Tag Archives: education

न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें… (Today’s Updates: Top 5 Breaking News)

शार्दुल-अंकिता की सराहनीय जीत…

जकार्ता में चल रहे एशियन गेम्स में हर रोज़ देश के युवा खिलाड़ी अपना दमख़म दिखा रहे हैं. आज 15 साल के शार्दुल विहान ने डबल ट्रैप इवेंट में रजत पदक जीत देशवासियों को ख़ुश कर दिया. इसके अलावा टेनिस के एकल में अंकिता रैना ने कांस्य पदक अपने नाम किया. अंकिता से पहले साल 2006 में सानिया मिर्ज़ा ने रजत व साल 2010 में कांस्य पदक जीता था. आनेवाले दिनों के लिए सभी खिलाड़ियों को ऑल द बेस्ट!

Breaking News

तीर्थ स्थान स्वच्छता पर सार्थक पहल…

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राज्य छह मुख्य धार्मिक तीर्थ स्थानों को पूरी तरह से साफ़-सुथरा रखने व गंदगी हटाने के लिए 99 करोड़ के प्रारूप को पास किया है. ये प्रमुख स्थान टाललघाट (नागपुर), राजुर गणपति मंदिर (जालना) के अलावा शेंडगांव, अमरावती, बीड क्षेत्रों के धार्मिक स्थल हैं. इसमें कोई दो राय नहीं कि स्वच्छता अभियान के तहत यह सराहनीय व सार्थक पहल है.

 

राखी में विश्‍व गुरु भारत…

इंदौर के 18 कलाकारों ने दो महीने की मेहनत व लगन के साथ 45ु44 इंच की भव्य राखी बनाई है. इस राखी को खजराना गणेश मंदिर में गणपति भगवान को बांधी जाएगी. इस राखी की सबसे बड़ी ख़ासियत यह है कि इसमें भारत की भव्यता व विश्‍व गुरू की विशेषता को दर्शाया गया है. इसके ऊपरी हिस्से में भारत का नक्शा और नीचे की ओर राष्ट्रपति भवन, सुप्रीम कोर्ट, लाल किला, आरबीआई व सांसद बनाया गया है. इसके अलावा राखी के निचले हिस्से में शेषनाग बनाया है, जिसके सिर पर धरती टिकी है. पृथ्वी में हिंदुस्तान का नक्शा टॉप पर है, जो भारत को विश्‍व गुरु के रूप में दर्शाता है. देश के नक्शे को गणेश भगवान का आकार दिया गया है.

यह भी पढ़ें: न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें… (Today’s Updates: Top 5 Breaking News)

विदेश में पढ़ना हुआ आसान…

जिस तरह महाराष्ट्र सरकार अनुसूचित  जाति व अनुसूचित जनजाति के स्टूडेंट्स की विदेश शिक्षा के लिए स्कॉलरशिप देती है. उसी तरह अब 20 अन्य छात्रों, जिसमें ओबीसी व सामान्य वर्ग के बच्चे शामिल होंगे, को विदेश मेंं जाकर पढ़ाई करने के लिए सुविधा मुहैया करवाएगी. सरकार के बीस करोड़ रुपए के इस प्रावधान में तीस प्रतिशत लड़कियों को आरक्षण दिया जाएगा. सिलेक्टेड विद्यार्थियों को हर माह पंद्रह सौ डॉलर की स्कॉलरशिप दी जाएगी.

 

केरल को अमिताभ की मदद…

केरल राज्य में बारिश की कहर, बाढ़ व प्राकृतिक आपदा से हर कोई ग़मगीन है. इसी कारण मदद की पहल के लिए सभी के हाथ बढ़ रहे हैं, फिर चाहे वो वायु, थल, जल सेना हो, सरकार हो, आम आदमी या फिर फिल्म स्टार्स ही क्यों न हो. अब अमिताभ बच्चन ने केरल पीड़ितों के लिए 51 लाख रुपए देने के साथ-साथ अपनी ख़ुद की कई बहुमूल्य चीज़ें भी नीलाम कर दी. केरलवासियों के लिए चलाए जा रहे उनके रेजुल पुकुट्टी प्रोग्राम के तहत उन्होंने बड़े पैमाने पर अपने जैकेट्स, पैंट-शर्ट, स्कार्फ, शू आदि दान किए हैं. अमिताभ के पहले अक्षय कुमार, रजनीकांत, शाहरुख, सुशांत राजपूत आदि कलाकारों ने भी अपना उल्लेखनीय योगदान दिया है.

– ऊषा गुप्ता

ऐसे पढ़ाई के साथ करें कमाई भी (Earn While You Learn)

Earn While You Learn

Earn While You Learn
अगर आप आज की परिस्थिति पर ग़ौर फ़रमाएं, तो पाएंगे कि 16 से 19 साल तक के युवाओं में पढ़ाई के साथ-साथ काम करने का रुझान काफ़ी बढ़ा है. कॉलेज जानेवाले, पढ़ाई करनेवाले ये बच्चे कई प्रकार के पार्ट टाइम कामों से जुड़े हुए हैं. ये काम के साथ-साथ अपनी पढ़ाई भी कर रहे हैं. काम करने की वजह सबकी अपनी-अपनी और अलग-अलग है, पर उद्देश्य सबका एक ही है- आत्मनिर्भर बनना.

क्यों पार्ट टाइम जॉब की ओर बढ़ा युवाओं का रुझान?

एक इंटरनेट सर्वे से यह पता चलता है कि कॉलेजों में पढ़नेवाले लगभग 40 फ़ीसदी बच्चे किसी ना किसी पार्ट टाइम जॉब से जुड़े हुए हैं. इसके कई सारे कारण हैं- पॉकेटमनी, आत्मनिर्भरता, कुछ व्यावहारिक ज्ञान पाना चाहते हैं, कुछ अपने विषय से जुड़े क्षेत्र की जानकारी पाना चाहते हैं, तो कुछ अपनी कमज़ोर आर्थिक स्थिति के चलते काम करना चाहते है. कारण चाहे कुछ भी हो, पर हमें एक बात तो माननी पड़ेगी कि ये बच्चे छोटी उम्र में अपनी ज़िम्मेदारियों को समझने का प्रयास कर रहे हैं.

जॉब ऑप्शन्स

शायद कुछ साल पहले पार्ट टाइम जॉब के विकल्प नहीं थे या थे भी तो बहुत कम, पर आज इसमें कोई कमी नहीं है. एक्सपर्ट्स कहते हैं कि आज कोई भी काम छोटा या बड़ा नहीं रह गया है, इसलिए काम के विकल्प भी बढ़े हैं. छात्र हर तरह के काम कर रहे हैं. कोई कॉफी शॉप में वेटर है, कोई सेल्समैन, तो कोई जिम इंस्ट्रक्टर. यह अच्छा भी है. ऐसे में आप ऐसे काम का चुनाव कर सकते हैं, जो आपका करियर तो नहीं है, पर आपको रुचिकर लगता है. जिसे आप पसंद करते हैं. ऐसे छात्र, जो पार्ट टाइम जॉब करना चाहते हैं, उनके लिए कई तरह के ऑनलाइन जॉब्स भी उपलब्ध हैं. इनमें से अधिकतर जॉब्स के लिए किसी प्रकार की डिग्री या प्रोफेशनल ट्रेनिंग की ज़रूरत नहीं होती और सबसे अच्छी बात, आप अपने काम के साथ अपनी पढ़ाई और बाकी काम भी आराम से कर सकते हैं, क्योंकि ये जॉब्स टाइम कंज़्यूमिंग नहीं होते. इनमें से कुछ काम तो ऐसे भी होते हैं, जिनमें आप काम करते हुए काम की जगह पर ही अपनी पढ़ाई भी कर सकते हैं, जैसे- लाइब्रेरी मैनेजर या कहीं रिसेप्शनिस्ट का काम.

इनके अलावा आप इन क्षेत्रों में भी काम कर सकते हैं- अकाउंट राइटर, ट्यूटर, फ्रीलांसर, जिम इंस्ट्रक्टर, रिसेप्शनिस्ट, वेटर, डांस टीचर, म्यूज़िक टीचर, लाइब्रेरी मैनेजर, किसी भी क्षेत्र में इनटर्न, टूर गाइड, ईवेंट मैनेजमेंट, कॉल सेंटर, रिसर्च राइटर आदि. ऐसे कई सारे और जॉब्स आपको जॉब सर्च वेबसाइट्स पर भी उपलब्ध हैं.

और भी पढ़ें:

जॉब करने से पहले यह सोचें

  •  काम करने का निर्णय लेने से पहले ख़ुद से यह ज़रूर पूछें कि यह काम क्यों करना चाहते हैं.
  • स़िर्फ दिखावे या फैशन के लिए काम ना करें.
  • हर काम की अपनी ज़िम्मेदारी होती है, इसका ध्यान रखें.
  • कहीं काम करने से पहले यह तय कर लें कि यह काम आपकी पढ़ाई को प्रभावित ना करे.
  • काम करने से पहले उस काम में अपनी रुचि का ध्यान ज़रूर रखें.
  • कहीं भी काम करने से पहले उस काम की, उस जगह की पूरी पूछताछ कर लें. किसी भी संशयित जगह पर काम ना करें. याद रखें आपकी सुरक्षा सर्वोपरि है.
  •  कहीं भी काम करने से पहले अपने पैरेंट्स को उसकी पूरी जानकारी दें. उन्हें विश्‍वास में लें. उनसे कोई भी बात ना छुपाएं.
  •  पैरेंट्स के लिए भी ज़रूरी है कि अगर आपके बच्चे इस तरह का कोई काम करना चाहते हैं, तो उन्हें प्रोत्साहित करें. उनकी पूरी मदद करें. आज समय बदल गया है, उसे स्वीकार करें. उन्हें यह कहकर हतोत्साहित ना करें कि पढ़ाई के समय स़िर्फ पढ़ाई करो. हां, पर इस बात का ध्यान ज़रूर रखें कि वे काम के चलते पढ़ाई को नज़रअंदाज़ न करें.

और भी पढ़ें: छोटे कोर्सेस से पूरे करें बड़े सपने

कैसे-कैसे पार्ट टाइम जॉब्स?

कॉफी शॉप 

आजकल कई सारे हाई प्रोफा इल कॉफी शॉप्स लोकप्रिय हैं. छात्रों का ऐसी जगहों पर काम करने का रुझान भी काफ़ी बढ़ा है. ऐसी जगहों पर महज़ 5 से 6 घंटे की शिफ्ट में काम करने के रुपये 6000 से 10000 कमाए जा सकते हैं.

पिज़्ज़ा शॉप 

किसी भी पिज़्ज़ा शॉप में अगर आप 5 से 6 घंटे की शिफ्ट करते हैं, तो आप रुपये 5000 से 8000 कमा सकते हैं.

रिसेप्शनिस्ट

किसी प्राइवेट ऑफिस या हॉस्पिटल या कंपनी में पार्ट टाइम रिसेप्शनिस्ट का काम करने के आपको रुपये  3000 से 8000 मिल सकते हैं. इसके लिए आपको 4 से 5 घंटे का समय देना पड़ेगा.

कॉल सेंटर या बीपीओ

आजकल युवाओं में इसका सबसे ज़्यादा क्रेज़ है. कॉल सेंटर्स में डेटा एंट्री का काम भी होता है. इसमें कई तरह के टाइमिंग्स हैं, जिसमें कुछ शिफ्ट्स रात को भी होती हैं. आप चाहें, तो आप यह काम ऑन लाइन घर पर बैठकर भी कर सकते हैं. इस काम के लिए आपको 2 से 6 घंटे देने पड़ सकते हैं,  जिसके आपको रुपये 4000 से 12000 भी मिल सकते हैं.

इवेंट प्लानर

इसके लिए आप किसी भी बड़ी इवेंट कंपनी के साथ जुड़ सकते हैं, जिसके लिए आप 4 से 6 घंटे काम करके रुपये 4000 से 12000 तक कमा सकते हैं.

सॉफ्टवेयर टेस्टर 

अगर आप सॉफ्टवेयर फील्ड में ही शिक्षा ले रहे हैं, तो आप अपने घर से ही सॉफ्टवेयर टेस्टिंग का काम कर सकते हैं, जिसमें आपको अपने क्लाइंट की मांग के अनुसार समय देना होगा. इसमें आप रुपये 6000 से 13000 तक कमा सकते हैं.

इंटर्न 

अगर आप कोई प्रोफेशनल कोर्स कर रहे हैं, तो आपको किसी प्रोफेशनल के ऑफिस में इंटर्न का काम मिल सकता है, जिसमें 4 से 6 घंटे काम करने के आपको रुपये 8000 से 15000 मिल सकते हैं.

लाइब्रेरी असिस्टेंट

अगर आपको क़िताबों की अच्छी जानकारी है, तो आपको इस काम के लिए 4 से 6 घंटे व्यतीत करने के रुपये 6000 से 8000 मिल सकते हैं.

और भी पढ़ें: करें पढ़ाई के साथ कमाई

                                    – विजया कठाले निबंधे

इमेज कसल्टेंट- बदलें दुनिया (Image consultant- change the world)

1

लीक से हटकर कुछ अलग करने की चाह रखने वालों के लिए इमेज कंसल्टेंट बेहतरीन करियर साबित हो सकता है. इस क्षेत्र में नाम और पैसा दोनों हैं. आज हर इंसान बेहतर पाने की चाह रखता है, लेकिन उसके अनुसार ख़ुद में बदलाव लाने में समर्थ नहीं होता. ऐसे में इमेज कंसल्टेंट सामने वाले व्यक्ति की पूरी पर्सनैलिटी में बदलाव करके उसे उसके लक्ष्य तक पहुंचाने में मदद करता है. इस क्षेत्र में करियर बनाने के लिए कैसे करें शुरुआत? बता रही हैं करियर काउंसलर मालिनी शाह. 

कौन कर सकता है?
बदलते ज़माने और फैशन इंडस्ट्री में रुचि रखने वाले इस फील्ड के लिए उपयुक्त होते हैं. इमेज कंसल्टेंट बनने के लिए आपको लेटेस्ट ट्रेंड की जानकारी होनी ज़रूरी है. साथ ही ज़रूरत के अनुसार सामने वाले की पर्सनैलिटी को बदलने की ख़ूबी भी आपको इस फील्ड में सफलता दिलाएगी.

शैक्षणिक योग्यता
प्रोफेशनल इमेज कंसल्टेंट बनने के लिए किसी ख़ास तरह की शैक्षणिक योग्यता की ज़रूरत नहीं होती. हां, बेसिक पढ़ाई के साथ इस फील्ड में रुचि रखने वालों को इन चीज़ों की जानकारी होनी चाहिए.

  •  पब्लिक रिलेशन
  •  फैशन
  •  हेयर एंड ब्यूटी थेरेपी
  •  कंसल्टेंसी
  •  ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट

क्या हैं कोर्सेस?
इमेज कंसल्टेंट बनने के लिए कई तरह के कोर्सेस आप कर सकते हैं, जैसे-

  •  कंप्लीट फाउंडेशन कोर्स
  •  पर्सनली स्टाइलिस्ट कोर्स
  •  एडवांस्ड ट्रेनिंग मॉड्यूल

कोर्स के दौरान
कई बार कोर्स करने के बाद भी अनुभव न होने पर सही तरह का काम नहीं मिल पाता और आत्मविश्‍वास कम हो जाता है. ऐसे में इन बातों का ध्यान रखें.

  •  अपनी पढ़ाई के दौरान न्यू ट्रेंड्स और स्टाइल का अपने दोस्तों और घर वालों पर एक्सपेरिमेंट करते रहें.
  •  जब भी कुछ अलग कलर कॉम्बिनेशन या इंट्रेस्टिंग टेक्सचर दिखाई दे,उसे नोटबुक पर लिखते चलें.
  • फैशन के बारे में पूरी जानकारी इक्ट्ठा करते रहें. इसके साथ ही तरह-तरह के लोगों से मिलना-जुलना और उन्हें परखने की प्रवृत्ति जारी रखें.

ज़रूरी बातें
इमेज कंसल्टेंट बनने के लिए व्यक्ति में इन बातों का होना बहुत ज़रूरी हैः

 जानकारी
इस क्षेत्र में सफल होने के लिए बहुत ज़रूरी है कि व्यक्ति को अपने क्लाइंट्स की ज़रूरतों के बारे में पता हो और उन्हें सही तरी़के से हैंडल करना आता हो. साथ ही सही प्लान के मुताबिक चलना आता हो. इसके अलावा टेक्निकल नॉलेज, जैसे- आउटफिट, बॉडी लैंग्वेज, वोकल कम्युनिकेशन, ग्रूमिंग आदि की विस्तृत जानकारी होनी भी आवश्यक है.

 प्रैक्टिस
प्रैक्टिस में इमेज कंसल्टेंट मुख्य रूप से दो तरीक़ों को अपनाते हैंः

  •  सबसे पहले वो क्लाइंट के साथ अकेले में समय बिताकर उसकी बॉडी लैंग्वेज, लाइफ स्टाइल, पर्सनल स्टाइल आदि की बारीक़ी से जानकारी लेते हैं.
  •  दूसरा, वो क्लाइंट के वॉर्डरोब को बदलते हैं और उसकी ज़रूरत के हिसाब से उसमें बदलाव लाते हैं.

सलाह
विख्यात इमेज कंसल्टेंट बनने के लिए तीसरी सबसे अहम चीज़ है कि व्यक्ति को अपने क्लाइंट्स को सही सलाह देनी आनी चाहिए.

स्कोप
आज इस क्षेत्र में बहुत तेज़ी से लोगों की डिमांड बढ़ रही है. बड़ी-बड़ी कंपनियों में इस तरह के लोगों की डिमांड होती है. कंपनियां अपने स्टाफ का लुक चेंज करने और तरक्क़ी करने की दृष्टि से समय-समय पर बदलाव करती रहती हैं. इसके साथ ही आप मशहूर हस्तियों के साथ उनका पर्सनल इमेज कंसल्टेंट बनकर भी नाम और पैसा कमा सकते हैं. इसके अलावा यदि आप ख़ुद अपना बॉस बनकर काम करना चाहते हैं, तो पर्सनल लेवल पर इसकी शुरुआत कर सकते हैं. इसके लिए सबसे पहले आप अपने आसपास के लोगों से अपना व्यवसाय शुरू कर सकते हैं.

सैलरी
इस क्षेत्र में करियर बनाने वालों को शुरुआत में 20-25 हज़ार रुपए प्रति माह मिलते हैं. अनुभव के साथ ये पैकेज बढ़ता जाता है.

प्रमुख संस्थान

  •  फर्स्ट इम्प्रेशन कंसल्टिंग प्राइवेट लिमिटेड, मुंबई.
  •  इमेज कंसल्टिंग बिज़नेस इंस्टीट्यूट, मुंबई.
  •  इमेज कंसल्टिंग बिज़नेस इंस्टीट्यूट, दिल्ली.
  •  इमेज कंसल्टिंग बिज़नेस इंस्टीट्यूट, बैंगलोर.
  •  इमेज कंसल्टिंग बिज़नेस इंस्टीट्यूट, चेन्नई.
  •  इमेज कंसल्टिंग बिज़नेस इंस्टीट्यूट, कोलकाता.
  •  इमेज कंसल्टिंग बिज़नेस इंस्टीट्यूट, चंडीगढ़.
  •  इमेज कंसल्टिंग बिज़नेस इंस्टीट्यूट, जयपुर.
  •  इमेज कंसल्टिंग बिज़नेस इंस्टीट्यूट, अहमदाबाद.
  •  इमेज कंसल्टिंग बिज़नेस इंस्टीट्यूट, पुणे.
  •  इमेज कंसल्टिंग बिज़नेस इंस्टीट्यूट, नागपुर.
  •  इमेज कंसल्टेंट स्टाइल एकेडमी, दिल्ली.

– श्वेता सिंह 

एज्युकेशन टावर : ताकि बच्चे हों पढ़ाई में तेज़ ( Education Tower: When the child strong in studies)

Education Tower

Education Tower

1

फेंगशुई के अनुसार एज्युकेशन टावर घर में रखने से बच्चों का ध्यान केंद्रित रहता है और वो मन लगाकर पढ़ाई करते हैं. यदि आपके बच्चे का पढ़ाई में मन नहीं लगता,  तो घर ले आइए एज्युकेशन टावर.

क्या है एज्युकेशन टावर?

*  फेंगशुई के अनुसार एज्युकेशन टावर ज्ञान और शांति का मंदिर माना जाता है.
*  यह इमारत 5, 7 या 9 मंज़िल की होती है.
*  इसकी हर एक मंज़िल वेल्थ, हेल्थ, लक इत्यादि का प्रतिनिधित्व करती है.

3

क्यों है ये लाभदायक?

*  इसे घर में रखने से बच्चे पढ़ाई की ओर ध्यान केंद्रित करते हैं.
*  इस प्रतिमा में ऐसी ऊर्जा होती है, जो बच्चे के मस्तीभरे दिमाग़ को अनुशासित रखती है.
*  इसकी मौज़ूदगी से बच्चों के मन में ऐसे कोई बुरे विचार नहीं आते, जिससे कि वे ग़लत दिशा की ओर जा सकें.
*  ये प्रतिमा उन बच्चों के लिए भी बेहद लाभदायक सिद्ध होती है, जो ख़ुद पढ़ाई में आगे निकलने की सोचते हैं.
*  पढ़ाई के साथ-साथ यह इमारत करियर के लिए भी बेहद लकी है. इसकी मौजूदगी से उन्नति होती है.

2

कहां रखें?

*  इसे बच्चे के बेडरूम में उत्तर-पूर्व दिशा की ओर रखें, क्योंकि इस दिशा का संबंध शिक्षा से होता है.
*  इसे रखने के लिए स्टडी टेबल भी बेस्ट है, परंतु इसकी दिशा में कोई बदलाव न करें.