Breakup with partner

ब्रेकअप के बाद भी अच्छे दोस्त बने रहना आसान काम नहीं है, क्योंकि जब रिश्ता टूटता है, तो संबंध पहले जैसे मधुर नहीं रहते. ग्लैमर इंडस्ट्री में लिंकअप की तरह ब्रेकअप होना भी कोई बड़ी बात नहीं है. एक साथ काम करते हुए कलाकार एक-दूसरे के करीब आ जाते हैं. कई लोग शादी भी कर लेते हैं, लेकिन जब उन्हें लगता है कि वो एक छत के नीचे एक साथ नहीं रह सकते, तो वो ब्रेकअप कर लेते हैं. टीवी इंडस्ट्री में कुछ कपल ऐसे भी हैं, जो ब्रेकअप के बाद भी अच्छे दोस्त हैं और ये उनके रिश्ते की ख़ास बात है. आइए, हम आपको मिलवाते हैं कुछ ऐसे टीवी सेलिब्रिटीज़ से, जो ब्रेकअप के बाद भी अच्छे दोस्त हैं.

TV Celebrities Who Stayed Friends After A Breakup

उर्वशी ढोलकिया – अनुज सचदेवा (Urvashi Dholakia – Anuj Sachdeva)
हाल ही में डांस रियालिटी शो ‘नच बलिये 9’ में उर्वशी ढोलकिया और अनुज सचदेवा की केमिस्ट्री लाजवाब थी और दोनों का प्यार भी साफ़ झलक रहा था. हालांकि उर्वशी ढोलकिया और अनुज सचदेवा की लव स्टोरी की किसी को भी भनक नहीं थी इसलिए दोनों के ब्रेकअप की खबर भी किसी को पता नहीं चली. डांस रियालिटी शो ‘नच बलिये 9’ में उर्वशी ढोलकिया और अनुज सचदेवा ने पहली बार अपने रिलेशनशिप के बारे में बताया. बता दें कि उवर्शी 16 साल में जुड़वां बच्चों की मां बन गई थीं और शादी के दो साल के भीतर ही वो अपने पति से अलग हो गई थीं. उर्वशी ढोलकिया ने अकेले ही अपने दोनों बेटों की परवरिश की है. इस रिश्ते की एक और ख़ास बात ये है कि अनुज उम्र में उर्वशी से 5 साल छोटे हैं. उर्वशी और अनुज 5 तक रिलेशनशिप में रहे, लेकिन फिर उनका रिश्ता आगे नहीं बढ़ सका और दोनों अलग हो गए. उर्वशी ढोलकिया और अनुज सचदेवा के दूर होने की वजह अनुज की मां हैं, अनुज की मां को ये रिश्ता मंजूर नहीं था और अनुज अपनी मां की इच्छा के खिलाफ नहीं सके इसलिए दोनों अलग हो गए. अनुज की मां की इच्छा के अनुसार दोनों ने शादी करने का इरादा तो छोड़ दिया, लेकिन आज भी उर्वशी ढोलकिया और अनुज सचदेवा अच्छे दोस्त हैं और इनके रिश्ते की गहराई ‘नच बलिये 9’ में दर्शकों को साफ़ नज़र आई.

Urvashi Dholakia - Anuj Sachdeva

रिद्धी डोगरा – राकेश बापट (Ridhi Dogra – Raqesh Bapat)
टीवी इंडस्ट्री की क्यूट जोड़ी रिद्धी डोगरा और राकेश बापट एक टीवी सीरियल में साथ काम करते हुए एक-दूसरे के करीब आ गए. दोनों का रिश्ता आगे बढ़ा और इन्होंने शादी कर ली. सात साल तक इस टीवी कपल ने खुशहाल शादीशुदा ज़िंदगी जी, लेकिन धीरे-धीरे दोनों की लगने लगा कि उनमें वो कनेक्शन नहीं है, जो पति-पत्नी में होना चाहिए. एक दिन अचानक रिद्धी डोगरा और राकेश बापट ने मीडिया को बताया कि वो अब अपने रिश्ते से अलग हो गए हैं. सबके लिए ये खबर हैरान कर देने वाली थी, क्योंकि ये कपल सात साल से शादीशुदा था. इतना लंबा समय साथ बिताने के बाद भी इन दोनों ने खुद को शादी के बंधन से आज़ाद कर दिया. भले ही आज रिद्धी डोगरा और राकेश बापट आज मैरिड कपल न हों, लेकिन आज भी वो अच्छे दोस्त हैं और पार्टीज़ में अक्सर एक-दूसरे के साथ नज़र आते हैं. ब्रेकअप के बाद भी इनकी दोस्ती में कोई कमी नहीं आई है.

यह भी पढ़ें: 16 साल में जुड़वां बच्चों की मां बन गई थी ‘कसौटी जिंदगी की’ कोमोलिका, उर्वशी ढोलकिया ने अकेले की बच्चों की परवरिश (Shocking! Urvashi Dholakia Becomes Mother Of Twins At Age Of 16)

Ridhi Dogra - Raqesh Bapat

जूही परमार- सचिन श्रॉफ (Juhi Parmar – Sachin Shroff)
‘कुमकुम’ सीरियल की एक्ट्रेस जूही परमार और उनके एक्टर पति सचिन श्रॉफ ने पांच साल तक डेटिंग की और फिर शादी कर ली. दोनों की एक प्यारी सी बेटी भी है, जिसका नाम समायरा है. शादी के नौ साल बाद इस कपल ने तलाक का फैसला ले लिया. जूही परमार के अनुसार, शादी के शुरुआती दिनों से ही उनके रिश्ते में समस्याएं आने लगी थीं. दोनों की सोच, स्वभाव, बैंकग्राउंड और ज़िंदगी जीने का नज़रिया बिल्कुल अलग है इसलिए दोनों के रिश्ते में परेशानिया आने लगी थी. दोनों ने अपने रिश्ते को बचाने की पूरी कोशिश की, लेकिन जब साथ रहना मुश्किल हो गया, तो जूही परमार और सचिन श्रॉफ ने तलाक का फैसला कर लिया. आज भले ही जूही परमार और सचिन श्रॉफ साथ नहीं रहते, लेकिन सोशल मीडिया पर वो एक-दूसरे की उन तस्वीरों पर कमेंट करते हैं, जिनमें उनकी बेटी होती है. साथ ही जूही अपनी बेटी को पिता सचिन से मिलने के लिए कभी नहीं रोकती. दोनों अपनी बेटी को बहुत प्यार करते हैं और अपने रिश्ते के बारे में कुछ भी बुरा नहीं बोलते.

यह भी पढ़ें: जब एक साउंड रिकॉर्डिस्ट ने उड़ाया अंगूरी भाभी शुभांगी अत्रे का मज़ाक, कहा इनका कुछ नहीं होने वाला (When A Sound Recordist Played Prank With Angoori Bhabhi Shubhangi Atre)

Juhi Parmar - Sachin Shroff

दिल के रिश्ते का हर एहसास ख़ास होता है… दिल मिलने पर जितनी ख़ुशी होती है, दिल टूटने पर दर्द भी उतना ही ज़्यादा होता है… कहते हैं, पुरुष अपने दिल का दर्द ज़ाहिर नहीं करते… तो फिर दिल टूटने का पुरुषों पर क्या होता है असर?

How Men Deal With Breakups

ब्रेकअप का पुरुषों पर ये होता है असर
ब्रेकअप का अलग-अलग पुरुषों पर अलग असर होता है. ब्रेकअप का दर्द शायद सभी पुरुषों को एक-सा हो, लेकिन इस दर्द से उबरने के लिए हर पुरुष अपना अलग तरीका खोज निकालता है. आमतौर पर ब्रेकअप का पुरुषों पर ये असर होता है:

1) ख़ुद को नशे में डुबो देना
ब्रेकअप के बाद अक्सर कई पुरुष अपना दर्द और अपने एक्स को भुलाने के लिए बहुत ज़्यादा सिगरेट-शराब पीने लगते हैं. इसका असर उनकी पर्सनल, प्रोफेशनल और सोशल लाइफ पर भी पड़ने लगता है. ज़्यादा शराब पीकर कई पुरुष दूसरों से झगड़ा या गाली-गलौज भी करने लगते हैं. घर वालों के समझाने पर उन्हें भी भला-बुरा कह देते हैं. ब्रेकअप का दर्द उन्हें इतना आहत करता है कि वो न तो अपने करियर पर फोकस कर पाते हैं और न ही उनका किसी चीज़ में मन लगता है.

2) लोगों से मिलने से कतराना
ब्रेकअप को कई पुरुष अपनी प्रतिष्ठा से जोड़कर देखते हैं. उन्हें लगता है कि किसी से मिलने पर यदि किसी ने उनसे उनके रिलेशनशिप के बारे में पूछ लिया, तो वे उसे क्या जवाब देंगे. ब्रेकअप के बाद पुरुष अपने रिश्ते के बारे में डिस्कस नहीं करना चाहतेे इसलिए वो लोगों से मिलने से कतराने लगते हैं.

3) सच्चाई स्वीकार न कर पाना
कई पुरुष ये बात स्वीकार ही नहीं पाते कि कोई महिला उन्हें लाइफ पार्टनर बनाने से इनकार कर सकती है. ब्रेकअप की बात सोचते ही उनके अहम् को ठेस लगती है इसलिए वो ये ये सच्चाई स्वीकारना ही नहीं चाहते कि किसी महिला ने उनका दिल तोड़ा है. इस बात का उनकी पर्सनैलिटी पर भी गहरा असर होता है. ऐसे लोग समझ ही नहीं पाते कि अब उन्हें आगे क्या करना है.

4) सारा दोष महिला पार्टनर से सिर मढ़ देना
कई पुरुष ये बात मानना ही नहीं चाहते कि उनके ब्रेकअप के लिए वो भी उतने ही ज़िम्मेदार हैं, जितना कि उनकी महिला पार्टनर. वो हर किसी से यही कहते फिरते हैं कि उनकी पाटर्नर इस रिश्ते की ज़िम्मेदारी उठाने लायक ही नहीं थी इसलिए उन्हें मजबूरन उससे रिश्ता तोड़ना पड़ा.

5) बिज़ी रहने की एक्टिंग करना
ब्रेकअप हो जाना कई पुरुषों को अपनी बेइज़्ज़ती लगती है इसलिए वो इस बात से डरते रहते हैं कि कोई उनसे उनके ब्रेकअप के बारे में न पूछ लें. दोस्तों और करीबियों के सवालों से बचने के लिए वो बिज़ी रहने की एक्टिंग करने लगते हैं. कई बार ऐसे लोग ख़ुद को काम में इतना डुबो देते हैं कि उन्हें अपने बारे में सोचने तक का समय नहीं मिल पाता.

यह भी पढ़ें: पुरुषों में होते हैं महिलाओं वाले 10 गुण (10 Girly Things Men Do And Are Proud To Admit)

Breakups

6) घंटों जिम में बिताना
कई पुरुष ब्रेकअप के बाद जिम में अधिक समय बिताते हैं. ऐसा वो इसलिए करते हैं ताकि अपना ग़ुस्सा और फ्रस्ट्रेशन जिम में जाकर रिलीज़ कर सकें. उन्हें किसी से मिलने या बात करने की इच्छा नहीं होती इसलिए वो जिम में ख़ुद को थकाकर अपना ग़ुस्सा शांत करते हैं. ब्रेकअप के बाद जो पुरुष जिम में अधिक समय बिताते हैं, कई बार वो अपनी क्षमता से अधिक एक्सरसाइज़ करके ख़ुद को नुक़सान तक पहुंचा देते हैं.

7) किसी भी महिला पर विश्‍वास न करना
ब्रेकअप के बाद कई पुरुषों का महिलाओं पर से विश्‍वास उठ जाता है. दिल का रिश्ता टूटने का उन पर इतना बुरा प्रभाव पड़ता है कि वो फिर किसी महिला पर विश्‍वास ही नहीं कर पाते. ऐसे पुरुषों को फिर से दिल लगाने में बहुत दिक्कत होती है. जब तक कोई महिला उनका विश्‍वास न जीत ले, वो तब तक महिलाओं से दूर ही रहते हैं.

8) मल्टीपल पार्टनर बनाना
दिल टूटने का अलग-अलग पुरुषों पर अलग असर होता है. दिल टूटने पर कई पुरुष महिलाओं से दूर रहते हैं, तो कई पुरुष मल्टीपल पार्टनर बना लेते हैं यानी एक साथ एक से ज़्यादा महिला पार्टनर के साथ रोमांस करने लगते हैं. मल्टीपल पार्टनर बनाने वाले पुरुष शादी के रिश्ते में नहीं बंधना चाहते, वो बस महिला पार्टनर का साथ चाहते हैं, उन्हें लाइफ पार्टनर नहीं बनाना चाहते.

9) डेटिंग ऐप्स का सहारा लेना
ब्रेकअप के दर्द से उबरने के लिए कई पुरुष डेटिंग ऐप्स का सहारा लेने लगते हैं. ऐसे पुरुष अपना अधिकतर समय डेटिंग ऐप्स में बिताने लगते हैं. वो डेटिंग ऐप्स के माध्यम से कई लड़कियों से मिलते-जुलते हैं और अपना ग़म दूर करने की कोशिश करते हैं.

10) सोशल मीडिया पर एक्टिव रहना
सोशल मीडिया अकेलापन दूर करने का आसान माध्यम बन गया है. सोशल मीडिया का सबसे बड़ा फ़ायदा ये है कि आप अपने मोबाइल स्क्रीन पर उंगलियां फिराते हुए कई लोगों से जुड़ सकते हैं. आपको न उनसे मिलने की ज़रूरत है और न ही उन्हें अपना चेहरा दिखाने की ज़रूरत है. ऐसे में अकेलेपन के शिकार कई लोग सोशल मीडिया पर अपना अधिकतर समय बिताते हैं. अपने करीबियों से मिलने-जुलने के बजाय उन्हें घर बैठे अजनबियों से बातें करना अच्छा लगने लगता है. वो सोशल मीडिया की आभासी दुनिया अपना ग़म भुलाने की कोशिश करते रहते हैं.

यह भी पढ़ें: इमोशनल अत्याचार: पुरुष भी हैं इसके शिकार (#MenToo Movement: Men’s Rights Activism In India)

How To Deal With Breakups
 ब्रेकअप के दर्द से कैसे उबरें पुरुष?
हालांकि दिल टूटने के दर्द से उबरना आसान नहीं, लेकिन ज़िंदगी में आगे बढ़ना भी ज़रूरी है. ब्रेकअप के दर्द से उबरने के लिए क्या करें पुरुष? आइए, जानते हैं.

1) शी-टॉक्स शुरू करें 
जिस तरह हम अपने शरीर से विषाक्त तत्व बाहर निकालने के लिए डीटॉक्स करते हैं, उसी तरह अपने पुराने रिश्ते से बाहर निकलने के लिए शी-टॉक्स शुरू करें. इसके लिए अपने एक्स से जुड़ी सभी यादों को ख़ुद से दूर करें. सोशल मीडिया पर उसे अनफ्रेंड करें, उसका नंबर डिलीट कर दें, इस तरह आप बार-बार उसे देखने या उसके बारे में जानने से बच पाएंगे और अपना ध्यान अपने काम पर लगा पाएंगे.

2) पुरानी यादों को जला दें
करीना कपूर और शाहिद कपूर की फिल्म जब वी मेट का वो सीन आपको याद होगा, जब शाहिद कपूर अपने एक्स की यादें मिटाने के लिए करीना कपूर से उसकी तस्वीर को जलाकर कमोड में फ्लश करने को कहते हैं, ताकि करीना उसकी यादों को भुला सके. आप भी ऐसा कर सकते हैं. बार-बार अपने एक्स की फोटो देखकर दुखी होने के बजाय उसकी फोटो को जलाकर अपने दिल को समझाएं कि अब वो आपकी ज़िंदगी में नहीं है.

3) एक्स से दोस्ती न रखें
कई लोग रिश्ता ख़त्म होने के बाद भी दोस्त बने रहना चाहते हैं. ऐसा करना तब सही होता है, जब आप अपनी दोस्ती को स़िर्फ दोस्ती की नज़र से देखें, लेकिन आपके मन में यदि अब भी अपने एक्स के लिए वही भावनाएं हैं, तो बेहतर होगा कि आप उससे दोस्ती भी न रखें. अपने एक्स को भुलाने के लिए आप उससे दूर ही रहें.

ये प्यार इतना कॉम्प्लिकेटेड क्यों है? देखें वीडियो:

4) ख़ुद को नशे से दूर रखें
ब्रेकअप के दर्द को भुलाने के लिए यदि आप भी ख़ुद को नशे में डुबो देते हैं, तो ये आपकी सेहत के लिए अच्छा नहीं है. नशा करने की बजाय अपने शौक के लिए व़क्त निकालें, वो चीज़ें करें जो आपको अच्छी लगती हैं.

5) महिलाओं से दूर न भागें
यदि एक महिला ने आपका दिल तोड़ा है, तो इसका ये मतलब नहीं कि सभी महिलाएं ऐसी ही होती हैं. अत: महिलाओं से कतराएं नहीं, बल्कि उनसे बात करें. यदि कोई महिला दोस्ती का हाथ आगे बढ़ाए, तो ख़ुद को एक और चांस दें और जीवन में आगे बढ़ें.

6) ख़ुद से प्यार करें
हर इंसान का ये फर्ज़ है कि वो दुनिया में सबसे ज़्यादा ख़ुद से प्यार करें. यदि आप ख़ुद से प्यार करेंगे, तभी आप दूसरों से भी उतना ही प्यार कर सकेंगे. हमेशा जीवन का सकारात्मक पहलू देखें. एक रिश्ता टूट जाने से ज़िंदगी ख़त्म नहीं होती. आज यदि आपका दिल टूटा है, तो इस बात पर विश्‍वास रखें कि आपके जीवन में इससे भी अच्छा लाइफ पार्टनर आने वाला है. ज़िंदगी एक बार मिलती है इसलिए उसे खुलकर जीएं. आप बस ख़ुद से प्यार करें, आपके जीवन में प्यार की कभी कमी नहीं होगी.

– कमला बडोनी