Tag Archives: design

एक्सक्लूसिव बुनाई डिज़ाइन- परफेक्ट फिटिंग (Exclusive Bunai Designs- Perfect Fitting)

Exclusive Bunai Designs

Exclusive Bunai Designs

स्नो व्हाइट
सामग्रीः
400 ग्राम स़फेद रंग का ऊन, सलाइयां, फूल.
विधिः आगे के भागः 38-38 फं. डालें. 5 उल्टी धारी का बॉर्डर बुनें. अब शुरू के 5 फं. बटनपट्टी के उल्टी धारी के ही बुनेंगे, बाकी फं. में बुनाई
डालें- 2 फं. उ., 4 सी., 8 फं. उ., 4 फं. सी., 8 उ., 4 सी., 3 उ. बुनें. उल्टी सलाई उ. फं. सी. ही बुनें. अब सीधी सलाई में 4 सी. फं. में से शुरू के 2 फं. में पहले को दूसरे की जगह कर लें व दूसरे को आगे करके पहले बुनें. ऐसे ही 3-4 फं. में करें. उल्टी सलाई पहले की तरह बुनें. हर तीसरी सलाई में इन 4 फं. को पलटेंगे. 7 इंच बाद 2 उ. फं. रखें, 2 सी. का जोड़ा बुनकर मुड्ढे व गला घटाएं. 5 इंच सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई में बुनकर फं. बंद कर दें.
पीछे का भागः 75 फं. डालकर आगे के भाग की तरह उल्टे फं. की पट्टी व 4 सी. फं. का केबल डालते हुए बुनें.
आस्तीनः 36-36 फं. पीछे के भाग की तरह बुनें. हर 5वीं सलाई में 1-1 फं. बढ़ाते जाएं. 7 इंच बाद मुड्ढे घटाएं. सारे फं. एक साथ करके गला बुनें. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.
पायजामाः 40-40 फं. डालकर आस्तीन की तरह उल्टे फं. व केबल डालते हुए 10 इंच लंबा बुनें. हर 7वीं सलाई में 1-1 फं. बढ़ाते जाएं. फिर 5 फं. एक साथ बढ़ाएं. 6 इंच और बुनें. बॉर्डर बुनकर डोरी के लिए जाली बना लें.

Exclusive Bunai Designs

क्रोशेट जैकेट
सामग्रीः
100 ग्राम लाल रंग का ऊन, 100 ग्राम पीला ऊन, 4 पिन, क्रोशिया.
विधिः 4 पिन लेकर उस पर क्रोशिया से लाल व पीली पट्टियां बनाएं. नाप के अनुसार पट्टियां बनाने के
बाद उनको एक-दूसरे से जोड़ें. नीचे किनारे पर क्रोशिया करें.

Exclusive Bunai Designs
डिज़ाइनर चॉइस
सामग्रीः
200 ग्राम फिरोज़ी रंग का ऊन, 100-100 ग्राम यलो और लाल ऊन, सलाइयां.
विधिः आगे का भागः फिरोज़ी रंग से 110 फं. डालकर 3 उल्टी धारी का बॉर्डर बुनें. 5 फं. सी., 3 का 1, 5 सी., 1 जाली की बुनाई में पूरी सलाई बुनें. उल्टी सलाई पूरी उल्टी बुनें. 2 सलाई बुनने के बाद चित्र की सहायता से रंग बदलें. लाल, यलो, फिरोज़ी तीनों रंग लगाते हुए बुनें. 18 इंच बुनने के बाद फिरोज़ी रंग से 2 फं. सी., 2 उ. की बुनाई में 4 इंच बुनें. बटनपट्टी के लिए फं. अलग करें. रंग बदलते हुए 3 इंच बाद गोल गला घटाएं.
पीछे का भागः 110 फं. डालकर आगे के भाग की तरह बुनें. लंबाई पूरी होने पर कंधे जोड़ें. गले के फं. उठाकर पट्टी बुनें.
आस्तीनः फिरोज़ी रंग से 46-46 फं. डालकर आगे-पीछे के भाग की तरह बुनें. 10 इंच तक सब रंग लगाएं. ऊपर की फिरोज़ी से 2 सी.,
2 उ. की बुनाई में बुनें. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.

एक्सक्लूसिव डिज़ाइन- बी इन ट्रेंड (Exclusive Design- Be in trend)

1

बी फैशनेबल
सामग्रीः 450 ग्राम डार्क पिंक रंग का ऊन, चेन, सलाइयां.
विधिः आगे का भागः दाएं-बाएं भाग के लिए 70-70 फं. डालकर 2 फं. सी., 2 उ. की बुनाई में ही पूरा स्वेटर बुनें. उल्टी सलाई में उ. पर सी., सी. पर उ. बुनेें. चित्रानुसार आगे के भागों में 2 सी. फं. को ऊपर से ले जाते हुए बुन लें. 17 इंच लंबाई हो जाने पर मुड्ढे घटाएं. 3 इंच बाद गोल गला घटाएं.
पीछे का भागः 140 फं. डालकर आगे के भाग की तरह 2 फं. सी. 2 उ. की बुनाई में ही पूरा भाग बुनें. मुड्ढे घटाएं. कंधे जोड़ें. गले के फं. उठाकर कॉलर बुनें. आगे चेन लगाएं.
आस्तीनः 54 फं. डालकर 2 फं. सी., 2 उ. की बुनाई में 22 इंच लंबी आस्तीन बुनेें. हर 7वीं सलाई में 1-1 फं. बढ़ाते जाएं. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.

3

रोज़ गार्डन
सामग्रीः 450 ग्राम पीले रंग का ऊन, 25-25 ग्राम मेहंदी, लाल, गुलाबी ऊन, सलाइयां.
विधिः आगे का भागः पीले रंग से 100 फं. डालकर उल्टी धारी का बॉर्डर बुनें. सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई करते हुए चित्रानुसार मेहंदी, लाल, गुलाबी रंग से गुलाब के फूल बुन लें. 3 फं. सी., 3 उ. की पूरी सलाई बुनें. उल्टी सलाई में सी. पर उ., उ. पर सी. बुनें. 4 इंच बाद सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई में 4 इंच बुनें. फिर 4 इंच 3 सी., 3 उ. वाली बुनाई करें. फिर सीधी-उल्टी बुनाई करें. 18 इंच लंबाई हो जाने पर मुड्ढे घटाएं व फिर फूल बनाएं. 4 इंच बाद गोल गला घटाएं. 8 इंच और बुनकर फं. बंद कर दें.
पीछे का भागः आगे के भाग की तरह ही बुनें. गला नहीं घटाएं. ऊपर की तरफ़ फूल की डिज़ाइन न बुनें. कंधे जोड़ें.
आस्तीनः 50-50 फं. डालकर पीछे के भाग की तरह बुनें. दोनों किनारों पर 1-1 फं. हर 5वीं सलाई में बढ़ाते जाएं. 22 इंच लंबी आस्तीन बुनें. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें. तीनों रंग के पॉम पॉम बनाकर टांक लें.

2

पर्ल ब्यूटी
सामग्रीः 400 ग्राम आसमानी रंग का ऊन, मोती, सलाइयां.
विधिः आगे का भागः 6 जगह 10-10 फं. सलाई पर डालें. 2-2 सलाई सीधी-उल्टी बुनें. अब 1 टुकड़े को बुनकर उसी में ऊन में मोती डालें व लगभग 1 इंच की ऊन छोड़ें. दूसरा टुकड़ा बुनें. मोती डालकर ऊन छोड़ें. इसी तरह सब टुकड़ों को जोड़ लें. उल्टी सलाई में भी ऊन छोड़ें. 6 सलाई बाद ऊनवाली जगह पर 10-10 फं. डालें. अब 1 सी., 1 उ., 1 सी., 1 उ. की पूरी सलाई बुनें. उल्टी सलाई पूरी उल्टी बुनें. 17 इंच लंबाई हो जाने के बाद मुड्ढे घटाएं. 3 इंच बाद गोल गला घटाएं.
पीछे का भागः आगे के भाग की तरह बुनें. मुड्ढे और हल्का गोल गला घटाएं. कंधे जोड़कर गले के फं. उठाकर सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई में बुनें. पीछे के भाग में 1 इंच बुनकर फं. बंद करें. आगे के भाग में 4 इंच बुनें. एक तरफ़ फं. घटाते जाएं, ताकि कॉलर का शेप आ जाए. क्रोशिया करें व मोती टांकें. नीचे बॉर्डर पर भी क्रोशिया करें. मोती लगाएं.
आस्तीनः 50-50 फं. डालकर 4 फं. सी., 2 उ. की बुनाई में 3 इंच का बॉर्डर बुनें. आगे के भागवाली बुनाई करते हुए 20 इंच लंबा बुनें. हर 7वीं सलाई में 1-1 फं. बढ़ाते जाएं. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.

 

यह भी पढ़ें: एक्सक्लूसिव बुनाई डिज़ाइन्स- 3 ट्रेंडी डिज़ाइन

यह भी पढ़ें: एक्सक्लूसिव बुनाई डिज़ाइन्स- 5 बेस्ट टीनेज कार्डिगन डिज़ाइन्स

[amazon_link asins=’B01N47D826,B01LX73SDY,B01LXGPM0A,B017KJ7I6W,B01LY5RJX5,B072JZ73JL’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’527aef04-dcbc-11e7-bca3-2926bc8e672c’]

एक्सक्लूसिव डिज़ाइन- स्ट्राइप अट्रैक्शन (Exclusive design- Stripe attraction)

1

स्ट्राइप इफेक्ट
सामग्रीः 100-100 ग्राम पेस्टल ग्रीन, मेहंदी ग्रीन और हल्के बादामी रंग का ऊन, 50 ग्राम ब्राउन ऊन, सलाइयां.
विधिः आगे का भागः पेस्टल ग्रीन से दाएं-बाएं भाग के लिए 56-56 फं. डालकर 2 फं. सी., 2 उ. की बुनाई करें, पर हर सी. सलाई में 1 उ. फं. पर 1 सी. फं. बुनें. उल्टी सलाई में भी 2 उ., 2 सी. बुनें. 4 इंच का बॉर्डर बुन लें. 10 फं. बटनपट्टी के ऐसे ही बुनेें. अब मेहंदी ग्रीन रंग लगाएं. 3 इंच में बादामी रंग का 1-1 फं. दूर-दूर बुन दें. चित्रानुसार रंग लगाते हुए बुनें. 4 फं. सी., 4 उ. का चेक बुनें. हर सीधी सलाई में इसे भी बॉर्डर की तरह 2 फं. खिसकाते हुए बुनें. 16 इंच बाद लंबाई हो जाने पर मुड्ढे और गला घटाएं. 8 इंच और बुनें. कंधे जोड़ें.
पीछे का भागः 100 फं. डालकर आगे के भाग की तरह बुनें.
आस्तीनः 50-50 फं. डालकर आगे-पीछे के भाग की तरह बुनते हुए 20 इंच लंबी आस्तीन बुनें. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.

3
क्रॉप टॉप
सामग्रीः 100 ग्राम क्रीम रंग का ऊन, 75-75 ग्राम ब्लू और स्काई ब्लू ऊन, सलाइयां.
विधिः आगे का भागः ब्लू रंग से चौहरा ऊन करके 90 फं. कंगूरे वाले डालकर 4 सलाई साबुदाने की बुनाई में बुनें. 6 सलाई
सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई में बुनकर ग्राफ की सहायता से क्रीम रंग से बूटी डालें. सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई में बुनें. अलग सलाई पर स्काई ब्लू रंग से फं. डालकर साबुदाने की बुनाई में बॉर्डर बुनें. अब इन फं. को ब्लूवाले हिस्से के साथ जोड़ते हुए स्काई ब्लू रंग से बुन लें. चित्र की सहायता से बूटी डालें. क्रीम फं. डालकर स्काई ब्लू से जोड़ें और बूटी डालते हुए बुनें. 12 इंच लंबाई हो जाने पर फं. बंद कर दें.
पीछे का भागः ब्लू रंग से फं. डालकर सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई में 12 इंच लंबाई होने तक बुनें. कंधे जोड़ें.
आस्तीनः 100-100 फं. क्रीम रंग से डालकर 4 सलाई साबुदाने की बुनाई में बुनें. 50-50 फं. ब्लू और स्काई ब्लू से डालें. इसी में जोड़ें. 100 क्रीम से डालकर इसे भी जोड़ें. अब बूटी डाल दें. 4 इंच बाद सारे फं. का जोड़ा बुन लें. अब अलग सलाइयों पर 16-16 फं. डाल लें. इन्हें आस्तीन की लंबाई में जोड़कर 16 इंच कुल लंबाई करें.

2

कलर ड्रामा
सामग्रीः 50-50 ग्राम नेवी ब्लू, आसमानी, मेहंदी, स़फेद, बैंगनी, पीला व काले रंग का ऊन, क्रोशिया.
विधिः आगे-पीछे का भागः 65-65 चेन सादी नेवी ब्लू रंग से बुनें. चित्र की मदद से आधे-आधे भाग में रंग लगाएं. पूरी स्कीवी सिंगल चेन से रंग बदलते हुए बुनें. बीच में दोनों तरफ़ के रंगों में एक साथ 3-3 चेन का फूल बुन दें. लगभग 24 इंच लंबाई करें. हल्का गोल गला घटा दें.
आस्तीनः 38 चेन नेवी ब्लू रंग से बनाएं. आगे-पीछे के भाग की तरह बुनें. 18 इंच लंबाई पूरी करें. टॉप की सिलाई करें. गले में डोरी डालें.

एक्सक्लूसिव डिज़ाइन- स्मार्ट सिलेक्शन (Exclusive Design- Smart selection)

स्मार्ट वेव्स
सामग्रीः 100 ग्राम लाइट ग्रे रंग का ऊन, 50 ग्राम डार्क ग्रे ऊन, 25-25 ग्राम पिंक, पिस्ता, क्रीम और स़फेद ऊन, सलाइयां, बटन.
विधिः आगे का भागः ब्राउन ऊन से 150 फं. डालकर 2 उल्टी धारियां बुनें. दोनों किनारे के 8-8 फं. हर बार सादे ही बुनें. 8 फं. के बाद बुनाई डालें- 3 फं. का 1, 8 सी., 1 जाली, 1 सी., 1 जाली, 8 सी., 3 का 1, 8 सी.- इसी तरह पूरी सलाई बुनें. उल्टी सलाई पूरी उल्टी बुनें. चित्रानुसार रंग बदलते हुए बुनें. 16 इंच लंबाई हो जाने पर दोनों किनारों पर 1-1 फं. घटाते हुए बुनें. 12 इंच बाद घटाना बंद कर दें. 26 इंच लंबाई हो जाने पर मुड्ढे घटाएं. 3 इंच और बुनने के बाद बीच के 6 फं. बटनपट्टी के डार्क ग्रे से बुनें. गोल गला घटाएं.
पीछे का भागः आगे के भाग की तरह बुनें. पीछे के भाग में गला नहीं घटाना है. कंधे जोड़कर बटनपट्टी बनाएं. गले के फं. उठाकर पट्टी बुनें.
आस्तीनः 48-48 फं. डालकर आगे के भाग की तरह डिज़ाइन डालते हुए 23 इंच लंबी आस्तीन बुनें. हर 7वीं सलाई में दोनों तरफ़ से 1-1 फं. बढ़ाते जाएं. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें. बटन टांकें.

1

शॉपिंग टाइम
सामग्रीः 550 ग्राम पिंक रंग का ऊन, थोड़ा-सा क्रीम ऊन, सलाइयां.
विधिः आगे का भागः 120 फं. क्रीम रंग से डालकर 2 फं. सी., 2 उ. की रिब बुनाई में 3 इंच का बॉर्डर बुनें. दोनों तरफ़ से 10 फं. बढ़ा लें. अब बुनाई डालें. 2 सलाई
सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई में बुनें. 2 फं. उ., 1 सी., 2 उ. फं., 5 सी. फं. में शुरू के 2 फं. व बाद के 2 फं. को केबल की तरह पलटकर बुन दें. बीच का फं. सीधा बुनें. उल्टी सलाई पूरी उल्टी बुनें. ये दो सलाइयां एक बार और दोहराएं. अब इन्हें एक-दूसरे पर पलटकर बुनते जाएं. 19 इंच लंबाई हो जाने पर मुड्ढे घटाएं व बीच के उ. फं. एक साथ बंद कर दें. अब 10 इंच का मुड्ढा बुनें और आगे वी आकार में गला घटाते जाएं.
पीछे का भागः आगे के भाग की तरह बुनें. मुड्ढे घटाएं, कंधे जोड़ें. गले के फं. उठाकर 2 सी., 2 उ. का बॉर्डर बुनें. क्रीम रंग में पिंक रंग की धारी डालकर कॉलर बुनें.
आस्तीनः 50-50 फं. डालकर आगे-पीछे के भाग की तरह बुनते हुए 22 इंच लंबी आस्तीन बुनें. हर 5वीं सलाई में 1-1 फं. बढ़ाते जाएं. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.

2

पिंक पैशन
सामग्रीः
200 ग्राम पिंक रंग का ऊन, 200 ग्राम पेस्टल ग्रीन ऊन, सलाइयां, कुंदन.
विधिः आगे-पीछे का भागः पिंक रंग से 115 फं. डालकर उल्टी धारियों का बॉर्डर बुनें. 2 सलाई सीधी-उल्टी बुनाई में बुनें. ग्रीन रंग से भी 2 सलाई सीधी-उल्टी बुनें. दोनों किनारों पर 6-6 फं. उल्टी धारी के बुनते जाएं. 3 फं. को एक साथ उ. बुनें, 1 सी. फं. को 3 बार बुनें, ताकि 3 फं. बन जाएं. पूरी सलाई ऐसे ही 3 का 1 जोड़ा व 1 के 3 फं. बुनते हुए पूरी करें. उल्टी सलाई पूरी उल्टी बुनें. ग्रीन रंग से बुनें. 11 इंच लंबा बुनने के बाद 2 फं. सी., 2 उ. से ऊपर का पूरा भाग बुनें. 21 इंच लंबाई हो जाने पर मुड्ढे घटाएं. एक भाग में बीच में बटनपट्टी बना दें. 23 इंच बाद गोल गला घटाएं. कंधे जोड़कर गले के फं. उठाएं. 2 फं. सी. 2 उ. की बुनाई में गले की पट्टी बुनें.
आस्तीनः 50-50 फं. डालकर बॉर्डर बुनें. 6 इंच तक बुनाई डालते हुए बुनें. ऊपर 2 फं. सी., 2 उ. की बुनाई करते हुए 22 इंच लंबी आस्तीन बुनें. हर 5वीं सलाई में 1-1 फं. बढ़ाते जाएं. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.

एक्सक्लूसिव बुनाई डिज़ाइन- डिफरेंट लुक (Exclusive Bunai Design- Different look)

Featured

सामग्रीः 300 ग्राम लाइट ब्राउन रंग का ऊन, 150-150 ग्राम काला और ब्राउन ऊन, क्रोशिया.

विधिः टॉपः 15 इंच चौड़ाई के हिसाब से पीछे का भाग व 7-7 इंच के हिसाब से आगे के भाग के लिए सादी चेन बुनें. चित्र की सहायता से तीनों रंग लगाते हुए बुनें. 11 इंच बाद मुड्ढे व वी आकार में गले का शेप दें. 7 इंच और बुनें. सिलाई करके काले रंग से कंगूरा बनाएं.

स्कर्टः 22 इंच चौड़ाई मानकर सादी चेन से स्कर्ट बुनें. ये स्कर्ट की लंबाई होगी, पर इसे तिरछा बुनेंगे. नीचे घेर की तरफ़ 4-4 धारी चेन की बढ़ाकर बुन दें. पूरी 22 इंच चौड़ाई को 3 हिस्से में बांट लें. चित्र की सहायता से तीनों रंग लगाते हुए बुनें.  24-24 इंच के 2 टुकड़े बुनें. सिलाई करके कमर में डोरी डालें. नीचे कंगूरा बनाएं.

ज्वेलरी डिज़ाइनिंग में बनाएं करियर (Create a Career in Jewellery Designing)

Jewellery Designing

Jewellery Designing

किसी भी पार्टी, फंक्शन आदि में जाने से पहले ख़ूबसूरत कपड़ोेंं के साथ ज्वेलरी का टच पर्सनालिटी को और भी निखारता है. फैशन ने आज ग्लोबल स्तर पर लोगों के जीवन को पूरी तरह से बदल दिया है. ज्वेलरी का बढ़ता ट्रेंड ही आज युवाओं को इसमें करियर बनाने के लिए आकर्षित कर रहा है. फैशन की दुनिया में क़दम रखना चाहते हैं, तो ज्वेलरी डिज़ाइन आपके लिए बेहतर विकल्प हो सकता है. ज्वेलरी डिज़ाइन में करियर बनाने के लिए कैसे करें शुरुआत? आइए, जानते हैं.

क्या है ज्वेलरी डिज़ाइन?
तरह-तरह के गहनों को बनाने की कला को ही ज्वेलरी डिज़ाइन कहते हैं. गोल्ड, सिल्वर, पर्ल, प्लेटिनम, आदि धातुओं को तराशकर उनसे
तरह-तरह के गहने बनाए जाते हैं. इसी तरह हाथी दांत, पत्थर, सीप आदि का भी प्रयोग स्टाइलिश ज्वेलरी बनाने में किया जाता है. ज्वेलरी डिज़ाइनर उन्हें कहते हैं, जो ज्वेलरी की स्टाइल, पैटर्न आदि सेट करते हैं.

शैक्षणिक योग्यता
ज्वेलरी डिज़ाइन में करियर बनाने के लिए 12वीं पास होना बहुत ज़रूरी है. इसके बाद आप आगे के कोर्स कर सकते हैं. दसवीं पास वालों के लिए भी ज्वेलरी डिज़ाइन में बेहतरीन करियर विकल्प है. दसवीं के बाद आप शॉर्ट टर्म कोर्सेस कर सकते हैं. आगे के कोर्स के लिए इच्छुक व्यक्ति को ऐप्टीट्यूड टेस्ट देना पड़ता है. इसके बाद ही आप आगे के कोर्स के लिए आवेदन भर सकते हैं.

क्या हैं कोर्सेस?
ज्वेलरी डिज़ाइन में करियर बनाने के लिए डिप्लोमा, डिग्री या सर्टीफिकेट कोर्स कर सकते हैं.

सर्टीफिकेट कोर्सेस

  • बेसिक ज्वेलरी डिज़ाइन
  • डायमंड आइडेंटीफिकेशन एंड ग्रेडिंग
  • कैड फॉर जेम्स एंड ज्वेलरी
  • कलर्ड जेमस्टोन आइडेंटिफिकेशन

डिग्री कोर्सेस

  • बीएससी इन ज्वेलरी डिज़ाइन
  • बैचलर ऑफ ज्वेलरी डिज़ाइन
  • बैचलर ऑफ एक्सेसरीज़ डिज़ाइन
  • मास्टर्स डिप्लोमा इन ज्वेलरी डिज़ाइन एंड टेक्नोलॉजी

डिप्लोमा कोर्सेस

  • डिप्लोमा इन ज्वेलरी डिज़ाइन एंड जैमोलॉजी
  • एडवांस ज्वेलरी डिज़ाइन विद कैड
  • ज्वेलरी मैनुफैक्चरिंग

कोर्स के दौरान
तेज़ी से बढ़ते इस क्षेत्र की डिमांड लोगों को इसमें करियर बनाने के लिए आकर्षित कर रही है. ज्वेलरी डिज़ाइन कोर्स के दौरान अलग-अलग पत्थरों, ज्वेलरी बनाने में कलर कॉम्बिनेशन, डिज़ाइन थीम, प्रेज़ेंटेशन, फ्रेमिंग, कॉस्ट्म ज्वेलरी आदि सिखाया जाता है.

तकनीकी शिक्षा
ज्वेलरी डिज़ाइन कोर्स के दौरान कम्प्यूटर एडेड ज्वेलरी सॉफ्टवेयर, जैसे- ज्वेल कैड, ऑटो कैड, 3 डी स्टूडियो आदि के बारे में टेक्निकल नॉलेज भी दिया जाता है. इसके साथ ही फोटोशॉप, कोरल ड्रॉ, वेट एंड मेटल कम्पोजिशन के बारे में भी बताया जाता है.

प्रमुख संस्थान

  •  जैमोलॉजी इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, मुंबई.
  • सेंट जेवियर्स कॉलेज, मुंबई.
  •  जैमस्टोन्स आर्टिसन्स ट्रेनिंग स्कूल, जयपुर.
  • इंडियन जैमोलॉजी इंस्टीट्यूट, नई दिल्ली.
  • जैम एंड ज्वेलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल, जयपुर.
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली.
  • ज्वेलरी डिज़ाइन एंड टेक्नोलॉजी इंस्टीट्यूट, नोएडा.
  • एसएनडीटी यूनिवर्सिटी, मुंबई.

पर्सनल स्किल 
ज्वेलरी डिज़ाइन में करियर बनाने के लिए सबसे पहले इस क्षेत्र के प्रति लगाव और ज्वेलरी डिज़ाइन का सेंस होना बहुत ज़रूरी है. इसके साथ ही क्रिएटिव, कल्पनाशील, न्यू ट्रेंड का सेंस, फैशन सेंस आदि के साथ मेहनती होना बहुत आवश्यक है. ज्वेलरी डिज़ाइन में करियर बनाने की सोच रहे हैं, तो धैर्य को अपना साथी बना लें. इस काम में ईमानदारी भी बहुत ज़रूरी होती है. ख़ासतौर पर अगर आप किसी गोल्ड, डायमंड जैसी धातुओं से ज्वेलरी बनाने में लगे हैं, तो थोड़ी सी भी लापरवाही आपके व्यक्तित्व पर प्रश्‍न चिह्न लगा सकती है. ग्लोबल मार्केट और फैशन के प्रति रुचि होना बहुत ज़रूरी है.

रोज़गार के अवसर
ज्वेलरी डिज़ाइन में आगे बढ़ने के लिए बहुत स्कोप है. कोर्स करने के बाद आप फुल टाइम किसी कंपनी के साथ जुड़कर काम शुरु कर सकते हैं. ज्वेलरी डिज़ाइन हाउस, एक्सपोर्ट हाउस, फैशन हाउस आदि जगहों पर आप काम शुरु कर सकते हैं. इसके साथ ही अगर आप आर्थिक रूप से मज़बूत हैं, तो ऑफिस-कम होम से भी काम शुरु कर सकते हैं. घर से काम शुरु करने के कई फ़ायदे होते हैं. घर के काम के अलावा आप अपने करियर को भी संवार सकते हैं. इतना ही नहीं दिन में किसी ऑफिस में काम करके आप घर पर पार्ट टाइम इस काम को जारी रख सकते हैं. आप अगर किसी कंपनी से फुल टाइम नहीं जुड़ना चाहते तो फ्रीलांस के तौर पर काम शुरू कर सकते हैं. इससे आप मनमुताबिक़ पैसा कमा सकते हैं.

सैलरी
पढ़ाई के तुरंत बाद किसी कंपनी में जॉब लगने पर शुरुआत में 7 से 8 हज़ार रुपए प्रति माह आप कमा सकते हैं. अनुभव के साथ इस क्षेत्र में आप उम्मीद से ज़्यादा कमा सकते हैं. अनुभव होने पर 18 से 20 और फिर इसी तरह आगे बढ़ते रहते हैं. प्रसिद्ध ज्वेलरी डिज़ाइनर महीने का लाख रुपए भी लेते हैं.

टॉप कंपनी
ज्वेलरी डिज़ाइन का कोर्स करने के बाद आप नौकरी के लिए इन जगहों पर जा सकते हैं.

  •  तनिष्क
  •  गिली
  • नक्षत्र
  •  ज्वेलरी मेकिंग एंड डिज़ाइनिंग यूनिट्स
  • ज्वेलरी शॉप्स एंड शोरूम
  •  एंटीक एंड आर्ट ऑक्शन हाउसेस

– श्वेता सिंह