Tag Archives: conception

पर्सनल प्रॉब्लम्स: लैप्रोस्कोपिक सर्जरी के कितने दिनों बाद प्रेग्नेंसी प्लान करूं? (Pregnancy After Laproscopy)

Pregnancy After Laproscopy
मैं 39 वर्षीया शादीशुदा महिला हूं. दो साल पहले ही मेरी शादी हुई थी. कुछ दिनों बाद ही मेरी एंडोमिट्रियोटिक सिस्ट की लैप्रोस्कोपिक सर्जरी हुई थी. मैं जल्द से जल्द मां बनना चाहती हूं. मुझे कब प्रेग्नेंसी प्लान करनी चाहिए.                  
– कंचन देसाई, चेन्नई.

आजकल बहुत-से लोग लेट शादी करते हैं, पर अगर आप 39 साल की हो चुकी हैं, तो आपको ध्यान रखना होगा कि हर ओवरी में सीमित संख्या में ही ओवम होते हैं. 40-41 साल की उम्र तक महिलाओं में प्रजनन क्षमता घट जाती है. इसके अलावा 41 साल की उम्र में होनेवाली प्रेग्नेंसीज़ में कई बार गर्भपात या बच्चे में कोई शारीरिक विकृति होने की भी संभावना रहती है. आपने पहले ही लैप्रोस्कोपिक सर्जरी करवाई है, इसलिए किसी अच्छे इंफर्टिलिटी कंसल्टेंट से मिलें, ताकि जल्द से जल्द आप प्रेग्नेंसी प्लान कर सकें.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: पीरियड्स पोस्टपोन कैसे करूं?

Pregnancy After Laproscopy

मैं 45 वर्षीया महिला हूं. मुझे अक्सर योनिमार्ग से स़फेद स्राव निकलता है और कभी-कभी बहुत खुजली भी होती है. मुझे क्या करना चाहिए?
– करिश्मा यादव, पटना. 

कई बार योनिमार्ग से स़फेद स्राव निकलता है, पर अगर आपको उससे कोई समस्या नहीं है, तोउसके इलाज की कोई ज़रूरत नहीं होती है, वो अपने आप ठीक हो जाता है. योनि में खुजली होना और यूरिन पास करते समय जलन होना किसी इंफेक्शन के कारण हो सकता है और इसके कारण भी स़फेद स्राव होता है. अगर आपको डायबिटीज़ आदि कोई समस्या है, तो काफ़ी हद तक मुमकिन है कि यह फंगल इंफेक्शन हो. सबसे पहले फंगल इंफेक्शन का इलाज कराएं, इसके लिए आप अपने डॉक्टर से सलाह ले सकती हैं. इसके बाद आपको अपने डायबिटीज़ पर नियंत्रण करना होगा. योनि से होनेवाले स्राव के कई कारण हो सकते हैं, इसलिए जल्द से जल्द किसी अच्छे गायनाकोलॉजिस्ट से मिलें.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: एग फ्रीज़िंग की प्रक्रिया में कितना वक्त लगता है?

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

पर्सनल प्रॉब्लम्स: एग फ्रीज़िंग की प्रक्रिया में कितना वक्त लगता है? (What Is The Process For Egg Freezing?)

What Is The Process For Egg Freezing
मैं 32 वर्षीया कामकाजी व तलाक़शुदा महिला हूं. मुझे बच्चों का बहुत शौक़ है, इसलिए दोबारा घर बसाकर मां बनना चाहती हूं, पर इसमें कितना व़क्त लगेगा मुझे भी नहीं पता, इसलिए अपने एग्स को फ्रीज़ करके रखना चाहती हूं. क्या मुझे बता सकती हैं कि एग फ्रीज़िंग की प्रक्रिया में कितना व़क्त लगता है?
– रजनी ठाकुर, पुणे.

एग फ्रीज़िंग की प्रक्रिया में लगभग एक महीने का व़क्त लगता है, जिसमें पहले 2 हफ़्ते मेडिकेशन और अगले 2 हफ़्ते एग्स रिट्रिवल में लगते हैं. पहले 10-12 दिन मेडिकेशन में जाते हैं, जिसके दौरान 4-5 बार अल्ट्रासाउंड भी किया जाता है. दो हफ़्ते बाद जब आपके एग्स मैच्योर हो जाते हैं और ओवरीज़ इसके लिए तैयार हो जाती हैं, तब डॉक्टर रिट्रिवल की प्रक्रिया शुरू करते हैं. इसके लिए आपको एक दिन की छुट्टी लेनी पड़ेगी, ताकि रिट्रिवल के बाद आप बेड रेस्ट ले सकें. आमतौर पर डॉक्टर यह प्रक्रिया वीकेंड पर रखते हैं, ताकि पेशेंट को आराम मिल सके.

यह भी पढ़ें: शारीरिक संबंध के बाद १-२ दिन तक ब्लीडिंग क्यों होती है?

What Is The Process For Egg Freezing

मैं 29 वर्षीया कामकाजी महिला हूं. पिछले कई सालों से पीरियड्स के दौरान मुझे काफ़ी दर्द होता था, तो मैं पेनकिलर ले लेती थी. पर जब ज़्यादा तकलीफ़ बढ़ी, तो गायनाकोलॉजिस्ट को दिखाया. उन्होंने चेकअप करके बताया कि मुझे एंडोमेटिरियोसिस है. यह क्या है, कृपया मेरा मार्गदर्शन करें.
– मनीषा राजभर, पटना.

यूट्रस की अंदरूनी लाइनिंग के टिश्यूज़ को एंडोमेट्रियम कहते हैं. जब ये टिश्यूज़ यूट्र्स के बाहर ओवरीज़ या पेल्विक एरिया में चले जाते हैं, तब उस अवस्था को एंडोमेटिरियोसिस कहते हैं. इसके सही कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है. आमतौर पर यह 25-40 की उम्र की महिलाओं में होता है. इसके कारण महिलाओं को पेड़ू में और पीरियड्स के दौरान काफ़ी दर्द होता है. यह एक वंशानुगत समस्या है. ओरल कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स के सेवन से इसके होने की संभावना कम हो जाती है.

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या आईवीएफ की मदद से कंसीव कर पाऊंगी? (How In Vitro Fertilization Can Help Me Conceive?)

Vitro Fertilization Can Help Me Conceive
मैं 35 वर्षीया शादीशुदा महिला हूं. पिछले 2 सालों से मैं कंसीव नहीं कर पा रही हूं. कृपया, बताएं कि आईवीएफ की मदद से किन रिप्रोडक्टिव प्रॉब्लम्स को सुलझाया जाता है?
– अंकिता शाह, राजकोट.

आईवीएफ निम्नलिखित परिस्थितियों में आपकी मदद कर सकता है- अगर आपकी इंफर्टिलिटी के कारण का पता नहीं चल पाया है, आपके फैलोपियन ट्यूब्स ब्लॉक्ड हैं, आप फर्टिलिटी ड्रग्स और इंट्रायूटेराइन इंसेमिनेशन प्रक्रिया में असफल हो चुकी हैं या फिर जहां इसके साथ मेल सब-फर्टिलिटी की थोड़ी-बहुत संभावना है. आईवीएफ यानी इन विट्रो फर्टिलाइज़ेशन, जिसका अर्थ है ‘ग्लास में फर्टिलाइज़ेशन’ जिसे आमतौर पर ‘टेस्ट ट्यूब बेबी’ के नाम से भी जाना जाता है. आईवीएफ की प्रक्रिया में महिला की ओवरी से अंडों को निकालकर पुरुष के स्पर्म्स के साथ लैब में फर्टिलाइज़ किया जाता है और इसके बाद इस फर्टिलाइज़्ड अंडे को दोबारा महिला के गर्भाशय में डाल दिया जाता है.

यह भी पढ़ें: क्या डायबिटीज़ में गर्भधारण सुरक्षित है?

Vitro Fertilization Can Help Me Conceive

मैं 29 वर्षीया शादीशुदा महिला हूं और एंडोमिट्रियोसिस के बारे में जानना चाहती हूं. यह क्या होता है और इसके लिए क्या उपचार उपलब्ध हैं?
– कुसुम देसाई, अमरावती.

एंडोमिट्रियोसिस ऐसी अवस्था है, जब गर्भाशय की लाइनिंग गर्भाशय के बाहर ओवरीज़ पर या पेल्विक के भीतर चली जाती है. इसके कारण दर्दयुक्त माहवारी, पेल्विक एरिया में दर्द, इंफर्टिलिटी जैसी समस्याएं परेशान कर सकती हैं. हालांकि पेनकिलर्स, हार्मोन ट्रीटमेंट्स और सर्जरी की मदद से इससे छुटकारा पाया जा सकता है, पर मरीज़ की अवस्था को देखते हुए डॉक्टर उपयुक्त उपचार की सलाह देते हैं. हार्मोनल ट्रीटमेंट्स में बर्थ  कंट्रोल पिल्स, मिरेना इंट्रा यूटेराइन सिस्टम और हार्मोनल इंजेक्शन के ज़रिए इसका इलाज किया जाता है.

यह भी पढ़ें: पीरियड्स के पहले ब्रेस्ट्स में गाँठ कहीं कैंसर तो नहीं?

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

 

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्यों यूरिन कंट्रोल नहीं कर पाती हूं? (Why Do I Not Have Bladder Control?)

uncontrolled urination
मैं 48 वर्षीया महिला हूं और आजकल यूरिन पास करने की समस्या से जूझ रही हूं. मैं यूरिन बिल्कुल भी कंट्रोल नहीं कर पाती हूं. मुझे डायबिटीज़ या ब्लड प्रेशर की भी कोई समस्या नहीं है. क्या मुझे तुरंत डॉक्टर को मिलना चाहिए?
– इला वर्मा, जयपुर.

आपकी उम्र में यह एक आम समस्या है, पर अक्सर लोग सामाजिक दबाव के कारण इसे छुपाने की कोशिश करते हैं. इसका कारण यूरिन इंफेक्शन भी हो सकता है. मुझे लगता है आपको सबसे पहले किसी अच्छे गायनाकोलॉजिस्ट से मिलना चाहिए. वह आपको यूरिन टेस्ट करवाने की सलाह दे
सकते हैं. अगर टेस्ट में सब ठीक रहा, तो हो सकता है कि इसका कारण पेल्विक मसल्स या ब्लैडर की कमज़ोरी हो. डॉक्टर आपको कुछ दवाइयां लेने के लिए कह सकते हैं. अगर आप बहुत ज़्यादा चाय, कॉफी या अधिक सोडायुक्त कोल्ड ड्रिंक्स लेती हैं, तो उसे कम कर दें और पेल्विक मसल्स की मज़बूती के लिए आपको कुछ एक्सरसाइज़ करनी चाहिए.

यह भी पढ़ें: पीरियड्स के पहले ब्रेस्ट्स में गाँठ कहीं कैंसर तो नहीं?

 uncontrolled urination
मैं 23 वर्षीया स्वस्थ महिला हूं और मुझे कोई हेल्थ प्रॉब्लम भी नहीं है. मैं गर्भनिरोधक गोलियों का इस्तेमाल करना चाहती हूं, पर क्या इसके लिए मुझे किसी गायनाकोलॉजिस्ट से मिलना पड़ेगा.
– आशा मल्होत्रा, दिल्ली.

आप बिना किसी डॉक्टर की सलाह के ख़ुद से गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन बिल्कुल न करें. एक ओर जहां सभी गर्भनिरोधक गोलियां अलग-अलग होती हैं, वहीं हर महिला की ज़रूरत भी अलग होती है. इसलिए गर्भनिरोधक गोली शुरू करने से पहले डॉक्टर का प्रिस्क्रिप्शन बहुत ज़रूरी है. प्रिस्क्रिप्शन से पहले डॉक्टर आपका बेसिक एक्ज़ामिनेशन करते हैं और उस गोली के फ़ायदे और गोली लेने का सही तरीक़ा भी बताते हैं. साथ ही अगर उस गोली से कोई साइड इफेक्ट हो सकता है, तो वो भी बता देते हैं.

यह भी पढ़ें: क्या डायबिटीज़ में गर्भधारण सुरक्षित है?

 

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

 

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या डायबिटीज़ में गर्भधारण सुरक्षित है? (Is It Safe To Conceive In Diabetes?)

Safe To Conceive In Diabetes
मैं 31 वर्षीया शादीशुदा महिला हूं और मेरा एक तीन साल का बेटा भी है. हाल ही में जांच में पता चला कि मुझे डायबिटीज़ है. मैं दूसरा बच्चा चाहती हूं, पर क्या डायबिटीज़ में गर्भधारण सुरक्षित है?
– कोमल सक्सेना, रोहतक.

डायबिटीज़ में गर्भधारण सुरक्षित है, इसमें डरनेवाली कोई बात नहीं है. अगर आप दूसरा बच्चा चाहती हैं, तो अब आपको बिल्कुल भी देर नहीं करनी चाहिए, क्योंकि आपकी उम्र बढ़ रही है. इसके लिए सबसे ज़्यादा ध्यान देनेवाली बात यह है कि जब भी आप कंसीव करें, तो आपका शुगर लेवल सामान्य रहे. इसके लिए आप रेग्युलर चेकअप कराती रहें. प्रेग्नेंसी से पहले काउंसलिंग के लिए अपने गायनाकोलॉजिस्ट से ज़रूर मिलें. वह आपके डायबेटोलॉजिस्ट से मिलकर इस बात की पुष्टि कर लेंगे कि गर्भधारण के समय आप दवाइयों का सही तरी़के से सेवन कर रही हैं.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या एनीमिया के कारण कंसीव नहीं कर पाऊंगी?

Safe To Conceive In Diabetes

मैं 34 वर्षीया महिला हूं. मेरी एक बार सीज़ेरियन डिलीवरी हो चुकी है. अब मेरे गर्भाशय में 6 सें.मी. का फायब्रॉइड है, पर मुझे उससे कोई तकलीफ़ नहीं है. ऐसे में मुझे क्या करना चाहिए?
– रागिनी यादव, लखनऊ.

महिलाओं में फायब्रॉइड्स का होना आम बात है. फायब्रॉइड्स कैंसर रहित होते हैं, इसलिए इसमें डरनेवाली कोई बात नहीं है. ये बहुत ही धीमी गति से बढ़ते हैं, इसलिए महिलाओं को कंसीव करने में कोई प्रॉब्लम नहीं होती. अगर आपको इससे कोई तकलीफ़ नहीं है, तो आपको इस बारे में चिंता करने की कोई ज़रूरत नहीं है. पर हां, अपने गायनाकोलॉजिस्ट को ज़रूर कंसल्ट करें. वो आपको साल में एक बार सोनोग्राफी के ज़रिए उसे मॉनिटर करने की सलाह दे सकते हैं.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या गर्भनिरोधक गोलियों से ब्रेस्ट कैंसर की संभावना बढ़ जाती है?

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या पीरियड्स न आना प्रेग्नेंसी की निशानी है?

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या एनीमिया के कारण कंसीव नहीं कर पाऊंगी? (Can Anemia Cause Infertility?)

Can Anemia Cause Infertility
मेरी शादी को 2 साल हो चुके हैं और आजकल मैं एनीमिया से परेशान हूं. डॉक्टर ने बताया है कि एनीमिया की शिकार होने के कारण मैं कंसीव नहीं कर सकती. मेरा हीमोग्लोबिन 12 है, क्या यही एनीमिया का कारण है? मेरे पति के सभी टेस्ट्स नॉर्मल हैं. मैं जानना चाहती हूं कि क्या कंसीव करने का कोई और तरीक़ा है?
– विजयलक्ष्मी, उत्तर प्रदेश.

महिलाओं में कंसीव न कर पाने के कई कारण होते हैं. स़िर्फ एनीमिया के कारण ऐसा हो, इसकी संभावना बहुत कम है. आपका हीमोग्लोबिन 12 है, जिसका अर्थ है कि आप सामान्य हैं और आपको एनीमिया नहीं है. मुझे लगता है कि आपको किसी गायनाकोलॉजिस्ट से कंसल्ट करना चाहिए, जो आपके टेस्ट्स करके इस बात का पता लगाने की कोशिश कर सकते हैं कि इसके अलावा कोई और प्रॉब्लम तो नहीं, जैसे- ओवरीज़ में अंडे बन रहे हैं या नहीं और आपकी फैलोपियन ट्यूब्स कहीं डैमेज या ब्लॉक तो नहीं हो गई हैं. इन टेस्ट्स की मदद से आप प्रेग्नेंसी के लिए अपना सही ट्रीटमेंट करवा सकती हैं.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: सेक्स के दौरान वेजाइनल ब्लीडिंग के क्या कारण हो सकते हैं?
 Can Anemia Cause Infertility
मैं 23 वर्षीया स्वस्थ महिला हूं और मुझे कोई हेल्थ प्रॉब्लम भी नहीं है. मैं गर्भनिरोधक गोलियों का इस्तेमाल करना चाहती हूं, पर क्या इसके लिए मुझे किसी गायनाकोलॉजिस्ट से मिलना पड़ेगा.
– आशा मल्होत्रा, दिल्ली.

आप बिना किसी डॉक्टर की सलाह के ख़ुद से गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन बिल्कुल न करें. एक ओर जहां सभी गर्भनिरोधक गोलियां अलग-अलग होती हैं, वहीं हर महिला की ज़रूरत भी अलग होती है. इसलिए गर्भनिरोधक गोली शुरू करने से पहले डॉक्टर का प्रिस्क्रिप्शन बहुत ज़रूरी है. प्रिस्क्रिप्शन से पहले डॉक्टर आपका बेसिक एक्ज़ामिनेशन करते हैं और उस गोली के फ़ायदे और गोली लेने का सही तरीक़ा भी बताते हैं. साथ ही अगर उस गोली से कोई साइड इफेक्ट हो सकता है, तो वो भी बता देते हैं.

यह भी पढ़ें: क्या पीरियड्स न आना प्रेग्नेंसी की निशानी है?

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

 

पर्सनल प्रॉब्लम्स: पीरियड्स के पहले ब्रेस्ट्स में गाँठ कहीं कैंसर तो नहीं? (Can A Cyst In The Breast Before Periods Turn Into Cancer?)

Cyst In The Breast
मैं 18 वर्षीया युवती हूं. हर महीने पीरियड्स के पहले मेरे ब्रेस्ट्स में बहुत दर्द होता है और गांठ भी आ जाती है, जिसके लिए मुझे पेनकिलर लेनी पड़ती है. पर पीरियड्स के बाद न दर्द रहता है और न ही कोई गांठ. मुझे गायनाकोलॉजिस्ट के पास जाने में डर लग रहा है. कहीं ये कैंसर तो नहीं?
– कशिश शुक्ला, इंदौर.

हर महीने चलनेवाले इस चक्र को साइकलिकल मस्ताल्गिया कहते हैं. पीरियड्स के सेकंड हाफ में प्रोजेस्टेरॉन हार्मोन के कारण शरीर में वॉटर रिटेंशन बढ़ जाता है, जिसके कारण ब्रेस्ट्स में भारीपन और दर्द होता है. यह एक सामान्य प्रक्रिया है, जो ज़्यादातर महिलाएं महसूस करती हैं. पर अगर दर्द ज़्यादा है, तो डॉक्टर को दिखाएं. आत्मसंतुष्टि के लिए एक बार डॉक्टर से ब्रेस्ट चेकअप ज़रूर करवाएं.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 Cyst In The Breast
मेरी शादी को तीन साल हो गए हैं, पर अभी तक मैं कंसीव नहीं कर पाई हूं. हम दोनों ने सारे टेस्ट्स करवाए, पर मेरे पति का स्पर्म काउंट कम है, इसलिए डॉक्टर ने तीन महीने की दवा दी है. क्या यह 1-2 महीने में नहीं हो सकता?
– सुमन मिश्रा, मेरठ.

स्पर्म की कमी पुरुषों में आम समस्या है. दवाई का नियमित सेवन, किसी तरह का ट्रॉमा या इंफेक्शन, कोई सर्जरी, डायबिटीज़, कीमो थेरेपी या रेडियो थेरेपी आदि स्पर्म काउंट कम होने के कारण हैं. इस स्थिति को ओलिगो स्पर्मिना कहते हैं. दरअसल, स्पर्म का साइकल 72-90 दिनों का होता है, जिसमें स्पर्म मैच्योर होते हैं. इसीलिए आपके डॉक्टर ने 3 महीने की दवा दी है. 3 महीने बाद टेस्ट ज़रूर करवाएं.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: सेक्स के दौरान वेजाइनल ब्लीडिंग के क्या कारण हो सकते हैं?

 

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या पीरियड्स न आना प्रेग्नेंसी की निशानी है?

पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है? (Why Am I Not Getting Pregnant?)

Why Am I Not Getting Pregnant
मैं 24 वर्षीया शादीशुदा महिला हूं. मेरी शादी को अभी 10 महीने ही हुए हैं, फिर भी सब गुड न्यूज़ के बारे में पूछते रहते हैं. मेरे पति से संबंध भी अच्छे हैं, फिर भी मैं गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं. क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?
– अंजना गिल, कोटा.

आपके लिए यह जानना ज़रूरी है कि क़रीब 90% कपल्स अगर किसी भी तरह की फैमिली प्लानिंग नहीं कर रहे हैं, तो भी शादी के 12 महीने बाद ही कंसीव कर पाते हैं और आपकी शादी को तो अभी स़िर्फ 10 महीने ही हुए हैं. अगर शादी के एक साल बाद भी कपल्स कंंसीव नहीं कर पाते, तब वे किसी भी तरह की जांच के लिए डॉक्टर से मिलते हैं. आंकड़ों के अनुसार कंसीव न कर पाने के 1/3 मामलों में कारण महिला, 1/3 मामलों में पुरुष, तो बाकी के मामलों में संयुक्त कारण हो सकतेे हैं. फ़िलहाल आप दो-तीन महीने इंतज़ार कीजिए और उसके बाद अगर आप चाहें, तो गायनाकोलॉजिस्ट को मिल सकती हैं. वह आपकी जांच करेंगे और आपके पति को किसी यूरोलॉजिस्ट को रेफर कर सकते हैं, जो उनके रिप्रोडक्टिव ऑर्गन्स को चेक करेंगे.

यह भी पढ़ें: र्सनल प्रॉब्लम्स: सेक्स के दौरान वेजाइनल ब्लीडिंग के क्या कारण हो सकते हैं?

Why Am I Not Getting Pregnant

 

मैं 29 वर्षीया कामकाजी महिला हूं. मैं जानना चाहती हूं कि किन कारणों से महिलाओं के हार्मोंस असंतुलित होते हैं. कृपया, मार्गदर्शन करें.
– नैना देसाई, गुड़गांव.

महिलाओं में हार्मोंस असंतुलन के कई कारण हो सकते हैं. अक्सर यह ऑर्गैनिक या स्ट्रेस से जुड़े डिसऑर्डर्स के कारण होता है. अब आपका ही केस ले लें, कामकाजी होने के कारण ऑफिस और घर की दोहरी ज़िम्मेदारियों के कारण अक्सर आप तनाव में रहती होंगी. लगातार तनाव का असर आपके नर्वस सिस्टम पर पड़ता है, जो आपके पीरियड्स को प्रभावित करता है. इसके अलावा जिन महिलाओं में एनोरेक्सिया नर्वोसा या बुलिमिया जैसे ईटिंग डिसऑर्डर्स होते हैं, उनके हार्मोंस भी असंतुलित रहते हैं. साथ ही एथलीट्स या डांसर्स, जो बहुत ज़्यादा एक्सरसाइज़ या वर्कआउट करते हैं, उनके हार्मोंस भी असंतुलित हो सकते हैं.

यह भी पढ़ें:  पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या पीरियड्स न आना प्रेग्नेंसी की निशानी है?

 

 डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

पर्सनल प्रॉब्लम्स: दूसरे बच्चे के लिए क्या एहतियात बरतनी चाहिए? (Second Baby Planning & Precaution Tips)

Second Baby, Planning, Precaution Tips
मेरी उम्र 34 और मेरे पति की 36 है. हमारा 7 साल का एक बेटा है. दूसरे बच्चे के लिए हमें क्या एहतियात बरतनी चाहिए?
– अदिती श्रीवास्तव, मेरठ.

अगर आप दूसरे बच्चे के बारे में सोच रही हैं, तो बिल्कुल भी देर न करें, क्योंकि जल्द ही आप 35 की होनेवाली हैं. अगर आप किसी तरह के प्रीकॉशन्स ले रही हैं, तो तुरंत बंद कर दें और फॉलिक एसिड टैबलेट्स लेना शुरू कर दें. अगर आपको डायबिटीज़, ब्लड प्रेशर या थायरॉइड जैसी कोई समस्या है, तो सबसे पहले किसी अच्छे डॉक्टर से मिलकर तसल्ली कर लें कि आपका शरीर गर्भधारण के लिए तैयार है. अगर नेचुरल तरी़के से आप 3-6 महीने के भीतर गर्भधारण करने में असक्षम हैं, तो आपको किसी गाइनाकोलॉजिस्ट से मिलना होगा.

पर्सनल प्रॉब्लम्स: दूसरे बच्चे के लिए क्या एहतियात बरतनी चाहिए? (Second Baby Planning & Precaution Tips)
मैं 24 साल की युवती हूं. पीरियड्स के दौरान मुझे व्हाइट डिस्चार्ज होता है, जिससे बदबू आती है और खुजली भी होती है. मुझे क्या करना चाहिए?
– धरा पंडित, श्रीनगर.

पीरियड्स के दौरान व्हाइट डिस्चार्ज दिखना मुश्किल है. हो सकता है, सैनिटरी पैड्स के कारण जलन व खुजली हो रही हो. खुजली और वेजाइनल डिस्चार्ज का कारण वेजाइना में बैक्टीरियल या फंगल इंफेक्शन हो सकता है. इसके लिए गाइनाकोलॉजिस्ट आपको 3-6 दिनों के लिए वेजाइनल टैबलेट्स, एंटी फंगल मेडिसिन्स, एंटी बायोटिक्स या कोई क्रीम दे सकते हैं. ध्यान रहे कि हमेशा कॉटन की अंडरवेयर्स ही पहनें और मेडिकेटेड पेरिनियल वॉशेज़ (प्राइवेट पार्ट के लिए इस्तेमाल होनेवाले लिक्विड वॉशेज़) से दूर रहें.

 

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

 

पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या कॉपर टी निकलवाने के तुरंत बाद फर्टिलिटी लौट आती है? (How Long After IUD Removal Can I Get Pregnant?)

Pregnant, copper t
मैं 32 वर्षीया महिला हूं व मेरा 4 साल का बच्चा है. डिलीवरी के छह महीने बाद से ही मैं इंट्रायूटेराइन डिवाइस कॉपर टी इस्तेमाल कर रही हूं. मैं यह जानना चाहती हूं कि क्या कॉपर टी निकलवाने के तुरंत बाद मेरी फर्टिलिटी लौट आएगी या फिर मुझे कंसीव करने में बहुत ज़्यादा समय लगेगा?
– जयश्री मिश्रा, राजकोट.

आपको बता दें कि इंट्रायूटेराइन डिवाइस कॉपर टी निकलवाने के तुरंत बाद ही आपकी फर्टिलिटी वापस आ जाएगी, जबकि हार्मोंसवाले गर्भनिरोधक साधनों का इस्तेमाल करनेवाली महिलाओं के साथ ऐसा नहीं होता. उनकी फर्टिलिटी लौटने में 3 से 6 महीने का समय लगता है, इसलिए अपने पति से इस बारे में बात करें और जब आप प्रेग्नेंसी के लिए तैयार हों, तभी कॉपर टी निकलवाएं.

यह भी पढ़ें: वेजाइनल डिस्चार्ज का क्या कारण हो सकता है?

 

Pregnant, copper t
मैं 50 वर्षीया महिला हूं और पिछले साल ही मेरे पीरियड्स बंद हुए हैं. पिछले दो महीने से मुझे अक्सर योनि में खुजली व डिस्चार्ज हो रहा है. क्या मुझे डॉक्टर से मिलना पड़ेगा?
– तुलिका कमानी, हैदराबाद.

आपका मेनोपॉज़ हो चुका है और आपके द्वारा बताए लक्षणों से लग रहा है कि आपको इंफेक्शन है. सबसे पहले आपको चेकअप कराना पड़ेगा, ताकि पता चल सके कि आपको किस तरह का इंफेक्शन है, जिससे सही इलाज किया जा सके. इसके अलावा आपको पैप स्मियर टेस्ट और ब्लड शुगर चेकअप (फास्टिंग और पोस्ट लंच) ज़रूर कराना चाहिए.

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

महिलाओं की ऐसी ही अन्य पर्सनल प्रॉब्लम्स पढ़ें

 

पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या कंसीव करने की संभावना को जानने के लिए कोई टेस्ट है? (How Can I Check My Fertility?)

मैं 38 वर्षीया महिला हूं और कुछ ही महीनों में अपने 39 वर्षीय मंगेतर से शादी करनेवाली हूं. मेरे मंगेतर को बच्चों का बहुत शौक़ है, इसलिए वो जानना चाहते हैं कि इस उम्र में मेरे कंसीव करने के कितने चांसेज़ हैं? क्या ऐसा कोई टेस्ट है, जिसके ज़रिए मैं इस बारे में पता कर सकती हूं? कृपया मार्गदर्शन करें. 
– ममता मेनन, ग्वालियर.

यह सच है कि 35 साल की उम्र के बाद महिलाओं में फर्टिलिटी का लेवल तेज़ी से नीचे गिरता है, पर आपको अपने मंगेतर को यह समझाना होगा कि बच्चे के लिए आपके एग्स का हेल्दी होना जितना ज़रूरी है, उतना ही उनके स्पर्म की अच्छी क्वालिटी का होना भी ज़रूरी है. एंटी मुलेरियन हार्मोन (एएमएच) नामक ब्लड टेस्ट के ज़रिए आप अपने ओवेरियन रिज़र्व लेवल के बारे में पता कर सकती हैं. हालांकि इससे आपको एग्स के बारे में पता नहीं चलेगा, पर यह आपको आगे आईवीएफ में मददगार साबित हो सकता है. अपने मंगेतर के साथ डॉक्टर से मिलकर इस बारे में अधिक जानकारी लें.

ये भी पढें: बिना सर्जरी ब्लैडर प्रोलैप्स का क्या इलाज है?

resized
मैं 38 वर्षीया महिला हूं. मेरी पिछली डिलीवरी हॉस्पिटल पहुंचने से पहले घर पर ही हो गई थी, जिसके बाद से ही मुझे पीठदर्द और शरीर के निचले हिस्से में भारीपन महसूस हो रहा है. डॉक्टर के मुताबिक़ मेरा गर्भाशय और यूरिनरी ब्लैडर का कुछ हिस्सा नीचे की ओर खिसक गया है. मैं सर्जरी नहीं करवाना चाहती, इसलिए उन्होंने मुझे रिंग पेसरी इंसर्ट करवाने की सलाह दी है, पर इसे हर 3 महीने में बदलना होगा. मुझे क्या करना चाहिए? आप क्या सलाह देंगी.
– मोहिनी राव, नोएडा.

आपके द्वारा बताए लक्षणों से लग रहा है कि आपको गर्भाशय व यूरिनरी ब्लैडर का प्रोलैप्स हुआ है. जैसा कि आपने बताया रिंग पेसरी आपकी समस्या का एक अस्थायी विकल्प है, जो गर्भाशय को उसकी जगह पर वापस पहुंचा देता है, पर इसे हर 3 महीने में या इंफेक्शन होने पर निकलवाना पड़ता है. सर्जरी इसका स्थायी इलाज है, पर चूंकि आप सर्जरी नहीं करवाना चाहतीं, इसलिए इसे ट्राई कर सकती हैं.

ये भी पढें: क्या प्रेग्नेंसी में बहुत ज़्यादा उल्टियां होना नॉर्मल है?

rajeshree-kumar-167x250
डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

 

 

 

हर बीमारी का आयुर्वेदिक उपचार  उपाय जानने के लिए इंस्टॉल करे मेरी सहेली आयुर्वेदिक होम रेमेडीज़ ऐप

पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या एबॉर्शन के बाद कंसीव करने में समस्या आती है? (Does a Past Abortion Affect Chances of Getting Pregnant?)

Pregnancy Problems

 

मैं 29 वर्षीया शादीशुदा महिला हूं. शादी के तुरंत बाद मैंने कंसीव कर लिया था, पर हम दोनों ही इस ज़िम्मेदारी के लिए तैयार नहीं थे, इसलिए एबॉर्शन करा लिया. पर पिछले 2 सालों से हम प्रेग्नेंसी प्लान करना चाहते हैं, पर कंसीव नहीं कर पा रही हूं, इसलिए बहुत ग्लानि महसूस करती हूं. क्या पिछले एबॉर्शन के कारण ऐसा हो रहा है? कृपया, मेरी मदद करें.

– पावनी वर्मा, गुड़गांव.

एबॉर्शन के बाद कुछ महिलाएं आप ही की तरह ग्लानि महसूस करती हैं, पर याद रखें कि यह ़फैसला आपने सोच-समझकर लिया था, इसलिए उसे दिमाग़ से निकाल दें. आप एक बार पहले भी कंसीव कर चुकी हैं, इसलिए दोबारा भी प्रेग्नेंट हो सकती हैं, पर आप कंसीव क्यों नहीं कर पा रही हैं, उसका कारण पता करने के लिए आप दोनों को ही सीमेन एनालिसेस, ट्यूबल पेटेंसी और ओवेरियन फंक्शन जैसे कुछ ज़रूरी टेस्ट कराने होंगे, जिसके बाद ही सही कारणों का पता चल पाएगा.

यह भी पढ़ें: क्या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान गर्भनिरोधक की ज़रूरत नहीं पड़ती?

 

Pregnancy Problems

मैं 36 वर्षीया महिला हूं और मेरी पहली प्रेग्नेंसी को 2 महीने हो गए हैं. सोनोग्राफी के बाद डॉक्टर ने सब नॉर्मल बताया, पर चौथे महीने में ट्रिपल टेस्ट कराने की सलाह भी दी है. यह टेस्ट किसलिए है?

– चेतना पटवा, आगरा.

यह प्रेग्नेंसी की दूसरी तिमाही में किया जानेवाला एक ब्लड टेस्ट है. दरअसल, आपकी उम्र 35 साल से ज़्यादा है और इस उम्र के बाद प्रेग्नेंसी में कुछ असामान्यताएं आ सकती हैं, इसलिए डॉक्टर ने आपको यह टेस्ट कराने की सलाह दी है. ट्रिपल टेस्ट के ज़रिए यह जानने की कोशिश की जाती है कि कहीं गर्भवती मां को कोई क्रोमोज़ोमल असामान्यताएं या फिर न्युरल ट्यूब डिफेक्ट्स की संभावना तो नहीं. आमतौर पर इस टेस्ट के साथ अल्ट्रासाउंड भी किया जाता है. अगर किसी तरह की असामान्यता पाई गई और टेस्ट पॉज़ीटिव आया तो,  आपको एक और टेस्ट कराने की सलाह दी जा सकती है.

यह भी पढ़ें: क्या हीमोग्लोबिन की कमी के लिए हार्मोनल पिल्स लेनी चाहिए ?

पीरियड्स के  दौरान इनसे दूर रहें महिलाएं

  • नमकीन पदार्थ: पीरियड्स के दौरान सबसे पहले खाने में नमक की मात्रा कम करनी चाहिए. इसके अलावा अन्य नमकीन पदार्थ, जैसे- पोटैटो चिप्स, सोडा, चीज़, सोया सॉस आदि. इस दौरान बाहर का खाना खाने से बचना चाहिए, क्योंकि होटल्स आदि में खाने में सोडियम की मात्रा अधिक होती है, जिससे पेट में सूजन आदि की समस्या बढ़
    जाती है.
  • कैफीन: चाय, कॉफी, चॉकलेट जैसे कैफीनयुक्त पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए. माना कि इन दिनों चॉकलेट आदि खाने का बहुत मन करता है, पर कैफीन के ज़्यादा सेवन से पेट में मरोड़ के साथ दर्द, तनाव व थकान आदि की समस्या बढ़ जाती है.
  • तला-भुना व मसालेदार: महीने के उन ख़ास दिनों में तला-भुना व अधिक मसालेदार खाना नहीं खाना चाहिए. इन दिनों पाचनशक्ति धीमी पड़ जाती है, इसलिए गरिष्ठ भोजन से दूर ही रहें. इसके अलावा फैट से भरपूर चीज़ें, जैसे- चीज़ व बटर आदि से बचें.
  • डेयरी प्रोडक्ट्स: पीरियड्स के दौरान डेयरी प्रोडक्ट्स, वेजीटेबल ऑयल, रेड मीट से दूर ही रहें. इसमें पाए जानेवाले अनसैचुरेटेड फैट दर्द बढ़ाते हैं.
यह भी पढ़ें: इंट्रायूटेराइन कॉन्ट्रासेप्टिव (IUD) का इस्तेमाल कितने सालों तक कर सकते हैं?
rajeshree-kumar-167x250
डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected] 

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

महिलाओं की ऐसी ही अन्य पर्सनल प्रॉब्लम्स पढ़ें