Depression survivors in bol...

अक्सर जब बॉलीवुड सितारों का करियर आगे नहीं बढ़ पाता, तो स्टार्स इसे सहन नहीं कर पाते और डिप्रेशन के शिकार हो जाते हैं. ग्लैमर की चकाचौंध में रहने वाले ये सितारे कई बार अंदर ही अंदर टूट रहे होते हैं और कई बार इसका परिणाम जानलेवा भी हो जाता है. आइए, आज हम आपको उन 10 बॉलीवुड सितारों के बारे में बताते हैं, जो डिप्रेशन के शिकार रह चुके हैं.

Bollywood Stars

1) अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan)
सदी के महानायक अमिताभ बच्चन भी डिप्रेशन के दर्द से गुजर चुके हैं. 90 के दशक में जब बिग बी ने बतौर निर्माता अपनी कंपनी शुरू की थी, लेकिन एक के बाद एक कई फिल्में फ्लॉप होने के कारण जब उनकी कंपनी दिवालिया होने के कगार पर पहुंच गई, तो इस नुकसान को वे सहन नहीं कर पाए और डिप्रेशन में चले गए. बिग बी इसके कारण शारीरिक- मानसिक रूप से काफी कमज़ोर हो गए थे.

Amitabh Bachchan

2) दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone)
बॉलीवुड की सुपरस्टार दीपिका पादुकोण डिप्रेशन की शिकार हो चुकी हैं और इसके बारे में वो अक्सर बताती रहती हैं. अपनी इस बीमारी का ख़ुलासा ख़ुद दीपिका ने एक इंटरव्यू के दौरान किया था. उन्होंने बताया था कि जब वो डिप्रेशन का दर्द झेल रही थीं, तब उन्हें कुछ समझ नहीं आता था कि वो कहां जाएं, क्या करें ? वो बस रोती रहती थीं. ख़ास बात ये है कि दीपिका पादुकोण इस गंभीर बीमारी से लड़कर बाहर आई हैं और अब वो मेंटल हेल्थ के बारे में लोगों को जागरूक करती रहती हैं. इसी कड़ी में दीपिका ने ‘द लिव लव लाफ फाउंडेशन’ (The Live Love Laugh Foundation) भी लॉन्च किया है.

Deepika Padukone

3) अनुष्का शर्मा (Anushka Sharma)
अनुष्का शर्मा ने बहुत कम समय में बॉलीवुड में अपनी अलग जगह बनाया है, लेकिन अनुष्का को भी डिप्रेशन के दौर से गुजरना पड़ा है. अपनी इस मानसिक स्थिति के बारे में अनुष्का ने खुद ट्वीट करके बताया था कि वो एंज़ायटी डिसऑर्डर जैसी मानसिक स्वास्थ्य समस्या से गुज़र रही हैं और उनका इलाज चल रहा है. उन्होंने इस विषय पर बेबाक़ी से कहा कि जब आपके पेट में दर्द होता है तो क्या आप डॉक्टर के पास नहीं जाते, तो फिर मेंटल हेल्थ से जुड़े मुद्दों पर ख़ुलकर बात करने में शर्म कैसी?

Anushka Sharma

4) शाहरुख ख़ान (Shahrukh Khan)
बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख ख़ान भी डिप्रेशन का शिकार हो चुके हैं. शाहरुख ख़ान ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया कि साल 2010 में कंधे की सर्जरी कराने के बाद कुछ समय के लिए वो डिप्रेशन में चले गए थे, लेकिन अब वो पूरी तरह से इससे बाहर आ चुके हैं.

यह भी पढ़ें: लगान और गदर एक प्रेम कथा: 20 साल पहले एक साथ रिलीज़ हुई थी आमिर खान और सनी देओल की ये पीरियड ड्रामा फिल्में, बॉक्स ऑफिस पर ऐसे मचा था घमासान (Lagaan VS Gadar Ek Prem Katha Biggest Box Office Clash Of Aamir Khan And Sunny Deol Movie)

Shahrukh Khan

5) सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput)
सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या की खबर से पूरा देश स्तब्ध है. आखिर ऐसा क्या हुआ सुशांत सिंह राजपूत के साथ कि उन्होंने फांसी लगाकर अपनी ज़िंदगी को ख़त्म कर दिया. बता दें कि उन्होंने अपने बांद्रा स्थित घर पर फांसी लगाकर जान दे दी थी. सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या की वजह अभी सामने नहीं आई है, लेकिन पुलिस की रिपोर्ट के अनुसार, वे अपनी मृत्यु से पहले पिछले छह महीनों से डिप्रेशन से गुजर रहे थे.

Sushant Singh Rajput

6) वरुण धवन (Varun Dhawan)
बहुत कम लोगों को ये बात मालूम है कि सुपरस्टार वरुण धवन भी डिप्रेशन जैसी गंभीर मानसिक स्थिति से गुजर चुके हैं. वरुण धवन ने बताया कि फिल्म बदलापुर की शूटिंग के दौरान उन्हें डिप्रेशन की समस्या हो गई थी. एक इंटरव्यू के दौरान अपने इस दर्द को बयां करते हुए वरुण ने कहा था कि मैं अचानक दुखी हो जाता था, अकेलापन महसूस करता था. इस बीमारी ने मेरे मानसिक स्वास्थ्य को काफ़ी हद तक प्रभावित किया था. यह एक गंभीर समस्या है, जिसे हल्के में नहीं लेना चाहिए.

Varun Dhawan

7) टाइगर श्रॉफ (Tiger Shroff)
बॉलीवुड के युवा अभिनेता टाइगर श्रॉफ भी ख़ुलकर अपने डिप्रेशन का दर्द बयां कर चुके हैं. एक इंटरव्यू के दौरान टाइगर ने कहा था कि उनकी फिल्म ‘अ फ्लाइंग जट्ट’ के फ्लॉप होने के बाद वो ज़बरदस्त डिप्रेशन में चले गए थे. उनका कहना था कि उनकी फिल्म ‘बाग़ी’ को सफलता मिली थी, लेकिन ‘अ फ्लाइंग जट्ट’ की असफलता ने उन्हें डिप्रेशन का शिकार बना दिया था. हालांकि उन्होंने डिप्रेशन के आगे हार नहीं मानी और इससे लड़ने का फैसला किया. आख़िरकार ‘मुन्ना माइकल’ की शूटिंग के दौरान वो ख़ुद को डिप्रेशन से पूरी तरह उबारने में सफल रहे.

Tiger Shroff

8) इलियाना डिक्रूज़ (Ileana D cruz)
इलियाना भी डिप्रेशन का शिकार हो चुकी हैं. इलियाना डिक्रूज़ ने एक इंटरव्यू में अपने 15 सालों के डिप्रेशन के बारे में बताया था. इलियाना ने बताया कि वो जब इंडस्ट्री में आई थीं तो खुद को यहां मिसफिट पाती थीं. उन्होंने इस बात को एक्सेप्ट किया कि वो डिप्रेशन में हैं. उनका कहना है कि इस बात को एक्सपेप्ट करना, बेहतर होने की दिशा में एक कदम है.

यह भी पढ़ें: ऐश्वर्या राय, दीपिका पादुकोण से लेकर विद्या बालन तक इन 5 बॉलीवुड अभिनेत्रियों ने निभाए बंगाली किरदार, आपको कौन-सा किरदार पसंद है? (5 Bengali Characters Of Bollywood Actresses, Which Character Do You Like?)

Ileana D cruz

9) आलिया भट्ट की बड़ी बहन शाहीन (Shaheen)
आलिया भट्ट बॉलीवुड की बड़ी बहन शाहीन भी डिप्रेशन की शिकार रह चुकी हैं. शाहीन ने अपनी इस जर्नी पर किताब भी लिखी है. इस किताब का नाम है Have Never Been (Un)Happier. शाहीन और आलिया भट्ट जब एक इवेंट में शामिल हुई थी, वहां पर उन्होंने मेंटल हेल्थ के बारे में बात की. उसी दौरान इस बारे में बात करते-करते आलिया भट्ट इतनी इमोशनल हो गईं कि वे फूट-फूटकर रोने लगीं. आलिया ने ये भी कहा, “हालांकि मुझे डिप्रेशन की समस्या नहीं है, लेकिन कभी-कभी मुझे एंज़ायटी होती है, पिछले 5-6 महीनों से मुझे यह समस्या हो रही है.”

Shaheen Bhatt

10) मनीषा कोइराला (Manisha Koirala)
बॉलीवुड की कई बेहतरीन फ़िल्मों में अभिनय कर चुकी अभिनेत्री मनीषा कोइराला भी डिप्रेशन के दर्द को झेल चुकी हैं. उन्हें सिर्फ डिप्रेशन ने ही नहीं, बल्कि गर्भाशय के कैंसर ने भी अपना शिकार बना लिया था. हालांकि समय पर इलाज के साथ-साथ परिवार और दोस्तों के सहयोग ने उन्हें दोनों बीमारियों से लड़ने की हिम्मत दी. मनीषा का कहना है कि वे निराशावादी नहीं हैं, इसलिए डिप्रेशन से लड़ना जानती हैं. बता दें कि डिप्रेशन ने उनके रंग-रूप को भी काफ़ी हद तक प्रभावित किया था.

Manisha Koirala

Photo Courtesy: Instagram (All Photos)

डायटिंग एक कठिन और मुश्किल शब्द है, हम इसे करने की कोशिश कर लें, लेकिन बड़े हुए वजन को कम करना इतना आसान नहीं होता है. टीवी, विज्ञापन, होर्डिंग, सोशल मीडिया और लगभग हर स्वास्थ्य, फिटनेस और फैशन मैगज़ीन में डायटिंग को महत्व के साथ-साथ उसके साइड इफेक्ट के बारे में भी बताया जाता है. डायटिंग के बढ़ते हुए क्रेज़ को देखकर कह सकते हैं कि डायटिंग के साइड इफ़ेक्ट भी होते हैं, अगर सही तरीके से न की जाए तो?

शरीर में पोषक तत्वों की कमी

 लंबे समय तक और कड़ी सख्त डायटिंग करने से शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती हैं, जैसे- कार्बोहाइड्रेट्स, प्रोटीन, विटामिंस  (विशेष तौर पर ए, बी, इ और के) और मिनरल्स, जैसे- कैल्शियम, फास्फोरस, सोडियम आदि. ये सभी नूट्रिएंट्स हमारे फ़ूड ग्रुप के अति आवश्यक तत्व होते हैं और डायट करने पर भोजन में इनकी अनुपस्थिति होने पर शरीर में कई तरह की बीमारियां हो सकती हैं.

मेटाबॉलिज्म का धीमा होना

मेटाबोलिज्म ऐसी प्रक्रिया है, जो शरीर को एक्टिव रखने के लिए ऊर्जा उपलब्ध कराती है, लेकिन अधिक समय तक डायटिंग करने की वजह से शरीर में कैलोरी की कमी होने लगती है, जिसकी वजह से धीरे-धीरे शरीर का मेटाबॉलिज्म धीमा होने लगता है. डायटिंग के दौरान भूख लगने पर जब शरीर को पर्याप्त कैलोरी नहीं मिलती है, तो शरीर खाना नहीं मिलता है, तो फास्टिंग (उपवास) मोड़ में चला जाता है और मेटाबॉलिज्म कम होने लगता है और मेटाबॉलिज़्म कम होने वजन कम होने लगता है.

मूड स्विंग होना

डायटिंग करने के वजह से शरीर को पौष्टिकता से भरपूर संतुलित भोजन नहीं मिल पाता है, जिसके कारण शरीर में हार्मोंस का असंतुलित होना, ब्लड शुगर का लेवल कम होना और मूड स्विंग होना जैसी समस्याएं होती हैं. भूख लगने पर जब शरीर को भोजन नहीं मिलता है, तो शरीर थका हुआ महसूस करता है और मूड ख़राब रहता है.

सिरदर्द

Side Effects Of Dieting
Photo Credit: freepik.com

इसमें कोई दो राय नहीं है कि क्रैश डायटिंग करने वजन कम होता है. लेकिन तेज़ी से वजन कम होने के कारण लगातार सिर में दर्द रहता है.इसलिए डायटीशियन भी डायटिंग के दौरान डायट चार्ट बनाते समय इस बात का विशेष ख्याल रखती है कि थोड़े-थोड़े आप कुछ न कुछ खाते रहें. वर्कआउट से पहले और बाद में खूब पानी पीएं, ताकि शरीर में पानी की कमी होने पर सिर  दर्द न हो.

थकान और चिड़चिड़ापन

Side Effects Of Dieting
Photo Credit: freepik.com

डायटिंग करते हुए अधिक देर तक भूखा रहने के कारण सबसे पहला साइड इफ़ेक्ट सामने दिखता है वह थकान और चिड़चिड़ापन. भोजन में पोषक तत्वों की कमी होने पर शरीर में उनका स्तर भी गड़बड़ा जाता है. नतीजा यह होता है कि आप थकान और चिड़चिड़ापन महसूस करते हैं और न ही किसी काम में मन लगता है. कीटोजेनिक डाइट पर आधारित ‘जर्नल ऑफ दि अमेरिकन डायटिक एसोसिएशन’ की एक रिपोर्ट के अनुसार, लो कार्बोहाइड्रेट डाइट से बॉडी का एनर्जी लेवल कम रहता है और आप अधिक थकान महसूस करने लगते हैं.

कब्ज

Side Effects Of Dieting
Photo Credit; freepik.com

कड़ी डायटिंग करने पर कब्ज़ होना आम बात है. वैसे तो डायटीशियन भी ऐसा डायट चार्ट बनाकर देती हैं, जिसमें सभी पोषक तत्व शामिल हों, विशेष तौर पर फाइबर. डायटिंग के दौरान खाने में फाइबर की मात्रा बढ़ाएं. कब्ज़ से बचने के लिए हरी पत्तेदार सब्जियां, हरी सब्जियां-फल और पानी अधिकाधिक  मात्रा में पीएं.

गुर्दे में पथरी (किडनी स्टोन)

जब आप डायटिंग करने से शरीर में न्यूट्रिशन की कमी होने लगती है, जिसका असर पूरे शरीर पर दिखाई देने लगता है.क्योंकि डायटिंग के दौरान खाने-पीने की बहुत सारी चीज़ों का सेवन बंद करना पड़ता हैं. इसकी वजह से शरीर में पानी की मात्रा कम हो जाती है और डीहाइड्रेशन की समस्या बढ़ जाती है और डीहाइड्रेशन की वजह से गुर्दे में पथरी होने की आशंका बढ़ जाती है.

बालों का झड़ना

Side Effects Of Dieting
Photo Credit: freepik.com

एक्सपर्ट्स के मुताबिक, डायटिंग यानी लो कैलोरी फूड खाने से हमारे शरीर में कैलोरी की मात्रा कम हो जाती है, भोजन में पोषक तत्वों की कमी होने लगती है जिसकी वजह से हेयर स्ट्रक्चर और हेयर ग्रोथ दोनों पर बुरा असर पड़ता है और बाल तेजी से झड़ने लगते हैं.

डिप्रेशन

Side Effects Of Dieting
Photo Credit: freepik.com

जो लोग लगातार डायटिंग करते हैं, पर्याप्त और सही मात्रा में खाना न खाने कारण वे कभी-कभी डिप्रेशन के शिकार हो जाते हैं. क्योंकि भोजन में कार्बोहाइड्रेट्स और शुगर न लेने के कारण शरीर में सेरोटोनिन का स्तर कम हो जाता है, सेरोटोनिन हैप्पी हार्मोन होता है, जो हमारे मूड को खुश रखता है. इसलिए शरीर में इसका स्तर कम होने का मतलब है डिप्रेशन होना और तनाव का बढ़ना.

मेंस्ट्रुअल प्रॉब्लम्स

Side Effects Of Dieting

इसमें कोई दो राय नहीं है कि सख्त डायट करने पर वजन तो कम होता ही है. लेकिन वजन कम होने के कारण महिलाओं के शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है, जिसका असर पीरियड्स पर भी पड़ता हैं। सही और संतुलित डायट न लेने पर हार्मोन्स में गड़बड़ी होने लगती है और उनका असर पीरियड सायकल पर पड़ने लगता है.

बीमार पड़ना

इंटरमिटेंट फास्टिंग यानी सप्ताह में कम-से-कम 4 दिन तक भूख कंट्रोल करना या फिर भोजन न करना। ऐसा करना आपकी सेहत के लिए नुकसानदायी  हो सकता है. हार्वर्ड मेडिकल स्कूल के एक्सपर्ट्स के अनुसार, इससे लोगों को सिरदर्द, अनिद्रा, रूखी और बेजान त्वचा, कब्ज, आलस और पेट संबंधी परेशानियां हो सकती हैं

डायटिंग करने अलावा बढ़े हुए वजन को कम करने के और बहुत सारे तरीके हैं, जरुरी नहीं कि डाइटिंग ही की जाए.वजन कम करने का ये तरीका बिल्कुल भी हेल्दी नहीं है. कठोर डाइटिंग करने से शरीर में बहुत सारी कॉम्प्लीकेशन्स पैदा होती हैं. अगर आप डायटिंग करना ही चाहते हैं, तो डायटीशियन और नूट्रिशनिस्ट की निगरानी में करें. वे आपको इस तरह की डायट चार्ट देंगी, जिससे आप खाने में संतुलित आहार ले सकेंगे और डायटिंग का कोई दुष्परिणाम भी नहीं होगा.

-पूनम शर्मा

और भी पढ़ें; अपनी हेल्थ का रिकॉर्ड रखना चाहते हैं, तो घर में जरूर होने चाहिए ये 7 मेडिकल गैजेटस (7 Medical Gadgets: Keep At Home To Track Your Health Record)

हाल ही में बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान और उनकी पहली पत्नी रीना दत्ता की बेटी इरा खान ने ‘वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे’ पर सोशल मीडिया के जरिए यह खुलासा किया कि वो पिछले चार सालों से डिप्रेशन का सामना कर रही हैं. इरा खान का वीडियो सोशल मीडिया पर बहुत वायरल हो रहा है… और अब इरा खान के इस वीडियो पर कंगना रनौत ने अपनी ये प्रतिक्रिया दी है. कंगना के फैन्स उनकी बातों से सहमत हैं और कंगना की इस प्रतिक्रिया पर खूब बहस होने लगी है. ये है पूरा मामला.

Kangana Ranaut

इरा खान ने बताया कि वो क्यों डिप्रेस्ड हैं
हाल ही में बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान और उनकी पहली पत्नी रीना दत्ता की बेटी इरा खान ने ‘वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे’ पर सोशल मीडिया के जरिए यह खुलासा किया कि वो पिछले चार सालों से डिप्रेशन का सामना कर रही हैं. इस खबर से हर कोई हैरान है. इरा खान ने अपने आधिकारिक इंस्टाग्राम पर अपना वीडियो साझा करते हुए कहा, “हाय, मैं डिप्रेस्ड हूं… और मैं करीब चार सालों से डिप्रेशन में हूं… मैं डॉक्टर के पास गई थी… मैं क्लिनिकली डिप्रेस्ड हूं, लेकिन अब मैं अच्छा महसूस कर रही हूं. पिछले एक साल से मैं मेंटल हेल्थ पर कुछ करना चाह रही थी, लेकिन मुझे समझ नहीं आ रहा था कि मैं क्या करूं… इसलिए मैंने सोचा कि मैं आपको अपने सफर पर लेकर चलती हूं और देखते हैं कि क्या होता है… चलिए, शुरुआत करते हैं…. जहां से मैंने शुरुआत की… मैं किस बारे में डिप्रेस्ड हूं? डिप्रेस्ड होने के लिए मैं कौन हूं? मेरे पास सबकुछ है, है ना?” इतना कहकर इरा खान ने अपनी बात बीच में ही खत्म कर दी, लेकिन उनकी अनकही बातें भी उनके वीडियो से साफ़ पता चल रही थीं. अपने इस वीडियो के साथ इरा ने एक लंबा-सा पोस्ट भी लिखा है. आप भी पढ़िए इरा खान का ये पोस्ट.

यह भी पढ़ें: इन 5 गलतियों की वजह से बर्बाद हुआ गोविंदा का करियर, वरना आज भी होते सुपरस्टार (5 Big Mistakes Which Spoiled The Career Of Actor Govinda)

इरा खान के डिप्रेशन के पोस्ट पर कंगना रनौत ने दी ये प्रतिक्रिया
इरा खान के डिप्रेशन के खुलासे के बाद कंगना रनौत ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी और ट्विटर पर अपनी जिंदगी के एक बुरे अनुभव को साझा किया. इसके साथ ही कंगना ने पारंपरिक परिवार प्रणाली की बात भी कही. कंगना रनौत ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, ’16 साल की उम्र में मैं मारपीट का सामना कर रही थी, अकेले अपनी बहन का ख्याल रख रही थी, जो एसिड से जल गई थी. डिप्रेशन की कई वजहें हो सकती हैं, लेकिन आमतौर पर यह टूटे हुए परिवार के बच्चों के लिए बहुत मुश्किल होता है, पारंपरिक परिवार प्रणाली बहुत जरूरी होती है.’

कंगना रनौत का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. कंगना के फैन्स उनके इस ट्वीट पर खुलकर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं. कंगना रनौत एक ऐसी बॉलीवुड अभिनेत्री हैं, जो हर सामाजिक मुद्दे पर खुलकर अपनी बात रखती हैं. इरा खान के डिप्रेशन के पोस्ट पर कंगना रनौत की ये प्रतिक्रिया आपको कैसी लगी, हमें कमेंट करके जरूर बताएं.

सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या की खबर ने लोगों को एक बार ये सोचने पर मजबूर कर दिया है कि डिप्रेशन (Depression) जैसी गंभीर समस्या को हल्के में नहीं लेना चाहिए. हैरानी की बात ये है कि आज भी अधिकतर लोग डिप्रेशन को लेकर उतने संजीदा नहीं हैं, जितना होना चाहिए. ख़बरों के अनुसार, सुशांत सिंह राजपूत को छह महीने पहले डिप्रेशन की शिकायत शुरू हो गई थी, लेकिन सुशांत ने इसका पूरा इलाज नहीं कराया, दवाइयां भी समय पर नहीं ली, जिससे उनका डिप्रेशन बढ़ता चला गया और अब डिप्रेशन ने उनकी ज़िंदगी ले ली. बॉलीवुड इंडस्ट्री में मानसिक तनाव बहुत होता है. अक्सर जब बॉलीवुड सितारों का करियर आगे नहीं बढ़ पाता, तो स्टार्स इसे सहन नहीं कर पाते और डिप्रेशन के शिकार हो जाते हैं. ग्लैमर की चकाचौंध में रहने वाले ये सितारे कई बार अंदर ही अंदर टूट रहे होते हैं और कई बार इसका परिणाम जानलेवा भी हो जाता है. आइए, आज हम आपको उन बॉलीवुड सितारों के बारे में बताते हैं, जो डिप्रेशन के शिकार हो चुके हैं. सुशांत सिंह राजपूत ही नहीं ये फिल्मी सितारे भी हो चुके हैं डिप्रेशन के शिकार.

11 Bollywood Celebrities Who Have Suffered From Depression

1) सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput)
सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या की खबर से पूरा देश स्तब्ध है. आखिर ऐसा क्या हुआ सुशांत सिंह राजपूत के साथ कि उन्होंने फांसी लगाकर अपनी ज़िंदगी को ख़त्म कर दिया. बता दें कि उन्होंने अपने बांद्रा स्थित घर पर फांसी लगाकर जान दे दी. सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या की वजह अभी सामने नहीं आई है, लेकिन पुलिस की रिपोर्ट के अनुसार, वे पिछले छह महीनों से डिप्रेशन से गुजर रहे थे.

Sushant Singh Rajput

2) दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone)
बॉलीवुड की सुपरस्टार दीपिका पादुकोण डिप्रेशन की शिकार हो चुकी हैं और इसके बारे में वो अक्सर बताती रहती हैं. अपनी इस बीमारी का ख़ुलासा ख़ुद दीपिका ने एक इंटरव्यू के दौरान किया था. उन्होंने बताया था कि जब वो डिप्रेशन का दर्द झेल रही थीं, तब उन्हें कुछ समझ नहीं आता था कि वो कहां जाएं, क्या करें ? वो बस रोती रहती थीं. ख़ास बात ये है कि दीपिका पादुकोण इस गंभीर बीमारी से लड़कर बाहर आई हैं और अब वो मेंटल हेल्थ के बारे में लोगों को जागरूक करती रहती हैं. इसी कड़ी में दीपिका ने ‘द लिव लव लाफ फाउंडेशन’ (The Live Love Laugh Foundation) भी लॉन्च किया है.

Deepika Padukone

3) अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan)
सदी के महानायक अमिताभ बच्चन भी डिप्रेशन के दर्द से गुजर चुके हैं. 90 के दशक में जब बिग बी ने बतौर निर्माता अपनी कंपनी शुरू की थी, लेकिन एक के बाद एक कई फिल्में फ्लॉप होने के कारण जब उनकी कंपनी दिवालिया होने के कगार पर पहुंच गई, तो इस नुकसान को वे सहन नहीं कर पाए और डिप्रेशन में चले गए. बिग बी इसके कारण शारीरिक- मानसिक रूप से काफी कमज़ोर हो गए थे.

यह भी पढ़ें: सुशांत सिंह राजपूत के आखिरी ट्विटर और इंस्टाग्राम पोस्ट पर ऐसे छलका उनका दर्द (Sushant Singh Rajput’s Last Twitter And Instagram Post Will Make You Emotional)

Amitabh Bachchan

4) अनुष्का शर्मा (Anushka Sharma)
अनुष्का शर्मा ने बहुत कम समय में बॉलीवुड में अपनी अलग जगह बनाया है, लेकिन अनुष्का को भी डिप्रेशन के दौर से गुजरना पड़ा है. अपनी इस मानसिक स्थिति के बारे में अनुष्का ने खुद ट्वीट करके बताया था कि वो एंज़ायटी डिसऑर्डर जैसी मानसिक स्वास्थ्य समस्या से गुज़र रही हैं और उनका इलाज चल रहा है. उन्होंने इस विषय पर बेबाक़ी से कहा कि जब आपके पेट में दर्द होता है तो क्या आप डॉक्टर के पास नहीं जाते, तो फिर मेंटल हेल्थ से जुड़े मुद्दों पर ख़ुलकर बात करने में शर्म कैसी?

Anushka Sharma

डिप्रेशन से बचने और डिप्रेशन को दूर करने के उपाय जानने के लिए देखें ये वीडियो

5) शाहरुख ख़ान (Shahrukh Khan)
बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख ख़ान भी डिप्रेशन का शिकार हो चुके हैं. शाहरुख ख़ान ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया कि साल 2010 में कंधे की सर्जरी कराने के बाद कुछ समय के लिए वो डिप्रेशन में चले गए थे, लेकिन अब वो पूरी तरह से इससे बाहर आ चुके हैं.

Shahrukh Khan

6) वरुण धवन (Varun Dhawan)
बहुत कम लोगों को ये बात मालूम है कि सुपरस्टार वरुण धवन भी डिप्रेशन जैसी गंभीर मानसिक स्थिति से गुजर चुके हैं. वरुण धवन ने बताया कि फिल्म बदलापुर की शूटिंग के दौरान उन्हें डिप्रेशन की समस्या हो गई थी. एक इंटरव्यू के दौरान अपने इस दर्द को बयां करते हुए वरुण ने कहा था कि मैं अचानक दुखी हो जाता था, अकेलापन महसूस करता था. इस बीमारी ने मेरे मानसिक स्वास्थ्य को काफ़ी हद तक प्रभावित किया था. यह एक गंभीर समस्या है, जिसे हल्के में नहीं लेना चाहिए.

यह भी पढ़ें: अपने किरदार में जान डालने के लिए गंजी हुई हैं ये 10 बॉलीवुड अभिनेत्रियां (10 Bollywood Actresses Who Went Bald For Roles In The Movies)

Varun Dhawan

7) टाइगर श्रॉफ (Tiger Shroff)
बॉलीवुड के युवा अभिनेता टाइगर श्रॉफ भी ख़ुलकर अपने डिप्रेशन का दर्द बयां कर चुके हैं. एक इंटरव्यू के दौरान टाइगर ने कहा था कि उनकी फिल्म ‘अ फ्लाइंग जट्ट’ के फ्लॉप होने के बाद वो ज़बरदस्त डिप्रेशन में चले गए थे. उनका कहना था कि उनकी फिल्म ‘बाग़ी’ को सफलता मिली थी, लेकिन ‘अ फ्लाइंग जट्ट’ की असफलता ने उन्हें डिप्रेशन का शिकार बना दिया था. हालांकि उन्होंने डिप्रेशन के आगे हार नहीं मानी और इससे लड़ने का फैसला किया. आख़िरकार ‘मुन्ना माइकल’ की शूटिंग के दौरान वो ख़ुद को डिप्रेशन से पूरी तरह उबारने में सफल रहे.

Tiger Shroff

8) इलियाना डिक्रूज़ (Ileana D cruz)
इलियाना भी डिप्रेशन का शिकार हो चुकी हैं. इलियाना डिक्रूज़ ने एक इंटरव्यू में अपने 15 सालों के डिप्रेशन के बारे में बताया था. इलियाना ने बताया कि वो जब इंडस्ट्री में आई थीं तो खुद को यहां मिसफिट पाती थीं. उन्होंने इस बात को एक्सेप्ट किया कि वो डिप्रेशन में हैं. उनका कहना है कि इस बात को एक्सपेप्ट करना, बेहतर होने की दिशा में एक कदम है.

Ileana D cruz

9) आलिया भट्ट की बड़ी बहन शाहीन (Shaheen)
आलिया भट्ट बॉलीवुड की बड़ी बहन शाहीन भी डिप्रेशन की शिकार रह चुकी हैं. शाहीन ने अपनी इस जर्नी पर किताब भी लिखी है. इस किताब का नाम है Have Never Been (Un)Happier. शाहीन और आलिया भट्ट जब एक इवेंट में शामिल हुई थी, वहां पर उन्होंने मेंटल हेल्थ के बारे में बात की. उसी दौरान इस बारे में बात करते-करते आलिया भट्ट इतनी इमोशनल हो गईं कि वे फूट-फूटकर रोने लगीं. आलिया ने ये भी कहा, “हालांकि मुझे डिप्रेशन की समस्या नहीं है, लेकिन कभी-कभी मुझे एंज़ायटी होती है, पिछले 5-6 महीनों से मुझे यह समस्या हो रही है.”

यह भी पढ़ें: ‘जब वी मेट’ फिल्म की ‘गीत’ करीना कपूर के 10 मशहूर डायलॉग में से आपका फेवरेट कौन सा है? (10 Famous Dialogues Of Geet (Kareena Kapoor) From ‘Jab We Met’ Film)

Shaheen Alia Bhatt

10) ज़ायरा वसीम (Zaira Wasim)
फिल्म ‘दंगल’ और ‘सीक्रेट सुपरस्टार’ में नज़र आ चुकी एक्ट्रेस ज़ायरा वसीम ने भी सोशल मीडिया पर अपने डिप्रेशन का खुलासा किया था. ज़ायरा सोशल मीडिया पर पोस्ट करके बताया था कि पिछले कई सालों से वो डिप्रेशन यानी अवसाद से जूझ रही हैं और उन्हें हर रोज़ इसके लिए 5 गोलियां खानी पड़ती है.

Zaira Wasim

11) मनीषा कोइराला (Manisha Koirala)
बॉलीवुड की कई बेहतरीन फ़िल्मों में अभिनय कर चुकी अभिनेत्री मनीषा कोइराला भी डिप्रेशन के दर्द को झेल चुकी हैं. उन्हें सिर्फ डिप्रेशन ने ही नहीं, बल्कि गर्भाशय के कैंसर ने भी अपना शिकार बना लिया था. हालांकि समय पर इलाज के साथ-साथ परिवार और दोस्तों के सहयोग ने उन्हें दोनों बीमारियों से लड़ने की हिम्मत दी. मनीषा का कहना है कि वे निराशावादी नहीं हैं, इसलिए डिप्रेशन से लड़ना जानती हैं. बता दें कि डिप्रेशन ने उनके रंग-रूप को भी काफ़ी हद तक प्रभावित किया था.

Manisha Koirala

डिप्रेशन के संकेत यदि वक़्त रहते समझ आ जाएं, तो इससे बहुत आसानी से बचा जा सकता है. यदि आपके घर में या आपके आसपास कोई व्यक्ति आपको डिप्रेस्ड दिखाई दे, तो खुद आगे बढ़कर उसकी मदद करें, उसके साथ वक़्त बिताएं, उसकी समस्या को समझने की कोशिश करें, उसे डिप्रेशन से बाहर निकलने में मदद करें. यदि इतना सब करने के बाद भी कोई सकारात्मक परिवर्तन न दिखाई दे, तो एक्सपर्ट की मदद लें. डिप्रेशन एक ऐसी नकारात्मक भावना है, जो व्यक्ति के जीवन से सारी खुशियां छीन लेती है. ऐसे व्यक्ति को जीवन में कुछ भी अच्छा नहीं लगता, कई बार तो उसकी जीने की इच्छा भी ख़त्म हो जाती है. ट्रांसफॉर्मेशन कोच हित्ती रंगनानी बता रही हैं डिप्रेशन को खुद से दूर करने के आसान और असरदार उपाय.

Depression

क्या हैं डिप्रेशन के कारण?
यदि किसी व्यक्ति के परिवार में अचानक किसी की मृत्यु हो जाए, किसी को बिज़नेस में बहुत बड़ा लॉस हो जाए, किसी की शादी टूट जाए… ऐसी कोई भी बात या घटना, जिसे आप चाहकर भी भूल नहीं पाते या जिसे सहन करना आपके लिए मुश्किल हो जाए, छह महीने बाद भी आप उस चीज़ को भूल न पाएं और आपका किसी चीज़ में मन न लगे, तो समझ जाइए कि ये डिप्रेशन है.

यह भी पढ़ें: तनाव दूर करके मन को शांत रखते हैं ये 4 योगासन (4 Yoga Poses For Stress Relief)

क्या हैं डिप्रेशन के लक्षण?
डिप्रेशन की शुरुआत में चीज़ों में रुचि कम होने लगती है, फिर आप लोगों से कटने लगते हैं, सामाजिक समारोहों में जाने से कतराते हैं, घर से बाहर नहीं निकलना चाहते, आपका किसी काम में मन नहीं लगता, आप बहुत ज़्यादा सोने लगते हैं, आपका खाने का मन नहीं करता. जब ये स्थिति छह महीने बाद भी नहीं बदलती, तो मन में आत्महत्या के ख़्याल आने लगते हैं, जीने की रूचि ख़त्म होने लगती है.

डिप्रेशन को खुद से दूर करने के आसान और असरदार उपाय जानने के लिए देखें लाइफ कोच हित्ती रंगनानी का ये वीडियो:

आसान है डिप्रेशन को हराना
डिप्रेशन से बाहर निकलने के लिए सबसे ज़रूरी है किसी अपने का साथ, जिससे आप अपने मन की हर बात शेयर कर सकें, इसलिए अपने करीबी दोस्त या घर के करीबी सदस्य से अपने मन की बात शेयर करें. साथ ही अपनी लाइफस्टाइल में बदलाव करें. नियमित एक्सरसाइज़, योग, ध्यान, सही आहार, पूरी नींद आदि से आप डिप्रेशन से बाहर निकल सकते हैं. यदि इतना सब करने के बाद भी कोई सकारात्मक परिवर्तन न दिखाई दे, तो एक्सपर्ट की मदद लें.

साल 2016 में मानसिक स्वास्थ्य बिल तो लोकसभा में पास हो गया और इस बिल में मानसिक रोगों के प्रति सरकार की चिंता भी समझ में आती है, लेकिन सबसे बड़ी विडंबना तो यह है कि आज भी हमारे देश में अवसाद यानी डिप्रेशन (Depression) जैसी मानसिक स्वास्थ्य समस्या को उतनी संजीदगी से नहीं लिया जाता, जितना कि शारीरिक रोगों को लिया जाता है. अगर आप सोचते हैं कि डिप्रेशन जैसी बीमारी स़िर्फ आम लोगों को होती है तो आप ग़लत हैं, क्योंकि ग्लैमर और चकाचौंध से गुलज़ार फ़िल्मी दुनिया के कई सितारे भी इसका दर्द झेल चुके हैं. हालांकि कुछ सितारे इस दर्द से लड़कर बाहर आने में क़ामयाब रहे तो कुछ ने इसके आगे हार मानकर मौत को गले लगा लिया. चलिए जानते हैं ऐसे ही 12 फ़िल्मी सितारों के बारे में, जो डिप्रेशन का दर्द झेल चुके हैं.

Bollywood Celebrities Who Have Experienced Depression

दीपिका पादुकोण

Deepika Padukone
पद्मावत,बाजीराव मस्तानी जैसी कई सुपरहिट फ़िल्मों के ज़रिए अपनी दमदार अदायगी का लोहा मनवाने वाली ख़ूबसूरत अदाकारा दीपिका पादुकोण डिप्रेशन जैसी मानसिक स्वास्थ समस्या का सामना कर चुकी हैं. अपनी इस बीमारी का ख़ुलासा ख़ुद दीपिका ने एक इंटरव्यू के दौरान किया था. उन्होंने बताया था कि जब वो डिप्रेशन का दर्द झेल रही थीं, तब उन्हें कुछ समझ नहीं आता था कि वो कहां जाएं, क्या करें ? वो बस रोती रहती थीं. हालांकि दीपिका के इस बयान को काफ़ी बहादुरी भरा बताया गया, जिसके बाद सोशल मीडिया पर डिप्रेशन के मुद्दे पर एक बड़ी बहस छिड़ गई.

अनुष्का शर्मा

Anushka Sharma

अनुष्का शर्मा का नाम बॉलीवुड की सबसे सफल अभिनेत्रियों की फेहरिस्त में शुमार है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि अनुष्का भी डिप्रेशन के दौर से गुज़र चुकी हैं? अपनी इस मानसिक स्थिति के बारे में फैंस को बताते हुए अनुष्का ने ट्वीट किया था कि वो एंज़ायटी डिसऑर्डर जैसी मानसिक स्वास्थ्य समस्या से गुज़र रही हैं और उनका इलाज चल रहा है. उन्होंने इस विषय पर बेबाक़ी से अपनी राय रखी और कहा कि जब आपके पेट में दर्द होता है तो क्या आप डॉक्टर के पास नहीं जाते, तो फिर मेंटल हेल्थ से जुड़े मुद्दों पर ख़ुलकर बात करने में शर्म कैसी?

वरुण धवन

Varun Dhawan
यह बात बहुत कम लोग ही जानते हैं कि बॉलीवुड एक्टर वरुण धवन भी डिप्रेशन जैसी बीमारी का शिकार हो चुके हैं. वरुण धवन के मुताबिक़ फ़िल्म बदलापुर की शूटिंग के दौरान उन्हें डिप्रेशन की समस्या हो गई थी. एक इंटरव्यू के दौरान अपने इस दर्द को बयां करते हुए वरुण ने कहा था कि मैं अचानक दुखी हो जाता था, अकेलापन महसूस करता था. इस बीमारी ने मेरे मानसिक स्वास्थ्य को काफ़ी हद तक प्रभावित किया था. यह एक गंभीर समस्या है, जिसे हल्के में नहीं लेना चाहिए.

मनीषा कोइराला

Manisha Koirala
बॉलीवुड की कई बेहतरीन फ़िल्मों में अभिनय कर चुकी अभिनेत्री मनीषा कोइराला भी डिप्रेशन के दर्द को झेल चुकी हैं. उन्हेंे स़िर्फ डिप्रेशन ने ही नहीं, बल्कि गर्भाशय के कैंसर ने भी अपना शिकार बना लिया था. हालांकि समय पर इलाज के साथ-साथ परिवार और दोस्तों के सहयोग ने उन्हें दोनों बीमारियों से लड़ने की हिम्मत दी. मनीषा का कहना है कि वे निराशावादी नहीं हैं, इसलिए डिप्रेशन से लड़ना जानती हैं. बता दें कि डिप्रेशन ने उनके रंग-रूप को भी काफ़ी हद तक प्रभावित किया था.

अमिताभ बच्चन

Amitabh Bachchan
सदी के महानायक और बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन जैसी दिग्गज हस्ती को भी डिप्रेशन ने अपना शिकार बनाया था. दरअसल, 90 के दशक में उन्होंने बतौर निर्माता अपनी कंपनी शुरू की थी, लेकिन एक के बाद एक कई फ़िल्मों के फ्लॉप होने के कारण उनकी कंपनी दिवालिया होने की कगार पर पहुंच गई. नुक़सान इतना बड़ा था कि वो डिप्रेशन में चले गए और बीमार रहने लगे, जिससे वो शारीरिक और मानसिक तौर पर काफ़ी कमज़ोर हो गए थे.

शाहरुख ख़ान

Shahrukh Khan
अपनी फिल्मों के ज़रिए दर्शकों का मनोरंजन करने वाले बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख ख़ान भी डिप्रेशन का शिकार हो चुके हैं. भले ही आपको इस बात पर यक़ीन न हो, लेकिन यह सच है. एक इंटरव्यू के दौरान शाहरुख ख़ान ने माना था कि साल 2010 में कंधे की सर्जरी कराने के बाद कुछ समय के लिए वो डिप्रेशन में चले गए थे, पर अब वो पूरी तरह से इससे बाहर आ चुके हैं.

टाइगर श्रॉफ

Tiger Shroff
बॉलीवुड के युवा अभिनेता टाइगर श्रॉफ भी ख़ुलकर अपने डिप्रेशन का दर्द बयां कर चुके हैं. एक इंटरव्यू के दौरान टाइगर ने कहा था कि उनकी फ़िल्म
अ फ्लाइंग जट्ट के फ्लॉप होने के बाद वो ज़बरदस्त डिप्रेशन में चले गए थे. उनका कहना था कि उनकी फ़िल्म बाग़ी को सफलता मिली थी, लेकिन अ फ्लाइंग जट्ट की असफलता ने उन्हें डिप्रेशन का शिकार बना दिया था. हालांकि उन्होंने डिप्रेशन के आगे हार नहीं मानी और इससे लड़ने का ़फैसला किया. आख़िरकार मुन्ना माइकल की शूटिंग के दौरान वो ख़ुद को डिप्रेशन से पूरी तरह उबारने में सफल रहे.

ये भी पढ़ेंः #MeToo: सपना भावनानी ने कहा कि जल्द अमिताभ बच्चन का सच भी सबके सामने आएगा (Sapna Bhavnani Warns Amitabh Bachchan; Says His Truth Will Come Out Soon! #MeToo )