Tag Archives: cosmetics

क्या आपके ब्यूटी प्रोडक्ट्स जल्दी खराब हो जाते हैं? ट्राई करें ये ईज़ी टिप्स (How To Keep Cosmetics And Makeup Tools Clean And Safe)

Makeup Tools

अपने कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स का सही तरी़के से इस्तेमाल एवं देखरेख करके आप उनकी उम्र बढ़ा सकती हैं. कैसे? आइए, हम आपको बताते हैं. 

Makeup Tools

आईशैडो और आईलाइनर
चेहरे का सबसे नाज़ुक हिस्सा हैं आंखें. इन्हें इं़फेक्शन से बचाने के लिए अपना पर्सनल आईशैडो व लाइनर ही प्रयोग करें. आईशैडो को ब्रश से लगाएं. ब्रश को हर माह बदल दें या डिस्पोज़ेबल ब्रश का प्रयोग करें. यदि लंबे समय तक ब्रश का इस्तेमाल करना हो तो ब्रश या स्पंज को कभी-कभी धो लें. लाइनर लगाते समय उसे ़ज़्यादा देर खुला न छोड़ें.

फेस क्रीम और लोशन
अनेक लोशन्स व क्रीम में विटामिन ‘ए’, ‘सी’ और ‘ई’ होते हैं और प्रॉडक्ट का प्रयोग करने और खुलने पर वे हवा के संपर्क में आने पर बेअसर हो जाते हैं. अतः प्रयोग के तुरंत बाद उसका ढक्कन टाइट बंद करें और साफ़ हाथों से क्रीम या लोशन निकालें.

पाउडर
त्वचा पर पाउडर लगाने के बाद हर बार अपने मेकअप ब्रश को धोना न भूलें.

मस्कारा
इसका प्रयोग ़ज़्यादा समय तक नहीं करना चाहिए. अपना मस्कारा दूसरों को लगाने के लिए न दें. मस्कारे के ब्रश को ज़मीन पर न लगने दें, क्योंकि इस पर कीटाणु लगने का ख़तरा रहता है.

आई जेल और क्रीम
रोज़ हवा व बैक्टीरिया के संपर्क में आने से आई जेल और क्रीम ख़राब हो सकती हैं. अतः साफ़ हाथों से ही इनका प्रयोग करें.

Makeup Tools

लिक्विड फाउंडेशन
त्वचा पर लगाने से पहले फाउंडेशन को अच्छी तरह हिला लें. इसका इस्तेमाल करते समय ध्यान रखें कि फाउंडेशन हमेशा अपनी हथेलियों के बीच में ही निकालें.

कंसीलर
इसकी सेल्फ लाइफ बढ़ाने के लिए कंसीलर ब्रश को हर बार प्रयोग के बाद धोना न भूलें.

नेचुरल बॉडी कंसीलर
इस बात का ध्यान रखें कि कंसीलर के अंदर पानी न जाने पाए.

लिपस्टिक
लिपस्टिक की सेल्फ लाइफ बढ़ाने के लिए होंठों पर लगाने के बाद उसकी टिप को साफ़ उंगली पर एक बार घुमाएं और फिर बंद करें. लिपस्टिक को ठंडे स्थान पर रखें और लिप ब्रश से लगाएं. लिप ब्रश को कॉटन बॉल से साफ़ करें.

आई और लिप पेंसिल
कभी भी आई पेंसिल को थूक से गीला करके न लगाएं. ऐसा करने से इं़फेक्शन होने का डर रहता है.

Makeup Tools

रखें अपने कॉस्मेटिक्स का ख़ास ख़्याल
* ब्यूटी प्रॉडक्ट्स (आई लाइनर, लिपस्टिक आदि) को सुरक्षित रखने के लिए उन्हें सूखे, ठंडे और अंधेरी जगह पर रखें.
* धूप, नमी और गर्मी से ब्यूटी प्रॉडक्ट्स को बचा कर रखें.
* किसी भी स्किन केयर प्रॉडक्ट या कॉस्मेटिक का प्रयोग करने से पहले हाथों को साफ़ कर लें. अमूमन, जब भी हथेली पर क्रीम या लोशन निकालते हैं तो हानिकारक कीटाणु क्रीम या लोशन में मिक्स हो जाते हैं. यदि हाथ धुले हों तो खतरा कम रहता है.
* मेकअप ब्रश, स्पॉन्ज/पफ़ को इस्तेमाल के बाद हर बार धोकर रखें.
* प्रोडक्ट को लगाने के बाद बॅाटल या डिब्बी का ढक्कन टाइट बंद करके रखें, ख़ासकर यदि प्रोडक्ट में फ्रेगरेंस और अल्कोहल हो तो.
* किसी भी प्रोडक्ट में बिना किसी निर्देश के पानी न मिलाएं. पानी मिलाने से उसका डायल्यूशन (तरलीकरण) हो जाता है और उसका पीएच बैलेंस बदल जाता है. इससे प्रोडक्ट में मौजूद प्रिज़र्वेटिव्स बेअसर हो जाते हैं, क्योंकि पानी उत्पाद की ख़ुशबू व रंग दोनों को ही परिवर्तित कर देता है.

Makeup Tools
रखें अपने कॉस्मेटिक्स का ख़ास ख़्याल
* यदि आपने किसी क्रीम या लोशन की बड़ी बॉटल ख़रीदी है, तो उसे अपनी ज़रूरत के अनुसार किसी छोटी बॉटल में निकाल लें, लेकिन ध्यान रहे कि क्रीम निकालने के लिए स्टरलाइज़ स्पैटुला का प्रयोग करें.
* सीलबंद क्रीम, लोशन या लिपस्टिक, जो अभी प्रयोग में नहीं हैं, उन्हें अधिक समय तक सुरक्षित रखने के लिए फ्रिज में रखें.
* अपने पर्स और हैंडबैग में अधिक ब्यूटी प्रोडक्ट्स न रखें, क्योंकि शरीर के तापमान और गर्मी के कारण उत्पाद की अनुकूलता नष्ट होने लगती है और कभी-कभी उनका कलर भी बदलने लगता है.
* यदि आप कॉस्मेटिक (लोशन, स्क्रब आदि) को बाथरूम में रखती हैं तो उनको बंद केबिनेट में रखें.
* किसी भी कॉस्मेेटिक का प्रयोग करने के बाद यदि त्वचा पर खुजली, जलन या लाल चकत्ते उभर आएं, तो उसका इस्तेमाल तुरंत बंद कर डॉक्टर को दिखाएं.
* अपने ब्यूटी प्रॉडक्ट्स कभी दूसरों के साथ शेयर न करें. इससे इं़फेक्शन होने का ख़तरा रहता है.
* घर पर भी मेनीक्योर व पेडीक्योर करने से पहले सभी उपकरणों को किसी एंटीसेप्टिक लोशन से साफ़ ज़रूर करें.
* हमेशा ब्रांडेड कंपनियों के कॉस्मेटिक ख़रीदें.

ईज़ी मेकअप ट्रिक्स (Easy Makeup Tricks)

 

 

Easy Makeup Tricks

ईज़ी मेकअप ट्रिक्स (Easy Makeup Tricks)

आईलाइनर सिलेक्शन

– आईलाइनर आपकी आंखों की ख़ूबसूरती बढ़ाकर उन्हें आकर्षक बना सकता है, लेकिन यदि आपने ग़लत रंग के आईलाइनर का चुनाव किया, तो आंखों को डल लुक भी दे सकता है.

– हमेशा यह ध्यान में रखें कि अपर आईलिड के लिए गहरे रंगों का प्रयोग करें और लोअर के लिए सॉफ्ट व हल्के रंगों का प्रयोग करें.

– कलर सिलेक्शन के व़क्त आपका स्किन टोन, बालों का रंग और आंखों का कलर सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है.

– जिनकी आंखों का रंग ग्रीन हो, उन पर लगभग सभी कलर्स अच्छे लगते हैं, जैसे- ब्राउन, गोल्ड, पर्पल आदि. ग्रीन आईज़वाले लोगों में पर्पल का क्रेज़ बढ़ता जा रहा है, क्योंकि पर्पल ग्रीन कलर का कॉन्ट्रास्ट है, जिससे आंखें ख़ूबसूरत लगती हैं.

– भूरे रंग की आंखों पर न्यूट्रल कलर्स, जैसे- ब्राउन और गोल्डन अच्छे लगते हैं.

– ब्राउन यानी कत्थई रंग की आंखों के लिए ब्लैक आईलाइनर बेस्ट ऑप्शन है. ब्लैक कलर ब्राउन को कॉन्ट्रास्ट करते हुए आंखों को डिफाइन करता है और उन्हें सेक्सी लुक देता है. ब्लैक के अलावा नेवी ब्लू भी ब्राउन आंखोंवालों पर बहुत अच्छा लगता है.

टिप्स:

– अपनी थकी व डल आंखों को इंस्टेंट ब्राइटनेस देने के लिए व्हाइट आईलाइनर्स बहुत ही अच्छा ऑप्शन है.

– पेंसिल आईलाइनर्स सबसे सेफ और आसान होते हैं.

– अपर लिड्स के लिए आप जेल या लिक्विड लाइनर का इस्तेमाल कर सकती हैं, क्योंकि ये आंखों को ड्रामैटिक लुक देते हैं.

– अगर सटल लुक चाहिए, तो पाउडर आईलाइनर अच्छा ऑप्शन है.

मस्कारा सिलेक्शन

– ब्लैक-ब्राउन या फिर ब्राउन मस्कारा आप दिन के व़क्त कैज़ुअल लुक के लिए यूज़ कर सकती हैं.

– ये दोनों ही मस्कारा वॉर्म आईशैडोज़, जैसे- प्लम, गोल्ड और ऑलिव के साथ अच्छी तरह से मैच करते हैं.

– अगर आपको ड्रामैटिक लुक चाहिए, तो डार्क ब्लैक मस्कारा यूज़ करें. ईवनिंग लुक के लिए ब्लैक शेड्स परफेक्ट होते हैं, क्योंकि ये सभी कलर्स के आईशैडोज़ को कॉम्प्लीमेंट करते हैं.

– आप आंखों को डिफाइन भी करना चाहती हैं, पर नेचुरल शाइन लुक भी चाहती हैं, तो क्लीयर मस्कारा बेस्ट ऑप्शन है. यह आपको अर्टिफिशियल लुक न देकर नेचुरल शाइन देता है.

ब्लश सिलेक्शन

– अगर वॉर्म स्किन टोन है, तो पीच, एप्रिकॉट, ऑरेंज या कोरल शेड्स आपके लिए परफेक्ट हैं.

– दरअसल पीच और ये तमाम शेड्स आपकी स्किन टोन में अच्छी तरह ब्लेंड होंगे, जबकि रेडिश या पिंकिश शेड्स आर्टिफिशियल लुक देंगे.

– अगर आपका स्किन टोन कूल है, तो पिंक, रेड और बेरी शेड्स यूज़ करें.

– आपके गाल राउंड और भरे हुए हैं, तो आप ज़्यादा यंग और इनोसेंट लगेंगी. ऐसे में आपके इस इनोसेंट लुक को ब्लश से और भी हेल्दी बनाया जा सकता है. अपनी नाक के पास से दो उंगली की दूरी पर ब्लश अप्लाई करें.

– अगर आपके चीकबोन्स उभरे हुए हैं, तो स्माइल करें और उभरे हुए हिस्से पर ब्लश लगाएं.

कॉस्मेटिक सिलेक्शन (Cosmetic Selection)

अब जब चांद खिलेगा आसमान में, तो पूछूंगा मैं उससे कि तेरे बिना क्यों अधूरी लगती है सितारों की ये महफ़िल… जागती आंखों से जब अपने महबूब का सपना देखता हूं, तो क्यों तेरा ही ख़्याल आता है मुझे… तेरा नूर जब बिखरता है, तो रातें हसीं क्यों लगती हैं इतनी और जब तू नहीं, तो सब वीरान-सा क्यों लगता है. ये तू है या मेरे महबूब का अक्स कि तेरे वजूद में उसे और उसके चेहरे में तुझे देखता हूं.
अक्सर हम ऐसे लोगों को देखते हैं, जिनका मेकअप इतना परफेक्ट होता है कि वो नेचुरल ही लगता है और ऐसी भी बहुत-सी महिलाएं होती हैं, जिनका मेकअप मास्क जैसा लगता है. दरअसल, परफेक्ट मेकअप के लिए सही मेकअप सिलेक्शन की जानकारी होना बहुत ज़रूरी है.

फाउंडेशन सिलेक्शन: सबसे पहले अपनी स्किन टाइप को जानें.

अगर आपकी स्किन ड्राई है

– लिक्विड, स्टिक या हाइड्रेटिंग पाउडर फाउंडेशन सिलेक्ट करें.

– लिक्विड और स्टिक की कंसिस्टेंसी क्रीमी होती है और हाइड्रेटिंग पाउडर में त्वचा को मॉइश्‍चराइज़ करनेवाले तत्व होते हैं और वो स्किन को अच्छा कवरेज भी देते हैं.

– जब भी मेकअप ख़रीदें, तो यह देखें कि कॉम्पैक्ट मेकअप या फाउंडेशन का लेबल लगा हो.

अगर आपकी स्किन ऑयली है

– आप ऑयल फ्री लिक्विड या पाउडर फाउंडेशन सिलेक्ट करें.

– इनमें तेल सोखनेवाले तत्व होते हैं, जो त्वचा के अतिरिक्त तेल को सोखकर मैट, स्मूद फिनिश देते हैं.

– ऑयली स्किन पर मिनरल मेकअप भी अच्छा इफेक्ट देता है.

– अगर ऑयली स्किन की वजह से आपको पिंपल्स भी आते हैं, तो सैलिसिलिक एसिड युक्त फाउंडेशन लें, क्योंकि ये तेल का निर्माण करनेवाले ग्लांड्स को तेल बनाने से रोकते हैं, जिससे पिंपल्स रोकने में मदद मिलती है.

अगर कॉम्बीनेशन स्किन है

– पाउडर फाउंडेशन इस तरह यूज़ करें कि जहां ऑयल ज़्यादा आता हो, वहां इसका अधिक इस्तेमाल करें और जहां कम आता है, वहां कम.

– इसका सबसे बड़ा फ़ायदा यह है कि चेहरे के अलग-अलग हिस्सों पर अलग-अलग मात्रा में लगाने पर भी यह पैची लुक नहीं देता है.

अगर सामान्य स्किन है

– आपके लिए पाउडर फाउंडेशन ही परफेक्ट चॉइस है.

– यह अप्लाई करने में आसान होता है और त्वचा में आसानी से अच्छी तरह ब्लेंड हो जाता है.

– इसके बाद अगर कोई बेहतर ऑप्शन है, तो वो है कॉम्पैक्ट में क्रीम फाउंडेशन. यह स्किन में लिक्विड की तरह ब्लेंड हो जाता है.

मेकअप टिप: मेकअप के बाद अगर आप चेहरे पर नैपकीन यूज़ करती हैं या किसी से गले मिलती हैं, तो अक्सर आपका फाउंडेशन कपड़े पर लग जाता है, तो इससे बचने के लिए फाउंडेशन अप्लाई करने के बाद बिना मेकअप लगे पफ को चेहरे पर थपथपा लें.

स्किन टोन के अनुसार मेकअप सिलेक्शन:अक्सर हम यलो बेस्ड और पिंक बेस्ड फाउंडेशन के बारे में सुनते हैं. अधिकतर महिलाएं यलो बेस्ड फाउंडेशन सिलेक्ट करती हैं, क्योंकि वो ज़्यादातर स्किन टाइप को सूट करता है. पिंक बेस्ड फाउंडेशन बहुत ही ज़्यादा गोरी रंगत पर ठीक लगता है. हालांकि उसके बेस से कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता, आप बिना उसका बेस जाने भी अच्छा फाउंडेशन सिलेक्ट कर सकती हैं.

– आप फाउंडेशन का डॉट अपने जॉलाइन के सेंटर में अप्लाई करें और उसे ऊपर व नीचे, दोनों तरफ़ ब्लेंड करें. अगर वो स्किन में पूरी तरह ब्लेंड हो गया, तो समझिए आपका शेड मिल गया.

– इसके अलावा आप अपने स्किन टोन को ध्यान में रखते हुए भी इसे सिलेक्ट कर सकती हैं, जैसे- अगर आपका स्किन टोन कूल है यानी अगर आपकी कलाई की नसों का कलर ब्लू है, तो आपको रोज़ी, रेडिश या ब्लू बेस के फाउंडेशन सिलेक्ट करने चाहिए.

– इसी तरह अगर आपकी कलाई की नसों का कलर ग्रीन है, तो आपका स्किन टोन वॉर्म है. आपको गोल्डन या यलो बेसवाले फाउंडेशन लेने चाहिए.

Makeup tips

लिप कलर सिलेक्शन

– अपने लिप कलर से दो शेड डीप कलर की लिपस्टिक सिलेक्ट करें.

– पिंक और रेड के शेड्स से एक्सपेरिमेंट करें, क्योंकि ये कलर्स सभी स्किन टोन्स पर अच्छे लगते हैं और हर तरह के आउटफिट व हेयर स्टाइल पर सूट करते हैं.

– दिन के समय लिप कलर हल्का ही रखें, बशर्ते आप किसी शादी वगैरह में न जा रही हों.

– अपनी स्किन टोन के अनुसार शेड्स सिलेक्ट करें.

– फेयर स्किन के लिए पिंक अंडरटोन्स के, जैसे- कोरल रेड या डार्क रेड कलर्स अच्छे लगते हैं.

– मीडियम या ऑलिव स्किन टोन पर क्रैनबेरी और ब्रिक रेड कलर्स अच्छे लगते हैं.

– डार्क कॉम्प्लेक्शन पर बरगंडी व ब्राउन टोन्स के रेड शेड्स अच्छे लगते हैं.

– हमेशा लिपस्टिक ख़रीदने से पहले टेस्टर्स से ट्राई ज़रूर करें.

– ट्राई करने से पहले लिप पर लगा पहलेवाला लिप कलर पूरी तरह से हटा लें, वरना कलर मिक्स हो जाएगा और सही शेड का पता नहीं चलेगा.

– कलर देखते व़क्त सही रोशनी होनी चाहिए.

– जब भी लिप कलर ट्राई करें यह ध्यान में रखें कि फेस मेकअप या तो न हो या बहुत ही हल्का हो, वरना कलर का सही इफेक्ट पता नहीं चलेगा.

– अगर आपके साथ कोई फ्रेंड नहीं है, तो काउंटर के लोगों से पूछ लें कि कौन-सा कलर आप पर ज़्यादा अच्छा लग रहा है.

– अपने आउटफिट से लिप कलर एकदम मैच न करें, वो लाउड लगेगा.

– आंखों और लिप्स दोनों में से एक को ही हाईलाइट करें.

 

– कमलेश शर्मा