Tag Archives: google

न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें… (Today’s Updates: Top 5 Breaking News)

नौकायन टीम का संघर्ष व जीत

इंडोनेशिया के जकार्ता-पालेमबर्ग में चल रहे 18वें एशियाई खेलों का छठा दिन भी भारत के लिए मिला-जुला रहा. जैसे-जैसे एशियन गेम्स आगे बढ़ता जा रहा है, वैसे वैसे भारतीय खिलाड़ियों के प्रदर्शन में भी निखार आता जा रहा है. पहली बार रोइंग टीम ने एक स्वर्ण व दो कांस्य के साथ तीन पदक पर कब्ज़ा किया. दत्तू भोकानाल, स्वर्ण सिंह, ओमप्रकाश व सुखमीत सिंह रोइंग मैन्स टीम ने 6:17:17 के समय के साथ गोल्ड अपने नाम किया. दुष्यंत ने बीमार होने के बावजूद कांस्य पदक जीता. भगवान सिंह व रोहित ने लाइटवेट डबल स्कल्स में ब्रॉन्ज़ मेडल जीता. रोइंग टीम को बहुत-बहुत बधाई. रोहन बोपन्ना और दिविज शरण की जोड़ी ने डबल्स टेनिस में कजाकिस्तान के एलेक्सांद्र बुबलिक व डेनिस येवसेयेव को हराकर गोल्ड अपने नाम किया. अनुभवी निशानेबाज़ हीना सिद्धू ने ब्रॉन्ज़ मेडल जीता. ख़ुशी के साथ थोड़े ग़म भी भारत के हिस्से में आए हैं यानी पहली बार जहां पुरुष कबड्डी टीम को कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा, वहीं महिला कबड्डी टीम ने सिल्वर मेडल जीता. इसी के साथ भारत 6 गोल्ड, 4 सिल्वर व 13 ब्रॉन्ज़ यानी कुल 23 पदक के साथ पदक तालिका में सातवें स्थान पर है.

Breaking News

आधार- चेहरा वेरिफाई करना होगा ज़रूरी

यूआईडीएआई (यूनिक आईडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया) ने नोटिफिकेशन जारी किया है कि जल्द ही आधार द्वारा ली जानेवाली सभी सेवाओं के लिए चेहरे का मिलान करना भी आवश्यक होगा यानी आधार के साथ चेहरा वेरिफाई करना भी ज़रूरी होगा. यह नियम मोबाइल कंपनियों पर विशेष तौर पर लागू की जाएगी. यह सुविधा मोबाइल कंपनियों के साथ 15 सितंबर से शुरू की जाएगी. इसके बाद इसे बैंक का अकाउंट ओपन करने, राशन कार्ड के लिए भी इस्तेमाल में लाया जाएगा. ध्यान रहे, यदि मोबाइल कंपनियां इन नियमों का पालन नहीं करेंगी, तो उन पर जुर्माना भी लगाया जाएगा. यूआईडीएआई के अनुसार, उन्होंने यह निर्णय फिंगरप्रिंट की गड़बड़ी या उसकी क्लोनिंग रोकने के लिए किया है. दरअसल, जून महीने में हैदराबाद के मोबाइल सिम कार्ड वितरक ने आधार में गड़बड़ी करके हज़ारों सिम कार्ड एक्टिवेट करवाए थे. इसी कारण यूआईडीएआई को यह सख़्त क़दम उठाना पड़ा.

 

गार्डन में होगी बीमारी छूमंतर

नोएडा के सेक्टर 91 में एक ऐसा बगीचा बन रहा है, जो आपकी बीमारियों को दूर करने में मदद करेगा. यहां पर औषधीय गुणों से भरपूर पौधे, पेड़ आदि लगाए जा रहे हैं, जैसे- आंवला, हरसिंगार, करीपत्ता, अर्जुन, बहेड़ा, रीठा, कचनार, दालचीनी, चंपा, बेल, इमली, नीम. इसमें वनस्पति विज्ञान यानी बॉटनी के बारे में पूरी जानकारी दी जाएगी, जो बॉटनी के स्टूडेंट्स के लिए काफ़ी फ़ायदेमंद होगा. इसके अलावा पार्क में लिली पॉन्ड, नेचुरल झील, ओपन थिएटर, लैब आदि भी बनाए जा रहे हैं. 25 एकड़ में फैले इस गार्डन को बनाने में 23.94 करोड़ रुपए ख़र्च होने की संभावना है. औषधी पार्क नामक इस बगीचे को लोगों के लिए नवंबर में खोल दिया जाएगा.

यह भी पढ़ें: न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें… (Today’s Updates: Top 5 Breaking News)

गूगल ने बंद किए ईरान के चैनल्स

गूगल ने यूट्यूब पर चल रहे ईरान के क़रीब 39 चैनल्स, 13 गूगल प्लस, 6 ब्लॉगर के अकाउंट को बंद कर दिया है. उनके अनुसार, प्रोटेक्ट योर इलेक्शन के अभियान के तहत उन्होंने ईरान द्वारा चलाए जा रहे इन अकाउंट्स को बंद किया है. गूगल द्वारा की गई छानबीन से पता चला कि फिशिंग और हैंकिंग की कोशिश विदेशी सरकारों द्वारा की जा रही थी. ऐसे में डिजिटल माध्यम पर राजनीतिक अभियान को सुरक्षित रखने के लिए ही उन्होंने यह कड़ा कदम उठाया.

 

रणदीप का सराहनीय क़दम

जब से केरल में बाढ़ व प्राकृतिक आपदा आई है, तब से पूरे भारतभर से सहयोग के हाथ बढ़ते रहे हैं. हर रोज़ इससे जुड़े कोई न कोई सराहनीय कदम सामने आ रही है. अब हिंदी सिनेमा के बेहतरीन कलाकार रणदीप हुड्डा ने इंसानियत की मिसाल पेश की है. उन्होंने न केवल अपना जन्मदिन केरल बाढ़ पीड़ितों के साथ मनाया, बल्कि वहां लंगर करके सभी को अपने हाथों से खाना भी खिलाया. साथ ही उन्होंने असहाय लोगों को शरणार्थी घर तक भी पहुंचाया. वे खालसा एड ग्रुप की ओर से वहां गए थे. इससे पहले भी पेरिस अटैक हो या सीरिया में युद्ध से पीड़ित लोग, उनकी मदद के लिए यह ग्रुप आगे रहा है.

– ऊषा गुप्ता

मिर्ज़ा ग़ालिब… एक ख़्याल! गूगल ने भी बनाया डूडल (Remembering Mirza Ghalib)

Remembering Mirza Ghalib
…चंद तस्वीर-ऐ-बुतां, चंद हसीनों के खतूत बाद मरने के मेरे घर से यह सामान निकला

  • मिर्ज़ा ग़ालिब एक ऐसा नाम है, जिनके लिए शायर या महान जैसे शब्द भी छोटे लगते हैं…
  • उनके 220 वें जन्मदिन पर हमारी तरफ से नमन
  • गूगल ने भी उनकी याद में ख़ास डूडल बनाया है.
  • उनका जन्म 27 दिसम्बर 1796 को आगरा में हुआ था और 15 फरवरी 1869 को वो दुनिया को अलविदा कह गए.
  • ग़ालिब मुग़ल काल के आख़िरी शासक बहादुर शाह ज़फ़र के दरबारी कवि भी रहे थे.
  • ग़ालिब को मुख्यतः उनकी उर्दू ग़ज़लों को लिए याद किया जाता है.
  • आप भी पढ़ें उनकी शायरी

यह भी पढ़ें: कोमल मन और अटल इरादे… जानें अटलजी की ये दिलचस्प बातें… 

हम रहें यूँ तश्ना-ऐ-लब पैगाम के
खत लिखेंगे गरचे मतलब कुछ न हो
हम तो आशिक़ हैं तुम्हारे नाम के
इश्क़ ने ग़ालिब निकम्मा कर दिया
वरना हम भी आदमी थे काम के

मैं नादान था जो वफ़ा को तलाश करता रहा ग़ालिब
यह न सोचा के एक दिन अपनी साँस भी बेवफा हो जाएगी

बे-वजह नहीं रोता इश्क़ में कोई ग़ालिब
जिसे खुद से बढ़ कर चाहो वो रूलाता ज़रूर है

तेरी दुआओं में असर हो तो मस्जिद को हिला के दिखा
नहीं तो दो घूँट पी और मस्जिद को हिलता देख

लफ़्ज़ों की तरतीब मुझे बांधनी नहीं आती “ग़ालिब”
हम तुम को याद करते हैं सीधी सी बात है

[amazon_link asins=’8129114119,B071H26TZY,8170286921,9350726254′ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’11e73d9d-eaca-11e7-a74a-933c4948e6b0′]

बर्थ एनीवर्सरी: जेमिनी के रंगों को गूगल ने भी सजाया! ( Jamini Roy: Google Placed An Image As Doodle To Honour His Work On His Birth Anniversary)

Jamini Roy

jamini-roy

बर्थ एनीवर्सरी: जेमिनी के रंगों को गूगल ने भी सजाया! (Jamini Roy: Google Placed An Image As Doodle To Honour His Work On His Birth Anniversary)

  • कुछ ख़ास ही होते हैं वो लोग जिनकी भावनाओं के रंग जब कल्पना में सजकर ब्रश का आकार लेकर कैनवास पर उतर आते हैं, तो उनकी हर कृति नायाब ही बनती हैं.
  • ऐसे ही एक शख़्स रहे हैं जेमिनी रॉय, जो अपनी उत्कृष्ट पेंटिंग्स व लेखन के लिए भी काफ़ी मशहूर रह चुके हैं.
  • 11 अप्रैल 1887 को बंगाल में जन्मे जेमिनी 1954 में पद्म भूषण से नवाज़े जा चुके हैं और उनकी मज़बूत शख़्सियत का अंदाज़ा इसी से लगाया जा सकता है कि उनकी बर्थ एनीवर्सरी पर गूगल (Google) ने भी अपने डूडल (Doodle) को उनकी यादों के रंगों से सजाकर उन्हें समर्पित किया है.
  • जेमिनी की ख़ासियत यह रही कि उन्होंने भारतीय संस्कृति व परंपराओं को अपनी पेंटिंग में जगह दी.

Jamini Roy

  • वो कालीघाट पेंटिंग्स से काफ़ी प्रभावित थे और उन्होंने पश्‍चिम की जगह देश की स्थानीय परंपराओं और जनजातियों को अपनी पेंटिग्स की प्रेरणा बनाया.
  • उन्हें अपनी पेंटिंग्स के लिए कई इनाम मिले और भारत सरकार ने भी उन्हें पद्म भूषण से नवाज़ा.
  • 24 अप्रैल 1972 को उन्होंने इस दुनिया को अलविदा कह दिया था, लेकिन अपने पीछे वो अपनी यादों के कई उत्कृष्ट रंग छोड़ गए थे, जिन्हें देखकर आज भी मन उन रंगों में खोकर मंत्रमुग्ध हो जाता है.
  • उनकी बर्थ एनीवर्सरी पर उन्हें नमन करते हैं.

आख़िर ऐसा क्या था उस 7 साल की बच्ची के लेटर में कि गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने ख़ुद दिया उसका जवाब? (Google CEO Sundar Pichai replied to a 7-year-old who applied for a job)

‪Sundar Pichai‬‬

‪Sundar Pichai‬‬

सोचकर भी हैरानी होती है कि गूगल का सीईओ भला किसी के लेटर का जवाब दे सकता है. इतना बिज़ी इंसान, जिसके पास लाखों लेटर हर दिन आते होंगे, उसमें से किसी का जवाब देना, वो भी 7 साल की लड़की का, सुनकर ही हैरानी होती है. आख़िर उस सात साल की बच्ची ने उस लेटर में ऐसा क्या लिख दिया था कि गूगल के सीईओ उसका जवाब देने के लिए आतुर हो गए. आइए, देखते हैं.

आप ख़ुद पढ़िए कि क्या लिखा था इंग्लैंड की रहनेवाली 7 साल की क्लोई ब्रिजवॉटर ने:

डियर गूगल बॉस, मेरा नाम क्लो है, मैं बड़ी होकर गूगल में काम करना चाहती हूं. मैं चॉकलेट फैक्ट्री में भी काम करना चाहती हूं और ओलंपिक में तैराक बनना चाहती हूं. मैं शनिवार और मंगलवार को स्वीमिंग सीखने जाती हूं. मैं ऐसी जगह काम करना चाहती हूं जहां बीन बैग्स हों और इलेक्ट्रिक गाड़ी गो कार्ट हो. मेरे डैड ने कहा कि जब मैं गूगल में काम करूंगी, तो मैं बीन बैग और गो कार्ट पर भी बैठ सकती हूं. मुझे कंप्यूटर अच्छा लगता है और मेरे पास गेम्स खेलने के लिए टैबलेट है. मेरे डैड ने मुझे एक गेम दिया है, जिसमें मैं एक रोबोट को एक स्क्वायर में ऊपर और नीचे घुमाना होता है. उन्होंने कहा है कि इससे मुझे कंप्यूटर सीखने में मदद मिलेगी. उन्होंने कहा वो मुझे एक दिन कंप्यूटर भी देंगे. मैं सात साल की हूं और मेरे टीचर्स ने मां को बताया है कि मैं पढ़ने में अच्छी हूं. मेरी रीडिंग और राइटिंग स्पेलिंग दोनों अच्छी है. डैड कहते हैं कि अगर मैं पढ़ाई करने में अच्छी रही, तो एक दिन मुझे गूगल में नौकरी मिल सकती है. मेरा पत्र पढ़ने के लिए आपका शुक्रिया…

‪Sundar Pichai‬‬

7 साल की क्लोई ब्रिजवॉटर की चिट्ठी का जवाब पिचाई ने किसी एंप्लॉई से दिलाने की बजाय ख़ुद ही दिया. पिचाई ने लिखा:

तुमने पत्र लिखा इसके लिए धन्यवाद. मैं ख़ुश हूं कि तुम्हें कंप्यूटर और रोबोट्स अच्छे लगते हैं. मुझे उम्मीद है कि तुम टेक्नोलॉजी के बारे में पढ़ती रहोगी. मुझे उम्मीद है कि तुम कड़ी मेहनत करोगी और अपने सपने पूरे करोगी. तुम हर वो चीज़ हासिल कर सकती हो, जो तुमने सोच रखा है. गूगल में काम करने से लेकर ओलंपिक में स्वीमिंग भी कर लोगी. तुम्हारा स्कूल ख़त्म होने के बाद मैं तुम्हारे एप्लिकेशन का इंतज़ार करूंगा.

‪Sundar Pichai‬‬

गूगल के सीईओ का ये पत्र क्लोइ और उसके डैड के लिए किसी आश्चर्य से कम नहीं था. दोनों ही बेहद ख़ुश हुए और सोशल मीडिया पर इसे डाला.

वैसे ये उन कंपनी के मालिकों के लिए और जीवन में हार मान चुके उन कर्मचारियों के लिए एक सीख है. उस 7 साल की बच्ची ने कर्मचारियों को एक सीख दी है कि काम करने की कोई उम्र नहीं होती. गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने भी ख़त का जवाब देकर एंप्लॉयर के लिए एक मिसाल पेश की है कि जब इतने बड़े फर्म का मालिक अपनी छोटी-सी ‘इच्छुक कर्मचारी’ के लेटर का जवाब दे सकते हैं, तो आप भी इस तरह का काम कर सकते हैं.

– श्वेता सिंह 

सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर कैसे करें प्राइवेसी मेंटेन? (maintain your privacy at social networking sites )

दिनोंदिन सोशल मीडिया का क्रेज़ युवाओं में तेज़ी से ब़ढ़ता जा रहा है. अपनी हर छोटी से छोटी पर्सनल बातों और गतिविधियों से फैमिली व फ्रेंड्स को रू-ब-रू करना उनकी आदत बनती जा रही है. मिनट-मिनट की अपडेट्स देकर वे अपनी फैमिली व फ्रेंड्स के साथ संवाद तो क़ायम रख सकते हैं, लेकिन यह भूल जाते हैं कि कोई अजनबी शख़्स उनकी प्रोफेशनल और पर्सनल प्राइवेसी में सेंध लगा रहा है, जिससे वे अंजान हैं. सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर आपकी प्राइवेसी में किसी का कोई दख़ल न हो, इसलिए ज़रूरी है कि ऑनलाइन प्राइवेसी का ध्यान रखा जाए. कैसे, आइए जानें? social networking sites

social

फेसबुक

गोपनीयता की जांच करने के लिए अपने पीसी वेब ब्राउज़र में फेसबुक पेज खोलें. फेसबुक मेनू बार (फेसबुक पर दिखनेवाली ब्लू पट्टी) के राइट कॉर्नर में दिए लॉक सिंबल (प्राइवेसी शॉर्टकट) पर जाएं. क्लिक करने पर Privacy Check-up आएगा, जिसके 3 स्टेप्स हैं:

 पहला स्टेप

आपकी पोस्ट कौन-कौन देख सकते हैं: यहां पर क्लिक करने पर यदि “Public’ आता है, तो इसका अर्थ है कि इंटरनेट पर मौजूद हर व्यक्ति आपकी पोस्ट देख सकता है. इसलिए वहां पर “Friends’ ऑप्शन सिलेक्ट करें. इससे आपके फ्रेंड्स ही देख सकते हैं.

दूसरा स्टेप

चेक करें कि कौन से ऐप्स आपकी टाइमलाइन पर इंफॉर्मेशन पोस्ट कर सकते हैं: यहां पर दिए गए ऑप्शन्स में से “Only Me’ सेट करें.

तीसरा स्टेप

अपने प्रोफाइल (ईमेल एड्रेस, बर्थडे और रिलेशनशिप स्टेटस) को दोबारा चेक करें: जिसमें फे्रंड्स को आपकी विज़ीबिलिटी दिखाई दे, अपनी कौन-सी पोस्ट गोपनीय रखना चाहते हैं- इनका सिलेक्शन करें.

कौन-से फे्रंडस आपसे कॉन्टैक्ट करना चाहते हैं, पहले उसे कंट्रोल करें.

– क्लिक करें Privacy Shortcut >Who Can Contact Me?

– वहां पर दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें कि आपको कौन-कौन लोग फ्रेंड्स रिक्वेस्ट भेज सकते हैं. इसके लिए Privacy Shortcut >Who Can Contact Me? को सिलेक्ट करें.

जो ऐप्स आपके बारे में जानकारी देते हैं, उन्हें चेक करें
– पीसी वेब ब्राउज़र में www.facebook.com/setting/?tab=application पर जाएं.

– Logged in with Facebook पर क्लिक करें.

– किसी ऐप पर क्लिक करके चेक करें कि आपने कौन-सी इंफॉर्मेशन (अपनी प्रोफाइल डिटेल्स, फें्रड लिस्ट आदि) शेयर की है, इस ऐप के ज़रिए आप यह जान सकते हैं कि किसने आपकी पोस्ट देखी है और किसने आपको नोटिफिकेशन भेजा है.

कैसे चेक करें कि लोग आपके बारे में क्या कहते हैं?

– फेसबुक मेनू बार के राइट कॉर्नर के आख़िर में प्राइवेसी शॉर्टकट के बाद आपको Triangular drop-down list (ट्रायएंगुलर ड्राप-डाउन लिस्ट) दिखाई देगी. इस पर क्लिक करने पर कई ऑप्शन्स मिलेंगे. उनमें से “Activity Log’ को क्लिक करें.

– फिर लेफ्ट साइडबार में जाकर “Timeline Review’ पर क्लिक करें. फिर अप्रूव/रिजेक्ट या ऐड/इग्नोर का ऑप्शन आएगा.

– फिर Tag Review को क्लिक करके अपने टैग्स को मैनेज करें.

– अंत में, “Post you are Tagged in’ में क्लिक करें. इसमें क्लिक करने पर आप सभी पोस्ट को देख सकते हैं, जिन्हें आपने टैग-अनटैग किया है.

गूगल: गोपनीयता की जांच करने के लिए

– myaccount.google.com/privacycheckup पर जाएं.

– आप Google+ पर कौन-सी इंफॉर्मेशन दूसरों के साथ शेयर करना चाहते हैं. फिर “Dont feature my publicly shared Google+Photos as background
images को सिलेक्ट करें.

– उसके बाद “Edit Your Shared Endorsement Setting’ पर क्लिक करें. वहां पर दिए गए ऑप्शन को अनचेक करें.

– फिर उन लोगों को allow/disallow करें, जो Google पर आपकी पर्सनल
इंफॉर्मेशन को देख रहे थे और आपका फोन नंबर सर्च कर रहे थे.

– इसी तरह से यूट्यूब पर भी आप अपनी गोपनीयता बनाए रख सकते हैं. उसके लिए Manage your Google Photos Settings पर क्लिक करके उसे डिसेबल करें.

ऐप्स और साइट्स की प्राइवेसी को कैसे कंट्रोल करें?

– myaccount.google.com/security#connectedapps पर जाएं.

– “Manage app’ को क्लिक करें. इससे मालूम चलेगा कि कौन-से ऐप्स आपके गूगल अकाउंट से कनेक्टेड हैं.

– जिन ऐप्स को आप ज़्यादा यूज़ नहीं करते, उन्हें डिलीट करने के लिए रिमूव पर क्लिक करें.

– अंत में Allow Less Secure Apps सेट करके उसे “OFF’ करें.

ट्विटर: गोपनीयता की जांच करने के लिए

– twitter.com/setting/security पर जाएं और Privacy सेक्शन पर स्क्रोल करें.

– Photo Tagging पर क्लिक करें कि कौन-कौन आपकी फोटो को टैग कर सकते हैं?

– फिर Tweet Privacy को लॉक करें. इससे आपकी पोस्ट को केवल आपके द्वारा अप्रूव्ड फॉलोवर्स ही देख पाएंगे.

– Tweet Location को डिसेबल करें. चाहें, तो आप अपने पिछले ट्वीट के लोकेशन संबंधी डाटा को भी डिलीट कर सकते हैं.

– यह जानने के लिए कि ट्विटर पर कौन आपको, आपका फोन नंबर और ईमेल एड्रेस सर्च कर रहा है, इसके लिए Discoverability को सेट करें.

– Personalization को डिसेबल करें. ऐसा करने पर कोई भी आपकी ब्राउज़िंग हिस्ट्री को नहीं देख पाएगा.

– Promote Content को भी डिसेबल करें, जिसमें आपके पर्सनल इंफॉर्मेशन और इंट्रेस्ट बेस्ड विज्ञापन दिखाई देते हैं.

– फिर Direct Message में जाकर “receive direct messages from
anyone’ ऑप्शन को डिसेबल करें.

ऐप्स को एक्सेस करें

– twitter.com/setting/application पर जाएं.

– अपने ट्विटर अकाउंट पर जाकर “Revoke access’ पर क्लिक करके अनट्रस्टेड ऐप्स एंड सर्विस को स्टॉप करें, जिन्हें आपने कभी-कभी एक्सेस किया हो.

इंस्टाग्राम पर गोपनीयता की जांच

कंट्रोल करें कि कौन आपकी पोस्ट देख रहा है?

अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर “Private>’ सेट करने के लिए: अपने इंस्टाग्राम मोबाइल ऐप को ओपन करें. Profile टाइप करने पर तीन वर्टिकल
डॉट्स दिखाई देंगे फिर Options में जाकर Private Account सेट करें. अब
फॉलोवर्स को आपकी इंस्टाग्राम फीड देखने के लिए आपके अप्रूवल की
ज़रूरत होगी.

टैग्ड को कैसे कंट्रोल करें?

– अपनी फोटो को अनटैग करने के लिए: इंस्टाग्राम ऐप में फोटो पर क्लिक करें. फिर Options>Photo Options>Remove Tag करें.

– अपनी सभी फोटोज़ को टैग करने के लिए Profile>Photo of you>Options करें.

यहां पर आप मैन्युअली भी अपनी इच्छानुसार किसी भी फोटो को टैग कर सकते हैं. इसके लिए Tagging Options>Add Manually करना होगा. इसके अलावा, आप उन सभी फोटोज़ को रिमूव कर सकते हैं, जो आपने कुछ समय पहले/हाल ही में टैग की हैं. इसके लिए आपको Profile>Photo of you>Options>Hide Photo करना होगा.

– पूनम नागेंद्र शर्मा