Tag Archives: conception

Personal Problems: मिसकैरेज के बाद कंसीव करने में दिक्कत आ रही है (Pregnancy After Miscarriage- What You Need To Know?)

मेरी उम्र 42 वर्ष है. मुझे पिछले 3 महीने से पीरियड्स नहीं आए हैं. पिछले साल भी मेरे पीरियड्स अनियमित हो गए थे, लेकिन ज़्यादा लंबे समय तक नहीं. कहीं मैं प्रेग्नेंट तो नहीं हो गई? हमने कोई कॉन्ट्रासेप्शन भी यूज़ नहीं किया. मेरे बच्चे की उम्र 16 साल है और कुछ दिनों से मेरी तबीयत भी ठीक नहीं चल रही है.
                 – मोनाली बनर्जी, कोलकाता.

ये प्री-मेनोपॉज़ल के लक्षण लगते हैं. यदि आप अपनी प्रेग्नेसी को कंफर्म करना चाहती हैं, तो गायनाकोलॉजिस्ट की सलाह ले सकती हैं या फिर घर पर ही यूरिन प्रेग्नेंसी टेस्ट कर सकती हैं. कई बार हार्मोनल गड़बड़ी या कुछ दवाओं के कारण पीरियड्स अनियमित हो जाते हैं. इसके लिए ज़रूरी है कि आप संतुलित डायट लें, जिसमें हरी सब्ज़ियां, फल, दालें, दूध आदि को शामिल करें. नियमित रूप से एक्सरसाइज़ करें. अपना रूटीन चेकअप, जैसे- ब्लड व यूरिन टेस्ट, सोनोग्राफ़ी, पैप स्मीयर और मैमोग्राफ़ी समय-समय पर कराती रहें.

 

यह भी पढ़ें: Personal Problems: क्या ब्रेस्ट से लिक्विड डिस्चार्ज होना ख़तरनाक है? (Is Abnormal Nipple Discharge Dangerous?)

Pregnancy After Miscarriage

मैं 23 वर्षीया महिला हूं. मेरी शादी को डेढ़ साल ही हुआ है. 9 महीने पहले मेरा 2 माह का मिसकैरेज हुआ था. इसके बाद डॉक्टर ने अगले 6 महीने तक कंसीव न करने की सलाह दी थी. लेकिन अब हम पिछले 3 माह से कंसीव करने की कोशिश कर रहे हैं, पर सफल नहीं हो पा रहे हैं. क्या हमें कोई टेस्ट कराने की ज़रूरत है?.

                       -सिया खंडूरी, दिल्ली.

आप पहले एक बार प्रेग्नेंट हो चुकी हैं, इसका मतलब है कि आपको दोबारा कंसीव करने में कोई समस्या नहीं होगी. बच्चे में किसी तरह की असामान्यताएं होने पर ही प्रेग्नेंसी के पहले 3 महीने में गर्भपात होने की आशंका अधिक होती है. यदि आप गर्भ धारण करना चाहती हैं, तो अपनी पीरियड डेट के पहले दिन को काउंट करते हुए 10 से 20 दिन के बीच इंटरकोर्स करें. सप्लीमेंट के तौर पर फॉलिक एसिड लें और गायनाकोलॉजिस्ट द्वारा बताए गए निर्देशों का पालन करें.

यह भी पढ़ेंPersonal Problems: पीरियड्स में होनेवाले दर्द के लिए क्या कोई ख़ास टेस्ट कराना होगा? (Menstrual Cramps- Diagnosis And Treatments)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Personal Problems: क्या कभी मां नहीं बन सकूंगी? (How Can I Find Out If I Can Get Pregnant?)

मेरी उम्र 28 वर्ष है. मेरी शादी को पांच वर्ष हो गए हैं. शादी के दो साल के बाद ही मुझे 2 माह का गर्भपात हो गया. एक साल के बाद मैं फिर गर्भवती हुई, लेकिन फिर मुझे ढाई महीने का गर्भपात हो गया. मैं बहुत ही निराश हो गई हूं. क्या मैं अब कभी मां नहीं बन सकूंगी?
– मंजरी शिधोरे, नागपुर

सबसे पहले तो आपको अपना पूरा चेकअप करवाना चाहिए, ख़ासतौर पर तब, जब गर्भधारण करना हो. गर्भपात होने के कई कारण हो सकते हैं. कम समय में ही गर्भपात होने का कारण है बेबी में जेनेटिक प्रॉब्लम का होना. हो सकता है गर्भाशय में सेप्टम होने से, हार्मोन्स की कमी से, इंफेक्शन या इम्यूनोलॉजिकल प्रॉब्लम से भी गर्भपात हुआ हो. गर्भाशय के अंदर की प्रॉब्लम जानने के लिए हीस्टिरोस्कोपी करवा सकती हैं. आप मां बन सकती हैं, बशर्ते कि प्रॉब्लम का कारण जानकर उसका सही इलाज करवाया जाए.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: चॉकलेट सिस्ट से बहुत परेशान हूं (Chocolate Cyst: Causes, Symptoms And Treatment)

Pregnancy Test

मेरी उम्र 52 वर्ष है. 2 साल पहले ही मुझे मेनोपॉज़ हो गया था. मेरी समस्या यह है कि मुझे बहुत ज़्यादा गर्मी लगने लगी है, यहां तक कि फैन चालू रहने पर भी मैं पसीने में भीगी होती हूं. मुझे इन दिनों बहुत चिड़चिड़ाहट होने लगी है और ग़ुस्सा भी बहुत आने लगा है, जिसके कारण सब मुझसे परेशान रहने लगे हैं. क्या हर स्त्री ऐसे दौर से गुज़रती है? क्या मेरी समस्या का कोई उपाय है?
– रजनी मल्होत्रा, हिसार.

जब 40 के बाद और 50 के पहले की उम्र में हार्मोन्स का स्तर गिरने लगता है, तब कई स्त्रियों में मेनोपॉज़ के लक्षण नज़र आने लगते हैं. इसी की वजह से ज़्यादा गर्मी महसूस होना, चिड़चिड़ापन, डिप्रेशन, ग़ुस्सा, नींद न आना जैसी समस्याएं होने लगती हैं. ऐसे में आपके लिए सबसे अच्छा उपाय है एस्ट्रोजन के साथ हार्मोनल ट्रीटमेंट. इसके अलावा आजकल नॉन हार्मोनल थेरेपी भी ली जा सकती है, जिसमें सोया एक्सट्रैक्ट व विटामिन्स लिए जा सकते हैं. इस समय ऑस्टियोपोरोसिस से बचाव भी ज़रूरी है. इसके लिए कैल्शियम सप्लीमेंट्स लें.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: पीरियड्स में होनेवाले दर्द के लिए क्या कोई ख़ास टेस्ट कराना होगा? (Menstrual Cramps- Diagnosis And Treatments)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Personal Problems: क्या कंसीव करते ही गायनाकोलॉजिस्ट को मिलना चाहिए? (What’s The Right Time To See A Gynecologist After Conception?)

मैं 22 वर्षीया हूं और मेरी शादी को अभी एक साल ही हुआ है. हमने कभी कोई फैमिली प्लानिंग मेथड का इस्तेमाल नहीं किया. इस महीने दो हफ़्ते तक मेरे पीरियड्स नहीं आए, तो मैंने घर पर ही यूरिन प्रेग्नेंसी टेस्ट (Pregnancy Test) किया, जो पॉज़िटिव आया. मुझे यह जानना है कि क्या मुझे तुरंत गायनाकोलॉजिस्ट (Gynecologist) को मिलना होगा?
– सत्या शर्मा, वाराणसी.

पहली बार गायनाकोलॉजिस्ट से मिलने के लिए आप 8वें से 10वें हफ़्ते के बीच कभी भी जा सकती हैं. याद रखें, प्रेग्नेंसी के पहले तीन महीने महिलाओं के लिए काफ़ी महत्वपूर्ण होते हैं, इसलिए अपना ख़ास ख़्याल रखें, लेकिन अगर आपको इस बीच कभी असामान्य रक्तस्राव हो या पेट के निचले हिस्से में मरोड़ के साथ दर्द हो या फिर बुख़ार हो, तो तुरंत गायनाकोलॉजिस्ट को मिलें.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: चॉकलेट सिस्ट से बहुत परेशान हूं (Chocolate Cyst: Causes, Symptoms And Treatment)

Gynecological Problems

मैं 25 वर्षीया कामकाजी महिला हूं. पीरियड्स के दौरान मुझे काफ़ी तकलीफ़ होती है. मैं कभी पेनकिलर नहीं खाती, पर मेरी सहेलियां हमेशा पेनकिलर लेती हैं और मुझे भी लेने की सलाह देती हैं. क्या मुझे पेनकिलर लेना चाहिए? कृपया, सलाह दें.
– शालिनी ओझा, पटना.

अगर पीरियड्स के दौरान आपको दर्द और मरोड़ ज़्यादा हो रहा हो, तभी पेनकिलर लेना चाहिए, वरना घरेलू नुस्ख़ों और गरम पानी की थैली से भी आपको काफ़ी राहत मिल सकती है. पीरियड्स के दौरान भी जितना हो सके फिज़िकली एक्टिव रहें. अगर आपको पेट फूला हुआ महसूस हो रहा हो, तो पानी पीएं, इससे आपको काफ़ी राहत मिलेगी. इस दौरान फलों का जूस और सब्ज़ियों के सूप आपके लिए काफ़ी हेल्दी और दर्द कम करनेवाले ऑप्शन हैं. खाने में फल और सलाद की मात्रा बढ़ा दें. नमक और चाय-कॉफी की मात्रा कम कर दें.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: पीरियड्स में होनेवाले दर्द के लिए क्या कोई ख़ास टेस्ट कराना होगा? (Menstrual Cramps- Diagnosis And Treatments)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Personal Problems: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं (Possible Reasons You Can’t Get Pregnant)

मैं 27 वर्षीय विवाहिता हूं. मैं मां बनना चाहती हूं, लेकिन गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं. मुझे अनियमित मासिक चक्र की समस्या (Irregular Menstrual Cycle Problem) है और मेरा वज़न भी ज़्यादा है. मेरे पति के वीर्य की मेडिकल रिपोर्ट भी सामान्य है. कृपया सहायता करें.
– मालती जैन, हैदराबाद.

हो सकता है कि आपको पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम हो. ऐसे मरीज़ों में अंडाणु हर महीने बाहर नहीं आते, इसी कारण माहवारी भी अनियमित रहती है और गर्भधारण करने में भी मुश्किल होती है. बाज़ार में कई तरह की दवाइयां और इंजेक्शन उपलब्ध हैं, जिनसे अंडाणु विकसित होता है. सोनोग्राफ़ी से अंडाणु के विकसित होने व फटने का सही समय का पता चलता है. इस व़क़्त यदि पति द्वारा इनसेमिनेशन होता है तो गर्भ धारण की संभावना बढ़ जाती है. इस प्रक्रिया के लिए आपकी फेलोपियन ट्यूब खुली व सामान्य होनी चाहिए, जिसकी जांच एक्स-रे या लेप्रोस्कोपी द्वारा की जा सकती है.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: मेनोपॉज़ के बाद ब्लीडिंग कहीं गंभीर समस्या तो नहीं? (What Does It Mean If You’re Bleeding After Menopause?)

Reasons You Can't Get Pregnant

मैं 19 वर्षीया महिला हूं और मेरा वज़न 73 किलो है. पिछले एक साल से मैं एक्सरसाइज़ और डायटिंग से वज़न कम करने की कोशिश कर रही हूं, लेकिन फ़र्क़ नहीं लग रहा है. इसके अलावा मेरे चेहरे पर काफ़ी बाल भी हैं. इस वजह से मैं बहुत तनाव में हूं. कृपया, सहायता करें.
– राखी टंडन, जमशेदपुर.

आपने यह नहीं बताया कि आपको माहवारी नियमित है या नहीं, क्योंकि ़ज़्यादातर ये दोनों समस्याएं साथ-साथ होती हैं. हो सकता है आपको पॉलिसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम हो, जिसकी वजह से वज़न का बढ़ना, मुंहासे, चेहरे पर अत्यधिक बाल और अनियमित माहवारी की समस्या पैदा हो जाती है. यह एक सामान्य हार्मोनल समस्या है. इसकी जांच सोनोग्राफ़ी या हार्मोनल टेस्ट से की जा सकती है. कुछ ऐसी दवाइयां हैं, जो पाचन क्रिया बढ़ाती हैं और वज़न कम करने में सहायक होती हैं. इससे चेहरे के बाल भी कम होते हैं और माहवारी भी नियमित रहती है. इसके अलावा कीहोल सर्जरी से ओवरी में बनी सिस्ट को जलाया जा सकता है. बेहतर होगा कि आप किसी अच्छे गायनाकोलॉजिस्ट से सलाह लें.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: पीरियड्स में होनेवाले दर्द के लिए क्या कोई ख़ास टेस्ट कराना होगा? (Menstrual Cramps- Diagnosis And Treatments)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

Personal Problems: लंबे समय तक गर्भनिरोधक के इस्तेमाल से समस्या तो नहीं आएगी? (What Are The Long Term Effects Of Birth Control?)

मेरी उम्र 23 साल है. मैं पिछले तीन सालों से गर्भनिरोधक गोलियों (Contraception Pill) का सेवन कर रही हूं. मैं जानना चाहती हूं कि गर्भनिरोधक गोलियों के लंबे समय तक इस्तेमाल से आगे चलकर मुझे गर्भधारण में तो कोई समस्या (Problems) नहीं आएगी?
– चांदनी सक्सेना, अल्मोड़ा.

दुनियाभर में करोड़ों महिलाएं कंट्रासेप्टिव पिल्स का सालों तक इस्तेमाल करती हैं. अगर आप स्वस्थ हैं, स्मोकिंग नहीं करतीं और केवल उसी गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करती हैं, जो आपको सूट करती हैं तो भविष्य में आपको कोई भी समस्या नहीं होनी चाहिए. इन गोलियों से बांध्यपन का ख़तरा नहीं होता. इनका सेवन बंद कर देने के बाद आप तत्काल गर्भधारण कर सकेंगी.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: दो साल में सिर्फ दो बार पीरियड्स आए (Reasons For Irregular Periods)

Effects Of Birth Control

मैं 24 साल की युवती हूं. हाल ही में मैंने अपने मंगेतर के साथ असुरक्षित सेक्स किया. हालांकि इसके दूसरे ही दिन मैंने इमरजेंसी पिल्स ले लिया था, लेकिन मुझे अब भी यह डर लग रहा है कि कहीं मैं प्रेग्नेंट तो नहीं हो जाऊंगी?
– विनीता रामचंद्र, हैदराबाद.

असुरक्षित सेक्स संबंध बनाने के बाद इमरजेंसी पिल्स खाने के बावजूद गर्भधारण का ख़तरा 20 से 25 प्रतिशत तक बना रहता है, ख़ासकर तब, जब आपने अपने ओव्यूलेशन पीरियड के आसपास सेक्स किया हो. अब अगर आपकी माहवारी अनियमित हो गई हो, तो तुरंत प्रेग्नेंसी टेस्ट कराएं. अनचाहे गर्भ के लिए आप एबॉर्शन पिल्स का प्रयोग भी कर सकती हैं.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: सेक्स के दौरान वेजाइनल ब्लीडिंग के क्या कारण हो सकते हैं? (Causes Of Vaginal Bleeding During Sex)

 Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

पर्सनल प्रॉब्लम्स: लैप्रोस्कोपिक सर्जरी के कितने दिनों बाद प्रेग्नेंसी प्लान करूं? (Pregnancy After Laproscopy)

Pregnancy After Laproscopy
मैं 39 वर्षीया शादीशुदा महिला हूं. दो साल पहले ही मेरी शादी हुई थी. कुछ दिनों बाद ही मेरी एंडोमिट्रियोटिक सिस्ट की लैप्रोस्कोपिक सर्जरी हुई थी. मैं जल्द से जल्द मां बनना चाहती हूं. मुझे कब प्रेग्नेंसी प्लान करनी चाहिए.                  
– कंचन देसाई, चेन्नई.

आजकल बहुत-से लोग लेट शादी करते हैं, पर अगर आप 39 साल की हो चुकी हैं, तो आपको ध्यान रखना होगा कि हर ओवरी में सीमित संख्या में ही ओवम होते हैं. 40-41 साल की उम्र तक महिलाओं में प्रजनन क्षमता घट जाती है. इसके अलावा 41 साल की उम्र में होनेवाली प्रेग्नेंसीज़ में कई बार गर्भपात या बच्चे में कोई शारीरिक विकृति होने की भी संभावना रहती है. आपने पहले ही लैप्रोस्कोपिक सर्जरी करवाई है, इसलिए किसी अच्छे इंफर्टिलिटी कंसल्टेंट से मिलें, ताकि जल्द से जल्द आप प्रेग्नेंसी प्लान कर सकें.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: पीरियड्स पोस्टपोन कैसे करूं?

Pregnancy After Laproscopy

मैं 45 वर्षीया महिला हूं. मुझे अक्सर योनिमार्ग से स़फेद स्राव निकलता है और कभी-कभी बहुत खुजली भी होती है. मुझे क्या करना चाहिए?
– करिश्मा यादव, पटना. 

कई बार योनिमार्ग से स़फेद स्राव निकलता है, पर अगर आपको उससे कोई समस्या नहीं है, तोउसके इलाज की कोई ज़रूरत नहीं होती है, वो अपने आप ठीक हो जाता है. योनि में खुजली होना और यूरिन पास करते समय जलन होना किसी इंफेक्शन के कारण हो सकता है और इसके कारण भी स़फेद स्राव होता है. अगर आपको डायबिटीज़ आदि कोई समस्या है, तो काफ़ी हद तक मुमकिन है कि यह फंगल इंफेक्शन हो. सबसे पहले फंगल इंफेक्शन का इलाज कराएं, इसके लिए आप अपने डॉक्टर से सलाह ले सकती हैं. इसके बाद आपको अपने डायबिटीज़ पर नियंत्रण करना होगा. योनि से होनेवाले स्राव के कई कारण हो सकते हैं, इसलिए जल्द से जल्द किसी अच्छे गायनाकोलॉजिस्ट से मिलें.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: एग फ्रीज़िंग की प्रक्रिया में कितना वक्त लगता है?

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

पर्सनल प्रॉब्लम्स: एग फ्रीज़िंग की प्रक्रिया में कितना वक्त लगता है? (What Is The Process For Egg Freezing?)

What Is The Process For Egg Freezing
मैं 32 वर्षीया कामकाजी व तलाक़शुदा महिला हूं. मुझे बच्चों का बहुत शौक़ है, इसलिए दोबारा घर बसाकर मां बनना चाहती हूं, पर इसमें कितना व़क्त लगेगा मुझे भी नहीं पता, इसलिए अपने एग्स को फ्रीज़ करके रखना चाहती हूं. क्या मुझे बता सकती हैं कि एग फ्रीज़िंग की प्रक्रिया में कितना व़क्त लगता है?
– रजनी ठाकुर, पुणे.

एग फ्रीज़िंग की प्रक्रिया में लगभग एक महीने का व़क्त लगता है, जिसमें पहले 2 हफ़्ते मेडिकेशन और अगले 2 हफ़्ते एग्स रिट्रिवल में लगते हैं. पहले 10-12 दिन मेडिकेशन में जाते हैं, जिसके दौरान 4-5 बार अल्ट्रासाउंड भी किया जाता है. दो हफ़्ते बाद जब आपके एग्स मैच्योर हो जाते हैं और ओवरीज़ इसके लिए तैयार हो जाती हैं, तब डॉक्टर रिट्रिवल की प्रक्रिया शुरू करते हैं. इसके लिए आपको एक दिन की छुट्टी लेनी पड़ेगी, ताकि रिट्रिवल के बाद आप बेड रेस्ट ले सकें. आमतौर पर डॉक्टर यह प्रक्रिया वीकेंड पर रखते हैं, ताकि पेशेंट को आराम मिल सके.

यह भी पढ़ें: शारीरिक संबंध के बाद १-२ दिन तक ब्लीडिंग क्यों होती है?

What Is The Process For Egg Freezing

मैं 29 वर्षीया कामकाजी महिला हूं. पिछले कई सालों से पीरियड्स के दौरान मुझे काफ़ी दर्द होता था, तो मैं पेनकिलर ले लेती थी. पर जब ज़्यादा तकलीफ़ बढ़ी, तो गायनाकोलॉजिस्ट को दिखाया. उन्होंने चेकअप करके बताया कि मुझे एंडोमेटिरियोसिस है. यह क्या है, कृपया मेरा मार्गदर्शन करें.
– मनीषा राजभर, पटना.

यूट्रस की अंदरूनी लाइनिंग के टिश्यूज़ को एंडोमेट्रियम कहते हैं. जब ये टिश्यूज़ यूट्र्स के बाहर ओवरीज़ या पेल्विक एरिया में चले जाते हैं, तब उस अवस्था को एंडोमेटिरियोसिस कहते हैं. इसके सही कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है. आमतौर पर यह 25-40 की उम्र की महिलाओं में होता है. इसके कारण महिलाओं को पेड़ू में और पीरियड्स के दौरान काफ़ी दर्द होता है. यह एक वंशानुगत समस्या है. ओरल कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स के सेवन से इसके होने की संभावना कम हो जाती है.

यह भी पढ़ें: कंडोम के इस्तेमाल से प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन क्यों होती है?

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या आईवीएफ की मदद से कंसीव कर पाऊंगी? (How In Vitro Fertilization Can Help Me Conceive?)

Vitro Fertilization Can Help Me Conceive
मैं 35 वर्षीया शादीशुदा महिला हूं. पिछले 2 सालों से मैं कंसीव नहीं कर पा रही हूं. कृपया, बताएं कि आईवीएफ की मदद से किन रिप्रोडक्टिव प्रॉब्लम्स को सुलझाया जाता है?
– अंकिता शाह, राजकोट.

आईवीएफ निम्नलिखित परिस्थितियों में आपकी मदद कर सकता है- अगर आपकी इंफर्टिलिटी के कारण का पता नहीं चल पाया है, आपके फैलोपियन ट्यूब्स ब्लॉक्ड हैं, आप फर्टिलिटी ड्रग्स और इंट्रायूटेराइन इंसेमिनेशन प्रक्रिया में असफल हो चुकी हैं या फिर जहां इसके साथ मेल सब-फर्टिलिटी की थोड़ी-बहुत संभावना है. आईवीएफ यानी इन विट्रो फर्टिलाइज़ेशन, जिसका अर्थ है ‘ग्लास में फर्टिलाइज़ेशन’ जिसे आमतौर पर ‘टेस्ट ट्यूब बेबी’ के नाम से भी जाना जाता है. आईवीएफ की प्रक्रिया में महिला की ओवरी से अंडों को निकालकर पुरुष के स्पर्म्स के साथ लैब में फर्टिलाइज़ किया जाता है और इसके बाद इस फर्टिलाइज़्ड अंडे को दोबारा महिला के गर्भाशय में डाल दिया जाता है.

यह भी पढ़ें: क्या डायबिटीज़ में गर्भधारण सुरक्षित है?

Vitro Fertilization Can Help Me Conceive

मैं 29 वर्षीया शादीशुदा महिला हूं और एंडोमिट्रियोसिस के बारे में जानना चाहती हूं. यह क्या होता है और इसके लिए क्या उपचार उपलब्ध हैं?
– कुसुम देसाई, अमरावती.

एंडोमिट्रियोसिस ऐसी अवस्था है, जब गर्भाशय की लाइनिंग गर्भाशय के बाहर ओवरीज़ पर या पेल्विक के भीतर चली जाती है. इसके कारण दर्दयुक्त माहवारी, पेल्विक एरिया में दर्द, इंफर्टिलिटी जैसी समस्याएं परेशान कर सकती हैं. हालांकि पेनकिलर्स, हार्मोन ट्रीटमेंट्स और सर्जरी की मदद से इससे छुटकारा पाया जा सकता है, पर मरीज़ की अवस्था को देखते हुए डॉक्टर उपयुक्त उपचार की सलाह देते हैं. हार्मोनल ट्रीटमेंट्स में बर्थ  कंट्रोल पिल्स, मिरेना इंट्रा यूटेराइन सिस्टम और हार्मोनल इंजेक्शन के ज़रिए इसका इलाज किया जाता है.

यह भी पढ़ें: पीरियड्स के पहले ब्रेस्ट्स में गाँठ कहीं कैंसर तो नहीं?

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

 

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्यों यूरिन कंट्रोल नहीं कर पाती हूं? (Why Do I Not Have Bladder Control?)

uncontrolled urination
मैं 48 वर्षीया महिला हूं और आजकल यूरिन पास करने की समस्या से जूझ रही हूं. मैं यूरिन बिल्कुल भी कंट्रोल नहीं कर पाती हूं. मुझे डायबिटीज़ या ब्लड प्रेशर की भी कोई समस्या नहीं है. क्या मुझे तुरंत डॉक्टर को मिलना चाहिए?
– इला वर्मा, जयपुर.

आपकी उम्र में यह एक आम समस्या है, पर अक्सर लोग सामाजिक दबाव के कारण इसे छुपाने की कोशिश करते हैं. इसका कारण यूरिन इंफेक्शन भी हो सकता है. मुझे लगता है आपको सबसे पहले किसी अच्छे गायनाकोलॉजिस्ट से मिलना चाहिए. वह आपको यूरिन टेस्ट करवाने की सलाह दे
सकते हैं. अगर टेस्ट में सब ठीक रहा, तो हो सकता है कि इसका कारण पेल्विक मसल्स या ब्लैडर की कमज़ोरी हो. डॉक्टर आपको कुछ दवाइयां लेने के लिए कह सकते हैं. अगर आप बहुत ज़्यादा चाय, कॉफी या अधिक सोडायुक्त कोल्ड ड्रिंक्स लेती हैं, तो उसे कम कर दें और पेल्विक मसल्स की मज़बूती के लिए आपको कुछ एक्सरसाइज़ करनी चाहिए.

यह भी पढ़ें: पीरियड्स के पहले ब्रेस्ट्स में गाँठ कहीं कैंसर तो नहीं?

 uncontrolled urination
मैं 23 वर्षीया स्वस्थ महिला हूं और मुझे कोई हेल्थ प्रॉब्लम भी नहीं है. मैं गर्भनिरोधक गोलियों का इस्तेमाल करना चाहती हूं, पर क्या इसके लिए मुझे किसी गायनाकोलॉजिस्ट से मिलना पड़ेगा.
– आशा मल्होत्रा, दिल्ली.

आप बिना किसी डॉक्टर की सलाह के ख़ुद से गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन बिल्कुल न करें. एक ओर जहां सभी गर्भनिरोधक गोलियां अलग-अलग होती हैं, वहीं हर महिला की ज़रूरत भी अलग होती है. इसलिए गर्भनिरोधक गोली शुरू करने से पहले डॉक्टर का प्रिस्क्रिप्शन बहुत ज़रूरी है. प्रिस्क्रिप्शन से पहले डॉक्टर आपका बेसिक एक्ज़ामिनेशन करते हैं और उस गोली के फ़ायदे और गोली लेने का सही तरीक़ा भी बताते हैं. साथ ही अगर उस गोली से कोई साइड इफेक्ट हो सकता है, तो वो भी बता देते हैं.

यह भी पढ़ें: क्या डायबिटीज़ में गर्भधारण सुरक्षित है?

 

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

 

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या डायबिटीज़ में गर्भधारण सुरक्षित है? (Is It Safe To Conceive In Diabetes?)

Safe To Conceive In Diabetes
मैं 31 वर्षीया शादीशुदा महिला हूं और मेरा एक तीन साल का बेटा भी है. हाल ही में जांच में पता चला कि मुझे डायबिटीज़ है. मैं दूसरा बच्चा चाहती हूं, पर क्या डायबिटीज़ में गर्भधारण सुरक्षित है?
– कोमल सक्सेना, रोहतक.

डायबिटीज़ में गर्भधारण सुरक्षित है, इसमें डरनेवाली कोई बात नहीं है. अगर आप दूसरा बच्चा चाहती हैं, तो अब आपको बिल्कुल भी देर नहीं करनी चाहिए, क्योंकि आपकी उम्र बढ़ रही है. इसके लिए सबसे ज़्यादा ध्यान देनेवाली बात यह है कि जब भी आप कंसीव करें, तो आपका शुगर लेवल सामान्य रहे. इसके लिए आप रेग्युलर चेकअप कराती रहें. प्रेग्नेंसी से पहले काउंसलिंग के लिए अपने गायनाकोलॉजिस्ट से ज़रूर मिलें. वह आपके डायबेटोलॉजिस्ट से मिलकर इस बात की पुष्टि कर लेंगे कि गर्भधारण के समय आप दवाइयों का सही तरी़के से सेवन कर रही हैं.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या एनीमिया के कारण कंसीव नहीं कर पाऊंगी?

Safe To Conceive In Diabetes

मैं 34 वर्षीया महिला हूं. मेरी एक बार सीज़ेरियन डिलीवरी हो चुकी है. अब मेरे गर्भाशय में 6 सें.मी. का फायब्रॉइड है, पर मुझे उससे कोई तकलीफ़ नहीं है. ऐसे में मुझे क्या करना चाहिए?
– रागिनी यादव, लखनऊ.

महिलाओं में फायब्रॉइड्स का होना आम बात है. फायब्रॉइड्स कैंसर रहित होते हैं, इसलिए इसमें डरनेवाली कोई बात नहीं है. ये बहुत ही धीमी गति से बढ़ते हैं, इसलिए महिलाओं को कंसीव करने में कोई प्रॉब्लम नहीं होती. अगर आपको इससे कोई तकलीफ़ नहीं है, तो आपको इस बारे में चिंता करने की कोई ज़रूरत नहीं है. पर हां, अपने गायनाकोलॉजिस्ट को ज़रूर कंसल्ट करें. वो आपको साल में एक बार सोनोग्राफी के ज़रिए उसे मॉनिटर करने की सलाह दे सकते हैं.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या गर्भनिरोधक गोलियों से ब्रेस्ट कैंसर की संभावना बढ़ जाती है?

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या पीरियड्स न आना प्रेग्नेंसी की निशानी है?

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या एनीमिया के कारण कंसीव नहीं कर पाऊंगी? (Can Anemia Cause Infertility?)

Can Anemia Cause Infertility
मेरी शादी को 2 साल हो चुके हैं और आजकल मैं एनीमिया से परेशान हूं. डॉक्टर ने बताया है कि एनीमिया की शिकार होने के कारण मैं कंसीव नहीं कर सकती. मेरा हीमोग्लोबिन 12 है, क्या यही एनीमिया का कारण है? मेरे पति के सभी टेस्ट्स नॉर्मल हैं. मैं जानना चाहती हूं कि क्या कंसीव करने का कोई और तरीक़ा है?
– विजयलक्ष्मी, उत्तर प्रदेश.

महिलाओं में कंसीव न कर पाने के कई कारण होते हैं. स़िर्फ एनीमिया के कारण ऐसा हो, इसकी संभावना बहुत कम है. आपका हीमोग्लोबिन 12 है, जिसका अर्थ है कि आप सामान्य हैं और आपको एनीमिया नहीं है. मुझे लगता है कि आपको किसी गायनाकोलॉजिस्ट से कंसल्ट करना चाहिए, जो आपके टेस्ट्स करके इस बात का पता लगाने की कोशिश कर सकते हैं कि इसके अलावा कोई और प्रॉब्लम तो नहीं, जैसे- ओवरीज़ में अंडे बन रहे हैं या नहीं और आपकी फैलोपियन ट्यूब्स कहीं डैमेज या ब्लॉक तो नहीं हो गई हैं. इन टेस्ट्स की मदद से आप प्रेग्नेंसी के लिए अपना सही ट्रीटमेंट करवा सकती हैं.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: सेक्स के दौरान वेजाइनल ब्लीडिंग के क्या कारण हो सकते हैं?
 Can Anemia Cause Infertility
मैं 23 वर्षीया स्वस्थ महिला हूं और मुझे कोई हेल्थ प्रॉब्लम भी नहीं है. मैं गर्भनिरोधक गोलियों का इस्तेमाल करना चाहती हूं, पर क्या इसके लिए मुझे किसी गायनाकोलॉजिस्ट से मिलना पड़ेगा.
– आशा मल्होत्रा, दिल्ली.

आप बिना किसी डॉक्टर की सलाह के ख़ुद से गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन बिल्कुल न करें. एक ओर जहां सभी गर्भनिरोधक गोलियां अलग-अलग होती हैं, वहीं हर महिला की ज़रूरत भी अलग होती है. इसलिए गर्भनिरोधक गोली शुरू करने से पहले डॉक्टर का प्रिस्क्रिप्शन बहुत ज़रूरी है. प्रिस्क्रिप्शन से पहले डॉक्टर आपका बेसिक एक्ज़ामिनेशन करते हैं और उस गोली के फ़ायदे और गोली लेने का सही तरीक़ा भी बताते हैं. साथ ही अगर उस गोली से कोई साइड इफेक्ट हो सकता है, तो वो भी बता देते हैं.

यह भी पढ़ें: क्या पीरियड्स न आना प्रेग्नेंसी की निशानी है?

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

 

 

पर्सनल प्रॉब्लम्स: पीरियड्स के पहले ब्रेस्ट्स में गाँठ कहीं कैंसर तो नहीं? (Can A Cyst In The Breast Before Periods Turn Into Cancer?)

Cyst In The Breast
मैं 18 वर्षीया युवती हूं. हर महीने पीरियड्स के पहले मेरे ब्रेस्ट्स में बहुत दर्द होता है और गांठ भी आ जाती है, जिसके लिए मुझे पेनकिलर लेनी पड़ती है. पर पीरियड्स के बाद न दर्द रहता है और न ही कोई गांठ. मुझे गायनाकोलॉजिस्ट के पास जाने में डर लग रहा है. कहीं ये कैंसर तो नहीं?
– कशिश शुक्ला, इंदौर.

हर महीने चलनेवाले इस चक्र को साइकलिकल मस्ताल्गिया कहते हैं. पीरियड्स के सेकंड हाफ में प्रोजेस्टेरॉन हार्मोन के कारण शरीर में वॉटर रिटेंशन बढ़ जाता है, जिसके कारण ब्रेस्ट्स में भारीपन और दर्द होता है. यह एक सामान्य प्रक्रिया है, जो ज़्यादातर महिलाएं महसूस करती हैं. पर अगर दर्द ज़्यादा है, तो डॉक्टर को दिखाएं. आत्मसंतुष्टि के लिए एक बार डॉक्टर से ब्रेस्ट चेकअप ज़रूर करवाएं.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: गर्भधारण नहीं कर पा रही हूं, क्या मुझमें कोई प्रॉब्लम है?

 Cyst In The Breast
मेरी शादी को तीन साल हो गए हैं, पर अभी तक मैं कंसीव नहीं कर पाई हूं. हम दोनों ने सारे टेस्ट्स करवाए, पर मेरे पति का स्पर्म काउंट कम है, इसलिए डॉक्टर ने तीन महीने की दवा दी है. क्या यह 1-2 महीने में नहीं हो सकता?
– सुमन मिश्रा, मेरठ.

स्पर्म की कमी पुरुषों में आम समस्या है. दवाई का नियमित सेवन, किसी तरह का ट्रॉमा या इंफेक्शन, कोई सर्जरी, डायबिटीज़, कीमो थेरेपी या रेडियो थेरेपी आदि स्पर्म काउंट कम होने के कारण हैं. इस स्थिति को ओलिगो स्पर्मिना कहते हैं. दरअसल, स्पर्म का साइकल 72-90 दिनों का होता है, जिसमें स्पर्म मैच्योर होते हैं. इसीलिए आपके डॉक्टर ने 3 महीने की दवा दी है. 3 महीने बाद टेस्ट ज़रूर करवाएं.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: सेक्स के दौरान वेजाइनल ब्लीडिंग के क्या कारण हो सकते हैं?

 

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: क्या पीरियड्स न आना प्रेग्नेंसी की निशानी है?