुख शेख चुनिंदा रोल करते थे इसलिए अपने चार दशक के फ़िल्मी करियर में उन्होंने सिर्फ 40 फिल्मों में ही काम किया.
* टेलीविज़न पर फारुख शेख ने चमत्कार, जी मंत्रीजी, जीना इसी का नाम है, श्रीकांत जैसे यादगार शोज़ में काम किया.
* 27 दिसंबर, 2013 को फारूक शेख का दुबई में निधन हो गया. फारूक अपने परिवार के साथ दुबई में छुट्टियां मना रहे थे, उसी दौरान उन्हें हार्ट अटैक आ गया.

यह भी पढ़ें: शाहरुख़ ख़ान के कहने पर वज़न घटाया: अरु के. वर्मा

साड़ी का क्रेज़ कभी कम नहीं होता और टाइमलेस ट्रेडिशनल साड़ियां तो हमेशा फैशन में रहती हैं. साड़ी की शौकीन बॉलीवुड एक्ट्रेस इन दिनों बनारसी साड़ी ख़ूब पहन रही हैं और उसे ट्रेंडी बना रही हैं. अनुष्का शर्मा (Anushka Sharma), दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone), सोनम कपूर (Sonam Kapoor), ऐश्‍वर्या राय (Aishwarya Rai Bachchan) , विद्या बालन (Vidya Balan), रेखा (Rekha) , श्रीदेवी (Sridevi Kapoor), माधुरी दीक्षित (Madhuri Dixit), जैकलिन फर्नांडिस… बॉलीवुड की कई एक्ट्रेस इन दिनों बनारसी साड़ी पहन रही हैं और उसे पॉप्युलर बना रही हैं.

* हाल ही में अनुष्का शर्मा (Anushka Sharma) ने अपनी शादी के रिसेप्शन में लाल रंग की ख़ूबसूरत बनारसी साड़ी पहनी थी. लाल रंग की बनारसी साड़ी पहनकर अनुष्का बेहद ख़ूबसूरत नज़र आ रही थीं. अनुष्का के इस लुक पर ख़ूब चर्चा भी हुई. साथ ही अनुष्का के लुक को लेकर ये ख़बर भी सुर्ख़ियों में रही कि अनुष्का ने अपनी शादी के रिसेप्शन में दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) का लुक कॉपी किया है.

* इन दिनों बनारसी साड़ी को सबसे ज़्यादा प्रमोट किया दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) ने. दीपिका की बनारसी साड़ी ने यंगस्टर्स को भी साड़ी पहनने के लिए प्रेरित किया है.

* आजकल एक तरह से जैसे ट्रक्सटाइल मूवमेंट चल रहा है. इन दिनों दुल्हन शादी के दिन अपनी मां, नानी, दादी की शादी की साड़ी या कोई पारंपरिक शादी का जोड़ा पहनना पसंद कर रही हैं. आप भी अपनी शादी या ख़ास फंक्शन में किसी पारंपरिक हैंडलूम, जैसे बनारसी, कांजीवरम, पटोला, घरचोला आदि की साड़ी को मॉडर्न ब्लाउज़ के साथ पहन सकती हैं.

यह भी पढ़ें: शादी में पहनें अनुष्का की तरह वेल्वेट साड़ी, देखें कुछ ख़ूबसूरत वेल्वेट साड़ियां

* ज़्यादातर भारतीय महिलाएं आवर ग्लास फिगर की होती हैं इसलिए उन पर साड़ी बहुत अच्छी लगती है. यही वजह है कि वो हर ख़ास मौ़के पर साड़ी पहनना पसंद करती हैं.

यह भी पढ़ें: Exclusive: 5 स्टाइलिश अंदाज़ में पहनें साड़ी

ट्रेडिशनल साड़ी पहनने का फ़ायदा
* बनारसी, कांजीवरम, पैठणी, बांधनी, चंदेरी, माहेश्‍वरी जैसी पारंपरिक साड़ियों का क्रेज़ कभी कम नहीं होता इसलिए ये कभी आउटडेटेड नहीं होतीं. यदि आप भी साड़ी पहनने की शौकीन हैं तो अपने कलेक्शन में ट्रेडिशनल साड़ियां ज़रूर रखें. इन्हें आप किसी भी ख़ास मौ़के पर पहन सकती हैं. इन्हें मॉडर्न अंदाज़ में पहनने के लिए आप ब्लाउज़ और ज्वेलरी के साथ एक्सपेरिमेंट कर सकती हैं.

यह भी पढ़ें: 12 ख़ूबसूरत टीवी एक्ट्रेस का रियल लाइफ ब्राइडल लुक: आप भी चुरा सकती हैं इनकी अदा

ट्रेडिशनल साड़ी को पहनें मॉडर्न अंदाज़ में
* ट्रेडिशनल साड़ी के साथ ट्रेंच कोट, क्रॉप टॉप, शर्ट ब्लाउज़, कॉर्सेट, फुल स्लीव ब्लाउज़, हॉल्टर नेक ब्लाउज़ आदि पहनकर आप स्टाइलिश नज़र आ सकती हैं.
* साड़ी को न्यू लुक देने के लिए ब्लाउज़ के पैटर्न पर ख़ास ध्यान दें. आजकल भी बड़े बॉर्डर वाले एल्बो स्लीव, फुलस्लीव ब्लाउज़ आदि ट्रेंड में हैं, आप इन्हें ट्राई कर सकती हैं. साथ ही बोट नेक, बैकलेस बैक, लोबैक ब्लाउज़ भी आपको ट्रेंडी लुक देंगे.