Tag Archives: Decor

रंगों से सजाएं आशियाना (colorful home decor ideas)

home decor ideas

home decor ideas

अपने सपनों के आशियाने को रंगों से सजाने के लिए घर ले आइए कलरफुल फर्नीचर्स और डेकोर एक्सेसरीज़ ताकि रंग आपके घर में ही नहीं जीवन में भी ख़ुशियां लाएं. कलरफुल डेकोरेटिव आइटम्स और फर्नीचर्स से सजे घर न स़िर्फ मेहमानों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करते हैं, बल्कि इससे घर को न्यू और फ्रेश लुक भी मिलता है.

ब्राइट एक्सेसरीज़
बात फैशन की हो या होम डेकोर की ब्राइट कलर्स इन दिनों डिमांड में हैं, इसलिए अपने घर को सजाने के लिए बोल्ड एंड ब्राइट कलर के होम डेकोर एक्सेसरीज़ को प्राथमिकता दें. इनसे आप मिनटों में अपने घर को फ्रेश और न्यू लुक दे सकती हैं.

home decor ideas

फ्लावर डेकोर 

घर को रंगों से सजाने के लिए आप ताज़े या अर्टिफिशियल फूलों का प्रयोग भी कर सकती हैं. बाज़ार में आपको ढेरों कलरफुल आर्टिफिशिल फ्लावर्स मिल जाएंगे. आप चाहें तो फूलों की बजाय कलरफुल फ्वालर पॉट भी चुन सकती हैं. इन दिनों निऑन कलर के फ्लावर पॉट काफ़ी पॉप्युलर हैं, आप इनका चुनाव भी कर सकती हैं.

home decor ideas

कैंडल्स का कमाल
सेंटर टेबल को न्यू लुक देने के लिए कलरफुल कैंडल्स का चुनाव करें. बाज़ार में न स़िर्फ डिफरेंट शेड्स, बल्कि डिफरेंट शेप और फ्रेगरेंस वाले कैंडल्स मौजूद हैं. अपनी पसंद के अनुसार आप इनका चुनाव कर सकती हैं.

home decor ideas

कलरफुल फर्नीचर
घर को सजाने में फर्नीचर की महत्वपूर्ण भूमिका होती है. आजकल टिपिकल फर्नीचर की बजाय लोग अलग-अलग शेप, डिज़ाइन और कलरफुल फर्नीचर से घर सजाना पसंद करते हैं. आप भी फर्नीचर ख़रीदते समय कुछ नया ज़रूर ट्राई करें.

home decor ideas

ट्रेंडी पिलो कवर
कम ख़र्च में घर का मेकओवर करना चाहती हैं, तो ख़ूबसूरत कलर के पिलो कवर घर ले आएं. इनसे आप मिनटों में घर को न्यू और फ्रेश लुक दे सकती हैं. घर सजाने का ये बहुत ही क़िफायती और आसान तरीक़ा है.

home decor ideas

डायनिंग आर्ट
डायनिंग रूम को बोल्ड-ब्राइट लुक देने के लिए आप या तो ब्राइट कलर का डायनिंग टेबल चुन सकती हैं या फिर लाइट कलर के डायनिंग टेबल को ब्राइट कलर के टेबल क्लॉथ, डिनर सेट, क्रॉकरी आदि से सजा सकती हैं.
क्विक आइडियाज़
यदि फर्नीचर बदलना मुमक़िन न हो और आप ज़्यादा ख़र्च भी नहीं करना चाहतीं, तो सोफा और कुर्सियों के कवर बदलकर भी आप अपने घर को ख़ूबसूरती से सजा सकती हैं. हां, कवर के लिए ब्राइट कलर का चुनाव करें, जो आपके आशियाने को रंगों से भर दें.

home decor ideas

किड्स कॉर्नर
बच्चों के कमरे को सजाने के लिए कलरफुल डेकोरेटिव आइटम्स का जमकर प्रयोग करें, क्योंकि बच्चों को रंगों से ख़ास लगाव होता है. बच्चों के कमरे को सजाने के लिए उनके पसंदीदा कलर, कार्टून कैरेक्टर आदि को ध्यान में ज़रूर रखें. आप चाहें तो बच्चों को ही उनके रूम के डेकोर एक्सेसरीज़ चुनने को कह सकती हैं.

विंडो ड्रेसिंग
अगर आपके घर की दीवारें लाइट कलर की हैं, तो ब्राइट कलर के कर्टन का चुनाव करके आप अपने घर को रंगों से सजा सकती हैं.

किड्स कॉर्नर- कुछ इस अंदाज़ में सजाएं बच्चों का कमरा (Smart Decor Ideas for kids room)

Decor Ideas for kids room
Decor Ideas for kids room
पूरे आशियाने को सजाना आसान काम है, लेकिन जब बात बच्चों के कमरे की आती है, तो मुश्किल बढ़ जाती है. क्या करें, कौन-सी चीज़ कहां रखें, फर्नीचर कैसा हो जैसी बातें सोचकर आप भी परेशान हो जाती होंगी. आपकी इसी परेशानी को दूर करने के लिए हम बता रहे हैं बच्चों का कमरा सजाने के आसान उपाय.

 

Decor Ideas for kids room

Decor Ideas for kids room

कैसा हो वॉल डेकोरेशन?

बच्चों का कमरा सजाने में पहली चुनौती होती है वॉल डेकोरेशन यानी आपके लाड़ले/लाड़ली के कमरे की दीवारें कैसी हों. आप यदि बेटी के कमरे की दीवारों के बारे में सोच रही हैं, तो बेहतर होगा कि पिंक कलर का चुनाव करें. आमतौर पर लड़कियों को पिंक कलर ज़्यादा पसंद आता है. लड़कों के लिए ब्लू कलर बेस्ट हैं, क्योंकि उन्हें ब्लू कलर ज़्यादा पसंद आता है.

* सबसे पहले दीवारों को ब्लू या पिंक कलर से अच्छी तरह कलर करवाएं.

* पेंट करवाने के बाद तरह-तरह के वॉल पेपर्स से आप दीवारों को अट्रैक्टिव बना सकती हैं.

* कमरे की ऊपरी छत पर चांद-सितारे या इसी तरह के दूसरे वॉल पेपर का प्रयोग करें.

* कमरे की एक दीवार पर बटरफ्लाई, ट्री, बर्ड्स, जिराफ जैसी आकृतियों वाला वॉल पेपर लगाएं.

* किसी एक दीवार पर बच्चे की पसंद की सीनरी या बच्चे की कुछ स्पेशल फोटोग्राफ्स लगाएं.

यह भी पढ़ें: बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए अपनाएं ये फेंग्शुई टिप्स

Decor Ideas for kids room

कैसा हो बेड?

दीवारों के बाद बारी आती है बेड की. बच्चों के कमरे के लिए बेड का चुनाव करते समय इन बातों का ध्यान रखेंः

* कार, बार्बी डॉल जैसे डिज़ाइन के बेड मार्केट में मिलते हैं. बच्चों के लिए इस तरह के बेड का चुनाव करें. ये आकर्षक दिखते हैं.

* किंग साइज़ बेड की बजाय सिंगल बेड का चुनाव करें. इससे कमरे में बच्चे के लिए ज़्यादा जगह बचेगी.

* ऐसा बेड चुनें जिसमें स्टोरेज की सुविधा हो. इससे बच्चे के कई सामान उसमें आसानी से आ जाएंगे और कमरा बिखरा हुआ नहीं रहेगा.

* एक कमरे में दो बेड रखने की बजाय डबल फ्लोर वाला बेड चुनें. ये कम जगह घेरता है और कमरे को अट्रैक्टिव लुक भी देता है.

* बेड ख़रीदते समय इस बात का भी ध्यान रखें कि उसके किनारे नुकीले न हों. इससे बच्चों को चोट लग सकती है.

Decor Ideas for kids room

कैसा हो स्टडी टेबल और चेयर?

बच्चे के कमरे में स्पेस का ध्यान रखना बहुत ज़रूरी है, क्योंकि कमरा भरा-भरा होने पर बच्चे चिढ़ जाते हैं. अतः बेड की तरह ही स्टडी टेबल और चेयर का चुनाव करते समय भी इस बात का ध्यान रखें कि वो ज़्यादा जगह न घेरे.

* बच्चों की उम्र के अनुसार ही उनके स्टडी चेयर और टेबल का चुनाव करें.

* स्टडी चेयर और टेबल सिंपल हो, तो ज़्यादा अच्छा रहता है. आप चाहें तो डिज़ाइनर स्टडी चेयर और टेबल का चुनाव भी कर सकती हैं.

* स्टडी चेयर और टेबल ऐसा चुनें जिसमें स्टोरेज की व्यवस्था हो. इससे बच्चों की क़िताबें आदि बिखरी हुई नहीं रहेंगी.

* अटैच्ड स्टडी चेयर और टेबल भी अच्छा विकल्प हो सकता है. ये जगह भी कम घेरता है.

* स्टडी चेयर और टेबल ख़रीदते समय बच्चे की उम्र और हाइट का विशेष ध्यान रखें.

यह भी पढ़ें: 5 आसान फेंगशुई टिप्सः घर को बचाएं निगेटिव एनर्जी से

Decor Ideas for kids room

कैसे सिलेक्ट करें कर्टन?

बच्चों के कमरे में वैसे तो कर्टन की कोई ख़ास आवश्यकता नहीं होती, लेकिन बाकी कमरों से तालमेल बिठाने के लिए परदा लगाना ज़रूरी है. बच्चों के कमरे के लिए परदे चुनते समय इन बातों का ध्यान रखें.

* सिल्क के परदे लगाने से बचें.

* क्रीम, व्हाइट जैसे हल्के रंग के परदों का चुनाव न करें.

* कॉटन के साधारण परदों का चुनाव करें.

* कर्टन एक्सेसरीज़ से बचें. इनकी आवाज़ से बच्चे डिस्टर्ब होते हैं और उसी में उलझे रहते हैं.

* बहुत भारी और एम्ब्रॉयडरी वाले परदे बच्चों के कमरे में न लगाएं. इसमें बच्चों के फंसने और गिरने का डर रहता है.

Decor Ideas for kids room
क्या न करें?

* बच्चों के कमरे की सजावट करते समय अपनी पसंद उन पर न थोपें, नहीं तो वो बच्चों का कमरा लगने की बजाय किसी बड़े का कमरा लगेगा.

* कमरे को लग्ज़ीरियस लुक देने की ग़लती न करें. बच्चे के व्यवहार से आप पूरी तरह वाक़िफ हैं. अतः उसी के अनुसार कमरे को सजाएं.

* बहुत ज़्यादा एक्सेसरीज़, जैसे- वॉल हैंगिंग्स, डोर हैंगिंग्स आदि न लगाएं. बच्चे इन्हें पसंद नहीं करते.

* कमरे को बहुत ज़्यादा सामान से भरने की ग़लती न करें.

* कमरे में बहुत महंगी चीज़ें न रखें. उदाहरण के लिए- महंगे वॉल पेपर्स, कुर्सी-टेबल आदि.

* कमरे में नुकीले फर्नीचर न रखें.

* कमरे में स्विच बोर्ड बच्चों की पहुंच से ऊपर लगवाएं.

* एसी का रिमोट रखने के लिए होल्डर भी बच्चों की पहुंच से ऊपर लगवाएं.

* बच्चों के कमरे में टीवी और कंप्यूटर लगाने की ग़लती न करें.

* प्रेस, हीटर आदि चीज़ें बच्चों के कमरे में न रखें.

सबसे पहले ये निश्‍चित कर लें कि आपको कमरा किसके लिए सजाना है बेटे या बेटी के लिए, क्योंकि दोनों की पसंद अलग-अलग होती है.

– श्‍वेता सिंह

यह भी पढ़ें: 5 आसान फेंगशुई टिप्सः घर को बचाएं निगेटिव एनर्जी से

ग्लास डेकोरेशन से घर को दें क्लासी लुक (Amazing glass decoration ideas that will make your home classy)

glass decoration

glass decoration
आप घर को डिफरेंट लुक देना चाहती हैं और घर में छोटे बच्चे नहीं है, तो ग्लास यानी कांच से बनी चीज़ों से आप अपने घर का कंप्लीट मेकओवर करके उसे क्लासी लुक (classy look) दे सकती हैं.

 

डिज़ाइनर मिरर- आइना तो हर घर में होता है, लेकिन आप चाहती हैं कि आपके घर का आइना हर किसी को आकर्षित करे, तो साधारण मिरर की बजाए दीवार पर अट्रैक्टिव फ्रेम वाला मिरर लगाएं.

glass decoration

कांच की टेबल- डायनिंग एरिया को क्लासी लुक देने के लिए वुडन डायनिंग टेबल की जगह रखिए ग्लास की टेबल. आप अपनी पसंद और जगह के अनुसार राउंड या स्न्वेर (चौकोर) टेबल ले सकती हैं. ग्लास डायनिंग टेबल की एक और ख़ासियत ये है कि ये हर तरह की डेकोर थीम के साथ मैच हो जाता है. डायनिंग एरिया के अलावा ड्रॉइंग रूम में भी ग्लास टेबल से कमरे को क्लासी लुक (classy look) दिया जा सकता है.

glass decoration glass decoration

ग्लास फ्लावर पॉट- फूल चाहें ताज़े हों या आर्टिफिशयल, कांच के ख़ूबसूरत वॉज़ में रखने से इनकी सुंदरता दुगुनी हो जाती है, तो अब अपने पुराने वॉज़ को रिप्लेस कर दीजिए और ले आइए ग्लास के अट्रैक्टिव और डिफरेंट कलर, डिज़ाइन वाले वॉज़.

शेल्फ- बेडरूम में कोई डेकोर एक्ससेरीज़ रखनी हो या किचन के छोटे-मोटे बर्तन या फिर बाथरूम में साबुन व अन्य सामान इनके लिए कांच के शेल्फ बनवाएं. ट्रांस्पेरेंट ग्लास के साथ ही आप इसके लिए कलरफुल ग्लास का भी इस्तेमाल कर सकती हैं. ग्लास के बुक शेल्फ भी आकर्षक लगते हैं.

glass decoration

ग्लास पार्टीशन- यदि आपका लिविंग रूम बड़ा है और आप उसका पार्टीशन करना चाहती हैं, तो ग्लास से बेहतर ऑप्शन और कुछ नहीं हो सकता. आजकल ग्लास पार्टीशन बहुत पॉप्युलर है. अट्रैक्टिव दिखने के साथ ही इससे छोटा कमरा भी बड़ा दिखता है.

ग्लास एक्सेसरीज़- मार्केट में कांच की बनी ढेर सारी डेकोर एक्सेसरीज़ मिलती हैं. ख़ूबसूरत शोपीस से लेकर फ्रेम व स्टैच्यू. इन सबसे आप अपने आशियाने का लुक बदलने के साथ ही किसी को गिफ्ट के रूप में भी दे सकती हैं.

glass decoration

glass decoration glass decoration

स्मार्ट टिप्स
किचन में ट्रांस्पेरेंट ग्लास के जार रखकर आप किचन का मेकओवर कर सकती हैं.

डायनिंग टेबल पर डिज़ाइनर ग्लास बाउल और वाइन ग्लास से भी घर को आकर्षक बनाया जा सकता है.

ग्लास के हैंगिंग पॉट से आप इनडोर और आउटडोर गार्डनिंग का लुक बदल सकती हैं.

ग्लास केयर
कांच के बर्तनों की सफ़ाई के लिए कपड़े की बजाय न्यूज़पेपर का इस्तेमाल करें. पेपर को पानी में भिगोकर कांच के बर्तन, शोपीस, फ्रेम व खिड़कियों   की सफ़ाई करें.

आलू से भी आप कांच के सामान की सफ़ाई कर सकती हैं. आलू को काटकर कांच पर रगड़िए इससे उस पर जमी गंदगी तुरंत साफ़ हो जाएगी.

खिड़की, कांच की टेबल, बर्तन व अन्य सामान को चमकाने के लिए उस पर थोड़ा-सा वोडका स्प्रे करके कपड़े से पोंछ दें.

कांच के बर्तनों को धोने के लिए हमेशा सॉफ्ट स्पंच का इस्तेमाल करें.

कांच के बर्तन या अन्य सामान पर लगे स्टिकर हटाने के लिए उसे पहले गरम पानी और डिटर्जेंट के घोल में डालकर 20-25 मिनट के लिए छोड़ दें.    फिर उंगली या बिना धार वाले चाकू की मदद से इसे धीरे-धीरे निकालें, स्टिकर आसानी से निकल जाएगा. यदि कांच के सामान को पानी में भिगोना  संभव न हो, तो गरम पानी और डिटर्जेंट के घोल में कपड़ा या स्पंच भिगोकर स्टिकर पर 20-25 मिनट के लिए रख दें.

– कंचन सिंह

क्रिसमस में यूं सजाएं आशियाना (decorate you dream home for Christmas)

christmas-home-decor-ideas-joysdonweb

एक समय था, जब क्रिसमस को पश्‍चिम का त्योहार ही माना जाता था, लेकिन अब ये हमारी संस्कृति में भी इस कदर घुल-मिल गया है कि किसी भी अन्य भारतीय त्योहार की तरह हम इसे भी सेलिब्रेट करते हैं. क्रिसमस के मौ़के पर यदि आप भी घर पर पार्टी रखना चाह रही हैं, तो क्रिसमस ट्री को सजाने के साथ ही आपको अपने ड्रीम होम की सजावट का भी ध्यान रखना होगा, ताकि घर आए मेहमान आपकी मेहमांनवाज़ी के साथ ही आपके होम डेकोर के भी कायल हो जाएं.

अट्रैक्टिव हो डेकोरेशन
क्रिसमस के मौ़के पर आमतौर पर लाल रंग का इस्तेमाल ज़्यादा होता है, क्योंकि यह माहौल में गर्माहट का एहसास करता है, तो आप भी अपने घर को सजाते समय कोबाल्ट ब्लू और सुर्ख़ लाल रंग को ख़ास जगह दें. हॉल या एंट्रेंस जहां पार्टी रखने वाली हैं, उसे रंग-बिरंगी लाइट, कैंडल्स व फूलों से सजाएं.

garland-top

पेपर डेकोरेशन
क्रिसमस के दौरान पेपर डेकोरेशन सबसे ज़्यादा किया जाता है. आप चाहें, तो पूरे घर को पेपर की स्टाइलिश कटिंग से सजा सकते हैं. इसके अलावा, मेहमानों को दिए जाने वाले गिफ्ट की पैकिंग में भी आप पेपर डेकोरेशन का इस्तेमाल कर सकती हैं.

डायनिंग एरिया
डाइनिंग टेबल को कलरफुल लाइट्स, कैंडल व फ्रूट्स से सजाएं. फ्रूट्स को पिरामिड के शेप में सजाएं. क्रिसमस लुक देने के लिए संतरे का इस्तेमाल ज़्यादा करें.

christmas-table

 

मेटलपीस को सजाएं
अपने घर के मेटलपीस को सजाने के लिए माला, कैंडल और फूलों का इस्तेमाल करें. इससे फर्नीचर वाला रस्टिक लुक आएगा और कमरे को भी ट्रेडिशनल लुक मिलेगा.

हॉलवे आइडिया
अपने घर को हॉलवे तरीके से डेकोरेट करें ताकि आपके घर आनेवाले हर मेहमान का स्वागत नए तरीके से हो. आप चाहें तो घर में बाज़ार में मिलने वाली क्रिसमस लड़ी (हरी माला) और लाल रिबन का यूज़ कर सकते हैं. ये होम डेकोर को ट्रेडिशनल लुक देगा.

living-room-decorating-ideas-for-small-spaces-christmas-stair-decoration-ideas-christmas-dorm-decorations-640x480

यूं सजाएं सीढ़ियां
बाज़ार में मिलने वाली क्रिसमस लड़ी से आप घर की सीढ़ियों को सजा सकती हैं. साथ ही सजावट में लाइट्स का भी इस्तेमाल किया जा सकता है.

अट्रैक्टिव झूमर
क्रिसमस के दौरान अपने लीविंग रूम में आकर्षक झूमर लगाकर आप घर की ख़ूबसूरती निखार सकती हैं. झूमर के आसपास लाइट्स भी लगाएं, इससे कमरा अच्छा दिखेगा. इसके अलावा यहां रखें फर्नीचर की अच्छी तरह सफ़ाई करें. उन पर नए और डार्क कलर के कुशन कवर लगाएं. कमरे में डार्क शेड के पर्दे लगाएं.

ट्रेडिशनल लुक
यदि अपने आशियाने को ट्रेडिशनल लुक देना चाहती हैं, तो उसे लाल रंग के रिबन से सजाएं.

– कंचन सिंह

33 स्मार्ट कर्टन सिलेक्शन आइडियाज़ (33 Smart Curtain Selection Ideas)

curtain selection ideas

curtain selection ideas
अपने आशियाने का मेकओवर करना चाहती हैं, तो कलर, फर्नीचर बदले बिना स़िर्फ परदे बदकर भी इसे आकर्षक बना सकती हैं. अपने ड्रीम होम के लिए कैसे सिलेक्ट करें बेस्ट कर्टन? आइए, हम बताते हैं.
कर्टन आइडियाज़

* गर्मियों के लिए शीयर कर्टन्स (फाइन फैब्रिक्स वाले पर्दे, जैसे- लिनेन, लाइट वेट सिल्क फैब्रिक) बेस्ट ऑप्शन हैं. ये ज़्यादा महंगे भी नहीं होते.

* शीयर कर्टन्स लगाने से घर में वेंटिलेशन बना रहता है, लेकिन बेडरूम और बाथरूम के लिए शीयर कर्टन्स उपयुक्त नहीं हैं, क्योंकि इनमें प्राइवेसी  नहीं होती.

* लेसवाले शीयर कर्टन्स लगाकर आप अपने घर को न्यू व ट्रेंडी लुक दे सकते हैं.

* वेलवेट, स्यूड आदि थिक फैब्रिकवाले परदे कमरे में तेज़ रोशनी को आने से रोकते हैं और कमरों के तापमान को भी नियंत्रित करते हैं. इसलिए    सर्दियों में थिक फैब्रिकवाले कर्टन्स लगाएं.

* चिक पैटर्न व डिज़ाइनवाले कलरफुल परदे लगाकर लिविंग रूम को मॉडर्न व स्टाइलिश लुक दे सकते हैं.

* घर को रॉयल लुक देने के लिए कस्टम ड्रेप्स लगाएं. इन ड्रेप्स की क़ीमत फैब्रिक और डिज़ाइन पर निर्भर करती है यानी आप जिस तरह के डिज़ाइन   और फैब्रिक का चुनाव करेंगे, क़ीमत उसी के अनुसार होती है.

* परदे की लंबाई फ्लोर लेवल तक रखें. अधिक लंबे परदे देखने में ख़राब लगते हैं

* अलग-अलग कमरों के लिए अलग-अलग प्रिंट और डिज़ाइनवाले परदों का चुनाव करें, इससे घर के हर कमरे को अलग व न्यू लुक मिलेगा.

* छोटे-से घर को स्पेशियस लुक देने के लिए वॉल कलर से मिलते-जुलते कलरवाला परदा लगाएं.

* इसी तरह छोटे-से कमरे में वर्टिकल स्ट्राइप्स वाले कर्टन्स लगाएं. इससे सीलिंग ऊंचाई पर महसूस होगी और कमरा भी बड़ा दिखेगा.

* आजकल मार्केट में विभिन्न कलर और स्टाइल वाले रेडी-टू-यूज़ ड्रेप्स पैनल्स मिलते हैं. अपनी पसंद के अनुसार इनका सिलेक्शन करके घर को न्यू   लुक दे सकते हैं.

* बोल्ड कलर्स और डिज़ाइनवाले कंटेम्पे्ररी कर्टन्स लगाकर घर का मेकओवर कर सकते हैं.

* यदि आप अपने घर को लग्ज़री लुक देना चाहते हैं, तो डायमंड पैटर्नवाले रेमिंगटन कर्टन्स लगाएं. येे घर को ब्यूटीफुल और क्लासिक लुक देते हैं.

* परदों के लेटेस्ट पैटर्न, डिज़ाइन्स और फैब्रिक के बारे में अधिक जानकारी के लिए होम डिज़ाइन वेबसाइट्स, ब्लॉग्स और मैगज़ीन देखें.

curtain selection ideas

फैब्रिक आइडियाज़

* परदों का फैब्रिक तीन तरह का होता है- लाइट वेट कर्टन्स (शीयर व कॉटनवाले परदे), मीडियम वेट (ब्रोकेडवाले परदे) और हैवी वेट (वेलवेट, डेनिम,  ट्वीड फैब्रिकवाले परदे). इसलिए फैब्रिक का चुनाव अपनी पसंद व बजट के अनुसार करें.

* फैब्रिक घर के डेकोर और घरवालों के मूड को प्रभावित करता है. जैसे- टे्रडिशनल रूम के लिए थिक फैब्रिक का चुनाव करें, जबकि लिविंग रूम के  शीयर व लाइट वेटवाले परदों का चुनाव करें.

* शीयर कर्टन्स के फैब्रिक बहुत महीन होते हैं, इसलिए परदे ख़रीदते समय फैब्रिक की क्वालिटी का विशेष ध्यान रखें.

* वेलवेट और हैवी सिल्क टेक्स्चर के परदों को केवल ड्राय क्लीन ही करवाना पड़ता है. जो ख़र्चीला होता है. इससे बचने के लिए ऐसे फैब्रिक का  सिलेक्शन न करें.

* मटेरियल की दृष्टि से ऐसे परदों का चुनाव करें, जो लाइटवेट हों. इन परदों को लगाने से घर में रोशनी भी अधिक आती है और इनको धोने में भी  आसानी होती है.

* मौसम के अनुरूप परदों के फैब्रिक व कलर का चुनाव करें. समय-समय पर परदे बदलते रहने से घर को नया लुक मिलता है.

* घर को क्रिएटिव लुक देने के लिए पैटर्न फैब्रिकवाले कर्टन्स लगाएं. होम डेकोर के अनुसार इन पैटर्न फैब्रिक का सिलेक्शन करें. पैटर्न फैब्रिक्स, जैसे-  फ्लोरल, स्ट्राइप्स और एनीमल प्रिंट आदि. जैसे बच्चों के कमरे में जंगल बेस्ड थीम है, तो एनीमल प्रिंटवाले कर्टन्स लगाएं.

curtain selection ideas

कलर/ पैटर्न आइडियाज़

* परदों का कलर कॉम्बिनेशन घर की फर्निशिंग से मैच करता हुआ होना चाहिए. जैसे वॉल कलर, फर्नीचर आदि.

* मार्केट में कई ट्रेंडी, ब्राइट व पेस्टल कलर्स के परदे मिलते हैं. इन कलर्स का चुनाव होम डेकोर को ध्यान में रखकर करें.

* अगर आपके घर में पैटर्न्ड फर्नीचर और बेड है, तो घर में सॉलिड कलरवाले परदे लगाएं.

* इसी तरह यदि आपके घर में सॉलिड कलर वाला फर्नीचर और बेड है, तो पैटर्न्ड कर्टन्स (फ्लोरल, स्ट्राइप्सवाले परदे) लगाएं.

* परदों की लंबाई अधिक रखने से सीलिंग भी अधिक ऊंचा लगता है, जबकि परदों का कलर, प्रिंट और पैटर्न इस तरह का होना चाहिए कि कमरा बड़ा  और सुंदर दिखे.

* कलर स्कीम का सिलेक्शन ध्यान से करें. यदि कमरे को बड़ा लुक देना चाहते हैं, तो प्राइमरी कलर्स के परदों का चुनाव करें.

* यदि कमरे को स्मॉल लुक देना चाहते हैं, तो पेस्टल कलरवाले परदों का चुनाव करें.

curtain selection ideas

कर्टन सिलेक्शन करते समय

  •  घर को स्टाइलिश लुक देने के लिए परदों के नए-नए डिज़ाइन, प्रिंट, पैटर्न व कलर का भी ध्यान रखें.
  • परदों का चुनाव करते समय घर की खिड़कियों व दरवाज़ों की संरचना को ध्यान में रखें. उनकी संरचना के अनुसार ही परदों के डिज़ाइन और स्टाइल का चुनाव करें.
  • परदों की लंबाई-चौड़ाई दरवाज़े और खिड़कियों के फ्रेम के अनुरूप होनी चाहिए. इसलिए कर्टन स्टोर/शॉप से किसी एक्सपर्ट को बुलाएं, जो सही माप लेकर कर्टन सिलें.
  • स्टोर या दुकान से कर्टन ख़रीदते समय कर्टन का डेमो करके देखें कि लगाने के बाद कैसा लुक आता है. क्योंकि ऊंचाई (खिड़की) पर लगाने के बाद हर फैब्रिक अलग लुक देता है.
  • ट्रेंडी एक्ससेरीज़ और ट्रिम्स प्लेन व सिंपल परदों को भी ख़ूबसूरत बना देते हैं. इसलिए कर्टन्स ख़रीदते समय उससे मिक्स एंड मैच करती हुई एक्ससेरीज़ और ट्रिम्स ख़रीदें.

– देवांश शर्मा

वास्तु अलर्ट (Vastu Alert)

घर की सुख-शांति व समृद्धि के लिए वास्तु के नियमों का पालन करने के साथ ही कुछ ग़लतियों से बचना भी ज़रूरी है.

 

12

* शुक्रवार व पूर्णिमा के दिन भूल कर भी न रोएं. इस दिन रोने से प्रतिष्ठा पर आंच आ सकती है और घर में भी क्लेश हो सकता है.

* घर में कभी मकड़ी के जाले न लगें इसका ख़ास ध्यान रखें, इससे लक्ष्मी का आगमन रुक सकता है.

* तिजोरी का मुंह उत्तर या पूर्व में शुभ होता है और यदि सामने खिड़की हो तो और भी उत्तम होता है. तिजोरी में किसी व्यक्ति से प्राप्त इत्र या सुगंधित  द्रव्य आदि न रखें, इससे आर्थिक त्रासदी व ऋण बढ़ सकता है.

* घर में टूटी मशीनें, टूटी कुर्सियां, टूटे कांच इत्यादि को संजोकर न रखें. ऐसा करने से कर्ज़ से कभी मुक्ति नहीं मिलती.

* सीढ़ियां मकान के दक्षिण, पश्‍चिम या नैऋत्य कोण में होनी चाहिए. सीढ़ियां ईशान कोण में बिल्कुल न हों. सीढ़ियों का चढ़ाव पश्‍चिम या दक्षिण में  होना चाहिए. सीढ़ियों की संख्या 10, 20, 30 इस प्रकार न हो.

* नए मकान में नए सामान का ही प्रयोग करना चाहिए. लोहा, लकड़ी, ईंट, पत्थर इत्यादि पुराना प्रयोग नहीं करना चाहिए. आजकल आर्थिक कारणों  से पुराने लोहे व लकड़ी का इस्तेमाल भी नये मकानों में लोग करते हैं, परन्तु यह उचित नहीं. ऐसा करने से वास्तुदोष का प्रभाव बढ़ सकता है.

* फर्श का ढलान किसी भी हालत में दक्षिण में न हो. इससे क़ानून या संबंधों में वाद-विवाद की स्थिति पैदा हो सकती है.

* यदि आप भी अक्सर दरवाज़े के पीछे खूंटी पर अपनी ड्रेस या कपड़े आदि टांग देते हैं, तो अपनी इस आदत को बदल दीजिए, क्योंकि ऐसा करने से  आप बेवजह अपमानित हो सकते हैं.

* यदि मटका चटक गया है, तो उसी दिन इसे हटा दें. इसी तरह चप्पल के ऊपर चप्पल न रखें. ये मानसिक अशांति के संकेत माने जाते हैं.

* ईशान भाग अधिक ऊंचा हो तो आर्थिक प्रगति में बाधा आएगी. साथ ही अन्य परेशानियां भी आ सकती हैं.

4

* फर्नीचर का आकार गोल, त्रिकोण या षट्कोण न हो. इससे बनते कार्य रुक सकते हैं.

* घर के अंदर रामायण, महाभारत एवं अन्य प्रकार के युद्ध दृश्य आदि के चित्र या इसी तरह की कलाकृति या फिर उदास अथवा रुदन करते मनुष्य का  चित्र एवं अशुभ पक्षियों तथा कबूतर, कौआ, बाज, उल्लू आदि के चित्रों को भी नहीं लगाना चाहिए. स़िर्फ सौम्य स्वरूप चित्रों को ही सजावट हेतु घर में  लगाना चाहिए. ऐसा करने से घर का वातावरण ख़ुशहाल बना रहता है.

* कभी भी रोता हुआ चेहरा दर्पण में न देखें. ऐसा करने से कार्यों में बाधाएं आती हैं तथा अपमान का सामना भी करना पड़ सकता है.

* झा़ड़ू को पैर न लगाएं और न ही उसे क्रॉस करें, ऐसा करने से धन में कमी व कमरदर्द की समस्या हो सकती है.

* भूमि के आसपास ज़मीन में रहनेवाले जानवरों के बिल, गड्ढे, कीचड़, गंदा नाला नहीं होना चाहिए. इससे संतान पक्ष को हानि हो सकती है.

* किसी भी कमरे में झूमर या पंखा ठीक बीचोंबीच न लगाएं.

* दान या दक्षिणा देते समय मुंह पूर्व की ओर रखें, पश्‍चिम या दक्षिण में बिल्कुल न करें.

* चौराहे पर स्थित घरों में किसी-न-किसी कारण से अपयश बना रहता है. अतः इससे बचें.

* मकान बनवाते समय सबसे पहले ईशान कोण में भूमिगत पानी की टंकी या कुआं बनवाएं और उसी जल से चारदीवारी बनवाएं.

होम डेकोर से घर में लाएं पॉज़ीटिव एनर्जी (How to bring positive energy into home Decor)

घर की पॉज़ीटिव व निगेटिव एनर्जी का हमारे जीवन पर गहरा प्रभाव पड़ता है. पॉज़ीटिव एनर्जी जहां हमें ऊर्जावान बनाने के साथ-साथ चुस्त-दुरुस्त बनाए रखती है, वहीं निगेटिव एनर्जी से घर में तनाव का माहौल बना रहता है और वहां रहनेवालों की तबीयत भी ख़राब रहती है. पर कुछ छोटे-छोटे बदलावों से आप घर की निगेटिव एनर्जी को दूर कर पॉज़ीटिव एनर्जी ला सकते हैं.

5

बेसिक टिप्स

* पॉज़ीटिव एनर्जी को आकर्षित करने के लिए सबसे ज़रूरी है, घर को साफ़-सुथरा व व्यवस्थित रखना, क्योंकि कबाड़, पुराना सामान और टूटी-फूटी  चीज़ें निगेटिव एनर्जी पैदा करती हैं.

* हर हफ़्ते या 15 दिन में पूरे घर की सफ़ाई करें. घर में धूल-मिट्टी इकट्ठा न होने दें.

* पॉज़ीटिव एनर्जी को फ्लो होने के लिए खाली जगह की ज़रूरत होती है, इसलिए घर में खुली जगह बनाएं, ताकि पॉज़ीटिव एनर्जी ज़्यादा से ज़्यादा घर  में आ सके.

* घर की खिड़कियां खुली रखें, ताकि ताज़ी हवा के साथ-साथ पॉज़ीटिव एनर्जी भी घर में आ सके.

* भले ही आपको पुरानी चीज़ें इकट्ठा करने का शौक़ है, फिर भी ज़रूरत की चीज़ें रखकर ग़ैरज़रूरी पुरानी रद्दी और मैग्ज़ीन को समय-समय पर  निकालते रहें.

* फर्नीचर को री-अरेंज करें. फर्नीचर एक जगह से दूसरी जगह खिसकाने से वहां पर जमा निगेटिव एनर्जी बिखरकर बाहर निकल जाती है.

* घर में इनडोर प्लांट्स और बालकनी में रंग-बिरंगे फूलोंवाले प्लांट्स लगाएं. प्लांट्स घर में कलर, ऑक्सीजन, ताज़ी हवा और पॉज़ीटिव एनर्जी
बढ़ाते हैं.

* घर में टॉक्सिक और केमिकलयुक्त चीज़ों की बजाय इको-फ्रेंडली, नॉन-टॉक्सिक और होममेड सोल्यूशन्स का  इस्तेमाल करें.

* ज़्यादा से ज़्यादा प्राकृतिक चीज़ों का इस्तेमाल करें. कोशिश करें कि ज़्यादातर चीज़ों को रिसाइकल कर इस्तेमाल करें.

* बैम्बू, कॉर्क, हार्डवुड जैसे प्राकृतिक संसाधनों का इस्तेमाल करें. फ्लोरिंग के लिए नेचुरल फाइबर कारपेट बेहतरीन माना जाता है.

* पेंट में मौजूद वोलाटाइल ऑर्गैनिक कम्पाउंड्स (वीओसी) जैसे टॉक्सिक तत्वों के कारण सिरदर्द, एलर्जी और पाचन संबंधी समस्याएं घेर लेती हैं.  इसलिए घर को टॉक्सिन फ्री रखने के लिए लो वीओसी वाले पेन्ट्स, ग्लू, फिनिशेज़ का इस्तेमाल करें.

* लाइटिंग आपके घर की एनर्जी को काफ़ी हद तक प्रभावित करती है. जहां घर में मौजूद सही रोशनी से आप ऊर्जावान महसूस करते हैं, वहीं हल्की या  डिम लाइट आपको डल व डिप्रेस्ड फील कराती है.

* घर में सही लाइटिंग अरेंजमेंट करें. सीएफएल की बजाय एलईडी लाइट्स इस्तेमाल करें. सीएफएल लाइट्स में मौजूद टॉक्सिक तत्व हमारे स्वास्थ्य  और पर्यावरण दोनों के लिए ख़तरनाक साबित हो सकते हैं.

* ख़ुशबू घर में मौजूद निगेटिव एनर्जी को ख़त्म कर पॉज़ीटिव एनर्जी पैदा करती है. इसलिए लैवेंडर, मिंट और नीलगिरी युक्त ख़ुशबूदार कैंडल्स हर  कमरे में जलाएं.

* लिविंग रूम में रोज़ाना ताज़े फूल लगाएं. फूल रंग, ख़ुशबू और पॉज़ीटिव एनर्जी को अट्रैक्ट करते हैं.

* धार्मिक कारणों के अलावा घरों में ख़ुशबूदार अगरबत्ती और धूप जलाने के पीछे पॉज़ीटिव एनर्जी बढ़ाने का ही उद्देश्य होता है.

* घर के हर कमरे में पांचों तत्वों से जुड़े रंग- काला, हरा, लाल, पीला और स़फेद ज़रूर रखें. ये आपकी शारीरिक एनर्जी को बैलेंस करते हैं और घर में  निगेटिव को हटाकर पॉज़ीटिव एनर्जी बैलेंस करते हैं.
* प्रकृति को क़रीब से देखकर हम अपने सारे दुख-दर्द भूल जाते हैं. अपने घर में भी प्रकृति की झलक लाने के लिए नेचर पेंटिंग्स लगाएं.

* मिरर्स एनर्जी को बढ़ाते हैं, इसलिए घर के उन हिस्सों में इन्हें लगाएं, जहां आप ज़्यादा एनर्जी क्रिएट करना चाहते हैं. इन्हें टॉयलेट या डस्टबिन के  सामने न लगाएं, वरना निगेटिव एनर्जी बढ़ेगी.

* घर में बाथरूम और टॉयलेट में सबसे ज़्यादा निगेटिव एनर्जी रहती है, इसलिए इन्हें हमेशा साफ़ रखने के साथ ही इनके दरवाज़े बंद रखें, ताकि  निगेटिव एनर्जी घर के बाकी हिस्सों में फैल न सके.

* घर का माहौल सौहार्दपूर्ण बनाए रखें, क्योंकि तनाव, झगड़े और अपशब्दों से निगेटिव एनर्जी पनपती और बढ़ती है.

* घर में रोज़ाना मंत्रों का उच्चारण घर में पॉज़ीटिव एनर्जी को बढ़ाता है.

* मेडिटेशन से घर में पावरफुल पॉज़ीटिव वाइब्रेशन्स बढ़ती हैं. मेडिटेशन के कई घंटों बाद भी उस स्थान पर पॉज़ीटिव एनर्जी बरकरार रहती है.

3

रंगों से लाएं पॉज़ीटिव एनर्जी आप रंगों के ज़रिए भी अपने घर में पॉज़ीटिव एनर्जी ला सकते हैं.

सफ़ेद: यह रंग स्वच्छता और पवित्रता का प्रतीक माना जाता है, इसलिए बेहद आसानी से पॉज़ीटिव एनर्जी अट्रैक्ट करता है. स़फेद रंग को पेंट के रूप में दीवारों पर या होम एक्सेसरीज़ में इस्तेमाल कर सकते हैं.

लाल: यह रंग पॉज़ीटिव एनर्जी के साथ-साथ सौभाग्य और सफलता को भी आकर्षित करता है, इसलिए दरवाज़े पर लाल फूलोंवाला कोई प्लांट लगाएं या फिर लाल तोरण या डोरमैट लगाएं. पेंट करना है, तो इसे आप लिविंग रूम, डाइनिंग रूम, किचन, जिम आदि में इस्तेमाल कर सकते हैं. यह बहुत पावरफुल कलर है, इसलिए इसे बेडरूम में इस्तेमाल न करें. अगर आपको एनीमिया है या फिर आप थके हुए या लो फील करते हैं, तो अपने कमरे में किसी हल्के रंग के साथ इसका प्रयोग करें.

ऑरेंज: इसे ऑप्टिमिस्टिक ऑरेंज भी कहते हैं, क्योंकि यह रंग घर में सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाता है. यह उत्साह-उमंग, प्रसन्नता और
उत्पादकता का प्रतीक है. ऑरेंज लाल और पीले रंग का मिश्रण है, इसलिए इन दोनों रंगों के गुण मौजूद होते हैं. यह आपको उत्साही व ज़िंदादिल बनाता है. आपके लिविंग रूम और बच्चों के प्ले ज़ोन के लिए यह एकदम सही चुनाव है.

पर्पल: घर के किसी कमरे में शांत व सुकूनभरा माहौल लाने के लिए आप पर्पल रंग का इस्तेमाल कर सकते हैं. बेडरूम या मेडिटेशन रूम में यह रंग आपको शांति का एहसास कराता है. पर्पल के लाइट शेड्स लैवेंडर या वॉयलेट कलर्स से दीवारों को पेंट करें.

पिंक: यह रंग शांति, स्थिरता और निश्‍चिंतता का प्रतीक है. इतना ही नहीं, यह आपके माहौल में पॉज़ीटिव एनर्जी का संचार भी करता है. अगर आपको सोने में तकलीफ़ होती है, तो अपने बेडरूम को पिंक के लाइट शेड कलर से पेंट करें.

पीला: यह रंग सभी क्रियाओं का सेंटर माना जाता है, क्योंकि सूरज ब्रह्मांड का सेंटर और पॉज़ीटिव एनर्जी का सबसे बड़ा स्रोत है. इसके अलावा यह मूड लिफ्टिंग कलर भी माना जाता है. वैसे तो यह सभी कमरों के लिए बेहतरीन है, पर ज़्यादातर लोग इसे लिविंग रूम में लगाते हैं, ताकि वहां का माहौल हमेशा ख़ुशगवार रहे.

हरा: हरे रंग में हीलिंग पावर है. यह आपके स्ट्रेस को कम करने में भी आपकी मदद करता है. इसकी रेस्टफुल और बैलेंसिंग क्वालिटीज़ इसे लिविंग रूम और बेडरूम के लिए पॉप्युलर बनाती हैं.

नीला: यह निगेटिव इमोशन्स को कम करके आपको स्ट्रेस और टेंशन से बचाता है. अगर आपको बहुत ज़्यादा मूड स्विंग्स होते हैं, तो सभी दीवारों पर ब्लू न लगाएं. वैसे तो यह सभी कमरों के लिए उपयुक्त है, इसलिए इसे आप अपने किसी भी पसंदीदा कमरे में लगा सकते हैं.

एनर्जी बूस्टर टिप्स

* घर की निगेटिव एनर्जी को दूरकर पॉज़ीटिव एनर्जी लाने के लिए समुद्री नमक को एक बाउल में रखें या फिर एक बाल्टी पानी में 4-5 टेबलस्पून  नमक डालकर घर में पोंछा लगाएं.

* घंटी की आवाज़ निगेटिव एनर्जी को घर से दूरकर पॉज़ीटिव एनर्जी और वाइब्रेशन्स बढ़ाती है, जिससे घर में रहनेवालों का मूड हमेशा अच्छा
रहता है.

* निगेटिव एनर्जी के कारण भी अक्सर लोगों को सुकून की नींद नहीं आती. ऐसे में रात को सोते व़क्त एसेंशियल ऑयल युक्त कैंडल्स जलाएं. सुकूनभरी  नींद के साथ-साथ आपकी सुबह भी ख़ुशगवार होगी.

* म्यूज़िक में बहुत पॉज़ीटिव एनर्जी होती है, इसलिए दिन में 2-3 बार म्यूज़िकल सीडी प्ले करें और घर में पॉज़ीटिव एनर्जी बढ़ाएं.

– सुनीता सिंह

वास्तु शास्त्र के नियम (Rules of vastu)

11

आपके घर में ख़ुशियां ही ख़ुशियां हों, इसके लिए प्यार और समझदारी के साथ-साथ घर को वास्तुशास्त्र के अनुसार सजाना भी ज़रूरी है. घर का वास्तु करते समय इन बातों का ध्यान रखना चाहिए.

* उत्तर दिशा में दक्षिण दिशा से ज़्यादा खुली जगह छोड़नी चाहिए. इसी तरह पूर्व में पश्‍चिम से ज़्यादा खुली जगह छोड़नी चाहिए.

* मकान की ऊंचाई दक्षिण और पश्‍चिम में ज़्यादा होनी चाहिए. मकान की सबसे ऊपरी मंज़िल उत्तर, पूर्व या उत्तर-पूर्व कोण में होनी चाहिए.

* उत्तर और पूर्व में बरामदा होना चाहिए व उस ओर की ज़मीन सामान्य ज़मीन से निचले स्तर पर होनी चाहिए. इसी तरह दूसरी छत भी अन्य हिस्से  से निचले स्तर पर होनी चाहिए.

* छत हमेशा उत्तर-पूर्व, उत्तर या पूर्व की ओर होनी चाहिए. दक्षिण और पश्‍चिम में नहीं होनी चाहिए.

* मकान की चारदीवारी उत्तर और पूर्व में नीची और पश्‍चिम व दक्षिण में ऊंची होनी चाहिए.

* कार पार्किंग, नौकरों के लिए कमरा, आउटहाउस आदि दक्षिण-पूर्व या उत्तर-पश्‍चिम कोण में होने चाहिए. उनके कमरों की दीवारों से उत्तर और पूर्व  की दीवार जुड़नी नहीं चाहिए और उनकी ऊंचाई प्रमुख भवन से छोटी होनी चाहिए.

* पोर्च, पोर्टिको या बालकनी उत्तर, पूर्व या उत्तर-पूर्व दिशा में होनी चाहिए. सुख, समृद्वि व स्वास्थ्य के लिए यह लाभदायक है.

* बेडरूम में बेड के लिए आदर्श स्थिति कमरे का मध्य स्थान माना गया है या फिर दक्षिण-पश्‍चिम कोना. बेड को उत्तर या पूर्व दिशा की दीवार से दूर  रखना चाहिए. दक्षिण या पश्‍चिम की दीवार से सटाकर रखा जा सकता है.

* मकान का ज़्यादा खुला हिस्सा पूर्व और उत्तर में होना चाहिए.

* रसोई में फ्रिज, मिक्सर और भारी सामान दक्षिण और पश्‍चिम दीवार से सटाकर रखें.

* मकान के सभी दर्पण उत्तर या पूर्व की दीवार पर होने चाहिए. दक्षिण और पश्‍चिम की दीवार पर दर्पण नहीं लगाना चाहिए. टॉयलेट के वॉश बेसिन  भी उत्तर या पूर्वी दीवार पर लगाना चाहिए.

* पहली मंज़िल पर दरवाज़े और खिड़कियां ग्राउंड फ्लोर से कम या ज़्यादा होनी चाहिए, एक समान नहीं होनी चाहिए. संभव हो, तो अपना मकान  बनवाते समय अपनी जन्मपत्रिका के अनुसार प्रवेशद्वार बनवाएं, परंतु इतना ज़रूर ध्यान रखें कि प्रवेशद्वार मकान के किसी भी कोण में न हो.

* द़फ़्तर या अध्ययन कक्ष में टेबल को दक्षिण या पश्‍चिम दिशा में रखें, जिससे उसमें बैठनेवाले का मुख पूर्व या उत्तर की ओर रहे.

* मकान के उत्तर-पूर्व कोण में कचरा बिल्कुल न डालें. उस जगह को साफ़-सुथरा रखें.

12

* प्रमुख बैठक के कमरे में सोफा आदि बैठने का फ़र्नीचर पश्‍चिम या दक्षिण दिशा में रखना चाहिए. मकान मालिकों को पूर्व या उत्तर दिशा में मुख  करके बैठना चाहिए.

* तिजोरी इस तरह रखनी चाहिए कि उसकी पीठ दक्षिण दिशा में हो अर्थात् खोलते समय तिजोरी का मुंह उत्तर में और हमारा मुंह दक्षिण में होना  चाहिए.

* मकान के पश्‍चिम, दक्षिण और दक्षिण-पश्‍चिम भाग में वज़नी सामान रखा जाना चाहिए.

* डाइनिंग रूम में भोजन करते समय पूर्व या पश्‍चिम की ओर मुख करके भोजन करें.

* हमेशा दक्षिण या पूर्व में सिर रखकर ही सोना चाहिए.

* सोलार हीटर मकान के दक्षिण-पूर्व में रखना चाहिए. मकान पर स्थित पानी की टंकी हमेशा दक्षिण-पश्‍चिम कोने में होनी चाहिए. सीढ़ी और ल़िफ़्ट  पश्‍चिम, दक्षिण दिशा में होनी चाहिए.

* बरसाती पानी की निकासी पश्‍चिम से पूर्व, दक्षिण से उत्तर और अंत में मकान के उत्तर-पूर्व कोने से होनी चाहिए.

* यदि आपके घर में लाल फूल उगते हों तो वे बाहर से दिखाई नहीं देेने चाहिए.

* बगीचे में यदि पत्थर की मूर्ति या पत्थर सजाकर बगीचा बनाया गया हो तो उसे दक्षिण-पश्‍चिम कोने में बनाना चाहिए. यह कोना भारी सामान  रखने के लिए उपयुक्त है.

* दो कमरों के दरवाज़े एकदम आमने-सामने नहीं होने चाहिए.

* चौकोर या आयताकार प्लॉट सर्वश्रेष्ठ है, किंतु बहुत ज़्यादा लंबी आयताकार जगह उचित नहीं है.

* पूर्व या उत्तर दिशा की ओर ऊंची दीवार या अन्य कोई निर्माण नहीं करना चाहिए. ये वास्तु के नियमों का उल्लंघन होगा.

* पूजा स्थान के लिए घर का उत्तर-पूर्व कोना या ईशान कोण सर्वोत्तम स्थान है. मूर्ति का मुंह पूर्व या पश्‍चिम की दिशा में होना चाहिए.

* रसोई के लिए सर्वोत्तम स्थान पूर्व-दक्षिण कोना यानी अग्नि कोण माना गया है.

* भवन का मध्य भाग खुला रहने देें, अथवा अन्य कमरों में आने-जाने के रास्ते की तरह इस्तेमाल करें, क्योंकि इसे ब्रह्मस्थान माना गया है.

* उत्तर-पूर्व दिशा में बाथरूम कभी भी नहीं होना चाहिए, विशेषकर टॉयलेट. जिस फ्लैट में भी ऐसा है, वहां के लोग कभी भी प्रगति व समृद्धि प्राप्त नहीं  कर पाते हैं.

डायनिंग रूम मेकओवर

अपने ड्रीम होम का कंप्लीट मेकओवर करना चाहती हैं, तो डायनिंग रूम की सजावट को नज़रअंदाज़ करने की ग़लती न करें. अपने आशियाने के इस अहम् हिस्से का कैसे करें मेकओवर? आइए, हम बताते हैं.

 

3

मॉडर्न लुक
* डायनिंग रूम को मॉडर्न लुक देने के लिए डायनिंग टेबल, चेयर, क्रॉकरीज़ आदि मॉडर्न शेप एवं स्टाइल की ख़रीदें.
* प्रिंटेड की बजाय प्लेन टेबल क्लॉथ को प्राथमिकता दें.
* डायनिंग टेबल डेकोरेशन के लिए ग्लास या ऑक्सीडाइज़्ड स्टील फ्लावर पॉट सिलेक्ट करें.
* यदि स्पेस कम हो, तो फोल्डिंग डायनिंग टेबल ख़रीदें. आजकल मार्केट में दीवार से अटैच होने वाले व फोल्डिंग डायनिंग टेबल की ढेरों वैरायटी मौजूद है.

6

ट्रेडिशनल लुक
* डायनिंग रूम को प्योर इंडियन या ट्रेडिशनल फील देने के लिए टेबल क्लॉथ के लिए बाटिक, बांधनी, लखनवी जैसे ट्रेडिशनल फैब्रिक का चुनाव करें.
* ट्रेडिशनल पैटर्न के डायनिंग टेबल, चेयर और क्रॉकरीज़ चुनें.
* ग्लास या रॉट आयरन के कैंडल स्टैंड से डायनिंग टेबल का मेकओवर करें.
* दीवार पर एंटीक डेकोर एक्सेसरीज़ लगाएं.

2

वॉल डेकोरेशन
* डायनिंग रूम की दीवारों को ब्राइट कलर से पेंट करवाएं.
* आप चाहें तो वॉॅलपेपर से भी दीवारों का मेकओवर कर सकती हैं.
* वॉलपेपर के लिए फ्लोरल से लेकर जियोमैट्रिक जो भी डिज़ाइन पसंद हो लगाएं, मगर वॉलपेपर सिलेक्ट करते समय फर्नीचर का कलर ध्यान में रखें.
* पेंटिंग्स या फोटो फ्रेम लगाकर भी आप दीवारों का लुक बदल सकती हैं.
* डायनिंग रूम के एक कॉर्नर में ग्लास का शेल्फ बनवाकर उस पर ख़ूबसूरत क्रॉकरीज़ भी सजा सकती हैं.

5

लाइटिंग
* घर के बाकी हिस्से की तरह ही डायनिंग रूम में भी लाइटिंग का ख़ास ध्यान रखें.
* यहां आप रिलैक्स होते हैं, इसलिए कभी भी हार्श लाइट न लगाएं, जो सीधे आंखों में चुभे.
* यदि डिज़ाइनर लाइट या शैंडलियर आदि लगा रही हैं, तो साइज़ का ख़ास ध्यान रखें.
* लाइट का साइज़ डायनिंग टेबल से क़रीब 12 इंच छोटा रखें.
* लाइट लगाते समय टेबल का डिज़ाइन भी ध्यान में रखें. शैंडलियर जैसी राउंड लाइट राउंड डानयिंग टेबल के साथ अच्छी लगती है.

7

स्मार्ट आइडियाज़
* अलग कमरे में डायनिंग रूम नहीं बना सकतीं, तो किचन के ख़ास कोने में डायनिंग टेबल सेट करें.
* ओकेज़न के अनुसार टेबल मैट, कोस्टर, नैपकिन होल्डर बदलकर डायनिंग टेबल को ट्रेंडी लुक दें.
* जगह की कमी है, तो फोल्डिंग डायनिंग टेबल व चेयर का चुनाव करें.
* डायनिंग टेबल को सजाने के लिए ताज़े फूल व ख़ूबसूरत कैंडल्स ख़रीदें.
* ब्राइट लाइटिंग अरेंजमेंट से डायनिंग रूम को आकर्षक बनाएं.
* मार्केट में डायनिंग टेबल की ढेरों वैरायटी मौजूद हैं, आप अपने बजट और घर में मौजूद जगह के हिसाब से इसका चुनाव कर सकती हैं.
* ग्लास के डायनिंग टेबल अट्रैक्टिव व क्लासी लुक देते हैं.
* अपनी सुविधा और बजट के अनुसार आप वुड या ग्लास के डायनिंग टेबल का चुनाव कर सकती हैं.
* अट्रैक्टिव क्रॉकरीज़ से भी डायनिंग टेबल को आकर्षक बनाया जा सकता है.

– कंचन सिंह

ड्रीम होम को दें क्लासिक टच (Dream Home Give Classic Touch)

Dream Home

Dream Home

6
अपने ड्रीम होम को क्लासी लुक देने के लिए ट्राई करें ये ईज़ी होम डेकोर आइडियाज़.

2

* होम डेकोर में व्हाइट कलर से अपने घर को आप दे सकते हैं क्लासिक टच.

* व्हाइट न स़िर्फ सूदिंग होता है, बल्कि यह फ्रेश भी लगता है.

* इससे पॉज़िटिव एनर्जी फील होती है और घर भी स्पेशियस लगता है.

* व्हाइट में भी आप अल्ट्रा क्रीमी व्हाइट को डेकोर का हिस्सा बनाएं. यह घर को रिच लुक देगा.

* व्हाइट को आप अपने फेवरेट मेटल कलर के साथ कंबाइन करके गॉर्जियस लुक क्रिएट कर सकते हैं. आजकल यह इंटीरियर में ट्रेंड में भी है.

* व्हाइट को गोल्ड का टच दें, ये बहुत ख़ूबसूरत लगता है.

* इसी तरह से आप गोल्ड की जगह कॉपर, ब्रॉन्ज़, सिल्वर आदि भी यूज़ कर सकते हैं.

7

* हालांकि व्हाइट को यूज़ करने से लोग डरते भी हैं, क्योंकि इसके जल्दी गंदा होने का डर बना रहता है, लेकिन ऐसे में आप फैब्रिक का चुनाव सोच-समझकर करेंगे, तो यह समस्या नहीं आएगी.

* आप ब्लैक एंड व्हाइट का कॉम्बीनेशन भी ट्राई कर सकते हैं.

* अगर आपके घर में बच्चे और पेट्स हैं, तो व्हाइट डेनिम, खाकी या फॉक्स लेदर का इस्तेमाल करें.

* एक्सपर्ट्स कहते हैं कि व्हाइट को क्लीन रखने के डर से इस कलर को अवॉइड न करें, बल्कि अपने शेड्यूल व घर में लोगों को देखते हुए फैब्रिक का चुनाव इंटेलिजेंटली करें.

* कंप्लीट व्हाइट डेकोर में एक कलरफुल आर्टवर्क का पीस रख दें, तो यह बहुत ख़ूबसूरत लगता है.

* व्हाइट में भी आप बेस्ट शेड्स को सिलेक्ट करें. जी हां, व्हाइट अपने आप में सिंगल कलर नहीं है, बल्कि इसमें ढेरों शेड्स हैं, जैसे- क्रीम, क्रीमिश व्हाइट, बेज, पिंकिश व्हाइट, ब्लूइश व्हाइट, ग्रीनिश व्हाइट, पर्पल, यलो, परफेक्ट व्हाइट आदि. हर कलर में व्हाइट का फेंट हिंट छिपा होता है. इन सभी को आप अपने डेकोर में शामिल कर सकते हैं.

5

* रूम को वॉर्म लुक देने के लिए व्हाइट पर व्हाइट की लेयरिंग कर सकते हैं. यह बेडरूम के लिए परफेक्ट चॉइस है. आप लेयरिंग में व्हाइट के डिफरेंट शेड्स भी ट्राई कर सकते हैं.

* व्हाइट में कलर यूज़ करके आप किसी हिस्से को हाइलाइट कर सकते हैं, जैसे पूरे व्हाइट रूम में एक वॉल पर या बीम पर ब्राइट कलर की टाइल्स या पेंट करवा लें. इसी तरह से कंप्लीट व्हाइट बाथरूम में भी आप कलर ऐड कर सकते हैं.

* व्हाइट कलर एक तरह से आपके डेकोर में इरेज़र का काम करता है यानी डेकोर की कमियों को वो मिटा देता है या छिपा
देता है.

* यह हर मौसम के लिए परफेक्ट चॉइस है, आपको कलर ऐड करना है, तो एक्सेसरीज़ के ज़रिए कर सकते हैं या फिर आप कंप्लीट व्हाइट भी रख सकते हैं. यह आपकी पर्सनल चॉइस पर निर्भर करता है.

टॉप 5 कलर थीम ( Top 5 Color Theme)

Color Theme

Color Theme

1

रंगों की दुनिया बेहद हसीन है और हर रंग बहुत ख़ास है बिल्कुल आपके आशियाने की तरह. हां, घर को अपने पसंदीदा रंग से सजाते समय उस रंग के साथ कौन-से दूसरे रंग अच्छे लगेंगे, इस बात का ध्यान रखना बेहद ज़रूरी है. हम आपको बता रहे हैं टॉप 5 कलर थीम, आप इन्हें भी ट्राई कर सकती हैं.

6

सेक्सी रेड
रेड कलर सभी को अपनी ओर आकर्षित करता है इसीलिए इसे प्यार का रंग कहा जाता है. बेडरूम या किसी अन्य रूम को रोमांटिक व सेक्सी लुक देना चाहती हैं, तो उसका मेकओवर हॉट रेड कलर से करें.
* पेंट करने के लिए रेड कलर का इस्तेमाल करते समय इस बात का ध्यान ज़रूर रखें कि कमरे की सभी दीवारों की बजाय किसी एक दीवार को रेड  कलर से पेंट करें और अन्य दीवारों को व्हाइट, ऑफ व्हाइट जैसे न्यूट्रल कलर से पेंट करवाएं. ऐसा करने से दोनों कलर्स के बीच बैलेन्स बना रहता है  और कमरा गॉडी (भड़कीला) नहीं दिखता.
* रेड के दूसरे शेड्स, जैसे- बेरी, चेरी रेड आदि को भी दीवारों के लिए चुना जा सकता है.
* रेड कलर के साथ ऑफ व्हाइट कलर का कॉम्बिनेशन बहुत अच्छा लगता है. यदि आप भी अपने कमरे को रेड और ऑफ व्हाइट कलर से पेंट  करवाना चाहती हैं, तो कर्टन, कुशन, एक्सेसरीज़ आदि के लिए रेड व ब्लैक कलर चुनें. ये कॉम्बिनेशन रूम को क्लासी व मॉडर्न लुक देता है.
* रेड कलर के साथ डार्क शेड का वुडन फर्नीचर भी बहुत अच्छा लगता है. हां, इस कॉम्बिनेशन के साथ फ्लोरिंग लाइट शेड की रखें. इस थीम के साथ  लाइट शेड के प्लेन या प्लेन सेल्फ डिज़ाइन वाले कर्टन रखें.

5

कूल ब्लू
घर को सॉफ्ट-सूदिंग लुक देना चाहती हैं, तो ब्लू कलर आपके लिए बेस्ट है. सूदिंग ब्लू कलर आपके ड्रीम होम को देगा कूल लुक.
* ब्लू कलर में आपको बहुत वैरायटी मिल जाएगी. आप रॉयल ब्लू, स्काई ब्लू, नेवी ब्लू, एक्वा आदि में से किसी भी शेड का चुनाव कर सकती हैं.
* यदि आप किसी रूम को पेंट कराने के लिए एक्वा कलर का इस्तेमाल कर रही हैं, तो फर्नीचर के लिए डार्क ब्लू व ऑफ़ व्हाइट का इस्तेमाल करें. ये  कॉम्बिनेशन बहुत अच्छा लगता है.
* आप चाहें तो पूरे कमरे को ऑफ व्हाइट कलर और स़िर्फ एक दीवार को रॉयल या डीप ब्लू कलर से पेंट करवा सकती हैं.
* ब्लू कलर के पेंट के साथ डार्क वुडन फर्नीचर अच्छा लगता है. इस कॉम्बिनेशन के साथ बेज, ऑफ व्हाइट या वुडन फ्लोरिंग भी कमरे को क्लासी  लुक देती है.
* कुछ नया ट्राई करना चाहती हैं, तो ब्लू थीम के साथ पिंक कलर की एक्सेसरीज़ का इस्तेमाल करें. इससे कमरे को न्यू लुक मिलेगा.

 

4

सनी यलो
ताज़गी का एहसास पाने के लिए रूम को यलो थीम देना है बेस्ट ऑप्शन. यदि आप भी अपने रूम को यलो कलर से पेंट कराना चाहती हैं, तो ट्राई करें ये ट्रेंडी आइडियाज़.
* यदि रूम को यलो कलर से पेंट करा रही हैं, तो इसके साथ व्हाइट, ऑफ व्हाइट, लाइम ग्रीन कलर की एक्सेसरीज़ का इस्तेमाल करें. ये कॉम्बिनेशन  रूम को ब्राइट और ट्रेंडी लुक देता है.
* आप चाहें तो यलो थीम के साथ एंटीक फर्नीचर का कॉम्बिनेशन भी ट्राई कर सकती हैं. इससे आपका रूम अलग और स्पेशल नज़र आएगा.
* यलो कलर के साथ बहुत सारे रंगों का इस्तेमाल न करें, वरना आपके कमरे की ख़ूबसूरती बिगड़ जाएगी.

 

7

गो ग्रीन
प्रकृति के क़रीब रहना पसंद करनेवाले लोग अक्सर अपने घर को ग्रीन कलर से पेंट करवाते हैं. ग्रीन कलर से घर को सॉफ्ट लुक मिलता है.
* घर को सॉफ्ट और ट्रेंडी लुक देने के लिए ऑलिव ग्रीन कलर का चुनाव कर सकती हैं.
* इस शेड के साथ व्हाइट, ऑफ व्हाइट, लाइम यलो जैसे सॉफ्ट कलर अच्छे लगते हैं.
* इस थीम के साथ वुडन फर्नीचर का चुनाव किया जा सकता है.
* ग्रीन कलर के साथ बहुत ज़्यादा ब्राइट या डार्क कलर की डेकोर एक्सेसरीज़ का उपयोग न करें. ये थीम सॉफ्ट कलर के डेकोर एक्सेसरीज़ के साथ ही  अच्छी लगती है.

3

वायब्रेंट ऑरेंज
घर को न्यू और वायब्रेंट लुक देना चाहती हैं, तो ऑरेंज कलर आपकी ये ख़्वाहिश पूरी कर सकता है. इस थीम के लिए आपको क्या करना होगा? आइए, हम बताते हैं.
* ऑरेंज कलर से पूरे कमरे को पेंट करवाना समझदारी नहीं, स़िर्फ कमरे की एक दीवार को ऑरेंज कलर से पेंट करवाएं, बाकी दीवारों के लिए न्यूट्रल  कलर, जैसे ऑफ व्हाइट, बेज आदि का इस्तेमाल करें.
* इस थीम के साथ चॉकलेट ब्राउन या ब्राइट ऑरेंज कलर की एक्सेसरीज़ अच्छी लगती हैं. क्लासी लुक के लिए डार्क वुडन फर्नीचर का इस्तेमाल करें.
* इस थीम के साथ ऑरेंज कलर के बोल्ड प्रिंट वाले कुशन, कर्टन, मॉडर्न डिज़ाइन वाले फोटो फ्रेम, फ्लावर पॉट आदि अच्छे लगते हैं.\

– कमला बडोनी

 

वॉलपेपर से सजाएं आशियाना ( Garnish with wallpaper Ashiana)

wallpaper Ashiana

wallpaper Ashiana

2

बिना पेंटिंग के कम समय में दीवारों को सजाना हो, तो वॉलपेपर से बेहतरीन ऑप्शन और कोई नहीं हो सकता. वॉलपेपर्स से आप आसानी से अपने ड्रीम होम को दे सकती हैं मनचाहा लुक.

 

5

कूल लुक
अपने लिविंग रूम को कूल लुक देने के लिए ब्राइट कलर की वॉलकवरिंग यूज़ करें. इससे आंखों को सुकून मिलेगा और कमरा भी फ्रेश दिखेगा.

स्मार्ट आइडियाज़
* कूल लुक के लिए व्हाइट, लाइट ब्लू, ऑलिव ग्रीन, लेमन यलो जैसे ब्राइट व सूदिंग वॉलपेपर का चुनाव करें.
* होम डेकोर की अन्य चीज़ों के लिए भी लाइट कलर का ही इस्तेमाल करें.
* फ्लोरल प्रिंट्स और पेस्टल कलर के कुशन्स और बेडशीट यूज़ करें.
* लाइट कलर के परदे लगाएं.
* इंडोर प्लांट्स लगाएं. इससे घर की सुंदरता बढ़ने के साथ ही उसे कूल लुक भी मिलेगा.

 

3

रोमांटिक लुक
पार्टनर को सरप्राइज़ देना चाहती हैं, तो अपने बेडरूम को रेड, पिंक जैसे रोमांटिक कलर के वॉलपेपर से सजाएं. बेडरूम के लिए अपनी व पार्टनर की पसंद के शेड्स और डिज़ाइन का चुनाव करें.

स्मार्ट आइडियाज़
* बेडरूम को रोमांटिक लुक देने के लिए पिंक या रेड कलर की थीम बेस्ट है.
* बेडरूम में बहुत सारा फर्नीचर न भरें, इससे उसका लुक बिगड़ जाएगा.
* सिल्क या सैटिन के रेड, पिंक या फर्नीचर से मैच करते कर्टन, बेडशीट यूज़ करें.
* हां, इस बात का भी ध्यान रखें पूरा बेडरूम रेड न नज़र आए. इसके लिए रंगों का चुनाव सोच-समझकर करें. रेड के साथ व्हाइट, ऑफ व्हाइट कलर का कॉम्बिनेशन अच्छा लगता है, आप इसे भी ट्राई कर सकती हैं.

1

क्लासी लुक
अपने आशियाने को क्लासी लुक देने के लिए वुडन कलर के वॉलपेपर सिलेक्ट करें. मार्केट में वुडन शेड के वॉलपेपर की ढेरों वैरायटी मौजूद है. आप अपनी पसंद व घर के लुक के अनुसार इनका चुनाव कर सकती हैं.

स्मार्ट आइडियाज़
* यदि आप कमरे की एक दीवार पर वुडन वॉलपेपर लगा रही हैं, तो अन्य दीवारों को बेज, ग्रे जैसे क्लासी कलर से पेंट कराएं.
* इस थीम के साथ ब्लैक एंड व्हाइट या फिर क्रीम कलर के फर्नीचर मैच होंगे.
* कमरे में फर्नीचर और अन्य डेकोर एक्सेसरीज़ का ढरे न लगाएं.
* दीवारों को सजाने के लिए मॉडर्न पेंटिंग लगाएं.

7

आर्टिस्टिक लुक
यदि आप क्रिएटिव हैं और आपको होम डेकोर में भी एक्सपेरिमेंट करना पसंद है, तो कलरफुल आर्टिस्टिक वॉलपेपर से दीवारों को सजाइए. फिर देखिए, किस तरह लोगों की नज़रें आपके घर की दीवारों पर ठहर जाएंगी.

स्मार्ट आइडियाज़
* दीवारों को आर्टिस्टिक टच देने के लिए फ्लावर, लीव्स आदि डिज़ाइन वाले वॉलपेपर का चुनाव करें.
* एक दीवार पर अपनी फैमिली फोटो या फोटो का कोलाज बनवाकर भी लगा सकती हैं.
* यूनीक डिज़ाइन वाले कारपेट बिछाकर भी आप कमरे को आर्टिस्टिक लुक दे सकती हैं.
* ख़ूबसूरत पेंटिंग, यूनीक डेकोर एक्सेसरीज़ से घर को आर्टिस्टिक लुक दें.
* हैंडीक्राफ्ट आइटम्स से भी घर को मिनटों में आर्टिस्टिक लुक दिया जा सकता है.

– कंचन सिंह