Tag Archives: condom

Personal Problems: क्या कंडोम से एलर्जी हो सकती है? (Can You Be Allergic To Condoms?)

मैं 23 वर्षीय स्त्री हूं. छह माह पूर्व ही मेरा विवाह हुआ है. हम अगले दो सालों तक बच्चा नहीं चाहते, इसलिए कंडोम (Condom) इस्तेमाल करते हैं. लेकिन मुझे इससे असहजता महसूस होती है और दर्द भी होता है. किसी ने मुझे बताया कि कंडोम या उसके जेल से मुझे एलर्जी (Allergic) हो सकती है. क्या वाकई मुझे इससे एलर्जी हो रही है? कृपया मेरी समस्या का समाधान बताएं.
– श्रेया मल्होत्रा, कानपुर.

आपको कंडोम के रबर या फिर इसके जेल से एलर्जी होने की संभावना है. चूंकि अभी आपकी उम्र भी काफ़ी कम है और अगले दो साल तक आप परिवार बढ़ाना नहीं चाहतीं, तो ऐसे में आप गर्भनिरोधक दवाइयों का इस्तेमाल कर सकती हैं. बेहतर होगा कि आप किसी गायनाकोलॉजिस्ट से संपर्क करें, जो आपको बताएंगे कि आपके लिए कौन–सा गर्भनिरोधक उपयुक्त होगा.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: दो साल में सिर्फ दो बार पीरियड्स आए (Reasons For Irregular Periods)

Condoms Allergic

मैं 20 साल की हूं. मेरी समस्या यह है कि अन्य लड़कियों की तुलना में मेरे स्तन बहुत छोटे हैं. मैंने कई ऐसे विज्ञापन पढ़े हैं, जो बिना किसी सर्जरी के स्तन का आकार बढ़ाने का दावा करते हैं. मेरी जल्दी ही शादी होनेवाली है. मैं उन इलाजों और उनके साइड इ़फेक्ट्स के बारे में जानना चाहती हूं.
– राखी लड्ढा, बिजनौर.

ये सच है कि ब्रेस्ट एनलार्जमेंट के लिए आए दिन विज्ञापन प्रकाशित होते रहते हैं, लेकिन उनकी सच्चाई के बारे में कुछ भी कहना मुश्किल है. अगर आप चाहें तो एक्सरसाइज़ करके अपने स्तनों का आकार बढ़ा सकती हैं. इसके लिए आप जिम ज्वाइन कर सकती हैं और इंस्ट्रक्टर को अपना उद्ददेश्य बता दें. इसके अलावा आप गर्भनिरोधक गोलियों का इस्तेमाल भी कर सकती हैं. ये न सिर्फ़ स्तनों का आकार बढ़ाएंगी, बल्कि अनचाहे गर्भ से भी सुरक्षित रखेंगी. वैसे सबसे अच्छा तरीका है-ब्रेस्ट इम्प्लांट, जिसमें 40,000 से 80,000 रुपए ख़र्च आता है. वैसे मेरा मानना है कि ये सब दिमागी फ़ितूर है. अगर आप अपने शरीर के बारे में पॉज़िटिव सोच रखें तो ब्रेस्ट का साइज़ कोई मायने नहीं रखता.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: सेक्स के दौरान वेजाइनल ब्लीडिंग के क्या कारण हो सकते हैं? (Causes Of Vaginal Bleeding During Sex)

 Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

पर्सनल प्रॉब्लम्स: शादी से पहले गर्भनिरोधक की जानकारी कितनी ज़रूरी है? (Pre Wedding Birth Control Guide For Every Bride)

Birth Control Guide
मैं 22 वर्षीया यूनिवर्सिटी छात्रा हूं. कुछ ही दिनों में मेरी शादी होनेवाली है, इसलिए मैं गर्भनिरोधक के बारे में जानना चाहती हूं. कृपया, मुझे सही गर्भनिरोधक के बारे में बताएं.
– आकृति महाजन, नासिक.

यह बहुत अच्छी बात है कि आप गर्भनिरोधक के बारे में सही जानकारी हासिल करना चाहती हैं. दरअसल, असुरक्षित यौन संबंधों के कारण एचआईवी/एड्स जैसे सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन्स (एसटीआई) का ख़तरा बढ़ जाता है. कुछ एसटीआई महिलाओं के फैलोपियन ट्यूब्स को स्थायी रूप से डैमेज भी कर सकते हैं. इसके अलावा आपको पेल्विक इंफ्लेेमेटरी डिसीज़ भी हो सकती है, जो आगे चलकर इंफर्टिलिटी का कारण बन सकती है. गर्भनिरोधक के साधनों में कंडोम काफ़ी इफेक्टिव माना जाता है और साथ ही यह आपको एसटीआई से भी बचाता है. तिमाही गर्भनिरोधक इंजेक्शन भी हैं, पर वो एसटीआई से सुरक्षा नहीं देते.

यह भी पढ़ें: मुझे हमेशा कमज़ोरी क्यों महसूस होती है?

Birth Control Guide
मेरी शादी को 4 साल हो गए हैं और अब मैं मां बनना चाहती हूं. पर 6 साल पहले आए 2 एपिलेप्टिक सीज़र्स (न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर) के कारण मैं आज भी उसकी दवा ले रही हूं. मुझे डर है कि कहीं इससे मेरे बच्चे में जन्म से ही कोई दोष न आ जाए? क्या अब मुझे वो दवा बंद कर देनी चाहिए? कृपया, मेरी मदद करें.
– गुंजन यादव, कटक.

भले ही आप प्रेग्नेंसी के बारे में सोच रही हैं, पर अपनी दवाई बंद न करें. हालांकि जन्म से ही दोषवाली बात से पूरी तरह इंकार नहीं किया जा सकता, पर इस तरह की महिलाओं पर हुए शोध से पता चला है कि दवा लेते हुए भी उन्होंने स्वस्थ बच्चों को जन्म दिया है. वैसे भी सोनोग्राफी के ज़रिए किसी भी तरह की एब्नॉर्मिलिटी की जांच की जा सकती है.
इसलिए अपनी मर्ज़ी से दवा बंद न करें और कोई भी निर्णय लेने से पहले, जिस डॉक्टर से दवा ले रही हैैं, उनसे सलाह ज़रूर ले लें.

यह भी पढ़ें: क्या डिलीवरी के बाद भी आयरन टैबलेट्स की ज़रूरत होती है?

महिलाओं के लिए ख़ास कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स 

हमारे देश में आज भी बहुत-सी महिलाएं गर्भनिरोधक के बारे में बहुत कम जानती हैं. आइए जानें महिलाओं  के लिए ख़ास कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स के बारे में-

कॉम्बिनेशन गोलियां

ज़्यादातर महिलाएं कॉम्बिनेशन गोलियां ही लेती हैं. इसमें एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरॉन होता है, जो फीमेल हार्मोन है. न्यू-जनरेशन और कंवेंशनल पिल्स हैं ये कॉम्बिनेशन टैबलेट्स. क़रीब 99 फ़ीसदी महिलाएं कॉम्बिनेशन गोलियों का ही इस्तेमाल करती हैं.

मिनी पिल्स

मिनी पिल्स में केवल प्रोजेस्टेरॉन हार्मोन होता है. इसे प्रोजेस्टेरॉन- ओनली पिल भी कहा जाता है. 28 गोलियों का एक पैक होता है, जिसमें 21 दिनों की गोलियों में प्रोजेस्टेरॉन हार्मोन होता है और बाकी की 7 गोलियों में कोई हार्मोन नहीं होता. आजकल आख़िरी 7 गोलियों में आयरन होता है, ताकि शरीर में इसकी कमी ना हो.

इमर्जेंसी पिल्स

इमर्जेंसी पिल्स को ममॉर्निंग आफ्टर पिल्सफ भी कहा जाता है. इसकी ख़ासियत ये हैं कि अनचाहे गर्भ को रोकने के लिए इसे अनसेफ सेक्स के 72 घंटों के भीतर ही लेना चाहिए.

rajeshree-kumar-167x250 
डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]  

 

महिलाओं की ऐसी ही अन्य पर्सनल प्रॉब्लम्स पढ़ें

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies