Chef

जानी-मानी सेलिब्रिटी शेफ व टीवी पर्सनैलिटी जगी जॉन की मृत्यु उनके घर के ही रसोईघर में हुई. लेकिन वजहों का अब तक पता न चल सका.

Jagee John

 

जगी के मित्र उन्हें लगातार फोन कर रहे थे. लेकिन जब लंबे समय तक फोन नहीं उठाया गया, तब उन्होंने पड़ोसी से देखने के लिए कहा. तब पड़ोसी ने किचन में जगी की लाश देखी. ताज्जुब की बात यह है कि उनकी मां साथ में ही रहती थीं और उस समय वे घर पर थीं. जब उन्हें बेटी के देहांत की ख़बर दी गई, तो वे सदमे से बस इतना ही कह पाईं कि वो तो किचन में कुछ कुकिंग कर रही थी. फ़िलहाल पुलिस छानबीन कर रही है. जगी के शरीर में किसी तरह के चोट के निशान नहीं मिले है. पोस्टमार्टम के बाद ही सही स्थिति का पता चल सकेगा. ग़ौर करनेवाली बात है कि इसी तरह अचानक कई सेलिब्रिटीज़ की मौत हुई है, जिसकी तहक़ीक़ात अब तक चल रही है.

जगी जॉन केरल के कुरवनकोनम में अपनी मां के साथ रहती थीं. वे जगीज़ कुकबुक के नाम से कुकरी शो करती थीं. कई ब्यूटी व पर्सनैलिटी शोज़ में वे बतौर जज भी शामिल हुई थीं. वे मॉडल, सिंगर, होस्ट व मोटिवेशनल स्पीकर भी थीं. 45 साल की जगी ज़िंदादिल थीं. ज़िंदगी को लेकर उनकी सकारात्मक सोच थी. उनका यूं इस तरह से चले जाना उनके जानने व चाहनेवालों को आहत कर गया. आख़िर उनके साथ क्या हुआ, यह तो आनेवाला व़क्त ही बता पाएगा. लेकिन यह तो है कि कभी भी कुछ भी हो सकता है, इसलिए ध्यान रखें.

Jagee John

यह भी पढ़ेहैप्पी बर्थडे अनिल कपूरः देखें बर्थडे बॉय के कुछ अनसीन पिक्स और जानें कुछ अनकहीं बातें (Happy Birthday To Anil Kapoor)

फिल्म- शेफ

स्टारकास्ट- सैफ अली खान, पद्मप्रिया जानकिरमन, शोभिता धुलिपाला, स्वर कांबले, चंदन रॉय सान्याल

निर्देशक- राजा कृष्णा मेनन

रेटिंग- 3.5 स्टार

Movie Review bollywood movie Chef

सलाम नमस्ते के बाद फिल्म शेफ में एक बार फिर सैफ अली खान शेफ की भूमिका में हैं. इस बार सैफ ज़्यादा मेच्योर नज़र आ रहे हैं. पिता-बेटे के रिश्तों को बड़े ही ख़ूबसूरत अंदाज़ में पेश करने की कोशिश की गई है इस फिल्म में. आइए, जानते हैं और क्या ख़ास है फिल्म में.

कहानी

कहानी है थ्री मिशलिन स्टार शेफ रोशन कालरा (सैफ अली खान) की, जिसे बचपन में उसके पापा इंजीनियर बनाना चाहते थे, लेकिन उसे खाना बनाने का शौक़ था. रोशन एक कामयाब शेफ तो बन जाता है, लेकिन रिश्ते पीछे छूट जाते हैं. काम में बिज़ी होने की वजह से वो अपनी पत्नी राधा मेनन (पद्मप्रिया) से भी हो जाता है. राधा सिंगल मदर होने के बाद भी अपने बेटे अरमान (स्वर) को अच्छी तरह संभाल रही है. एक दिन ग़ुस्से की वजह से रोशन की जॉब चली जाती है, वो अपने बेटे के पास कोच्चि चला आता है और बिगड़े हुए रिश्तों को संभालने की कोशिश करता है. क्या रोशन, अरमान और पद्मप्रिया साथ ख़ुशी-ख़ुशी रहते हैं? क्या एक हैप्पी एंडिंग होती है फिल्म की? ये जानने के लिए आपके फिल्म देखनी पड़ेगी.

फिल्म की यूएसपी

सैफ अली खान की ऐक्टिंग बेहतरीन है. फैमिली और रिश्तों पर आधारित इस फिल्म की कहानी नई नहीं है, लेकिन इसे अच्छे से दर्शाया गया है. सैफ को फिल्म में खाना पकाते हुए देखकर आपकी दिलचस्पी भी कूकिंग में बढ़ जाएगी.

सैफ के बेटे के रोल मे स्वर ने भी कमाल का अभिनय किया है.

पद्मप्रिया भी अपने रोल में जंच रही हैं.

फिल्म की यूएसपी है इसका मैसेज, जो आज के पैरेंट्स के लिए बहुत ज़रूरी है. कई बार अापसी झगड़े या ईगो की वजह से पति-पत्नी में इतनी दूरियां आ जाती हैं कि वो अपने बच्चे के बारे में भूल जाते हैं. एक बच्चे के पालन-पोषण के लिए माता-पिता दोनों की ही ज़रूरत होती है.

कहानी बेहद सिंपल, लेकिन प्यारी है.

फिल्म देखने जाएं या नहीं?

ज़रूर जाएं ये फिल्म देखने. ये फिल्म को मॉर्डन फैमिली ड्रामा है, जिसे आप अपने पूरे परिवार के साथ बैठकर देख सकते हैं.

यह भी पढ़ें: सेलिना जेटली का दर्द…पिता और एक बेटे को खोने के बाद उन्होंने कही ये बातें…