Tag Archives: Dhoni

हैप्पी बर्थडे धोनी… पत्नी साक्षी ने कहा थैंक यू… शेयर किया स्पेशल और इमोशनल मेसेज…(Happy Birthday Dhoni: Wife Sakshi Shares Emotional Post)

Dhoni's Birthday  हैप्पी बर्थडे धोनी… पत्नी साक्षी ने कहा थैंक यू… साक्षी ने शेयर किया स्पेशल और इमोशनल मेसेज… (Happy Birthday Dhoni: Wife Sakshi Shares Emotional Post)

कैप्टन कूल का बर्थडे है और उनको पत्नी साक्षी ने थैंक यू कहा है… साक्षी ने कहा है कि शब्द भी कम हैं… और वो न्याय नहीं कर पायेंगे जो कुछ भी आपने मुझे १० सालों में दिया है… आपसे बहुत कुछ सिखा है और अब भी सीख रही हूँ… आपने जीवन को सही तरह से देखने का नज़रिया दिया है मुझे… मेरी ज़िंदगी को ख़ूबसूरत बनाने के लिए शुक्रिया!

क्रिकेट सफ़र

* माही.. एम.एस.धोनी.. से मशहूर महेंद्र सिंह धोनी का जन्म रांची, बिहार में 7 जुलाई, 1981 में हुआ था.

* विकेट कीपर-बल्लेबाज़ धोनी ने मध्यम गति से दाएं हाथ से गेंदबाज़ी भी की है.

* 2 दिसंबर, 2004 में श्रीलंका के ख़िलाफ़ टेस्ट मैच से अपने क्रिकेट सफ़र की शुरुआत की.

* उन्होंने 25 दिसंबर, 2004 में बांग्लादेश के सामने अपने वनडे करियर का आगाज़ किया था.

* 1 दिसंबर, 2006 में साउथ अफ्रीका के विरुद्ध टी20 में पदार्पण किया.

* पद्यश्री से सम्मानित कूल कैप्टन के रूप में विख्यात धोनी ने भारत को कई कामयाबियां दिलाईं.

* उन्हीं की कप्तानी में भारत वर्ल्ड रैंकिंग में नंबर वन पर पहुंचा. साथ ही भारत ने पहली बार टी20 का वर्ल्ड कप (2007), फिर 1983 के बाद दोबारा वनडे का विश्‍व कप (2011), आईसीसी चैंपियनशिप ट्रॉफी जीती. ऐसे करिश्मा करनेवाले वे इकलौते कप्तान रहे हैं.

* अपनी कप्तानी में भारत को कई सफलताएं और उपलब्धियां दिलाने के बाद आख़िरकार साल 2014 में उन्होंने टेस्ट मैच को अलविदा कह दिया.

* फिर 4 जनवरी, 2017 से उन्होंने वनडे और टी20 की कप्तानी भी छोड़ दी. बकौल उनके अब वे रिलैक्स होकर बैटिंग का लुत्फ़ उठाना चाहते हैं.

कही-अनकही

* धोनी के पिता पान सिंह और मां देवकी देवी लावली, अल्मोड़ा (उत्तराखंड) के रहनेवाले थे, पर बाद में पिता काम के सिलसिले में रांची चले आए.

* माही की एक बहन जयंती और भाई नरेंद्र हैं.

* 4 जुलाई, 2010 को कोलकाता की साक्षी के साथ देहरादून में शादी करके उन्होंने सभी को चौंका दिया.

* दोनों का कई सालों तक मीडिया से छुप-छुपाकर मिलना-जुलना काफ़ी दिलचस्प रहा था.

* दोनों के परिवार एक-दूसरे को बहुत पहले से जानते थे. धोनी और साक्षी के पिता मैकॉन कंपनी में साथ काम करते थे.

* माही की प्यारी-सी बेटी जीवा उनकी जान है.

* माही फुटबॉल के क्रेज़ी थे. क्रिकेट से पहले वे

फुटबॉल खेला करते थे और अपनी स्कूल टीम के गोलकीपर थे. साथ ही स्कूली दिनों में बैडमिंटन में भी उनका सिलेक्शन हुआ था.

* उन्हें बतौर क्रिकेटर पहली नौकरी भारतीय रेलवे में टिकट कलेक्टर के रूप में मिली थी.

* इसके बाद उन्होंने एयर इंडिया में काम किया, फिर इंडिया सीमेंट्स के ऑफिसर बन गए.

* क्रिकेट के अलावा माही को बाइकिंग, मोटर रेसिंग से भी बेहद प्यार है. उनकी माही रेसिंग टीम भी है.

* एक ज़माने में धोनी के लंबे बाल के कई दीवाने थे, जबकि धोनी जॉन अब्राह्म के बालों के फैन थे. वे अक्सर अपना हेयर कट बदलते रहते थे.

* वे जहां एडम गिलक्रिस्ट के फैन रहे हैं, वही सचिन तेंदुलकर, अमिताभ बच्चन, लता मंगेशकर उनके फेवरेट सितारे हैं.

– ऊषा गुप्ता

दिल्ली के 5 स्टार होटल में लगी आग, बाल-बाल बचे धोनी (Dhoni Rescued From Hotel Fire In Delhi)

महेंद्र सिंह धोनी

 महेंद्र सिंह धोनी

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी एक हादसे का शिकार होते-होते बचे. विजय हज़ारे ट्रॉफी के लिए धोनी दिल्ली पहुंचे थे. दिल्ली के द्वारका के एक होटल में सुबह-सुबह आग लग गई. सुबह के समय होटल के गेस्ट आमतौर पर सोए रहते हैं. ऐेसे में आग लगने की घटना बहुत बड़ी साबित हो सकती थी, लेकिन मौ़के पर सभी गेस्ट को बाहर निकाला गया और आग बुझाई गई.

धोनी की टीम झारखंड विजय हज़ारे ट्रॉफी के सेमीफाइनल में जगह बना चुकी है. टीम के कप्तान धोनी पूरी तरह से सुरक्षित हैं. आग लगने की वजह से आज का मैच टाल दिया गया है. वेलकम नाम के इस 5 स्टार होटल के पिछले हिस्से में आग लगी. आग लगने की ख़बर मिलते ही होटल कर्मचारियों ने धोनी को बाहर निकाला. आग लगने की वजह से मैच शनिवार तक के लिए टाल दिया गया है. खिलाड़ियों के कपड़े और किट होटल के रूम में ही रह गए थे.

 महेंद्र सिंह धोनी

इस ख़बर के बाद धोनी की तरफ़ से कोई प्रतिक्रिया अभी तक नहीं आई है.

पापा धोनी को गेम में हरा दिया जीवा ने (Dhoni is playing with daughter)

Dhoni

Dhoni
क्रिकेट से दूर फैमिली टाइम एंजॉय करते हुए भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी अपनी बेटी के साथ एक पल भी मिस नहीं करना चाहते. जब वो क्रिकेट से दूर रहते हैं, तो जीवा के बेहद क़रीब रहते हैं. अपनी प्यारी-सी बेटी जीवा के साथ माही खूब खेलते हैं. इस व़क्त वो भूल जाते हैं कि वो क्रिकेट खिलाड़ी हैं, शायद इसीलिए जीवा से वो गेम में हार गए.

माही ने सोशल साइट पर अपनी बेटी के साथ एक प्यारा सा वीडियो अपलोड किया, जिसमें नन्हीं परी जीवा पिंक फ्रॉक पहने हुए हैं. बालों में प्यारी-सी क्लिप, पैरों में प्यार-सा फुटवेयर पहने जीवा किसी मैदान में लेटी हुई हैं. जीवा के साथ इस रेस में उनके डैडी माही भी हैं. दोनों क्राउलिंग कर रहे हैं. जीवा आगे-आगे और माही पीछे-पीछे. इस गेम में जीवा ने अपने डैडी को हरा दिया. आप भी देखिए ये प्यारा वीडियो.

A post shared by @mahi7781 on

 

बाद में धोनी बेटी जीवा के पास पहुंच जाते हैं. दोनों गेम कंप्लीट करते हैं.

श्वेता सिंह 

रईस किंग ख़ान ने किया टीम इंडिया का नामकरण (Raees King Khan is giving sub titles to indian cricketers)

FotorCreated

अपनी आनेवाली फिल्म रईस के प्रमोशन में किंग ख़ान जी-जान से जुड़े हैं. देश के अलग-अलग शहरों में शाहरुख़ ख़ान फिल्म का प्रमोशन कर रहे हैं. दिल्ली में अपनी फिल्म का प्रमोशन करते हुए मीडिया से बातचीत के दौरान इस रईस ने टीम इंडिया के कुछ खिलाड़ियों का नामकरण कर दिया. असल में बात ये है कि किंग ख़ान ने अपनी फिल्मों के नाम पर ही इन खिलाड़ियों का नामकरण किया. आइए, आप भी देखिए कि किसको क्या नाम दिया किंग ख़ान ने?

Dhoni-scratcheshead-AFP

टीम इंडिया के बाज़ीगर हैं धोनी
टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को किंग ख़ान ने अपनी फिल्म बाज़ीगर का टाइटल दिया है. शाहरुख़ ने धोनी का उपनाम बाज़ीगर रखा. इसका कारण भी बताया किंग ख़ान ने कि आख़िर क्यों उन्होंने धोनी को बाज़ीगर कहा. इस रईस ने कहा कि धोनी एक ऐसा खिलाड़ी है, जो हमेशा ऐसा दांव खेलता है, जिसे कोई सोच भी नहीं सकता. ठीक उसी तरह जैसे उसने 2007 टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल में आख़िरी ओवर जोगिंदर शर्मा को दे दिया था. इस ओवर की वजह से ही टीम इंडिया हारी बाज़ी जीत गई थी, इसलिए मैं उसे बाज़ीगर का नाम देना चाहूंगा.

52629819

टीम के कप्तान विराट हैं डॉन
शायद ही किसी को पता था कि रईस के आते ही किंग ख़ान सबका नामकरण करने लगेंगे. वैसे किंग ख़ान ने नामकरण की इस लिस्ट में अगला नाम टीम के कप्तान विराट का चुना. विराट को उन्होंने डॉन कहा. किंग ख़ान ने कहा कि मैदान पर शांत दिखनेवाला विराट असल में शांत नहीं है, सामने वाली टीम के बॉलरों पर दबाव बनाकर रन बनाना और मैच को किसी भी तरह से जीत लेने की कला विराट में ही है. इसलिए मैं उसे डॉन कहूंगा.

48456493

बादशाह हैं रोहित शर्मा
ओपनर रोहित शर्मा की बैटिंग स्टाइल से परदे का बादशाह इतना प्रभावित हुआ कि उसने रोहित को बादशाह की उपाधि दे दी. किंग ख़ान ने कहा कि जिस तरह से ओपनिंग करने रोहित शर्मा मैदान पर उतरता है, ऐसा लगता है कि कोई बादशाह आ रहा हो.

222641

टीम इंडिया के पहेली हैं अश्विन
किंग ख़ान और रानी मुखर्जी की फिल्म पहेली तो आपको याद ही होगी. किंग ख़ान ने टीम के स्टार गेंदबाज़ आर अश्‍विन को एक ऐसी पहेली बताया, जो दूसरी टीम के बल्लेबाज़ों की समझ से परे हैं. इस रईस ने इसके पीछे ये लॉजिक दी कि मैदान पर शांत रहनेवाले अश्‍विन अगली गेंद से क्या कमाल दिखाएंगे, इसका अंदाज़ा विरोधी खेमे को नहीं रहता.

तो देखा आपने… किस तरह से किंग ख़ान अपनी फिल्म के साथ-साथ दूसरे काम भी कर रहे हैं. इन क्रिकेटर्स को अपना ये नाम शायद ख़ूब पसंद आए. अब जब नाम देने वाला ही बॉलीवुड का बादशाह हो, तो भला किसे ये नाम अच्छा नहीं लगेगा.

श्वेता सिंह 

यूवी ने लिया धोनी का इंटरव्यू- क्या थे यूवी के सवाल और धोनी ने कैसे दिया जवाब? (yuvraj Singh interviews MS Dhoni)

ms dhoni

ms dhoni

इसे कहते हैं क्रिकेट और स्पोर्ट्मैन स्पिरिट. यहां कोई किसी का दुश्मन नहीं होता, थोड़े व़क्त तक तनातनी रहती है, लेकिन मैदान के बाहर निकलते ही सब कुछ धुल जाता है. इसका ताज़ा उदाहरण देखने को मिला युवराज सिंह के इंस्टाग्राम पर अपलोड हुए उस वीडियो से, जिसमें युवराज और धोनी दिख रहे हैं. इस वीडियों में यूवी धोनी के कंधे पर हाथ रखकर उनसे उनके कप्तानी पारी के बारे में कुछ सवाल करते हैं और उन्हें बताते हैं कि वो बेहद अच्छे कप्तान थे. उनकी अगुआई में खेलना उन्हें बहुत अच्छा लगता था.

यूवी ने पूछा अब कितने छक्के लगाओगे?
इस इंटरव्यू में यूवी ने धोनी से पूछा कि अब जब वो कप्तान नहीं हैं, तो क्या ज़्यादा छक्के लगाएंगे? धोनी ने कहा कि अगर बॉल उनके एरिया में आएगी, तो ज़रूर.

धोनी ने की यूवी की तारीफ़
इस वीडियो में धोनी ने अपने इंयरव्यूवर यूवी की तारीफ़ करते हुए कहा कि टीम में उनके जैसे प्लेयर के साथ खेलना हमेशा ख़ुशी का अनुभव कराता है. इसके साथ ही धोनी ने यूवी के उन 6 छक्कों की भी तारीफ़ की. इस बात पर यूवी थोड़े इतराते हुए नज़र आए.

आइए, देखते हैं कैसा रहा धोनी का इंटरव्यू?

जब यूवी भूल गए अपना सवाल
धोनी से सवाल करते हुए अचानक यूवी कह उठते हैं कि अरे मैं तो भूल गया मुझे क्या पूछना था. इस पर दोनों खिलाड़ी हंसते हैं. दोनों में पॉज़िटिव एनर्जी देखने को मिलती है.

कुछ दिनों पहले जब धोनी के कप्तानी से रिटायरमेंट के बाद यूवी के टीम में सिलेक्शन की बात सामने आई थी, तो युवराज के पिता योगराज ने कहा था कि धोनी के कारण ही यूवी को टीम में नहीं लिया गया था. अब जब वो कप्तान नहीं हैं, तो यूवी टीम में है.

लेकिन युवराज का ये वीडियो क्रिकेट प्रेमियों को ये बता रहा है कि यहां सब कुछ ठीक है यानी ऑल इज़ वेल इन धोनी एंड यूवी. हम तो यही कहेंगे कि युवी और धोनी ने अपने इस अंदाज़ से यह साबित कर दिया है कि क्रिकेट इज़ जेंटलमेन्स गेम.

– श्वेता सिंह 

कैप्टन कूल: एक चपल व सफल कप्तानी पारी का अंत (Captain cool: End of captain inning)

Dhoni

Dhoni

आख़िर ऐसे कैसे कूल होकर मैदान पर कप्तानी कर लेते हैं महेंद्र सिंह धोनी, मैच के पहले क्या खाते हैं, विरोधी टीम के एग्रेशन के बाद भी कैसे उनका दिमाग़ इतना कूल रहता है, जैसी बातें अगर किसी भारतीय कप्तान के बारे में हुई हैं, तो वो स़िर्फ माही हैं. टीम को लीड करने का उनका अपना ही अंदाज़ था. सौरव गांगुली के बाद जब टीम की कप्तानी उनके हाथ में आई, तो क्रिकेट फैन्स ये देखकर दंग रहने लगे कि इस इंसान में ग़ज़ब का धैर्य है. एग्रेशन तो जैसे दूर-दूर तक नहीं. धोनी की कप्तानी अब उनके फैन्स को देखने को नहीं मिलेगी, क्योंकि कैप्टन कूल माही ने वनडे और टी-20 मैंचों के कप्तानी छोड़ दी है. माही ने कहा कि वो अब स़िर्फ टीम में एक विकेटकीपर और बल्लेबाज़ के तौर पर ही खेलेंगे. आइए, देखते हैं कैप्टन कूल से जुड़े कुछ यादगार लम्हें.

Dhoni

टी-20 वर्ल्ड कप
टी-20 का पहला वर्ल्ड कप 2007 में हुआ. वर्ल्ड कप जीतना आसान नहीं होता. टीम की कप्तानी माही के हाथ में थी. अपनी कैंप्टेंसी में माही ने टीम इंडिया की झोली में वर्ल्ड कप ट्रॉफी डाली. टीम में सभी युवा क्रिकेटर्स ही थे ऐसे में किसी को बहुत अनुभव नहीं था, लेकिन धोनी ने अपनी चपल कप्तानी की वजह से टीम को ट्रॉफी दिलाया.

Dhoni

वर्ल्ड कप 2011
2 अप्रैल 2011 दर्शकों से खचाखच भरा वानखेड़े स्टेडियम तो आपको याद ही होगा. 1983 के बाद भारत को फिर से वर्ल्ड कप जीतने की आस दिखाई दे रही थी. इस समय टीम के कप्तान थे महेंद्र सिंह धोनी. श्रीलंका के ख़िलाफ़ धोनी के ऐतिहासिक छक्के ने भारत को टी-20 की तरह वनडे का भी वर्ल्ड चैंपियन बना दिया. कपिल देव के बाद एक बार फिर से भारत माही की कप्तानी में वर्ल्ड चैंपियन बना.

Dhoni

आईसीसी चैंपियन्स ट्रॉफी 2013
कप्तान रहते हुए धोनी ने कई रिकॉर्ड बनाएं. उनमें से एक था आईसीसी की चैंपियन्स ट्रॉफी पर भारत का क़ब्ज़ा.

कॉमनवेल्थ बैंक सीरीज़
ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका जैसी धाकड़ टीमों को पटखनी देते हुए भारत के कैप्टन कूल ने कॉमनवेल्थ बैंक सीरीज़ पर जीत हासिल की थी.

इंटरेस्टेटिंग फैक्ट्स
* माही दुनिया के इकलौते कप्तान हैं, जिन्होंने आईसीसी की तीनों फॉरमेट ट्रॉफी पर क़ब्ज़ा किया है.

* वनडे में दुनिया के दूसरे ऐसे कप्तान हैं, जिन्होंने 199 वनडे मैचों में टीम को 110 मैच में जीत दिलवाई हो.

* टी20 मैचों में दुनिया के पहले ऐसे कप्तान हैं, जिन्होंने 72 मैचों में 41 बार टीम को जीत दिलाई हो.

* अपनी कप्तानी में धोनी ने देश के लिए दो एशिया कप जीते.

* 12वीं पास हैं धोनी. हालांकि बाद में उन्होंने बीकॉम में दाखिला लिया, लेकिन पूरा नहीं कर पाए.

कप्तानी छोड़ने पर किसने क्या कहा?
महेंद्र सिंह धोनी के कप्तानी छोड़ने के फैसले पर आइए, देखते हैं किसने क्या कहा.

 

 

– श्वेता सिंह

 

 

धोनी ने छोड़ी T20 और वन डे की कप्तानी (MS Dhoni has left T20 and ODI captaincy)

dhoni

महेंद्र सिंह धोनी (M S Dhoni) ने एक बार फिर सबको चौंकाते हुए कप्तानी छोड़ने का ऐलान कर दिया है. पिछले कुछ समय से ऐसे संकेत तो मिल रहे थे कि धोनी इस तरह का निर्णय ले सकते हैं और उन्होंने ऐसा ही किया. ठीक England series से पहले उन्होंने वन डे और ट्वेंटी-ट्वेंटी यानी दोनों ही फ़ॉर्मैट से अपनी कप्तानी छोड़ने का ऐलान कर दिया… हालाँकि माही सिरीज़ में खेलने के लिए उपलब्ध होंगे.

दरअसल, धोनी का जो दबदबा बोर्ड में पहले था वो अब नहीं रहा और ये इसी बात से साफ़ हो जाता है कि धोनी ने जब सिरीज़ से पहले कैम्प की ज़रूरत की बात कही तो विराट ने अपनी राय रखते हुए कैम्प को ज़रूरी नहीं माना… साथ ही बाक़ी खिलाड़ी भी विराट के साथ ही खड़े नज़र आए… धोनी इस संकेत को समझ गए और उन्होंने ये निर्णय ले लिया.

– गीता शर्मा

Camera Love: Adorable धोनी की बेटी को है फोटो खिंचवाने का बड़ा शौक़ (Adorable pics of Ziva Dhoni)

dhoni daughter

लगता है अपनी मम्मी की तरह छोटी सी प्यारी ज़ीवा को अभी से फोटो खिंचवाने का बहुत शौक़ है. वो हैं भी इतनी क्यूट कि उनके साथ क्रिकेटर्स फोटो क्लिक करने से ख़ुद को रोक नहीं पातें. तो चलिए देखते हैं, नन्हीं सी मिस ज़ीवा धोनी की कुछ बेहतरीन पिक्चर्स.

dhoni daughter

फुल टशन में क्यूट ज़ीवा

dhoni daughter
लवली एंड  क्यूट ज़ीवा 

dhoni daughter
शायद ज़ीवा मॉर्निंग वॉक कर रही हैं. 

dhoni daughter
बिस्किट खाती हुए ज़ीवा 

dhoni daughter
एनिमल लवर ज़ीवा 

dhoni daughter
खेलती हुई ज़ीवा 

dhoni daughter
लगता है अपने पापा धोनी को इस तोते के साथ शेयर नहीं करना चाहतीं ज़ीवा. 

dhoni daughter
पापा के साथ पाउट करती क्यूट ज़ीवा 

dhoni daughter
स्टाइलिस्ट सपना के साथ ज़ीवा 

dhoni daughter
विराट कोहली के साथ सेल्फी लेती ज़ीवा 

dhoni daughter
एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के साथ नन्हीं ज़ीवा 

dhoni daughter
मॉम साक्षी के साथ ज़ीवा 

dhoni daughter
फ्लाइट में एयर होस्टेस को देखती ज़ीवा 

dhoni daughter
लगता है पापा  कहीं जाने की तैयारी है. 

dhoni daughter
पापा की गोद में परी ज़ीवा 

dhoni daughter
दादा पान सिंह की गोद में ज़ीवा 

dhoni daughter
सुरेश रैना और हरभजन सिंह के साथ सेल्फी लेती हुई ज़ीवा 

धोनी की अपील- धूप में जलने दें बच्चों को, तभी ओलिंपिक में आएगा मेडल (Let them Play out, then only we’ll get more medal in Olympic games: dhoni)

rsz_515679-ms-dhoni-mic

वनडे क्रिकेट टीम के कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी हर व़क्त देश के लिए सोचते हैं. कैसे देश का नाम रोशन किया जाए, इसके बारे में दिन हो या रात हर पल उनका दिमाग़ दौड़ता रहता है. टीम का मनोबल बढ़ानेवाले धोनी इस बार बच्चों और उनके पैरेंट्स का मनोबल बढ़ाने वाली बात कह गए. धोनी ने देश के सभी पैरेंट्स से कहा कि देश में खेल के प्रति वो भी अपना योगदान दें. आख़िर क्या कहा धोनी ने? आइए, जानते हैं.

धूप में जलने दें… तभी ओलिंपिक में आएगा मेडल
ओलिंपिक खेलों में ज़्यादा से ज़्यादा मेडल देश की झोली में आएं, इसके लिए धोनी ने देश के सभी पैरेंट्स से अपील की है कि वो अपने बच्चों को महंगे गैजट्स देने की बजाय उन्हें घर के बाहर खेलने के लिए प्रेरित करें. बच्चों को धूप में जाने दें, उन्हें थोड़ा तपने दें, उनके पसंद का खेल खेलने दें, पसीना बहने दें, तभी देश के खाते में ज़्यादा से ज़्यादा मेडल आएंगे.

हम आपको बता दें कि टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेनेवाले धोनी कुछ दिनों के लिए फ्री हैं. ऐसे में वो कई तरह के प्रमोशनल इवेंट्स में हिस्सा ले रहे हैं. धोनी अपने आप में एक हस्ती हैं. बच्चों में उनका बेहद क्रेज़ है. हो सकता है कि धोनी की ये बात बच्चों के दिमाग़ में बैठ जाए और भविष्य में देश के खाते में ज़्यादा से ज़्यादा मेडल आए.