Tag Archives: Coconut Benefits

नारियल के 11 चमत्कारी फ़ायदे (Coconut- The Super Fruit And Its Many Surprising Benefits)

Health Benefits of Coconut

Health Benefits of Coconut

नारियल (Health Benefits of Coconut) का फल (गरी) शीतल, वातशोधक, पुष्टिकारक, बलवर्द्धक और वात-पित्त, दाह व रक्तविकार नाशक है. वैज्ञानिकों के अनुसार नारियल सभी पोषक तत्वों से भरपूर है. ताज़ा नारियल कैलोरी से समृद्ध है एवं उसमें सभी आरोग्यदायक तत्व और विटामिन्स होते हैं.

नारियल पानी
कच्चे नारियल का पानी प्राकृतिक रूप से पौष्टिक होता है. इसमें पोटैशियम और क्लोरीन प्राकृतिक रूप में विद्यमान रहता है. सोते समय इस पानी को पीने से क्षुब्ध नाड़ी संस्थान को आराम मिलता है, जिससे अच्छी नींद आती है.

हृदय रोग
ताज़ा नारियल का रस 50 ग्राम लेकर उसमें भुनी हुई हल्दी की गांठ घिसकर मिलाएं. फिर उसमें 20 ग्राम घी मिलाकर नियमित सेवन करने से हृदय रोग का शमन होता है.

चोट
पुराने खोपरे को बारीक़ कर उसमें एक चौथाई हल्दी मिलाकर पोटली बनाएं और गर्म करके चोटवाले स्थान पर सेंक करें, फिर हल्का गर्म बांध दें. इससे दर्द व सूजन दूर हो जाता है.

यह भी पढ़े: बदहज़मी दूर करने के 20 कारगर उपाय

त्वचा रोग
नारियल के तेल में थोड़ा-सा कपूर मिलाकर लगाने से खाज-खुजली जैसे त्वचा रोगों का निवारण होता है.

मासिक स्राव में कष्ट
मासिक स्राव के समय कष्ट होता हो, तो पकी गरी का एक-दो टुकड़ा खाने से मासिक कष्ट से राहत मिलती है.

अनिद्रा
मानसिक तनाव, चिंता, क्रोध, शारीरिक दुर्बलता के कारण अक्सर अनिद्रा की बीमारी हो जाती है. ऐसे में नारियल के डाभ का पानी पीने से अच्छी नींद आती है.

यह भी पढ़े: परवल के 11 औषधीय गुण

उल्टी
नारियल की जटा जलाकर राख बना लें. इसे एक चम्मच फांककर ऊपर से पानी पीने से लाभ होता है. यह नुस्ख़ा हैजे के लिए भी कारगर है.

क्षय रोग
10 ग्राम कसा हुआ नारियल और लहसुन की पांच कलियां एक साथ पीसकर शहद के साथ सेवन करने से क्षय रोग का निवारण होता है.

वात विकार
एक खोपरे को लेकर उसे कद्दूकस करें, फिर उसमें एक नारियल का पानी और शुद्ध दो भिलावा का चूर्ण मिलाकर उबालें. जब तेल ऊपर आ जाए और गूदा नीचे बैठ जाए तो ऊपर से तेल को निकाल लें. इस तेल को वातरोगी के शरीर पर मलें और नीचे जमे हुए गूदे को रोगी को खिलाएं. 8-10 दिन तक यह प्रयोग करने से हर प्रकार के वात रोग, कमरदर्द, जो़ड़ों का दर्द आदि सब दूर हो जाते हैं.

यह भी पढ़े: मोतियाबिंद के 10 घरेलू उपचार

बच्चों के लिए
* जिन शिशुओं को दूध नहीं पचता, उन्हें दूध के साथ नारियल का पानी मिलाकर पिलाने से दूध आसानी से पच जाता है.
* शिशु को डीहायड्रेशन में नारियल का पानी व नींबू का रस मिलाकर एक चम्मच की मात्रा में 10-10 मिनट पर पिलाने से लाभ होता है.
* बच्चे को दस्त, उल्टी और पेट में कीड़े की हालत में नारियल पानी व नींबू रस मिलाकर देने से आराम मिलता है.

– सावित्री ओमप्रकाश

दादी मां के अन्य घरेलू नुस्ख़े/होम रेमेडीज़ जानने के लिए यहां क्लिक करें-  Dadi Ma Ka Khazana