Fathers Day Special

यूं तो पिता बनना और पितृत्‍व के लिए स्‍वयं को तैयार करना चुनौतीभरा काम होता है. लेकिन जब बात उन लोगों की हो, जिनके बच्‍चे समय पूर्व ही पैदा हो गए हों, तो यह मुश्किलोंभरा होता है. ख़ासकर कोरोना वायरस के कारण मौजूदा कोविड-19 के चलते महामारी की स्थिति में यह चुनौती और भी अधिक बढ़ जाती है. उन पिताओं पर अतिरिक्‍त दबाव व ज़िम्मेदारियां आ जाती हैं. आइए, आज फादर्स डे पर ऐसे ही पिता बने पुरुषों की आपबीती को जानते हैं.

Fathers Day Special

सभी चुनौतियों के बावजूद, पिता बनने की ख़ुशी का एहसास कभी भी कम नहीं हुआ…

असीम शाह जिन्हें जुड़वा बच्चे हुए थे इस कोरोना वायरस की महामारी के दिनों में ही. तब उन्होंने ना केवल कई चुनौतियों का सामना किया, बल्कि ख़ुद को भी हौसला देते रहे. जॉन्‍सन एंड जॉन्‍सन के ग्रुप एसएफई व एनालिटिक्‍स मैनेजर की अपनी पद व ड्यूटी को निभाते हुए वे इस लॉकडाउन में बहुत कुछ सीखते भी रहे. कोविड-19 के इस लॉकडाउन के दौरान पैदा हुए जुड़वा बेटों का पिता बनने के अपने अनुभवों के बारे में असीम कुछ यूं बताते हैं…
दो महीने पहले, मैं अपने सहकर्मियों के साथ एक महत्‍वपूर्ण वीडियो कॉल पर था, तभी मेरी पत्‍नी ने अचानक बताया कि उन्‍हें डिलीवरी के लिए हॉस्पिटल जाना पड़ेगा.
यह इमर्जेंसी डिलीवरी थी और हमारे बच्‍चे समय से चार हफ़्ते पहले ही पैदा हो गए. यह भी कमाल की बात थी. मैं दोपहर 3.30 बजे ऑफिस कॉल पर था और लगभग 4.00 बजे अपनी बांहों में दो-दो बच्‍चे थामे हुआ था. समय से पहले पैदा होने के चलते, बच्‍चों को एनआईसीयू में रखा गया. उनका लगातार ध्‍यान रखा जाना और उनकी देखभाल बेहद ज़रूरी था. मैं चाहता था कि मैं भी वहीं ठहरकर एनआईसीयू की कांच की दीवार के पीछे से उन्‍हें लगातार टकटकी लगाए देखता रहूं, लेकिन मुझे वापस घर लौटना पड़ा, क्‍योंकि कोविड के चलते हॉस्पिटल ने किसी को भी वहां ठहरने की इजाज़त नहीं दी.
यह स्थिति सामान्‍य से बिल्‍कुल अलग था और मुझे उन्‍हें उनके हाल पर छोड़कर वहां से जाना पड़ा. मुझे दिन में केवल एक बार उन्‍हें देखने की अनुमति थी. यह भावनात्‍मक रूप से तकलीफ़देह अनुभव था.

यह भी पढ़ें: बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए सीखें स्पिरिचुअल पैरेंटिंग (Spiritual Parenting For Overall Development Of Children)


लेकिन असली दिक़्क़त तो तब शुरू हुई, जब उन्‍हें हॉस्पिटल से डिस्‍चार्ज कर दिया गया और वो हफ़्तेभर में घर आ गए. जैसा कि मैंने बताया कि बच्‍चे समय से पूर्व हुए थे और बहुत छोटे थे. उनके लिए काफ़ी छोटे-छोटे डायपर्स की ज़रूरत होती थी. ज़रूरी डायपर्स, फॉर्म्‍यूला मिल्‍क, दवाएं आदि लेने के लिए मुझे 8-10 फार्मेसीज का चक्‍कर लगाना पड़ता था. लॉकडाउन के चलते, ये चीज़ें आसानी से उपलब्‍ध नहीं थीं और मैं इन अत्‍यावश्‍यक चीज़ों को सीमित स्‍टॉक में ही रख पाता था, जो बमुश्किल 3-4 दिन चल पाता. यह थोड़ी हताशाजनक स्थिति थी, पर मैंने हिम्मत नहीं हारी.
मुझे केवल अपने बच्‍चों के लिए उनके ज़रूरी सामानों को जुटाने की ही चिंता नहीं थी, बल्कि साथ ही मुझे बच्‍चों की देखभाल में अपनी पत्‍नी के साथ हाथ भी बंटाना था. बच्‍चों को संभाल पाना हम दोनों के लिए ही बहुत बड़ा काम था. कई बार तो ऐसा होता कि मैं काम करता और उसे बच्‍चों को संभालना पड़ता. हालांकि, मेरे सहकर्मियों और मेरी कंपनी ने मेरा काफ़ी सहयोग किया और मुझे अपनी इच्‍छानुसार शिफ्ट में काम करने की छूट दे दी, जो सबसे ज़रूरी था.
सभी चुनौतियों के बावजूद, पिता बनने की ख़ुशी का एहसास कभी भी कम नहीं हुआ. मुझे उन्‍हें सुलाने, खिलाने-पिलाने, उनके डायपर बदलने, कपड़े धोने, फीडिंग बॉटल धोने आदि में आनंद आता था. मैं हमारे नन्हें-मुन्‍नों के साथ अपनी पत्‍नी की हरसंभव मदद करना चाहता था. मैंने जाना कि किस तरह से माता-पिता दोनों को हाथ बंटाना ज़रूरी होता है और यह सब कुछ लॉकडाउन के चलते संभव हो सका.

यह भी पढ़ें: समय से पूर्व जन्मे बच्चे जल्द सीखते हैं भाषा (Pre-Mature Babies Are Quick Language Learners)

लॉकडाउन के चलते मेरी ज़िंदगी में आए पितृत्‍व के एहसास को शब्‍दों में बयां नहीं कर सकता…

यांसन इंडिया के सीनियर प्रोडक्‍ट मैनेजर, प्रणित सुराना बताते हैं कि किस तरह से उनके पांच महीने के बेटे ने उनके जीवन में बदलाव ला दिया है.
लॉकडाउन के दौरान, लोगों की ज़िम्मेदारी कई गुना बढ़ गई है और ख़ासकर उन पैरेंट्स की रिस्‍पांसबिलिटी बहुत बढ़ गई है, जिनके बच्‍चे अभी बहुत छोटे हैं. मुझे बताते हुए गर्व हो रहा है कि मैं अब एक पिता की ज़िम्मेदारियों को बेहतर समझने लगा हूं. मैं इस लॉकडाउन के चलते मेरी ज़िंदगी में आए पितृत्‍व के एहसास को शब्‍दों में बयां नहीं कर सकता. यह मेरे लिए आशा की किरण है. मैं लॉकडाउन से पहले ऑफिस के अपने उन दिनों की याद करता हूं, जब मैं अपने सहकर्मियों के साथ घूमता-फिरता और टी-ब्रेक पर गपशप किया करता था. यूं तो ये बातें सुनने में महत्‍वपूर्ण नहीं लगती, लेकिन उन पलों की मुझे बेहद याद आती है. लेकिन अभी जब मैं घर पर रहकर अपने बच्‍चे को संभालने के साथ फुलटाइम ऑफिस मैनेज कर रहा हूं, तो मुझे जीवनसाथी का अर्थ समझ आया. इसने मुझे आराम लेने और दैनिक कार्यों को प्रभावी तरीक़े से करने के महत्‍व को बता दिया है. घर पर रहकर काम करने से, ऑफिस का काम करने और व्‍यक्तिगत जीवन को संभालने के बीच की पतली रेखा और अधिक महीन हो गई है.

यदि मैं ऑफिस जाकर काम करता, तो अपने बच्‍चे को चलने की कोशिश करने और पेट के बल पलटना देखने जैसी अद्भुत ख़ुशी का किसी भी स्थिति में आनंद नहीं ले पाता. मुझे लगता है कि इस कोविड-19 इमर्जेंसी के बीच इन बहुमूल्‍य पलों को जीने से बड़ी ख़ुशी मुझे नहीं मिल सकती थी.

ऊषा गुप्ता

अधिक पैरेंटिंग टिप्स के लिए यहां क्लिक करेंः Parenting Guide

शाहरुख़ खान से लेकर आमिर खान, अक्षय कुमार से लेकर शाहिद कपूर, सभी बॉलीवुड एक्टर्स बिज़ी होने के बावज़ूद अपने बच्चों के साथ समय बिताने के बहाने ढूंढ ही लेते है. इस क्वालिटी टाइम में वे अपने बच्चों के खूब मस्ती करते हैं, खेलते हैं, यहां तक कि उनके सारे नखरे भी उठते हैं. इस “फादर्स दे” के मौके पर हम यहां पर बॉलीवुड सुपरस्टार्स के कुछ ऐसे फनी फोटोज शेयर कर रहे हैं.

  1. ऋतिक रोशन और रेहान-रिदान
Hrithik Roshan and Rehan-Ridan

बॉलीवुड के सुपर हीरो ऋतिक रोशन सिंगल पेरेंट्स हैं. शादी के 14 साल बाद 2014 में ऋतिक और सुज़ैन खान का तलाक हो गया था. लेकिन आज भी जब  भी पैरेंटिंग ड्यूटीज की बात आती है तो ऋतिक हमेशा सबसे आगे रहते हैं. जब भी लॉन्ग वेकेशन होता है, तो ऋतिक अपने  बच्चों के साथ  निकल पड़ते हैं मौज- मस्ती करने के लिए. वे आउटडोर टूर पर साइक्लिंग, सर्फिंग या फिर रॉक क्लाइबिंग के प्लान बनाते हैं, क्योंकि दोनों बेटों को एडवेंचर स्पोर्ट्स पसंद है।  हाल ही में ऋतिक पने दोनों बच्चों के साथ अफ्रीका घूमने के लिए गए थे, वहां समंदर में पानी की तेज़  लहरों को देखकर डरने का नाटक करते हुए फनी फोटो ले, जो देखते ही देखते सोशल मीडिया पे वायरल हो गई.

2. शाहिद कपूर और मीशा कपूर

Shahid Kapoor and Misha Kapoor

शाहिद कपूर को जब भी शूटिंग से समय मिलता है , तो वह अपनी फैमिली के साथ बिताना पसंद करते है. वे उस क्वालिटी टाइमकी फोटो सोशल मीडिया पर शेयर करते रहते हैं. जब मीशा छोटी थी, तो शाहिद ने एक फनी फोटो अपने फैंस के साथ शेयर की थी, इस फोटो में मीशा और शाहिद दोनों हो  बहुत क्यूट लग रहे हैं.

3. अनिल कपूर और सोनम कपूर

Anil Kapoor and Sonam Kapoor

बॉलीवुड के यंग हीरो अनिल कपूर तीन बड़े हो चुके बच्चों के पिता हैं. उनके बच्चे करियर में सेट पूरी तरह से  सेट हो चुके हैं. जब भी उन्हें मौका मिलता हैं वे अपने बच्चों के समय जरूर बिताते हैं.हाल ही में  रिलीज़ हुई फिल्म मलंग के प्रीमियर पर अनिल कपूर अपनी बेटी सोनम के साथ आये थे. इवेंट में अनिल और सोनम का एक ऐसा फनी फोटो इंटरनेट पर वायरल हुआ,जिसके लिए उन्हें ट्रोल किया गया.

4. आमिर खान और इरा  खान

Aamir Khan and Ira Khan

बॉलीवुड के परफेक्शनिस्ट कहे जानेवाले आमिर खान अपने काम में चाहे कितने भी बिज़ी क्यों नहीं हो, अपने बच्चों के लिए समय निकालना कभी नहीं भूलते हैं. आमिर खान के तीन बच्चे हैं. व्यस्त होने के बावज़ूद वे उनके लिए बच्चों के लिए समय ज़रूर निकलते हैं. इतना ही नहीं, आमिर खान अपनी बेटी इरा के साथ भी क्वालिटी टाइम बिताते  हैं. कुछ समय पहले पिता आमिर खान और बेटी इरा का इंटरनेट पर एक फनी फोटो वायरल हुआ था , जिसमें दोनों मस्ती करते हुए दिखाई दे रहे थे. दोनों का यह फोटो बहुत फनी था,जिसके लिए उन्हें ट्रोल भी किया गया.

5. सनी देयोल और करनवीर देयोल

Sunny Deol and Karanvir Deol

रियल लाइफ में सनी देयोल बॉलीवुड की चकाचौंध से दूर रहना पसंद करते हैं. लेकिन असल जीवन में अपनी फैमिली के साथ उतनी मस्ती करते हैं. जब भी सनी अपने काम से फ्री होते हैं, तो घर पर बच्चों के साथ खूब मस्ती करते हैं. सनी दयाल के दो बेटे हैं और वे उनके साथ बहुत अधिक समय बिताते हैं.

6. सैफ अली खान और सारा अली खान

Saif Ali Khan and Sara Ali Khan

बॉलीवुड एक्टर सैफ अली खान के  बच्चे हैं.  सैफ अली खान की पहली शादी से दो बच्चे- सारा अली और इब्राहिम अली खान है. पहली पत्नी से तलाक लेले के बाद उनहोंने दूसरी शादी करीना कपूर से की. सुदृ पानी से उन्हें एक बेटा है, जिसका नाम तैमूर है. सैफ खान की बेटी  सारा अली फिल्म केदारनाथ से बॉलीवुड में. डेब्यू किया था. सैफ अपने बेटे और दूसरी पत्नी करीना कपूर वके साथ रहते हैं. लेकिन सैफ चाहे कितने भी व्यस्त क्यों न हो. वे अपने तीनो. बच्चों के साथ समय बिताते हैं. कुछ साल पहले इंटरनेट पर पिता सैफ और बेटी सारा का बैडमिंटन खेलते हुए एक फोटो वायरल हुए थी, जो दर्शकों को बहुत फनी लगी.

7. शाहरूख खान और अबराम

Shahrukh Khan and Abram

हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में रोमांस के बादशाह कहे जाने वाले शाहरूख खान बॉलीवुड के सबसे व्यस्तम अभिनेताओं में से एक हैं.  शाहरुख खान अपनी फ़िल्मों, विज्ञापनों और दूसरी एक्टिविटीज़ में चाहे भी कितने बिजी क्यों न हो. अपने तीनों बच्चों- सुहाना, आर्यन और अबराम के लिए उनके पास समय ही समय होता है.वक्त मिलने पर कई बार शाहरुख़ बेटी सुहाना के साथ क्रिकेट खेलते हैं, तो अनेकों बार प्यारे अबराम के साथ बच्चे भी बन जाते हैं.

8. अक्षय कुमार और नितारा

Akshay Kumar and Nitara

बॉलीवुड के खिलाडी कुमार यानि अक्षय कुमार की गिनती भी सबसे बिज़ी एक्टर्स में होती हैं. लेकिन अक्षय चाहे कितने भी व्यस्त क्यों  न हो उनके लिए बच्चे सबसे पहले आते हैं. इसलिए तो मौका मिलते ही अक्षय कुमार बेटी नितारा के साथ वॉक पर निकल जाते हैं, खासतौर पर बारिश के बाद. वे नितारा के साथ बैठकर स्टोरीज रीडिंग करते हैं, यहां तक कि बेटी नितारा से पैर पर नेल पेंट भी लगवाते हैं.

यह भी पढ़ें: १० बॉलीवुड एक्टर्स, जिन्हें अपने डायरेक्टर्स से मिले बेहद क़ीमती गिफ्ट्स (10 Bollywood Actors Who Received Expensive Gifts From Their Directors)

वे रील लाइफ में जितनी संजीदगी और शिद्दत से अपने क़िरदार में जान फूंकते हैं, रियल लाइफ में पिता (Father) के रूप में अपनी ज़िम्मेदारियों को भी उतनी ही कुशलता व परिपक्वता से निभाते हैं. जी हां, हम बात कर रहे हैं बॉलीवुड (Bollywood) के कुछ यंग और डैशिंग अभिनेताओं की, जो परफेक्ट पिता (Perfect Father) के मापदंडों पर शत-प्रतिशत खरे उतरते हैं.

Bollywood's Super Cool Dad

अक्षय कुमार

सुनहरे पर्दे पर अपने ख़तरनाक स्टंट्स से दर्शकों का दिल जीतनेवाले अक्षय रियल लाइफ में बेहद ज़िम्मेदार पिता हैं. हालांकि वे अपने बेटे आरव और बेटी नितारा को लाइम लाइट से दूर रखते हैं, लेकिन अक्सर सोशल मीडिया पर उनके पिक्स शेयर करते रहते हैं. अक्षय अपने सुपर बिज़ी शेड्यूल से समय निकालकर बच्चों के साथ क्वालिटी टाइम बिताना नहीं भूलते. यहां तक कि उन्होंने अपनी पीठ पर बेटे आरव के नाम का टैटू भी बनवाया है.

शाहरुख़ ख़ान

आर्यन, सुहाना और अबराम के पिता शाहरुख़ ख़ान निसंदेह बॉलीवुड के कूलेस्ट डैड हैं. छोटे बेटे अबराम को कहानियां सुनाने से लेकर, सुहाना और आर्यन के कॉलेज इंवेट्स अटेंड करने तक, शाहरुख़ पिता का कर्त्तव्य निभाने में कोई कसर नहीं छोड़ते. एक इंटरव्यू में बच्चों के साथ अपने रिश्ते पर बात करते हुए शाहरुख़ ने एक बार कहा था, “मेरे ज़्यादा दोस्त नहीं हैं. मेरे बच्चे ही मेरे सबसे क़रीबी मित्र, मेरे बेस्ट फ्रेंड्स हैं. मैं उनके साथ अपने गहरे राज़, अपनी ख़ुशियां और अपने ग़म सब कुछ शेयर करता हूं.”

अभिषेक बच्चन

अभिषेक बच्चन बेहद ही प्रोटेक्टिव पिता हैं, जो बेटी आराध्या की छोटी-से-छोटी ख़ुशी का ख़्याल रखते हैं. आराध्या को शूट्स में साथ ले जाने से लेकर खाली समय में उसके साथ समय बिताने तक, अभिषेक ख़ुशी-ख़ुशी आराध्या का हर काम करते हैं. एक इंटरव्यू में उन्होंने पिता के रूप में अपने अनुभव शेयर करते हुए कहा,“शूटिंग या बाहर से घर में आते ही मैं सबसे पहले आराध्या को देखना चाहता हूं. एक पिता होने की ख़ुशी क्या होती है, ये जब आप बाप बनते हैं, तभी पता चलता है.” अभिषेक के अनुसार, बच्चे की देखभाल करना स़िर्फ मां का काम नहीं होता, बल्कि दोनों को साथ मिलकर यह ज़िम्मेदारी निभानी चाहिए.

आयुष्मान खुराना

मल्टी टैलेंटेड एक्टर आयुष्मान खुराना जितने उम्दा अभिनेता हैं, रियल लाइफ में उतने ही अच्छे पिता भी. जी हां, आयुष्मान खुराना दो प्यारे-प्यारे बच्चों, विराजवीर और विरुष्का के पिता हैं. सोशल मीडिया पर पिता के रूप में अपनी भावनाओं को शेयर करते हुए आयुष्मान ने एक बार लिखा था,“मैं महत्वाकांक्षी नहीं हूं, लेकिन मेरे बच्चे मुझे मेरे जीवन का लक्ष्य देते हैं और मुझे उनका रियल हीरो बनने की प्रेरणा देते हैं.”

ऋतिक रोशन

बॉलीवुड के सुपर हीरो ऋतिक रोशन ने भले ही अपनी पत्नी सुज़ैन ख़ान से तलाक़ ले लिया है, लेकिन वे पिता के रूप में अपनी ज़िम्मेदारी निभाने से कभी पीछे नहीं हटते. वे अक्सर अपने दोनों बेटों रेहान और रिधान के साथ क्वॉलिटी टाइम स्पेंड करने के लिए उन्हें अलग-अलग देशों में एडवेंचर ट्रिप्स पर ले जाते हैं. उनका सोशल मीडिया अकाउंट इस तरह के पिक्स से भरा हुआ है. आपको यह जानकर आश्‍चर्य होगा कि कि ऋतिक अपने बेटों को मेंटली स्ट्रॉन्ग बनाने के लिए उनके लिए कॉमिक स्ट्रिप्स और कहानियां भी क्रिएट करते हैं.

यह भी पढ़ेफादर्स डे स्पेशल: सख़्त होती मॉम- कूल होते पापा (Fathers Day Special: Strict Mom And Cool Dad)

शाहिद कपूर

चॉकलेटी हीरो शाहिद कपूर एक कंप्लीट फैमिली मैन हैं. वे दो प्यारे-प्यारे बच्चों मीशा और ज़ैन कपूर के पिता हैं. शाहिद ने तो मीशा के जन्म के समय बाकायदा पैटरनिटी लीव लेकर अपनी पत्नी मीरा कपूर के साथ समय बिताया था. इस बारे में बात करते हुए शाहिद ने कहा, “मीरा महज़ 22 साल की उम्र में मां बन गई थी. ऐसे में उसे मेरे सपोर्ट और साथ की बहुत ज़रूरत थी, जो मैंने दिया.” उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा था, “पिता बनने के बाद जीवन के प्रति मेरा नज़रिया पूरी तरह बदल गया है और मैं पहले से ज़्यादा मैच्योर और फोकस्ड हो गया हूं.”

रितेश देशमुख

रितेश देशमुख के रिहान और राहेल दो बेटे हैं. उनका सोशल मीडिया अकाउंट उनके बच्चों के पिक्स से भरा हुआ है. रितेश को अपने बच्चों के साथ ज़्यादा से ज़्यादा समय बिताना बेहद पसंद है.

करण जौहर

करण जौहर हीरो तो नहीं हैं, लेकिन वे फिल्म इंडस्ट्री की जानीमानी हस्ती हैं. करण भी तुषार की तरह सिंगल फादर हैं. वे यश और रूही दो प्यारे-प्यारे बच्चों के पिता हैं, जिनका जन्म सेरोगेसी के माध्यम से हुआ है. करण अक्सर सोशल मीडिया पर अपने बच्चों की तस्वीर व वीडियोज़ शेयर करते रहते हैं. एक इंटरव्यू में पिता बनने के अपने निर्णय पर बात करते हुए करण ने कहा था, “पहले मेरी ज़िंदगी में बहुत खालीपन था, जिसे मेरे बच्चों ने भर दिया. मैं उनका पिता भी हूं और मां भी. हालांकि यह रोल बहुत चुनौतीपूर्ण है, लेकिन मैं इसे पूरी ईमानदारी से निभाने की कोशिश करता हूं.”

आमिर ख़ान

फिल्म दंगल में भले ही आमिर ख़ान ने हानिकारक बापू की भूमिका निभाई थी, लेकिन रियल लाइफ में वे बहुत एडोरबल डैडी हैं. आमिर के तीन बच्चे हैं, जो मीडिया की लाइमलाइट से दूर रहते हैं, लेकिन आमिर मौक़ा मिलने पर उनकी तस्वीरों को सोशल मीडिया पर ज़रूर शेयर करते हैं. आमिर ने अपने बच्चों को अपना करियर चुनने की पूरी आज़ादी दे रखी है. पहली शादी टूटने के बावजूद वे इरा और जुनैद के बेहद क़रीब हैं.

तुषार कपूर

बॉलीवुड के कूलेस्ट डैडी की लिस्ट में तुषार कपूर का ज़िक्र आना इसलिए ज़रूरी है कि क्योंकि वे सिंगल फादर हैं. उनका बेटा लक्ष्य दो साल का है. तुषार पिता और मां दोनों की ज़िम्मेदारी बख़ूबी निभाते हैं. इतना ही नहीं, उनकी पूरी दिनचर्या लक्ष्य के हिसाब से सेट है, ताकि वे अपने बेटे के साथ ज़्यादा से ज़्यादा समय बिता सकें.

यह भी पढ़ेफादर्स डे पर विशेष- पापा कहते हैं… (Father’s Day Special- B-Town Celebs ‘Love Messages’ For Their Fathers)

अर्जुन रामपाल

इंडस्ट्री के मोस्ट हैंडसम हीरो होने के साथ-साथ अर्जुन रामपाल दो बेटियों मिहिका और मायरा रामपाल के पिता भी हैं. वे अपनी पत्नी मेहर जेसिया से अलग हो चुके हैं, लेकिन अपनी बेटियों को पूरा समय देते हैं. उन्होंने अपने हाथ पर बेटियों के नाम का टैटू भी बनवाया है. हाल ही में अर्जुन ने इस बात का खुलासा किया कि वे फिर से पिता बननेवाले हैं. उनकी गर्लफ्रेंड प्रेग्नेंट हैं.

सैफ अली ख़ान

बॉलीवुड के कूलेस्ट डैडी की बात हो, तो इंडस्ट्री के मोस्ट फोटोग्राफ्ड किड तैमूर अली ख़ान के पिता सैफ अली ख़ान का ज़िक्र आना स्वाभाविक है. सैफ अली ख़ान तैमूर के साथ सारा और इब्राहिम के भी पिता हैं, जिनके साथ उनका व्यवहार बेहद दोस्ताना है. उनकी बड़ी बेटी सारा बॉलीवुड में एंट्री कर चुकी हैं, जबकि इब्राहिम पढ़ाई कर रहा है. सैफ ने एक इंटरव्यू में पिता के रूप में अपने दायित्व के बारे में कहा था, “बच्चे का डायपर चेंज करने के बारे में बताना फैशनेबल हो गया है. यह हर कोई करता है. यह कोई बड़ी बात नहीं है. बड़ी बात तो बच्चे के साथ पूरा दिन रहना और उसका ख़्याल रखना है. हम लकी हैं कि ऐसा करने में सफल हो पा रहे हैं.”

– शिल्पी शर्मा

यह भी पढ़ेHappy Father’s Day! पापा को स्पेशल फील कराएं बॉलीवुड के इन 10 गानों के साथ (Father’s Day Special: Top 10 Bollywood Songs)

main_image-169696priyankaSunny-Deol-nice-hd-wallpapersalia-bhatt-12a160489-shahid-kapoorvivek oberoi
पिता- एक आधार, विश्‍वास, आदर्श, प्रेरणास्रोत, मार्गदर्शक, बेस्ट फ्रेंड, सुपर हीरो… हर शख़्स के दिल में अपने पिता के लिए जाने कितनी ही तरह की भावनाएं बहती रहती हैं. फिल्मी सितारे भी इससे अछूते नहीं हैं. देखें, अपने पिता के बारे में क्या कहते हैं कलाकार.

 

मिस यू…
मेरे पिता एक हैंडसम पठान थे. तमाम ख़ूबियों के बावजूद वे सादगीभरा जीवन जीने में विश्‍वास करते थे. वे मुझसे व मेरी बहन से दोस्ताना व्यवहार करते थे. बड़े-बुज़ुर्ग को मान-सम्मान देना, कड़वी बातों को भूल जाना व हालात कैसे भी हों, सच का दामन नहीं छोड़ना, ये हमने उनसे ही सीखा है. मैंने बहुत पहले उन्हें खो दिया था. आज भी उन्हें मिस करता हूं. फादर्स डे पर अपने पिता के बारे में सोचकर काफ़ी दुखी हूं कि वे आज हमारे बीच नहीं हैं, पर अपने बच्चों के बारे में सोचकर काफ़ी ख़ुश हूं कि उन्हें उतना भरपूर प्यार दे पा रहा हूं, जितना मेरे वालिद मुझे दिया करते थे.

– शाहरुख ख़ान

मेरे पापा मेरे हीरो…
सभी को फादर्स डे मुबारक हो! मेरे पापा मेरे हीरो रहे हैं. मेरी ज़िंदगी में उनकी जो जगह रही है, उसे न कोई ले सकता है और न ही कोई उनकी कमी को पूरा कर सकता है. उनसे मैंने बहुत कुछ सीखा, समझा व जाना है. वे मेरे सबसे अच्छे दोस्त भी थे. थैंक यू पापा.

– प्रियंका चोपड़ा

पापा पर हमें नाज़ है…
मेरे डैडी ऊपर से जितने मज़बूत दिखते हैं, अंदर से उतने ही नरम दिल इंसान हैं. मुझे इस बात की बेहद ख़ुशी होती है, जब लोग कहते हैं कि मैं अपने डैडी की तरह हूं. मेरा यह मानना है कि यदि मैं अपने डैडी की तरह पचास प्रतिशत भी हूं, तो मैं सफल अभिनेता हूं. डैडी को मेरा अभिनय इतना अच्छा लगता है कि यदि कोई मेरी आलोचना कर दे, तो नाराज़ हो जाते हैं.

– सनी देओल

जीने का नज़रिया डैड से सीखा…
मेरे डैड के ही कारण मैं यह समझ सका कि ज़िंदगी में आगे बढ़ना, सफल होना आसान नहीं होता, इसके लिए आपको कड़ी मेहनत करनी पड़ती है. डैड अपने काम के प्रति पूर्ण रूप से समर्पित हैं व उनमें धैर्य भी बहुत है. मैंने सही मायने में ज़िंदगी जीने का नज़रिया अपने डैड से ही सीखा है. मैं चाहता हूं कि मैं भी उनकी तरह एक नेक दिल इंसान बनूं.

– रितिक रोशन

उनके ख़्वाब को पूरा कर सका…
मैं आज जो कुछ भी हूं, उसमें मेरी मेहनत के अलावा मेरी मां-पापा की दुआएं भी शामिल हैं. मेरे पापा हमेशा कहते थे कि एक दिन मैं उनका नाम ज़रूर रोशन करूंगा. मुझे इस बात की ख़ुशी है कि इसमें मैं कुछ हद तक सफल रहा और उनके ख़्वाब को पूरा कर सका. पापा ने हमेशा ही मुझे सीख दी कि कामयाबी की बुलंदियों को छूना है, तो हमेशा सिंपल रहो यानी सफलता का गुरूर ख़ुद पर न होने दो.

– शाहिद कपूर

उनकी बेटियां सदा उनके पास रहें…
हर पिता की तरह मेरे पापा भी मेरी शादी नहीं करना चाहते हैं. पापा नहीं चाहते कि मैं और मेरी बहन शाहीन उन्हें छोड़कर कहीं जाएं. वे बहुत ही भावुक क़िस्म के इंसान हैं. वे तो हमारी शादी भी नहीं करना चाहते. उनकी बस यही चाहत है कि उनकी बेटियां सदा उनके पास रहें.

आलिया भट्ट

ख़ुद को सौभाग्यशाली मानता हूं…
पापा को अपने जीवन में पाकर मैं ख़ुद को बेहद सौभाग्यशाली मानता हूं. उन्होंने हमेशा ही न स़िर्फ मेरा मार्गदर्शन किया, बल्कि जीवन से जुड़ी खट्ठी-मीठी सच्चाइयों के बारे में बताया. उनकी ईमानदारी मुझे छूती है. वे कभी भी दिखावा नहीं करते. जब उन्होंने बर्फी देखी थी, तो उन्हें मेरा काम व फिल्म अच्छी लगी, पर उनका कहना था कि मैं आर्ट टाइप की फिल्में न करूं, क्योंकि वो सिनेमा थोड़ा अलग होता है. मैं उनकी सलाह का सम्मान करता हूं. वे बॉम्बे वेल्वेट में मेरे काम से ख़ुश हैं, जो मुझे और भी बेहतरीन करने के लिए प्रेरित करता है.

– रणबीर कपूर

भरपूर प्यार-प्रोत्साहन मिला…
मेरे पिता नंबर वन हैं. उन्होंने हम सभी के लिए अपनी ज़िंदगी में अब तक जो कुछ भी किया है, उसका कोई मोल नहीं है. उन्होंने हमेशा ही मेरा हौसला बढ़ाया है. मैंने अपने पिता को अपना आइडियल मानते हुए ही स्टंट हीरो के तौर पर अपने करियर की शुरुआत की थी. जितना प्यार और प्रोत्साहन मुझे अपने डैडी से मिला, उतना किसी से नहीं मिला. मुझे उन पर गर्व है.

– अजय देवगन

मैं भी उनकी तरह सुपरस्टार बनूं…
डैडी मुझे बेहद प्यार करते हैं. मेरी मुस्कुराहट व ख़ुशी के लिए न जाने कितने जतन करते हैं. डैडी का इतना प्यार देखकर मुझे लगता है कि दुनिया की सारी ख़ुशियां उनके क़दमों में लाकर रख दूं. मैं चाहता हूं कि मैं भी उनकी तरह ही सुपरस्टार बनूं, ताकि उन्हें भी मुझ पर वैसे ही गर्व हो, जैसे मुझे उन पर होता है.

– अभिषेक बच्चन

पिता को याद करता हूं, तो सुकून मिलता है…
मेरी ज़िंदगी में मेरे माता-पिता से बढ़कर कोई नहीं रहा, इसलिए मैंने हमेशा वही किया, जिससे उन्हें दिली ख़ुशी मिले. मेरे पिता हमेशा
चाहते थे कि मैं एक सफल अभिनेता बनूं, क्योंकि उन्होंने मुझे फिल्मों के लिए भटकते व ख़ूब संघर्ष करते हुए देखा था. लेकिन हमेशा मेरा हौसला बढ़ाते रहते थे और कहते थे कि मैं एक दिन ज़रूर कामयाब कलाकार बनूंगा. उनकी दुआओं का ही असर था कि मुझे न स़िर्फ फिल्में मिलीं, बल्कि सफल भी रहीं.

– गोविंदा

डैडी को हमेशा मुस्कुराते देखा…
अपने डैडी पर मुझे गर्व है. मैंने उनसे ही सीखा है कि यदि इरादे बुलंद हों, तो रास्ते अपने आप बनते जाते हैं. बस, आपमें कुछ कर दिखाने का जज़्बा होना चाहिए. संघर्ष के दौर में भी उन्होंने कभी हार नहीं मानी व इंडस्ट्री में अपनी एक अलग पहचान बनाई. हालात चाहे जैसे भी रहे हों, मैंने उन्हें हमेशा मुस्कुराते हुए देखा. अपने पिता की तरह मैं भी कुछ ऐसा ही करना चाहता हूं.

– विवेक ओबेरॉय

पापा को मुझ पर फ़ख़्र महसूस हो…
मेरी हमेशा यह ख़्वाहिश रहती थी कि मैं कुछ ऐसा कर दिखाऊं, जिससे मेरे पापा को मुझ पर फ़ख़्र महसूस हो. वे सख़्त स्वभाव के ज़रूर थे, पर उनका दिल बहुत कोमल था. वे जानते थे कि मैं कामयाब बन सकता हूं, पर वे चाहते थे कि मैं अपने बलबूते पर कुछ बनकर दिखाऊं. इसलिए मानसिक तौर पर भले ही उन्होंने मेरा साथ दिया, पर हीरो बनने के लिए मेहनत व संघर्ष मुझे ही करना पड़ा, लेकिन उनके इस नज़रिए ने मुझे हमेशा ही प्रभावित व प्रेरित किया.

– आमिर ख़ान

आई लव यू पापा…
मेरे पिता मेरे हीरो हैं. उनके जैसा कोई नहीं है. मुझे उनकी बेटी होने पर गर्व है. आई लव यू पापा.

– सोनम

amitabh

अमिताभ बच्चन- परिवार को जोड़े रखती हैं बेटियां…
बेटियां पिता की कमज़ोरी होती हैं व हमेशा रहेंगी. परिवार में बेटी के होने का आनंद उठाएं. बेटियां बहुत ख़ास होती हैं और वे परिवार को जोड़े रखने में भी मदद करती हैं. वे घर की आत्मा बन जाती हैं. वे उस प्यार, स्नेह व अपनेपन से हम सभी को अपना बना लेती हैं. वे विश्‍लेषण करती हैं, हिदायत देती हैं, रक्षा करती हैं, नियम बनाती हैं व उस नाज़ुक धागे को आगे बढ़ाती हैं, जो पूरे परिवार को एक साथ बांधे रखता है. वे सलाहकार हैं, ख़्याल हैं, पथ-प्रदर्शक हैं, वाक़ई में वे सर्वोच्च हैं.

– ऊषा गुप्ता

fathers-day (1)

हर बच्चे के लिए उसके पापा उसके सुपरहीरो होते हैं. मदर्स डे तो जमकर सेलिब्रेट किया जाता है, लेकिन अक्सर हम अपने लाइफ के सबसे अहम् इंसान यानी पापा को थैंक्यू बोलना भूल जाते हैं. बॉलीवुड की फिल्मों में मां की ममता को तो बड़ी ही ख़ूबसूरती से दिखाया जाता रहा है, लेकिन पिता के प्यार पर कम ही फिल्में और गाने बने हैं. फिल्मों में अक्सर पिता को बेहद ही स्ट्रिक्ट या गुस्सैल दिखाया जाता रहा है. ख़ैर पिता पर भले ही बहुत ज़्यादा गाने न बने हों, लेकिन जितने भी बने हैं, वो बेहद ही प्यारे हैं. फादर्स डे पर अपने पापा को ख़ास फील कराएं बॉलीवुड के गानों के साथ.

इस ख़ास मौक़े पर हम आपके लिए ले आए हैं बॉलीवुड के 10 गानें, जो पिता और बच्चे के प्यारे से रिश्ते पर बने हैं. आप भी देखें ये गानें और अपने पापा को थैंक्यू बोलें.

फिल्म- दंगल

फिल्म- कयामत से कयामत तक

फिल्म- मैं प्रेम की दीवानी हूं

फिल्म- पापा कहते हैं

फिल्म- मासूम

https://www.youtube.com/watch?v=LZ_YUOr-tYw

फिल्म- मैं ऐसा ही हूं

फिल्म- अकेले हम अकेले तुम

फिल्म- रिश्ते

https://www.youtube.com/watch?v=3Y7Fk8f1ElQ

फिल्म- जानवर

https://www.youtube.com/watch?v=DANe5IdszWc

फिल्म- हे बेबी