breakup with boyfriend

‘जब वी मेट’ करीना कपूर की बेहतरीन फिल्मों में से एक है. इस फिल्म में करीना कपूर और शाहिद कपूर की जोड़ी को दर्शकों ने बहुत पसंद किया. लव ट्राइंगल पर बनी ये फिल्म दर्शक आज भी भूले नहीं है. लेकिन इस फिल्म का एक ऐसा पहलू भी है, जिसे कई लोग नहीं जानते. क्या आप जानते हैं कि ‘जब वी मेट’ फिल्म में शाहिद कपूर का रोल पहले बॉबी देओल करने वाले थे, लेकिन करीना कपूर ने फिल्म के डायरेक्टर इम्तियाज़ अली से कहकर बॉबी देओल की जगह बॉयफ्रेंड शहीद कपूर को फिल्म में साइन करवाया था.

Kareena Kapoor and Shahid Kapoor

जब वी मेट फिल्म में करीना कपूर ने शाहिद कपूर को ऐसे साइन करवाया था
बॉबी देओल ने एक इंटरव्यू में इस बात का खुलासा किया था. बॉबी ने कहा, “मैंने इम्तियाज़ अली की फिल्म ‘सोचा ना था’ देखी थी और मैं उससे बहुत इम्प्रेस हुआ था. मैं उनकी अगली फिल्म में उनके साथ काम करना चाहता था और इसके लिए मैं मौका ढूंढ़ रहा था. उसी दौरान ‘गीत’ नाम की एक फिल्म उनके पास थी, जो करीना कपूर के कैरेक्टर के नाम पर थी. अष्टविनायक नाम का एक स्टूडियो है, जो मुझे साइन करना चाहते थे. मैंने उनसे कहा कि इम्तियाज़ को साइन करते हैं, उनके पास एक स्क्रिप्ट भी रेडी है. मैंने उनसे कहा कि इसके लिए करीना को कॉन्टैक्ट करते हैं, लेकिन उन्होंने कहा कि इम्तियाज़ तो बहुत महंगी फ़िल्में बनाते हैं. उन्होंने कहा कि करीना भी उनसे कॉन्टैक्ट नहीं करना चाहतीं.” इसके बाद बॉबी देओल ने इस रोल के लिए प्रीति जिंटा का नाम सुझाया. वो लोग प्रीति से मिलने भी गए, लेकिन प्रीति ने कहा कि वो छह महीने बाद ही इस प्रोजेक्ट पर काम कर पाएंगी. बात वहीँ पर अटक गई. बॉबी देओल ने आगे बताया, “हैरानी की बात ये है कि कुछ दिनों बाद ही मुझे पता चला कि करीना कपूर इस रोल को करने के लिए तैयार हो गई हैं, लेकिन इम्तियाज़ अली से कहकर करीना ने मेन लीड के लिए शाहिद कपूर को साइन करवा लिया था. मैं फिल्म से बाहर चुका था और मुझे इसकी खबर भी नहीं थी. इस खबर को सुनने के बाद मैं इतना ही कह सका, ”वाह, क्या इंडस्ट्री है!”

यह भी पढ़ें: कंगना रनौत के 8 बेबाक बयान, करण जौहर से लेकर ऋतिक रोशन तक सबकी बोलती बंद कर दी (8 Biggest Controversies Of Bollywood Queen Kangana Ranaut)

Bobby Deol

बॉलीवुड में गुटबाजी और पक्षपात
बॉलीवुड में गुटबाजी और पक्षपात का इतिहास बहुत पुराना है. आज यदि सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के बाद नेपोटिज़्म पर बहस शुरू हुई है, तो इसके पीछे ठोस वजहें भी हैं. बॉलीवुड में कुछ चेहरे ही चमक पाते हैं और करोड़ों के बजट वाली फ़िल्में भी उनकी ही झोली में आती हैं. स्टारकिड की एंट्री हमेशा धमाकेदार होती है, वहीँ टैलेंटेड कलाकारों को एक ब्रेक पाने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगाना पड़ता है. बॉलीवुड में ऐसे कई कलाकार हैं, जिन्हें वो सक्सेस नहीं मिली, जिसके वो हक़दार थे, वहीँ कई ऐसे कलाकार भी हैं, जिन्हें स्टारकिड होने का पूरा फायदा मिला. बॉलीवुड में कुछ गुट ऐसे भी हैं, जो चुनिंदा लोगों के साथ ही फिल्में बनाते हैं, ऐसे में उन न्यूकमर्स का रास्ता मुश्किल हो जाता है, जिनका बॉलीवुड में कोई गॉड फादर नहीं है. कंगना रनौत इसका एक बड़ा उदाहरण हैं और उन्होंने बॉलीवुड की इस गुटबाजी का हमेशा विरोध किया है. कंगना रनौत ने ये खुले शब्दों में कहा है कि बॉलीवुड में कोई गॉड फादर नहीं होने के कारण उन्हें बहुत स्ट्रगल करना पड़ा.

Kareena Kapoor and Shahid Kapoor

कंगना रनौत ने कहा, मेरे साथ कुत्तों जैसा व्यव्हार होता था
कंगना ने एक इंटरव्यू में अपने करियर के शुरुआती दौर की बातें बताते हुए कई खुलासे किए थे. कंगना ने कहा, “जब मैंने करियर शुरू किया था, मेरे साथ कुत्तों जैसा व्यव्हार होता था. इंडस्ट्री के लोग ऐसा व्यवहार करते थे जैसे मुझे आवाज उठाने का हक नहीं है, मेरी जरूरत नहीं है. मैं इंग्लिश में बात नहीं कर पाती थी, तो वे मेरा मजाक उड़ाते थे.”

यह भी पढ़ें: सुशांत सिंह राजपूत के आखिरी ट्विटर और इंस्टाग्राम पोस्ट पर ऐसे छलका उनका दर्द (Sushant Singh Rajput’s Last Twitter And Instagram Post Will Make You Emotional)

Kangana Ranaut

बॉलीवुड में गुटबाजी और पक्षपात का इतिहास बहुत पुराना है, लेकिन अब इस मानसिकता में बदलाव आना चाहिए और नेपोटिज़्म पर खुलकर बहस होनी चाहिए. आपको क्या लगता है, ‘मी टू’ #MeToo की तरह ही क्या #Nepotism यानी भाई-भतीजावाद के खिलाफ भी आवाज़ उठाई जानी चाहिए? अपनी राय हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं.

कटरीना कैफ, अनुष्का शर्मा और श्रद्धा कपूर जैसी बॉलीवुड की बड़ी अभिनेत्रियों को बाइक चलाने की ट्रेनिंग देने वाली कोच चेतना पंडित ने खुदकुशी कर ली है. बताया जा रहा है कि चेतना ने गोरेगांव ईस्ट स्थित अपने किराए के फ्लैट में आत्महत्या की है. हालांकि मरने से पहले चेतना ने एक सुसाइड नोट छोड़ा था, जिसमें उन्होंने अपने ब्रेकअप के दर्द को बयां करते हुए लिखा था कि उनकी मौत का ज़िम्मेदार कोई नहीं है.

Bollywood Bike trainner Chetna Pandit

इस सुसाइड नोट से इस बात का अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि आख़िर चेतना आत्महत्या करने पर क्यों मजबूर हो गईं. इस नोट में उन्होंने लिखा था कि कुछ महीने पहले ही उनका बॉयफ्रेंड के साथ ब्रेकअप हो गया था, जिसके बाद से वो बिल्कुल अकेली पड़ गई थीं.  हालांकि बॉयफ्रेंड से ब्रेकअप को ही इस सुसाइड की सबसे बड़ी वजह माना जा रहा है. ख़बरों की मानें तो रॉयल एनफील्ड चलाने में माहिर 27 वर्षीय चेतना किराए के घर में अपनी एक महिला दोस्त के साथ रहती थीं और मंगलवार की रात जब वो घर पर अकेली थीं तब पंखे से फांसी लगाकर उन्होंने अपनी जान दे दी.

Chetna Pandit

हालांकि पुलिस ने केस दर्ज करते हुए इस मामले की तफ्तीश शुरू कर दी है और इस मामले में चेतना के बॉयफ्रेंड से भी पूछताछ की जा सकती है. बता दें कि चेतना फिल्म ‘धूम’ के लिए कटरीना कैफ को, ‘जब तक है जान’ के लिए अनुष्का शर्मा को, ‘एक विलेन’ के लिए श्रद्धा कपूर को और माधुरी दीक्षित को भी बाइक चलाने की ट्रेनिंग दे चुकी हैं.

Bollywood Actress Bike Ride

यह भी पढ़ें: Shocking: तारक मेहता का उल्टा चश्मा के डॉ. हंसराज हाथी नहीं रहे, हार्ट अटैक बनी वजह