Tag Archives: breakup

जल्द ही शादी के बंधन में बंधेंगी मोना सिंहः एमएमएस लीक की वजह से टूटा था रिश्ता (Mona Singh Will Tie The Knot Soon: Previous Relationship Was Broken Due To MMS Leak)

टीवी सीरियल जस्सी जैसी कोई नहीं से पॉप्युलर हुई टीवी एक्ट्रेस मोना सिंह (Mona Singh) इन दिनों अपने अफेयर और शादी की खबरों को लेकर चर्चा में हैं. खबरें हैं कि मोना को एक बार फिर प्यार हो गया है और वो जल्द ही शादी के बंधन में बंधनेवाली हैं. खबरों के अनुसार मोना सिंह पिछले एक साल से किसी साउथ इंडियन को डेट कर रही हैं. दोनों एक-दूसरे को लेकर काफी सीरियस हैं और उनका जल्द ही शादी का प्लान है. मोना का यह बॉयफ्रेंड फिल्मी बैकग्राउंड से नहीं है और अभी तक उनके नाम का खुलासा भी नहीं हुआ है.

Mona Singh

 

बता दें कि मोना सिंह पहले टीवी एक्टर करण ओबेरॉय और विद्युत जामवाल के साथ रिलेशनशिप में रह चुकी हैं. बॉलीवुड एक्टर विद्युत जामवाल के साथ तो उनका अफेयर लंबे टाइम तक रहा था और खबरें तो यहां तक थीं कि दोनों शादी करनेवाले थे, लेकिन तब मोना के एक तथाकथित एमएमएस के कारण ये रिश्ता टूट गया था.

दरअसल कुछ साल पहले एक एमएमएस लीक होने के कारण मोना सिंह का नाम खूब चर्चा में रहा था. इस एमएमएस में मोना सिंह की तरह दिखनेवाली लड़की आपत्तिजनक हालत में थी और वो एमएमएस खूब वायरल हुआ था. हालांकि जांच-पड़ताल के बाद इस एमएमएस की सच्चाई का खुलासा नहीं हो सका था और मोना ने इसे फर्जी बताया था, लेकिन इससे मोना सिंह की पर्सनल लाइफ बुरी तरह से प्रभावित हुई थी और बॉयफ्रेंड विद्युत से उनकी शादी टूटने की वजह भी इसी एमएमएस को बताया गया था।

वर्क फ्रंट की बात करें तो मोना जल्द ही ऑल्ट बालाजी की वेब सीरीज मॉम: मिशन ओवर मार्स में नज़र आएंगी. इस वेब सीरीज में साक्षी तंवर, निधि सिंह और पालोमी घोष भी अहम किरदार में नजर आनेवाली हैं.

Mona Singh

Mona Singh Mona Singh Mona Singh

 

Mona Singh

Mona Singh

Mona SinghMona Singh

यह भी पढ़ेसोनाली बेंद्रे का गणपति विसर्जन को लेकर संदेश… (Sonali Bendre’s Message About Ganpati Immersion)

9 बातें जो ला सकती हैं दांपत्य जीवन में दरार (9 Things That Can Break Your Relationship)

कहते हैं पति-पत्नी का रिश्ता सात जन्मों का होता है, तो फिर क्यों सात जन्मों का यह रिश्ता पलभर में टूट जाता है? क्यों जीवनभर का साथ पलभर का साथ बनकर रह जाता है? ज़रा-सी नासमझी, ज़रा-सी लापरवाही क्यों दो चाहनेवालों को अजनबी बना देती है? कहीं जाने-अनजाने आप भी इसी दौर से तो नहीं गुज़र रहीं हैं?

Things That Break Relationship

शादी के पहले एक-दूसरे को समझना ज़रूरी

शादी तय होने के बाद लड़के और लड़की के बीच कम्युनिकेशन बेहद ज़रूरी है. इससे धीरे-धीरे दोनों एक-दूसरे के स्वभाव को समझने लगते हैं, विचारों को जानने लगते हैं. जब आपसी समझ होगी तभी आपसी तालमेल संभव है. लेकिन अभी भी कई परिवार ऐसे हैं, जहां लड़के  और लड़की को शादी के पहले मिलने और बातें करने की आज़ादी नहीं है. आगे चलकर इससे एक-दूसरे के  साथ सामंजस्य बैठाने में काफ़ी परेशानी होती है. वे एक-दूसरे के स्वभाव को समझ नहीं पाते, इसलिए बात-बात पर तू-तू, मैं-मैं होती रहती है. यहां तक कि कई बार शादी टूटने की भी नौबत आ जाती है.

शादी के बाद दूरी

बड़े पैकेज से प्रभावित हो मल्टीनेशनल कंपनी में काम करनेवाली रीना को उसके पति राजीव ने घर से दूर बैंगलोर जाने की इजाज़त तो दे दी, पर कुछ ही महीनों के बाद उनमें अनबन होने लगी. प्यार और विश्‍वास में कमी आने लगी. दूर रहकर रिश्ते को मेंटेन करना मुश्किल हो गया. आख़िर एक दिन रीना को अपनी शादी बचाने के लिए जॉब ट्रांसफ़र करवाने का फैसला लेना ही पड़ा. आज के ज़माने में पति-पत्नी दोनों ही कामकाजी होते हैं. ऐसे में अगर उनमें से किसी एक को भी अपने करियर के लिए एक-दूसरे से दूर रहना पड़े तो इसमें वे ग़लत नहीं समझते. लेकिन इस दूरी से धीरे-धीरे रिश्ते में भी दूरियां आने लगती हैं. आपसी प्यार डगमगाने लगता है. मोबाइल और इंटरनेट के ज़रिए संपर्क तो हो सकता है, पर संबंध बहुत ज़्यादा समय तक टिका रहे या पहले जैसा विश्‍वास बना रहे, ये मुश्किल है. बल्कि ऐसे रिश्तों में किसी तीसरे के आने की ज़्यादा संभावना होती है. ऐसे में शादी के टूटने की संभावना ़ज़्यादा होती है.

ऑफ़िस में अधिक वर्क लोड

एडवर्टाइज़िंग कंपनी में काम करनेवाली सुहासिनी मेनन कहती है, “मेरे लिए अपने परिवार से बढ़कर कुछ भी नहीं है. लेकिन जब काम के लिए ऑफ़िस में ज़्यादा समय देना पड़ता है तो मुसीबत हो जाती है. कभी-कभार ऐसा हो तब तो मेरे पति सब कुछ मैनेज कर लेते हैं. लेकिन यदि ज़्यादा दिनों तक ये सिलसिला चल जाए तो मेरे पति बर्दाश्त नहीं करते. हम चाहे बाहर की कितनी ही ज़िम्मेदारियां संभाल लें, लेकिन घर व पति को समय न दें तो गृहस्थी की गाड़ी डगमगा जाती है.”  आजकल पति-पत्नी दोनों के कामकाजी होने से उनकी पर्सनल लाइफ़ पर भी प्रभाव पड़ता है. कामकाज के बोझ तले रिश्ते दम तोड़ने लगते हैं. इसलिए ऑफ़िस व घर को बैलेंस करके चलने में ही समझदारी है.

 घर की ज़िम्मेदारी का ज़्यादा बोझ

रिश्तों को पनपाने के लिए उन्हें प्यार से सींचना पड़ता है. सुबह से शाम तक यदि आप घर-किचन  आदि को सजाने-संवारने में ही बिता देंगी या दिनभर बच्चों व अन्य काम से ही ़फुर्सत नहीं मिलेगी तो पति के साथ समय बिताने के लिए व़क़्त ही कहां होगा. इससे बेहतर तो यह है कि आप अपने पति के साथ काम बांट लें. इससे आप पर सारा बोझ भी नहीं पड़ेगा और काम की ज़िम्मेदारी साथ निभाने से आपसी प्यार भी बढ़ेगा. इस बारे में सोनी कहती है, “ मेरे पति राजीव ने कभी भी ऐसा नहीं सोचा कि घर का काम पत्नी को ही करना चाहिए. मुझ पर घर और बाहर दोनों की ज़िम्मेदारियां हैं और वो इस बात को अच्छी तरह समझते हैं. वो मुझसे पहले घर पहुंच जाते हैं और मुझे ऑफ़िस से निकलने में देर हो जाती है. जब घर पहुंचती हूं तो वे सब्ज़ी वगैरह काटकर रखते हैं और बच्चे को भी संभाल लेते हैं. आने के बाद मैं बाकी काम निपटा लेती हूं, इस तरह ऑफ़िस से आने के बाद हम दोनों सोने के पहले एक-दो घंटे स़िर्फ अपनी दिनभर की बातों को शेयर करने के लिए रखते हैं. मुझे लगता है कि  एक-दूसरे के लिए व़क़्त निकालने से रिश्तों में और मिठास व निकटता आती है.”

यह भी पढ़े: घर को मकां बनाते चले गए… रिश्ते छूटते चले गए… (Home And Family- How To Move From Conflict To Harmony)

Things That Break Relationship
व्यस्तता को रिश्ते पर हावी न होने दें

आज की लाइफ़ इतनी व्यस्त हो गई है कि  एक-दूसरे के लिए समय निकालना ही मुश्किल हो गया है. पत्नी-पत्नी दोनों कामकाजी हों या न हों, दोनों ही हालात में यह स्थिति होने लगी है. इसलिए एक-दूसरे के लिए समय निकालें. सप्ताहांत में बाहर घूमने जाएं, कोई फ़िल्म देखें या फिर साथ में शॉपिंग पर जाएं. आप चाहें तो रोज़ाना मॉर्निंग वॉक पर साथ जाएं. हर तरह की बातें शेयर करें. हर पल को भरपूर जीएं. इससे आपकी शादीशुदा ज़िंदगी की उम्र बढ़ जाएगी. एक-दूसरे को समय न देने से हर बात की ग़लतफ़हमियां बढ़ती चली जाती हैं, जो बाद में रिश्ते को प्रभावित करती हैं.

 आलोचनाओं से बचें

शादी की है तो रिश्ता निभाना सीखें. एक-दूसरे में मीन-मेख न निकालें. न ही किसी के सामने अपने पार्टनर की आलोचना करें. इससे उनके अहम को ठेस लगती है. यदि आपको एक-दूसरे से शिकायत है तो मिलकर आपसी शिकायत दूर करें. सरेआम उनकी बुराई करके दूसरोें के  सामने अपने पति को शर्मसार न करें, न ही इस पवित्र रिश्ते का तमाशा बनाएं. अच्छाई और बुराई सब में होती है, आप में भी तो होगी. इसलिए अपने पार्टनर की अच्छाइयों को देखें, बुराई को नहीं. उनके काम की सराहना करें. प्यार देंगे तो बदले में प्यार मिलेगा.

 शक करने से बचें

दोस्त बनाना कोई ग़लत बात नहीं. आजकल ऑफ़िस में लड़के और लड़कियांं साथ काम करते हैं. इसलिए अपने पति की सहकर्मी को लेकर कभी शक न पालें. शक ऐसा कीड़ा है, जो एक बार रिश्ते में लग गाए तो शादीशुदा ज़िंदगी को ख़त्म कर देता है. लेकिन साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि कहीं आपकी लापरवाही किसी गैर व्यक्ति को आपके दांपत्य  में सेंध लगाने की आज़ादी न दे दे. आंख बंद करके अपने पार्टनर पर भरोसा भी न करें. ऐसे मामले में समझदारी बरतें.

सेक्स को नज़रअंदाज़ न करें

माना कि  पति-पत्नी के रिश्ते में प्यार ज़रूरी है, पर प्यार की पूर्णता के लिए सेक्स भी ज़रूरी है. अपनी सेक्सुअल इच्छाओं को खुलकर अभिव्यक्त करें. एक-दूसरे से निःसंकोच बात करें. आजकल के पति-पत्नी कामकाजी होने के कारण इतने ़ज़्यादा व्यस्त हो गए हैं कि उन्हें सेक्स के लिए भी समय नहीं मिलता. इससे धीरे-धीरे उनके बीच दूरियां बढ़ती चली जाती हैं.

अहम् का टकराव

रिश्ते में प्यार पालें, अहम् नहीं. छोटी-छोटी बातों को ईगो की वजह न बना लें. किसी बात पर अगर कहा-सुनी हो जाए तो उस बात को अनावश्यक खींचें नहीं. शांत मन से सोचें और फिर बात करने की पहल करें. कभी-कभी छोटी-सी बात भी तिल का ताड़ बन जाती है. बेहतर होगा कि  बड़ी से बड़ी बातों को भी समझदारी से हल करें. सुरभि कहती है, “मेरे और विवेक के बीच ज़रा-ज़रा-सी बात को लेकर झगड़े हो जाते हैं, लेकिन विवेक हर बात को आसानी से संभाल लेता है, पर जब किसी बात पर उसे बहुत ़ज़्यादा ग़ुस्सा आ जाए और वह पहल न करे तो मैं समझ जाती हूं कि  मामला गंभीर है. तब मैं यह नहीं देखती कि  कौन सही है और कौन ग़लत. बस, किसी तरह उसे मना लेती हूं. बाद में शांति से बैठकर दोनों अपनी ग़लती का एहसास कर लेते हैं और फिर ख़ूब हंसते भी हैं अपनी बेवकूफ़ियों पर. इस तरह हम अपनी ही ग़लतियों का मज़ाक उड़ाकर अहम् को भी हवा में उड़ा देते हैं. शायद यही है हमारे पऱफेक्ट मैरेज का राज़.”

– सुमन शर्मा

 यह भी पढ़ें: मां बनने वाली हैं तो पति को 10 अलग अंदाज़ में दें मां बनने की ख़ुशखबरी (10 Cute Ways To Tell Your Husband You’re Pregnant)

बॉडी पर भी दिखते हैं ब्रेकअप के साइड इफेक्ट्स (How Your Body Reacts To A Breakup?)

Breakup Effects
बॉडी पर भी दिखते हैं ब्रेकअप के साइड इफेक्ट्स (How Your Body Reacts To A Breakup?)

शरीर में दर्द होने पर जैसे आप कोई काम सही ढंग से नहीं कर पाते हैं, ठीक वैसे ही दिल के टूटने पर भी दिल सही तरह से काम नहीं कर पाता है. ब्रेकअप का संबंध केवल भावनाओं से ही नहीं होता, शरीर से भी होता है, इसलिए ब्रेकअप (Breakup) के दौरान जब व्यक्ति बुरी तरह से आहत होता है, तो उसका दुष्प्रभाव (Side Effects) मन के साथ-साथ शरीर पर भी इस प्रकार से दिखाई देने लगता है-

आंखों में सूजन: जब दिल दुखी होता है, तो आंखों में आंसू आना लाज़िमी है. लोग पूरी-पूरी रात रोते रहते हैं, जिसके कारण अगले दिन आंखों में सूजन आ जाती है. यहां पर एक दिलचस्प बात बता दें कि ब्रेकअप, तलाक़ या किसी अन्य बात से आहत होने के बाद रोने पर जो आंसू निकलते हैं, वो केवल वॉटरी होते हैं, उनमें नमक की मात्रा बहुत कम होती है, जबकि चोट लगने या अन्य किसी कारण से रोने पर निकलनेवाले आंसुओं में नमक की मात्रा अधिक होती है. दूसरे शब्दों में कहा जाए, तो जब कोई भावनात्मक रूप से आहत होकर रोता है, तो उसकी आंखों में अधिक सूजन आती है.

सीने में दर्द: क्या आपने कभी ऐसा महसूस किया है कि जब भी आप किसी बे्रकअप और तलाक़ जैसी गंभीर बात से आहत होते हैं, तो आपको ऐसा महूसस होता है, जैसे- सिर घूम रहा है, चक्कर आ रहा है, सांस लेने में तकलीफ़ हो रही है, सीने में हवा पूरी तरह से नहीं पहुंच रही है, जिसके कारण बेचैनी महसूस होती है. इसका कारण है कि भावनात्मक पीड़ा होने के साथ सीने में शारीरिक पीड़ा भी महसूस होती है. कई बार तो ऐसा दर्द महसूस होता है जैसे किसी ने छाती में मुक्का मारा हो या फिर छाती में भारीपन-सा महसूस होता है.

नींद न आना: ब्रेकअप के बाद अधिकतर लोग नींद न आने की समस्या से परेशान रहते हैं, जिसका कारण प्यार में नाकाम होना है. परिणामस्वरूप तनाव बढ़ने लगता है. तनाव बढ़ने के कारण कार्टिसोल का उत्पादन शरीर में बढ़ने लगता है और बॉडी क्लॉक पर भी बुरा असर पड़ता है. इन्हीं कारणों से ब्रेकअप के समय लोगों को नींद नहीं आती है.

मांसपेशियों में दर्द: यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्सास में हुए एक शोध के अनुसार, बेक्रअप के बाद मांसपेशियों में सूजन आ सकती है, सिरदर्द बढ़ सकता है और गर्दन में अकड़न आ सकती है. कई बार पैर भी इतने स्थिर (स्टिफ) हो जाते हैं कि सीढ़ियां चढ़ना दूभर हो जाता है. यहां तक कि थोड़ी दूर पैदल चलना भी मुश्किल होता है. इसके अतिरिक्त इस शोध में यह भी साबित हुआ है कि 23% तलाक़शुदा लोगों को कुछ दिन तक चलने में परेशानी हो रही थी और कुछ लोगों को मांसपेशियों में दर्द हो रहा था.

पाचन तंत्र में गड़बड़ी: ब्रेकअप के बाद मांसपेशियों में दर्द हो सकता है, जिसके कारण शरीर में मौजूद कार्टिसोल हार्मोन की सप्लाई पाचन संबंधी अंगों की तऱफ़ डायवर्ट हो जाती है. जब कार्टिसोल की सप्लाई पाचन संबंधी अंगों की तरफ़ ज़रूरत से ज़्यादा होती है, तो भूख कम होना, डायरिया और पेट में मरोड़ जैसी समस्याएं होती हैं. हार्वर्ड मेडिकल स्कूल में हुए एक शोध के अनुसार, जब आप ब्रेकअप के दौर से गुज़र रहे होते हैं, तो आपका मस्तिष्क भूख मिटानेवाले हार्मोन का उत्पादन अधिक करता है.

वज़न बढ़ना: कुछ लोग जब तनावग्रस्त होते हैं, तो उनका वज़न धीरे-धीरे बढ़ने लगता है. इसका कारण है कि तनावग्रस्त होने पर उनके शरीर की कोशिकाएं इंसुलिन के प्रति कम संवेदनशील होने लगती हैं और शरीर इसकी क्षतिपूर्ति करने के लिए अधिक इंसुलिन का उत्पादन करने लगता है. परिणामस्वरूप शरीर में शुगर फैट के रूप में एकत्रित होने लगता है और उनका वज़न धीरे-धीरे बढ़ने लगता है. जब वे ब्रेकअप से आहत होते हैं, तो उस समय उनका मन शुगर और फैटवाली चीज़ें खाने का करता है और इन चीज़ों को खाने से वज़न बढ़ता है.

मस्तिष्क पर बुरा प्रभाव: एक्सपर्टस का मानना है कि जब आप किसी अपने को खो देते हैं, तो दिल में दर्द के साथ-साथ मस्तिष्क पर भी उसका असर पड़ता है. यानी कि दिल के बुरी तरह से आहत होने पर मस्तिष्क में भी तकलीफ़ होती है.

स्किन संबंधी समस्याएं: ब्रेकअप के बाद तनाव होता ही है. तनाव होने पर शरीर में स्ट्रेस हार्मोन का स्तर काफ़ी बढ़ जाता है, जिसके कारण त्वचा की चमक ख़त्म हो जाती है. अगर आप पहले से ही मुंहासे, सोरायसिस और एग्ज़ीमा जैसी त्वचा संबंधी समस्याओं से परेशान हैं, तो बे्रकअप के बाद आपकी त्वचा की रंगत और भी ख़राब होने लगती है.

दिल संबंधी परेशानियां: कार्डियोलॉजिस्ट्स का मानना है कि ब्रेकअप के समय व्यक्ति भावनात्मक रूप से टूटा हुआ होता है, इसलिए उस व़क्त उसे हार्ट संबंधी तकलीफ़ या दिल का दौरा पड़ने का ख़तरा अधिक होता है. इसका कारण है कि ब्रेकअप के दौरान व्यक्ति के शरीर में एंड्रेनालाइन का स्तर बढ़ा हुआ होता है.

इम्यूनिटी कमज़ोर होना: ब्रेकअप के दौरान अक्सर मन में नकारात्मक ख़्याल आते हैं. इन नकारात्मक ख़्यालों के कारण अवसाद, अकेलापन, तनाव और चिड़चिड़ापन बढ़ता है, जिसके कारण इम्यून सिस्टम कमज़ोर पड़ने लगता है और व्यक्ति बार-बार बीमार पड़ता है.

यह भी पढ़ें: पहला अफेयर: कहीं दूर मैं, कहीं दूर तुम… (Pahla Affair: Kahin Door Main, Kahin Door Tum)

Breakup Effects

ब्रेकअप से जुड़े कुछ तथ्य
  • ब्रेकअप के दौरान महिलाएं भावनात्मक रूप से अधिक आहत होती हैं, लेकिन उनकी तुलना में पुरुषों को नॉर्मल होने में अधिक समय लगता है, क्योंकि वे अपनी भावनाएं व्यक्त नहीं करते.
  • ब्रेकअप से पहले व्यक्ति अपने रिश्ते के प्रति जितना प्रतिबद्ध होता है, रिश्ता टूटने के बाद उसमें बदलाव की संभावना भी उतनी अधिक होती है. यानी बे्रकअप के बाद व्यक्ति अपने आप को पूरी तरह से बदला हुआ महसूस करता है.
  • सोशल मीडिया रिश्तों टूटने, मानसिक व शारीरिक शोषण और तलाक़ का एक प्रमुख कारण बन गया है.

 

ब्रेकअप के बाद कैसे करें अपनी बॉडी को हील?
  1. ब्रेकअप के बाद सबसे पहले अपना फिज़िकल चेकअप कराएं. फिज़िकल चेकअप के दौरान डॉक्टर से पूछें- ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल का स्तर कितना है? क्या शरीर में रक्तसंचार सुचारू रूप से हो रहा है? कई बार तनाव और अवसाद के कारण इस तरह की समस्याएं हो सकती हैं.
  2. अगर आप किसी भावनात्मक समस्या से परेशान हैं, तो उसे भी अपने डॉक्टर से शेयर करें और उससे निबटने के तरी़के पूछें.
  3. अकेलेपन, अवसाद और तनाव से छुटकारा पाने के लिए किसी अच्छे स्पा में जाकर बॉडी मसाज कराएं. बॉडी मसाज से माइंड और बॉडी दोनों रिलैक्स होती हैं.
  4. ब्रेकअप के बाद बॉडी मसाज कराने से शारीरिक व मानसिक शांति मिलती है. मांसपेशियों का दर्द, सिरदर्द और तनाव दूर होता है. अच्छी नींद आती है और एकाग्रता बढ़ती है.
  5. नकारात्मक विचारों को दूर करने के लिए प्रकृति के क़रीब जाएं.
  6. ब्रेकअप में खाना-पीना छोड़ने की बजाय अपनी डायट पर ध्यान दें और हेल्दी फूड हैबिट्स फॉलो करें.
  7. ब्रेकअप के बाद शरीर में होनेवाले साइड इफेक्ट्स को दूर करने के लिए वर्कआउट करें. वर्कआउट और एक्सरसाइज़ करने से एंड्रॉर्फिन हार्मोन रिलीज़ होता है, जो तनाव और अवसाद को दूर करता है.
  8. योग और प्राणायाम करके अपने अशांत मन को शांत करने का प्रयास करें.
  9. अपने बीते हुए कल को भुलाने के लिए ख़ुद को व्यस्त करें, जैसे- अच्छी किताबें पढ़ें, सकारात्मक सोचवाले दोस्तों के साथ समय बिताएं.
  10. मन और शरीर को स्वस्थ रखने के लिए डांस, साइकिलिंग, स्विमिंग, फिटनेस क्लास और स्पोर्ट्स खेलें.

– पूनम नागेंद्र शर्मा

यह भी पढ़ें: पति-पत्नी के रिश्ते में भी ज़रूरी है शिष्टाचार (Etiquette Tips For Happily Married Couples)

इस एक्ट्रेस से बढ़ती नज़दीकियों के कारण विकी कौशल का हुआ ब्रेकअप (This Actress Behind Vicky Kaushal Breakup With Harleen Sethi)

उरी एक्टर विकी कौशल (Vicky Kaushal) हिंदी फिल्म जगत के उभरते सितारों में से एक हैं. संजू, राज़ी और उरी जैसी बैक टु बैक हिट फिल्में देनेवाले एक्टर विकी इन दिनों लड़कियों के दिलों पर राज करते हैं. कुछ महीनों पहले यह ख़बर आई थी कि विकी कौशल का अफेयर टीवी एक्ट्रेस हरलीन सेठी (Harleen Sethi) के साथ चल रहा है, जिसे सुनने के बाद लाखों-करोड़ों लड़कियों के दिल टूट गए थे.

Vicky Kaushal Breakup With Harleen Sethi
अब खबर आ रही है कि विकी कौशल और हरलीन कौर का ब्रेकअप हो गया है. वास्तव में हरलीन और विकी कौशल ने सोशल मीडिया पर एक-दूसरे को अनफॉलो कर दिया है, जिससे इस ख़बर की पुष्टी भी हो गई है. इसकी वजह विकी कौशल की कैटरीना कैफ के साथ बढ़ती नज़दीकियों का बताया जा रहा था. पर लेटेस्ट रिपोर्ट के अनुसार, विकी और हरलीन के बीच ब्रेकअप की वजह कैटरीना नहीं, बल्कि भूमि पेडनेकर हैं. विकी कौशल एक हॉरर फिल्म में काम कर रहे हैं, जिसमें भूमि का छोटा-सा रोल है. इसी फिल्म के सेट पर दोनों की मुलाक़ात हुई और दोनों एक दूसरे के करीब आ गए. इसके अलावा विकी और भूमि करण जौहर की आगामी फिल्म तख्त में भी एक साथ काम करनेवाले हैं.

Harleen Sethi

अब जरा फ्लैशबैक में जाकर विकी कौशल और हरलीन सेठी की लवस्टोरी पर भी चर्चा कर लेते हैं. कॉफी विद करण सीजन 6 में जब शो के होस्ट करण जौहर ने विकी से पूछा था कि क्या आप रिलेशनशिप में हैं तो विकी ने हामी भरी थी. जब करण ने उनसे डीटेल जानने की कोशिश की तो उन्होंने कहा था कि उनका रिलेशनशिप भी नया है और देखते हैं कि आगे क्या होता है.

Vicky Kaushal Breakup With Harleen Sethi

एक अन्य इंटरव्यू में जब विकी कौशल से हरलीन के साथ संबंधों पर सवाल किया गया था तो उन्होंने कहा कि उनके बीच दोस्ती पिछले साल हुई थी. वे कॉमन फ्रेंड के जरिए मिले थे और मिलते ही उन दोनों के बीच गहरा कनेक्शन हो गया था. विकी ने कहा कि हम दोनों को एक दूसरे की कंपनी अच्छी लगती है और हम एक दूसरे के बड़े क्रीटिक हैं.

ये भी पढ़ेंः स्टेज पर पहली बार रोमांटिक हुए रणबीर-आलिया, देखें वीडियो (Ranbir Kapoor And Alia Bhatt Romanced On Stage)

 

क्या इंफर्टिलिटी बन सकती है तलाक़ का कारण? (Is Infertility A Ground For Divorce?)

तलाक़ (Divorce) एक संवेदनशील मुद्दा है. क़ानून में तलाक़ लेने के लिए कई कारणों को विस्तारपूर्वक दिया गया है, पर आज भी बहुत से लोगों में इंफर्टिलिटी (Infertility) और इंपोटेंसी (Impotence) को लेकर ग़लतफ़हमी है. वो इन्हें एक ही प्रॉब्लम (Problem) समझने की भूल करते हैं और बेवजह रिश्तों को तोड़ने की कोशिश की जाती है. पर ये दोनों ही दो अलग चीज़ें हैं. आइए देखें, क्या है इंफर्टिलिटी और इंपोटेंसी में फ़र्क़ और इस आधार पर तलाक़ के बारे में क्या कहता है हमारे देश का क़ानून?

Infertility Problems

रिया और रजत की शादी को 10 साल हो गए थे. रिया की ओवरीज़ में सिस्ट था, जिसके कारण वो मां नहीं बन सकती थी. रजत बच्चा गोद नहीं लेना चाहता था, जिसके कारण हर रोज़ उनके घर में प्रॉब्लम्स होने लगीं. इनसे छुटकारा पाने के लिए दोनों ने तलाक़ ले लिया. तलाक़ के बाद रजत ने दूसरी शादी की और अब उसके 2 बच्चे हैं. रजत के लिए ये सब इतना आसान नहीं होता, अगर रिया ने उसे तलाक़ नहीं दिया होता. रिया ने रोज़ की परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए ऐसा किया, लेकिन अगर वो चाहती, तो रजत को तलाक़ न देती और कोर्ट भी उसे तलाक़ नहीं दिला पाता, क्योंकि हमारे देश में इंफर्टिलिटी को तलाक़ का आधार बनाया ही नहीं जा सकता.

विविध धर्मों के विविध क़ानून

हमारा देश विविध धर्मों और संस्कृतियों का देश है. हर धर्म में तलाक़ के लिए अपने क़ानून हैं. जहां हिंदुओं, जैन, बौद्ध और सिख के लिए द हिंदू मैरिज एक्ट 1955 है, वहीं मुसलमानों के लिए द डिज़ोल्यूशन ऑफ मुस्लिम मैरिज एक्ट 1939, ईसाइयों के लिए द इंडियन डिवोर्स एक्ट 1869 और पारसियों के लिए द पारसी मैरिज और डिवोर्स एक्ट है, तो सिविल मैरिजेस के लिए स्पेशल मैरिज एक्ट है. सभी के अपने-अपने नियम हैं, पर इंफर्टिलिटी और इंपोटेंसी (नपुंसकता) पर सभी के अलग-अलग क़ानून हैं.

क्या हैं तलाक़ के आधार?

यहां हम द हिंदू मैरिज एक्ट, 1955 के बारे में जानने की कोशिश करेंगे. इस एक्ट के सेक्शन 13 में तलाक़ के कारणों के बारे में विस्तारपूर्वक दिया गया है, जो इस प्रकार हैं-

–     व्यभिचार, धर्मांतरण, मानसिक विकार, कुष्ठ रोग, नपुंसकता, सांसारिक कर्त्तव्यों को त्याग देना, 7 सालों से लापता, जुडीशियल सेपरेशन (कोर्ट द्वारा अलग रहने की इजाज़त), किसी भी तरह के शारीरिक संबंध नहीं और क्रूरता या निष्ठुरता. क़ानून में कहीं भी इंफर्टिलिटी को तलाक़ का कारण नहीं बताया गया है.

क्या है लोगों की सोच?

आज भी ज़्यादातर लोगों को लगता है कि इंफर्टिलिटी और इंपोटेंसी एक ही चीज़ है. नपुंसकता को बांझपन से जोड़ देते हैं, जबकि ऐसा है नहीं. अगर किसी व्यक्ति के बच्चे नहीं हो रहे, तो लोग उसे नपुंसक यानी इंपोटेंट समझने लगते हैं, जबकि बच्चे न होने का कारण इंफर्टिलिटी भी हो सकती है.

इंफर्टिलिटी और इंपोटेंसी में अंतर?

इंफर्टिलिटी यानी बांझपन, जबकि इंपोटेंसी का अर्थ नपुंसकता है. यहां आपको बता दें कि पुरुषों में भी बांझपन हो सकता है और महिलाएं भी इंपोटेंट हो सकती हैं. इंपोटेंट व्यक्ति अपने पार्टनर को सेक्सुअल संतुष्टि नहीं दे पाता, जबकि बांझपन में ऐसा नहीं है. बांझ व्यक्ति की सेक्सुअल लाइफ संतुष्टिपूर्ण हो सकती है, उन्हें समस्या स़िर्फ बच्चे पैदा करने में हो सकती है.

यह भी पढ़ें: वैवाहिक दोष और उन्हें दूर करने के उपाय (Marriage Problems And Their Astrological Solutions)

Infertility Problems
इंफर्टिलिटी नहीं बन सकती तलाक़ का कारण

कोर्ट के सामने ऐसे कई मामले आते हैं, जहां कपल्स बच्चा पैदा न होने को क्रुएल्टी बताकर तलाक़ की मांग करते हैं, जबकि हमारे देश का क़ानून कहता है कि अगर पति-पत्नी के बीच सेक्सुअल रिलेशनशिप है और दोनों ही एक-दूसरे को संतुष्ट करने में समर्थ हैं, तो विवाद का कोई मुद्दा ही नहीं, क्योंकि क़ानूनन शादी का अर्थ एक-दूसरे को सेक्सुअल संतुष्टि देना है. अगर पति-पत्नी में शारीरिक संबंध बने, तो इसका अर्थ है शादी संपूर्ण हुई. लेकिन अगर उसमें कोई कमी रह जाती है, तो आप तलाक़ ले सकते हैं. वहीं बच्चे न होना किसी का दुर्भाग्य हो सकता है, लेकिन इसके लिए किसी को दोषी ठहराकर उसे उसके अधिकारों से वंचित नहीं किया जा सकता.

न छुपाएं तथ्यों को

लीगल एक्सपर्ट्स के मुताबिक़ इंफर्टिलिटी तलाक़ का कारण नहीं बन सकती, लेकिन अगर कोई पति कोर्ट में यह साबित कर दे कि उसकी पत्नी शादी से पहले ही मां नहीं बन सकती थी और यह बात उससे छुपाई गई, तो तथ्यों को छुपाने के लिए पति को पत्नी से तलाक़ मिल सकता है.

बदलती लाइफस्टाइल में बदलते शादी के मायने

बहुत से लोग इंफर्टिलिटी को लेकर यह तर्क देते हैं कि उनका पार्टनर उन्हें उनका वारिस या अंश नहीं दे सकता, ऐसे में शादी को बनाए रखने का क्या फ़ायदा? यहां हम एक सवाल पूछना चाहते हैं कि क्या शादी का अर्थ केवल बच्चे पैदा करना है. अगर ऐसा होता, तो आज बहुत से बेऔलाद लोग एक साथ न होते. माना कि पुराने ज़माने में शादी का एकमात्र उद्देश्य परिवार व वंश को आगे बढ़ाना हुआ करता था, पर अब ऐसा नहीं है. बदलती लाइफस्टाइल में ऐसे बहुत से शादीशुदा जोड़े हैं, जो बच्चा नहीं चाहते. डबल इन्कम नो किड्स (डिंक्स) समय के साथ लोगों की ज़रूरतें भी बदली हैं.

मुस्लिम पर्सनल लॉ और इंफर्टिलिटी

भले ही हिंदू मैरिज एक्ट में इंफर्टिलिटी को तलाक़ लेने की वजह नहीं बनाया जा सकता, लेकिन मुस्लिम पर्सनल लॉ इससे परे है. यहां इंफर्टिलिटी तलाक़ का एक बड़ा कारण बन सकती है, बशर्ते पति उस आधार पर तलाक़ लेना चाहे तो. साथ ही यह पति की दूसरी शादी के लिए भी एक बड़ा कारण बन सकता है. हालांकि दूसरी शादी के लिए उसे पहली पत्नी की इजाज़त लेनी पड़ती है, जो महज़ एक औपचारिकता होती है. लीगल एक्सपर्ट की मानें, तो मुस्लिम पर्सनल लॉ के तहत पति कभी भी किसी भी कारण को वजह बनाकर अपनी पत्नी से तलाक़ ले सकता है और ट्रिपल तलाक़ इसका एक जीता जागता नमूना है. हालांकि कुछ मुस्लिम महिलाओं ने ट्रिपल तलाक़ के ख़िलाफ़ मोर्चा खोला है, पर जब तक सभी महिलाएं अपने हक़ के लिए आवाज़ नहीं उठाएंगी, तब तक उनके अधिकारों का यूं ही उल्लंघन होता रहेगा.

इंफर्टिलिटी के लिए ताने देना है क्रूरता

साल 2013 में मुंबई के फैमिली कोर्ट ने 52 वर्षीया महिला की तलाक़ की अर्जी पर विचार करते हुए उसे उसके पति से तलाक़ दिलाया, जहां पति पत्नी को बांझ होने के ताने देता था. इस मामले में पति-पत्नी दोनों ही बच्चे न होने के लिए एक-दूसरे को दोषी मानते थे. पति पत्नी को एक छोटे से स्टोर रूम में रखता था और उसके साथ बहुत बुरा व्यवहार भी किया जाता था. वह अपनी पत्नी को बच्चों के फोटोज़ दिखाकर ताने देता था, जो किसी भी महिला के लिए बहुत बड़ा मेंटल हरासमेंट है. कोर्ट ने कहा कि इस तरह किसी महिला को उसकी इंफर्टिलिटी के लिए ताने देना क्रुएल्टी (क्रूरता) है और इसके लिए उसे माफ़ नहीं किया जा सकता. इस मामले में सबसे चौंकानेवाला तथ्य जो सामने आया, वो यह कि जब दोनों का फर्टिलिटी टेस्ट कराया गया, तो डॉक्टर ने सर्टिफाई किया कि दोनों ही पैरेंट्स बन सकते हैं. इसके बाद कोर्ट ने पत्नी की अर्जी को मंज़ूर करते हुए उसे तलाक़ दे दिया.

इंफर्टिलिटी को समझें एक मेडिकल कंडीशन

बच्चे पैदा न कर पाना एक मेडिकल कंडीशन है, जिसके लिए किसी के मान-सम्मान को चोट पहुंचाना ग़लत है. जैसे हर व्यक्ति की बॉडी टाइप अलग-अलग होती है, ठीक वैसे ही बच्चे पैदा करने की क्षमता भी अलग-अलग होती है. महिलाओं को समझना चाहिए कि यह एक मेडिकल कंडीशन है, जिसके लिए ख़ुद को कोसना या अपने कर्मों को दोष देना ग़लत है. एक औरत के लिए मां बनना बड़े गर्व की बात है, लेकिन उस गर्व को अपने आत्मसम्मान को चोटिल न करने दें. अपने अस्तित्व को बच्चे के वजूद से जोड़कर देखना छोड़ दें.

– अनीता सिंह

यह भी पढ़ें: इन 9 आदतोंवाली लड़कियों से दूर भागते हैं लड़के (9 Habits Of Women That Turn Men Off)

यह भी पढ़ें: न्यूली मैरिड के लिए मॉडर्न ज़माने के सात वचन (7 Modern Wedding Vows For Newly Married)

बेवफ़ाई के बाद कैसे सुधारें रिश्ते को? (Repair Your Relationship After Being Cheated On)

यदि हमसफ़र जीवन के सफ़र में कभी बेवफ़ाई कर जाए, तब क्या करें? दरअसल, रिश्ते (Relationships) मुक़म्मल जीवन जीने का आधार होते हैं और प्यार व विश्‍वास ही इन्हें मज़बूत व टिकाऊ बनाते हैं. लेकिन साथी की बेवफ़ाई से ज़िंदगी रुक तो नहीं जाती! समझदारी इसी में है कि सकारात्मक नज़रिए के साथ बिगड़े रिश्ते को सुधारने की कोशिश की जाए.

Relationship Problems

जो दिल के थे बेहद क़रीब, आज अजनबी-से लगते हैं… थी साथ की जिनसे उम्मीद, बीच राह वे मुड़कर चले गए… अक्सर रिश्ते में धोखा खाने व विश्‍वासघात होने पर पीड़ित व्यक्ति बिखर जाता है, टूट जाता है. जीवनसाथी की बेवफ़ाई के बाद किस तरह अपने रिश्ते को रिवाइव करें और सुधारें, इन्हीं बातों को जानने की कोशिश करते हैं. 

–  सबसे पहले स्वयं का आत्मविश्‍लेषण करें कि आख़िर ग़लती किससे और कहां हुई?

– कोई यूं ही भटक नहीं जाता. पर्याप्त अटेंशन व केयर न मिलने पर अक्सर पार्टनर उसकी कमी दूसरों की नज़रों में ख़ास बनकर पूरी करने की कोशिश करने लगते हैं. यदि ऐसा हुआ हो, तो उन ग़लतियों से सबक लें और आगे बढ़ें.

– यदि आपको लगता है कि जाने-अनजाने में आपने अपने पार्टनर की अनदेखी की है, तो इसे नए सिरे से दुरुस्त करने की कोशिश करें.

– यदि आप अब भी किसी परस्त्री या परपुरुष से जुड़े हैं, तो पहले स्वयं को उससे आज़ाद करें, क्योंकि किसी तीसरे के रहते आप अपने जीवनसाथी से सहज व सच्चाई के साथ दोबारा नहीं जुड़ सकते और न ही अपने दांपत्य जीवन को मज़बूती प्रदान कर सकते हैंे.

– माफ़ी मांगने से न चूकें. कहते हैं, पछतावे के साथ दिल से मांगी हुई माफ़ी पत्थर दिल को भी पिघला देती है. इसलिए जिस पार्टनर ने बेवफ़ाई की है, उसे सच्चाई और पूरी ईमानदारी के साथ अपनी ग़लती को समझते व महसूस करते हुए अपने पार्टनर से माफ़ी मांगनी चाहिए.

– बीती ताहि बिसार दे, आगे की सुधि ले… को अपनाकर हमेशा आगे बढ़ने की कोशिश करते रहना ही जीवन का मूलमंत्र है. माफ़ी के इंतज़ार के बिना अपने रिश्ते को सुधारने की पहल करें.

– पति-पत्नी दोनों को ही अपने टूटते रिश्तों को जोड़ने व जीवनसाथी को दिए गए दर्द-ज़ख़्म से उबरने में उनकी मदद करनी चाहिए.

– ऐसे में प्यार से बढ़कर कोई दवा नहीं. आपका धैर्य और प्यार रिश्तों को सुधारने और ख़ुशगवार बनाने में मदद करेगा.

– कई बार दिल में कोई नाराज़गी, बात या गांठ-सी रह जाती है, जिसे आपसी बातचीत से ही सुलझाया जा सकता है. इसलिए पार्टनर्स हर पहलू पर एक-दूसरे से खुलकर बात करें.

– रिश्तों में विश्‍वास बढ़ाने का सबसे अच्छा तरीक़ा है कि जो बात आपको परेशान कर रही है, उसे छुपाएं नहीं, कह डालें.

– एक-दूसरे के साथ अधिक से अधिक व़क्त बिताएं. इसमें हंसी-मज़ाक और रूठने-मनाने, हल्की-फुल्की खट्टी-मीठी तक़रार को भी शामिल करें. इससे एक-दूसरे के साथ की आदत-सी बनती जाएगी. साथ ही आपसी समझदारी भी बढ़ेगी.

– हाल ही में हुए एक सर्वे के मुताबिक़ पति-पत्नी के बीच बेवफ़ाई व धोखे का प्रतिशत दिनोंदिन बढ़ता ही जा रहा है और इसकी सबसे बड़ी वजह आपसी संवादहीनता और एक-दूसरे को अधिक व़क्त न दे पाना माना गया है.

– बीता हुआ कल वापस नहीं आ सकता, पर आनेवाले कल को ख़ुशहाल तो बनाया ही जा सकता है. इसमें क्षमा करने के साथ प्यार महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. ध्यान रहे, बेवफ़ाई के बाद घायल हुए रिश्तों को हेल्दी व मज़बूत बनाने के लिए प्यार की नींव रखना बहुत ज़रूरी है.

– मनोवैज्ञानिक कल्याणीजी के अनुसार रिश्ते हमें जीना सिखाते हैं, क्योंकि हमारे वर्तमान और भविष्य का ढांचा रिश्तों की बुनियाद पर ही खड़ा रह सकता है. आप कैसे हैं और कैसे बनेंगे- यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपमें रिश्ते निभाने का कितना जज़्बा है.

– उन कारणों का पता लगाने की कोशिश करें, जिसने पार्टनर को बेवफ़ाई करने के लिए मजबूर या फिर प्रेरित किया. कारणों का पता लगने पर उन्हें सुधारने की कोशिश की ही जा सकती है.

यह भी पढ़ें: किस राशिवाले किससे करें विवाह? (Perfect Life Partner According To Your Zodiac Sign)

Relationship Problems

– खोए हुए विश्‍वास को दोबारा हासिल करने के लिए जीवनसाथी के प्रति पूर्ण समर्पण की भावना रखें. इससे जहां साथी का दर्द-तनाव दूर होगा, वहीं आपके रिश्तों को दोबारा प्यार की पटरी पर लाने में सहायक होगा.

– पुरानी ग़लतियों से सबक लें और उन्हें दोहराने की ग़लती न करें.

– यदि ग़लतियों को सुधारने का मौक़ा दिया जाए, तो वही शख़्स आनेवाले कल में आपका सबसे बड़ा वफ़ादार साथी बनता है. इसलिए संकीर्ण विचार न रखते हुए खुले दिल से जीवनसाथी की ग़लती को भुलाकर उसे सुधरने का मौक़ा दें.

– कहते हैं, हर हादसा/घटना एक नया अनुभव दे जाती है, ठीक ऐसे ही बेवफ़ाई के बाद आपको स्वयं को और अपने पार्टनर को समझने में अधिक मदद मिलती है.

– समाजशास्त्री अशोक शुक्ला कहते हैं कि हर रिश्ता एक-दूसरे का समय मांगता है, साथ मांगता है… पति-पत्नी हर रोज़ आधा घंटा, महीने में दो दिन और साल में कम से कम एक हफ़्ते नितांत अकेले में बिताएं.

– अपनी अच्छी यादों को एक-दूसरे के साथ बांटें. कुछ रचनात्मक करने के लिए एक-दूसरे को प्रोत्साहित करें.

– एक-दूसरे की अच्छी बातों, आदतों को डेवलप करने की कोशिश करें. फिर देखिए बेवफ़ाई की बात सपना बन जाएगी और रिश्ते ताउम्र ख़ुशगवार बने रहेंगे.

– साथ गुज़ारा व़क्त आपके रिश्तों में वो एनर्जी भर देगा, जो ज़िंदगीभर मीठी यादें बनकर आपके साथ रहेंगी.

– मैरिज काउंसलर डॉ. राजीवजी के अनुसार, शादी के रिश्ते की हर सालगिरह कहती है कि उस सपने के बारे में सोचो, जो आप दोनों ने साथ मिलकर देखा हैे. उसे पूरा करना है, तो बंधन में बंधे रहना भी ज़रूरी है. इस बात के मर्म को समझने की कोशिश करें.

– एक पुरानी कहावत है कि दुनिया में सैकड़ों आदमी मिलकर कोई भी मकान बना सकते हैं, पर उसे घर बनाने के लिए एक नारी की ही ज़रूरत होती है. अतः नारी का सम्मान करें.

– ध्यान रहे, रिश्तों में रिस्पेक्ट ज़रूरी हैे, पर आपस में अहंकार न आने दें.

– यदि आप अपने साथी की भावनात्मक ज़रूरतों को सही मौ़के पर पूरा करते हैं, तो आपके रिश्तों में आकर्षण हमेशा बना रहेगा.

  संतुलित सेक्स लाइफ ज़रूरी है

वैवाहिक रिश्तों को बचाए और बनाए रखने के लिए बैलेंस सेक्स लाइफ ज़रूरी है. आप अपने साथी को लेकर क्या सोचते हैं, कैसा व्यवहार करते हैं, उसके प्रति कितने ईमानदार हैं, कब उसकी मानते हैं और कब अपनी मनमर्ज़ी थोपते हैं? इन सबका सीधा असर रिश्तों पर पड़ता है. आंकड़े बताते हैं कि 10 में से 4 रिश्ते सेक्सुअल रिलेशन में कड़वाहट के कारण बिगड़ते हैं. यदि आप ऐसा नहीं चाहते, तो संयमित रहें, ईमानदार बनें और अपने जीवनसाथी के तन को कम मन को ज़्यादा तवज्जो दें.

बेवफ़ाई निश्‍चित रूप से दूसरे जीवनसाथी के लिए चुनौतीपूर्ण स्थिति होती है. लेकिन समस्या है, तो उसका समाधान भी ज़रूर होता है. माना बेवफ़ाई जैसी चोट से उबरने में व़क्त लगता है, पर ईमानदारी से की गई कोशिश जल्द ही इससे उबरने में मदद करती है. इंसान ग़लतियों का पुतला है, जीवनसाथी की इस पहली ग़लती को आख़िरी ग़लती मानकर क्षमा कर दें और एक नई शुरुआत करें.

– ऊषा गुप्ता

यह भी पढ़ें:  मायके की तरह ससुराल में भी अपनाएं लव डोज़ फॉर्मूला (Love Dose Formula For Happy Married Life)

नहीं हुआ मिलिंद सोमन और अंकिता कोंवर का ब्रेकअप, सबूत है दोनों की ये लेटेस्ट तस्वीर (Milind Soman And Ankita Konwar Enjoying their Relationship, proof is here)

Milind Soman, Ankita Konwar, Relationship, proof

मॉडल व एक्टर मिलिंद सोमन (Milind Soman) को लेकर कुछ समय पहले ऐसी ख़बरें आ रही थीं कि वो 21 अप्रैल को ख़ुद से आधी उम्र की गर्लफ्रेंड अंकिता कोंवर (Ankita Konwar) से शादी कर लेंगे, फिर हाल ही में ख़बर आई कि पैसों के लिए अंकिता ने मिलिंद को डंप कर दिया. अब अंकिता ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर एक तस्वीर पोस्ट करके ब्रेकअप की अफवाह फैलाने वाले लोगों को करारा जबाव दिया है. उनका यह पोस्ट साबित करता है कि दोनों के बीच सबकुछ ठीक है और ब्रेकअप की ख़बरों में ज़रा सी भी सच्चाई नहीं है.

Milind Soman, Ankita Konwar, Relationship, proof

अंकिता ने जो तस्वीर पोस्ट की है उसमें वो मिलिंद के साथ नज़र आ रही हैं और इस पोस्ट के साथ अंकिता ने कैप्शन देते हुए लिखा है कि ‘आपके रिलेशनशिप की सबसे अच्छी चीज़ समय, बात, समझ और ईमानदारी है.’ इस तस्वीर और लिखे गए कैप्शन से इस बात का अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि दोनों के बीच सबकुछ ठीक है.

इससे पहले आई ख़बरों के मुताबिक कहा जा रहा था कि इसी हफ्ते अंकिता और मिलिंद का ब्रेकअप हो गया है. इसके साथ ही ख़बर थी कि 26,000 महीने की तनख्वाह पर फ्लाइट अटेंडेंट की नौकरी करनेवाली अंकिता फोन पर ऑनलाइन कसीनो खेलती थीं और हाल ही में उनका 8,73,982 रुपए का जैकपॉट लगा था.

रिपोर्ट्स के अनुसार इस जैकपॉट के बाद से ही अंकिता ने मिलिंद से कॉन्टेक्ट करना बंद कर दिया, लेकिन अब अंकिता ने मिलिंद के साथ अपनी तस्वीर शेयर करके दुनिया को ये बता दिया है कि उन्होंने मिलिंद को न तो डंप किया और न ही भविष्य में करेंगी, क्योंकि वो मिलिंद से बेहद प्यार करती हैं.

यह भी पढ़ें: अपनी सौतेली बहनों के साथ लंदन में वेकेशन एन्जॉय करेंगे अर्जुन कपूर

OMG! दिलजले उपेन पटेल ने करिश्मा तन्ना पर कसा ताना, कहा यूज़ करने के लिए थैंक्यू (Upen Patel Thanks His Ex-Girlfriend Karishma Tanna For Using Him)

Karishma Tanna

Karishma Tanna

दुनिया की सबसे ख़राब फीलिंग होती है, ये जानना कि आपको किसी ने यूज़ किया है. दिलजले उपेन पटेल ने अपनी इस फीलिंग को न सिर्फ़ एक फोटो के ज़रिए टि्वटर पर शेयर किया, बल्कि अपनी एक्स गर्लफ्रेंड करिश्मा तन्ना को थैंक्स कहते हुए टैग भी किया. बिग बॉस सीज़न 8 के घर में करिश्मा तन्ना और उपेन पटेल के बीच नज़दीकियां बढ़ी. घर के बाहर भी दोनों अपने रिश्ते एक्सेप्ट करते नज़र आए. नच बलिए और दूसरे कई रिेएलिटी शोज़ में भी दोनों साथ नज़र आए थे. कई दिनों से दोनों के बीच तनाव की ख़बरें आ तो रही थीं, लेकिन अब उपेन के इस ट्वीट से ये बात तो पक्की हो गई है कि दोनों अब अलग हो चुके हैं. उपने ने कुछ ही घंटों में भले ही यूज़ करने वाली पोस्ट डिलीट कर दी, लेकिन अब भी उनका टि्वटर पेज इसी तरह के दिल टूटने वाले पोस्ट से भरा पड़ा है.

OMG! ब्रेकअप के बाद इतनी बोल्ड हो गईं टीवी की ये हसीनाएं (OMG! TV Actress Bold Avatar after Breakup)

web 1

फिल्म ऐ दिल है मुश्किल के गाने ‘सईंया जी से मैंने ब्रेकअप कर लिया’ में अनुष्का शर्मा जिस तरह ब्रेकअप के बाद एंजॉय कर रही हैं, कुछ ऐसा ही टेलीवुड की हसीनाएं भी करती हैं. तभी तो अपने सईंया जी यानी पार्टनर से ब्रेकअप के बाद ये पहले से ज़्यादा ग्लमैरस व सेक्सी दिखने लगी हैं. आइए, आपको मिलावते हैं ऐसी ही कुछ टीवी हॉटीज़ से, ब्रेकअप के बाद जिनके तेवर और बोल्ड हो गए हैं.
करिश्मा तन्ना
दो साल तक उपेन पटेल के साथ चले अफेयर के बाद करिश्मा और उपेन का ब्रेकअप हो चुका है. करिश्मा फिलहाल नागार्जुन-एक योद्धा धरावाहिक में नज़र आ रही हैं. हाल ही में इसी सीरियल में उनके को-स्टार मृणाल जैन ने करिश्मा का हॉट फोटो शूट किया. गांव की गोरी के गेटअप में करिश्मा काफ़ी सेक्सी लगीं. अपनी सिज़लिंग फोटोज़ उन्होंने इंस्टाग्राम पर शेयर कीं.

 

जेनिफर विंगेट
फिलहाल जेनिफर कुशाल टंडन के साथ धारावाहिक बेहद में नज़र आ रही हैं और इसमें उनका लुक लोगों को पसंद भी आ रहा है. करण सिंह ग्रोवर से तलाक़ के बाद जेनिफर काफ़ी सुर्ख़ियों में रहीं, लेकिन करण से ब्रेकअप का उन पर कोई ख़ास फर्क नहीं पड़ा, बल्कि उनसे अलग होने के बाद वो पहले से भी ज़्यादा ख़ूबसूरत व हॉट हो गई हैं.

actress-jennifer-winget-photos-stills-50050

 

अंकिता लोखंंडे
कभी टीवी की दुनिया की सबसे चर्चित जोड़ी रही अंकिता लोखंडे व सुशांत सिंह राजपूत की राहें अलग हो चुकी हैं. बॉलीवुड में एंट्री के बाद से ही दोनों के रिश्ते में दरार आ गई और उनका सात साल पुराना रिश्ता टूट गया. रिश्ता टूटने पर अंकिता को थोड़ा दुख ज़रूर हुआ, मगर जल्द ही अपने ग़म को भुलाकर उन्होंने ख़ुद पर ध्यान देना शुरू किया और अपना ज़बर्दस्त मेकओवर कर लिया. अब वोे काफ़ी सेक्सी हो गई हैं.

anki-STORY

रश्मि देसाई
क्यूट रश्मि देसाई भी नंदिश से अलग होने के बाद काफ़ी हॉट हो चुकी हैं. 2012 में उन्होंने अपने को-स्टार नंदिश संधु से शादी की, लेकिन ये शादी ज़्यादा दिन नहीं चल सकी. तलाक़ के बाद रश्मि ने खुद के पर ध्यान देना शुरू किया और अपने बढ़े हुए वज़न को जिम और योगा से कम किया. एक फोटो शूट में उनके फैशन दीवा वाले अवतार ने सबके होश उड़ा दिए.

image321
दलजीत कौर
हैवी बॉडी और भारी भरकम ज्वेलरी व साड़ी पहनने वाली दलजीत कौर अब इतनी हॉट व बोल्ड हो गई हैं कि पहचानना मुश्किल हो गया है. पति शालीन भनोट अलग होने के बाद उन्होंने क़रीब 25 किलो वज़न कम किया और अब वो किसी भी मॉडल से कम नज़र नहीं आतीं.

 

Daljeet-Kaur-wallpaper-hd
आश्का गोराडिया
टीवी एक्ट्रेस आश्का भी अपने ब्वॉयफ्रेंड रोहित बक्षी से अलग हो चुकी हैं. दोनों क़रीब 10 साल तक रिलेशन में रहें, लेकिन आपसी मनमुटाव के बाद दोनों अलग हो गएं. बाकी अभिनेत्रियों की तरह ही आश्का भी अब पहले से ज़्यादा बोल्ड एंड हॉट हो गई हैं. ख़ुद ही देख लीजिए.

#solitary ?? #workmode

A photo posted by Aashka Goradia (@aashkagoradia) on

 

– कंचन सिंह

वीडियो (VIDEO): रणबीर-अनुष्का का ब्रेकअप सॉन्ग (Breakup song of Ae Dil Hai Mushkil released)

क्या आपने ब्रेकअप के बाद किसी को पार्टी करते हुए देखा है? यक़ीनन नहीं देखा होगा, लेकिन रणबीर और अनु्ष्का ने ब्रेकअप के दर्द को ख़ुशी में बदल दिया है. सइयां जी से ब्रेकअप होने की बात अनुष्का ख़ुशी से झूमते-गाते हुए बता रही हैं. रणबीर और अनुष्का का ये गाना कुछ ही घंटों में सोशल मीडिया पर ट्रेंड करने लगा है. ऐ दिल है मुश्किल दिवाली पर रिलीज़ होगी. आप भी देखें ये धमाकेदार गाना.

वॉच- सिद्धार्थ-आलिया के बीच कुछ तो है!-Siddarth-Alia

6सिद्धार्थ मल्होत्रा और आलिया भट्ट(Siddarth-Alia) हमेशा एक-दूसरे से अफेयर की ख़बरों से इंकार करते आए हैं. कुछ दिन पहले तो ये अफ़वाहें भी थीं कि दोनों एक-दूसरे से बात तक नहीं करते. लेकिन ये बॉलीवुड है यहां ब्रेकअप और अफेयर की ऐसी अफ़वाहें तो आए दिन उड़ती रहती हैं. जहां तक बात है आलिया और सिद्धार्थ की तो दोनों के बीच फ़िलहाल तो कोई प्रॉब्लम नज़र नहीं आ रही. हाल ही में दोनों को साथ देखा गया. देखें ये वीडियो.

Siddharth Malhotra and alia Bhatt (Siddarth-Alia) always each other deny news of the affair. A few days ago, these rumours were that talk to each other also do not both. But Bollywood is here came such rumours of the affair day breakup and twirls. As far as the thing English and Siddharth so there is no problem between the two does not currently track. Recently seen with both. View these videos.

कैसे बनाएं ब्रेकअप प्रूफ रिश्ते? (Make your relationship breakup proof)

Breakup-proofs Your Relationship

पहले के ज़माने में अगर मई की कड़कती धूप में किसी से आंखें चार होने से सांसों की गर्मी बढ़ती थी, तो पूरा सावन उसे छुप-छुपकर देखने में कटता था. पतझड़ में थोड़ी-बहुत बातचीत शुरू होती, फिर पूरी गुलाबी ठंड उसके बारे में जानकारी जुटाने में गुज़र जाती. अगली मई में दोनों के दिल धड़कते थे, तब कहीं जाकर सावन में प्यार परवान चढ़ता था. कहने का तात्पर्य यह है कि पहले लोग अपने रिश्तों को कितनी संजीदगी से लेते थे और ताउम्र उसकी हिफ़ाज़त करते थे. आजकल इंस्टेंट नूडल्स की तरह रिश्ते दोे मिनट में पक भी जाते हैं और अगले दो ही मिनटों में लोग इसके स्वाद से बोर भी हो जाते हैं. आजकल प्यार स़िर्फ एक एहसास नहीं है. यह एक फैशन बन गया है और यह तो हम सभी जानते हैं कि फैशन के इस दौर में गांरटी की अपेक्षा ना करें.

Breakup-proofs Your Relationship

आपने मार्केट में कई तरह के जार व बोतलें वगैरह देखी होंगी, जिन पर अनब्रेकेबल होने की गारंटी दी जाती है. आप पचास रुपए की बोतल या जार ख़रीदते समय भी यह ज़रूर देखते हैं कि यह बे्रकेबल है या नहीं, पर ऐसे ही कोई रिश्ता बनाते समय क्या आपको यह गारंटी होती है कि वह अनबे्रकेबल है या नहीं. रिश्ते जो अनमोल होते हैं, उन्हें बनाते व़क्त ज़रा भी नहीं सोचते कि क्या हम इन्हें निभा पाएंगे या नहीं?
बदलते ज़माने के साथ प्यार के मायने भी बदले और रूप भी, पर एक चीज़ नहीं बदली और वो है- रिश्तों को लेकर हमारी ज़रूरतें और अपेक्षाएं. आपका रिश्ता अनब्रेकेबल रहे यह आपकी ज़रूरत है. दूसरी तरफ़ यह भी सही है कि हर बार उन्हीं पुराने मापदंडों या सांचे में रखकर नहीं सोचा जा सकता. परिस्थितियां बहुत ज़्यादा बदली हैं. अब न तो हमें अपने लिए समय मिलता है और न ही अपनों के लिए. ऐसे में रिश्तों (Breakup-proofs Your Relationship) का ब्रेकेबल होना लाज़मी है.

तो क्या करें?

‘ब्रेकअप’ युवाओं में यह जुमला आजकल बड़ा चल पड़ा है. यह नई पीढ़ी में जहां कूल फैशन का हिस्सा है, वहीं प्रौढ़ों में अपने रिश्ते की ज़िम्मेदारियों से आसानी से मुक्ति पाने का ज़रिया. पर क्या आप जानते हैं कि यह ब्रेकअप समाज और आपके जीवन को किसी कैंसर की तरह ख़त्म कर रहा है. तो आइए हम अपने रिश्तों को भी अनब्रेकेबल बनाने की कोशिश करते हैं.

रिश्ते की अहमियत या ज़रूरत को स्वीकारें

आपको एक साथी की ज़रूरत ताउम्र होती है और यही सच है. यह प्रकृति का बनाया पहला नियम है. ‘मुझे किसी की कोई ज़रूरत नहीं’ यह वाक्य निरर्थक है. सामाजिक शास्त्र में हमें सामाजिक प्राणी के नाम से जाना जाता है, तो इस बात को स्वीकारने में कोई शर्म या झिझक नहीं होनी चाहिए कि आपको आपके साथी की आवश्यकता है.

नतीजों पर न पहुंचें

छोटी-मोटी नोक-झोंक या लड़ाइयां प्यार का हिस्सा होती हैं. इन्हें हल्के तौर पर लेना सीखें. आजकल कॉर्पोरेट कल्चर के चलते हमें नतीजों पर पहुंचने की बड़ी जल्दी होती है, पर प्यार में हुई तकरार को बेनतीजा छोड़ना हमेशा फ़ायदेमंद होता है. इसका मतलब अगर कभी आपका साथी आपसे झगड़ा करे, तो सीधे किसी नतीजे पर न पहुंचें.

रिश्ता जोड़ने से पहले अच्छी तरह से सोच लें

अगर इन दिनों आपकी नींद किसी के कारण उड़ी हुई है, तो फिर से एक बार नहीं, कम से कम चार बार सोचिए. हमारे साथ अक्सर यह होता है कि हम हड़बड़ी में रिश्ते बनाते हैं और फिर रिश्ते बनाने के बाद सोचते हैं कि हमने ग़लत किया या सही. किसी को अपनी ज़िंदगी का महत्वपूर्ण हिस्सा बनाने से पहले ख़ुद से सवाल करना न भूलें कि क्या वाक़ई आप दोनों एक-दूसरे के लिए बने हैं?

एक्सपर्ट की राय ज़रूर लें

जब आपको सर्दी या ज़ुकाम होता है, तो आप क्या करते हैं? ज़ाहिर-सी बात है हम तुरंत डॉक्टर के यहां जाते हैं. तो फिर जब हमारा रिश्ता बीमार पड़ता है, तो हम डॉक्टर के पास क्यों नहीं जाते? आजकल कई तरह के रिलेशनशिप एक्सपर्ट्स हैं, जो आपके बीमार रिश्ते को ठीक कर सकते हैं. तो आपका ब्रेकअप ना हो, इसके लिए रिश्तों के डॉक्टर यानी रिलेशनशिप एक्सपर्ट के पास जाना ना भूलें.

रिश्तों को फैशन ना बनाएं

किसी का बॉयफ्रेंड या गर्लफ्रेंड स़िर्फ इसलिए ना बनें कि यह कूल है. इससे रिश्तों की गरिमा कम हो जाती है. हम अगर एक बार किसी रिश्ते का अपमान करते हैं, तो फिर हमें इसकी आदत पड़ जाती है. फिर उसके टूटने या बने रहने से हमें कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता. रिश्ते फैशन नहीं हैं और अगर आप इन्हें फैशन मानेंगे, तो फिर फैशन तो आए दिन बदलता रहता है.

डर

किसी को खोने का डर और रिश्तों के टूटने का डर हमेशा बना रहना चाहिए. इससे रिश्ते अपने आप अनब्रेकेबल हो जाएंगे. किसी अपने के साथ ना होनेे का डर रिश्तों को बनाए रखता है. अपने दिमाग़ से यह फ़ितूर भी निकाल दें कि किसी रिश्ते को तोड़ा भी जा सकता है. रिश्तों का कोई विकल्प नहीं होता. तोड़ना बड़ा ही आसान होता है, पर इसके परिणामों को भुगतना शायद आपके लिए आसान ना हो.

– विजया कठाले निबंधे

रिश्तेदारों से कभी न पूछें ये 9 बातें (9 Personal Questions You Shouldn’t Ask To Your Relatives)