Government scheme foe startups

Startup Tips

ख़ुद का बिज़नेस शुरू करने की तमन्ना कई लोगों में होती है, लेकिन सही जानकारी और प्लानिंग के अभाव में वो जितनी तेज़ी से शुरू होते हैं, उतनी ही तेज़ी से बंद भी हो जाते हैं. अगर आप भी अपना स्टार्टअप शुरू करना चाहते हैं, तो इन ज़रूरी बातों पर पहले ग़ौर करें और उसके बाद ही स्टार्टअप का शुभारंभ करें.  

करें सही शुरुआत

– बिज़नेस का मतलब होता है, लोगों की ज़रूरतों को समझना. सबसे पहले यह समझें कि किस चीज़ की लोगों को ज़रूरत है, उसी चीज़ को अपना बेसिक बिज़नेस आइडिया बनाएं.

– अपने आइडिया को सिंपल रखें. उसे बहुत ज़्यादा कॉम्प्लिकेटेड न बनाएं. याद रहे कि स्टार्टअप के ज़रिए आप किसी को सोल्यूशन मुहैया करा रहे हैं, इसलिए उसे बहुत ज़्यादा न उलझाएं.

– शुरुआत एकदम बड़े और ग्रैंड तरी़के से करेंगे, ऐसा सोचना छोड़ दें. छोटे और सिंपल तरी़के से ही शुुरू करें, ताकि सही तरी़के से फोकस कर सकें.

– सभी प्रोफेशनल एक्सपर्ट्स अपनी हॉबी को ही स्टार्टअप में बदलने की सलाह देते हैं, क्योंकि तब आप पूरे पैशन के साथ उसे पूरा करने की कोशिश करेंगे.

– किसी भी स्टार्टअप या नए बिज़नेस के  शुरुआती दौर में थोड़ा घाटा सहने के लिए मानसिक तौर से तैयार रहना चाहिए.

– किसी भी स्टार्टअप के लिए आपको कम-से-कम एक-दो साल का समय देना होना, उसके बाद ही मुना़फे की उम्मीद करें.

 बनें स्मार्ट बिज़नेसमैन

Startup Tips

– स्टार्टअप का पहला नियम है कि आप अपने प्रोडक्ट से ज़्यादा मार्केट पर फोकस करें. अगर आपका प्रोडक्ट बेहतरीन है, लेकिन उसके लिए मार्केट ही न हो, तो उसका क्या फ़ायदा?

– ख़र्चों को थोड़ा बढ़ाकर ही लिखें, क्योंकि ख़र्च करते व़क्त अक्सर लोग बजट के बाहर चले जाते हैं.

– कोई भी स्टार्टअप शुरू करने से पहले, छह महीने के ख़र्च की जमापूंजी रख लें.

– आप अकेले कोई बिज़नेस नहीं कर सकते, इसलिए हमेशा अपना सपोर्ट ग्रुप बनाकर रखें. ज़रूरी नहीं कि आप लोगों को हायर करें, बल्कि आपके परिवार, रिश्तेदार, दोस्त और पड़ोसी भी आपके सपोर्ट सिस्टम बन सकते हैं, ताकि मुसीबत के व़क्त आपको मॉरल सपोर्ट मिल सके.

– मार्केट रिसर्च स्टार्टअप का बहुत ही महत्वपूर्ण पहलू है. अपने बिज़नेस आइडिया को हर तरह से तौलें. मार्केट में जो लोग पहले से ही उस बिज़नेस में हैं, उनसे उसके नकारात्मक पहलुओं को भी समझ लें. आंख मूंदकर कोई भी स्टार्टअप शुरू न करें.

– फाइनेंशियल इंवेस्टमेंट के साथ ही आपको इमोशनल इंवेस्टमेंट भी करना होगा. आपकी रोज़मर्रा की ज़िंदगी में बदलाव लाना होगा और आपको अपना नेटवर्क भी बढ़ाना होगा.

– स्टार्टअप के लिए यह समझना ज़रूरी है कि आप जो मुहैया करा सकते हैं, उसी का आश्‍वासन दें. लोगों को झूठा भरोसा न दिलाएं, वरना एक बार नाम ख़राब हुआ, तो आप उसकी भरपाई नहीं कर पाएंगे.

डिजिटल प्लेटफॉर्म का फ़ायदा उठाएं

– आज के डिजिटल युग में ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर मौजूदगी बेहद महत्वपूर्ण है, इसलिए जस्ट डायल और इंडिया मार्ट जैसे प्लेटफॉर्म चुनें.

– फेसबुक पर आपके स्टार्टअप का पेज होना ज़रूरी है.

– अगर आप फूड इंडस्ट्री से जुड़ रहे हैं, तो फूड डिलीवरी ऐप्स से आपका जुड़ना आपके लिए फ़ायदेमंद हो सकता है.

– डिजिटल प्लेटफॉॅर्म का इस्तेमाल करके भी अपने स्टार्टअप को ऑनलाइन पहचान दिला सकते हैं.

और भी पढ़ें: करें कम पैसों में ज़्यादा मुनाफेवाले ये 11 बिज़नेस (11 Business Ideas With Low Investment And High Profit)

 स्टार्टअप के लिए सरकारी योजनाएं

स्टार्टअप इंडिया

– स्टाटर्र्अप को प्रोत्साहित करने के लिए वर्ष 2016 में स्टार्टअप इंडिया की शुरुआत की गई थी. स्टार्टअप्स के लिए टैक्स में भारी छूट दी गई, ताकि ज़्यादा-से-ज़्यादा लोग इससे जुड़ें और रोज़गार के नए अवसर उपलब्ध हों

– स्टार्टअप के शुरुआती तीन साल तक आपको इन्कम टैक्स में छूट के अलावा फंड की सुविधा भी मिलती है.

– अगर आपके स्टार्टअप को अभी सात साल पूरे नहीं हुए हैं, तो आप इस योजना का लाभ उठा सकते हैं.

– चार हफ़्ते के फ्री ऑनलाइन लर्निंग प्रोग्राम के साथ फ्री लीगल एड की सुविधा भी मिलती है.

– लेबर लॉ और एंवायरन्मेंटल लॉ से भी राहत मिलती है.

अटल इनोवेशन मिशन

– टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में एंटरप्रेनरशिप को प्रमोट करने के लिए यह योजना बनाई गई है.

– देशभर में अटल टिंकरिंग लैब्स खुले हैं, जहां विद्यार्थी जाकर साइंस, टेक्नोलॉजी, इंजीनियरिंग और मैथ्स के टूल्स और इक्विपमेंट से ट्रेनिंग ले सकते हैं.

– स्टार्टअप्स को सपोर्ट करने के लिए बिज़नेस प्लानिंग सपोर्ट, इंडस्ट्री ट्रेनिंग आदि की सुविधा मिलती है.

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना

– मुद्रा योजना के तहत स्टार्टअप्स को लोन के साथ-साथ कई और सुविधाएं भी मिलती हैं.

– वर्ष 2015 में शुरू हुई इस योजना में सरकार नए स्टार्टअप्स को 10 लाख तक का लोन मुहैया कराती है.

– प्रधानमंत्री मुद्रा योजना से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए आप इस नंबर पर संपर्क करें:

टोल फ्री नंबरः 1800 180 1111 और 1800 110 001

साइटः www.mudra.org.in

मेलः [email protected]

स्टैंड अप इंडिया

– यह योजना ख़ासतौर से महिलाओं, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लिए बनाई गई है

– यहां आपको 10 लाख से 1 करोड़ तक का लोन मिल सकता है.

– हर बैंक की ब्रांच से स्टार्टअप शुरू करनेवाली एक महिला, अनुसूचित जाति या अनुसूचित जनजाति के व्यक्ति को बैंक की तरफ़ से टेक्निकल स्किल ट्रेनिंग दी जाएगी.

और भी पढ़ें: वेडिंग इंडस्ट्री में करियर की संभावनाएं (Career Opportunities In The Wedding Industry)

– सुनीता सिंह