Tag Archives: chocolate

इन लव फूड्स से बनाएं अपनी सेक्स लाइफ को और भी स्पाइसी (Spice Up Your Sex Life With These Love Foods)

यूं तो आपने अनेक तरह के फूड के बारे में सुना होगा, जैसे- चाइनीज़ फूड, मुगलई फूड, इटालियन फूड, थाई फूड आदि. लेकिन क्या आपने ‘लव फूड’ (Love Food) के बारे में सुना है? आइए, ऐसे ही कुछ लव रेसिपीज़, लव फ्रूट्स और ड्रिंक्स के बारे में जानें मुंबई की डायटीशियन ममता शर्मा से.

Love Foods

लव रेसिपीज़

अ‍ॅायस्टर ड्रमस्टिक करी: ड्रमस्टिक यानी सहिजन में लव फीलिंग्स को बढ़ाने की ख़ूबियां होती हैं और अ‍ॅायस्टर के साथ ड्रमस्टिक मिलकर रोमांटिक फीलिंग्स को दोगुना कर देती है.

खीर: दूध और ड्राय़फ्रूट्स से बनी इस स्वीट डिश का मीठा टेस्ट मूड को हल्का करता है. ड्राय़फ्रूट्स का ए़फ्रोडिसियक (प्यार की कामना) नेचर दूध के साथ मिलकर लव फीलिंग्स को बढ़ाता है.

हलवा: सूजी या बेसन और ड्रायफ्रूट्स से बनी इस स्वीट डिश से लव हार्मोन रिलीज़ होने में मदद मिलती है और रोमांटिक फीलिंग्स बढ़ती है.

आइस्क्रीम विद नट्स: आइस्क्रीम में मिले नट्स- बादाम, अखरोट आदि रोमांटिक फीलिंग्स को बढ़ाने में सहायक होते हैं.

चीज़ केक विद स्ट्रॉबेरी: स्ट्रॉबेरी को चीज़ केक के साथ मिलाकर भी रोमांटिक फूड के रूप में सर्व किया जाता है.

स्ट्रॉबेरी विद चॅाकलेट: स्ट्रॉबेरी के साथ चॅाकलेट मिलाकर सर्व करना सबसे अधिक रोमांटिक माना जाता है. चॅाकलेट इंसान के मूड को हल्का-फुल्का बनाता है, जबकि स्ट्रॉबेरी उत्तेजना को बढ़ाता है. इसलिए स्ट्रॉबेरी को शैंपेन के साथ सर्व करते हैं. इसे किसी अन्य ड्रिंक के साथ सर्व नहीं किया जाता.

चॅाकलेट: यह इंसान के मूड को जॅाली और फ्रेश करती है. इसलिए इसको ‘मूड चेंजिंग फूड’ भी कहते हैं. इससे व्यक्ति के अंदर रोमांटिक फीलिंग्स बढ़ती है.

यह भी पढ़ें: सुहागरात में काम आएंगे ये सुपर सेक्स टिप्स (Super Sex Tips For Your First Night)

Sex Foods
लव फ्रूट्स

स्ट्रॉबेरी: इसमें विटामिन ‘सी’ होता है, जो एंटी-अ‍ॅाक्सीडेंट का काम करता है. यह एंटी-अ‍ॅाक्सीडेंट शरीर की मांसपेशियों और टिशू के लिए आवश्यक होता है.

केला: केले में पोटैशियम और विटामिन ‘बी’ होता है, जो सेक्सुअल हार्मोन बनाने में मदद करता है.

पपीता: इसमें ऐसे केमिकल होते हैं, जो फीमेल हार्मोन के प्रोडक्शन में मदद करतेे हैं और ये हार्मोन रोमांटिक फीलिंग्स बढ़ाने में सहायक होते हैं.

एवोकेडो: इसके आकार की वजह से इसे लव फूड कहते हैं. इसमें विटामिन ई और बी6 होता है, जो रोमांटिक फीलिंग्स और एनर्जी के लिए ज़रूरी है.

अंजीर: मॅाडेस्टी और सेक्सुअलिटी का प्रतीक है अंजीर. इसमें बहुत अधिक मात्रा में पोषक तत्व होते हैं, जो स्वस्थ शरीर और लव फीलिंग्स के लिए अनिवार्य हैं.

रसबेरी: गुलाब की फैमिली का होने के कारण इसे ‘फ्रूट अ‍ॅाफ़ लव’ भी कहते हैं. इसमें फ़ायबर, विटामिन ‘सी’ और मैग्नीज़ होते हैं, जो शरीर को स्वस्थ रखने और रोमांटिक फीलिंग्स को बढ़ाने के लिए ज़रूरी होते हैं. इसका प्रयोग केक, शेक और आइस्क्रीम में किया जाता है

अनार: इसको फ़र्टिलिटी का प्रतीक मानते हैं. इसका प्रयोग कस्टर्ड और शेक के साथ किया जाता है. इसमें आयरन होता है, जो मेल हार्मोन के लिए अनिवार्य होता है.

लव वेजीटेबल्स

स्वीट पोटैटो: इसमें पोटैशियम होता है, जो महिलाओं में रोमांटिक फीलिंग्स को बढ़ाने में सहायक होता है. इसे ज़्यादा नमक के साथ नहीं खाना चाहिए, क्योंकि नमक पोटैशियम के असर को कम कर देता है.

ड्रायफ्रूट्स

पाइन नट्स: इसको न्यूट्रीशन का ‘पावर हाउस’ कहते हैं, क्योंकि इसकी न्यूट्रीशियस वैल्यू बहुत अधिक होती है. इसका सेवन भी प्यार की भावनाओं को बढ़ाता है.

अखरोट: इसमें आर्जीनीन होता है. यह एक अमीनो एसिड है, जो मेल हार्मोन के प्रोडक्शन में मदद करता है. इसका प्रयोग केक, शेक आदि में किया जाता है.

बादाम: इसमें आयरन, मैग्नीज़ और विटामिन्स होते हैं, जो लव फीलिंग्स को बढ़ाने में सहायक होते हैं.

– अभिषेक शर्मा

यह भी पढ़ें: क्यों घट रहा है पुरुषों में स्पर्म काउंट? (What Are The Reasons For Low Sperm Count In Men?)

6 बुरी आदतें जो अच्छी है (6 Bad Habits That Are Good)

सेहतमंद ज़िंदगी (Healthful Life) के लिए हमेशा अच्छी आदतें (Good Habits) अपनाने की सलाह दी जाती है, मगर बुरी (Bad) मानी जाने वाली कुछ आदतें भी ऐसी हैं जो सेहत (Health) के लिए अच्छी साबित हो सकती हैं.

Bad Habits That Are Good

कॉफी पीना
माना कि दिन में 5-6 कप कॉफी गटक जाना कहीं से भी सही नहीं है, मगर रिसर्च बताते हैं कि दिन में 2-3 कप कॉफी पीने से पित्त की पथरी का ख़तरा कम होता है. किडनी स्टोन होने का ख़तरा भी कम रहता है. इतना ही नहीं, यदि आपका मूड ख़राब है तो एक कप कॉफी पी लें. कॉफी में कुछ ऐसे तत्व पाए जाते हैं, जो मूड ठीक करने में मदद करते हैं.

गॉसिप करना
आप सोच रहे होंगे कि भला गॉसिप करने में क्या अच्छाई है? मगर रिसर्च कहते हैं कि गॉसिप करना सेहत के लिए अच्छा है, क्योंकि गॉसिप करने से शरीर से फील गुड हार्मोन रिलीज़ होता है, जो स्ट्रेस और एंग्ज़ाइटी दूर करने में सहायक है. साथ ही ऑफिस में किसी कलीग से मन की बात शेयर कर लेने से आप हल्का महसूस करते हैं.

ज़्यादा सोना
आमतौर पर देर तक सोने वालों को आलसी कहा जाता है, लेकिन शोध के मुताबिक़, जो लोग देर तक सोते हैं यानी अपनी नींद पूरी करते हैं, उनका मेटाबॉलिज़्म अच्छा रहता है और उनका वज़न भी नहीं बढ़ता.

चॉकलेट खाना
चॉकलेट का नाम सुनते ही बच्चों से लेकर बड़ों तक के मुंह में पानी आ जाता है. चॉकलेट जंकफूड है ये सोचकर हम चॉकलेट से परहेज़ करते हैं, जबकि कई रिसर्च में ये बात सामने आई है कि चॉकलेट खाना बुरा नहीं है. ये न स़िर्फ मीठा खाने की संतुष्टि देती है, बल्कि दिल की बीमारियों से भी बचाती है, ख़ासतौर पर डार्क चॉकलेट. ये लो ब्लड प्रेशर को भी नियंत्रित करती है. शोध के मुताबिक़, जो लोग ज़्यादा चॉकलेट खाते हैं उनको स्ट्रोक का ख़तरा कम होता है.

दिन में सपने देखना

Day Dreaming
ऐसा कहा जाता है, जिनके पास कुछ काम नहीं होता वही दिन में सपने देखते हैं. ऐसे लोग आलसी होते हैं, इसलिए काम करने की बजाय जागती आंखों से सपना देखते हैं, जबकि शोध कहते हैं कि दिन में सपने देखने वालों की याददाश्त तेज़ होती है. जर्नल ऑफ साइकोलॉजिकल साइंस में प्रकाशित शोध की मानें, तो दिन में सपने देखने वालों में एकाग्रता अधिक होती है और मल्टीटास्किंग में भी ये अच्छे होते हैं.

ग़ुस्सा करना

Angry Head
हर व्यक्ति का ग़ुस्सा ज़ाहिर करने का तरीक़ा अलग-अलग होता है, हालांकि ग़ुस्से को हमेशा ही सेहत के लिए नुक़सानदायक माना गया है, मगर शोध के अनुसार, ग़ुस्सा बाहर निकाल देने से आप अंदर से शांत हो जाते हैं, जिससे इम्यून सिस्टम इंप्रूव होता है. इतना ही नहीं, ग़ुस्सा ज़ाहिर कर देने से कैंसर का ख़तरा भी कम हो जाता है.

ये भी पढ़ेंः टीनएज बच्चों के लिए टॉप 10 हेल्दी डायट टिप्स (10 Healthy Eating Tips For Teens)