Boman Irani Birthday Special

हम सभी इस बात को अच्छी तरह से जानते हैं कि हीरो और हीरोइन किसी भी फिल्मी की जान होते हैं, जिन्हें देखने के लिए लोग अपने पैसे खर्च करके सिनेमाघरों तक जाते हैं, लेकिन कई बार सपोर्टिंग आर्टिस्ट भी अपने दमदार अभिनय से दर्शकों के दिलों पर अपनी गहरी छाप छोड़ने में कामयाब हो जाते हैं. बॉलीवुड के एक ऐसे ही अभिनेता हैं बोमन ईरानी, जिन्होंने अपने शानदार अभिनय से न सिर्फ लोगों का मनोरंजन किया, बल्कि उनके दिलों में अपने लिए एक खास जगह भी बनाई है. आज बोमन ईरानी 61 साल के हो गए हैं. बोमन ईरानी एक ऐसे दिग्गज एक्टर हैं जो किसी पहचान के मोहताज नहीं हैं. .

उन्होंने अपने एक्टिंग करियर में कई तरह के किरदार निभाए हैं. कभी ‘वायरस’ तो कभी डॉक्टर ‘अस्थाना’ बनकर दर्शकों को गुदगुदाने वाले बोमन ईरानी का जन्म 2 दिसंबर 1959 को हुआ था. बहुत कम लोग ही इस बात से वाकिफ़ हैं कि फिल्मी दुनिया में अपनी एक्टिंग का लोहा मनवाने वाले बोमन ईरानी कभी वेटर का काम भी कर चुके हैं और वे फोटोग्राफी का भी शौक रखते हैं. उन्होंने ऐसे वक्त में फिल्मी दुनिया में कदम रखा, जब उनकी उम्र के दूसरे एक्टर्स अपने करियर में एक अलग मुकाम हासिल कर चुके थे, ऐसे में इस इंडस्ट्री में कदम जमाना उनके लिए किसी चुनौती से कम नहीं था. उन्होंने 42 साल की उम्र में अपना एक्टिंग डेब्यू किया था, लेकिन बहुत ही कम समय में उन्होंने दर्शकों को अपना कायल बना लिया और सक्सेसफुल स्टार्स की लिस्ट में शामिल हो गए.

बोमन ईरानी के बर्थडे पर हम आपके लिए लेकर आए हैं फिल्म ‘लगे रहो मुन्ना भाई’ से लेकर ‘हाउसफुल-3’ तक के उनके कुछ दमदार और पॉपुलर फिल्मी डायलॉग, जिनके जरिए उन्होंने लाखों-करोड़ों दर्शकों का दिल जीत लिया. यह भी पढ़ें: ‘लूडो’ की तरह ही ‘कभी नरम तो कभी गरम रही’ भगवान दादा की भी ज़िंदगी, जानें उनकी लाइफ से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें (Like ‘Ludo’ Life Of Bhagwan Dada Was Too ‘Kabhi Naram Kabhi Garam’, Know Some Interesting Facts About Bhagwan Dada)

बोमन ईरानी के दमदार डायलॉग-

लगे रहो मुन्ना भाई: ये वॉलेट है, ये बुलेट है… तू चूज़ कर…

Boman Irani

लव स्टोरी 2050: इंसान सिर्फ रिश्ता बनाता है और उसको निभाने की कोशिश करता है, बाकी सब किस्मत का खेल है.

Boman Irani


वेल डन अब्बा: मक्कारों से कभी मत डरो… डरो तो अपने आप से और डरो तो डर-डर कर ज़िंदा रहने से…

Boman Irani

दन दना दन गोल: जिंदगी में इंसान को सिर्फ दो या चार ऐसे मौके मिलते हैं जब वो कह सकता है कि हमने ज़िंदगी में कुछ किया है.

Boman Irani

जॉली एलएलबी: ये कोर्ट है मिस्टर त्यागी, यहां कुछ भी जल्दी नहीं होता.

Boman Irani

थ्री इडियट्स: लाइफ इज़ ए रेस, अगर तेज़ नहीं भागोगे तो कई तुम्हें कुचल कर आगे निकल जाएंगे.

Boman Irani

हाउसफुल-3: इंसान में अक्ल होनी चाहिए, सूरत तो गुजरात में भी है.

Boman Irani


इसमें कोई दो राय नहीं है कि बोमन ईरानी एक बेमिसाल एक्टर हैं, लेकिन एक्टिंग के साथ-साथ उन्हें एक और चीज़ का शौक भी है, जिसके बारे में बहुत कम लोग ही जानते हैं. बोमन ईरानी एक्टिंग के अलावा फोटोग्राफी का शौक भी रखते हैं. बताया जाता है कि जब वे 12वीं क्लास में पढ़ते थे तब स्कूल में होने वाले क्रिकेट मैचों की तस्वीरें क्लिक किया करते थे और इसके लिए उन्हें कुछ पैसे भी मिलते थे. स्कूली दिनों के अलावा उन्होंने पहली बार पुणे में बाइक रेस की फोटोग्राफी प्रोफेशनल तौर पर की थी और इसके बाद उन्हें मुंबई में आयोजित बॉक्सिंग वर्ल्ड कप की फोटोग्राफी करने का भी अवसर मिला था.

आपको जानकर हैरानी होगी कि लाखों दिलों में अपनी खास जगह बनाने वाले बोमन ईरानी बतौर वेटर भी काम कर चुके हैं. दरअसल, अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने मुंबई के होटल ताज में वेटर और रूम सर्विस स्टाफ के तौर पर दो साल तक काम किया था. हालांकि किन्हीं वजहों से उन्हें ये नौकरी छोड़नी पड़ी और बाद में वो अपने परिवार के साथ काम में जुट गए. बोमन करीब 14 साल तक अपनी मां के साथ बेकरी की दुकान में काम करते रहे, लेकिन एक दिन उनकी मुलाकात मशहूर कोरियोग्राफर श्यामक डावर से हुई. श्यामक डावर के मिलने के बाद बोमन ईरानी की किस्मत ने ऐसी करवट ली कि उन्होंने फिर कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा. यह भी पढ़ें: ‘आशिकी’ हीरो राहुल रॉय शूटिंग के दौरान हुए ब्रेन स्ट्रोक का शिकार, आईसीयू में कराया गया भर्ती (Aashiqui Star Rahul Roy Suffers Brain Stroke During Film Shooting, Admitted In ICU)

दरअसल, बोमन ईरानी से मिलने के बाद श्यामक डावर ने उन्हें थिएटर में काम करने का सुझाव दिया. थिएटर में काम करने के बाद बोमन ईरानी ने फिल्मी दुनिया में कदम रखा और अपनी दमदार अदायगी से हर दिल अज़ीज बन गए. उन्होंने बॉलीवुड की कई फिल्मों में दमदार अभिनय किया है. बोमन ईरानी ने साल 2001 में दो अंग्रेजी फिल्मों में काम किया था, लेकिन उन्हें पहचान मिली साल 2003 में आई फिल्म ‘मुन्ना भाई एमबीबीएस’ से. यह फिल्म पर्दे पर ब्लॉकबस्टर रही और बोमन ईरानी का किरदार हर किसी को बेहद पसंद आया.

गौरतलब है कि इस फिल्म के बाद उनके पास फिल्मों की झड़ी लगने लगी और वो अब तक 50 से भी ज्यादा फिल्मों में काम कर चुके हैं. इन फिल्मों में ‘दोस्ताना’, ‘हनीमून ट्रैवल्स प्राइवेट लिमिटेड’, ‘थ्री इडियट्स’, ‘तीन पत्ती’, ‘हाउसफुल 3’, ‘संजू’, ‘लगे रहो मुन्नाभाई’, ‘वेल डन अब्बा’ जैसी कई शानदार फिल्में शामिल हैं.