dietitian

 

1

आधुनिक जीवनशैली के चलते आज लोग फिगर कॉन्शियस हो रहे हैं. ख़ुद को फिट एंड फाइन रखने के लिए वो हर संभव कोशिश कर रहे हैं. इसके कारण डायटीशियन की डिमांड बढ़ गई है. ये सेक्टर आपके लिए भी बेहतर साबित हो सकता है.

योग्यता
डायटीशियन के रूप में करियर चुनने वाले छात्रों को डायटेटिक्स, फूड एंड न्यूट्रीशन, फूड सर्विस सिस्टम मैनेजमेंट या इससे संबंधित दूसरे क्षेत्रों में स्नातक की डिग्री लेनी चाहिए. इसके अलावा बिज़नेस, मैथमेटिक्स, कंप्यूटर साइंस, साइकोलॉजी या सोशियोलॉजी में पढ़ाई करने वाले छात्र भी मान्यता प्राप्त संस्थान से फूड न्यूट्रीशन में डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं.

संभावनाएं हैं अपार
आज डायटीशियन का रोल बहुत अहम् हो गया है. इस क्षेत्र में करियर बनाने वालों को कई जगह नौकरी के सुनहरे अवसर मिलते हैं.

  •  अस्पताल, नर्सिंग होम, हेल्थ क्लब
  •  होटल, एयरलाइंस और कॉरपोरेट ऑफिस
  •  एनजीओ, सरकारी एजेंसियां व स्वास्थ्य व खाद्य मंत्रालय
  •  अंतरराष्ट्रीय एजेंसियां
  •  निजी कंसलटेंसी
  •  खाद्य उत्पाद बनाने वाली कंपनियां
  •  खेल टीमें

बेहतर सैलरी पैकेज
शुरुआती दौर में किसी भी डायटीशियन का वेतन 10 से 12 हज़ार रुपये होता है, जो 5 साल के अनुभव के साथ 25 से 30 हज़ार रुपये तक या उससे अधिक हो सकता है.

बेहतर कोर्स

  • सर्टिफिकेट कोर्स इन फूड एंड न्यूट्रीशन
  • सर्टिफिकेट कोर्स इन न्यूट्रीशन एंड चाइल्ड केयर
  • डिप्लोमा इन फूड एंड न्यूट्रीशन
  • पीजी डिप्लोमा इन क्लीनकल न्यूट्रीशन
  • पीजी डिप्लोमा इन न्यूट्रीशन एंड डायटेटिक्स

संस्थान

  • इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी, दिल्ली
  • मुंबई विश्‍वविद्यालय, मुंबई
  • लेडी इर्विन कॉलेज, दिल्ली
  • वनस्थली विद्यापीठ, राजस्थान

– श्वेता सिंह