Tag Archives: get glowing skin

Personal Problems: कहीं फिर बच्चे का वज़न कम न हो? (Top Reasons For Low Birth Weight In New Born?)

पिछली डिलीवरी में मेरे बच्चे (Child) का वज़न (Weight) स़िर्फ 2 किलो था, पर डॉक्टर ने इसका कारण नहीं बताया. अब मैं दोबारा प्रेग्नेंट हूं और मुझे डर लग रहा है कि कहीं इस बार भी मेरे बच्चे का वज़न कम (Low Weight) न हो. पिछली बार मैं स़िर्फ 3 बार चेकअप के लिए गई थी. इस बार क्या करूं?
– आरोही हांडे, नासिक.

जन्म के बाद जिन बच्चों का वज़न ढाई किलो से कम होता है, उन्हें लो वेट बर्थ कहते हैं. इसका एक अहम् कारण प्री मैच्योर डिलीवरी हो सकती है. इसके अलावा प्रेग्नेंसी में मां का ग़लत खानपान, बार-बार इंफेक्शन, धूम्रपान और अल्कोहल भी इसके कारण हो सकते हैं. जैसा कि आपने बताया कि पिछली बार आप स़िर्फ 3 बार चेकअप के लिए गई थीं, इससे साफ़ पता चलता है कि पिछली प्रेग्नेंसी के दौरान आपने कितनी लापरवाही बरती. इस दौरान सही खानपान और नियमित रूप से डॉक्टर से चेकअप बहुत ज़रूरी होता है. नियमित चेकअप से डॉक्टर समय-समय पर आपके और बच्चे की सही स्थिति के बारे में जानकारी देते रहते हैं. वैसे भी गर्भावस्था के दौरान खानपान, परहेज़, ज़रूरी सावधानियों के अलावा नियमित चेकअप करवाना बेहद ज़रूरी है.

यह भी पढ़ें: क्या विटामिन डी3 लेवल चेक कराने की ज़रूरत है? (Do You Need To Go For A Vitamin D3 Test?)

Reasons For Low Birth Weight

मैं 35 वर्षीया दो बच्चों की मां हूं. हम तीसरा बच्चा नहीं चाहते थे, पर चूंकि मैंने कंसीव कर लिया था, इसलिए एबॉर्शन करवाना पड़ा. एबॉर्शन के तुरंत बाद डॉक्टर ने गर्भनिरोधक इस्तेमाल करने की सलाह दी. पर अगर इनका इस्तेमाल मैं कुछ दिनों बाद करूं, तो क्या इस बीच कंसीव करने की संभावना है?
– कुसुम जोशी, जबलपुर.

एबॉर्शन के 10-12 दिनों बाद ही महिलाओं में ओव्यूलेशन शुरू हो जाता है, इसलिए अगर आपको बच्चे नहीं चाहिए, तो तुरंत किसी गर्भनिरोधक का इस्तेमाल शुरू कर दें. बार-बार एबॉर्शन से पेल्विक इंफेक्शन, एब्नॉर्मल डिस्चार्ज और पेट में दर्द जैसी समस्याएं हो सकती हैं, इसलिए तुरंत किसी गर्भनिरोधक का इस्तेमाल करें.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: मेनोपॉज़ के क्या लक्षण होते हैं? (What Are The Signs And Symptoms Of Menopause?)

Dr. Rajshree Kumar

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies

15 मिनट में पाएं ग्लोइंग स्किन (How To Get Glowing Skin In 15 Minutes)

आज की बिज़ी लाइफ स्टाइल में क्विक एंड ईज़ी फॉर्मूला बहुत काम आता है. आपके पास भी यदि स्किन केयर के लिए ज़्यादा टाइम नहीं है, तो हमारे बताए फेस पैक लगाइए और 15 मिनट में पाइए ग्लोइंग स्किन.

Featured
टोमैटो फेस पैक
टमाटर के गूदे को बारीक़ पीस लें. इसमें हल्दी और दूध डालकर अच्छी तरह मिला लें. अब इस पैक को चेहरे पर लगाएं. सूख जाने पर धो लें. त्वचा को नया निखार मिलेगा.

बेसन फेस पैक
बेसन में गुलाब जल मिलाकर लेप बना लें. जब चेहरे पर लेप लगाना हो, तो इसमें थोड़ा-सा दूध डालकर अच्छी तरह मिला लें. लेप को चेहरे पर लगाएं और सूख जाने पर ठंडे पानी से धो लें. ये पैक मिनटों में नया निखार देता है.

अनियन फेस पैक
ताज़े लाल प्याज़ को मिक्सर में पीसकर गाढ़ा पेस्ट बनाएं और चेहरे पर लगाएं. जब ये हल्का सूख जाए, तो चेहरा धो लें. इससे त्वचा की सारी गंदगी साफ़ हो जाएगी और त्वचा में नया निखार आएगा.

पोटैटो फेस पैक
आलू को पीसकर बारीक़ पेस्ट बना लें और इसमें नींबू का रस मिलाकर चेहरे पर अप्लाई करें. सूख जाने के बाद ठंडे पानी से चेहरा धो लें. इससे मिनटों में स्किन ग्लो करने लगती है.

3

एप्पल फेस पैक
सेब के टुकड़ों में शहद मिलाकर बारीक़ पीस लें. इस पैक को 15 मिनट चेहरे पर लगा रहने दें. फिर गुलाब जल से चेहरा धो लें. त्वचा की रंगत निखर जाएगी.

मुल्तानी मिट्टी फेस पैक
मुल्तानी मिट्टी में गुलाब जल मिलाकर चेहरे पर लगाएं. सूख जाने पर ठंडे पानी से चेहरा धो लें. ऑयली स्किन वालों के लिए मुल्तानी मिट्टी का
फेस पैक बहुत फ़ायदेमंद होता है. हां, स्किन अगर ड्राई है, तो रोज़ाना मुल्तानी मिट्टी लगाने की ग़लती न करें.

हनी फेस पैक
शहद में थोड़ा-सा नींबू का रस मिलाकर हनी फेस पैक बना लें. इसे चहरे पर लगाएं और सूख जाने पर धो लें. त्वचा संबंधी समस्याओं से निपटने के लिए हनी और नींबू का कॉम्बिनेशन बेहतरीन उपाय है.

लैवेंडर फेस पैक
लैंवेडर फ्लावर्स को मिक्सर में पीसकर इसमें थोड़ा-सा दूध डालकर अच्छी तरह मिला लें. तैयार पेस्ट को चेहरे पर लगाएं. कुछ देर बाद ठंडे पानी से चेहरा धो लें. लैवेंडर ख़ूबसूरती के साथ ही त्वचा को महकती ख़ुशबू भी देता है.

4

स्मार्ट आइडियाज़
ग्लोइंग स्किन पाने के लिए अपनाइए ये स्मार्ट आइडियाज़:

मिल्क ट्रीटमेंट
नर्म-मुलायम त्वचा के लिए चेहरे पर मिल्क फेस पैक लगाएं. इसके लिए दूध में कॉटन बॉल डुबाएं और चेहरे पर हल्के हाथों से घुमाते हुए लगाएं. दूध क्लींज़र का काम करता है, जिससे त्वचा के बंद रोम छिद्र खुल जाते हैं और त्वचा खुलकर सांस लेती है व स्वस्थ बनी रहती है.

आल्मंड मैजिक
पौष्टिक बादाम में निहित गुण त्वचा को अंदरुनी तौर पर स्वस्थ बनाते हैं. इसके लिए बादाम के तेल से चेहरे की मालिश करें. इससे ब्लड सर्कुलेशन तेज़ होता है और त्वचा में कसाव आता है. बादाम का तेल एंटी-एजिंग ट्रीटमेंट का काम भी करता है.