financial crises

‘क्योंकि कभी सास भी बहू थी’ के मि. बजाज..टेलीविज़न और बॉलीवुड का पॉपुलर चेहरा….
यानी रोनित रॉय को भी लॉक डाउन की वजह से आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ रहा है और एक इंटरव्यू में उन्होंने खुद कहा है कि पिछले पांच महीने से उनकी इनकम बिल्कुल बन्द है और सबकी तरह वो भी परेशान हैं.
कोरोना वायरस ने फिल्मों और सीरियल्स की शूटिंग को भी रोक दिया है, जिसका असर फ़िल्म और टीवी इंडस्ट्री पर भी पड़ा है. रोनित रॉय भी इन दिनों कई तरह की मुश्किलों का सामना कर रहे हैं और हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान लॉकडाउन के कारण अपनी जिंदगी में आ रही परेशानियों पर रोनित ने खुलकर बातचीत की.

Ronit Roy

जनवरी से नहीं मिली है कोई पेमेंट
इंटरव्यू में रोनित रॉय ने कहा, मैंने जनवरी से अभी तक कोई पैसा नहीं कमाया है. मेरे कई छोटे बिजनेस हैं जो चल रहे थे, लेकिन अब वह मार्च से बंद पड़े हैं. मेरे पास जो भी है मैं उससे 100 परिवारों को सपोर्ट कर रहा हूं. ये 100 परिवार परिवार हैं जिनके लिए मैं जिम्मेदार हूं, जो मुझपर निर्भर हैं.’ इसके साथ ही उन्होंने बताया कि इस दौरान भले ही पैसे नहीं आ रहे हो, लेकिन उन्होंने अपने स्टाफ की भी सैलरी नहीं रोकी है. ”भले ही इसके लिए मुझे अपने सामान बेचने पड़ रहे हैं, पर मैं लोगों की जितना हो पा रहा है, मदद कर रहा हूँ.”

Ronit Roy with his wife


प्रोडक्शन हाउस और चैनल्स मदद के लिए आगे आएं
रोनित ने सभी बड़े बड़े प्रोडक्शन हाउस से अपील की हैं कि वे कलाकारों की मदद करने के लिए आगे आएं, ”मैं बहुत अमीर नहीं हूं, लेकिन मुझसे जो भी बन पड़ रहा है, मैं कर रहा हूं. प्रोडक्शन हाउसेस और चैनल्स को भी मदद के लिए आगे आना चाहिए… जिनके ऑफिस इतने शानदार हैं कि जो दो किलोमीटर दूर से भी दिख जाते हैं. उन्हें भी कुछ करना चाहिए. उन्हें लोगों की मदद करनी चाहिए. अगर ऐसे समय में आप एक्टर्स की मदद नहीं करते हैं तो यह सही नहीं है.”
आजकल प्रोडक्शन हाउसेस की 90 डे पेमेंट वाली पालिसी पर भी काफी बहस चल रही है. ”मैं उनके 90 डे पेमेंट वाले रूल को मानता हूँ, हमने खुद इस रूल के साथ कॉन्ट्रैक्ट साइन किया है, लेकिन ये उन रूल्स को फॉलो करने का समय नहीं है. चैनल या प्रोडक्शन हाउस ये क्यों नहीं समझते कि उनके साथ जो भी जुड़े हैं, उनकी टीम, उनके परिवार का हिस्सा हैं. सारे काम बंद हैं, लोगों की आमदनी बन्द हो गयी है, तो ऐसे समय में उन्हें अपनी टीम की मदद करनी चाहिए. मैं ये नहीं कहता कि आप उन्हें एक्स्ट्रा पैसे दें, लेकिन उनका जो बनता है, वो तो दे दो. आपको उन्हें 90 दिन बाद भुगतान करना ही है लेकिन उन्हें अभी जरूरत है, उन्हें अभी दीजिए. वह भूखे नहीं रह सकते. उन्हें अंदाज़ा है कि सब फिलहाल किस तरह के इमोशनल, मेंटल और फाइनेंसियल स्ट्रेस से गुज़र रहे हैं.”

Ronit Roy

जान बचाइए, जान दीजिये मत
रोनित ने सबसे अपील की है कि सभी को तनाव में किसी भी गलत कदम को उठाने से बचना चाहिए, सुसाइड के बारे में सोचने से भी बचना चाहिए. रोनित ने बताया कि वो भी लंबे समय तक बेरोजगार थे और उन्हें काम नहीं मिला था,”मेरी पहली ही फ़िल्म ‘जान तेरे नाम’ ब्लॉकबस्टर थी. ये सिल्वर जुबली थी, तब की सिल्वर जुबली फ़िल्म मतलब अब की 100 करोड़ बिज़नेस वाली फिल्म. ये 92 की बात है, इसके बाद छः महीने तक मुझे कोई काम नहीं मिला. इसके बाद तीन साल तक मैंने छोटे मोटे काम किए. लेकिन 96 के बाद छोटे मोटे काम आना भी बन्द हो गए. चार साल तक मैं बिना काम के घर पर ही बैठा रहा. मेरे पास एक छोटी सी कार थी, लेकिन उसमें पेट्रोल डालने के भी पैसे नहीं थे. मुझे याद है कि मैं अपनी मां के यहां खाना खाने भी पैदल ही जाया करता था. लेकिन मैंने खुद को खत्म नहीं किया. इस तरह की क्राइसेस हर किसी की लाइफ में आती है और गुज़र भी जाती है. लेकिन सुसाइड की बात सोचना भी गलत है, क्योंकि जान देने से किसी भी समस्या का समाधान नहीं हो सकता. इसलिए जीने के बारे में सोचिए, ये दौर जल्द ही गुज़र जाएगा.”

Ronit Roy

बता दें कि रोनित रॉय ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’, ‘कसौटी जिंदगी की’, ‘अदालत’ और ‘इतना करो न मुझे प्यार’ जैसे सीरियल्स समेत कई फ़िल्मों में भी नजर आ चुके हैं.
एकता कपूर की पॉपुलर वेब सीरीज ‘कहने को हमसफर हैं’ का तीसरा सीजन 6 जून से शुरू हो रहा है और टेलीकास्ट से पहले ही काफी सुर्खियां बंटोर चुका है.