e-passport

revised e-passport

  • डिजिटल इंडिया की ओर एक और मज़बूत क़दम बढ़ाते हुए मिनिस्ट्री ऑफ एक्सटर्नल अफेयर्स लेकर आ रही है ई-पासपोर्ट्स (e-passports). पुराने पासपोर्ट्स के ज़रिए होनेवाली धांधली और धोखाधड़ी को रोकने के लिए यह क़दम उठाया गया है.
  • इन ई-पासपोर्ट्स (e-passports) की सबसे ख़ास बात होगी इसमें लगनेवाला चिप, जिसे इलेक्ट्रॉनिकली वेरिफाई किया जा सकेगा.
  • पासपोर्ट के डाटा पेज पर दी गई जानकारी ही चिप में भी शामिल की जाएगी. इसकी मदद से नकली पासपोर्ट्स की धोखाधड़ी को रोका जा सकेगा.
  • रिपोर्ट्स की मानें तो इस साल यह पासपोर्ट इस्तेमाल होने लगेगा, क्योंकि मिनिस्ट्री ऑफ एक्सर्टनल अफेयर्स ने इस पर काम करना शुरू कर दिया है.
  • हाल ही में मिनिस्ट्री ने पासपोर्ट बनाने की कई मुश्किलों को आसान किया है, जिसमें सिंगल मदर्स, साधू-संत, गोद लिए बच्चे व अनाथ बच्चों के लिए नियमों को काफ़ी आसान बनाया गया है.
  • यह क़दम इसलिए भी ज़रूरी हो गया था, क्योंकि दुनिया के आधे से ज़्यादा देशों में इस समय बायोमेट्रिक यानी ई-पासपोर्ट्स का इस्तेमाल हो रहा है.
  • आपको बता दें कि ई-पासपोर्ट को लाने की घोषणा देश में आठ साल पहले ही की जा चुकी है, पर अमल अब किया जा रहा है.

    – दिनेश सिंह