dies

52 वर्षीय मेजर बिक्रमजीत कंवरपाल की कोरोना से जान चली गई. बिक्रमजीत कंवरपाल काफ़ी फेमस थे और उन्होंने कई बॉलीवुड फ़िल्मों और टीवी सीरीयल्स में काम करके इतना नाम कमाया था. मेजर बिक्रमजीत ने वर्ष 2002 में इंडियन आर्मी से रिटायरमेंट लिया था और उसके बाद साल 2003 में अपना फ़िल्मी सफ़र शुरू किया था क्योंकि एक्टिंग की फ़ील्ड में आना उनके बचपन का सपना था.
मेजर बिक्रमजीत ने पेज 3, पाप, कॉरपोरेट, हाईजैक, क्या लव स्टोरी है, रॉकेट सिंह, मर्डर 2, क्या कूल हैं हम, प्रेम रतन धन पायो, हेट स्टोरी 2 जैसी कई फ़िल्मों में काम किया था.

Bikramjeet Kanwarpal

बिक्रमजीत के निधन की खबर सुन बॉलीवुड और टीवी जगत में शोक पसर गया. मनोज बाजपेयी ने ट्वीट किया- हे भगवान! इतनी दुखद खबर! हम एक-दूसरे को 14 सालों से जानते थे जब 1971 बन रही थी! भगवान आपकी आत्मा को शांति दे मेजर! बेहद स्तब्ध और हैरान करनेवाली खबर है! शॉकिंग!

बिक्रमजीत के निधन पर फ़िल्म मेकर अशोक पंडित ने ट्वीट किया- कोरोना के कारण सुबह एक्टर मेजर बिक्रमजीत कंवरपाल की मौत की खबर मिली, ये बेहद दुखद है! रिटायर आर्मी अफसर, कंवरपाल ने कई फिल्मों व टीवी सीरियल्स में सपोर्टिंग रोल्स किए थे. उनके परिवार और करीबियों को मेरी संवेदनाएं. ॐ शांति!

मनोज और अशोक पंडित के अलावा श्रिया पिलगांवकर, रोहित रॉय, नील नितिन मुकेश व अन्य कई कलाकारों ने मेजर की मौत पर शोक और हैरानी भी जताई!

सभी ने अपने ट्वीट में लिखा कि वो एक जेंटलमैन थे और बेहद ख़ुशमिज़ाज, पॉज़िटिव इंसान… हमने एक और सितारा खो दिया, आपकी सेवाओं के लिए धन्यवाद, आप हमेशा याद रहेंगे!

मेजर बिक्रमजीत ने बॉलीवुड के अलावा कई टीवी शोज़ में भी काम किया था- जैसे, क्राइम पट्रोल, 24, दीया और बाती हम, अदालत, स्पेशल ops, तेनालीरामा आदि!

हमारी ओर से श्रद्धांजलि!

Photo Courtesy: Twitter

यह भी पढ़ें: अली गोनी की तबीयत नासाज़, फैंस हुए परेशान! एक्टर ने कराया कोरोना टेस्ट, कहा- आज रोज़ा नहीं रखा, आप भी अपना ख़्याल रखें, जल्द से जल्द वैक्सीन लें! (Aly Goni Shares, ‘Not Keeping Roza Today, Not Feeling Well’ Actor Gets Tested For Covid-19, Fans Praying For His Health)

माराडोना का दीवाना सारा ज़माना है, उन्होंने 1986 में अकेले दम पर अर्जेंटीना को फुटबॉल वर्ल्ड कप जिताया था. लेकिन बुधवार 25 नवंबर को हार्ट अटैक से उनका निधन हो गया और यह महान खिलाड़ी दुनिया को अलविदा कह गया. माराडोना की उम्र 60 साल की थी और कुछ रोज़ पहले ही उनकी ब्रेन में ब्लड क्लॉट की सर्जरी हुई थी. उन्हें अस्पताल से छुट्टी भी मिल चुकी थी और वो घर आ गए थे लेकिन अचानक इस हार्ट अटैक ने उनकी जान ले ली.

Diego Maradona

अर्जेंटीना में तीन दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा कर दी गई है.  पिछले कुछ समय से वो कोकीन की लत और मोटापे का शिकार थे. वो अपने करियर के पीक पर ही नशे की लत में फंस चुके थे. वो बेहद गरीब परिवार से आए थे और उनके कुछ 7-8 भाई बहन थे, लेकिन फुटबॉल ने उन्हें शौहरत और पैसा सब दिया. वर्ल्ड कप के दौरान उन्होंने इंग्लैंड को बाहर का रास्ता दिखाते हुए एक ऐसा गोल किया जिसकी चर्चा आज भी होती है, इसे ‘हैंड ऑफ गॉड’ गोल कहा जाता है.

Diego Maradona

नशे की लत के चलते वो दिल की बीमारियों की गिरफ़्त में आ चुके थे क्योंकि उनका वज़न काफ़ी बढ़ चुका था. नशे की लत छुड़ाने के लिए भी इलाज उन्होंने ज़रूर कराया पर फिर खुलेआम कह दिया कि मैं ड्रग एडिक्ट था, हूं और रहूंगा.

Diego Maradona

बहरहाल उनके निधन पर सभी शोक में हैं और बॉलीवुड भी इससे अछूता नहीं. खेल, राजनीति व फ़िल्म जगत की सभी हस्तियाँ ट्वीट करके उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हैं. प्रधानमंत्री मोदी ने भी गहरी संवेदना जताते हुए कहा कि मैदान पर उन्होंने बेहतरीन खेल दिखाया और उनका करिश्माई खेल हमें कई यादें दे गया.

यह भी पढ़ें: मलयालम फिल्म जल्लीकट्टू की ऑस्कर में एंट्री, कंगना रनौत ने ख़ुशी जताकर कहा भारतीय सिनेमा 4 परिवारों की जागीर नहीं! (Jallikattu Is India’s Official Oscar Entry, Kangana Ranaut Takes A Dig At Bollywood Mafia)

एक्टर फराज़ खान काफ़ी समय से अस्पताल में भर्ती थे और कुछ समय पहले ही यह खबर आई थी कि उनके इलाज के लिए पच्चीस लाख की ज़रूरत है. उनके परिवार ने अपील भी की थी कि उन्हें इलाज के लिए मदद मिले तो बेहतर होगा, ऐसे में सलमान खान ने उनके अस्पताल का पूरा बिल चुकाया था जिसकी सभी ने तारीफ़ की थी लेकिन अफ़सोस कि यह मदद काम ना आ सकी और फराज़ की जान नहीं बच पाई. फराज़ जानेमाने एक्टर यूसुफ़ खान के बेटे थे और कई फ़िल्मों में काम कर चुके थे. वो बैंगलुरु के अस्पताल में लाइफ़ सपोर्ट सिसटम पर थे, उन्हें न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर की समस्या हो गई थी. सलमान की मदद की बात भी कश्मीरा शाह ने ही सोशल मीडिया पर शेयर की थी और उन्होंने कहा था कि सलमान इंडस्ट्री के सबसे अच्छे इंसान हैं और अगर लोगों को सलमान की तारीफ़ से समस्या है तो उन्हें परवाह नहीं.

बहरहाल बात फराज़ की करें तो उन्होंने मेहंदी में रानी मुखर्जी के साथ लीड रोल किया था, इसके अलावा वो दुल्हन बनूँ मैं तेरी, फ़रेब और चांद बुझ गया में भी काफ़ी दमदार भूमिका में नज़र आए थे. उनकी मृत्यु की खबर पूजा भट्ट ने ट्वीट के ज़रिए दी.

यह भी पढ़ें: एक्टर विजय राज गिरफ़्तार, महिला क्रू मेंबर से छेड़छाड़ का लगा आरोप! (Actor Vijay Raaz Arrested For Allegedly Molesting Female Co-Actor)

फ़िल्म रोड और प्यार तूने क्या किया जैसी फिल्म का निर्देशन कर चुके रजत मुखर्जी का निधन हो गया. वो जयपुर में रह रहे थे और काफ़ी दिनों से बीमार चल रहे थे. वो लेट फिफटीज़ में थे. सुनने में आया है कि उन्हें दिल से सम्बंधित बीमारी थीं.
रजत होली मनाने के लिए जयपुर आए थे और लॉकडाउन के कारण फिर वहीं फँस गए.

बॉलीवुड इस खबर से स्तब्ध है और रजत के करीबी मनोज वाजपायी और अनुभव सिन्हा ने ट्वीट करके अपना दुःख व्यक्त किया.

ग़ौरतलब है कि पिछले कुछ समय से इंडस्ट्री से जुड़ी ऐसी ही खबरें आ रही हैं. कई कलाकारों को हमने खो दिया जिससे सभी दुखी हैं और ऐसे में एक और बुरी खबर ने सबको तोड़ दिया.
रजत ने रविवार 19 जुलाई 2020 की सुबह अंतिम सांसें लीं.

मनोज बजपायी ने काफ़ी भावुक ट्वीट किया क्योंकि वो उनके काफ़ी क़रीब थे,


यह भी पढ़ें: ये हैं बॉलीवुड की 7 नकचढ़ी एक्ट्रेसेस, जिनका घमंड रहता है सातवें आसमान पर! (7 Most Egoistic Bollywood Actresses)

सुपर स्टार सलमान खान के भतीजे अब्दुल्ला खान का निधन हो गया है, वो 38 वर्ष के थे और सलमान की तरह हीफ़िटनेस फ़्रीक थे. बताया जा रहा है कि अब्दुल्ला लम्बे समय से मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में भर्ती थे और इन्हें फेफड़ों का संक्रमण था.

अब्दुल्ला के निधन की ख़बर खुद सलमान ने सोशल मीडिया के ज़रिए साझा की और अब्दुल्ला के साथ अपनी पिक पर उन्होंने लिखा कि तुम्हें हमेशा प्यार करुंगा.

फ़ैन्स भी इस दुःख की घड़ी में सलमान को सांत्वना भरे संदेश दे रहे हैं.

View this post on Instagram

Will always love you…

A post shared by Salman Khan (@beingsalmankhan) on

skysports-carlos-alberto-obituary-brazil-legend_3816797

ब्राज़ील के दिग्गज फुटबाल खिलाड़ी और 1970 में विश्‍व कप जीतने वाली राष्ट्रीय टीम के कप्तान रहे कार्लोस एल्बटरे का निधन हो गया. कार्लोस 72 साल के थे. हार्ट अटैक के कारण इनकी मृत्यु हुई.

एल्बटरे ने अपने करियर के दौरान ब्राज़ील के लिए 53 मुकाबले खेले थे. अपनी टीम को विश्‍व कप खिताब जिताकर उन्होंने एक नया इतिहास रचा था. मेक्सिको सिटी में 1970 में हुए विश्‍व कप के फाइनल मुकाबले में उनकी टीम ने इटली को 4-1 से मात दी थी. इसके साथ ही उन्हें 2004 में फीफा के महानतन 100 खिलाड़ियों में भी शुमार किया गया था. अपने 20 साल के फुटबाल करियर में उन्होंने रियो डी जनेरियो में फ्लूमिनेंसे और फ्लामेंगो क्लब के लिए मुकाबले खेले. क्लब आधिकारिक रूप से तीन दिन के शोक की घोषणा किया.

ब्राज़ील के राष्ट्रपति मिशेल टेमर ने एल्बटरे के निधन पर शोक जताते हुए एक ट्वीट में कहा, एल्बटरे हिम्मत और अगुवाई के उदाहरण थे. मुझे ब्राज़ील को विश्‍व कप दिलाने वाली टीम के कप्तान के निधन पर दुख है.