Tag Archives: Film Industry

सोनम कपूर- शादी के बाद ज़िम्मेदारियां व प्राथमिकताएं बदल जाती हैं… (Sonam Kapoor- Responsibilities And Priorities Change After Marriage…)

सोनम कपूर (Sonam Kapoor) कम फिल्में करती हैं, पर जो भी करती हैं दिलचस्प होती हैं, जैसे द ज़ोया फैक्टर. इसके व उनकी पर्सनल लाइफ से जुड़ी बातों के बारे में जानते हैं.

Sonam Kapoor

* मुझे ख़ुशी है कि अनुजा चौहान के उपन्यास पर आधारित अभिषेक शर्मा द्वारा निर्देशित मेरी फिल्म द ज़ोया फैक्टर को लोगों ने पसंद किया. जब इस फिल्म के लिए सचिन तेंदुलकर ने ट्वीट किया, तब भी मुझे बेहद ख़ुशी हुई थी. इस तरह की फिल्म करने का एक अलग ही मज़ा है.

* फिल्म इंडस्ट्री में हमेशा से ही पुरुषों का बोलबाला रहा है. यहां तक कि महिला निर्देशक भी एक्टर को ध्यान में रखकर पुरुष प्रधान फिल्में ही अधिक करती हैं, जबकि उन्हें महिला प्रधान फिल्मों पर अधिक ध्यान देना चाहिए, फिर चाहे वो फराह ख़ान हों या ज़ोया अख़्तर. नायिका प्रधान फिल्में बहुत कम ही बनती हैं. बॉलीवुड में हीरोइन को अपनी पहचान बनाने के लिए अधिक संघर्ष करना पड़ता है.

* हीरोज़ भी महिला प्रधान फिल्मों में काम नहीं करना चाहते. मेरी कई फिल्में, जो नायिका प्रधान थीं, के लिए हीरोज़ ढूंढ़ने में मुश्किलें आईं.

* मेरा यह मानना है कि अपने बेस्ट फ्रेंड से शादी करना हमेशा अच्छा रहता है. मेरे और पति आनंद के बीच ग़ज़ब की ट्यूनिंग है, ऐसा हमारी दोस्ती के कारण है. हम एक-दूसरे के विचारों व मूल्यों का पूरा सम्मान करते हैं.

Sonam Kapoor

* मैं जब उठती हूं, तब आनंद बिस्तर पर नहीं होते. दरअसल, उन्हें सुबह जल्दी उठने की आदत है और वे रात में 10 बजे तक सो भी जाते हैं. जबकि मैं थोड़ा देरी से सोती हूं. वैसे हम दोनों को लेट नाइट पार्टीज़ पसंद नहीं, तो हम रात में कहीं बाहर भी नहीं जाते हैं.

* आनंद बहुत अच्छे जीवनसाथी हैं. वे शांत स्वभाव के हैं. मुझे पूरा स्पेस भी देते हैं. मेरा यह मानना है कि शादी के बाद हमें एक और नया परिवार मिलता है. तब हमारी ख़ुशियां, ज़िम्मेदारियां व प्राथमिकताएं भी बदल जाती हैं. हम दोनों के साथ भी ऐसा ही हुआ, पर हम दोनों ने आपने दोनों परिवारों के साथ अच्छा बैलेंस बनाकर रखा है. हम ख़ुश हैं और हर लम्हे को एंजॉय करते हैं.

Sonam KapoorSonam Kapoor Sonam Kapoor Sonam Kapoor

सोनमनामा…

* सोनम के सना, जिराफ व सोंज निक नेम्स हैं.

* हिंदी व अंग्रेज़ी के अलावा उन्हें पंजाबी, मराठी व उर्दू भाषा की अच्छी जानकारी है.

* उन्हें लिखना-पढ़ना, शॉपिंग, वीडियो गेम, बास्केट बॉल व स्न्वॉश खेलने का बहुत शौक है.

* शास्त्रीय संगीत, कत्थक व लेटिन डांस का भी उन्होंने बाक़ायदा प्रशिक्षण लिया है.

* जेब ख़र्च के लिए सोनम ने वेट्रेस के रूप में नौकरी भी की है.

* मोटापे के लिए आलोचना करने पर उन्होंने अपने बॉयफ्रेंड के साथ रिश्ता तोड़ दिया था.

* उन्होंने सिंगापुर में थिएटर व आर्ट की पढ़ाई की है.

* ब्लैक फिल्म में संजय लीला भंसाली के असिस्टेंट डायरेक्टर से करियर की शुरुआत की.

* अपनी पहली फिल्म सांवरिया के लिए सोनम ने दो साल में 35 किलो वज़न कम किया था.

* स्टाइल आयकॉन सोनम की मां सुनीता कॉस्ट्यूम डिज़ाइनर हैं, साथ ही वे मॉडल भी रह चुकी हैं.

* जल्द ही सोनम को पॉलिटिक्स करते हुए भी देखा जाएगा. दरअसल, सोनम का इरादा राजनीति में आने का है.

ऊषा गुप्ता

Sonam Kapoor

यह भी पढ़ेआयुष्मान खुराना- मां के सामने उस फैन ने स्पर्म की डिमांड की. (Ayushmann Khurrana- That Fan Demanded Sperm In Front Of My Mother)

अर्श से फर्श तक: बॉलीवुड के रिच स्टार्स, जिनकी मुफलिसी उन्हें सड़क पर ले आई थी! (Bollywood Stars Who Turned From Rich To Poor)

Stars Who Turned From Rich To Poor

अर्श से फर्श तक: बॉलीवुड स्टार्स, जिनकी मुफलिसी उन्हें सड़क पर ले आई थी! (Bollywood Stars Who Turned From Rich To Poor)

बॉलीवुड के लिए कहा जाता है कि यहां स़िर्फ चढ़ते सूरज को ही सलाम किया जाता है, व़क्त के साथ-साथ बड़े से बड़े सितारे यहां गुमनामी के अंधेरे में खो जाते हैं. यहां हम उन मशहूर फिल्म स्टार्स का ज़िक्र करेंगे, जो अपने समय के सुपर स्टार थे, लेकिन मुफलिसी ने उन्हें इस कदर घेरा कि वो सड़क पर आ गए.

मीना कुमारी: ट्रेजडी क्वीन मीना कुमारी ने जिस तरह सिल्वर स्क्रीन पर अपने हर किरदार को ज़िंदा किया, उससे सभी उनकी अदाकारी के कायल हो गए. लेकिन इनकी पर्सनल लाइफ में भी ट्रेजडी की कमी नहीं थी. ताउम्र प्यार के लिए तरसती मीना ने अपने अंतिम समय में भी ख़ुद को तन्हा ही पाया और उनके अंतिम समय में अस्पताल के बिल तक चुकाने के पैसे उनके पास नहीं थे. मीना कुमारी की ख़ासियत यह थी कि वो पारंपरिक मुसलमान लड़कियों से बहुत अलग थीं. वो बहुत अच्छी शायरा भी थीं, उनका अल्कोहॉलिक होना भी यह दर्शाता है कि ज़िंदगी से उन्होंने जो चाहा, वो उन्हें नहीं मिला. उनके परिवार ने उन्हें पैसा कमाने का मात्र एक ज़रिया समझा और यही वहज है कि जब कमला अमरोही से उनकी शादी हुई, तो परिवार को लगा कि मीना ने उन्हें धोखा दिया. मीना ख़ुद कहती थीं कि उन्हें लगता है भगवान से उन्हें शाप दिया है कि उनकी फिल्मों की ट्रेजडी रियल लाइफ में भी वो महसूस करें.

परवीन बाबी: 80 के दशक की हॉट, ग्लैमरस गर्ल परवीन अपने बोल्ड और बिंदास अंदाज़ के लिए मशहूर थीं. लेकिन परानॉइड स्किज़ोफ्रेनिया के चलते उनका एक्टिंग करियर व उनकी पर्सनल लाइफ भी प्रभावित होने लगी थीं. परवीन भी सच्चे प्यार की तलाश में रहीं और अंत में ख़ुद को तन्हा ही पाया. मुंबई के एक फ्लैट में अकेले रहते हुए ही उनकी मौत हो गई और उनके पड़ोसियों को यह बात तब पता चली, जब तीन दिन से उनके घर के बाहर दूध व अंडे यूं ही पड़े रहे. परवीन राज घराने में पैदा हुई थीं, लेकिन दुख की बात यह है कि परवीन के परिवार की तरफ़ से भी उनकी बॉडी तक क्लेम करने कोई नहीं आया और अंतत: महेश भट्ट ने उनका अंतिम संस्कार किया.

विमी: बी आर चोपड़ा की हमराज़ की इस ब्यूटी क्वीन से उस व़क्त सबका ध्यान अपनी ओर खींच लिया था. रातोंरात विमी स्टार बन चुकी थीं, लेकिन अपनी पर्सनल लाइफ में समस्याओं के चलते उन्हें फिल्मी मिलनी भी बंद हो गईं और फिर आर्थिक तंगी ने उन्हें अल्कोहॉल व अन्य गतिविधियों की तरफ़ धकेल दिया. विमी की रहस्मय मौत ने सबको चौंका दिया था.

यह भी पढ़ें: Bigg Boss 13: देवोलीना ने शहनाज को मारा थप्पड़, सोशल मीडिया पर देवो के खिलाफ यूजर्स का भड़का गुस्सा (Devoleena Bhattacharjee Slaps Shehnaz Gill, Enrages Fans)

गीतांजलि नागपाल: सुपर मॉडल गीतांजलि नेवल ऑफिसर की बेटी हैं और अपने समय के मशहूर व कामयाब मॉडल भी. लेकिन ड्रग एडिक्शन के चलते वो एक रोज़ सड़कों पर भीख मांगती नज़र आईं. एक फोटोग्राफर को वो पोज़ देने लगीं, तो सुर्ख़ियों में आईं और उसके बाद उनका इलाज शुरू हुआ.

ओपी नैयर: म्यूज़िक इंडस्ट्री में बड़ा नाम हैं ओपी नैयर, लेकिन उनकी परिवार ने उन्हें घर से निकाल दिया और अपने अंतिम दिन उन्होंने एक फैन के घर में गुज़ारे. सुनने में यही आता है कि यदि कोई उनसे इंटरव्यू मांगने आता, तो उससे वो शराब व पैसे की डिमांड ही करते थे.

एके हंगल: फिल्म शोले का एक डायलॉग और लोगों की आंखों से आंसू बहने लग जाते- इतना सन्नाटा क्यों है भाई! जी हां, हंगल साबह ने 225 फिल्मों में काम किया, लेकिन बावजूद इसके अपने अंतिम दिनों में वो गरीबी व बीमारी के शिकार थे. अपने मेडिकल बिल्स भी वो चुका नहीं पा रहे थे. अमिताभ बच्चन ने उनकी मदद की और उसके बाद कई और हस्तियां भी सामने आईं.

भगवान दादा: इनका नाम आते ही शोला जो भड़के गाना याद आता है. इंडस्ट्री में बड़ा नाम थे भगवान दादा, लेकिन अपने प्रोडक्शन में बनाई कुछ फिल्मों ने इन्हें कंगाल बना दिया था. इन्हें अपना जुहू का बंगला व 7 कारें, जो हफ़्ते के हर दिन के हिसाब से वो यूज़ करते थे, बेचनी पड़ी और अंतिम दिन उन्होंने एक चॉल में गुज़ारे.

भारत भूषण: फिल्म बैजू बावरा ने इन्हें सुपर स्टार बना दिया था और इन्होंने अपने दौर की सभी नामी एक्ट्रेसेस के साथ काम किया था. इनके पास मुंबई में कई फ्लैट्स थे, लेकिन पैसे न बचाने की आदत ने इन्हें इतना कंगाल कर दिया था कि अपने अंतिम दिनों में वो चॉल में रहने को मजबूर थे और स्टूडियो में चौकीदार की नौकरी कर रहे थे.

सिल्क स्मिता: अपने हॉट अंदाज़ से सिल्क ने अपनी अलग जगह बनाई थी. वो साउथ की मशहूर एक्ट्रेस बन चुकी थीं, लेकिन अपने प्रोडक्शन की फिल्म बनाने की चक्कर में वो कंगाल हो चुकी थीं और उन्होंने आत्महत्या कर ली थी. फिल्म डर्टी पिक्चर उन्हीं की लाइफ से प्रेरित थी.

यह भी पढ़ें: 9 टीवी एक्टर्स जिनकी कम उम्र में मौत हो गई (9 TV Actors Who Died Young)

गुल पनाग- बोल्ड एंड ब्यूटीफुल (20YearChallange: Gul Panag Hot Avatar)

गुल पनाग (Gul Panag) अपने बोल्ड अंदाज़ और बेबाक़ बयान के लिए काफ़ी मशहूर हैं. हाल ही में वे मालदीव में छुट्टियां बिता कर आईं. उन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर हॉलीडे की कई ख़ूबसूरत तस्वीरें शेयर कीं, लेकिन जिस फोटो ने लोगों को सबसे अधिक आकर्षित किया, वो थी उनकी अब की और बीस साल पुरानी कंबाइन तस्वीर, जिसमें उनके फिगर को देख हर कोई दंग रह गया. क्योंकि जिस तरह उनकी बॉडी व फिटनेस बीस साल पहले थी, आज भी वो ज्यों की त्यों बरक़रार है.

Gul Panag

डोर व धूप फिल्मों में गुल पनाग के सादगीभरे सशक्त अभिनय को भला कौैन भूला सकता है. वैसे गुल इन दिनों वेब सीरीज़ द फैमिली मैन से सुर्ख़ियों में आई थीं. पिछली बार उन्हें स्टूडेंट ऑफ द ईयर में देखा गया था. जल्द ही वे बायपास रोड फिल्म में एक अलग अंदाज़ में दर्शकों से रू-ब-रू होंगी.

हां, हम बात कर रहे थे गुल पनाग की ग्लैमर्स स्विम सूट में तुलनात्मक तस्वीर की. इस वायरल फोटो में गुल ने स्विमिंग सूट में अपनी बीस साल पुरानी तस्वीर और अभी की भी स्विमिंग सूट मे दोनों को ही साथ में रखते हुए इस लाजवाब तस्वीर को पोस्ट किया है. दोनों ही तस्वीरों को देख कोई नहीं कह सकता कि एक आज की है और दूसरी बरसों पुरानी. इस पूर्व मिस इंडिया ने यह साबित कर दिखाया कि यदि आप अपनी सेहत और ब्यूटी को लेकर कॉन्शस रहते हैं, तो उम्र कभी आड़े नहीं आती. इसका सबसे बड़ा उदाहरण अक्षय कुमार, मलाइका अरोड़ा आदि हैं.

जब से गुल पनाग ने सोशल मीडिया पर अपनी दो दशक पुरानी और आज की फोटो एक जैसी स्विमिंग सूट के साथ फोटो शेयर की है, तब से यूज़र्स की प्रतिक्रियाओं की बाढ़-सी आ गई है. हर कोई अपने-अपने ढंग से रिएक्ट कर रहा है. कोई उन्हें एवरग्रीन ब्यूटी कह रहा है… तो कोई बोल्ड एंड ब्यूटीफुल… कोई इस सच्चाई को लेकर आश्‍चर्यचकित है कि दोनों तस्वीरों मेंं बरसों का अंतराल है. इसकी ख़ासियत यह भी थी कि गुल पनाग बीस साल पहले मालदीव आई थीं, तब उन्होंने स्विमिंग सूट में अपनी तस्वीरें खिंचवाई थीं. इसके बाद वे बीस साल बाद दोबारा मालदीव छुट्टियां बिताने आईं. यानी सालों का गैप भले ही रहा पर गुल पनाग के फिगर और पहनावे में कोई अंतर नहीं आया. सिंपल, बोल्ड एंड ब्यूटीफुल.

इस पर मज़ेदार बात यह भी है कि वे अपने छोटे लाड़ले बेटे निहाल के साथ मालदीव में समंदर, बीचेस, डॉल्फिन के झुंड, ख़ूबसूरत वादियों आदि का ख़ूब लुत्फ़ उठाया. अपने बेटे के साथ की भी कई प्यारी तस्वीरें उन्होंने शेयर की. आइए, आप भी उनका आनंद लें…

Gul Panag

Gul Panag Hot Pics

Gul PanagGul Panag in Bikini

Gul Panag

Gul Panag

Gul Panag

Gul Panag

यह भी पढ़ेकैटरीना कैफ से लेकर दिशा पटानी तकः बॉलीवुड एक्ट्रेसेज़ जो जिम में लड़कों को कड़ी टक्कर दे रही हैं (Katrina Kaif To Disha Patani: Bollywood Actresses Giving The Boys A Tough Time At The Gym)

जन्मदिन पर विशेष: विनोद खन्ना- बेहद सरल व आकर्षक अभिनेता (Birth Anniversary: Vinod Khanna- Very Handsome And Attractive Star)

हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में सत्तर-अस्सी के दशक में अपने अभिनय, स्टाइल, हैंडसम पर्सनैलिटी से जिस कलाकार ने सबसे अधिक आकर्षित किया, वो थे विनोद खन्ना. उनके एक्शन, इमोशन, कॉमेडी में ग़ज़ब का तालमेल था. उनका खलनायक से शुरू हुआ सफ़र नायक के शिखर तक पहुंचा. फिर अध्यात्म की तरफ़ झुकाव, संन्यास, ओशो आश्रम जाना, दोबारा फिल्मों में आना, राजनीति, छोटे पर्दे पर आना… वे अपनी ज़िंदगी में हर दौर में न जाने कितने पड़ाव से गुज़रे, पर हर जगह अपनी क़ाबिलियत से हर किसी को प्रभावित किया. आज उनके जन्मदिन पर उनसे जुड़ी कई कही-अनकही बातों को जानने की कोशिश करते हैं.

Vinod Khanna

* विनोद खन्ना के पिता का टेक्सटाइल, केमिकल का बिज़नेस था. जब विनोदजी ने अभिनय करने की इच्छा ज़ाहिर की, तो उन्होंने उनकी तरफ़ बंदूक तान दिया था. लेकिन पत्नी के समझाने पर शांत हुए और विनोद को दो साल तक का समय दिया फिल्मों में ख़ुद को स्थापित करने के लिए. यदि वे असफल होते हैं, तो फिर उन्हें पिता के बिज़नेस में हाथ बंटाना होगा.

* विनोद पांच भाई-बहन थे, जिनमें तीन बहन और दो भाई थे. देश के बंटवारे के समय उनके पिता पेशावर से हिंदुस्तान आकर मुंबई में बस गए थे.

* विनोद खन्ना को पहली पत्नी गीतांजली से दो बेटे अक्षय व राहुल हैं और दूसरी बीवी से दो बच्चे साक्षी व श्रद्धा हैं.

* बचपन में विनोद काफ़ी शर्मीले स्वभाव के थे. एक बार उनके शिक्षक ने उन्हें नाटक में ज़बर्दस्ती काम करवाया, तब से अभिनय के प्रति उनका रुझान बढ़ने लगा.

* जब वे बोर्डिंग स्कूल में पढ़ते थे, तब वे सोलवां साल और मुग़ल-ए-आज़म फिल्म से काफ़ी प्रभावित हुए और उन्होंने फिल्म में करियर बनाने का सोचा.

Vinod KhannaVinod KhannaVinod Khanna

* सुनील दत्त की फिल्म मन का मीत से खलनायक के तौर पर अभिनय के सफ़र की शुरुआत हुई और विलेन के रोल में दर्शकों ने उन्हें पसंद भी किया.

* इसके बाद आन मिलो सजना, पूरब और पश्‍चिम, मेरा गांव मेरा देश जैसी फिल्मों में अपनी खलनायकी के जलवे उन्होंने दिखाए, पर नायक के तौर पर ब्रेक गुलज़ार साहब ने दिया.

* उनकी मेरे अपने फिल्म ने विनोद खन्ना को हीरो के तौर पर पहचान दी. गुलज़ार-विनोद की जुगलबंदी ने फिर तो कई फिल्में कीं, जिसमें अचानक, इम्तिहान, रिहाई, लेकिन, मीरा जैसी लाजवाब फिल्में रहीं.

* मीडिया द्वारा अमिताभ बच्चन और विनोद खन्ना को एक-दूसरे का प्रबल प्रतिद्वंदी माना जाता था, जबकि हक़ीक़त में ऐसा कुछ भी नहीं था. यह और बात है कि बिग बी अमिताभ को सुपरस्टार विनोद खन्ना ने अमर अकबर एंथोनी, परवरिश, ख़ून-पसीना, हेरा फेरी, मुकद्दर का सिकंदर जैसी तमाम फिल्मों में जमकर टक्कर दी. और ये सभी फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सुपर-डुपर हिट साबित हुईं.

* बहुत कम लोग जानते है कि अमिताभ बच्चन ने कुर्बानी फिल्म करने से मना कर दिया था, तब विनोद खन्ना को अप्रोच किया गया और फिरोज खन्ना की यह फिल्म उस दौर की सबसे कामयाब फिल्मों में से एक रही. इसके गीत-संगीत का जादू आज भी लोगों के दिलों को गुदगुदाता है, ख़ासकर- गाना लैला मैं लैला…

Vinod KhannaVinod KhannaVinod Khanna

* विनोद खन्ना कम मूडी नहीं थे. अपने अभिनय सफ़र के शिखर पर रहते हुए उन्होंने सब कुछ यानी फिल्मेें, पत्नी, दोनों बच्चे अक्षय व राहुल को छोड़छाड़ कर अमेरिका में ओशो रजनीश के आश्रम चले गए.

* वहां पर उन्हें स्वामी विनोद भारती, द मॉन्क हू सोल्ड हिज़ मर्सीडीज़, हैंडसम संन्यासी जैसे नामों से पुकारा जाता था. ग्लैमर वर्ल्ड को दरकिनार कर वे वहां पर साफ़-सफ़ाई करना, खाना बनाना, बागवानी करना जैसे तमाम काम करते थे.

* लेकिन वहां पर ध्यान-ज्ञान, काम सब कुछ करते हुए भी उनका मन स्थिर न रह पाया और उन्होंने दोबारा फिल्मों की तरफ़ रुख किया.

* उनकी फिल्मों में सेकंड एंट्री भी धमाकेदार रही. लोगों ने उन्हें हाथोंहाथ लिया. इंसाफ़, सत्यमेव जयते, दयावान, ज़ुर्म, रिहाई जैसी बेहतरीन उम्दा फिल्में कीं.

* उन्होंने राजनीति में भारतीय जनता पार्टी की तरफ़ से गुरदासपुर से चार बार चुनाव लड़ा और विजयी रहे. इस बार वहां से सनी देओल चुनाव लड़े थे और भारी बहुमत से जीत भी हासिल की थी.

Vinod KhannaVinod Khanna Vinod KhannaVinod Khanna

* फिल्मों में विनोद खन्ना के उल्लेखनीय योगदान के लिए उन्हें कई अवॉर्डस के अलावा फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट, दादासाहेब फाल्के पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया.

आज वे हमारे बीच नहीं है, पर अपने दमदार अभिनय, मस्ताने अंदाज़ से आज भी वे सभी की यादों में ज़िंदा है.

जब भी उनके जीवन में उतार-चढ़ाव आया, तब उन्होंने अपनी ही फिल्म के गाने से प्रेरणा ली- रुक जाना नहीं. तू कहीं हार के.. कांटों पे चलकर मिलेंगे साये बहार प्यार के, ओ रही, ओ रही…

Vinod KhannaVinod KhannaVinod Khanna

Vinod Khanna

Vinod Khanna

Vinod Khanna's Family

Vinod Khanna

यह भी पढ़ेअचानक हार्नेस पर बेहोश हुए आदमी की अक्षय कुमार ने ऐसे की मदद, देखें वीडियो (Akshay Kumar Saves A Man Who Fell Unconscious Hanging On A Harness, Watch Video)