Tag Archives: fish tank

फेंगशुई के अनुसार सौभाग्यवृद्धि के लिए कहां रखें फिश टैंक (fengshui tips: where should a fish tank be placed)

Fengshui Tips for Fish Tank

फिश टैंक न स़िर्फ आपके घर की सुंदरता में चार चांद लगाता है, बल्कि ये घर के लिए सौभाग्यशाली भी होता है. ये दुर्भाग्य दूर करके आपकी क़िस्मत बदल सकता है. आइए, हम बताते हैं फेंगशुई के अनुसार कहां और कैसे रखें फिश टैंक? (Fengshui Tips for Fish Tank)

कहां रखें?
* फिश टैंक के लिए घर का दक्षिण-पूर्वी भाग बेस्ट माना जाता है. घर में संपन्नता और धन में ब़ढ़ोतरी के उद्देश्य से इस स्थान को अच्छा माना जाता  है.

* गोल्ड फिश वाले फिश टैंक को लिविंग रूम की पूर्व, उत्तर या दक्षिण-पूर्व दिशा में रखना अत्यंत लाभदायक होता है.
कितनी हो फिश?

* फिश टैंक में कुल 9 मछलियां होनी ज़रूरी है.

* इसमें 8 मछलियां लाल या सुनहरी रंग की और 1 मछली काले रंग की होनी चाहिए.

* घर में खुशहाली और करियर में तरक्क़ी के लिए आप फिश टैंक को घर के उत्तरी या पूर्वी भाग में भी रख सकते हैं. घर का उत्तरी भाग कॅरियर का  प्रतिनिधित्व करता है और पूर्वी खुशहाली को दर्शाता है.

और भी पढ़ें: धन प्राप्ति के लिए 25 Effective वास्तु टिप्स

Fengshui Tips for Fish Tank

क्यों 9 मछलियां हैं ज़रूरी?
फेंगशुई एक्सपर्ट्स के मुताबिक 9 नंबर खुशहाली का प्रतीक है, इसलिए फिश टैंक में रखी जानेवाली मछलियों की संख्या 9 होनी चाहिए.

कहां न रखें फिश टैंक?
भूल से भी फिश टैंक को बेडरूम, किचन या बाथरूम में न रखें, इससे आर्थिक नुक़सान एवं भावनात्मक असंतुष्टि फैल सकती है.

पानी का प्रवाह
फिश टैंक के भीतर बहने वाले पानी की आवाज़ घर में सकारात्मक ऊर्जा के प्रवाह के साथ ही धन, संपन्नता और खुशहाली बढ़ाती है.

और भी पढ़ें: बनना चाहते हैं अमीर, तो घर में रखें वेल्थ वाज़

 

Fengshui Tips for Fish Tank

होता है दुर्भाग्य का नाश
फिश टैंक में रखी 8 सुनहरी मछलियों में से अगर कुछ मछलियां मर जाती हैं, तो इसका मतलब है कि परिवार पर आनेवाली आपत्ति मछलियों की मृत्यु के साथ ही ख़त्म हो गई. ऐसी स्थिति में जितनी सुनहरी मछलियां मर चुकी हैं, उतनी ही मछलियां फिर से लाकर फिश टैंक में डाल दें. इससे आपका घर सदैव सुरक्षा कवच के घेरे में सुरक्षित रहेगा.

क्या आप जानते हैं?
फेंगशुई का पहला तत्व पानी है, यह पानी के ही रूप में फिश टैंक में मौजूद है, दूसरा तत्व है धरती, यह कंकड़-पत्थर आदि के रूप में फिश टैंक में रहता है. तीसरा तत्व है अग्नि जो रोशनी या लाल, पीली और नारंगी रंग की मछली के रूम में गिनी जाती है.

और भी पढ़ें: फेंगशुई के अनुसार तोह़फे में क्या दें और क्या न दें

फिश टैंक केयर (Fish Tank Care)

Fish Tank Care

FISH_TANKS_AND_STANDS

अक्सर लोग बड़े शौक़ से फिश टैंक ख़रीद तो लेते हैं, लेकिन सफ़ाई व देखभाल में लापरवाही के कारण ख़ूबसूरत मछलियां ज़्यादा दिनों तक ज़िंदा नहीं रह पातीं. फिश टैंक को मेंटेन करना बहुत मुश्क़िल नहीं है, बस ज़रूरत है थोड़ा ध्यान देने की. घर की साफ़-सफ़ाई से रोज़ाना थोड़ा-सा व़क़्त निकालकर फिश टैंक को क्लीन रखा जा सकता है.

 

फिश टैंक को कहां रखें और उसकी सफ़ाई के दौरान किन बातों का ध्यान रखें? आइए, जानते हैं.

प्लेसमेंट

अगर टैंक किसी ऐेसी जगह रखा है, जहां आसानी से हाथ नहीं पहुंचता, तो रोज़ाना उसकी सफ़ाई करना थोड़ा मुश्क़िल होगा. अत: फिश टैंक ऐसी जगह पर रखें, जहां से उसे आसानी से साफ़ किया जा सके और धूल-गंदगी भी जल्दी न जमे, जैसे- खिड़की या दरवाज़े के पास न रखें, क्योंकि इन जगहों पर धूल ज़्यादा जमती है.

साइज़

छोटे टैंक की बजाय बड़े टैंक को साफ़ करना ज़्यादा आसान होता है, क्योंकि इसमें पानी ज़्यादा होता है, जिससे मछलियों की वेस्ट व गंदगी बड़े एरिया में फैलती है और इसका मछलियों पर उतना बुरा प्रभाव नहीं पड़ता.

फिल्टरेशन सिस्टम

फिश टैंक को क्लीन रखने में फिल्टर सिस्टम का ठीक होना बहुत ज़रूरी है. फिल्टर टैंक की गंदगी को बाहर निकालकर इसे क्लीन रखता है.

फीडिंग हैबिट

अधिकतर लोग मछलियों को ज़रूरत से ज़्यादा खिला देते हैं. ज़्यादा खाना डालने से टैंक में ज़्यादा गंदगी फैलती है. अत: टैंक में उतना ही खाना डालें जितना मछलियां एक बार में खा सकें.

फिश की संख्या

एक मछली को क़रीब 3.8 लीटर पानी की आवश्यकता होती है, इसलिए आप यदि 10 मछलियां रखना चाहती हैं तो टैंक की कैपेसिटी 38 से 40 लीटर की होनी चाहिए.

$_35

डेली केयर

* रोज़ाना हर एक मछली को चेक करें, अगर कोई मछली मर गई हो तो उसे तुरंत बाहर निकाल दें. मरी हुई मछली निकालने के लिए छोटे नेट का इस्तेमाल करें.
* इलेक्ट्रिक प्लग को चेक करें. घर में यदि छोटे बच्चे या दूसरे पालतू जानवर हों तो इस बात पर विशेष ध्यान दें.
* इस बात की तसल्ली कर लें कि फिश टैंक में सब कुछ बराबर चल रहा है या नहीं.
* बचे हुए खाने को हर आधे धंटे में बाहर निकाल दें. इससे टैंक बिल्कुल साफ़ रहेगा.

वीकली केयर

* फिश टैंक से मुरझाए हुए पौधों को काट दें.
* फिश टैंक के पौधों को साफ़ करने के लिए बाज़ार में आसानी से उपलब्ध स्क्रबर का प्रयोग करें. यदि आपके पास स्क्रबर नहीं है तो नायलॉन स्पंज का भी इस्तेमाल कर सकती हैं.
* टैंक के पानी को बदल दें.
* टैंक के कंकड़ को भी साफ़ करें. इसके लिए कंकड़ साफ़ करने के लिए उपलब्ध क्लीनर का इस्तेमाल करें.

मंथली केयर

* फिल्टर ट्यूब को साफ़ करें. ट्यूब साफ़ करने के लिए फिल्टर ब्रश का इस्तेमाल करें.
* ग्लास क्लीनर से टैंक का ग्लास साफ़ करें.
* गीले कपड़े से टैंक के ऊपरी व बाहरी हिस्से को साफ़ करें.
* टैंक की सजावट के लिए इस्तेमाल की गई चीज़ों को धोकर कर साफ़ करें.
* अगर ज़रूरत पड़े तो फिल्टर को रिप्लेस करें.