Tag Archives: celebrity

DeepVeerkiShadi: वेलकम होम- दीपवीर घर पहुंचे… (Welcome Home: Deepika Padukone And Ranveer Singh Return to Mumbai.. See Pics… )

Deepika Padukone And Ranveer Singh
आखिरकार इटली में 14-15 नवंबर को शादी करके आज सुबह दीपिका पादुकोण और रणवीर सिंह मुंबई पहुंच गए. उनका स्वागत मुंबई एयरपोर्ट पर पूरे जोश व उत्साह के साथ हुआ. न्यूली कपल काफ़ी ख़ूबसूरत व प्यारे लग रहे थे. पति रणवीर के साथ दीपिका एयरपोर्ट से ससुराल चली. विवाहित जोड़ा बहुत खुश था. दोनों ने मीडिया और अपने प्रशंसकों के स्वागत का तहेदिल से शुक्रिया अदा किया. एयरपोर्ट पर भीड़ से दीपिका को बचाते हुए रणवीर एक परफेक्ट पति और बॉडीगार्ड के रूप में नज़र आ रहे थे. दीपवीर दोनों ही बेहद खुश थे. नए रिश्ते की रंगत दोनों के चेहरे पर खिल रही थ. उन्होंने अपने प्रशंसकों और सभी चाहनेवालों का हाथ हिलाते हुए अभिनंदन स्वीकार किया और सभी को इन यादगार लम्हों को कैमरे में कैद करने के लिए. हंसते-मुस्कुराते हुए पोज़ भी दिए.
अब दीपिका पादुकोण सिंह भवनानी नए रिश्ते, नए सफ़र की ओर चल पड़ी हैं. ससुराल में गृहप्रवेश करते हुए सभी ने नई बहू का खुलकर स्वागत किया. दीपिका-रणवीर को शादी मुबारक हो! बधाई हो!.. उनका वैवाहिक जीवन खुशहाल बीते यही हम दुआ करते हैं. अब 21 नवंबर को बेंगलूरू और 28 नवंबर को मुंबई में रि‍सेप्शन होनेवाला है. शादी के बाद मुंबई पहुंचे हैप्पी कपल कि खूबसूरत तस्वीरों पर एक नजर डालते हैं-

Deepika Padukone And Ranveer Singh

Deepika Padukone And Ranveer Singh Deepika Padukone And Ranveer Singh Deepika And Ranveer Deepika And Ranveer Deepika And Ranveer Deepika And Ranveer Deepika And Ranveer Deepika And Ranveer Deepika

Deepika And Ranveer

 

जानें किसकी दुल्हन बनेंगी साइना?… (Find Out Who Saina Is Getting Married T0!)

बधाई हो, बैडमिंटन स्टार साइना नेहवाल (Saina Nehwal) शादी (Wedding) के बंधन में बंध रही हैं. वे अपने साथी खिलाड़ी पी. कश्यप (P. Kashyap) के साथ 16 दिसंबर को शादी कर रही हैं. शादी सिंपल व निजी तरी़के से होगी, पर 21 दिसंबर को ग्रैंड रिसेप्शन भी रखा जाएगा. दोनों के परिवारवालों ने इस रिश्ते के लिए हामी भर दी है और बेहद ख़ुश भी हैं.

 

साइना का सफ़र…

* साइना और परुपल्ली कश्यप दोनों ही हैदराबाद के हैं.

* साल 2005 में पुलेला गोपीचंद बैडमिंटन अकादमी में ट्रेनिंग के दौरान दोनों की मुलाक़ात हुई.

* खेल में कश्यप साइना को हमेशा अपना पार्टनर बनाते रहे हैं.

* खेल के अलावा दोनों अक्सर कई मौक़ों पर साथ-साथ देख गए. अभी हाल ही में 8 सितंबर को कश्यप के जन्मदिन पर दोनों ने साथ बिताए लम्होंं को साइना ने अपने सोशल मीडिया पर शेयर किया था.

* बैडमिंटन की नंबर वन प्लेयर रह चुकी साइना फ़िलहाल वर्ल्ड रैंकिंग में दसवें नंबर पर हैं.

* साइना ओलिंपिक में कांस्य पदक के अलावा विश्‍व कप चैंपियनशिप की उपविजेता भी रही हैं और अब तक बीस से भी अधिक पदक अपने नाम कर चुकी हैं.

* पी. कश्यप ने साल 2014 में कॉमनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक जीता था. कभी वे छठे नंबर के प्लेयर हुआ करते थे, पर अपनी इंजरी के चलते फ़िलहाल वर्तमान में 57 रैंकिंग पर हैं.

* 28 की शाइना और 32 साल के हुए कश्यप दोनों की जोड़ंी एक परफेक्ट कपल से कम नहीं है.

* साइना की बायोपीक पर फिल्म भी बन रही है, जिसमें श्रद्धा कपूर उनकी भूमिका निभा रही हैं.

* श्रद्धा कपूर इस रोल के लिए कड़ी मेहनत कर रही हैं.

* बैडमिंटन की बारीक़ियां सीखने के साथ-साथ वे साइना के घर पर भी गई थीं.

* बकौल श्रद्धा साइना की मां उषा ने उन्हें पूरी-छोले, खीर, हलवा, फ्रूट मिल्क जूस आदि एक से एक व्यंजन बड़े ही प्यार से खिलाया.

* साइना के रोल के लिए श्रद्धा साइना के घर-परिवार, ट्रेनिंग सेंटर अन्य सभी छोटी-छोटी चीज़ों का गहराई से अध्ययन कर रही हैं.

* भूषण कुमार निर्मित और अमोल गुप्ते के निर्देशन में बन रही साइना की इस फिल्म की शूटिंग के समय साइना नेहवाल के माता-पिता डॉ. हरवीर सिंह और उषा भी शामिल हुई थीं. उन्होंने श्रद्धा कपूर को बधाई और शुभकामनाएं भी दीं.

*  बकौल साइना के उन्होंने अमोलजी को कहा था कि जब तक श्रद्धा उनकी तरह बैडमिंटन खेलना अच्छी तरह से सीख नहीं जाती, तब तक फिल्म की शूटिंग न करें.

* श्रद्धा ने इसके लिए साइना के कोच पी. गोपीचंद, प्रवीण नायर और साइना से भी बाकायदा ट्रेनिंग ली.

यह भी पढ़े: Oh No: शादीशुदा हैं ये 10 मशहूर सेलेब्रिटीज़ (These Celebrities Are Married And We Didn’t Know)

 

देखें प्रियंका-निक की एंगेजमेंट पार्टी पिक्स, प्रियंका ने किया डांस, तो निक ने बनाया वीडियो (Priyanka Chopra-Nick Jonas Engagement Party Pics)

Priyanka Chopra And Nick Jonas

बॉलीवुड की देसी प्रियंका चोपड़ा ने आख़िर अपना हमसफ़र चुन ही लिया. 18 अगस्त को उन्होंने अमेरिकी सिंगर निक जोनस से रोका किया और शाम को दोस्तों और क़रीबियों के लिए एंगेजमेंट सेलिब्रेशन भी रहा. पार्टी में प्रियंका और निक लुक काफ़ी सिंपल रहा, पर उनकी चेहरे की चमक और और वो ख़ुशी जो उन दोनों की आंखों में थी, अनमोल है. पार्टी के पिक्स शेयर करके उन्होंने अपने फैन्स को भी ख़ुश कर दिया. एंगेजमेंट पार्टी में कैसा रहा प्रियंका और निक का लुक आइए फोटोज़ में देखें.

Priyanka Chopra With Nick Jonas And Family

निक जोनस के पैरेंट्स और ऑफकोर्स फ्यूचर मिसेज़ निक जोनस

Priyanka Chopra And Nick Jonas

प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस की एंगेजमेंट पार्टी काफ़ी सिंपल और सोबर रही. पार्टी में परिवार के अलावा कुछ ख़ास दोस्त ही शामिल हुए. पार्टी का मज़ा तब दुगुना हो गया, जब प्रियंका ने डांस किया.

पार्टी में उनकी बहन परिणीति चोपड़ा के अलावा आलिया भट्ट, सलमान ख़ान की बहन अर्पिता खान शर्मा, आयुष शर्मा, संजय लीला भंसाली, अनुषा दांडेकर, सिद्धार्थ रॉय कपूर जैसी हस्तियों के अलावा मुकेश अंबानी अपनी पत्नी नीता अंबानी और बेटी ईशा अंबानी के साथ पार्टी में शामिल हुए.

Priyanka Chopra And Nick Jonas Engagement

Aliya Bhatt Ambani's at Priyanka Chopra' Engagement Nick Jonas With Mom

– अनीता सिंह

यह भी पढ़ें: निक और प्रियंका के रोके की पिक्स (Priyanka Chopra, Nick Jonas Engaged, See Pics From Their Roka)

कार्डिएक अरेस्ट नहीं, क्या बाथ टब में डूबने से हुई श्रीदेवी की मौत? पार्थिव शरीर भारत आने में होगी देर (Sridevi died of accidental drowning)

Sridevi died of accidental drowning

Sridevi died of accidental drowning

कार्डिएक अरेस्ट नहीं, बाथ टब में डूबने से हुई मौत,पार्थिव शरीर भारत आने में होगी देर (Sridevi died of accidental drowning)
दुबई में हुए पोस्टमार्टम की रिपोर्ट के मुताबिक़ श्रीदेवी की मौत की वजह ऐक्सिडेंटल ड्राउनिंग यानी दुर्घटनावश पानी में डूबना है. रिपोर्ट के मुताबिक़ श्री के शरीर में शराब के भी अंश पाए गए!


श्रीदेवी का पार्थिव शरीर अब मंगलवार तक भारत आने की उम्मीद है. दुबई पुलिस शायद बोनी कपूर का भी बयान दर्ज करे.

 

शादी के बाद बदल गई हैं भारती, देखें उनका न्यू अवतार! (Bharti Singh In New Avtar)

Bharti Singh In New Avtar
शादी के साइड इफेक्ट्स या यूं कहें कि आफ्टर इफेक्ट्स साफतौर पर भारती (Bharti Singh) पर नज़र आ रहे हैं, तभी तो वो लग रही हैं इतनी बदली-बदली और बेहद ख़ूबसूरत. भारती के ये ग्लैमरस पिक्चर्स (Pictures) देखकर आप भी रह जायेंगे दंग. भारती ने काफी वज़न भी घटाया है (Weightloss), जो साफ़ नज़र भी आ रहा है. 

यह भी पढ़ें: विराट ने जीत का श्रेय अनुष्का को दिया

[amazon_link asins=’935033674X,0743201256,B0749KPX5L’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’bef76223-13d7-11e8-9fb5-b392652b422a’]

हेमा मालिनी… मां बनना औरत के लिए फख़्र की बात होती है (Hema Malini… Being A Mother Is A Gift)

Being A Mother Is A Gift Hema Malini

बहुत-से अनछुए एहसास पलने लगते हैं आंखों में… कुछ रेशमी ख़्वाब पलकों पर उतरने लगते हैं, कुछ शबनमी बूंदें दिल को भिगोने लगती हैं… एक मासूम-सी खिलखिलाहट न जाने कितने अरमान, कितनी ख़्वाहिशें जगा जाती हैं और मन बार-बार यही कहता है कि हां, ये  नन्हीं-सी जान ही मेरी पूरी दुनिया है… मेरा अक्स है… मेरे वजूद का हिस्सा है… एक औरत जब मातृत्व को महसूस करती है, तो उसके लिए बहुत कुछ बदल जाता है… और वो इस बदलाव को लेकर बेहद उत्साहित भी रहती है… लेकिन कहीं न कहीं आज भी हमारे समाज की सोच उन बेड़ियों की जकड़न से ख़ुद को छुड़ा नहीं पाई है, जिसमें एक स्त्री को मात्र उसके जिस्म से ही पहचाना जाता है और उसके मां बनने को उसके सपनों को त्यागने का कारण समझा जाता है.

Being A Mother Is A Gift Hema Malini
जब एक स्त्री मां बनती है, तो उसे पल-पल यह एहसास करवाया जाता है कि अब तुम्हें बच्चे और करियर में से किसी एक को ही चुनना होगा, क्योंकि करियर पर ध्यान दोगी, तो तुम अच्छी मां नहीं बन पाओगी और यदि घर को तवज्जो दोगी, तो करियर के साथ नाइंसाफ़ी होगी… ऐसे में आज की अधिकतर कामकाजी महिलाएं मन में एक अपराधबोध के साथ जीती हैं कि वो चाहकर भी एक अच्छी मां नहीं बन पा रहीं… या कहीं वो अपने बच्चे के साथ नाइंसाफ़ी तो नहीं कर रहीं… इसी वजह से कई महिलाएं अपना करियर, अपने ख़्वाबों को मन के किसी कोने में दफ़न कर देती हैं… लेकिन अगर मैं बात करूं अपने अनुभव की, तो हर स्त्री अपने ख़्वाबों को जीते हुए भी मातृत्व के ख़ूबसूरत एहसास को भी जी सकती है… बस, ज़रूरत होती है, तो थोड़े-से बदलाव की और थोड़ी प्लानिंग की… अपनी सोच को समय व ज़रूरत के अनुसार बदलकर देखें, तो आप सब कुछ पा सकते हैं.
क्या ज़रूरी है… क्या ग़ैरज़रूरी? हमारी प्राथमिकताएं क्या हैं? हमारी फ़िलहाल की ज़रूरतें क्या हैं… यह ख़ुद हमें ही तय करना है, लेकिन हमारे समाज में अक्सर हमारे लिए ये तमाम पहलू ‘दूसरे’ तय करते नज़र आते हैं. लेकिन हक़ीक़त तो यही है कि हमारी ज़रूरतें, हमारी वर्तमान की प्राथमिकताएं भला हमसे बेहतर कोई और कैसे जान पाएगा? यह हमें ही तय करना होगा कि हमें ज़िंदगी के किस पड़ाव पर किस बात को कितनी अहमियत देनी है और किसे कुछ समय के लिए अपनी प्राथमिकताओं की फेहरिस्त में थोड़ा-सा पीछे करना है.
कुछ व़क्त पहले मैंने एक तस्वीर देखी थी, जिसमें डचेस ऑफ केम्ब्रिज केट मिडलटन अपने पति विलियम और अपने न्यूबॉर्न बेबी के साथ खिलखिलाती व बेहद ख़ूबसूरत नज़र आ रही थीं. केट के चेहरे पर मातृत्व की ख़ुशी साफ़-साफ़ झलक रही थी. लेकिन बेहद दुख की बात यह रही कि इन तमाम सकारात्मक बातों को छोड़कर अख़बारों व ख़बरों की सुर्ख़ियां बटोरीं केट के मां बनने के बाद हुए शारीरिक बदलावों ने… बहुत कुछ इस बात को लेकर कहा व लिखा गया कि आख़िर केट ने अपने मम्मी टम्मी को छिपाने की कोशिश क्यों नहीं की…
यह विडंबना ही है कि आख़िर एक स्त्री के मातृत्व को ये समाज क्यों नहीं सहजता से ले पाता? और अगर वो स्त्री कोई सेलिब्रिटी है, तो हर कोई उस पर तंज कसना अपना अधिकार समझ लेता है.
दरअसल, ऐसा ही कुछ ऐश्‍वर्या राय के बारे में भी कहा गया था. मां बनने के बाद उनके बढ़े हुए वज़न को लेकर काफ़ी चर्चा की लोगों ने और यही नहीं और भी बहुत कुछ कहा गया कि किस तरह से सेलिब्रिटीज़ को अपने मातृत्व का ख़ामियाज़ा चुकाना पड़ता है.

यह भी पढ़ें: हेमा मालिनी… हां, सपने पूरे होते हैं…! देखें वीडियो

Being A Mother Is A Gift Hema Malini
यह सोच ही दरअसल ज़िम्मेदार है, किसी भी स्त्री के मन में बेवजह अपराधबोध की भावनाओं के बीज बोने के लिए. उसे न जाने क्यों कटघरे में खड़ा कर दिया जाता है… क्या मां बनना अपराध है? क्या सेलिब्रिटी होना गुनाह है? मां बनने के बाद क्यों ये मान लिया जाता है कि अब करियर ख़त्म हो गया? क्यों हर व़क्त उस स्त्री के शरीर व उसमें हुए बदलावों पर ताने कसे जाते हैं? मां बनना किसी भी स्त्री के लिए प्रकृति की सबसे ख़ूबसूरत कृति है… उसके बाद शरीर और मन दोनों बदलता है, तो इसमें ग़लत क्या है… क्यों नहीं किसी भी स्त्री को इस अनोखे एहसास के साथ जीने दिया जाता? क्यों बेवजह सवालों की बौछार उस पर कर दी जाती है… उसे कम से कम अपने मातृत्व के अनोखे पलों को शिद्दत से महसूस तो करने दो… व़क्त के साथ सारे सवाल हल हो जाएंगे… वो ख़ुद तय करेगी कि उसे आगे कब, कैसे और क्या करना है…
सालों पहले जब मेरी बड़ी बेटी ईशा का जन्म हुआ था, तब सबसे पहले मुझसे भी यही पूछा गया था कि क्या मैं अब अपने करियर को प्राथमिकता नहीं दूंगी? क्योंकि हमारे समाज में यही मान्यता है कि मां बनने का अर्थ है आपको अपने सपनों से, अपनी रचनात्मकता और अपनी ख़्वाहिशों से समझौता करना पड़ेगा!
मैंने ख़ुशी-ख़ुशी मातृत्व को चुना, क्योंकि उस व़क्त मेरी प्राथमिकता वही थी. मैं यह जानती थी कि कुछ समय के लिए मुझे अपने काम से ब्रेक लेना ही होगा, और वैसे भी यह मेरी चॉइस थी और मैंने अपनी ख़ुशी से अपने मातृत्व को स्वीकारा था. वैसे भी मैं जो भी करती हूं, उसमें अपना शत-प्रतिशत देती हूं, चाहे वो करियर हो या फिर परिवार. मैं उस समय मां बनने के उस एहसास को पूरी तरह से जीना चाहती थी. मेरे लिए यह बात कोई मायने नहीं रखती थी कि मैं लंबे समय के लिए स्पॉटलाइट में नहीं रहूंगी, क्योंकि मेरे ज़ेहन में कभी यह बात नहीं आई कि मेरा करियर और मेरा मातृत्व एक-दूसरे के ख़िलाफ़ हैं. मैं पूरी तरह से आश्‍वस्त थी कि जब समय व हालात सही होंगे, तो मैं अपने काम पर दोबारा ज़रूर लौटूंगी, मुझे कुछ सामंजस्य बैठाने होंगे, कुछ एडजेस्टमेंट्स करने होंगे और वो मैं ज़रूर करूंगी.

यह भी पढ़ें: हेमा मालिनी… मेरी ख़ूबसूरती का राज़… देखें वीडियो 

[amazon_link asins=’B0761TM3K5,B0761SQ8ZD,B074L236VX’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’60528504-b3e6-11e7-8b55-c9876da23d9b’]

Being A Mother Is A Gift Hema Malini
मैं ही क्या, किसी भी औरत के लिए अपने बच्चे से ज़रूरी कुछ नहीं होता. मेरे लिए मां बनना एक सपने के पूरे होने जैसा था, इसलिए मैंने अपना पूरा ध्यान अपनी बेटियों की परवरिश पर लगा दिया. बच्चों को मां की ज़रूरत ज़्यादा होती है, मां की कमी को कोई पूरा नहीं कर सकता, इसलिए मां को अपना अधिक से अधिक समय अपने बच्चे को देना चाहिए. जब मेरी बेटियां छोटी थीं और मुझे शूटिंग पर जाना पड़ता था, वो मुझे जाने नहीं देती थीं. मुझे भी उन्हें छोड़कर जाना अच्छा नहीं लगता था. फिर मैं कार में बेटी को राउंड पर ले जाती थी और जब वो सो जाती थी, तब मैं चुपके से शूटिंग के लिए निकल जाती थी.
अपनी बेटियों का बचपन अब मैं अपने नवासे में देखती हूं. हम सब चाहे उसे कितना ही प्यार दे दें, लेकिन उसे अपनी मां अपने पास ही चाहिए. मां बच्चे की सबसे बड़ी ज़रूरत होती है और औरत के लिए भी मां बनना सम्मान की बात होती है. मैं ख़ुशक़िस्मत थी कि मैं किसी भुलावे में या भ्रम में नहीं जी रही थी कि मैं चाहूं, तो सब कुछ एक साथ ही हासिल कर सकती हूं. मैं इस तथ्य से पूरी तरह वाक़िफ़ थी समय के साथ-साथ आपकी ज़रूरतें व ङ्गसब कुछफ की परिभाषा बदल जाती है. आपकी सोच अधिक परिपक्व व केंद्रित हो जाती है. आप यह तय कर पाते हो कि अभी आपको क्या चाहिए और भविष्य में आप किस तरह से अपनी प्राथमिकताएं बदल पाओगे. वर्तमान में जो चीज़ें आपके लिए गौण हो चुकी हैं, उन्हें आप आसानी से पहचान पाते हो, ऐसे में तमाम ग़ैरज़रूरी बातों और चीज़ों को आप पीछे छोड़कर आगे बढ़ सकते हो. ऐसे में आप अपनी नई भूमिकाओं और ज़रूरतों के अनुसार आसानी से अपनी राह चुन सकते हो.
मैंने अपने अनुभवों से यही सीखा है कि उन तमाम नकारात्मक लोगों को नज़रअंदाज़ करें, जो आपके मातृत्व के चुनाव को निराशाजनक कहते हैं या फिर यह मानते हैं कि आपने मातृत्व को अपनी ज़िंदगी में सबसे अधिक अहमियत देकर अपने करियर को नज़रअंदाज़ किया है, जिससे आप करियर के प्रति उतने समर्पित नहीं रह पाते, जितने पहले थे. मैंने यही पाया है कि मेरी ज़िंदगी में सबकी अपनी-अपनी जगह व अहमियत है. न किसी की अहमियत कम होती है, न ही ज़्यादा. मेरा यही कहना है कि आप सब कुछ ज़रूर पा सकते हो, लेकिन ज़ाहिर है कि एक ही समय पर सब कुछ नहीं.

यह भी पढ़ें: हेमा मालिनी …और मुझे मोहब्बत हो गई… देखें वीडियो

[amazon_link asins=’B075JH2QDW,B01NBLO7O4,B01G1NRO1W’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’e22c063c-b3e8-11e7-b195-7fd574539ddc’]

ड्रीमगर्ल हेमा मालिनी प्रस्तुत कर रही हैं डांस का अनोखा इवेंट- सिनर्जी फेस्टिवल… देखें वीडियो (Dream Girl Hema Malini Present Synergy Festival..! Watch Video)

ड्रीमगर्ल, हेमा मालिनी, डांस, इवेंट,सिनर्जी फेस्टिवल, वीडियो, Dream Girl. Hema Malini. Synergy Festival, Video

मशहूर अभिनेत्री और जानी-मानी भरतनाट्यम परफॉर्मर हेमा मालिनी हर साल की तरह इस साल भी ‘जया स्मृति’ इवेंट को ख़ास बनाने के लिए कुछ नया करने जा रही हैं. इस बार हेमाजी जॉर्जियन कलाकारों के सहयोग से जॉर्जियन नेशनल बैले ‘सुखीश्‍विली’ को भारत में प्रदर्शित करने जा रही हैं. इस इंटरनेशनल कल्चरल इवेंट में इस बार दो संस्कृतियों का अनोखा संगम यानी यंग इंडियन आर्टिस्ट और जॉर्जियन डांसर का बेहतरीन परफॉर्मेंस देखने को मिलेगा. (देखें वीडियो)

जिन्हें मालूम नहीं है, उनकी जानकारी के लिए बता दें कि हेमा मालिनी 2006 से अपनी मां जयाजी की याद में हर साल एक शाम जया स्मृति कार्यक्रम के नाम समर्पित करती हैं. जयाजी हमेशा से ही देशभर से यंग टैलेंट को अपनी प्रतिभा स्टेज पर प्रदर्शित करने के लिए प्रोत्साहित करती थीं. पिछले एक दशक से लगातार हेमाजी जया स्मृति कार्यक्रम मुंबई में कर रही हैं और इस बार उन्होंने एक क़दम आगे बढ़ते हुए इसे सही मायने में एक इंटरनेशनल इंवेट बनाने का फैसला किया है. डांस और म्यूज़िक के प्रतिभाशाली कलाकारों के प्रेरणास्रोत इस कार्यक्रम में इस साल जॉर्जियन डांस ‘सुखीश्‍विली’ का प्रदर्शन लगभग 50 साल बाद भारत में देखने को मिलेगा. यह वार्षिक इवेंट सितंबर में आयोजित किया जा रहा है. पहली बार सुखीश्‍विली और इंडियन डांस का प्रदर्शन इस साल भारत के 4 मुख्य शहरों मुंबई, दिल्ली, चेन्नई और कोलकाता में होने जा रहा है.

यह भी पढ़ें: हेमा मालिनी… मेरी ख़ूबसूरती का राज़… देखें वीडियो

ड्रीमगर्ल, हेमा मालिनी, डांस, इवेंट,सिनर्जी फेस्टिवल, वीडियो, Dream Girl. Hema Malini. Synergy Festival, Video
सुखीश्‍विली जॉर्जिया की पहली प्रोफेशनल स्टेट डांस कंपनी है. लाइको सुखीश्‍विली और नीनो रामिस्विली ने 1945 में इस डांस कंपनी की स्थापना की, पहले इसे जॉर्जियन स्टेट डांस कंपनी के नाम से जाना जाता था. इस जोड़े की वजह से जॉर्जियन नेशनल डांसिंग और म्यूज़िक दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में जाना जाने लगा है.
अपने पूरे इतिहास में जॉर्जियन नेशनल बैले का प्रदर्शन एल्बर्ट हॉल, द कोलिज़ीयम, द मेट्रोपॉलिटन ओपेरा एंड मैडिसन स्न्वायर गार्डन आदि मशहूर जगहों में हो चुका है. इस डांस के कॉस्ट्यूम्स सिमोन विर्सालाज़ ने डिज़ाइन किए हैं. फ़िलहाल फाउंडर के बेटे टेंगिज़ सुखीश्‍विली, सुखीश्‍विली के आर्टिस्ट डायरेक्टर हैं. उनकी पत्नी इंगा टेविज़ाज़ भी पहले डांसर रह चुकी हैं और अब बैले मास्टर हैं. इलिको सुखीश्‍विली जूनियर चीफ कॉरियोग्राफर हैं. इस जॉर्जियन नेशनल बैले के 70 वेल ट्रेंड डांसर स्टेज पर अपने डांस से जैसे जादू कर देते हैं. इस डांस परफॉर्मेंस से प्रेरित होकर लेखक टेरी नैशन ने इस डांस फॉर्म को अपने टीवी सीरीज़ ङ्गडॉक्टर हूफ में शामिल किया था.

यह भी पढ़ें: हेमा मालिनी …और मुझे मोहब्बत हो गई… देखें वीडियो


जया चक्रवर्तीजी ने अपनी बेटी हेमा मालिनी को गाइड और सपोर्ट करने के साथ ही बिना किसी स्वार्थ के कई युवा कलाकारों के टैलेंट को स्टेज और फिल्म से जोड़ने का नेक काम किया है. जयाजी के इस सपने को अब जया स्मृति इवेंट के माध्यम से हेमा जी पूरा कर रही हैं. हेमाजी की दोनों बेटियां ईशा देओल तख्तानी और आहना देओल वोहरा का भी इस इवेंट से ख़ास जुड़ाव है और दोनों ही अपनी मां के इस सपने को पूरा करने के लिए उनका हर तरह से सपोर्ट करती हैं. कला सरहद की दीवारों को नहीं जानती. जॉर्जियन और भारतीय यंग टैलेंट को दर्शाता जया स्मृति इवेंट का यह प्रयास इसी बात को दर्शाता है.
हेमाजी ने जब पिछले साल त्बिलिसी, जॉर्जिया गई थीं और उन्होंने जॉर्जियन नेशनल डांस देखा, तो वो इस डांस कंपनी का वायब्रेंट परफॉर्मेंस देखकर बहुत प्रभावित हुई थीं. सुखीश्‍विली पिछली बार 1962 में भारत आए थे, इसीलिए इस डांस इंवेट का बेसब्री से इंतज़ार किया जा रहा है. भारतीय डांसर में अदिति मंगलदास का ग्रुप दृष्टिकोण और पवि का डांस एनसेम्बल, साथ ही मणिपुर का पॉप्युलर क्लासिकल डांस अपने डिवाइन परफॉर्मेंस से प्रस्तुत करेंगे पुंग चोलोम.

यह भी पढ़ें: हेमा मालिनी… हां, सपने पूरे होते हैं…! देखें वीडियो


यह अनोखा इवेंट कला के माध्यम से भारत और जॉर्जिया के बीच ब्रिज (पुल) का काम कर रहा है. दिग्गजों और गणमान्य व्यक्तियों ने ख़ास इस कार्यक्रम के लिए अपना समय निकाल रखा है और इस इवेंट को अपना सपोर्ट दिया है. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री, अन्य प्रतिष्ठित राजनीतिज्ञ, पंडित जसराज, पंडित शिवकुमार शर्मा, अंबानी, जया बच्चन, शबाना आज़मी, नीतू सिंह, रानी मुखर्जी, गोविंदा, अर्जन बाजवा, शत्रुघ्न सिन्हा आदि इस इवेंट में शामिल होंगे. हमेशा की तरह इस बार भी जया स्मृति ‘सिनर्जी’ इवेंट में गणमान्य लोगों के साथ ही सेलिब्रिटीज़, स्पेशल गेस्ट, कला के पारखी और आर्ट फॉर्म के स्टूडेंट्स के साथ ही उत्साही दर्शक इस यादगार लाइफटाइम इवेंट में शामिल होने के लिए बेसब्री से इंतज़ार कर रहे हैं.

एंटरटेनमेंट से जुड़ी अन्य ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हेमा मालिनी… मेरी ख़ूबसूरती का राज़… देखें वीडियो (Hema Malini… The Secret Of My Beauty… Watch Video)

हेमा मालिनी, ख़ूबसूरती का राज़, वीडियो, Hema Malini, The Secret, My Beauty, Video

ख़ुद को खोजना, ख़ुद को पा लेना ही दरअसल सबसे बड़ी जीत होती है. दूसरों को जीतने से पहले स्वयं को जीतना पड़ता है और जब एक बार आपने ख़ुद को पा लिया, ख़ुद को समझ लिया, तो अपने अस्तित्व की सार्थकता भी आपको समझ में आ जाती है. यह एहसास आपको सकारात्मक बनाता है. यही सकारात्मकता मन को भीतर तक प्रसन्न बनाती है. जब मन को इस सकारात्मकता की ख़ुशी का एहसास होता है, तो यह हमारे पूरी व्यक्तित्व में प्रतिबिंबित होता है. भीतर की नकारात्मकता दूर होती है, तो मन ख़ूबसूरत बनता है और मन की यही ख़ूबसूरती बाहर भी झलकती है. आप ग्लो करते हो, कॉन्फिडेंट बनते हैं. आपका पूरा व्यक्तित्व ही आकर्षक और सम्मोहक होने लगता है.
सच कहूं, तो ख़ूबसूरत होने और ख़ूबसूरत नज़र आने से भी कहीं ज़्यादा ज़रूरी है, ख़ूबसूरत महसूस करना. अगर आप भीतर से ख़ुद को ख़ूबसूरत महसूस नहीं करेंगे, तो सब व्यर्थ है. भीतर की सकारात्मक ऊर्जा ही तो बाहर भी झलकती है, आप सुंदर, स्वस्थ, संतुष्ट और कॉन्फिडेंट नज़र आते हैं. (देखें वीडियो)

बहुत-से लोग आज भी यही समझते हैं कि हम सेलिब्रिटीज़ को अपनी ख़ूबसूरती का ख़्याल रखने की ज़रूरत ही नहीं, हमारी ब्यूटी तो गॉड गिफ्ट है… जबकि सच तो यह है कि हमें इसे मेंटेन रखने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती है और कठिन अनुशासन का पालन करना पड़ता है. यही मेहनत अगर आप भी करेंगे, तो आप भी उतने ही ख़ूबसूरत, फिट और हेल्दी नज़र आओगे. मुझे ड्रीम गर्ल का ख़िताब मेरे फैंस ने दिया. ऐसे में मेरी ज़िम्मेदारी बढ़ जाती है कि उनके इस ख़िताब को मैं जस्टिफाई कर सकूं. वैसे भी
बहुत-से लोग मुझसे आज भी मेरी ब्यूटी और फिटनेस का राज़ पूछते हैं, तो उनसे भी मैं यही कहूंगी कि हेल्दी लाइफस्टाइल, हेल्दी डायट के साथ-साथ हेल्दी सोच भी ज़रूरी है.
मैं तो यही नहीं समझ पाती कि लोग लेट नाइट जागकर, स्मोक, ड्रिंक करके, अनाप-शनाप खा-पीकर अपने शरीर को इतना नुक़सान क्यों और कैसे पहुंचा लेते हैं? ईश्‍वर ने हमें इतना सुंदर शरीर दिया है. इसकी देखभाल करना, इसे स्वस्थ-सुंदर बनाए रखना हमारी ज़िम्मेदारी है. अनहेल्दी लाइफस्टाइल से आख़िर क्यों अपने ही शरीर को नुक़सान पहुंचाते हैं लोग? इसमें क्या आनंद आता है, मेरी समझ से ही परे है, क्योंकि आप ख़ुद को, अपने शरीर को ही नुक़सान पहुंचा रहे होते हैं.

यह भी देखें: हेमा मालिनी …और मुझे मोहब्बत हो गई… देखें वीडियो 

हेमा मालिनी, ख़ूबसूरती का राज़, वीडियो, Hema Malini, The Secret, My Beauty,Video
हर इंसान के लिए ये बेहद ज़रूरी है कि वो सबसे पहले ख़ुद से प्यार करे. जब हम ख़ुश और स्वस्थ रहेंगे, तभी दूसरों को भी ख़ुश रख पाएंगे. इसके अलावा अनुशासन यानी डिसिप्लिन भी बेहद ज़रूरी है. अगर आप अनुशासित जीवन नहीं जीएंगे, तो कहीं न कहीं इसका ख़ामियाज़ा भुगतना ही पड़ेगा. जहां तक मेरी बात है, तो मैं सुबह उठकर साधना करती हूं, क्योंकि साधना हमें न स़िर्फ शांति का एहसास कराती है, बल्कि ईश्‍वर और प्रकृति से एकाकार होना भी सिखाती है, जिससे हम अपनी एनर्जी को महसूस करते हैं और उसका सही दिशा में इस्तेमाल कर पाते हैं. इसके अलावा योग से हम स्वस्थ तन-मन भी पा सकते हैं. मैं नियमित रूप से साधना, योग और डांस करती हूं, इसीलिए मेरा शरीर फिट और स्किन ख़ूबसूरत नज़र आती है. अच्छा शरीर पाने के लिए मेहनत तो करनी ही पड़ती है. इसी तरह अपनी स्किन की ज़रूरतों को समझना भी ज़रूरी है. कंप्लीट नींद, हेल्दी फूड, डेली वर्कआउट से आप हर उम्र में स्वस्थ और ख़ूबसूरत नज़र आ सकते हैं. अक्सर ऐसा भी होता है कि बिज़ी शेड्यूल के चलते कई बार मुझे कुछ समझौते भी करने पड़ते हैं, जैसे- कभी नींद कम हो पाती है, तो कभी डायट ठीक से नहीं हो पाती, लेकिन यहां साधना, ध्यान और योग मेरी मदद करते हैं. आप लोग अगर यह सोचते हैं कि बस मेकअप करके स्किन को ख़ूबसूरत बना लेना बेहद आसान है, तो यह सोच ग़लत है. जब तक आप भीतर से हेल्दी नहीं महसूस करेंगे, कोई मेकअप आपके काम नहीं आएगा. इसलिए योग, साधना और ध्यान बेहद ज़रूरी है. यह मन के कॉस्मेटिक्स हैं, जो मन को सुंदर बनाते हैं, उसके बाद डायट की बारी आती है. पानी पीएं, हेल्दी खाएं, जिससे शरीर के टॉक्सिन्स बाहर निकल जाएं.

यह भी देखें: हेमा मालिनी… हां, सपने पूरे होते हैं…! देखें वीडियो

हेमा मालिनी, ख़ूबसूरती का राज़, वीडियो, Hema Malini, The Secret, My Beauty,Video
हमें ईश्‍वर ने इतना सुंदर जीवन दिया है, लेकिन हम इसके महत्व को न समझकर निरंतर अपनी इंद्रियों को तुष्ट करने की दिशा में भागे जाते हैं. दरअसल, हमारा शरीर एक ज़रिया है, शरीर के ज़रिए ही हम ध्यान व साधना करके आत्मा की गहराई तक पहुंच सकते हैं और यही गहराई हमें ख़ूबसूरत होने का कॉन्फिडेंस देती है. कॉन्फिडेंस भी बेहद ज़रूरी है और ख़ूबसूरती की एक महत्वपूर्ण शर्त भी. चाहे आप शारीरिक रूप से कितने भी ख़ूबसूरत हों, लेकिन अगर आपमें कॉन्फिडेंस नहीं, तो वो ख़ूबसूरती उभरकर नहीं आती. आप डल लगते हो. सवाल यह है कि यह कॉन्फिडेंस कहां से आएगा? जवाब वही है- भीतर से! भीतरी ऊर्जा, सकारात्मकता ही आपको कॉन्फिडेंस देती है और भीतरी ऊर्जा के लिए मन के कॉस्मेटिक्स- योग, साधना और ध्यान ही आपकी मदद करेंगे! कुल मिलाकर मैं यही कहूंगी कि ख़ुश रहें, पॉज़िटिव रहें और अनुशासित रहें, आप अपने आप ख़ूबसूरत और कॉन्फिडेंट नज़र आएंगे.

यह भी देखें: ड्रीमगर्ल हेमा मालिनी प्रस्तुत कर रही हैं डांस का अनोखा इवेंट- सिनर्जी फेस्टिवल… देखें वीडियो

हेमा मालिनी… हां, सपने पूरे होते हैं…! देखें वीडियो (Hema Malini… Yes, Dreams Do Get Fulfilled…! Watch Video)

Hema Malini

कौन कहता है आसमान में सुराख़ नहीं हो सकता
एक पत्थर तो तबीयत से उछालो यारों

हां, मैंने भी कुछ हसीन सपने देखे थे और ज़िंदगी ने मुझे ड्रीम गर्ल का ख़िताब दे डाला. मैंने आसमान छूने की ख़्वाहिश की और मेरे चाहनेवालों ने मुझे फलक पर बिठा दिया. मैंने ज़िंदगी में अपने हर क़िरदार को पूरी शिद्दत से निभाया और ज़िंदगी ने हमेशा मुझे मेरी ख़्वाहिश से ज़्यादा ही दिया है. हम दुनिया में आते हैं… बड़े होते हैं, फिर आंखों में कई नए-नए सपने पलने लगते हैं… उन्हें देखते हैं और जुट जाते हैं उन्हें पूरा करने में… दिल में कई अरमान जागते हैं… हम भागने लगते हैं उन्हें मुकम्मल करने के लिए… हसरतों के दायरे फिर हमें धीरे-धीरे कैद करने लगते हैं अपनी परिधि में… ये तो है इंसानी फ़ितरत, लेकिन इसमें भी यदि हम बात करें एक औरत की, तो उसके दायरे तो व़क्त के साथ-साथ और भी सिमटने लगते हैं… लेकिन जहां तक मेरी बात है, तो मुझे न तो अपने दायरे समेटने पड़े और न ही सपनों पर पाबंदी लगानी पड़ी, क्योंकि मेरे प्रयास सच्चे थे और मुझे अपनों का भी भरपूर साथ मिला.

Hema Malini

मैं यही कहूंगी कि बेशक, हर सपना पूरा होता है, यदि आप सही दिशा में काम कर रहे हों और आपने अपने सपने को पूरा करने की हर मुमकिन कोशिश की हो. यदि हम अपने अतीत पर नज़र डालेंगे, तो पाएंगे कि आज हम जो कुछ भी हैं, वो अतीत में हमारे द्वारा किए गए प्रयासों का ही नतीजा है.
ख़्वाहिशें, अरमान, अपेक्षाएं, इच्छाएं… ये तमाम तत्व इंसानी फ़ितरत का हिस्सा हैं. ख़्वाहिशें रखना ग़लत भी तो नहीं है. किसी चीज़ को पाने की ख़्वाहिश रखना बहुत अच्छी बात है और ये भी सच है कि आप पूरी ईमानदारी के साथ जितने बड़े सपने देखते हैं, ज़िंदगी आपको उससे कहीं ज़्यादा देती है, लेकिन उसके लिए आपका अपने सपनों के प्रति ईमानदार होना ज़रूरी है. जैसे आप यदि मर्सिडीज़ ख़रीदने का लक्ष्य रखते हैं, तो उसके बाद आपका मस्तिष्क उसी दिशा में सोचना शुरू कर देता है, आप उसे पाने के रास्ते तलाशने लगते हैं, आपके हालात भी उसी के अनुरूप बदलने लगते हैं और आख़िरकार आप मर्सिडीज़ ख़रीद लेते हैं. इसलिए जीवन में लक्ष्य का होना बहुत ज़रूरी है.

Hema Malini dreamgirl

हमें बचपन से अपने बच्चों को ये बात सिखानी चाहिए कि बड़े लक्ष्य रखो, बड़े सपने देखो और उन्हें पूरा करने के लिए जी जान से मेहनत करो, फिर आपको वो चीज़ पाने से कोई नहीं रोक सकता. अक्सर मैं लोगों को देखती हूं, जिन्हें ज़िंदगी से बहुत शिकायत रहती है… बहुत कुछ होने के बाद भी वो संतुष्ट नहीं होते. उन्हें शायद ख़ुद भी यह नहीं पता होता कि उन्हें आख़िर क्या चाहिए. यही वजह है कि न तो उनके पास कोई लक्ष्य होता है और न ही उसे हासिल करने के लिए कोई प्रेरणा. मन की चंचलता उन्हें ताउम्र असंतुष्ट रखती है और वो भटकते रहते हैं, इसलिए सबसे ज़रूरी है कि आपके मन में यह बात पूरी तरह से साफ़ होनी चाहिए कि आपकी मंज़िल क्या है और आपको उस तक किस तरह से पहुंचना है. आपके प्रयास किस तरह के होने चाहिए और आपके त्याग कितने बड़े हो सकते हैं.

Hema Malini award
अगर मैं अपनी बात करूं, तो मैं भी एक बेहद आम-सी लड़की थी, लेकिन मेरी मां ने मेरे लिए बड़े सपने देखे और उन्हें पूरा करने के लिए मुझे सही दिशा दी. अगर मेरी मां कोई और होती, तो शायद मैं आज यहां न होती. मेरी मां ने मेरी ज़िंदगी को सही दिशा दी और मुझे उसके लिए मेहनत करने की हिम्मत भी दी. आज मैं जो कुछ भी हूं, उसमें मेरी मां का बहुत बड़ा रोल है.

यह भी देखें: हेमा मालिनी …और मुझे मोहब्बत हो गई… देखें वीडियो

Hema Malini daughters
आज जब मैं अपने बचपन को याद करती हूं, तो पाती हूं कि मेरी परवरिश बहुत अच्छे माहौल में हुई. मेरी मां ने मुझे कला के प्रति समर्पित होना सिखाया, इसीलिए मेरी कला आज मेरी पहचान बन गई है. मां ने मेरे लिए जो सपने देखे थे, उन्हें पूरा करने के लिए उन्होंने मुझे सही राह दिखाई, इसीलिए आज मैं यहां पहुंच पाई हूं. बचपन में जब मैं अपनी खिड़की से बाहर देखती थी कि मेरे फ्रेंड्स बाहर खेल रहे हैं और मैं घर में डांस की प्रैक्टिस कर रही हूं, तो मुझे मां पर बहुत ग़ुस्सा आता था, लेकिन आज जब मैं देखती हूं कि वो लड़कियां कहां हैं और मैं कहां हूं, तब समझ में आता है कि मेरी मां ने मेरे लिए कितने बड़े सपने देखे और उन्हें पूरा करने के लिए कितनी मेहनत की. आज मैं जो कुछ भी हूं, अपनी मां की वजह से हूं. बच्चों को प्यार देना जितना ज़रूरी है, उन्हें अनुशासन में रखना भी उतना ही ज़रूरी है. मां ने मेरे साथ भी ऐसा ही किया, उन्होंने मुझे सिखाया कि आपके पास यदि हुनर है, तो उसे इतना निखारो कि आपका हुनर ही आपकी पहचान बन जाए. मैंने यदि कला की साधना की है, तो कला ने भी मुझे नाम-शोहरत सब कुछ दिया है.

यह भी देखें: हेमा मालिनी का पॉलिटिकल करियर

hema malini dance
हर पैरेंट्स को अपने बच्चों को सपने देखना और गोल सेट करना सिखाना ही चाहिए, फिर उन्हें आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता. वैसे भी आजकल इतने
छोटे-छोटे बच्चे रियालिटी शोज़ में कितना कुछ कर दिखाते हैं, उनके इस टैलेंट के पीछे उनके पैरेंट्स की मेहनत साफ़ दिखाई देती है. बच्चा पढ़ाई में ही अच्छा हो ये ज़रूरी नहीं, बच्चे के टैलेंट को पहचानें और उसे उसी फील्ड में आगे बढ़ने दें.यक़ीन मानिए, आप जिस भी चीज़ को शिद्दत से चाहते हैं, वो आपको मिलती है, आपको बस मेहनत करते रहना चाहिए.

हेमा मालिनी के बारे में और ज़्यादा पढ़ने के लिए क्लिक करें

Exclusive! टीवी एक्ट्रेस तेजस्वी प्रकाश ने किया अपनी शादी का खुलासा! (Exclusive! TV Actress Tejasswi Prakash To Romance 10 Year Old Child Artist)

स्वरागिनी सीरियल की रागिनी अब नए शो पहरेदार पिया की में नज़र आ रही हैं दिया के रूप में, जिसमें उनके पिया हैं स़िर्फ 10 साल के. तेजस्वी प्रकाश ने अपने नए शो के अलावा और भी कई दिलचस्प बातें हमारे साथ शेयर की.  

3

आपने पहरेदार पिया की शो क्यों चुना? क्या ये शो ग़लत मैसेज नहीं दे रहा है?
जब मुझे इस शो का ऑफर मिला, तो मैंने सोचने के लिए थोड़ा व़क्त मांगा. शुरू में मुझे भी डाउट हुआ था कि कहीं ये शो ग़लत मैसेज तो नहीं देगा. इससे पहले मैं स्वरागिनी जैसा हिट सीरियल कर चुकी हूं और उस शो में दर्शकों ने मुझे बहुत पसंद किया है इसलिए मैं कोई रिस्क नहीं लेना चाहती थी. लेकिन जब मुझे मेरा कैरेक्टर समझाया गया, तो मुझे ये रोल काफ़ी दिलचस्प लगा और मैंने शो के लिए हां कर दी. ये शो ग़लत मैसेज नहीं देता, बल्कि वुमन एम्पावरमेंट की बात करता है कि कैसे एक 18 साल की लड़की इतना बड़ा ़फैसला लेती है, वो कितनी बहादुर है, कितना त्याग करती है.

आपको शो में इतना मेकअप करना पड़ता है, इतने हैवी कपड़े-गहने पहनने पड़ते हैं, तो आपको तैयार होने में कितना व़क्त लगता है?
इस शो में मैं एक यंग कैरेक्टर प्ले कर रही हूं इसलिए मैं बहुत ज़्यादा मेकअप नहीं करती. मुझे स़िर्फ कपड़े और गहने पहनने होते हैं इसलिए तैयार होने में ज़्यादा टाइम नहीं लगता. मैं आधे घंटे में तैयार हो जाती हूं.

यह भी देखें: बिग बॉस 9 की सदस्य और एक वीर की अरदास… वीरा की एक्ट्रेस दिगंगना सूर्यवंशी का गृह प्रवेश

1

क्या रियल लाइफ में भी आप इतनी जल्दी तैयार हो जाती हैं?
हां, मैं बहुत जल्दी तैयार हो जाती हूं. मज़े की बात ये है कि मेरी मां मुझसे कहती हैं कि मैंने अपनी पूरी ज़िंदगी में इतनी साड़ियां नहीं पहनी होंगी, जितनी तूने पहन ली हैं. जब वो मुझे आसानी से साड़ी मैनेज करते देखती हैं, तो हैरान रह जाती हैं.

स्वरागिनी और पहरेदार पिया की शो में क्या फ़र्क़ या क्या समानता है?
मेरा शो स्वरागिनी दो साल चला था, जिसमें मैंने पॉज़िटिव और नेगेटिव दोनों रोल प्ले किए थे. मुझे एक जैसा बोरिंग रोल करना पसंद नहीं है. स्वरागिनी सीरियल में मुझे दर्शकों का बहुत प्यार मिला इसलिए मैं वो शो करके बहुत ख़ुश हूं. जहां तक पहरेदार पिया की और स्वरागिनी शो की समानता की बात है, तो (हंसते हुए) इन दोनों शो में मैं राजस्थानी परिवार की सदस्य हूं, दोनों शो में मेरा गेटअप ट्रेडिशनल है. हां, दोनों शो में मेरा रोल बिल्कुल अलग है, क्योंकि दोनों शो का कॉन्सेप्ट अलग है.

क्या इस शो में भी आगे चलकर आपका रोल नेगेटिव होगा?
इस बारे में मैं अभी कुछ नहीं कह सकती, क्योंकि स्टोरी किस तरह आगे बढ़ेगी, ये तो मैं भी नहीं जानती. वैसे भी औरत के कई रूप होते हैं और जब अपने प्यार और परिवार को बचाने की बात आती है, तो वो किसी भी हद तक आगे बढ़ जाती है, इसलिए आगे मेरा रोल कैसा होगा, ये अभी कहना मुश्किल है.

यह भी देखें: OMG! ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’ के कार्तिक को नायरा से हुआ इश्क वाला लव!

5

आपको म्यूज़िक का बहुत शौक है. डेली सोप के साथ-साथ क्या म्यूज़िक के लिए टाइम निकाल पाती हैं?
हां, जब भी छुट्टी मिलती है तो मैं थोड़ा-बहुत रियाज़ कर लेती हूं. मुझे डांस का भी बहुत शौक है इसलिए मैं डांस क्लास भी जाती हूं. मैं एक्टिंग के साथ-साथ अपनी हॉबीज़ के लिए भी टाइम निकाल ही लेती हूं. मैं ट्रेन्ड भरतनाट्यम डांसर हूं और गाती भी हूं.

आपने इंजीनियरिंग की है और अब आप एक्टिंग कर रही हैं. कैसे हुआ ये सब?
मैंने एक्टिंग के बारे में कभी सोचा नहीं था. मैं भाग्य और गणपति बप्पा में बहुत विश्‍वास करती हूं. इंजीनियरिंग के दौरान ही मुझे ऑडिशन के लिए कॉल आया था और मैं यूं ही ऑडिशन के लिए चली गई थी. मैं पहले ऑडिशन में ही सिलेक्ट हो गई और वहीं से मेरे एक्टिंग करियर की शुरुआत हो गई. हां, एक्टिंग के साथ-साथ मैंने अपनी पढ़ाई भी पूरी की. आप मुझे इंजीनियर कह सकती हैं.

आप गणपति की भक्त हैं, तो क्या आपके घर भी हर साल गणपति आते हैं?
हां, हमारे घर हर साल गौरी-गणपति आते हैं और उन दिनों हम सब बहुत एक्साइटेड रहते हैं. घर सजाते हैं, मोदक बनाते हैं, उनकी पूजा करते हैं, घर में मेहमानों के लिए खाना बनाते हैं.

यह भी देखें: 12 ख़ूबसूरत टीवी एक्ट्रेस का रियल लाइफ ब्राइडल लुक

2

आप अपने नाम के साथ अपना सरनेम क्यों नहीं यूज़ करती हैं?
मेरा सरनेम वयंगंकर इतना मुश्किल है कि कोई ठीक से बोल नहीं पाता इसलिए मैं तेजस्वी प्रकाश लिखती हूं. (हंसते हुए) इसमें डबल लाइट है- तेजस्वी भी और प्रकाश भी.

आप अच्छी डांसर हैं, तो आगे आप किसी डांस शो में नज़र आएंगी?
फिलहाल तो मैं अपने शो में बिज़ी हूं. अभी मैंने ऐसा कुछ सोचा नहीं है. हां, अच्छा मौका मिला और मेरे पास टाइम रहा तो ज़रूर करूंगी.

आपको टेलीविज़न इंडस्ट्री की अच्छी और बुरी बात क्या लगती है?
अच्छी बात ये है कि आपको दर्शकों का बहुत प्यार मिलता है और बुरी बात ये है कि फैमिली के लिए टाइम बहुत कम मिलता है.

क्या आप अभी भी स्वरागिनी शो की टीम के टच में हैं?
बिल्कुल हूं. हाल ही में 10 जून को जब मेरा बर्थडे था, तो स्वरागिनी शो के मेरे फ्रेंड्स और मेरा उससे भी पहले का शो संस्कार, उसके भी सारे फ्रेंड्स मेरा बर्थडे सेलिब्रेट करने आए थे.

फिटनेस के लिए अलग से कुछ करती हैं?
शूटिंग से ़फुर्सत कहां मिलती है, (हंसते हुए) खाने का टाइम ही नहीं मिलता, तो अपने आप डायटिंग हो जाती है.

क्या आपको रियल लाइफ में भी इसी तरह सजना-संवरना पसंद है?
नहीं, तेजस्वी रियल लाइफ में कभी सिर पर पल्ला लेकर नहीं घूमेगी. अगर उसे कभी ऐसा करना पड़ा, तो वो अपने पति से कहेगी कि वो भी सिर पर पल्ला ले. हां, पहरेदार पिया की शो की कैरेक्टर दिया की तरह मैं भी रियल लाइफ में अपने हक़ के लिए कोई भी बड़ा ़फैसला लेने के लिए हमेशा तैयार रहती हूं.

यह भी देखें: 13 बेस्ट डिज़ाइनर ब्लाउज़: 13 स्टनिंग लुक्स ये है मोहब्बतें फेम दिव्यांका त्रिपाठी के

4

शो में आपके छोटे-से पति आगे चलकर बड़े होंगे?
हां, बिल्कुल मेरे पति इस शो में बड़े होंगे.

शो में इतना छोटा बच्चा आपकी मांग भरता है. क्या आपको अजीब नहीं लगता?
दरअसल, वो मेरी मांग नहीं भरता, उसे तो मांग भरने का मतलब भी पता नहीं होता. मैं उसके माथे पर तिलक लगाती हूं, तो मेरी देखादेखी में वो भी मेरी मांग में सिंदूर लगाता है. इस शो में हम पति-पत्नी की तरह नहीं, फ्रेंड्स की तरह रहते हैं.

आपको अब तक सबसे बेस्ट कॉम्प्लिमेंट क्या मिला है?
बेस्ट कहूं या अजीब, मेरे एक फैन हैं, जो मुझे अपनी मां कहते हैं. वो कहते हैं उन्हें मैं अपनी मां जैसी लगती हूं. मैं समझ नहीं पाती कि इस बात से मैं ख़ुश होऊं या क्या महसूस करूं.

आप सोशल मीडिया पर कितनी एक्टिव हैं?
बहुत कम, मेरे फैन्स को मुझसे यही शिकायत रहती है कि मैं अपनी फोटोग्राफ्स पोस्ट नहीं करती. हां, अब मैं सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने की कोशिश करूंगी.

आगे चलकर क्या आप फिल्मों में काम करना चाहेंगी?
अच्छा ऑफर मिला और तो ज़रूर करूंगी. मैंने अपनी तरफ़ से कोई बाउंड्री नहीं बनाई है कि ये करना है और ये नहीं.

स्वरागिनी और पहरेदार पिया की दोनों सीरियल में आप दुल्हन बनी हैं. आप आम लड़कियों को शादी का लहंगा और ज्वेलरी सिलेक्ट करने के लिए क्या ख़ास टिप्स देना चाहेंगी?
मैं तो यही कहूंगी कि ऐसा लहंगा या ज्वेलरी सिलेक्ट करें, जिसमें आप कंफर्टेबल महसूस कर सकें. ज़रूरत से ज़्यादा हैवी लहंगा या ज्वेलरी पहनकर आप अपनी शादी के फंक्शन एंजॉय नहीं कर पाएंगी.

टीवी की अन्य ख़बरों के लिए यहां क्लिक करें 

6

आपका फेवरेट कलर क्या है?
रेड मेरा फेवरेट कलर है.

आपकी फेवरेट एक्ट्रेस
कंगना रणावत और प्रियंका चोपड़ा.
मुझे बचपन से शबाना आज़मी भी पसंद हैं.

– कमला बडोनी

इंटरनेट पर वायरल हुईं तैमूर की ख़ास तस्वीरें(8 Pics Of Taimur Ali Khan That Broke The Internet)

जिसकी मां करीना कपूर ख़ान हों और पापा सैफ़ अली ख़ान, उसका ख़ास होना तो लाज़मी है. जी हां, हम बात रहे हैं तैमूर अली ख़ान की. बॉलीवुड की स्टाइल दिवा करीना के बेटे तैमूर अली ख़ान बिल्कुल अपनी मां के नक्शे-क़दम पर चल रहे हैं. अपनी मां की तरह ही तैमूर भी जहां जाते हैं, सबका ध्यान स़िर्फ और स़िर्फ उनकी तरफ़ होता है.
पिछले साल दिसंबर में जन्में तैमूर अली ख़ान इतनी छोटी उम्र में ही मीडिया के चहेते व इंटनेट सेंसेशन बन चुके हैं. जब भी वे अपनी मां या आया के साथ घर से बाहर निकलते हैं, उन्हें कैमरे में कैद करने के लिए फोटोग्राफर्स की लाइन लग जाती है. और जैसे ही वे पिक्चर्स इंटरनेट पर आती हैं, उन्हें वायरल होते देर नहीं लगती. हमारे रीडर्स को भी तैमूर की पिक्चर्स बहुत पसंद आती हैं. ख़ास उनकी पसंद को ध्यान में रखते हुए हम तैमूर के जन्म से लेकर अब तक की कुछ ख़ास व क्यूट पिक्चर्स पेश कर रहे हैं. ताकि आप इस प्यारे से छोटे नवाब को इत्मीनान से निहार सकें.

जन्म के बाद की तस्वीर

pic2a

करीना द्वारा शेयर की गई पिक्चर

Pic3
करीना के साथ तुषार के बेटे के जन्मदिन पर पहुंचे तैमूर

pic5pic7
नानी बबिता से मिलने पहुंचे तैमूर

pic8
दादी शर्मिला पटौदी के घर पहुंचे तैमूर

pic10

स़फेद कुर्ते में

pic9
हसंते हुए

pic12

अजय मुझ पर हर दूसरे दिन चिल्लाते हैंः काजोल

 

जानिए इन बॉलीवुड कपल्स के बच्चों के यूनिक नाम और उनका मतलब

नई हॉलीवुड फिल्म में योगा एम्बैस्डर बनेंगी प्रियंका(Priyanka Chopra To Play Yoga Ambassador In Her Next Hollywood Film)

योगा एम्बैस्डर बनेंगी प्रियंका

बॉलीवुड के साथ-साथ हॉलीवुड में अपने नाम का सिक्का जमा चुकीं प्रियंका चोपड़ा की हॉलीवुड पारी में एक नया नाम जुड़ने वाला है. बेवॉच के बाद प्रियंका अपनी नई हॉलीवुड फिल्म में इज़्ट इट रोमैंटिक में योग दूत की भूमिका में नज़र आनेवाली हैं.

card_priyankachopra_isntitromantic_idiva_980x457
यह फिल्म न्यूयॉर्क शहर की आर्किटेक्चर नटाली की ज़िंदगी पर आधारित है, जो काम में ख़ुद को साबित करने के लिए कड़ी मेहनत करती है, लेकिन ऊंची ईमारत डिज़ाइन करने की जगह उसे कॉफी व बैंगल्स पहुंचाने का काम मिलता है. एक बार उसका सामना एक लुटेरे से होता है जो उसे बेहोश कर देता है. जब नटाली को होश आता है तो उसे पता चलता है कि उसकी ज़िंदगी अचानक बुरे सपने की तरह बदल चुकी है.
इस फिल्म में प्रियंका चोपड़ा एक योगा एम्बैस्डर इसाबेला की भूमिका निभा रही हैं. यह फिल्म वर्ष 2019 में वैलेंटाइन्स डे का रिलीज़ होनेवाली है. इन दिनों
अ किड लाइक जैक नामक फिल्म की शूटिंग कर रही हैं, जिसमें वे अमल नामक किरदार की भूमिका निभा रही हैं. इस फिल्म का वीडियो उन्होने इंस्टाग्राम पर पोस्ट किया.