Tag Archives: exclusive

Exclusive Interview: जग जिस पर हंसता है, इतिहास वही रचता है… रेसलर संग्राम सिंह (When The World Says ‘Give UP’ Hope Whispers, Try It One More Time: Wrestler Sangram Singh)

Wrestler Sangram Singh Interview

मैंने सूरज को कैद किया था आंखों में, मैंने चांद उगाया था हथेली पर… स्याह रातें जब अंधेरा बिखेर रही थीं, मैंने उम्मीद का चिराग़ जलाया था अपनी पलकों पर… थककर रुक जाता, तो वहीं टूट जाता… रास्ता बदल देता, तो हर ख़्वाब पीछे छूट जाता… चलता रहा मैं कांटों पर भी, रुक न सका मैं उलझी हुई राहों पर भी… अपने पैरों की बेड़ियों को तोड़ दिया जब मैंने, सारी दुनिया ने कहा, हर नाउम्मीदी को बड़े जिगर से पीछे छोड़ दिया मैंने… लोग कहते थे लड़ना छोड़ दे, यही तेरी नियति है प्यारे… मैंने कहा, जो लड़ने से डर जाए, वो इंसान नहीं, जो नियति से हार जाए, वो संग्राम नहीं… क्या कोई सोच सकता है कि बचपन के आठ साल व्हील चेयर पर गुज़ारने के बाद कोई बंदा पहलवानी की दुनिया को अपने दम पर इस क़दर जीत सकता है कि आज बड़े अदब और सम्मान से उसका नाम लिया जाता है. उसे दुनिया का सर्वश्रेष्ठ पहलवान कहा जाता है… जी हां, हम बात कर रहें हैं रेसलर संग्राम सिंह (Wrestler Sangram Singh) की. क्या था उनका संघर्ष और कैसे लड़े वो अपनी नियति से, आइए उन्हीं से पूछते हैं…

Wrestler Sangram Singh Interview

आपको बचपन में आर्थराइटिस था लेकिन वहाँ से लेकर वर्ल्ड के बेस्ट रेस्लर बनने तक की जर्नी कैसी रही आपकी?

बचपन में मुझे रूमैटॉइड आर्थराइटिस हुआ था. जब मैं 3 साल का था, तो पैरों में दर्द हुआ और फिर पैरों में गांठ-सी बन गई. चूंकि मैं हरियाणा के रोहतक डिस्ट्रिक्ट के मदीना गांव से हूं, तो मेरे पैरेंट्स भी बहुत ही सिंपल हैं और उस समय इतनी जानकारी नहीं थी, सुविधाएं नहीं थीं और न ही इतने पैसे थे, सो मुझे कभी इस डॉक्टर को दिखाया, तो कभी किसी दूसरे को. इसी में इतना समय निकल गया कि जब बड़े हॉस्पिटल में डॉक्टर्स को दिखाया गया, तो उन्होंने सीधेतौर पर कह दिया कि यह बीमारी तो मेरी मौत के साथ ही ख़त्म होगी. लेकिन मेरी मां ने हिम्मत नहीं हारी और कुछ मेरी भी इच्छाशक्ति थी कि 8 साल तक व्हील चेयर पर रहने के बाद आज मैं रेसलर हूं.
दरसअल मेरे बड़े भाई स्टेट लेवल के रेसलर थे, तो मैंने भी टूर्नामेंट यानी दंगल के बारे में सुना कि उन्हें घी-दूध सब मिलता है, तो मैं उसके साथ दंगल देखने गया. दंगल देखकर मुझे न जाने क्यों यह महसूस हुआ कि काश मैं भी रेसलर बन सकता. फिर अपने दोस्त को कहा कि मुझे अखाड़े में लेकर चल. वहां गया, तो सब मुझे देखकर मेरा मज़ाक उड़ाने लगे. अखाड़े के उस्ताद ने भी मुझसे पूछा कि आप क्या करना चाहते हो, तो मैंने अपने मन की बात कही कि मैं भी रेसलर बनना चाहता हूं. मेरी बात सुनकर उन्होंने भी यही कहा कि अगर भी आप बन गए, तो सब बन जाएंगे… खंडहर देखकर इमारत का पता चल जाता है… इत्यादि बातें… न जाने क्या कुछ नहीं कहा उन्होंने मुझे.
लेकिन मेरी मां ने गिवअप नहीं किया और न मैंने हिम्मत हारी. आप सोच सकते हैं कि गांव में नेचर कॉल के लिए भी बाहर जाना पड़ता था, हमारे पास व्हील चेयर तक के पैसे नहीं होते थे… मैं सुबह उठ तो जाता था, आंखें खुल जाती थीं, लेकिन मेरी बॉडी मूव नहीं होती थी. 8 साल तक बिस्तर पर पड़े रहना आसान नहीं था, क्योंकि यह बीमारी मेरे शरीर में फैलती जा रही थी. हर जॉइंट में आ गई थी. यहां तक कि मैं अपना मुंह भी खोलता था, तो मुझे दर्द होता था. मैं हर रोज़ जीने की एक नई कोशिश करता था, अपने पैरों पर खड़े होने के लिए संघर्ष करता था… मेरा यही मानना है कि यदि इंसान हिम्मत न हारे, तो नामुमकिन कुछ भी नहीं… मुझे प्रोफेशनल रेसलिंग में वर्ल्ड के बेस्ट रेसलर का टाइटल मिला, तो मैं यही कहूंगा कि जग जिस पर हंसता है, इतिहास वही रचता है.
यही वजह है कि अपने इस संघर्ष को मैं भूलता नहीं और मैं उन बच्चों की हर तरह से मदद करने की कोशिश करता हूं, जो इस बीमारी से पीड़ित हैं. उनकी पढ़ाई-लिखाई, रोज़ी-रोटी के लिए मुझसे जो बन पड़ता है, मैं ज़रूर करने की कोशिश करता हूं. दरअसल, हम स़िर्फ एक ज़रिया हैं, भगवान ही सब कुछ करता है.

Wrestler Sangram Singh Interview

आज की बिज़ी लाइफस्टाइल में फिटनेस कितनी महत्वपूर्ण है? और आप अपनी फ़िट्नेस के लिए क्या कुछ ख़ास करते हैं?

फिटनेस के लिए आप कहीं भी समझौता नहीं कर सकते और न करना चाहिए. ख़ासतौर से आज की बिज़ी लाइफस्टाइल में. यह एक ऐसा इंवेस्टमेंट है कि कोई भी मुझसे पूछे, तो यही कहूंगा कि अपने शरीर में इंवेस्ट करो रोज़ाना, चाहे एक घंटा, दो घंटा या जब भी, जितना भी टाइम मिले, आपको अपने शरीर में इंवेस्टमेंट करना चाहिए, क्योंकि शेयर मार्केट हो या आपका बिज़नेस हो, वो आपको धोखा दे सकता है, लेकिन यह शरीर धोखा नहीं देगा. मैं फिटनेस के लिए हर रोज़ 3 घंटे वर्कआउट करता ही हूं, चाहे कितना ही बिज़ी क्यों न होऊं. कोशिश करता हूं अलग-अलग चीज़ें करने की, जो मैं 15 साल की उम्र में नहीं कर पाता था, वो वर्कआउट मैं आज करता हूं. रेसलिंग भी करता हूं. युवाओं को मोटिवेशनल स्पीच भी देता हूं, टीवी शोज़ करता हूं, फिल्म भी कर रहा हूं. तो हर चीज़ बैलेंस करने की कोशिश करता हूं. 5-6 घंटे सोता हूं.

अपने डाइयट कि बारे में बताइए…

मैं प्योर वेजीटेरियन हूं. मेरा यही मानना है कि यदि ज़िंदगी में आपको सच में स्ट्रॉन्ग बनना है, आगे बढ़ना है, तो खाओ कम, काम ज़्यादा करो. एक और दिलचस्प बात ज़रूर करना चाहूंगा, हालांकि मैं किसी की बुराई नहीं करना चाहूंगा, लेकिन जैसे हम जिम में जाते हैं, तो ट्रेनर डरा देते हैं कि अरे, आपका वज़न इतना है, तो आपको तो इतने ग्राम प्रोटीन खाना है… आप 70 किलो के हैं, तो और ज़्यादा प्रोटीन खाओ… सब वहम की बातें हैं. आप ख़ुद अपने डायट का ध्यान रखो, हेल्दी खाओ. पानी पीओ. सूखी रोटी और प्याज़ में भी इतनी ताकत और विटामिन होते हैं, जितना किसी बड़े होटल के खाने में भी नहीं होंगे. हर रोज़ वर्कआउट करो, ख़ुश रहो. अच्छी हेल्थ का यही फॉर्मूला है कि खाना भूख से कम, पानी डबल, वर्कआउट ट्रिप्पल और हंसना चार गुना.
मैं सुबह दलिया खाता हूं. आंवला-एलोवीरा का जूस लेता हूं. अश्‍वगंधा, शहद, गुड़, दूध, रोटी, दाल-सब्ज़ी और घी. यह सभी चीज़ें संतुलित रूप से खाता हूं. आजकल एक मूवी के लिए वज़न कम कर रहा हूं. 20 किलो वज़न कम किया है, इसलिए संतुलन ज़रूरी है.

Wrestler Sangram Singh Interview

रेसलिंग को आज इंडिया में किस मुक़ाम पर देखते हैं?

रेसलिंग आज इंडिया में क्रिकेट बाद नंबर 2 स्पोर्ट है, जबकि क्रिकेट में तो प्रोफेशनलिज़्म बहुत पहले से था, लेकिन अब यह अन्य स्पोर्ट्स में भी आ रहा है. इसी तरह रेसलिंग भी आगे बढ़ रहा है, लोग भी काफ़ी जागरूक हुए हैं. सुविधाएं भी बढ़ी हैं. एक समय था, जब इतनी जागरूकता और फैसिलीटीज़ नहीं थीं, लेकिन अब वैसा नहीं है. हमें मेडल्स भी मिलते रहे हैं. जब किसी और स्पोर्ट्स में ऑलिंपिक्स या अन्य टूर्नामेंट में हमें मेडल्स नहीं मिल रहे थे, तब रेसलिंग ही थी, जहां हमें मेडल्स मिले. इसके बाद अब तो बहुत-से स्पार्ट्स हैं, जो आगे बढ़ रहे हैं. कुल मिलाकर रेसलिंग को आज बेहद सम्मान मिलने लगा है और यह आगे और बढ़ेगा.

आपने हाल ही में के डी जाधव चैंपियनशिप शुरुआत की उसके विषय में बताइए?

के डी जाधव जी जैसा कोई दूसरा नहीं हुआ देश में. वे बेहद सम्मानित हैं और उनका दर्जा बहुत ऊंचा है. वे पहले भारतीय थे, जिन्होंने कुश्ती में हमें ओलिंपिक मेडल दिलाया था. मैं चाहता हूं कि लोग उनके बारे में और जानें, ताकि युवाओं को प्रेरणा मिले, इसलिए मैं दिल से चाहता था कि उनके लिए कुछ कर सकूं, तो यही सच्ची श्रद्धांजलि होगी उन्हें.

यह भी पढ़ें: आज मैं अपने सपने को जी रही हूं… श्‍वेता मेहता: फिटनेस एथलीट/रोडीज़ राइज़िंग 2017 विनर 

Wrestler Sangram Singh Interview

इंडियन रेसलर्स कितने प्रोफेशनल हैं अगर विदेशी प्लेयर्स से कम्पेयर करें तो…

हम काफ़ी प्रोफेशनल हैं और अब तो हम किसी भी तरह से विदेशी प्लेयर्स से पीछे नहीं हैं. चाहे टेकनीक हो या फिटनेस- हर स्तर पर हम उन्हें तगड़ा कॉम्पटीशन दे रहे हैं और भारतीय पहलवान तो अब दुनियाभर में नाम कमा रहे हैं, सारा जग उनका लोहा मान चुका है.

यहां सुविधाएं कैसी हैं? क्या बदलाव आने चाहिए?

सुविधाएं बहुत अच्छी हैं. प्रशासन की तरफ़ से भी बहुत गंभीरता से लिया जाता है हर चीज़ को, इसलिए पहले जो द़िक्क़तें हुआ करती थीं, वा अब नहीं हैं. बदलाव तो यही है कि हम और बेहतर करें, आगे बढ़ें. जो ग़रीब बच्चे हैं, जिनमें हुनर है, उन्हें ज़रूर बेहतर सुविधाएं दी जानी चाहिए, ताकि वे बेहतर स्पोर्ट्समैन बन सकें. अब तो महिलाएं भी ख़ूब नाम कमा रही हैं रेसलिंग में भी और अन्य खेलों में भी. तो बस, उन्हें बढ़ावा मिलना चाहिए. हम भी अपने स्तर पर प्रयास करते ही हैं.

Wrestler Sangram Singh Interview

आप मोटिवेशनल स्पीकर और स्पोर्ट्स सायकोलॉजिस्ट भी हैं, तो फैंस और आम लोगों को कोई संदेश देना चाहेंगे?

मैं यही कहना चाहूंगा कि जीवन में कभी भी निराश मत होना. उम्मीद का दामन कभी मत छोड़ना. अपने प्रयास हमेशा जारी रखना. मंज़िल ज़रूर मिलेगी. मैं भी अगर अपनी कोशिशें छोड़ देता, मेरी मां भी थक-हरकर नाउम्मीद हो जाती, तो कभी अपनी मंज़िल तक नहीं पहुंचता. बाकी तो ऊपरवाले का साथ और चाहनेवालों की दुआएं तो हौसला देती ही हैं. फैंस ने मुझे काफ़ी प्यार दिया, मैं भी अपनी तरफ़ से जितना संभव हो सके, करने की कोशिश हमेशा करता रहा हूं और करता रहूंगा.

Wrestler Sangram Singh Interview

स्ट्रेस दूर करने के लिए क्या करते हैं?

स्ट्रेस को दूर करने का सबसे बेहतरीन ज़रिया है वर्कआउट. मैं दुखी होता हूं, तो वर्कआउट करता हूं, ख़ुश होता हूं, तो भी वर्कआउट करता हूं. स्ट्रेस को दूर करने का सिंपल सा उपाय है, यहां सब कुछ टेम्प्रेरी है. चाहे दुख हो, तकलीफ़ हो, स्ट्रेस हो… यहां तक कि ख़ुशियां भी टेम्प्रेरी ही हैं. तो जब सब कुछ टेम्प्रेरी है, तो यहां किस चीज़ के लिए दुखी होना, उदास होना. मैं स़िर्फ 500 लेकर मुंबई आया था और आज भगवान की दया से इतना कुछ कर रहा हूं, लेकिन मैं अगर आज भी वापस जाता हूं, तो भी बहुत ख़ुश रहूंगा, क्योंकि इतने लोगों का प्यार मिला, सब कुछ मिला, तो दुख किस बात का. मैं अब यहां हूं, तो ढेर सारे बच्चों की मदद का ज़रिया बन रहा हूं, क्योंकि मैं भी तो उस जगह से आया हूं, जहां रनिंग करते समय पैरों में जूते नहीं होते थे, बस का किराया नहीं होता था, 20 कि.मी. पैदल चलता था नंगे पैर. क्योंकि एक जोड़ा जूते-चप्पल होते थे, जो टूट जाते थे. आज मालिक का दिया हुआ सब है, तो किस बात की शिकायत और किस बात का स्ट्रेस. मैं तो आप सबसे भी यही कहूंगा कि जो नहीं है, उसका स्ट्रेस न लो, जो है, उसके लिए ईश्‍वर को धन्यवाद कहो और ख़ुश रहो.

Wrestler Sangram Singh Interview

आज की लाइफस्टाइल में कैसे पॉज़िटिव और फ़िट रहा जाए उसके लिए आपके स्पेशल टिप्स?

आज की लाइफस्टाइल में फिट और पॉज़िटिव रहने के लिए थोड़ा-सा अपनी लाइफ में डिसिप्लिन लाओ. शेड्यूल बनाओ, घर का खाना खाओ. फैमिली के साथ समय बिताओ. अपने पैरेंट्स के साथ, भाई-बहन, दोस्तों के साथ, पार्टनर के साथ हंसों, खेलो, शेयर करो. माता-पिता का आशीर्वाद लो. छोटी-सी ये ज़िंदगी है, पता नहीं कल क्या हो, कल किसने देखा और ज़िंदगी में किसी को भी कम मत आंको. कहते हैं न कि बंद घड़ी भी दिन में दो बार सही समय दिखाती है. एक प्यारी-सी तितली को देखा है आपने कभी, कितनी रंग-बिरंगी, कितनी चमक होती है उसमें, जबकि उसकी ज़िंदगी बहुत छोटी होती है, फिर भी वो अपने रंगों से लोगों को आकर्षित करते ख़ुशियां देती है. तो हमें ज़िंदगी में किस बात का तनाव? हमें तो इतना कुछ मिला है, बस उसकी कद्र करने का हुनर आना चाहिए. हमेशा ख़ुश रहो, नए-नए अवसरों को क्रिएट करने का प्रयास करो. अगर आज नहीं हुआ, तो कल होगा, कल नहीं, तो परसों हो जाएगा… कहां जाएगा यार, सारी चीज़ें यहीं तो हैं. कई बार आख़िरी चाभी ताला खोल देती है. तो प्रयास जारी रखो.

एक्सक्लूसिव बुनाई डिज़ाइन्स- 3 ट्रेंडी डिज़ाइन (Exclusive Bunai Designs- 3 Trendy Designs)

Trendy bunai Designs

Trendy bunai Designs

गुड मॉर्निंग
सामग्रीः 300 ग्राम ब्राउन रंग का ऊन, सलाइयां.
विधिः आगे का भागः दाएं-बाएं भाग के लिए 55-55 फं. डालकर 2 फं. सी., 2 उ. की 2 सलाई बुनें, फिर 2 सी. फं. का 1 फं. उ. वाले पर बुन लें, जिससे वो थोड़ा चेक जैसा लगने लगेगा. बटनपट्टी के 12 फं. इसी तरह बुनें. 8 फं. सी. व 4-4 उ. फं. के बीच में जाली की बुनाई (1जाली, 1 जोड़ा, 1 सी., 1 जोड़ा, 1 जाली बुनें. उल्टी सलाई पूरी उल्टी बुनें. अगली सलाई में 1 जाली, 3 का 1, 1 जाली बुनें) डालते हुए पूरा स्वेटर बुनें. 17 इंच लंबाई हो जाने पर वी गला व मुड्ढे घटाएं. वी गले के लिए बटनपट्टी के बाद के फं. में जोड़े बुनते जाएं.
पीछे का भागः 110 फं. डालकर आगे के भाग की तरह बुनें. कंधे जोड़ें. मुड्ढे के फं. उठाकर पट्टी बुनें. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें. 5ु5 की पॉकेट बुनकर सिल दें.

Trendy bunai Designs

क्लासी डिज़ाइन
सामग्रीः 100 ग्राम लाइट ब्राउन रंग का ऊन, 50-50 ग्राम डार्क ब्राउन, क्रीम, काला और ग्रे ऊन, सलाइयां.
विधिः आगे का भागः दाएं-बाएं भाग के लिए 70-70 फं. डालकर लाइट ब्राउन रंग से 6 सलाई सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई में बुनें. फिर डार्क ब्राउन रंग से बूटी डालते हुए बुनें. अब 5 फं. सी., 1 उ., 5 की केबल सी., 1 उ., 5 सी., 1 उ., 5 की केबल- पूरी सलाई ऐसे ही बुनें. उल्टी सलाई पूरी उल्टी बुनें. हर छठी सलाई में केबल पलटें. चित्रानुसार रंग लगाते जाएं. 16 इंच लंबाई हो जाने पर बाद मुड्ढे घटाएं. 21 इंच लंबाई हो जाने पर गोल गला घटाएं.
पीछे का भागः 140 फं. डालकर आगे के भागों की तरह बुनें. मुड्ढे घटाएं. कंधे जोड़कर गले के फं. उठाकर 2 फं. सी., 2 उ. की बुनाई में पट्टी बुनें. इसे कॉलर की तरह मोड़ दें.
आस्तीनः 50-50 फं. डालकर आगे के भाग की तरह बॉर्डर और बूटी बुनें. अब बुनाई डालते हुए हर रंग की 6-6 सलाई बुनें. 5 फं. सी., 1 उ., 5 सी., 1 उ.- पूरी सलाई ऐसे ही बुनें. उल्टी सलाई पूरी उल्टी बुनें. 21 इंच लंबाई हो जाने पर फं. बंद कर दें. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें. बटन टांकें.

Trendy bunai Designs

फ्रिंज कार्डिगन
सामग्रीः 250 ग्राम बैंगनी रंग का ऊन, थोड़ा-सा रंग-बिरंगी ऊन, सलाइयां.
विधिः आगे के भागः दाएं-बाएं भाग के लिए 55-55 फं. डालकर उल्टी धारी का बॉर्डर बुनें. अब बुनाई डालें- 5 फं. सी., 1 जाली, 3 का 1 सी., 1 जाली, 5 सी. की बुनाई में पूरी सलाई बुनें. उल्टी सलाई पूरी उल्टी बुनें. चार सलाई सीधी-उल्टी बुनें, फिर डिज़ाइन बुनें. इसी तरह हर चौथी सलाई में बुनाई डालते हुए 15 इंच लंबा बुन लें. वी गला व मुड्ढे घटाएं.
पीछे का भागः 100 फं. डालकर आगे के भाग की तरह बुनें. कंधे जोड़ें. मुड्ढे के फं. उठाकर पट्टी बुन लें. किनारे पर रंगबिरंगी ऊन से झालर जैसी बना दें. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.

एक्सक्लूसिव बुनाई डिज़ाइन्स- 6 ट्रेंडी वुमन कार्डिगन डिज़ाइन्स (Exclusive Bunai Designs- 6 Trendy woman cardigan designs)

 

1Q5C0149
परफेक्ट कॉम्बीनेशन

सामग्रीः 400 ग्राम स़फेद रंग का ऊन, 100 ग्राम मैरून ऊन, सलाइयां.

विधिः आगे का भागः मैरून रंग से 120 फं. डालकर स़फेद रंग से 1 फं. सी. 1 उ. की रिब बुनाई में 3 इंच का बॉर्डर बुनें. ग्राफ की मदद से स़फेद व मैरून रंग से डिज़ाइन डालते हुए सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई में बुनें. 18 इंच बाद मुड्ढे घटाएं. 5 इंच और बुनने के बाद गोल गला घटाएं.

पीछे का भागः आगे के भाग की तरह ही बुनें. गला न घटाएं. कंधे जोड़कर गले की पट्टी बुनें.

आस्तीनः 56-56 फं. डालकर आगे-पीछे के भाग की तरह बुनते हुए 22 इंच लंबी आस्तीन बुनें. हर 5वीं सलाई में दोनों तरफ़ से 1-1 फं. बढ़ाती जाएं.
स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.

IMG_9999_459

डिज़ाइनर कार्डिगन

सामग्रीः 400 ग्राम पेस्टल ग्रीन रंग का ऊन, सलाइयां, बटन.

विधिः पीछे का भागः 110 फं. डालकर सीधी सलाई 2 फं. सी. 2 उ. की बुनाई में बुनें. उल्टी सलाई पूरी उल्टी बुनें. इसी बुनाई को दोहराते हुए बुनें. 14 इंच लंबाई हो जाने पर मुड्ढे घटाएं. 7 इंच और बुनकर फं. बंद कर दें.

आगे का भागः दाएं-बाएं भाग के लिए 55-55 फं. डालें. 10 फं. बटनपट्टी के रखकर शेष में बुनाई डालें. 1 जाली, 1 सी., 2 उ., 2 उ. का जोड़ा, 2 उ., 2 सी., 1 जाली, 3 उ., 1 जाली- इसी तरह पूरी जाली डालें. बटनपट्टी भी साथ-साथ ही रिब बुनाई में बुनते जाएं. 14 इंच लंबाई हो जाने मुड्ढे व दोनों तरफ़ वी गला घटाएं.

आस्तीनः 50-50 फं. डालकर पीछे के भाग की तरह बुनते हुए 19 इंच लंबी आस्तीन बुनें. हर 5वीं सलाई में दोनों तरफ़ 1-1 फं. बढ़ाती जाएं.
स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.

IMG_9999_419

ज्योमैट्रिक डिज़ाइन

सामग्रीः 300 ग्राम क्रीम रंग का ऊन, 50-50 ग्राम ब्लू और ब्राउन ऊन, 25 ग्राम डार्क ब्राउन ऊन, सलाइयां.

विधि: आगे-पीछे का भाग: आगे-पीछे का भाग एक जैसे ही बुनेंगे. क्रीम रंग से 70-70 फं. डालकर 1 फं. सी. 1 उ. की रिब बुनाई में 2 इंच का बॉर्डर बुनें. अब चित्रानुसार अलग-अलग रंगों से ज्योमैट्रिक डिज़ाइन बुनें. 14 इंच बाद मुड्ढे घटाएं. 3 इंच और बुनने के बाद आगे के भाग में गोल गला घटाएं. कुल लंबाई 20 इंच हो जाए, तो कंधे जोड़ें. गले के फं. उठाकर 1 फं. सी. 1 उ. की बुनाई में क्रीम रंग से गले की डबलपट्टी बुनें.

आस्तीन: 38-38 फं. डालकर आगे-पीछे के भाग की तरह बुनाई करते हुए 17 इंच लंबी आस्तीन बुनें. हर 5वीं सलाई में दोनों तरफ़ से 1-1 फं. बढ़ाते जाएं.
स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.

IMG_9999_550

फूल खिले हैं

सामग्रीः 400 ग्राम क्रीम रंग का ऊन, 25-25 ग्राम मेहंदी व बैंगनी ऊन, सलाइयां.

विधि: आगे-पीछे का भाग: 90-90 फं. क्रीम रंग से डालकर बैंगनी व मेहंदी रंग से चित्रानुसार बेल की डिज़ाइन बुनें. क्रीम ऊन से 4 सलाई सीधी-उल्टी बुनकर जाली डालें. 1 जोड़ा, 2 फं. सी., 1 जाली- पूरी सलाई ऐसे ही बुनें. उल्टी सलाई पूरी उल्टी बुनें. अब जाली वाली बर्फी बुनें. इसी तरह बेल और जाली की डिज़ाइन दोहराते हुए 14 इंच बुनें. मुड्ढे घटाएं. 3 इंच बाद गोल गला घटाएं. कंधे जोड़ें.

आस्तीनः 46-46 फं. डालकर आगे-पीछे के भाग की तरह बुनाई करते हुए 16 इंच लंबी आस्तीन बुनें. मुड्ढे घटाएं. हर 5वीं सलाई में दोनों तरफ़ से 1-1 फं. बढ़ाते जाएं.

बॉर्डरः आगे-पीछे के भाग, आस्तीन और गले के बॉर्डर के लिए दो बार क्रोशिया करें. अब 5 फं. डालकर पत्ती की लेस बना लें. 2 सी., 1 जाली, 1 सी., 1 जाली, 2 सी.- पूरी सलाई ऐसे ही बुनें. उल्टी सलाई पूरी उल्टी ही बुनें. 5 बार जाली से फं. बढ़ जाने पर किनारे पर जोड़े फं. बुनें. इसे क्रोशिया के बॉर्डर के बाद सिल दें और फिर से क्रोशिया करें.

 

IMG_9999_1090

लेमन स्ट्रोक

सामग्रीः 200 ग्राम लेमन रंग का ऊन, 100 ग्राम क्रीम ऊन, सलाइयां.
विधि: आगे-पीछे का भाग: आगे-पीछे का भाग एक जैसे ही बुनें. 100 फं. लेमन ऊन से डालकर 2 उल्टी धारी बुनें. 1 फं. सी., 1 जाली, 5 सी., 3 फं. का 1, 5 सी., 1 जाली, 1 सी., 1 जाली, 5 सी., 3 फं. का 1, 5 सी., 1 जाली, 1 सी., 1 जाली बुलें. उल्टी सलाई पूरी उल्टी बुनें. 6 बार जाली बनाएं. ऊपर 1 जाली, 3 का 1, 1 जाली, 11 सी. फं. रह जाएंगे. अब 2 उल्टी धारी डालें. इसी तरह बुनते हुए 9 इंच लंबा बुनें. अब क्रीम ऊन से 5 इंच सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई में बुनें. 7 इंच फिर जाली वाली डिज़ाइन बुनें. मुड्ढे के 6 फं. एक साथ बंद करके घटाएं. किनारे के 3-3 फं. उल्टी धारी के बुनें. 6 इंच और बुनें. आगे के भाग में गोल गला घटाएं.
कंधे जोड़कर गले के फं. उठाकर उल्टी धारी में गले की पट्टी बुनें. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.

कैप विद स्टोल

सामग्रीः 300 ग्राम क्रीम रंग का ऊन, सलाइयां.

विधिः स्टोल के लिए 30 फं. डालकर उल्टी धारियों की 65 इंच लंबी एक पट्टी बुनें. कैप के लिए 56 फं. डालकर 4 सी. फं. की केबल, 4 उ., 4 सी. की केबल, 4 उ. बुनें. एक तरफ शुरू में 1 फं. सी. 1 उ. के 10 फं. बुन लें, जो आगे की पट्टी जैसी बन जाएगी. 20 इंच लंबी पट्टी बुनें. हर 6ठी सलाई में केबल पलटें. टोपी की सिलाई कर लें.

 

IMG_9999_10
स्काई हाई

सामग्रीः 500 ग्राम एक्वा ब्लू रंग का मोटा ऊन, सलाइयां.

विधि: पीछे का भाग: 102 फं. डालकर 3 फं. उ. 8 सी. की पूरी सलाई बुनें. उल्टी सलाई 3 सी., 8 उ. की बुनाई में बुनें. सीधे वाले 4-4 फं. को आपस में ही पलटते रहें. इससे एक के ऊपर एक केबल पड़ती जाएगी. हर चौथी सलाई में केबल पलटें. 15 इंच लंबाई हो जाने पर मुड्ढे घटाएं. 7 इंच और बुनें.

आगे का भागः दाएं-बाएं भाग के लिए 50-50 फं. डालकर पीछे के भाग की तरह बुनें. बस दोनों भागों में बटनपट्टी के 6-6 फं. हर बार साबुदाने की बुनाई में बुनें. शेष फं. पीछे के भाग की तरह बुनें.

आस्तीनः 45-45 डालकर आगे-पीछे के भाग की तरह बुनाई डालते हुए 19 इंच लंबी आस्तीन बुनें. हर 5वीं सलाई में दोनों तरफ़ से 1-1 फं. बढ़ाते जाएं.
स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें. एक शो बटन टांकें.

एक्सक्लूसिव डिज़ाइन्स- स्टार अट्रैक्शन (Exclusive Designs- Star attraction)

फाइव स्टार (Exclusive Designs)
सामग्रीः 100-100 ग्राम ऑरेंज, आसमानी, पेस्टल ग्रीन, ब्राउन और पिंक रंग का ऊन, क्रोशिया.
विधिः पूरे स्वेटर में एक जैसी बुनाई पड़ेगी. 17 इंच चौड़ा रखने के लिए पेस्टल ग्रीन रंग से चेन बुनें. 2 बार सादी चेन बनाने के बाद चित्रानुसार रंग लगाते हुए कंगूरे बनाते जाएं. 16 इंच लंबाई हो जाने के बाद आगे के भाग में बीचोंबीच बटनपट्टी बना दें. 19 इंच बाद गोल गला घटाएं. पीछे का भाग भी ऐसे ही बुन लें. कंधे जोड़ें. गले पर बॉर्डर बनाएं. इसी तरह 17 इंच लंबी आस्तीन भी बुन लें. किनारे पर कंगूरा बढ़ाते जाएं. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.

1

परफेक्ट कॉम्बिनेशन
सामग्रीः 400 ग्राम हल्के हरे रंग का ऊन, 50 ग्राम पिंक, 25 ग्राम पीला ऊन, सलाइयां, क्रोशिया.
विधिः आगे का भागः गुलाबी रंग से 110 फं. डालकर हरा, पीला, हरा, गुलाबी, हरा, पीला, हरा, गुलाबी रंग से उल्टी धारियों का बॉर्डर बुनें. अब हरे रंग से सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई करें. चित्रानुसार पिंक व पीले से दिल व बूटी डालते जाएं. बीच में बुनाई डालें- 2 फं. सी., 1 उ. बुनें, उ. फं. को दूसरी सलाई पर लेकर ऊन को आगे से पीछे ले जाएं, फिर 1 सी. फं. बुनें, 2 सी. बुनें. उल्टी सलाई पूरी उल्टी बुनें. ये बुनाई चेक में डाल लें. इसी तरह बुनते हुए 16 इंच लंबा बुनें. मुड्ढे घटाएं. बटनपट्टी के 6 फं. रखें. गोल गला घटाएं.
पीछे का भागः 110 फं. डालकर आगे की तरह सभी रंगों से बॉर्डर बुनें. पूरा भाग हरे रंग से सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई में बुनें. आप चाहें तो चेकवाली डिज़ाइन डालते हुए बुन सकते हैं. लंबाई पूरी हो जाने पर मुड्ढे घटाएं. कंधे जोड़ें. गले के फं. उठाकर हरे रंग की 1-1 धारी बुन लें.
आस्तीनः 50-50 फं. डालकर बॉर्डर बुनें. पीछे के भाग की तरह बुनाई डालकर 20 इंच लंबी आस्तीन बुनें. हर 5वीं सलाई में 1-1 फं. किनारे पर बढ़ाते जाएं.
स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें. नीचे पिंक रंग से क्रोशिया करें.

2

प्ले विद कलर्स
सामग्रीः 150-150 ग्राम क्रीम और बैंगनी रंग का ऊन, 100-100 ग्राम आसमानी, ब्राउन और डार्क मेहंदी ग्रीन ऊन, सलाइयां.
विधिः आगे के भागः दाएं-बाएं भाग के लिए क्रीम रंग से 64-64 फं. डालकर 2 फं. सी., 2 उ. की रिब बुनाई में 3 इंच का बॉर्डर बुनें. अब बैंगनी रंग से 3 सी. फं. को एक साथ 1 सी., 1 उ., 1 सी. बुनें. 1 फं. उ. बुनें. 3 सी. फं. बुनें. पूरी सलाई ऐसे ही बुनें. उल्टी सलाई उल्टी बुनें. 3 इंच बुनने के बाद ग्राफ की सहायता से ब्राउन और मेहंदी ग्रीन रंग से बेल, लाइनिंग व बूटी डालें. आसमानी पर क्रीम से दूसरी बेल डालें. 20 इंच लंबाई हो जाने पर मुड्ढे और गला घटाएं.
पीछे का भागः 110 फं. डालकर आगे के भाग की तरह बुनें. कंधे जोड़कर आगे की बटनपट्टी को ही पीछे गले के बराबर दोनों तरफ़ से बुन लें.
आस्तीनः 50-50 फं. डालकर आगे-पीछे के भाग की तरह बुनाई करते हुए 20 इंच लंबी आस्तीन बुन लें. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.

एक्सक्लूसिव डिज़ाइन्स- मिस गॉर्जियस (Exclusive Designs- Miss Gorgeous)

Exclusive Designs- Miss Gorgeous

फैशन क्वीन
सामग्रीः 150 ग्राम मेहंदी रंग का ऊन, 25 ग्राम क्रीम ऊन, क्रोशिया, सलाइयां.
विधिः मेहंदी रंग से 24 इंच की चेन बुनें. 10 इंच में जाल व चेन की मिली-जुली डिज़ाइन डालें. अब गोल गला घटा लें. फिर वैसे ही चेन बढ़ाएं, जैसे घटाई थीं. 27 इंच लंबाई पूरी हो जाए, तो क्रीम रंग से किनारे पर कंगूरे बना लें. गले के लिए क्रीम रंग से फं. उठाकर 2 सी., 2 उ. का हाइनेक गला बुनें. दोनों किनारों पर आस्तीन के लिए टांके लगा दें.

5

विंटर ब्यूटी
सामग्रीः 450 ग्राम ऑरेंज रंग का ऊन, सलाइयां.
विधिः आगे का भागः 110 फं. डालकर 3 फं. उ., 5 सी., 3 उ., 5 सी. फं. की बुनाई में पूरी सलाई बुनें. उल्टी सलाई पूरी उल्टी बुनें. अगली सलाई में 3 उ., 2 सी. को आगे-पीछे करके बुनें, उल्टी सलाई पूरी उल्टी बुनें. हर सीधी सलाई में केबल पलटें, पर एक ही तरफ़. लगभग 10 इंच बुनाई डालें. अब सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई करते हुए 20 इंच लंबाई होने तक बुनें. मुड्ढे व वी आकार में गला घटाएं.
पीछे का भागः 110 फं. डालकर आगे के भाग की तरह बुनें. कंधे जोड़ें. 69 फं. डालकर अलग से कॉलर बुनें. 5 इंच लंबाई हो जाने पर 16-16 फं. किनारे पर रखकर बाकी फं. बंद करें. अब 16-16 फं. में अंदर की तरफ़ वी गले के हिसाब से फं. घटाते जाएं. अब चित्रानुसार सिलाई कर दें.
आस्तीनः 50-50 फं. डालकर आगे के भाग की तरह बुनते हुए 20 इंच लंबी आस्तीन बुनें. हर 7वीं सलाई में 1-1 फं.
बढ़ाते जाएं. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.

6

मिस इंडिया
सामग्रीः 75-75 ग्राम ग्रे व डार्क ब्राउन रंग का ऊन, 75-75 ग्राम क्रीम और कॉफी ब्राउन ऊन, सलाइयां.
विधिः आगे का भागः ग्रे रंग से 100 फं. डालकर सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई करें. उल्टे भाग को सीधा मानेंगे. चित्रानुसार हर रंग से 8-8 सलाइयां बुनें. 6 इंच लंबा बुनने के बाद कॉफी ब्राउन रंग से बुनाई डालें- 2 फं. का 1 बुनें, 1 उ.- 6 बार बुनें. 1 जाली, 1 सी.- 6 बार बुनें यानी 6 जोड़े बुनें व 6 जाली डालें. पूरी सलाई ऐसे ही बुनें. उल्टी सलाई उल्टी बुनें. 2 सलाई सीधी-उल्टी बुनाई में बुनें. फिर 3 इंच की बुनाई डालें. 23 इंच लंबाई हो जाने के बाद मुड्ढे घटाएं. गले के 16 फं. एक साथ बंद कर दें. ऊपर बुनाई करते हुए वी आकार के गले की तरह दोनों तरफ़ फं. घटा दें. 20 इंच लंबाई हो जाने पर फं. बंद कर दें.
पीछे का भागः आगे के भाग की तरह बुनें. गला न घटाएं. कंधे जोड़कर गले के फं. उठाएं व 2 फं. सी., 2 उ. की बुनाई में चौड़ी पट्टी बुनें, जहां 16 फं. एक साथ बंद किए थे. दोनों तरफ़ की पट्टी को एक-दूसरे के ऊपर रखकर सिल दें.
आस्तीनः 48-48 फं. डालकर आगे के भाग की तरह बुनें. 2 इंच बुनने के बाद हर 7वीं सलाई में दोनों किनारों पर 1-1 फं. बढ़ाएं. 22 इंच लंबाई हो जाने पर फं. बंद कर दें. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.

एक्सक्लूसिव बुनाई डिज़ाइन- परफेक्ट फिटिंग (Exclusive Bunai Designs- Perfect Fitting)

Exclusive Bunai Designs

Exclusive Bunai Designs

स्नो व्हाइट
सामग्रीः
400 ग्राम स़फेद रंग का ऊन, सलाइयां, फूल.
विधिः आगे के भागः 38-38 फं. डालें. 5 उल्टी धारी का बॉर्डर बुनें. अब शुरू के 5 फं. बटनपट्टी के उल्टी धारी के ही बुनेंगे, बाकी फं. में बुनाई
डालें- 2 फं. उ., 4 सी., 8 फं. उ., 4 फं. सी., 8 उ., 4 सी., 3 उ. बुनें. उल्टी सलाई उ. फं. सी. ही बुनें. अब सीधी सलाई में 4 सी. फं. में से शुरू के 2 फं. में पहले को दूसरे की जगह कर लें व दूसरे को आगे करके पहले बुनें. ऐसे ही 3-4 फं. में करें. उल्टी सलाई पहले की तरह बुनें. हर तीसरी सलाई में इन 4 फं. को पलटेंगे. 7 इंच बाद 2 उ. फं. रखें, 2 सी. का जोड़ा बुनकर मुड्ढे व गला घटाएं. 5 इंच सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई में बुनकर फं. बंद कर दें.
पीछे का भागः 75 फं. डालकर आगे के भाग की तरह उल्टे फं. की पट्टी व 4 सी. फं. का केबल डालते हुए बुनें.
आस्तीनः 36-36 फं. पीछे के भाग की तरह बुनें. हर 5वीं सलाई में 1-1 फं. बढ़ाते जाएं. 7 इंच बाद मुड्ढे घटाएं. सारे फं. एक साथ करके गला बुनें. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.
पायजामाः 40-40 फं. डालकर आस्तीन की तरह उल्टे फं. व केबल डालते हुए 10 इंच लंबा बुनें. हर 7वीं सलाई में 1-1 फं. बढ़ाते जाएं. फिर 5 फं. एक साथ बढ़ाएं. 6 इंच और बुनें. बॉर्डर बुनकर डोरी के लिए जाली बना लें.

Exclusive Bunai Designs

क्रोशेट जैकेट
सामग्रीः
100 ग्राम लाल रंग का ऊन, 100 ग्राम पीला ऊन, 4 पिन, क्रोशिया.
विधिः 4 पिन लेकर उस पर क्रोशिया से लाल व पीली पट्टियां बनाएं. नाप के अनुसार पट्टियां बनाने के
बाद उनको एक-दूसरे से जोड़ें. नीचे किनारे पर क्रोशिया करें.

Exclusive Bunai Designs
डिज़ाइनर चॉइस
सामग्रीः
200 ग्राम फिरोज़ी रंग का ऊन, 100-100 ग्राम यलो और लाल ऊन, सलाइयां.
विधिः आगे का भागः फिरोज़ी रंग से 110 फं. डालकर 3 उल्टी धारी का बॉर्डर बुनें. 5 फं. सी., 3 का 1, 5 सी., 1 जाली की बुनाई में पूरी सलाई बुनें. उल्टी सलाई पूरी उल्टी बुनें. 2 सलाई बुनने के बाद चित्र की सहायता से रंग बदलें. लाल, यलो, फिरोज़ी तीनों रंग लगाते हुए बुनें. 18 इंच बुनने के बाद फिरोज़ी रंग से 2 फं. सी., 2 उ. की बुनाई में 4 इंच बुनें. बटनपट्टी के लिए फं. अलग करें. रंग बदलते हुए 3 इंच बाद गोल गला घटाएं.
पीछे का भागः 110 फं. डालकर आगे के भाग की तरह बुनें. लंबाई पूरी होने पर कंधे जोड़ें. गले के फं. उठाकर पट्टी बुनें.
आस्तीनः फिरोज़ी रंग से 46-46 फं. डालकर आगे-पीछे के भाग की तरह बुनें. 10 इंच तक सब रंग लगाएं. ऊपर की फिरोज़ी से 2 सी.,
2 उ. की बुनाई में बुनें. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.

एक्सक्लूसिव डिज़ाइन- बी इन ट्रेंड (Exclusive Design- Be in trend)

1

बी फैशनेबल
सामग्रीः 450 ग्राम डार्क पिंक रंग का ऊन, चेन, सलाइयां.
विधिः आगे का भागः दाएं-बाएं भाग के लिए 70-70 फं. डालकर 2 फं. सी., 2 उ. की बुनाई में ही पूरा स्वेटर बुनें. उल्टी सलाई में उ. पर सी., सी. पर उ. बुनेें. चित्रानुसार आगे के भागों में 2 सी. फं. को ऊपर से ले जाते हुए बुन लें. 17 इंच लंबाई हो जाने पर मुड्ढे घटाएं. 3 इंच बाद गोल गला घटाएं.
पीछे का भागः 140 फं. डालकर आगे के भाग की तरह 2 फं. सी. 2 उ. की बुनाई में ही पूरा भाग बुनें. मुड्ढे घटाएं. कंधे जोड़ें. गले के फं. उठाकर कॉलर बुनें. आगे चेन लगाएं.
आस्तीनः 54 फं. डालकर 2 फं. सी., 2 उ. की बुनाई में 22 इंच लंबी आस्तीन बुनेें. हर 7वीं सलाई में 1-1 फं. बढ़ाते जाएं. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.

3

रोज़ गार्डन
सामग्रीः 450 ग्राम पीले रंग का ऊन, 25-25 ग्राम मेहंदी, लाल, गुलाबी ऊन, सलाइयां.
विधिः आगे का भागः पीले रंग से 100 फं. डालकर उल्टी धारी का बॉर्डर बुनें. सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई करते हुए चित्रानुसार मेहंदी, लाल, गुलाबी रंग से गुलाब के फूल बुन लें. 3 फं. सी., 3 उ. की पूरी सलाई बुनें. उल्टी सलाई में सी. पर उ., उ. पर सी. बुनें. 4 इंच बाद सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई में 4 इंच बुनें. फिर 4 इंच 3 सी., 3 उ. वाली बुनाई करें. फिर सीधी-उल्टी बुनाई करें. 18 इंच लंबाई हो जाने पर मुड्ढे घटाएं व फिर फूल बनाएं. 4 इंच बाद गोल गला घटाएं. 8 इंच और बुनकर फं. बंद कर दें.
पीछे का भागः आगे के भाग की तरह ही बुनें. गला नहीं घटाएं. ऊपर की तरफ़ फूल की डिज़ाइन न बुनें. कंधे जोड़ें.
आस्तीनः 50-50 फं. डालकर पीछे के भाग की तरह बुनें. दोनों किनारों पर 1-1 फं. हर 5वीं सलाई में बढ़ाते जाएं. 22 इंच लंबी आस्तीन बुनें. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें. तीनों रंग के पॉम पॉम बनाकर टांक लें.

2

पर्ल ब्यूटी
सामग्रीः 400 ग्राम आसमानी रंग का ऊन, मोती, सलाइयां.
विधिः आगे का भागः 6 जगह 10-10 फं. सलाई पर डालें. 2-2 सलाई सीधी-उल्टी बुनें. अब 1 टुकड़े को बुनकर उसी में ऊन में मोती डालें व लगभग 1 इंच की ऊन छोड़ें. दूसरा टुकड़ा बुनें. मोती डालकर ऊन छोड़ें. इसी तरह सब टुकड़ों को जोड़ लें. उल्टी सलाई में भी ऊन छोड़ें. 6 सलाई बाद ऊनवाली जगह पर 10-10 फं. डालें. अब 1 सी., 1 उ., 1 सी., 1 उ. की पूरी सलाई बुनें. उल्टी सलाई पूरी उल्टी बुनें. 17 इंच लंबाई हो जाने के बाद मुड्ढे घटाएं. 3 इंच बाद गोल गला घटाएं.
पीछे का भागः आगे के भाग की तरह बुनें. मुड्ढे और हल्का गोल गला घटाएं. कंधे जोड़कर गले के फं. उठाकर सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई में बुनें. पीछे के भाग में 1 इंच बुनकर फं. बंद करें. आगे के भाग में 4 इंच बुनें. एक तरफ़ फं. घटाते जाएं, ताकि कॉलर का शेप आ जाए. क्रोशिया करें व मोती टांकें. नीचे बॉर्डर पर भी क्रोशिया करें. मोती लगाएं.
आस्तीनः 50-50 फं. डालकर 4 फं. सी., 2 उ. की बुनाई में 3 इंच का बॉर्डर बुनें. आगे के भागवाली बुनाई करते हुए 20 इंच लंबा बुनें. हर 7वीं सलाई में 1-1 फं. बढ़ाते जाएं. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.

 

यह भी पढ़ें: एक्सक्लूसिव बुनाई डिज़ाइन्स- 3 ट्रेंडी डिज़ाइन

यह भी पढ़ें: एक्सक्लूसिव बुनाई डिज़ाइन्स- 5 बेस्ट टीनेज कार्डिगन डिज़ाइन्स

एक्सक्लूसिव डिज़ाइन- स्ट्राइप अट्रैक्शन (Exclusive design- Stripe attraction)

1

स्ट्राइप इफेक्ट
सामग्रीः 100-100 ग्राम पेस्टल ग्रीन, मेहंदी ग्रीन और हल्के बादामी रंग का ऊन, 50 ग्राम ब्राउन ऊन, सलाइयां.
विधिः आगे का भागः पेस्टल ग्रीन से दाएं-बाएं भाग के लिए 56-56 फं. डालकर 2 फं. सी., 2 उ. की बुनाई करें, पर हर सी. सलाई में 1 उ. फं. पर 1 सी. फं. बुनें. उल्टी सलाई में भी 2 उ., 2 सी. बुनें. 4 इंच का बॉर्डर बुन लें. 10 फं. बटनपट्टी के ऐसे ही बुनेें. अब मेहंदी ग्रीन रंग लगाएं. 3 इंच में बादामी रंग का 1-1 फं. दूर-दूर बुन दें. चित्रानुसार रंग लगाते हुए बुनें. 4 फं. सी., 4 उ. का चेक बुनें. हर सीधी सलाई में इसे भी बॉर्डर की तरह 2 फं. खिसकाते हुए बुनें. 16 इंच बाद लंबाई हो जाने पर मुड्ढे और गला घटाएं. 8 इंच और बुनें. कंधे जोड़ें.
पीछे का भागः 100 फं. डालकर आगे के भाग की तरह बुनें.
आस्तीनः 50-50 फं. डालकर आगे-पीछे के भाग की तरह बुनते हुए 20 इंच लंबी आस्तीन बुनें. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.

3
क्रॉप टॉप
सामग्रीः 100 ग्राम क्रीम रंग का ऊन, 75-75 ग्राम ब्लू और स्काई ब्लू ऊन, सलाइयां.
विधिः आगे का भागः ब्लू रंग से चौहरा ऊन करके 90 फं. कंगूरे वाले डालकर 4 सलाई साबुदाने की बुनाई में बुनें. 6 सलाई
सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई में बुनकर ग्राफ की सहायता से क्रीम रंग से बूटी डालें. सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई में बुनें. अलग सलाई पर स्काई ब्लू रंग से फं. डालकर साबुदाने की बुनाई में बॉर्डर बुनें. अब इन फं. को ब्लूवाले हिस्से के साथ जोड़ते हुए स्काई ब्लू रंग से बुन लें. चित्र की सहायता से बूटी डालें. क्रीम फं. डालकर स्काई ब्लू से जोड़ें और बूटी डालते हुए बुनें. 12 इंच लंबाई हो जाने पर फं. बंद कर दें.
पीछे का भागः ब्लू रंग से फं. डालकर सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई में 12 इंच लंबाई होने तक बुनें. कंधे जोड़ें.
आस्तीनः 100-100 फं. क्रीम रंग से डालकर 4 सलाई साबुदाने की बुनाई में बुनें. 50-50 फं. ब्लू और स्काई ब्लू से डालें. इसी में जोड़ें. 100 क्रीम से डालकर इसे भी जोड़ें. अब बूटी डाल दें. 4 इंच बाद सारे फं. का जोड़ा बुन लें. अब अलग सलाइयों पर 16-16 फं. डाल लें. इन्हें आस्तीन की लंबाई में जोड़कर 16 इंच कुल लंबाई करें.

2

कलर ड्रामा
सामग्रीः 50-50 ग्राम नेवी ब्लू, आसमानी, मेहंदी, स़फेद, बैंगनी, पीला व काले रंग का ऊन, क्रोशिया.
विधिः आगे-पीछे का भागः 65-65 चेन सादी नेवी ब्लू रंग से बुनें. चित्र की मदद से आधे-आधे भाग में रंग लगाएं. पूरी स्कीवी सिंगल चेन से रंग बदलते हुए बुनें. बीच में दोनों तरफ़ के रंगों में एक साथ 3-3 चेन का फूल बुन दें. लगभग 24 इंच लंबाई करें. हल्का गोल गला घटा दें.
आस्तीनः 38 चेन नेवी ब्लू रंग से बनाएं. आगे-पीछे के भाग की तरह बुनें. 18 इंच लंबाई पूरी करें. टॉप की सिलाई करें. गले में डोरी डालें.

एक्सक्लूसिव डिज़ाइन- स्मार्ट सिलेक्शन (Exclusive Design- Smart selection)

स्मार्ट वेव्स
सामग्रीः 100 ग्राम लाइट ग्रे रंग का ऊन, 50 ग्राम डार्क ग्रे ऊन, 25-25 ग्राम पिंक, पिस्ता, क्रीम और स़फेद ऊन, सलाइयां, बटन.
विधिः आगे का भागः ब्राउन ऊन से 150 फं. डालकर 2 उल्टी धारियां बुनें. दोनों किनारे के 8-8 फं. हर बार सादे ही बुनें. 8 फं. के बाद बुनाई डालें- 3 फं. का 1, 8 सी., 1 जाली, 1 सी., 1 जाली, 8 सी., 3 का 1, 8 सी.- इसी तरह पूरी सलाई बुनें. उल्टी सलाई पूरी उल्टी बुनें. चित्रानुसार रंग बदलते हुए बुनें. 16 इंच लंबाई हो जाने पर दोनों किनारों पर 1-1 फं. घटाते हुए बुनें. 12 इंच बाद घटाना बंद कर दें. 26 इंच लंबाई हो जाने पर मुड्ढे घटाएं. 3 इंच और बुनने के बाद बीच के 6 फं. बटनपट्टी के डार्क ग्रे से बुनें. गोल गला घटाएं.
पीछे का भागः आगे के भाग की तरह बुनें. पीछे के भाग में गला नहीं घटाना है. कंधे जोड़कर बटनपट्टी बनाएं. गले के फं. उठाकर पट्टी बुनें.
आस्तीनः 48-48 फं. डालकर आगे के भाग की तरह डिज़ाइन डालते हुए 23 इंच लंबी आस्तीन बुनें. हर 7वीं सलाई में दोनों तरफ़ से 1-1 फं. बढ़ाते जाएं. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें. बटन टांकें.

1

शॉपिंग टाइम
सामग्रीः 550 ग्राम पिंक रंग का ऊन, थोड़ा-सा क्रीम ऊन, सलाइयां.
विधिः आगे का भागः 120 फं. क्रीम रंग से डालकर 2 फं. सी., 2 उ. की रिब बुनाई में 3 इंच का बॉर्डर बुनें. दोनों तरफ़ से 10 फं. बढ़ा लें. अब बुनाई डालें. 2 सलाई
सीधी-उल्टी सलाई की बुनाई में बुनें. 2 फं. उ., 1 सी., 2 उ. फं., 5 सी. फं. में शुरू के 2 फं. व बाद के 2 फं. को केबल की तरह पलटकर बुन दें. बीच का फं. सीधा बुनें. उल्टी सलाई पूरी उल्टी बुनें. ये दो सलाइयां एक बार और दोहराएं. अब इन्हें एक-दूसरे पर पलटकर बुनते जाएं. 19 इंच लंबाई हो जाने पर मुड्ढे घटाएं व बीच के उ. फं. एक साथ बंद कर दें. अब 10 इंच का मुड्ढा बुनें और आगे वी आकार में गला घटाते जाएं.
पीछे का भागः आगे के भाग की तरह बुनें. मुड्ढे घटाएं, कंधे जोड़ें. गले के फं. उठाकर 2 सी., 2 उ. का बॉर्डर बुनें. क्रीम रंग में पिंक रंग की धारी डालकर कॉलर बुनें.
आस्तीनः 50-50 फं. डालकर आगे-पीछे के भाग की तरह बुनते हुए 22 इंच लंबी आस्तीन बुनें. हर 5वीं सलाई में 1-1 फं. बढ़ाते जाएं. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.

2

पिंक पैशन
सामग्रीः
200 ग्राम पिंक रंग का ऊन, 200 ग्राम पेस्टल ग्रीन ऊन, सलाइयां, कुंदन.
विधिः आगे-पीछे का भागः पिंक रंग से 115 फं. डालकर उल्टी धारियों का बॉर्डर बुनें. 2 सलाई सीधी-उल्टी बुनाई में बुनें. ग्रीन रंग से भी 2 सलाई सीधी-उल्टी बुनें. दोनों किनारों पर 6-6 फं. उल्टी धारी के बुनते जाएं. 3 फं. को एक साथ उ. बुनें, 1 सी. फं. को 3 बार बुनें, ताकि 3 फं. बन जाएं. पूरी सलाई ऐसे ही 3 का 1 जोड़ा व 1 के 3 फं. बुनते हुए पूरी करें. उल्टी सलाई पूरी उल्टी बुनें. ग्रीन रंग से बुनें. 11 इंच लंबा बुनने के बाद 2 फं. सी., 2 उ. से ऊपर का पूरा भाग बुनें. 21 इंच लंबाई हो जाने पर मुड्ढे घटाएं. एक भाग में बीच में बटनपट्टी बना दें. 23 इंच बाद गोल गला घटाएं. कंधे जोड़कर गले के फं. उठाएं. 2 फं. सी. 2 उ. की बुनाई में गले की पट्टी बुनें.
आस्तीनः 50-50 फं. डालकर बॉर्डर बुनें. 6 इंच तक बुनाई डालते हुए बुनें. ऊपर 2 फं. सी., 2 उ. की बुनाई करते हुए 22 इंच लंबी आस्तीन बुनें. हर 5वीं सलाई में 1-1 फं. बढ़ाते जाएं. स्वेटर के सभी भागों को जोड़कर सिल लें.