Tag Archives: compliments

अपनी तारीफ़ में क्या सुनना पसंद करते हैं पुरुष? (Compliments men like to hear)

Compliments men like to hear

अपनी तारीफ़ (Compliments men like to hear) सुनना किसे अच्छा नहीं लगता? तारीफ़ के दो मीठे बोल कानों में मिश्री-सी घोल देते हैं. तारीफ़ छोटे-बड़े सभी में ऊर्जा का संचार करती है और हमारे काम करने की गति को ही बदल देती है. पुरुषों से जुड़े कुछ ऐसे ही तारीफ़ों के बारे में जानते हैं.

Compliments men like to hear

बात पुरुषों की है, तो वे स्वभाव से भले ही थोड़े सख़्त माने जाते हैं, पर उनके मन में भी कोमल भावनाएं छिपी होती हैं और अपनी प्रशंसा सुनते ही उनका दिल तेज़ी से धड़कने लगता है. आइए जानें, किस तरह की तारीफ़ सुनना पसंद करते हैं पुरुष.

आज आप बहुत स्मार्ट लग रहे हैं

लुक्स की तारीफ़ महिलाओं को ही नहीं, पुरुषों को भी पसंद है. अपने डैशिंग लुक्स, हेयर स्टाइल, ब्रांडेड जूतों और घड़ियों को लेकर मिला कोई भी कॉम्प्लीमेंट पुरुषों को बेहद पसंद आता है. कपड़े ख़रीदने या एक्सेसरीज़ लेने में अगर कोई उनका सहयोग मांगे, तो उन्हें बहुत अच्छा लगता है.

आप बहुत सपोर्टिव हैं

दूसरों का ध्यान रखना, सहयोगियों के साथ मिलकर काम करना, हमेशा सबकी मदद करना आदि पौरुष की निशानी है. ऐसे कॉम्प्लीमेंट्स अगर पुरुषों को अपने पुरुष सहकर्मियों से मिलें, तो उन्हें अच्छा लगता है, लेकिन अगर महिलाएं यह कॉम्प्लीमेंट दें, तो पुरुषों का सीना गर्व से चौड़ा हो जाता है.

आपका सेंस ऑफ ह्यूमर बहुत अच्छा है

चतुर, हाज़िरजवाब, ख़ुशमिज़ाज पुरुष सभी को अच्छे लगते हैं. ये हर महफ़िल की शान होते हैं. अगर यह कॉम्प्लीमेंट अपने जाननेवालों, मिलनेवालों से उन्हें मिले तो पुरुष गदगद हो जाते हैं.

आप बहुत लविंग और केयरिंग हैं

जीवनसाथी या बच्चे, फ्रेंड्स या कलीग आपको लविंग और केयरिंग कहें, तो पुरुषों का आत्मबल बढ़ जाता है. परिवार के लिए वो जो कुछ भी करते हैं, अगर घर के सदस्य उन्हें केयरिंग मान लें, तो बस इतना ही काफ़ी है. पुरुष उनके लिए जान भी न्योछावर कर सकते हैं.

आप अपने काम में माहिर हैं

अपने वर्क फील्ड में अगर पुरुष को उनके बॉस, सहकर्मी या कोई सीनियर एक्सीलेंट कह दे या उनके प्रयासों की सराहना करे,  तो पुरुष प्रफुल्लित हो उठते हैं. अपने काम की सराहना हर पुरुष में आत्मविश्‍वास भर देती है.

आप सचमुच बहुत टैलेंटेड हैं

नौकरी, व्यापार या अपने पेशे के अतिरिक्त अगर कोई गुण उनमें है और उसमें वे परफेक्ट हैं और अगर कोई उसे पहचानकर उनकी तारीफ़ करे, तो उन्हें बहुत अच्छा लगता है. समाजसेवा, गायन, लेखन और खेलकूद आदि किसी भी क्षेत्र में अपनी प्रतिभा की मान्यता न केवल पुरुषों को ख़ुशी देती है, बल्कि उन्हें और अच्छा करने के लिए प्रोत्साहित भी करती है.

आज आप बहुत अच्छे लग रहे हैं

महिलाओं की तरफ़ से ख़ासतौर पर गर्लफ्रेंड की ओर से मिला यह कॉम्प्लीमेंट पुरुषों को घंटों, हफ़्तों, महीनों तक ख़ुश रख सकता है. आज के ज़माने में सहकर्मियों से भी यदि यह तारीफ़ सुनने को मिले, तो पुरुष बेहद ख़ुश हो जाते हैं.

आप अपनी उम्र से कम लगते हैं

पुरुषों को भी अपनी उम्र से कम लगना अच्छा लगता है और यह कॉम्प्लीमेंट अगर महिलाओं से मिले, तो सोने पर सुहागा. किसी भी उम्र के पुरुष को छोटा लगना हमेशा पसंद होता है.

आपको तो बहुत लोग पसंद करते हैं

कहनेवाला न केवल इससे अपनी चाहत दर्शाता है, बल्कि वो ख़ास व्यक्ति कितना प्रसिद्ध है यह भी बताता है. पुरुषों को ऐसे जुमले बहुत पसंद होते हैं. उनका कॉन्फिडेंस बूस्ट हो जाता है और काम करने की शक्ति दुगुनी हो जाती है.

आप बड़े टेक्नोसैवी हैं

गैजेट्स पर मास्टरी आज के ज़माने में एक अतिरिक्त टैलेंट है. जब पुरुष कंप्यूटर, लेटेस्ट एप्लीकेशंस, कैमरा, मोबाइल के विषय में अक्सर कॉम्प्लीमेंट पाते हैं, तो इससे उनको स्मार्ट और फिट फील होता है. उनकी कार्यक्षमता भी निखरती है.

आप विश्‍वास के योग्य हैं

किसी भी पुरुष को यह सुनकर बेहद अच्छा लगता है कि लोग उन पर विश्‍वास करते हैं,  फिर चाहे बात चरित्र की हो या काम की, रिश्ते निभाने की हो या सहयोग करने की.

आप बहुत कूल हैं  

कूल होना आज के ज़माने में कॉम्प्लीमेंट है. यह स्मार्टनेस और धैर्य को दर्शाता है. वर्कप्लेस, घर या किसी और पब्लिक प्लेस में अगर आप कूल कहलाए जाते हैं, तो मतलब आप में कोई ख़ास बात है. पत्नी अगर पति की तारीफ़ अकेले में करे, तो उन्हें अच्छा लगता है, पर अगर सोसायटी में सबके सामने करे, तो उन्हें बहुत अच्छा लगता है.

तारीफ़ तो हर रूप में अच्छी लगती है और दिल खोलकर करनी भी चाहिए. पुरुषों को महिलाओं से मिले काम्प्लीमेंट्स ज़्यादा गुदगुदाते हैं और देर तक याद रहते हैं. अपने हुनर, काम या ख़ास प्रयास की सराहना पुरुषों में स्फूर्ति भर देता है. देखने में कठोर, रफ एंड टफ इन पुरुषों पर भी प्रशंसा जादुई असर करती है. तो क्यों न आज ही से दिल खोल के करें उनकी तारीफ़.

– पूनम मेहता