eye health

अगर आप चाहती हैं कि आपकी आंखें स्वस्थ और ख़ूबसूरत रहें, उसकी रोशनी बनी रहे और झुरिर्र्यां-उम्र की लकीरें नज़र न आएं, तो अपने रूटीन में ये एक्सरसाइज़ेज शामिल करें.

1. पलकों को बार-बार झपकाएं. यूं तो हम हर चार सेकंड के बाद पलकें झपकाते हैं, लेकिन जल्दी-जल्दी कम से कम 10 बार पलकें झपकाएं. इससे आंखों की थकान दूर होती है. आप दिन में पांच बार ये एक्सरसाइज़ कर सकती हैं.


2. आंखों को बस एक सेकंड तक एकदम जोर से भींचें और रिलैक्स करें. अंडरआई की त्वचा को उंगलियों के पोरों से धीरे-धीरे अंदर से बाहर की दिशा में मसाज करें. इससे आंखों के आसपास झुर्रियां नहीं पड़तीं.

Easy Eye Exercises

3. आंखों की पुतलियों को गोलाई में चारों तरफ़ घुमाएं. इससे आंखों की पेशियों की अच्छी एक्सरसाइज़ हो जाती है. दोनों दिशाओं में तीन-तीन बार ये एक्सरसाइज़ करें.


4. अब इसी तरह आंखों की पुतलियों को घुमाते हुए स्क्वेयर यानी वर्ग बनाने की कोशिश करें. हथेलियों को आंखों पर रखना आंखों को रिलैक्स करने का सबसे अच्छा तरीका है.


5. दाहिने हाथ को सामने की ओर फैलाएं. अब हाथों को सामने से कंधे तक ले जाएं. इसी तरह हाथों को झुलाते जाएं और आंखों से हाथ को देखते रहें. बाएं हाथ से भी यही क्रिया दोहराएं. दिन में कम से कम एक बार ये एक्सरसाइज़ ज़रूर करें.

Easy Eye Exercises


6. नज़रें उठाकर सीलिंग को देखें, फिर धीरे-धीरे नज़रों को ज़मीन पर लाएं. फिर सीलिंग, फिर ज़मीन. ये एक्सरसाइज़ पांच बार दोहराएं.

7. शीर्षासन करें. इससे भी आंखों की ज्योति बढ़ती है.

8. आंखों को बंद करें. अब अनामिका उंगली से आंखों की हल्के हाथों से गोलाई में मसाज करें. ये क्रिया 2-3 बार करें.

Easy Eye Exercises


9. दोनों कुहनियों को टेबल पर टिकाएं, फिर हथेलियों को आंखों पर रखें और पलकों को झपकाएं.

10. आंखें बंद करके रिलैक्स करें. पांच मिनट तक स्थिर बैठी रहें, फिर आंखें खोलें और हथेलियों को हटा लें. ध्यान रहे, आंखों पर किसी तरह का प्रेशर न पड़ने पाए.

हर पल हाईटेक होती ज़िंदगी में हम हमेशा स्क्रीन्स से घिरे रहते हैं, चाहे वो कंप्यूटर स्क्रीन हो, मोबाइल स्क्रीन या फिर टीवी स्क्रीन. इनसे निकलनेवाली किरणों से हमारी आंखों पर काफ़ी तनाव पड़ता है, जिससे आंखों में ड्राईनेस, सिरदर्द और रोशनी कम होने जैसी समस्याएं हो सकती हैं, पर कुछ रिलैक्सेशन ट्रिक्स आज़माकर हम इनसे बच सकते हैं.

Relaxation tricks for eyes

पामिंग:

 

आराम से बैठ जाएं. दोनों हथेलियों को रगड़ें और जब गर्माहट आ जाए, तो उन्हें कपनुमा बनाकर आंखों को ढंकें. इसी तरह 2-3 मिनट तक रखें.

आंखें झपकाना (ब्लिंकिंग):

 

पलकें झपकाने से जहां आंखों को सुकून मिलता है, वहीं आंखों में लुब्रिकेशन भी बढ़ता है, जिससे ड्राईनेस की समस्या नहीं होती. कंप्यूटर पर काम करते व़क्त थोड़ी-थोड़ी देर में पलकें झपकाते रहें.

आंखें घुमाना:

 

अपनी आंखें बंद करें और उन्हें गोल-गोल घुमाएं. इससे आंखों की मसाज होगी और आप बहुत अच्छा महसूस करेंगे. इससे आंखों में लुब्रिकेशन बना रहता है और थकान भी नहीं होती.

 

दूर-पास ट्रिक:

 

लगातार कंप्यूटर पर आंखें गड़ाए रहने से भी आपकी आंखों पर असर पड़ता है. स़िर्फ स्क्रीन को न देखें. उसके पीछे की चीज़ों को भी देखें. थोड़ी देर बाद कमरे में सबसे दूर रखी चीज़ को देखें. फिर अपने पास की किसी चीज़ को देखें. ऐसा करने से आंखों पर तनाव नहीं पड़ता.

बंद आंखों से एक्सरसाइज़:

 

आराम से बैठकर अपनी आंखें बंद करें. अब सिर को ऊपर-नीचे करें, फिर एक गहरी सांस लें. आंखें खोलकर चारों तरफ़ देखें. आंखें बंद करें और फिर सिर को दाएं-बाएं करें.
–  चश्मे या लेंसेस में एंटी ग्लेयर कोटिंग ज़रूर करवाएं.
– हमेशा सही रोशनी में ही काम करें.
– कंप्यूटर डिस्प्ले में ब्राइटनेस, कॉन्ट्रास्ट, कलर आदि को अपनी सुविधा के अनुसार एडजस्ट करें.
– हर आधे-एक घंटे में कंप्यूटर से ब्रेक लें.

 

10 अनहेल्दी ऑफिस हैबिट्स (10 Unhealthy Office Habits)