ectopic pregnancy

मेरी शादी को दो साल हो गए हैं. मुझे हाल ही में पता चला है कि मैं गर्भवती हूं. जब मैंने सोनोग्राफ़ी करवाई तो पता चला कि गर्भ यूटेरस की बजाय ट्यूब में है यानी एक्टॉपिक प्रेग्नेंसी है, यह क्या है? और इसे हटाने के लिए क्या मुझे ऑपरेशन ही कराना पड़ेगा. क्या ऐसा कोई रास्ता नहीं है, जिससे मैं प्रेग्नेंसी जारी रख सकूं?
– रेणु घोष, असम.

3-4% महिलाएं ऐसी होती हैं, जिनकी प्रेग्नेंसी यूटेरस की बजाय ट्यूब में होती है, इसे ‘एक्टॉपिक प्रेग्नेंसी’ कहा जाता है. यह स्थिति ठीक नहीं है, क्योंकि ट्यूब बहुत नाज़ुक व पतली होती है. यदि इसका तुरंत इलाज नहीं किया गया तो ट्यूब फट सकती है और मरीज़ को पेट में हैवी ब्लीडिंग हो सकती है. समय पर इलाज न किया जाए तो मरीज़ की जान को ख़तरा भी हो सकता है. इसलिए समय पर ही इस समस्या का पता चलना बेहद ज़रूरी है. इसके लिए लेप्रोस्कोपी (की होल सर्जरी) द्वारा ट्यूब को हटाया जाता है. ऐसे मामले में नॉर्मल प्रेग्नेंसी जारी रखना बहुत मुश्किल है.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: पीरियड्स के दौरान बहुत कम रक्तस्राव होता है (What Is The Reason Of Bleeding Less During Periods?)

Ectopic Pregnancy

मेरी 25 वर्षीया सहेली को ब्लड डोनेट करते समय पता चला कि वह एचआईवी पॉ़ज़िटिव है. क्या यह संभव है कि उसका बच्चा भी एचआईवी पॉ़ज़िटिव हो? उसके पति भी एचआईवी पॉ़ज़िटिव हैं. दोनों ही हेल्दी हैं और कोई ट्रीटमेंट नहीं ले रहे हैं.
– सविता त्रिवेदी, रायपुर.

आपकी सहेली और उनके पति दोनों को ही काउंसलर से मिलना चाहिए और काउंसलर की राय लेने के बाद ही कोई निर्णय लेना चाहिए. यदि वह सेफ़ प्रेग्नेंसी चाहती हैं तो प्रेग्नेंसी के दौरान कुछ मेडिसिन भी ले सकती हैं, ताकि बच्चे को इं़फेक्शन होने की संभावना को कम किया जा सके. अगर वह बच्चे को स्तनपान न कराएं तो इससे बच्चे को वायरस फैलने के चांसेस भी कम होंगे. जो भी हो, निर्णय उन्हें लेना है और सोच-समझकर कर ही निर्णय लें तो बेहतर है.

 

यह भी पढ़ें: Personal Problems: 3-4 महीनों के बाद पीरियड्स आते हैं (Why My Periods Are 3-4 Months Late?)

Dr. Rajshree Kumar

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

मैं 39 वर्षीया कामकाजी महिला हूं. मैं यह जानना चाहती हूं कि मेरे लिए इस उम्र में कौन-से टेस्ट्स करवाने ज़रूरी हैं?
– पल्लवी राणा, इंदौर.

 

किसी भी हेल्थ प्रोफेशनल से आप अपना जनरल चेकअप करवा सकती हैं, जिसमें ब्लड प्रेशर, पल्स रेट, चेस्ट व हार्ट की जांच के अलावा सिर से पैर तक की जांच की जाती है. इसके साथ ही पैप स्मियर टेस्ट व पेल्विक की जांच भी ज़रूर करवाएं. अगर कुछ डिटेक्ट हुआ, तो आपको सोनोग्राफी भी करानी पड़ सकती है. इसके अलावा साल में एक बार बेसिक एक्ज़ामिनेशन, जैसे ब्लड टेस्ट, लिपिड प्रोफाइल, लिवर और किडनी प्रोफाइल, चेस्ट एक्स-रे और ईसीजी ज़रूर करवाएं. अगर आप फिट और हेल्दी हैं, फिर भी हर साल आंख और दांत की जांच ज़रूर करवाएं.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: मेनोपॉज़ के क्या लक्षण होते हैं? (What Are The Signs And Symptoms Of Menopause?)

 

Medical Tests For Women

पिछले हफ़्ते मेरी ऑफिस की सहेली अचानक बेहोश हो गई, जो प्रेग्नेंट थी. उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी इमर्जेंसी सर्जरी करनी पड़ी. डॉक्टर ने बताया कि वह एक्टॉपिक प्रेग्नेंसी (Ectopic Pregnancy) की शिकार हुई है. यह क्या है? क्या भविष्य में उसकी प्रेग्नेंसी नॉर्मल होगी?
– सरला पटेल, रोहतक.

 

इस अवस्था में भू्रण यूटेरस के अंदर रहने की बजाय बाहर आमतौर पर ट्यूब्स में रह जाता है, जिससे भू्रण 5-6 हफ़्तों से ज़्यादा सुरक्षित नहीं रहता. आमतौर पर महिलाओं को पेट में मरोड़, वेजाइनल ब्लीडिंग, कंधों आदि में दर्द होता है. एक्टॉपिक प्रेग्नेंसी सर्विक्स, ओवरीज़ या एब्डोमेन में भी हो सकती है. अगर उनका दूसरा ट्यूब ठीक है, तो भविष्य में वह प्रेग्नेंट हो सकती हैं.

यह भी पढ़ें:  Personal Problems: क्या पति का स्पर्म काउंट टेस्ट कराना ज़रूरी है? (Should You Get Your Husband’s Sperm Count Checked?)

Dr. Rajshree Kumar

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies
हेलो डॉक्टर, १ महीने पहले मुझे एक्टॉपिक प्रेग्नेंसी हुई थी. मुझे यह पूछना है कि अब मैं कब तक कंसीव कर पाऊंगी? 
– प्रिया सिंह, जयपुर 

एक्टॉपिक प्रेग्नेंसी के बाद आमतौर पर दूसरी प्रेग्नेंसी के लिए ३-४ महीने का इंतज़ार करना चाहिए. कृपया, ध्यान रखें कि एक्टॉपिक प्रेग्नेंसी के बादवाली प्रेग्नेंसी में दोबारा एक्टॉपिक होने का ख़तरा बना रहता है. इसलिए आप डॉक्टर से मिलकर उनकी गाइडेंस के साथ प्रेग्नेंसी प्लान करें. नियमित रूप से सोनोग्राफी करवाती रहें, ताकि एक्टॉपिक प्रेग्नेंसी के बारे में शुरू में ही पता चल सके.

यह भी पढ़ें: कंसीव न कर पाने के क्या कारण हो सकते हैं? (What Could Be Possible Reasons For Non Conception?)

Personal Problems

मैं २१ वर्षीया हूँ. पिछले कई महीनों से मेरे पीरियड्स ५-६ दिन पहले ही आ जाते हैं और बहुत तेज़ पेटदर्द भी होता है. कृपया बताएं मैं क्या करूं?
– सोनी पांडेय, इंदौर.

४-५ दिन पहले पीरियड्स आना नॉर्मल है. इससे आपको कोई प्रॉब्लम नहीं होनी चाहिए. जहाँ तक दर्द की बात है तो एक सोनोग्राफी करवा लें. इससे दर्द का कारण पता चल जाएगा.  दर्द के कई कारण हो सकते हैं जैसे एंडोमीटीरिऑसिस, ओवरी में सिस्ट, पेल्विक इंफ्लामेटरी डिसीज़ हो सकती है. आप डॉक्टर से कन्सल्टेशन के बाद पेनकिलर्स ले सकती हैं.

यह भी पढ़ें:  पीरियड्स देरी से आने के क्या कारण हो सकते हैं? (What Could Be The Reasons For Delayed Periods?)

Dr. Rajshree Kumar

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies