Tag Archives: celebrities

शादी मुबारक साइना और पी कश्यप! (Congratulations To Saina Nehwal And P Kashyap On Their Marriage)

शादी मुबारक साइना और पी कश्यप! (Congratulations To Saina Nehwal And P Kashyap On Their Marriage)

बैडमिंटन सुपरस्टार्स साइना नेहवाल और पी कश्यप बंध चुके हैं शादी के बंधन में. साइना ने सोशल मीडिया पर तस्वीर शेयर करके यह ख़ुशख़बरी अपने फैंस को दी. हमारी तरफ़ से दोनों को शुभकामनाएं!

दोनों काफ़ी समय से रिलेशनशिप में थे और बैडमिंटन की दुनिया में दोनों ने ही अपना ख़ास मुकाम हासिल किया है. सोशल मीडिया पर भी दोनों की साथ-साथ की कई तस्वीरें देखी जाती थीं और फैंस इसी इंतज़ार में थे कि कब दोनों मिस्टर एंड मिसेज़ कश्यप बनें.

सिंपल से आउटफिट्स में दोनों ही बेहद प्यारे और शालीन लग रहे थे.

Isha-Anand Wedding: Congratulations: ईशा-आनंद की शादी में हस्तियों व सितारों से सज गई महफिल… (Isha Ambani Wedding: Bollywood Stars And Famous Personalities Enjoy The Big Fat Indian Wedding…)

Isha-Anand Wedding

Isha Ambani Wedding Pics

Isha Ambani Wedding Photos

Isha-Anand Wedding

Isha Ambani
आज रिलायंस इंडस्ट्रीज के मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) और नीता अंबानी (Nita Ambani) की बेटी (Daughter) ईशा अंबानी (Isha Ambani) की शादी (Wedding) पिरामल ग्रुप के आनंद पिरामल (Anand Piramal) से हो गई. ईशा-आनंद को शादी मुबारक हो! शादी में मशहूर हस्तियों ने शिरकत की. जहां राजनीति से जुड़े प्रणव मुखर्जी, राजनाथ सिंह, देवेंद्र फडनवीस, चंद्रबाबू नायडू, पी चिदंबरम, ममता बनर्जी, हिलेरी क्लिंटन आदि ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई, वहीं फिल्म इंडस्ट्री से अमिताभ बच्चन से लेकर शाहिद कपूर, रितिक रोशन, अनिल कपूर सभी सितारे विशेष व ख़ास पहनावे के साथ नज़र आए. आलिया भट्ट, शिल्पा शेट्टी, माधुरी दीक्षित, रवीना टंडन, करण जौहर, टाइगर श्रॉफ अपने लुक के साथ बहुत हॉट लग रहे थे. अनिल कपूर बेटी सोनम कपूर के साथ बेहद लाजवाब लग रहे थे.
साउथ के सुपरस्टार रजनीकांत अपनी पत्नी के साथ ख़ास तौर पर उपस्थिति थे. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आज उनका जन्मदिन भी है. हमारी तरफ से रजनी सर को जन्मदिन की बहुत-बहुत बधाई. सभी फिल्म स्टार बहुत ही आकर्षक और दिलकश लग रहे थे, खासकर नई शादीशुदा जोड़ी दीपिका पादुकोण-रणवीर सिंह और प्रियंका चोपड़ा-निक जोनस.
शादी में बच्चन परिवार एक खास अंदाज में नज़र आए, फिर चाहे वो अमिताभ बच्चन हो, जया बच्चन, श्वेता, अभिषेक, ऐश्वर्या और अमिताभ की पोती आराध्या. सैफ अली खान भी पत्नी करीना कपूर और साली करिश्मा कपूर के साथ जबरदस्त शाही लुक में दिखें.
खेल जगत से भी सचिन तेंदुलकर परिवार सहित हरभजन सिंह बरखा के साथ, तो महेश भूपति पत्नी लारा दत्ता के साथ विशेष रूप से शामिल हुए. युवराज सिंह माँ और पत्नी के साथ आए. आज उनका भी जन्‍मदिन है. हैप्पी बर्थडे युवी!
ईशा-आनंद को शादी की बहुत-बहुत बधाई हो!..
आइए, देखते हैं ईशा अंबानी की शादी में परिवार और मशहूर शख्सियतों के दिलकश अंदाज़.

Isha-Anand Wedding

Isha-Anand Wedding

Ranveer Deepika

Priyanka And Nick

Shahid Kapoor With Wife

Saif And Kareena At Isha Ambani's Wedding

Isha-Anand Wedding Isha-Anand WeddingIsha Ambani's Wedding

Isha Ambani's Wedding

Isha Ambani's Wedding

Isha Ambani's Wedding

Isha Ambani's Wedding

Isha Ambani's Wedding

  1. Isha Ambani's Wedding Isha Ambani's Wedding Isha Ambani's Wedding Isha Ambani's Wedding Isha Ambani's Wedding Isha Ambani's Wedding Isha Ambani's Wedding Isha Ambani's Wedding Pics Isha Ambani's Wedding Vidhya Balan Isha Ambani's Wedding Isha Ambani's Wedding Photos Isha Ambani's Wedding Pics Isha Ambani's Wedding

यह भी पढ़ेईशा अंबानी की शादी आज, फंक्शन शुरू, देखें पिक्स (Isha Ambani-Anand Piramal Wedding Today, Antilla Ready To Welcome Guests)

 

 

प्रियंका-निक की संगीत सेरेमनी का फ़र्स्ट लुक… देखें पिक्चर्स (Priyanka-Nick Wedding: First Pics From Sangeet Ceremony Out)

Priyanka Nick Wedding

प्रियंका-निक की संगीत सेरेमनी का फ़र्स्ट लुक… देखें पिक्चर्स (Priyanka-Nick Wedding: First Pics From Sangeet Ceremony Out)

प्रियंका (Priyanka) और निक (Nick) की संगीत सेरेमनी (Sangeet Ceremony) की पहली तस्वीरें (Pictures) ख़ुद प्रियंका ने सोशल मीडिया पर शेयर की हैं, जिसमें दोनों ही मस्ती के मूड में नज़र आ रहे हैं. दोनों ही परिवारों ने इस मौक़े पर काफ़ी मस्ती और डान्स किया. डान्स कॉम्पटिशन का भी मज़ा लिया गया. प्रियंका-निक देसी लुक में लग रहे हैं बेहद प्यारे! 

Priyanka Nick Wedding

Priyanka Nick Wedding

Priyanka Nick Wedding

Priyanka Nick Wedding

Priyanka Nick Wedding

Priyanka Nick Wedding

Priyanka Nick Wedding

Priyanka Wedding

एकता कपूर की दिवाली पार्टी में ग्लैमर का तड़का… देखें पिक्चर्स! (Ekta Kapoor’s Diwali Bash… See Pics)

Ekta Kapoor's Diwali Bash

Ekta Kapoor's Diwali Bash

एकता कपूर की दिवाली पार्टी में ग्लैमर का तड़का… देखें पिक्चर्स! (Ekta Kapoor’s Diwali Bash… See Pics)

एकता कपूर अपनी दिवाली पार्टी (Ekta Kapoor’s Diwali Bash) के लिए काफ़ी फेमस हैं और यही वजह है कि उनकी पार्टी अटेंड करने का मौका कोई भी सेलेब नहीं छोड़ना चाहता. मॉनी रॉय से लेकर दिव्यांका त्रिपाठी और नेहा धूपिया से लेकर करिश्मा तन्ना तक ने इस पार्टी की हॉटनेस बढ़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ी. यही नहीं, श्रद्धा कपूर, करन जौहर, शिल्पा शेट्टी भी ख़ासतौर से यह पार्टी अटेंड करने फुल ग्लैमर लुक में नज़र आए. आप भी देखें ये एक्सक्लूसिव पिक्चर्स.

Ekta Kapoor's Diwali Bash

यह भी पढ़ें: जल्द ही शादी करनेवाले हैं अर्जुन-मलाइका, डिनर डेट पर हॉट कपल (Arjun Kapoor And Malaika To Get Married Soon, Went On Dinner Date)

शहंशाह अमिताभ बच्चन जन्मदिन मुबारक हो!… (Happy Birthday Amitabh Bachchan: The Legend Turns 76)

Amitabh Bachchan Birthday

आज युग पुरुष अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) 75 साल के हो गए हैं, मानो एक युग बीत गया हो उनके अभिनय को देखते, गाते, हंसते-मुस्कुराते. उम्दा कलाकार, बेजोड़ अभिनय, लाजवाब एक्शन… उनका हर रूप, हर रंग, हर अदा बेमिसाल…

सात हिंदुस्तानी से जो सफ़र शुरू हुआ, वो आज भी बरकरार है. कितने दशक सतत काम करते रहे… हर युवा के लिए प्रेरणास्त्रोत हैं वे. उनकी ख़ूबसूरत फिल्में, सशक्त अभिनय, बहुमुखी भूमिकाएं सदा हमारा मनोरंजन करने के साथ-साथ प्रेरणा भी देती हैं कि हम सदा कर्मठ बने रहें…

वैसे कौन बनेगा करोड़पति टीवी शो के ज़रिए आज भी वे उतने ही जवां, हरफनमौला परफॉर्मेंस को अंजाम दे रहे हैं और करोड़ों दिलों पर राज़ कर रहे हैं. वे यूं ही ताउम्र अभिनय करते रहें, यही दुआ और शुभकामनाएं!

मेरी सहेली परिवार की तरफ़ से उन्हें जन्मदिन की बहुत-बहुत बधाई!

एबी जर्नी…

* अमिताभ बच्चन का जन्म इलाहाबाद में 11 अक्टूबर को हुआ था.

* उनके पिता हरिवंश राय बच्चन हिंदी के जाने-माने लेखक थे और मां तेजी बच्चन भी बहुमुखी प्रतिभा की धनी थीं.

* पहले उनका नाम इंकलाब रखा गया था, पर बाद में अमिताभ रखा गया, जिसका मतलब ऐसा प्रकाश जो कभी नहीं बुझेगा.

* बहुत कम लोग जानते हैं कि अमिताभ बच्चनजी का सरनेम श्रीवास्तव है, पर चूंकि उनके पिता कवि हरिवंश रायजी उपनाम बच्चन लगाते थे, उन्होंने भी अपने नाम के साथ यही उपनाम रहने दिया.

* अमितजी ने दो बार एमए किया था. इलाहाबाद और नैनीताल में अपनी शिक्षा पूरी की.

* करियर के शुरुआती दौर में उन्होंने कोलकता की एक शिपिंग कंपनी में जॉब भी किया था.

* 3 जून 1973 को अपनी साथी कलाकार जया भादुड़ी के साथ उन्होंने विवाह किया. उनके दो बच्चे अभिषेक और श्‍वेता हैं.

* अपनी पहली ही फिल्म सात हिंदुस्तानी के लिए उन्हें न्यूकमर का नेशनल अवॉर्ड मिला था.

* आनंद फिल्म में उनके बेहतरीन परफॉर्मेंस के लिए उन्होंने बेस्ट सर्पोेंटिंग एक्टर का फिल्मफेयर अवॉर्ड जीता था.

* फिल्मी करियर के शुरुआती दिनों में उन्होंने परवाना फिल्म में खलनायक की भी भूमिका निभाई थी.

* वे अपने संघर्ष के दिनों में कई सालों तक हास्य कलाकार महमूद के घर भी रहे थे.

* ज़ंजीर फिल्म उनके करियर का टर्निंग प्याइंट रहा. यही से उनके एंग्री यंग मैन का क़िरदार मशहूर हुआ.

* इसी दौर में उनके अभिमान और नमक हराम फिल्म को काफ़ी पसंद किया गया. राजेश खन्ना और रेखा के साथ की नमक हराम के लिए तो उन्हें फिल्मफेयर का बेस्ट सर्पोंटिंग एक्टर का अवॉर्ड भी मिला.

* फिर चुपके-चुपके, दीवार, शोले, अमर अकबर एंथोनी, कभी-कभी फिल्मों से जो कामयाबी का सिलसिला चल पड़ा, वो अब तक बरकरार है.

* रेखा के साथ की फिल्म मि. नटवरलाल के गाने मेरे पास आओ मेरे दोस्तों एक क़िस्सा सुनाऊ… गाने से उन्होंने पहली बार फिल्मों में अपनी आवाज़ दी. इसके लिए उन्हें पुरस्कार भी मिला.

* साल 1982 में कुली फिल्म की शूटिंग के दौरान लगे चोट और गंभीर स्थिति होने, फैन्स व लोगों के प्यार, दुआओं के सिलसिले ने यह साबित कर दिया कि अमिताभ बच्चन कितने बड़े स्टार बन गए थे और दर्शकों के लिए उनके दिल में किस कदर प्यार है.

* साथ ही फिल्म के निर्देशक मनमोहन देसाई पर भी इसका ऐसा असर हुआ कि उन्होंने फिल्म का अंत बदल दिया. उनका कहना था कि यह महान शख़्स मौत को जीतकर वापस आया है, तो भला मैं फिल्म में ऐसे कैसे दिखा सकता था. आज भी कुली फिल्म के उस फाइट सीन में जिसमें अमिताभ बच्चन घायल हुए थे, फिल्म देखते समय पॉज़ करके नीचे इसके बारे में कैप्शन दिखाया जाता है.

* उन्हें राजनीति में भी न चाहते हुए दोस्ती की ख़ातिर आना पड़ा, पर आख़िरकार इसे उन्होंने अलविदा कह दिया.

* राजनीति, फिल्म से जुड़े तमाम विवादों के चलते उन्होंने काफ़ी लंबे समय तक मीडिया से भी दूरी बनाए रखी.

* शहंशाह से उनकी ज़बर्दस्त दूसरी इनिंग शुरू हुई. फिर हम, अग्निपथ फिल्मों की सफलता ने उन्हें फिर से स्थापित किया. अग्निपथ के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार भी मिला.

* एबीसीएल के बैनर तले उन्होंने कई फिल्में भी बनाई.

* साल 2000 में टीवी शो कौन बनेगा करोड़पति उनके करियर का मील का पत्थर साबित हुई. इस शो के ज़रिए अमितजी को लोगों का भरपूर प्यार, सराहना, मान-सम्मान मिला. जो अब तक बरकरार है.

– ऊषा गुप्ता

यह भी पढ़े: HBD Rekha: देखिए इस सदाबहार अदाकारा की 10+ दिलकश, हॉट व ख़ूबसूरत पिक्स (HBD Rekha: Hot, Sexy Pics Of Rekha)

लाइफस्टाइल के नए फंडे (How Modern Lifestyle Has Changed Our Perception Of Life & Fitness)

Life & Fitness

लाइफस्टाइल के नए फंडे (How Modern Lifestyle Has Changed Our Perception Of Life & Fitness)

यह तो सच है कि ज़िंदगी और इसे जीने का अंदाज़ (Lifestyle) पहले से बहुत बदल (Changed) गया है और हम उन बदलावों के बीच ख़ुद को एडजस्ट करने में लगे हैं. कुछ बदलाव अच्छे होते हैं, तो कुछ ज़रूरी होते हैं, कुछ हमें तनाव दे जाते हैं, तो कुछ मजबूरी होते हैं… पर ज़िंदगी है, हर पल बदलती है… इसे ही तो लाइफ कहते हैं और इन बदलावों के बीच सामंजस्य बैठाने के तौर-तरीक़ों को हम लाइफस्टाइल का नाम दे देते हैं. क्या कुछ नया जुड़ता जा रहा है और क्या कुछ तेज़ी से बदलता जा रहा, इसी विषय को हम समझने का प्रयास करेंगे, ताकि इस बदलाव की प्रक्रिया को सहजता से ले सकें और अपनी लाइफस्टाइल को भी बेहतर बना सकें. क्या हैं ये लाइफस्टाइल के न्यू फंडे, आइए जानें.

स्वैग ज़रूरी है…
लोग, लोगों की ज़रूरतें, उनके तौर-तरी़के… सब कुछ हर पल में तेज़ी से बदल रहा है. इसी बदलाव का लेटेस्ट व हॉट ट्रेंड है स्वैग. जी हां, आज की लाइफस्टाइल में अगर आपके पास स्वैग नहीं है, तो आपकी ज़िंदगी बेकार है. यही वजह है कि लोग कभी अपने लुक्स के साथ, तो कभी अपने स्टाइल के साथ एक्सपेरिमेंट करने लगे हैं. हेयरस्टाइल और हेयरकलर्स में भी यह स्वैग उतर आया है, कभी देसी स्वैग, तो कभी स्वैगवाली टोपी, कभी चलने का स्टाइल, तो कभी आपका अंदाज़… हर चीज़ में स्वैग ज़रूरी हो गया है. यह बदलते लाइफस्टाइल का सबसे बड़ा बदलाव है.

फिटनेस है न्यू हॉटनेस…
लाइफस्टाइल का सबसे ज़्यादा असर हमारी हेल्थ और फिटनेस पर पड़ता है. हमारी डायट बदलती है, रहने का ढंग भी बदलता है, साथ ही ढेर सारा स्ट्रेस भी होता है. ये सब हमें अनफिट और अनहेल्दी बनाता है. लेकिन अब नहीं, क्योंकि लोग अब फिट रहना पसंद करते हैं. चाहे कितना भी तनाव हो या कितना ही वर्कलोड हो, फिटनेस के लिए टाइम निकालते हैं. जिम जाते हैं, हेल्दी डायट भी लेते हैं और यह बहुत ही पॉज़ीटिव बदलाव है, क्योंकि फिटनेस ही अब हॉटनेस की नई परिभाषा.

सोशल साइट्स अब बन गई हैं शो ऑफ साइट्स…
लोगों का नया घर बन चुकी हैं ये सोशल साइट्स. क्या खा रहे हैं, क्या सोच रहे हैं, रिलेशनशिप स्टेटस क्या है, हॉलीडे प्लान्स, वीकेंड पार्टीज़… सब कुछ वो यहीं शेयर और पोस्ट करते हैं. घर के मेंमर्स अब फिज़िकली पास होकर भी वो सब नहीं जान पाते, जो सोशल साइट्स पर फ्रेंड बने दूर-दराज़ बसे लोग जान लेते हैं. लेकिन इसमें भी चौंकानेवाली बात यह है कि लोग यहां ईमानदार नहीं हैं, हर किसी का मक़सद स़िर्फ ‘दिखावा’ यानी ‘शो ऑफ’ ही होता है. भले ही निजी ज़िंदगी उतनी हैपनिंग न हो, लेकिन सोशल साट्स भी सबकी ज़िंदगी की एक अलग ही तस्वीर नज़र आती है. एक नक़लीपन होता है वहां, जिसे जानबूझकर हम हक़ीक़त समझकर ख़ुद को ख़ुश करने का बहाना बना लेते हैं. यह जितना रोमांचक है, उतना ही ख़तरनाक भी हो सकता है. लेकिन आज की लाइफस्टाइल का यह अभिन्न हिस्सा बन चुका है, जिससे फिल्हाल तो दूर-दूर तक निजात मिलना नामुमकिन ही लग रहा है.

इंस्टाग्राम पर फिटनेस का बोलबाला- इन सेलेब्स ने उड़ाए सबके होश…
जैसाकि हम पहले भी बता चुके हैं कि आज की लाइफस्टाइल में फिटनेस ही हॉटनेस की नई परिभाषा बन चुकी है, तो ऐसे में कई ऐसे सेलेब्स हैं, जो इन दिनों इंस्टाग्राम पर अपनी फिटनेस को लेकर ही काफ़ी हॉट टॉपिक बन चुके हैं. वो अक्सर अपने फिटनेस वीडियोज़ और डायट टिप्स व हेल्दी लाइफस्टाइल के पिक्चर्स शेयर करते रहते हैं. वो अपनी कॉन्टैक्ट डिटेल्स भी देते हैं यदि कोई उनसे पर्सनली फिटनेस ट्रेनिंग लेना चाहे तो. इनमें सेलेब्स में टॉप पर हैं- मंदिरा बेदी, भाग्यश्री, मिलिंद सोमन, विराट कोहली, शिल्पा शेट्टी, सुष्मिता सेन, जैकलिन फर्नांडिस, मलिका शेरावत, शीबा, करिश्मा तन्ना, जॉन अब्राहम, गौतम गुलाटी, प्रिंस नरुला आदि.

यह भी पढ़ें: अब डिप्रेशन दूर भगाएगा किराये का बॉयफ्रेंड… रेंट ए बॉयफ्रेंड ऐप, एक अनोखी पहल! (RABF: This App Lets You Rent A Boyfriend To Cure Depression)

इंडिया के टॉप फिटनेस इंस्टाग्रामर्स, जिन्हें ज़रूर करें फॉलो

आज के समय में अधिकतर लोग फिटनेस फ्रीक हैं, ऐसे में आप भी अगर फिटनेस में दिलचस्पी रखते हैं, तो इन इंस्टाग्रामर्स को ज़रूर फॉलो करें.

– रोहित खंडेलवाल: मिस्टर इंडिया 2016 रोहित को देखते ही आप उनकी फिटनेस लेवल को जान जाएंगे. फिट रहना न स़िर्फ उनके प्रोफेशन की डिमांड है, बल्कि उनका पैशन भी है.

– मिलिंद सोमन: इन्हें कौन नहीं जानता और फिटनेस के प्रति इनके पैशन से भी हम सभी वाक़िफ़ हैं. मिलिंद के लिए मानो उम्र रुक सी गई हो और वो आज हम सभी को इंस्पायर करते हैं.

– बानी: अपनी ख़ूबसूरती से लेकर बिंदास अंदाज़ के लिए बानी जानी जाती हैं, वहीं उनकी फिटनेस भी किसी से छिपी नहीं. बानी को उनके रफ-टफ अंदाज़ के लिए ही सभी पसंद करते हैं.

Fitness

– गौतम गुलाटी: बिग बॉस के विनर बनकर गौतम ने हर किसी का दिल जीत लिया था. शो के दौरान भी गौतम की फिटनेस और हॉट बॉडी सबकी चर्चा का विषय बनी रहती थी. मल्टी टैलेंटेड गौतम फिटनेस को लेकर काफ़ी गंभीर हैं और यही वजह है कि फिटनेस उनकी पहचान बन चुकी है.

Gautam Gulati

 

– नम्रता पुरोहित: नम्रता राष्ट्रीय स्तर की स्क्वैश प्लेयर थीं और स्टेट लेवल की फुटबॉल प्लेयर भी थीं, लेकिन एक बार घुड़सवारी के दौरान वो गिर गई थीं और उनके घुटने में गंभीर चोट आ गई थी, जिसके चलते उनकी सर्जरी तो हो गई, लेकिन उन्हें स्पोर्ट्स को करियर के तौर पर छोड़ना पड़ा. उनके पिता, जो एक सेलिब्रिटी फिटनेस एक्सपर्ट थे, उन्होंने नम्रता को पिलेट्स प्रैक्टिस करने की सलाह दी. उसके बाद नम्रता दुनिया की सबसे कम उम्र की सर्टिफाइड स्टॉट पिलेट्स इंस्ट्रक्टर बनीं. आज फिटनेस की दुनिया में वो एक जाना-माना नाम हैं.

– रेसलर संग्राम सिंह: कोई सोच भी नहीं सकता था कि आर्थराइटिस से पीड़ित कोई व्यक्ति अंतर्राष्ट्रीय स्तर का पहलवान बन सकता है, लेकिन संग्राम सिंह ने यह कर दिखाया. उन्होंने न स़िर्फ देश का नाम रौशन किया है, बल्कि वो मोटिवेशनल स्पीकर भी हैं और फिटनेस के लिए लोगों को प्रेरित करते रहते हैं. बिग बॉस में भी संग्राम के देसी अंदाज़ को सभी ने पसंद किया था और रियल लाइफ में भी उनके फाइटिंग स्पिरिट के सभी कायल हैं.

Sangram Singh

– विनोद चन्ना: विनोद आज फिटनेस फील्ड का बहुत बड़ा नाम हैं. ये सेलिब्रिटी फिटनेस ट्रेनर हैं. बड़े-बड़े सेलेब्स इनके काम का लोहा मान चुके हैं. हालांकि विनोद के लिए यहां तक का सफ़र बेहद मुश्किलों भरा था. बचपन उन्होंने बेहद ग़रीबी देखी. शरीर से वो बहुत ही दुबले-पतले थे. उन्हें अक्सर लोग ‘सुकड़ा’ कहकर चिढ़ाते थे. इसी बात ने उन पर ऐसा असर डाला कि उन्होंने अपने शरीर पर ही काम करने का इरादा बना लिया, लेकिन पैसों की तंगी के कारण वो जिम नहीं जा सके. तब उन्होंने पढ़ाई के साथ-साथ ख़ुद काम करने की सोची. वो सैलेरी का छोटा-सा हिस्सा ही घर में देते थे, बाकी अपनी फिटनेस ट्रेनिंग पर ख़र्च करते थे. घरवाले उन पर तब नाराज़ होते थे, क्योंकि घर पर पैसों की ज़रूरत थी, लेकिन उनके अनुसार यदि मैं आज ख़ुद पर ध्यान देकर काबिल बन जाऊंगा, तब ही तो परिवार को भविष्य में बेहतर कुछ दे पाऊंगा… विनोद टॉप रेटेड फिटनेस ट्रेनर बनना चाहते थे और फिटनेस के प्रति उनके पैशन ने ही उन्हें वो सब कुछ दिया, जिसके सपने वो देखा करते थे. वो प्रोफेशनल बॉडी बिल्डर भी थे और कई प्रतियोगिताओं में विजेता भी बने.

– प्रशांत सावंत: इनकी इंस्टा आईडी से ही आपको इनके फिटनेस प्रेम का अंदाज़ा हो जाएगा. जी हां, प्रशांतसिक्सपैक नाम से है इनकी आईडी और ये भी बहुत बड़े सेलिब्रिटी फिटनेस ट्रेनर हैं. चाहे शाहरुख हों या आलिया, वरुण धवन, अजय देवगन और अभिषक बच्चन इनके क्लाइंट्स हैं. दहिसर के 10/10 के छोटे से कमरे में बड़े परिवार के साथ रहनेवाले प्रशांत इस मुक़ाम तक पहुंचेंगे यह किसी ने नहीं सोचा था. कॉलेज ड्रापआउट, जिन्हें परिवार के लोग भी गंभीरता से नहीं लेते थे, आज बादशाह ख़ान के फिटनेस ट्रेनर हैं. प्रशांत बचपन में बहुत मोटे थे, लेकिन वो हमेशा से अच्छा दिखना चाहते थे. जो चीज़ फैशन के लिए शुरू हुई, वो पैशन में बदल गई और उनके वर्क स्टाइल के बड़े-बड़े स्टार्स भी कायल हो गए.

यह भी पढ़ें: लव से लेकर लस्ट तक… बदल रही है प्यार की परिभाषा (What Is The Difference Between Love And Lust?)

लाइफस्टाइल तो बदल रही है, पर क्या हम बदल रहे हैं… फिटनेस एथलीट श्‍वेता मेहता
रोडीज़ राइज़िंग 2017 की विनर श्‍वेता की स्टोरी आपको ज़रूर इंस्पायर करेगी. एक आईटी प्रोफेशनल से रोडीज़ तक का सफ़र आसान नहीं था श्‍वेता के लिए. वो फिटनेस और बिकनी एथलीट हैं. एशियन बॉडी बिल्डिंग चैंपियनशिप में भी वो भारत का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं. आज की बदलती लाइफस्टाइल और उसके इंपैक्ट के बारे में हमने ख़ुद श्‍वेता से बात की…

“आज से बस 3 साल पहले तक की बात है कि मुझे यह भी नहीं पता था कि जिम आख़िर होता क्या है. मैं पीठ दर्द से परेशान रहती थी. यह समस्या तब से थी, जब में 12वीं में पढ़ रही थी. स्पॉन्डिलाइटिस से जूझना वैसे भी आसान नहीं होता. पढ़ाई पूरी होने के बाद में जॉब करने लगी और मेरा 12 घंटे का डेस्क जॉब मेरे बैक पेन को और बढ़ा रहा था. मुझे एक्सरसाइज़ करने का समय ही नहीं मिलता था, लेकिन मेरे लिए यह ज़रूरी हो गया था कि सिक्योर फ्यूचर, जॉब, सैलरी के मायाजाल से बाहर निकलूं. मैंने हिम्मत की और आज रिज़ल्ट सबके सामने है. आज फिटनेस ही मेरी पहचान बन चुकी है. मैंने अपनी लाइफस्टाइल चेंज की और मुझे मेरे सपनों की लाइफ मिली. मैं फिटनेस एथलीट हूं, पिछले 3 सालों में 5-6 कॉम्पटीशन्स जीत चुकी हूं. मैं हरियाणा की हूं और मैंने कभी स्लीवलेस कपड़े तक नहीं पहने थे. मेरे पैरेंट्स को मेरी बिकनी की पिक्चर्स के लिए यहां तक सुनना पड़ता था कि क्या आपकी बेटी नाइट क्लब में काम करती है… लेकिन आज मैं कामयाब हूं, तो वही लोग मेरा सम्मान करते हैं. मेरा यही कहना है कि अपने सपनों को मत बदलो, कुछ ऐसा करो कि लोगों का नज़रिया बदले.  मेरी कामयाबी में बहुत बड़ा रोल मेरे पैरेंट्स के सपोर्ट का है और हेल्दी लाइफस्टाल का भी है और अब मैं इस लाइफस्टाइल को बदलना नहीं चाहती, जो भी चीज़ मेरी फिटनेस के आड़े आती है, मैं उसे करती ही नहीं. क्योंकि फिटनेस और हेल्दी लाइफस्टाइल से कोई समझौता नहीं करना है.

 

Woman Fitness

हमारे यहां प्रॉब्लम यह है कि हम समय और परिस्थितियों के अनुसार न ख़ुद को ढालते हैं और न ही अपना डायट बदलते हैं. उदाहरण के तौर पर कोई कहता है कि भई हम तो पंजाबी हैं, हम तो तगड़ा ही खाते हैं, कोई कहता है हम गुजराती हैं, मीठा तो छोड़ नहीं सकते… इसी तरह से हम ट्रेडिशन के नाम पर वही डायट फॉलो करते हैं, जो हमारे दादाजी के समय में खाया जाता था. लेकिन यह भी तो सोचो कि वो समय अलग था, उनका काम अलग था. आज हम सभी डेस्क जॉब करते हैं, कहां से पचेगा तगड़ा खाना…? बेहतर होगा कि मीठा कंट्रोल करें, ऑयली फूड अवॉइड करें, एक्सरसाइज़ करें. ख़ुद की बॉडी से प्यार करें. तब जाकर आप हेल्दी बनोगे. कुछ चीज़ें हम सभी को पता होती हैं, लेकिन हम फॉलो नही करते, जैसे- पानी भरपूर पीएं, ऑयली-फैटी फूड कम खाएं, मीठा ज़्यादा न खाएं, प्रोटीन अधिक लें… आदि… लेकिन हम जानते हुए भी फॉलो नहीं करते. मैं बस हेल्दी चीज़ें लेती हूं और अनहेल्दी चीज़ें अवॉइड करती हूं, यही है डायट. मैं अपना खाना ख़ुद बनाती हूं. दिन में 6 बार खाती हूं, 2 बार जिम जाती हूं… मैं अपना ये रूटीन नहीं बदलती और इसीलिए फिट रहती हूं.”

Life & Fitness

वीकेंड्स के बदलते रूल्स…
एक व़क्त था, जब वीकेंड्स को आराम करने में ही बिताया जाता था. सभी लोग ज़्यादातर घर पर ही रहना पसंद करते थे, ताकि हफ़्तेभर की थकान मिट सके, लेकिन अब थकान व स्ट्रेस भगाने के तरी़के बदल गए हैं. लोग बाहर घूमने जाते हैं. पूरी प्लानिंग करते हैं कि कैसे हर वीकेंड को वो यादगार बना सकें.

वर्क मोर, पार्टी हार्ड…
वर्क लोड हर जगह, हर क्षेत्र में बढ़ा है. ऐसे में ज़्यादा काम करना ज़रूरी भी है और मजबूरी भी, लेकिन इस वर्क लोड के बदले लोग ख़ुद को ख़ुश करने के रास्ते भी ढूंढ़ लेते हैं. यह ख़ुशी उन्हें मिलती है पार्टी करके. फ्रेंड्स के साथ पार्टी करने का एक भी मौका आजकल कोई नहीं छोड़ता, बल्कि लोग तो बहाने ढूंढ़ते हैं कि कब पार्टी करके अपने वर्क लोड के स्ट्रेस को दूर कर सकें, क्योंकि बदलती लाइफस्टाइल में स्ट्रस बस्टर्स भी बदल गए हैं. एक समय था, जब परिवार के साथ बैठकर खाना खाने व अपनी तकली़फें शेयर करने से तनाव दूर होता था, वहीं अब फ्रेंड्स के साथ पार्टी करके, एंजॉय करके स्ट्रेस दूर किया जाने लगा है.

Life

महंगे गैजेट्स बन गए हैं सबकी ज़रूरत…
भले ही आपकी सैलरी या घर की कंडीशन ऐसी न हो कि आप लैग्ज़री को अपनी लाइफस्टाइल बना सकें, लेकिन यह भी सच है कि जैसे-तैसे महंगे गैजेट्स आप ज़रूरी अफोर्ड या मैनेज कर लेते हैं, क्योंकि वो इस लाइफस्टाइल की ज़रूरत बन चुके हैं. पर्सनल काम ही नहीं, ऑफिशियल काम के लिए भी यह ज़रूरी हो गया है. बेसिक फोन्स अब आउटडेटेड हो गए हैं, स्मार्ट फोन्स ने लाइफ में जगह बना ली है. वाईफाई अब घर-घर की ज़रूरत है, डेटा कार्ड से लेकर नोट पैड तक सभी कुछ एक ही घर में अब देखने को मिलता है, क्योंकि बच्चों के स्कूल प्रोजेक्ट्स से लेकर घरवालों की शॉपिंग तक इन्हीं से होती है.

क्या शो ऑफ बनकर रह गई है ज़िंदगी…?
आज लोग ज़िंदगी जीने से कहीं ज़्यादा दिखावे में यकीन करने लगे हैं. इसकी सबसे बड़ी वजह है सोशल नेटवर्किंग साइट्स, जो एक तरह से तो बहुत बड़ा ज़रिया है लोगों से जुड़ने का, लेकिन हमने इन्हें शो ऑफ की जगह बना डाला. यहां लोग अक्सर अपनी पर्सनल लाइफ से ख़ुद को बहुत अलग दिखाने की होड़ में लगे रहते हैं. अपनी लाइफस्टाइल को बहुत ही हैपनिंग दिखाते हैं. इसके पीछे एक वजह यह भी होती है कि यहां लोगों का स्ट्रेस कम हो जाता है, कुछ पल के लिए भ्रम में रहकर ख़ुद को हल्का और पॉज़ीटिव महसूस करते हैं, लेकिन यह सही है कि अपने नए जूते-कपड़ों से लेकर लेटेस्ट गैजेट्स व कार तक की पिक्चर्स लोग यहां सबसे पहले शेयर करते हैं. घरवालों को भी पता नहीं होता है, लेकिन आप कहां पार्टी कर रहे हो और किन के साथ, यह आपके चेकइन्स से सोशल साइट्स पर सभी को पता चल जाता है.

यह भी पढ़ें: जानें 21 दिलचस्प तथ्य (21 Interesting Facts That Will Amaze You)

रिलेशनशिप स्टेटस- इसमें छुपाने की क्या बात है…
अब लोग हिचकते नहीं है, भले ही वो लिव इन में हों या एक्स्ट्रामैरिटल अफेयर कर रहे हों, उन्हें लगता है कि इसमें छिपाने की क्या बात है. आख़िर हमारी लाइफ है, हमें चाहे जैसे जीएं. लोग क्या कहेंगे का डर अब लोगों के मन से काफ़ी हद तक निकल चुका है और यह अच्छी बात भी है, क्योंकि कम से कम नकली ज़िंदगी तो नहीं जीते. जो हैं, जैसे हैं, सबके सामने हैं.

ऑउटस्पोकन, आउटगोइंग बन गई है कॉन्फिडेंस और स्मार्टनेस की नई पहचान…
शर्म-संकोच आज के समय में दब्बूपन की निशानी मानी जाती है. ज़्यादा बोलना, खुलकर बोलना यह जताता है कि आप कॉन्फिडेंट और स्मार्ट हो. पहले कम बोलनेवाले और संकोची इंसान को लोग संस्कारी मानते थे, लेकिन बदलती लाइफस्टाइल ने संस्कारों के मायने भी बदल दिए हैं. अगर आप कम बोलते हैं, ज़्यादा शर्माते हैं, तो आपको पर्सनैलिटी डेवलेपमेंट क्लासेस जॉइन करने की सलाह भी मिलते देर नहीं लगेगी, क्योंकि आज के समय की ज़रूरत है कि आप शर्म-संकोच हटाकर बिंदास बनें. चाहे पर्सनल लाइफ हो या प्रोफेशनल, सभी जगह यही डिमांड है.

सेक्स पर बात करना अब संकोच या शर्म की बात नहीं
जैसे खाना-पीना-सोना, वैसे ही सेक्स, इसमें शर्माने की क्या बात है… जी हां, आजकल अधिकांश लोग यही मानते हैं. सेक्स अब प्राइवेसी का विषय नहीं रहा. लोग उस पर खुलकर बात भी करते हैं और इसे बुरा भी नहीं समझते. एक तरह से हम कह सकते हैं कि सेक्स को लेकर थोड़ी मैच्योरिटी और खुलापन तो आया है समाज में. लड़कियां भी इसे सहजता से लेती हैं. अपनी मूल ज़रूरत पर शर्माने की क्या बात है, ऐसा लोग मानने लगे हैं. लोग अब सेक्स को गंदा या बेशर्मी न मानकर स्वाभाविक व नैसर्गिक चीज़ समझने लगे हैं, यही वजह है कि अब वो खुलकर उस पर बात करते हैं. इसकी ज़रूरत भी है, ताकि सेक्सुअल डिसीज़ व सेक्स संबंधी अन्य मानसिक व शारीरिक समस्याओं का निवारण आसानी से हो सके. बच्चों को भी सेक्स एजुकेशन मे महत्व पर ज़ोर दिया जाने लगा है, ताकि वो भी यौन शोषण से बच सकें.

पीरियड्स पर अब खुलकर बोलते हैं…
इसी तरह से पीरिड्स पर भी बात करना, खुलकर चर्चा करने को लोग सहजता से लेने लगे हैं. यह एक प्राकृतिक क्रिया है, तो इसमें शर्मिंदगी या झिझक क्यों? ख़ुद लड़कियां व कई संस्थाएं भी आगे आकर सोशल साइट्स के ज़रिए अपने कैंपेन को चला रही हैं और लोगों में जागरूकता ला रही हैं. ऐसे में लाइफस्टाइल में आए कुछ नए बदलाव वाक़ई काबिले तारीफ़ हैं, जिससे समाज पहले के मुकाबले अधिक परिपक्व व सहज हो सकेगा.

– गीता शर्मा

जाह्नवी-अर्जुन पहली बार साथ आएंगे करण के शो में… (Jahnavi-Arjun Kapoor Together In Coffee With Karan…)

Coffee With Karan.

अर्जुन कपूर (Arjun Kapoor) और जाह्नवी कपूर (Jahnavi Kapoor) पहली बार एक साथ स्क्रीन शेयर करेंगे. वे दोनों ‘कॉफी विद करण’ (Coffee With Karan) शो में आ रहे हैं. करण जौहर की इस टॉक शो में हर बार सेलिब्रिटीज़ की जोड़ी नज़र आती है. इस बार भाई-बहन, पति-पत्नी, पिता-बेटी की जोड़ियां नज़र आएंगी, जैसे-अर्जुन कपूर-जाह्नवी कपूर, अनुष्का शर्मा-विराट कोहली, सैफ अली ख़ान-सारा ख़ान. करण जौहर का यह शो कॉफी विद करण, का छठा सीज़न है. इस शो को पहले सीज़न से ही लोग काफ़ी पसंद करते रहे हैं, क्योंकि शो में हर तरह का मसाला होता है- कुछ खट्टी-मीठी अनकही बातें, नोक-झोंक और भी बहुत सारी ऐसी बातें, जो ऑडियंस जानना चाहती हैं. और करण अपने मज़ेदार-लच्छेदार बातों से उन्हें अवगत कराते रहते हैं.
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि करण ने ही जाह्नवी कपूर को ‘धड़क’ फिल्म के ज़रिए इंट्रोड्यूस किया था. अब छोटे पर्दे पर भी वे ही उन्हें भाई के साथ इंट्रोड्यूस कर रहे हैं.
जैसा कि हम सभी जानते हैं कि अर्जुन कपूर श्रीदेवी से दूरियां बनाकर ही रखते थे, लेकिन उनके जाने के बाद जिस तरह उन्होंने उनकी दोनों बेटियां- जाह्नवी-ख़ुशी को संभाला, उनका ख़्याल रखा, वो काबिल-ए-तारीफ़ है.
अर्जुन कपूर अपनी बहन अंशुला की तरह ही दोनों बहनें जाह्नवी-ख़ुशी को भी प्यार-स्नेह करते हैं, उनका केयर करते हैं. समय-समय पर हम इसके बारे में देखते-सुनते रहे हैं.

  • Jahnavi And Arjun Kapoor
    अब इस शो के ज़रिए दोनों भाई-बहन के बारे में दर्शकों को बहुत कुुछ जानने-समझनेे को मिलेगा, जैसे- उनके आपसी रिश्ते, बॉन्डिंंग, अपनापन आदि. अब कॉफी विद करण के ज़रिए फुल एंटरटेनमेंट के लिए तैयार हो जाएं!

यह भी पढ़े: तनुश्री दत्ता: आरोप-प्रत्यारोप का दौर… (Tanushree Dutta: The Case Of Indian #Me Too)

भक्तिमय सितारों की दुनिया (Film Stars Bring Ganapati Bappa Home)

Film Stars Ganpati

गणेशोत्सव (Ganeshotsav) के समय हर तरफ़ हर कोई गणेश भक्ति के रंग में रंगा दिखाई देता है. इसमें सेलिब्रेटीज़ (Celebrities) भी पीछे नहीं है. फिर चाहे वो फिल्मी सितारे हों या टीवी स्टार्स. टीवी-फिल्मों की तरह सितारे व्यक्तिगत जीवन में भी गणेश उत्सव को पूरे हर्षोल्लास व धूम-धड़ाके के साथ मनाते हैं. आज भी कलाकारों ने पूरी श्रद्धा व धूमधाम से गणेश भगवान को अपने घर में स्थापित किया है.

हर साल कपूर फैमिली, रणबीर कपूर, अजय देवगन, विवेक ओबेरॉय, सलमान ख़ान, संजय दत्त, रितेश देशमुख इत्यादि स्टार्स के यहां श्रीगणेशजी के आगमन की ख़ूब धूम रहती है.

यह भी पढ़ें: इन गानों के साथ कीजिए बप्पा का स्वागत (Ganesh Chaturthi Special Songs)

इस बार पति राज कुंद्रा व बेटे विवान के साथ गणपति बप्पा को घर लाने की ख़ुशी शिल्पा शेट्टी के चेहरे देखते ही बन रही थी. वे पूरी तरह से भगवान गणेशजी के भक्ति में रंगी थीं. उनके अलावा माधुरी दीक्षित, सोनू सूद, रश्मि देसाई, देवलीना भट्टाचार्य, कांची सिंह, शरद मल्होत्रा, रूबीना दिलेक, डेज़ी शाह कलाकार भी गणेशजी की पूजा-वंदना में मग्न रहे. सभी को गणेश चतुर्थी की शुभकामनाएं! आइए देखते हैं कलाकारों को ईश्वर की भक्ति में डूबे…

Film Stars Ganpati

shilpa shetty

shilpa shettyshilpa shetty

shilpa shetty

 Film Stars Ganpati Film Stars Ganpati Film Stars Ganpati Film Stars Ganpati Film Stars Ganpati Film Stars Ganpati

Film Stars Ganpati

Film Stars Ganpati.

Film Stars Ganpati

Film Stars Ganpati

भक्ति के साथ अनुष्का शर्मा और वरुण धवन ने अपनी फिल्म ‘सुई धागा’ का प्रमोशन भी कर डाला. सही है, बोलो गणपति बप्पा मोरया!

फारुख शेख के 70वें जन्मदिन पर जानें उनसे जुड़ी ख़ास बातें (Google Doodle Remember Bollywood Actor Farooq Sheikh)

Google Doodle, Bollywood Actor Farooq Sheikh

आज (25 मार्च 2018) फारुख शेख का 70 वां जन्मदिन है और ख़ास बात ये कि फारुख शेख के 70वें जन्मदिन पर गूगल ने उन्हें डूडल बनाकर श्रद्धांजलि दी है. अगर आज फारुख शेख जिंदा होते तो अपना 70वां जन्मदिन मना रहे होते. फारुख शेख उन कलाकारों में से हैं, जो पर्दे पर अभिनय नहीं करते, बल्कि उसे जीते हैं. आज फारुख शेख ज़िंदा होते, तो उनके चाहने वालों को उनकी अदाकारी के कई और रंग देखने को मिलते. आइए, फारुख शेख की ज़िंदगी से जुड़ी कुछ ख़ास बातें जानते हैं:

Google Doodle, Bollywood Actor Farooq Sheikh

* गुजरात के अमरोली में 25 मार्च, 1948 को एक जमींदार परिवार में जन्मे फारुख शेख पांच भाई बहनों में सबसे बड़े थे.
* फारुख शेख ने वकालत का पेशा छोड़ एक्टिंग को बतौर करियर चुना.
* फारुख शेख ने अपनी पहली फिल्म ‘गर्म हवा (1973)’ में मुफ्त में काम करने के लिए हामी भरी और इस फिल्म के लिए उन्हें 750 रु. मिले, वो भी पांच साल बाद.
* फारुख शेख ने चश्मे बद्दूर, उमराव जान, साथ-साथ, नूरी, शतरंज के खिलाड़ी, माया मेम साब, कथा, बाजार, रंग बिरंगी जैसी कई फिल्मों में यादगार अभिनय किया है.
* 90 के दशक से फारुख शेख ने फि‍ल्मों में काम करना कम कर दिया और टीवी की ओर रुख कर लिया था.
* फारुख बॉलीवुड और टीवी के ऐसे कलाकार हैं, जो कभी विवादों में नहीं फंसे.
* फारुख शेख ने अभिनय के हर मंच और छोटे-बड़े हर किरदार को हमेशा पूरी ईमानदारी से निभाया.

यह भी पढ़ें: Wedding Bells: जीनिवा में होगी सोनम और आनंद की शादी? पिता अनिल कपूर पर्सनली फ़ोन करके कर रहे हैं लोगों को इन्वाइट

* पुरुष प्रधान फिल्मों के दौर में भी फारुख ने रेखा पर केंद्रित ‘उमराव जान’ में एक छोटा-सा किरदार बिना किसी हिचकिचाहट के निभाया और फिल्म में अपनी अदाकारी की अमिट छाप छोड़ी.
* फारुख शेख चुनिंदा रोल करते थे इसलिए अपने चार दशक के फ़िल्मी करियर में उन्होंने सिर्फ 40 फिल्मों में ही काम किया.
* टेलीविज़न पर फारुख शेख ने चमत्कार, जी मंत्रीजी, जीना इसी का नाम है, श्रीकांत जैसे यादगार शोज़ में काम किया.
* 27 दिसंबर, 2013 को फारूक शेख का दुबई में निधन हो गया. फारूक अपने परिवार के साथ दुबई में छुट्टियां मना रहे थे, उसी दौरान उन्हें हार्ट अटैक आ गया.

यह भी पढ़ें: शाहरुख़ ख़ान के कहने पर वज़न घटाया: अरु के. वर्मा

जानें कैसे मिला श्‍वेता तिवारी को थ्री कैरेट डायमंड (When Shweta Tiwari Get 3 Carat Diamond)

When Shweta Tiwari Get 3 Carat Diamond

शादी ग्लैमर वर्ल्ड में आपकी एंट्री रोक देती है, मां बनने के बाद महिलाएं करियर पर ज़्यादा ध्यान नहीं दे पातीं, शादी के बाद महिलाएं अपना फ़िगर मेंटेंन नहीं कर पातीं… ऐसी तमाम मान्यताओं को झुटलाकर श्‍वेता तिवारी ने साबित कर दिया है घर, बच्चा, करियर सब कुछ एक साथ आसानी से हैंडल किया जा सकता है. बस, मन में कुछ कर दिखाने का जज़्बा होना चाहिए. अपनी इस मल्टी टास्किंग स्किल और क़ामयाबी से जुड़े कई अनकहे राज़ उन्होंने शेयर किए हमारे साथ.

When Shweta Tiwari Get 3 Carat Diamond

क्या आपने कभी सोचा था कि आप ग्लैमर इंडस्ट्री में काम करेंगी?
जब आपकी क़िस्मत में किसी फ़ील्ड से जुड़ना लिखा होता है, तो उसके लिए रास्ते अपने आप खुलते चले जाते हैं. मेरे साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ. मैं अपने स्कूल में डांस कॉम्पटीशन में हिस्सा लिया करती थी. एक बार डांस कॉम्पटीशन में मैंने फ़र्स्ट प्राइज़ जीता था. उस शो के जज एक थियटर डायरेक्टर थे. उन्होंने मुझसे कहा, मैं एक प्ले कर रहा हूं, क्या तुम उसमें काम करना चाहोगी? मैंने सोचा, ट्राई करने में हर्ज़ क्या है? मैं अपनी मम्मी के साथ वहां गई और प्ले में काम करना शुरू कर दिया. थिएटर में काम करने के दौरान ही मुझे सीरियल में काम करने का मौका मिला, लेकिन मुझे बड़ा ब्रेक मिला एकता कपूर के शो कसौटी ज़िंदगी की से. उसके बाद मुझे पीछे मुड़कर देखने की ज़रूरत नहीं पड़ी.

आपने बचपन में बहुत स्ट्रगल किया है. क्या कभी अफसोस होता है अपने बचपन के बारे में सोचकर?
मेरे बचपन की यादें बहुत सुखद नहीं हैं. मैं एक मिडल क्लास, बल्कि लोअर मिडल क्लास फैमिली में पली-बढ़ी हूं. मेरे माता-पिता दोनों काम करते थे. पिता सेल्स मैनेजर थे और मां मोड रिसर्च कंपनी में काम करती थी. मैं और मेरा छोटा भाई कॉन्वेंट स्कूल में पढ़ते थे. बहुत छोटी उम्र से ही मैं ये महसूस करने लगी थी कि मां को घर और हमारी पढ़ाई का ख़र्च उठाने में बहुत मुश्किल होती है इसलिए सातवीं क्लास से मैंने भी काम करना शुरू कर दिया. मैं एक ट्रैवेल एजेंट के यहां फ़ोन रिसीव करने का काम करती थी. इस काम के लिए मुझे पांच सौ रुपए तनख़्वाह मिलती थी. मां को मेरे काम करने से बहुत तकलीफ़ होती थी इसलिए वो अक्सर मुझे काम करने के लिए मना करती थीं. उन्हें डर लगा रहता था कि कहीं काम करने से मेरी पढ़ाई का नुक़सान न हो जाए. स्कूल की छुट्टियां पड़ने पर भी मैं काम किया करती थी. मैंने ट्यूशन लेने से लेकर डोर टु डोर सेल्स गर्ल का काम भी किया है. आई लैंस से लेकर मिक्सर बेचने तक का काम भी किया है. मां के साथ मैंने मोड रिसर्च सेंटर में भी काम किया. मैं छुट्टियों में इतना काम कर लेती थी कि मेरी पढ़ाई का ख़र्च निकल जाए.

क्या बुरा व़क्त इंसान के व्यवहार को बदल देता है?
हां, मेरे साथ ऐसा हुआ है. मेरी पिछली ज़िंदगी (राजा के साथ मनमुटाव और तलाक़ के दौरान) का मेरे व्यवहार पर कुछ समय तक असर ज़रूर पड़ा, उस दौरान मैं काफ़ी चिड़चिड़ी हो गई थी, लेकिन मैंने अपनी पर्सनल लाइफ़ का अपने काम पर असर नहीं पड़ने दिया. मेरी ज़िंदगी के कड़वे अनुभवों ने मुझे बहुत कुछ सिखाया, मुश्किल हालात में जीना और मुश्किलों से बाहर निकलना भी. मेरे ख़्याल से बुरा वक़्त परीक्षा की तरह होता है, जिसे पार करके आपको जीत हासिल होती है.

यह भी पढ़ें: देखें ये रिश्ता क्या कहलाता है के क्यूट कपल कार्तिक और नायरा का रोमांटिक अंदाज़

आपके परिवार का आपकी ज़िंदगी पर क्या असर पड़ा है?
अच्छी-बुरी, चाहे जैसी भी हो, लेकिन ये एहसास ही अपने आप में बहुत बड़ी उपलब्धि होती है कि आपके पास अपनी ़फैमिली है. हम जानते हैं कि ये वो लोग हैं जो हमें बिना किसी स्वार्थ के प्यार करते हैं. इनके प्यार में कोई दिखावा, कोई फरेब नहीं है. इनके लिए न तो हमारी हार-जीत या पैसे मायने रखते हैं और न ही हमारी शक्ल या क़ामयाबी, ये स़िर्फ हमें प्यार करते हैं. परिवार में रहकर ही हम एक-दूसरे से प्यार करना, बड़ों का सम्मान करना सीखते हैं. जो लोग अपने परिवार के साथ रहते हैं वे ख़ुद को सुरक्षित महसूस करते हैं, उनका फ्रस्टेशन लेवल कम होता है, उनकी ग्रोथ ज़्यादा होती है. तनावग्रस्त वही लोग रहते हैं, जिन्हें लगता है कि उनके पास कोई अपना नहीं है.

आप अपनी ज़िंदगी का सबसे ख़ूबसूरत लम्हा किसे मानती हैं?
जब मेरी बेटी का जन्म हुआ और मैंने महसूस किया कि मेरे पेट में से एक प्यारी-सी बच्ची बाहर आई है. जब मैंने उसे पहली बार देखा, तो मैं यकीन ही नहीं कर पा रही थी कि मेरे पेट में इतने दिनों तक इतनी प्यारी बच्ची की रूपरेखा तैयार हो रही थी. सच, औरत के लिए मां बनने से प्यारा एहसास और कोई हो ही नहीं सकता.

अपने फैन्स से कितना प्यार मिलता है आपको?
मैं लकी हूं कि मुझे ऐसे फैन्स मिले हैं, जिन्हें मेरे ऑटोग्राफ़, फोटोग्राफ़ वगैरह से कोई मतलब नहीं, वो बस मुझे गले लगाकर रोने लगते हैं. मेरे चेहरे, हाथ को छूकर देखते हैं. हां, कई बार ़फैन्स को रोक पाना मुश्किल ज़रूर हो जाता है. एक बार मैं एक सोशल इवेंट में रायपुर गई थी. वहां भीड़ इतनी जुट गई थी कि कंट्रोल कर पाना मुश्किल हो गया था और मेरे कपड़े तक फट गए थे. वो वाकया मैं कभी नहीं भूल सकती. इसी तरह बहुत पहले मैंने दिलेर मेहंदी का एक एलबम पैसा-पैसा किया था. उसमें मैंने कैट सूट पहना था. उसी दौरान जुहू (मुंबई) के एक सिग्नल पर मेरी कार के पास एक ज़ैन कार रुकी, जिसमें कुछ औरतें बैठी थीं. उनमें से एक ने मेरी कार के ग्लास को नॉक किया. मैंने सोचा, फैन होगी, कुछ कहना चाहती होगी, लेकिन जैसे ही मैंने ग्लास नीचे किया, उसने मुझे बुरी तरह डांटना शुरू कर दिया. कहने लगी, तुम्हें उस एलबम में इतना छोटा पैंट पहनने की क्या ज़रूरत थी? तुम्हें देखकर मेरी बेटी ने साड़ी पहनना शुरू किया. अब तुम आधा-आधा पैंट पहनोगी तो वो भी ऐसा ही करेगी. मुझे समझ नहीं आ रहा था कि मैं इसे कॉम्प्लिमेंट समझूं या क्रिटिसिज़्म, इस बात से ख़ुश होऊं कि लोग मेरा स्टाइल फॉलो कर रहे हैं या इस बात से दुखी होऊं कि लोग मुझे इसी गेटअप में देखना पसंद करते हैं. कई बार लोगों को समझाना मुश्किल हो जाता है कि हम एक पर्टिक्युलर क़िरदार को जी रहे होते हैं, असल में हम ऐसे नहीं हैं.

यह भी पढ़ें: बालिका वधू की इस एेक्ट्रेस को सास ने भेंट की कई महंगी विदेशी कारें

 

आप किस तरह के आउटफिट पहनना पसंद करती हैं?
मुझे साड़ी और सलवार-कमीज़ पहनना पसंद है, इन्हें पहनकर मुझे ये नहीं सोचना पड़ता कि मैंं कैसी लग रही हूं, क्योंकि मुझे पता होता है कि इनमें मैं अच्छी लगती हूं. हां, रेग्युलर वेयर में मैं जीन्स-टीशर्ट पहनना पसंद करती हूं, क्योंकि इन्हें मेंटेनेंस की ज़रूरत नहीं होती.

आपके बाल बहुत ख़ूबसूरत हैं. इनकी देखभाल कैसे करती हैं आप?
अपने बालों की देखभाल के लिए मैं नानी-दादी के ज़माने का फ़ॉर्मूला इस्तेमाल करती हूं. मैं अपने बालों में ख़ूब तेल लगाती हूं, वो भी बाल धोने के एक-दो घंटे पहले नहीं, बल्कि एक रात पहले. मेरे ख़्याल से बालों के लिए तेल से अच्छी खुराक और कोई हो ही नहीं सकती. इससे बाल नहीं झड़ते, डैंड्रफ़ नहीं होता, बाल सॉफ़्ट और हेल्दी बने रहते हैं.

बालों की बात तो हो गई, अब हमें अपनी ख़ूबसूरती का राज़ भी बता दीजिए.
शूटिंग पर मेकअप के अलावा मैं अपनी त्वचा के लिए अलग से कुछ नहीं करती. हां, मैंने सुना है कि पानी त्वचा को यंग और हेल्दी बनाए रखता है, इससे त्वचा रूखी नहीं होती, जिससे झुर्रियां नहीं पड़तीं इसलिए मैं ख़ूब पानी पीती हूं.

आपको किस तरह का खाना पसंद है?
मुझे सिंपल खाना पसंद है. दाल-चावल मेरा फेवरिट है. मैं बहुत अच्छी दाल बना भी लेती हूं.

यह भी पढ़ें: जानिए आख़िर रित्विक धनजानी कब करेंगे आशा नेगी से शादी?


कोई ऐसा झूठ जिसे आपने अब तक झुपा रखा है?

मां को पता चलेगा कि मैंने नॉनवेज खाना शुरू कर दिया है तो मुझे मार डालेंगी. मैं चिकन बहुत अच्छा बना लेती हूं. मेरी बेटी को मेरे हाथों से बना ऑमलेट, भुर्जी, एग पकौड़ा, एग करी आदि बहुत पसंद है.

क्या शॉपिंग की कितनी दीवानी हैं आप?
मैं जब अपसेट होती हूं तो शॉपिंग करती हूं. हालांकि शॉपिंग मेरा एडिक्शन नहीं है, लेकिन जब भी अपसेट होती हूं तो शॉपिंग करने निकल जाती हूं. इससे मुझे बहुत ख़ुशी मिलती है.

क्या किसी चीज़ की लत है आपको?
हां, सुबह की चाय मेरा एडिक्शन है. सुबह की चाय न मिले तो मेरा पूरा दिन ख़राब जाता है.

ऐसी कौन-सी चीज़ है जिसे पाकर आपको बहुत ख़ुशी हुई?
जब मैं छोटी थी तो किसी ज्योतिषी ने कहा था कि इसे थ्री कैरेट डायमंड पहनना चाहिए. तब मेरे लिए उसे ख़रीदना आसान नहीं था, लेकिन पांच-छह साल पहले जब मैंने यह ख़रीदा, तो मुझे एक तरह से जीत का एहसास हो रहा था कि आख़िरकार मैंने थ्री कैरेट डायमंड पा ही लिया. मैंने कभी सोचा नहीं था कि ज़िंदगी मुझे इतना आगे ले जाएगी, लेकिन मुझे सब कुछ आसानी से नहीं मिला है इसलिए मैं चीज़ों की क़द्र करना जानती हूं. मैं ये मानती हूं कि अगर हम बहुत मेहनत करें, तो अपनी क़िस्मत बदल सकते हैं. मैं भाग्य को मानती हूं, लेकिन क़िस्मत के भरोसे भी नहीं बैठी रहती.

– कमला बडोनी

[amazon_link asins=’B078KG11TT,B078JT3KJ8,B078V6JPN6,B078JH171Y’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’fa452915-01cd-11e8-ae5e-95b2de7f391c’]

भारती ने शेयर की हर्ष के साथ हनीमून और क्रिसमस सेलिब्रेशन की रोमांटिक पिक्चर (Bharti Shares Romantic Pictures With Hubby Haarsh)

Bharti Singh, Romantic Pictures, Haarsh

Bharti Singh, Romantic Pictures, Haarsh

भारती ने शेयर की हर्ष के साथ हनीमून और क्रिसमस सेलिब्रेशन की रोमांटिक पिक्चर (Bharti Shares Romantic Pictures With Hubby Haarsh)

  • कमेडियन भारती सिंह (Bharti Singh) की हाल ही में शादी हुई है और उसके बाद अब वो चल पड़ी हैं अपने हनीमून (Honeymoon) पर.
  • जी हां, शादी के बाद भारती के वर्क कमिटमेंट्स को लेकर उन्हें अपना हनीमून पोस्टपोन करना पड़ा और अब वो बेहद ख़ुश हैं कि आख़िर वो हर्ष के साथ हनीमून पर हैं, वो भी पूरे 1 महीने के लिए.
  • जी हां, बिल्कुल सही पढ़ा आपने. भारती और हर्ष इस दौरान कई जगहों की सैर करेंगे, जिसकी शुरुआत उन्होंने की है दुबई (Dubai) से और उसके बाद वो करेंगे यूरोप (Europe) की सैर.
  • भारती ने पहले ही कहा था कि इस दौरान वो कोई भी फोन कॉल्स रिसीव नहीं करेंगे. भारती ने हर्ष के साथ अपनी रोमांटिक पिक्चर्स सोशल मीडिया पर शेयर की… साथ ही बेहद प्यारा और रोमांटिक मैसेज भी डाला

यह भी पढ़ें: Star Kids: तैमूर चले क्रिसमस मनाने, बहन इनाया की क्यूट पिक 

[amazon_link asins=’B077BYDWTZ,0143418769,8192222667,9382665544′ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’5b7c5b61-e963-11e7-8eda-a7bf2e3997f9′]

Exclusive Interview: शांतनु माहेश्वरी का ये नया रोल आपको बहुत पसंद आएगा (Exclusive Interview: Are You Curious To Know KKK Winner Shantanu Maheshwari New Role?)

Exclusive Interview, KKK Winner, Shantanu Maheshwari

हाल ही में एक से बढ़कर एक स्टंट करके खतरों के खिलाड़ी सीज़न 8 (Khatron Ke Khiladi 8) जीतने वाले शांतनु माहेश्‍वरी (Shantanu Maheshwari) को अब बच्चों का साथ लुभा रहा है. जी हां, बहुत जल्दी आप शांतनु माहेश्‍वरी को एक कार्टून कैरेक्ट में देखेंगे. इन दिनों शांतनु माहेश्वरी एम टीवी के न्यू शो लव ऑन द रन (Love On The Run) के होस्ट के रूप में भी टेलीविज़न पर नज़र आ रहे हैं. शांतनु के इस न्यू लुक और नए किरदार के बारे में आइए, शांतनु से ही जानते हैं.

Exclusive Interview, KKK Winner, Shantanu Maheshwari

आप पहली बार कार्टून कैरेक्टर प्ले कर रहे हैं. कैसा लग रहा है ये अनुभव?
सच में बहुत मज़ा आ रहा है. कार्टून कैरेक्टर प्ले करना, डांस करना… मेरे लिए ये एक्सपीरियंस बहुत अलग है. मुझे ये सब करने में बहुत मज़ा आ रहा है. मेरा ये न्यू लुक आप निकलोडियन चैनल पर गट्टू-बटूटू शो में देख सकेंगे. मैं गट्टू का रोल प्ले कर रहा हूं और मेरे साथ बट्टू का रोल योगेश प्ले कर रहे हैं. अब हम सब मिलकर परफॉर्म करेंगे और बच्चों को खूब एंटरटेन करेंगे.

बचपन में अपके फेवरेट कार्टून कैरेक्टर कौन-से थे?
बचपन में मेरे फेवरेट कार्टून कैरेक्टर टॉम एंड जेरी थे. मैं ये कार्टून शो बहुत देखता था. दरअसल, मैं उन्हें ख़ुद से कनेक्ट कर पाता हूं. मैं भी टॉम एंड जेरी की तरह भागता रहता हूं और किसी न किसी को पकड़ता रहता हूं. आजकल मुझे मोटू-पतलू कार्टून कैरेक्टर अच्छे लगते हैं. और हां, जिनका रोल मैं प्ले करूंगा गट्टू-बट्टू, वो भी मुझे बहुत पसंद हैं.

क्या आपको बच्चों का साथ अच्छा लगता है?
हां, मुझे बच्चों की कंपनी बहुत पसंद है, ख़ासकर जब बच्चे झुंड में होते हैं. उस समय उनके साथ ज़्यादा मज़ा आता है. उस समय वो सब अलग-अलग हरकतें करते रहते हैं, शैतानियां करते रहते हैं, जिसे देखना बहुत अच्छा लगता है. मुझे बच्चों को हंसाना और कभी-कभी उन्हें डराना भी अच्छा लगता है.

क्या आप भी बचपन में शरारती थे?
मैं आपको अपनी एक अजीब आदत के बारे में बताता हूं. बचपन में मुझमें एक बड़ी अजीब आदत थी. मैं मम्मी-पापा को घर से कोई भी चीज़ फेंकने ही नहीं देता था. वो जो भी चीज़ें डस्टबिन में फेंकते थे, मैं उन्हें उठा लेता था और उनसे कुछ न कुछ नया बना देता था, जैसे- कभी तराजू बना लिया, कभी कैमरा बना लिया… आज ये सब याद करता हूं तो बहुत हंसी आती है, लेकिन उस व़क्त मुझे ये सब करने में बहुत मज़ा आता था.

अपने फैन्स से आपको किस तरह के कॉम्प्लिमेंट्स मिलते हैं?
लोग कहते हैं कि मैं बॉय नेक्स्ट डोर लगता हूं, उन्हें लगता है कि मैं उनके घर का ही बच्चा हूं, उन्हें लगता है जैसे वो मुझे पहले से जानते हैं… मेरे फैन्स जब मुझे इस तरह के कॉम्प्लिमेंट्स देते हैं, तो मुझे बहुत अच्छा लगता है. वो मुझे स्वीट, क्यूट… जाने क्या-क्या कहते हैं. हां, लड़कियां जब अपने प्यार का इज़हार करती हैं, तो थोड़ा अजीब ज़रूर लगता है. दरअसल, लोग हमें टेलीविज़न पर रोज़ देखते हैं इसलिए वो हमारे कैरेक्टर से कनेक्ट हो जाते हैं. वो हमें बहुत प्यार देते हैं. मैं जब भी कहीं जाता हूं और लड़कियां मुझसे पहली बार मिलने पर अपने प्यार का इज़हार करने लगती हैं, तो मुझे ख़ुशी होती है, लेकिन मैं थोड़ा एम्बेरेस (असहज) भी हो जाता हूं. इस सिचुएशन में मुझे समझ नहीं आता कि कैसे रिएक्ट करूं.

यह भी देखें: देखें Pics: बच्चों के साथ श्वेता तिवारी पहुंचीं वैष्णों देवी

Exclusive Interview, KKK Winner, Shantanu Maheshwari

क्या आपने सोचा था कि आप खतरों के खिलाड़ी सीज़न 8 (Khatron Ke Khiladi 8) जीत जाएंगे?
मैंने खतरों के खिलाड़ी सीज़न 8 में ये सोचकर हिस्सा नहीं लिया था कि मैं जीतूंगा ही. हां, मैंने ये ज़रूर सोचा था कि मैं अपना बेस्ट करूंगा. मैं जानता था कि खतरों के खिलाड़ी शो में मुझे बहुत सारे खतरों को फेस करना है, लेकिन मैं इसके लिए मेंटली तैयार था. खतरों के खिलाड़ी में हिस्सा लेना मेरे लिए स्पेन घूमने का मौका था, लोगों से मिलने का मौका था, अलग-अलग स्टंट करने का मौका था… इन सबका एक्सपीरियंस बहुत अच्छा था. मैं फ्लो के साथ आगे बढ़ता चला गया और जीत भी गया. खतरों के खिलाड़ी सीज़न 8 मेरे लिए एक बड़ा अचीवमेंट है.

खतरों के खिलाड़ी 8 (Khatron Ke Khiladi 8) शो के दौरान कौन-से स्टंट्स आपके लिए चैलेंजिंग थे?
मुझे चिकन वाला स्टंट बिल्कुल अच्छा नहीं लगा. और हां, पानी वाला टास्क भी मेरे लिए मुश्किल था. मैं अच्छा स्विमर नहीं हूं इसलिए उसे करने में मुझे बहुत तकलीफ़ हुई.

शांतनु माहेश्‍वरी और डांस को कैसे डिसक्राइब करेंगे?
मैं डांस के लिए इतना ही कह सकता हूं कि डांस के बिना शांतनु माहेश्‍वरी जी नहीं सकता.

आपको डांस का शौक कब हुआ?
मेरी मां को डांस का बहुत शौक था, लेकिन उन्हें उनके बचपन में डांस करने का मौका नहीं दिया गया, इसलिए वो चाहती थीं कि उनके बच्चों में ये टैलेंट हो. तो बस, उनके इस बच्चे में डांस का टैलेंट आ गया. मेरे डांस में मेरी मां बहुत बड़ा योगदान है, मां ने हमेशा मेरे डांस को बढ़ावा देने की हर मुमकिन कोशिश की है.

क्या आप सिंगल चाइल्ड हैं?
(हंसते हुए) नहीं, मैं ड्वेल चाइल्ड हूं. हम दो भाई हैं. हम ज्वाइन फैमिली में रहते हैं, इसलिए एक और भैया भी हैं, मैं घर में सबसे छोटा था इसलिए इन सबके काम मैं ही किया करता था. (हंसते हुए) जैसे ऑफिस में रनर बॉय होता है ना, बस समझ लीजिए मैं अपने घर का रनर बॉय ही था. ख़ास बात ये है कि हम सब में बहुत अच्छी बॉन्डिंग है.

यह भी देखें: दया बेन बनीं मां, बेटी को दिया जन्म

Exclusive Interview, KKK Winner, Shantanu Maheshwari

क्या आपको बचपन में कभी मार पड़ी है?
मैंने बचपन में शैतानियां बहुत की हैं इसलिए घर में सबसे ज़्यादा मार भी मुझे ही पड़ी है और मैं घर का सबसे छोटा बेटा था, इसलिए सबसे ज़्यादा प्यार भी मुझे ही मिला है.

क्या आपको गुस्सा आता है?
हां, मुझे गुस्सा तो बहुत आता है, लेकिन मैं अपने गुस्से को कंट्रोल कर लेता हूं. लेकिन जब कोई झूठ बोलता है, तब मैं अपना गुस्सा कंट्रोल नहीं कर पाता.

ऐसी कौन-सी चीज़ है जो आपको अपनी पर्सनैलिटी में सबसे अच्छी लगती है?
मैं बहुत मेहनती हूं और अपना हर काम पूरी मेहनत और लगन से करता हूं.

आपकी पर्सनैलिटी की बुरी बात क्या है?
मैं बहुत ज़्यादा इमोशनल हूं, इतना ज़्यादा सेंसिटिव होना शायद ठीक नहीं है.

क्या आप कभी झूठ बोलते हैं?
वैसे तो मैं झूठ नहीं बोलता, लेकिन छोटे-मोटे झूठ बोल लेता हूं, जैसे- भले ही मुझे पहुंचने में एक घंटा लगने वाला हो, लेकिन मैं कह देता हूं, बस पहुंचने ही वाला हूं.

– कमला बडोनी

यह भी देखें: Pics: ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’ के नैतिक के बेटे का हुआ अन्नप्राशन

[amazon_link asins=’B0777J1P3M,B01LWTDKY3,B017NU6LZM’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’c997892c-e582-11e7-84fe-b9f93d719a2b’]