case

सलमान खान ने हाल ही में राधे के निगेटिव रिव्यू के लिए कमाल आर खान पर मानहानि का केस किया था, हालाँकि सलमान की टीम की तरफ़ से कहा गया कि वो केस रिव्यू के लिए नहीं बल्कि सलमान पर ग़लत आरोप लगाने के चलते किया गया है, लेकिन कमाल ने कहा कि सलमान की टीम झूठ बोल रही है.

अब कमाल ने बैक टु बैक ट्वीट्स करते हुए कई बातें कही… कमाल ने कहा कि मुझे बॉलीवुड के 20 लोगों का सपोर्ट है क्योंकि जो मैंने किया वो लोग वो नाहीं कर पाते. वो सलमान से सीधे तौर पर पंगा नहीं ले सकते. मुझे अपने वकील पर पूरा भरोसा है और मैं माफ़ी नहीं मांगूँगा क्योंकि मैंने जब कुछ ग़लत किया ही नहीं तो काफ़ी किस बात की. मैं सच के लिए लड़ता रहूंगा.

KRK

मीडिया में ये अफ़वाह फैलाई जा रही है कि मैं सलमान से डर गया और माफ़ी मांग रहा हूं लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं है. अब नतीजा जो भी हो मैं लोगों का भरोसा नहीं तोड़ सकता क्योंकि मैं इतने सारे लोगों को निराश नहीं कर सकता.

कमाल यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा कि सुना है ये लोगों का करियर ख़त्म कर देता है, काफ़ी लोगों के साथ ऐसा कर चुका है पर नहले पे दहला सुना है ना, मैं वही दहला हूं…

Salman Khan

कमाल ने आगे ट्वीट किया कि जो सुशांत के साथ हुआ वो अब दोबारा बॉलीवुड में नहीं होगा, न हम होने देंगे, बॉलीवुड इनके बाप का नहीं, अब इनके झूठ की दुकान बंद होने का टाइम आ चुका है. आप कितने भी बड़े हों लेकिन पब्लिक के ऊपर कोई नहीं होता.

Sushant Singh Rajput

कमाल को लोग काफ़ी सपोर्ट कर रहे हैं और कमाल ने काफ़ी ट्वीट्स किए जिसमें सलमान की टीम पर ये भी आरोप लगाया कि इन्होंने झूठ कहा कि केस रिव्यू के लिए नहीं किया! लगता है अब ये पंगा यहां नहीं रुकने वाला!

Photo Courtesy: Instagram (All Photos)

यह भी पढ़ें: सुशांत सिंह राजपूत को लेकर अनुभव सिन्हा के ट्वीट पर भड़के फैंस तो वहीँ सोशल मीडिया पर ‘TRUSTING CBI CHIEF 4 SSR CASE’ हुआ ट्रेंड,अली गोनी ने भी किया सपोर्ट (Anubhav Sinha’s Cryptic Tweet Invites Anger from SSR’s Supporters,’TRUSTING CBI CHIEF 4 SSR CASE’ Trends)

सोनू सूद को लोग आजकल एक मसीहा के रूप में देखते हैं, लॉकडाउन के दौरान जो उन्होंने लोगों की मदद करनी शुरू की वो अब एक अलग ही स्तर पर पहुंच चुकी है और सोनू के लिए ये अब उनकी ज़िंदगी का मक़सद बन गया है. यहां तक कि सोनू ने अपनी प्रॉपार्टीज़ भी गिरवी रखकर दस करोड़ का लोन भी लिया ताकि वो खुले दिल से लोगों की मदद कर सकें. ऐसे में सोनू के ख़िलाफ़ पुलिस में भला शिकायत क्यों की गई?

दरअसल BMC का आरोप है कि सोनू ने नियमों का उल्लंघन कर रिहायशी इमारत को होटेल में तब्दील कर दिया है. BMC ने जुहू पुलिस थाने में अपनी शिकायत दर्ज कराई है कि सोनू ने बिना ज़रूरी इजाज़त के छह मंज़िला रिहायशी इमारत को होटेल में बदल दिया है. ये इमारत एबी नायर रोड की शक्ति सागर बिल्डिंग है.

BMC ने पुलिस से लिखित शिकायत कर मांग की है कि सोनू के खिलाफ MRTP यानी महाराष्ट्र रीजन ऐंड टाउन प्लानिंग ऐक्ट के तहत ऐक्शन लिया जाना चाहिए. यह एक दंडनीय अपराध है. वहीं सोनू सूद ने भी मामले पर प्रतिक्रिया दी है और कहा है कि उन्होंने पहले ही बीएमसी से यूज़र चेंज के लिए परमिशन ली थी. लेकिन BMC का कहना है कि सोनू ने रेज़िडेंशियल बिल्डिंग को कमर्शियल पर्पस के लिए यूज़ किया है और वो भी बिना किसी इजाज़त व मंज़ूरी के. सोनू ने ज़मीन के इस्तेमाल में बदलाव की कोई परमिशन ही नहीं ली.

Sonu Sood

BMC का यह भी आरोप है कि सोनू ने इस मामले में भेजे गए नोटिस को भी नज़रंदाज़ कर कोई जवाब नहीं दिया. बताया जा रहा है कि सोनू ने नोटिस के ख़िलाफ़ मुंबई सिविल कोर्ट में अर्जी दाखिल की थी, लेकिन उन्हें अंतरिम राहत नहीं मिली थी. कोर्ट ने सोनू को हाई कोर्ट में अपील करने के लिए जो वक्त दिया था वो भी ख़त्म हो चुका है, इसलिए अब ये शिकायत दर्ज कराई गई है, क्योंकि सोनू ने एमआरटीपी ऐक्ट के सेक्शन 7 को फॉलो नहीं किया है, जो दंडनीय अपराध है. इसलिए बीएमसी ने पुलिस में केस दर्ज कारकर उचित कार्रवाई की मांग की है, वहीं पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और अब वो ज़रूरी जांच के बाद जो भी क़ानून के मुताबिक़ सही होगा वो ऐक्शन लेगी.
ग़ौरतलब है कि सोनू सूद ने कोरोना के कारण देश में लॉकडाउन के दौरान अपनी छह मंजिला इमारत को स्वास्थ्य कर्मचारियों के क्वारंटीन की सुविधा के लिए खोला था, लेकिन अब शिकायत यह है कि सोनू ने इस प्रॉपर्टी को रेज़िडेंशियल पर्पस के लिए लिया था तो इसको वो अब होटेल में तब्दील कर कमर्शियल पर्पस के लिए यूज़ कर रहे हैं वो भी बिना ज़रूरी परमिशन के.

Sonu Sood

सोनू सूद अब इस पूरे मामले के ख़िलाफ़ हाई कोर्ट जाएंगे क्योंकि उनका कहना है कि उन्होंने BMC से इजाज़त ली थी और वो सिर्फ़ महाराष्ट्र कोस्टल ज़ोन मैनेजमेंट अथॉरिटी की परमिशन के इंतज़ार में थे जो कि लॉकडाउन के चलते अधर में रह गई थी, इसलिए मेरी तरफ़ से कोई अनियमितता नहीं हुई है, मैं क़ानून का हमेशा पालन करता रहा हूं और यह होटेल कोरोना वॉरीअर्स के लिए इस्तेमाल किया गया था, यदि अभी महाराष्ट्र कोस्टल ज़ोन मैनेजमेंट अथॉरिटी की परमिशन नहीं मिलती है तो मैं इसे रिहायशी इमारत यानी रेज़िडेंशियल स्ट्रक्चर में रीस्टोर यानी पुनर्स्थापित कर दूंगा. फ़िलहाल मैं BMC की शिकायत के ख़िलाफ़ बॉम्बे हाई कोर्ट में अपील कर रहा हूं.

photo Courtesy: Instagram

यह भी पढ़ें: नागिन बानी यानी सुरभि चंदना ने ऐसा फोटो शूट कराया, जिसके कैप्शन ने क़हर ढाया, फैन ने कहा, अगर लुक्स मार सकते तो मैं पहले ही मर चुका! (Naagin 5’s Bani Sharma Aka Surbhi Chandna Drops The Bomb With Her Latest Pictures)

Salman Khan18 साल पुराने आर्म्स एक्ट मामले में जोधपुर कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए उन्हें बरी कर दिया है. जज ने डेढ़ लाइन का फैसला सुनाते हुए सलमान का नाम पूछा और कहा आप दोषमुक्त किए जाते हैं. कोर्ट में सलमान के साथ उनकी बहन अलविरा भी मौजूद थीं.

साल 1998 में जोधपुर में फिल्म हम साथ-साथ हैं की शूटिंग के दौरान सलमान पर अवैध रुप से हथियार रखने का आरोप लगा था. अगर ये फ़ैसला सलमान के हक़ में नहीं आता, तो उन्हें तीन साल तक की सज़ा हो सकती थी.

फ़ैसला आने के बाद सलमान बेहद ख़ुश थे, उन्होंने अलविरा से हाथ मिलाया और अपने फैन्स का शुक्रिया अदा किया. सलमान के बरी होते ही कोर्ट के बाहर खड़े फैंस काफ़ी ख़ुश हो गए.

×