Comedy serial

कॉमेडियन कपिल शर्मा का शो जितना पॉप्युलर है, उतनी ही मशहूर हैं कपिल शर्मा के साथ जुड़ी कंट्रोवर्सीज़. आइए, कपिल शर्मा की टॉप 10 कंट्रोवर्सीज़ पर एक नज़र डालते हैं.

1) कपिल शर्मा अपने को-स्टार सुनील ग्रोवर से फ्लाइट में मारपीट की वजह से सुर्ख़ियों में रहे. खबरों के अनुसार, ऑस्ट्रेलिया से स्टेज शो करने के बाद लौटते समय फ्लाइट में कपिल अपना आपा खो बैठे और उन्होंने अपने को-स्टार सुनील ग्रोवर के साथ गाली गलौच की और उन पर हाथ भी उठाया. इसका नतीजा ये हुआ कि दोनों ने ट्विटर पर एक-दूसरे को अन-फॉलो कर दिया.
2) खबरों के अनुसार कपिल ने सुनील ग्रोवर की फिल्म ‘डी कंपनी’ का अपने शो में प्रचार करने से भी इनकार कर दिया था, लेकिन कपिल अपनी फिल्म ‘फिरंगी’ का प्रचार शो में किया. हालांकि इस बात का खंडन करते हुए सुनील ने कहा था कि उनकी फिल्म का प्रचार न करने का फैसला निर्माताओं का था, कपिल और उनके बीच सबकुछ नॉर्मल है.
3) कपिल ने सनी लियोनी को अपने शो में बुलाने से इसलिए इनकार कर दिया था, क्योंकि वे पोर्न स्टार रह चुकी हैं, लेकिन कुछ समय बाद कपिल के ही शो में सनी लियोनी ‘रागिनी एमएमएस 2’ और ‘एक पहेली लीला’ के प्रमोशन के लिए आई थीं.
4) कपिल शर्मा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को टैग करते हुए लिखा था, ‘ये हैं आपके अच्छे दिन?’ इस बात को लेकर भी कपिल विवादों में घिरे रहे.
5) कपिल ने मुम्बई की महानगरपालिका पर रिश्वतखोरी का आरोप लगाया था और बाद में खुद ही विवादों में फंसते नज़र आए. फिर बढ़ते विवाद पर विराम लगाने के लिए कपिल ने ट्वीट किया था, “मुझे कुछ लोगों के साथ जिस भ्रष्टाचार के अनुभव का सामना करना पड़ा, उसी को लेकर अपनी चिंता मैंने जाहिर की थी. यह किसी भी राजनैतिक दल के लिए आरोप नहीं है, फिर चाहे बीजेपी हो, शिवसेना या एमएनएस.”

यह भी पढ़ें: क्या इन 12 बॉलीवुड स्टार्स का सरनेम जानते हैं आप? (12 Bollywood Stars Who Removed Their Surname For These Odd Reasons)

6) कपिल शर्मा पर उनके अंधेरी स्थित बंगले में अवैध निर्माण करने और मैंग्रोव को कटवाने का आरोप भी लगा था.
7) कपिल अपने शो ‘कॉमेडी नाइट्स विद कपिल’ के बंद होने के लिए भी चर्चा में रहे. खबरों के अनुसार, कपिल का कहना था कि चैनल ने ‘कॉमेडी नाइट्स विद कपिल’ की तर्ज़ पर उसी तरह का शो ‘कॉमेडी नाइट्स बचाओ’ शुरू कर के उन्हें उनका शो बंद करने के लिए मजबूर किया और चैनल का मानना था कि कपिल अपने स्टारडम को संभाल नहीं सके.
8) ख़बरों के अनुसार, 2014 में CCL (सेलिब्रिटी क्रिकेट लीग) को होस्ट करने के लिए कपिल ने पहले 1.25 करोड़ रुपए का मेहनताना मांगा, उनकी यह मांग पूरी भी हो गई, लेकिन कपिल ने फिर इसलिए तेवर दिखाए, क्योंकि उन्हें वैनिटी वैन नहीं दी गई थी, हालांकि बाद में कपिल ने इसके लिए माफी भी मांगी थी.
9) कपिल शर्मा ने जब अपने शो में जब एक प्रेग्नेंट लेडी का मजाक उड़ाया, तो कई महिला संगठनों ने उनका विरोध किया और कपिल से माफ़ी मांगने के लिए कहा.
10) केआरके यानी कमाल आर खान के साथ ट्विटर वॉर के कारण भी कपिल शर्मा सुर्ख़ियों में रहे.

यह भी पढ़ें: तलाक के बाद भी टूटी नहीं हैं ये टीवी अभिनेत्रियां, हो गई हैं और भी मशहूर (6 TV Actresses Who Got Divorced But Now Are Successful)

7

*एफआईआर’ में मेरे चंद्रमुखी चौटाला के क़िरदार को दर्शकों का भरपूर प्यार मिला, इसके लिए मैं सभी की शुक्रगुज़ार हूं. अब लंबे समय बाद डॉ. भानुमती ऑन ड्यूटी शो में मुझे डॉ. भानुमती, जो एक मिलिट्री डॉक्टर है, के रूप में दमदार रोल मिला है.
* मेरे पिता दिल्ली में डीएसपी व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट थे. उसके बाद उनकी पंजाब, बंगाल अलग-अलग जगहों पर पोस्टिंग होती गई और वे कई भाषाओं को जानने लगे. इन सबका मुझे भी फ़ायदा हुआ. एफआईआर में मेरा चंद्रमुखी का क़िरदार पूरी तरह से मेरे पिता से प्रेरित था.
* मैंने अपने पिता से काफ़ी कुछ सीखा-समझा और पुलिस के जीवन को क़रीब से जाना था, इसी कारण मैं नौ साल तक इंस्पेक्टर चंद्रमुखी के रोल को सफलतापूर्वक निभा सकी. हर किसी ने इसे ख़ूब पसंद भी किया.
* जब मैंने ‘डॉ. भानुमती ऑन ड्यूटी’ के राइटर अमित से शो की स्क्रिप्ट सुनी, तब मैं बेतहाशा हंसती ही रही. इसमें राजस्थानी बैकग्राउंड है और मैं यहां के एक राजा की बेटी हूं, जो बिंदास व थोड़ी अक्खड़ भी है.
* भानुमती डॉक्टर के रूप में किस तरह से सभी को ठीक करती है, वो सब बेहद मज़ेदार है. इसमें मेरे अलावा गोपी व दूधनाथ के कैरेक्टर भी बहुत फनी हैं.
* आज की ज़िंदगी में हर तरफ़ स्ट्रेस बहुत है. ऐसे में कॉमेडी शोज़ लोगों को राहत देते हैं. कपिल शर्मा, भारती, कृष्णा सभी अच्छा कर रहे हैं. इसलिए जो भी अच्छी कॉमेडी कर रहे हैं, उन्हें अच्छी प्रतिक्रियाएं मिल रही हैं. मुझे यक़ीन है कि डॉ. भानुमती ऑन ड्यूटी भी लोगों को बहुत पसंद आएगा.
* हर व्यक्ति विशेष में कुछ न कुछ ख़ास बात होती है, इसलिए मेरा कोई आदर्श नहीं है. मैं हर इंसान के यूनीक क्वालिटी को देखती हूं और भरसक अपनाने की कोशिश करती हूं.
* मैं अधिकतर इंडियन प्रोडक्ट्स ही इस्तेमाल करती हूं, ख़ासकर गांव की महिलाओं द्वारा बनाए गए बैग, कुशन, होम डेकोर के सामान, ताकि उनके रोज़गार को बढ़ावा मिल सके.
* फिलोसॉफी सब्जेक्ट में पढ़ाई करने का मुझे मॉडलिंग, एंकरिंग, एक्टिंग आदि करते हुए काफ़ी फ़ायदा हुआ, ख़ासकर लोगों को पहचानने व समझने में.
* यूं तो मैं रिपोर्टर या डायरेक्टर बनना चाहती थी, पर क़िस्मत अभिनय में ले आई. मैंने बालाजी के लिए ऑडिशन दिया था व सिलेक्ट हो गई और यहीं से मेरे अभिनय का सफ़र शुरू हुआ.
* ‘एफआईआर’ की ज़बरदस्त कामयाबी के बाद मुझे बी ग्रेड मूवी के कई ऑफर आए, लेकिन मैंने सभी को मना कर दिया.
* कोई ज़रूरी नहीं कि मैं फिल्में करूं. मुझे टीवी से बहुत प्यार मिला है. केवल एक मीडियम बदलने के लिए फिल्म करूं, यह मुझे ठीक नहीं लगा. और मैं ख़ुद को बहुत रिस्पेक्ट देती हूं, इसलिए मुझे यह गवारा न था.
* मेरे घर में मेरे दो बच्चे हैं, 66 व 75 साल के (हंसते हुए) यानी मेरे माता-पिता. वे ही मेरी ज़िंदगी हैं. यदि वे ख़ुश व सुखी हैं, तो मैं भी मस्त हूं.
– ऊषा गुप्ता