Tag Archives: cabbage

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए क्या खाएं?(Top Immunity booster food)

best Immunity booster food

हमारी इम्यूनिटी काफ़ी हद तक हमारे खान-पान व लाइफस्टाइल से जुड़ी होती है. अगर आप भी चाहते हैं कि हमेशा हेल्दी और फिट रहें और बीमारियां आपके पास आने से भी डरें, तो आप भी ऐसी चीज़ें खाएं, जिनसे आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़े.

best Immunity booster food
इम्यूनिटी बढ़ानेवाले फूड्स

दही: प्रोबायोटिक्स, जिन्हें हम गुड बैक्टीरिया भी कहते हैं, दही में भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं. इनका नियमित सेवन इम्यूनिटी बढ़ाता है.
ग्रीन टी: यह एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होती है और इम्यून सिस्टम पर इसके सकारात्मक प्रभाव से आजकल सभी वाक़िफ़ हैं. कुछ शोध बताते हैं कि इसमें मौजूद पॉलीफीनॉल्स के एक प्रकार के कारण इंफ्लूएंज़ा के वायरस का ख़ात्मा होता है. तो रोज़ाना ग्रीन टी ज़रूर पीएं. इसका पूरा फ़ायदा लेने व कड़वापन दूर करने के लिए पानी उबलने से थोड़ा पहले ग्रीन टी मिलाएं और 1-2 मिनट से ज़्यादा पानी में ग्रीन टीन को न रखें. इसके स्वाद में इज़ाफ़ा करना हो, तो नींबू का रस व शहद मिलाकर पी सकते हैं, लेकिन दूध न मिलाएं, वरना प्रोटीन्स पॉलीफीनॉल्स के साथ मिलकर उसे बेअसर कर देंगे.
विटामिन डी: अमेरिका में एक अध्ययन किया गया, जिसमें यह पता चला कि जिन बच्चों को रोज़ाना विटामिन डी सप्लीमेंट्स दिए गए, उन्हें अन्य बच्चों के मुकाबले फ्लू होने की संभावना 40% तक कम हो गई. ऐसे माना जाता है कि विटामिन डी हमारे इम्यून सेल्स को उन बैक्टीरिया व वायरस को पहचानकर ख़त्म करने में मदद करता है, जो हमें बीमार कर सकते हैं. विटामिन डी आपको धूप से मिलेगा. खाने में साल्मन जैसी फैटी फिश से भी कुछ मात्रा में विटामिन डी मिल सकता है.
चिकन सूप: अगर सर्दी है, नाक बह रही है, तो चिकन सूप बेहतरीन इलाज है. यह कफ को पतला करके वायरस व बैक्टीरिया को बाहर निकालने में मदद करता है और आपके इम्यून सिस्टम को सर्दी से लड़ने में मदद करता है. चिकन सूप में थोड़ी हरी मिर्च मिलाकर और स्पाइसी बना लें, तो दुगुना लाभ होगा.
सोल्यूबल फाइबर्स: सिट्रस फ्रूट्स, सेब, गाजर, बींस और ओट्स सोल्यूबल फाइबर्स से भरपूर होते हैं. ये शरीर को विभिन्न प्रकार के शोथों से लड़ने में मदद करते हैं.
जौ और ओट्स: इनमें बीटा-ग्लूकैन होता है, जो एक तरह का फाइबर है, जिसमें एंटीमाइक्रोबियल और एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज़ होती हैं और यह कई तरह की बीमारियों व फ्लू से रक्षा करता है. यह इम्यूनिटी तो बढ़ाता ही है, साथ ही घाव को जल्दी भरने में मदद करता है और एंटीबायोटिक्स को भी और असरकारक बनाने में मदद करता है.
लहसुन: इसमें अलाइसिन नाम का तत्व होता है, जो इंफेक्शन्स और बैक्टीरिया से लड़ता है. जो लोग लहसुन का नियमित सेवन करते हैं, उन्हें सर्दी व अन्य इंफेक्शन्स होने की संभावना काफ़ी कम रहती है. यही नहीं, जो लोग एक हफ़्ते में लहसुन की 6 कलियां खाते हैं, उन्हें कोलोरेक्टल कैंसर होने की 30% संभावना और पेट के कैंसर की संभावना 50% तक कम होती है.
ब्लैक टी: हार्वर्ड की एक स्टडी में यह पाया गया, जिन लोगों ने 2 हफ़्तों तक दिन में 5 कप ब्लैक टी पी, उनके रक्त में अन्य लोगों की अपेक्षा 10 गुना अधिक वायरस से लड़नेवाले इंटरफिरॉन यानी विषाणु अवरोधक पाए गए. दरअसल, उसमें मौजूद अमीनो एसिड इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए ज़िम्मेदार है.
मशरूम: यह सेलिनियम (एक प्रकार का मिनरल) और एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है. सेलिनियम की कमी से फ्लू की संभावना बहुत हद तक बढ़ जाती है. साथ ही इसमें राइबोफ्लेविन और नायसिन भी पाए जाते हैं, जो इम्यून सिस्टम को हेल्दी रखते हैं.
तरबूज़: इसमें बहुत ही स्ट्रॉन्ग एंटीऑक्सीडेंट- ग्लूटाथायॉन होता है, जो इम्यून सिस्टम को मज़बूत करके इंफेक्शन्स से लड़ने में मदद करता है.
पत्तागोभी: इम्यूनिटी बढ़ानेवाले तत्व ग्लूटामाइन से यह भरपूर होती है. इसका सूप भी बनाकर पी सकते हैं या सब्ज़ी बनाकर खाएं.
बादाम: विटामिन ई से भरपूर बादाम भी रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं. विटामिन ई इम्यूनिटी को बढ़ाता है, साथ ही इसमें राइबोफ्लेविन और नायसिन भी होता है, जो तनाव के कारण हुए नुक़सान से उबरने में मदद करता है.
पालक: इसे सुपर फूड कहा जाता है. यह कई तरह के पोषक तत्वों से भरपूर होता है. नई कोशिकाओं के निर्माण व डीएनए के रिपेयर में मदद करता है. हेल्दी रहने के लिए व इसका भरपूर लाभ लेने के लिए हल्का या कम पके रूप में इसका सेवन करें.
शकरकंद: एंटीऑक्सीडेंट्स और बीटाकेरोटीन से भरपूर शकरकंदरोगप्रतिरोधक शक्ति बढ़ाता है और कैंसर से भी बचाव करता है.
एंटीऑक्सीडेंट्स: ब्रोकोली, हरी मिर्च, पपीता, संतरा, कीवी, स्ट्रॉबेरी, हरी पत्तेदार सब्ज़ियां भी एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होती हैं, जो इम्यून सिस्टम को मज़बूत करके आपको हेल्दी रखती हैं.

– गीता शर्मा