Film Idustry

कोरोना वायरस को लेकर हर दिन नई-नई बातें और खुलासे हो रहे हैं. टीवी, फिल्मों, वेब सीरीज़ आदि में किस सीन, बोल्ड सीन को लेकर एक तबका बेहद परेशान रहता था. अब सुनने में आया है कि कलाकार चुंबन वाले दृश्य यानी किसिंग सीन्स देने से परहेज़ कर रहे हैं. ताइवान में तो बकायदा टीवी शोज़ और फिल्मों में दिखाए जानेवाले सीन्स की शूटिंग पर रोक लग गई है. कुछ कलाकार किस वाले सीन करने से डर रहे हैं, तो कुछ हिचक रहे हैं. क्योंकि उनका यह सोचना है कि इससे कोरोना वायरस फैलने का ख़तरा अधिक है.

लेकिन इसके ठीक विपरीत कुछ देश के फिल्म इंडस्ट्री के लोग ऐसे भी है, जो इस गंभीर बीमारी को प्रेम प्रदर्शन की आड़ में भुनाने में लगे हुए हैं. वे कोरोना वायरस संक्रमित लोग कैसे प्यार करें जैसी एडल्ट फिल्में बना रहे हैं. लोगों में इसे लेकर उत्सुकता व रोष दोनों भी है. मुंह पर मास्क लगाकर, ग्लव्स पहनकर प्यार करते हुए कपल दिखाए जा रहे हैं पोर्न साइट्स पर. इन फिल्मों की डिमांड भी बढ़ रही है.

सूत्रों के अनुसार, कुछ लोगों का कहना और अफ़वाह तो यह भी उड़ रही है कि यह अमेरिका और चीन की मिलीभगत है. दोनों की यह बहुत बड़ी साजिश के तले दुनियाभर में कोरोना वायरस का हाहाकार मचा हुआ है. इसके पहले भी एचआईवी वायरस को लेकर अस्सी के दशक में दो देशों ने षडयंत्र रचा था. वैसे भी दुनियाभर में एक कमज़ोरी खुलकर उजागर हुई है कि यदि आप किसी बात और चीज़ को लेकर कोहराम मचाते हैं और उसे हव्वा बनाते है, तो राज्य, देश ही नहीं, पूरी दुनिया हाई अलर्ट पर चली जाती है. अब इस बात में कितनी सच्चाई है, वो तो अफ़वाह फैलानेवाले लोग ही जानें, लेकिन इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि तिल का ताड़ बनते देर नहीं लगती, बस आपकी प्लानिंग फूलप्रूफ यानी सुनियोजित होनी चाहिए.

शाहीन बाग का ही केस ले लें. कई महीनों से सीएए के विरोध को लेकर हो हल्ला मचा था. लेकिन जैसे ही दिल्ली इलेक्शन ख़त्म हुए, ताहिर हुसैन पकड़ में आया, वैसे ही शाहीन बाग विरान होने लगा. अब कहां गईं वे सभी महिलाएं, जो विरोध का बिगुल बजा रही थीं. यह साजिश थी या स्वदेशी-विदेशी असामाजिक देश विरोधी लोगों की ताक़त, ये तो ऊपरवाला ही जानें. लेकिन आग लगाने का काम ये ग़लत लोग बख़ूबी जानते हैं, बस चिंगारी फेंकने की देर है.

कोरोना अलर्ट

फिल्मी हस्तियां कोरोना को लेकर सावधानियां और दार्शनिक बातें करने से भी पीछे नहीं है.

कुछ समय पहले कमाल ख़ान ने कहा था कि काश कोरोना वायरस भारत में आ जाए, जिससे हिंदू-मुस्लिम, धर्म को लेकर लड़ाई करते लोग इसे भूल एकजुट हो कोरोना वायरस जैसे जानलेवा वायरस से लड़ें.

वहीं राखी सांवत तो होली को लेकर ही चेतावनी दे रही हैं और चीन से आए हुए रंगों को न ख़रीदने का आग्रह कर रही हैं.

कृति सेनॉन ने तो प्लेन में मास्क लगाए घुटन में अकेले बैठे अपनी स्थिति शेयर की. इस पर कई ने उनका मज़ाक उड़ाया, तो किसी ने हैरानी ज़ाहिर की.

फिल्म इंडस्ट्री में इसे लेकर गहमागहमी तब अधिक हुई, जब रितिक रोशन, प्रभाष, परिणीती चोपड़ा, ताहिरा कश्यप आदि लोग कोरोना वायरस से बचने के लिए चेहरे पर मास्क और ग्लव्स पहनें नज़र आए. धीरे-धीरे समय के साथ इसका कहर दुनियाभर की फिल्म इंडस्ट्री में फैलता चला गया.

इन सब के बीच हम यही कहना चाहेंगे कि यदि आपकी रोगप्रतिरोधक क्षमता मज़बूत है. आप हेल्दी लाइफस्टाइल जीते हैं. सावधानी के साथ बेसिक नियमों का पालन करते हैं, तो आपको कोरोना को लेकर बिल्कुल नहीं है रोना…

यह भी पढ़े: कोरोनावायरस से बचने के लिए करें ये घरेलू उपाय (10 Home Remedies To Avoid Coronavirus)