Tag Archives: Govinda

मूवी रिव्यू: 4 अलग, पर लाजवाब फिल्में… (Movie Review: Fryday, Helicopter Eela, Jalebi, Tumbbad- These Movies Bring An Assortment Of Thrill And Brilliance)

Movie Review
फ्राईडे

साजिद कुरेशी और पीवीआर पिक्चर्स के बैनर तले बनी फ्राईडे फुल टाइमपास मूवी है. अभिषेक डोगरा का कमाल का निर्देशन है. गोविंदा की कमबैक के तौर पर ले सकते हैं. उनकी ग़ज़ब की कॉमेडी है और वरुण शर्मा ने भी उनका अच्छा साथ दिया है. अन्य कलाकारों में बृजेंद्र काला, दिगांगना सूर्यवंशी, प्रभलीन संधू, राजेश शर्मा, संजय मिश्रा ने भी अच्छा साथ दिया है. मनु ऋषि के संवाद बढ़िया है. मीका सिंह, अंकित तिवारी, प्रियंका गोयत, नवराज हंस के गाए गाने मज़ेदार हैं. गोविंदा के फैन के लिए यह फिल्म एक बेहतरीन तोहफ़ा है.

हेलिकॉप्टर ईला

प्रदीप सरकार का बेहतरीन निर्देशन है. आनंद गांधी के गुजराती नाटक बेटा कागड़ो पर आधारित है. इसकी कहानी आनंद गांधी और मितेश शाह ने मिलकर लिखी है.

काजोल सिंगल मदर है औरवो अपने बेटे रिद्धि सेन की अच्छी परवरिश करती है और हरदम उसके ईदगिर्द प्रोटेक्शन के तौर पर रहती है. लेकिन अति तब हो जाती है, जब वो कॉलेज में हरदम उसकी निगरानी करती रहती है. दरअसल, अपनी पढ़ाई पूरी करने के लिए वो बेटे के कॉलेज में ही एडमिशन लेती है. फिल्म वर्किंग व सिंगल मदर के संघर्ष को बख़ूबी बयां करती है. मां-बेटे की बॉन्डिंग, मां का अति सुरक्षात्मक रवैया, इससे बेटे की परेशानी, स्पेस के लिए बेचैन होना… सब कुछ बढ़िया बन पड़ा है. इमोशंस के साथ एक मैसेज भी देती है कि रिश्तों में स्पेस देना भी ज़रूरी है.

बेटे के रूप में रिद्धि सेन ने अपनी पहली फिल्म में प्रभावशाली अभिनय किया है. काजोल तो हमेशा से ही बेजोड़ अदाकारा रही हैं. हर सीन में वे ख़ूबसूरत, आकर्षक व बेहतरीन लगी हैं.

इनके साथ नेहा धूपिया, जाकिर हुसैन, टोटा राय चौधरी ने भी लाजवाब अभिनय किया है. अमित त्रिवेदी व राघव सच्चर का संगीत मधुर है. मम्मा की परछाई, यादों की आलमारी गाना अच्छा बना है. फिल्म में अमिताभ बच्चन, शान, और महेश भट्ट का कैमियो भी है.

 

जलेबी

मुकेश भट्ट की जलेबी वाकई में एक अर्थपूर्ण फिल्म है. पुष्पदीप भारद्वाज का तारीफ़-ए-काबिल निर्देशन है.

एक प्रेमकहानी है. जहां दो प्यार करनेवाले अलग हो जाते हैं. फिर दोनों की ट्रेन में मुलाक़ात होती है, जहां प्रेमी अपनी दूसरी पत्नी व बच्चे के साथ है. यादों का सिलसिला, आपसी जुड़ाव, ग़लती कहां हुई… आदि का सोच का दौर चलता है.

अपनी पहली ही फिल्म में वरुण मित्रा ने शानदार परफॉर्मेंस दिया है. साथ ही रिया चक्रवर्ती, दिगांगना सूर्यवंशी का अभिनय भी बेजोड़ है. यह बंगाली फिल्म प्रकटन की रीमेक है. तनिष्क बागची व जीत गांगुली का संगीत कर्णप्रिय है. गाने ख़ूबसूरत है, विशेषकर पल, तेरे नाम से… अरिजित सिंह, श्रेया घोषाल, ज़ुबिन नौटियाल, जावेद मोहसिन के गाए हर गीत मधुर हैं. कौसर मुनीर की पटकथा सशक्त है.

 

तुंबाड

निर्माता आनंद एल राय व सोहम शाह की तुंबाड फैंटेसी, हॉरर, पीरियड, हिस्टॉरिकल बेस फिल्म है. यह रहस्य, रोमांच व तिलिस्म से भरी सशक्त थ्रिल फिल्म है. सिनेमाटोग्राफी, कॉस्टयूम, आर्ट सब कुछ ख़ूबसूरत हैं.

साल 1920 के दौर की कहानी है, महाराष्ट्र के तुंबाड गांव में तीन पीढ़ियों से रह रहे ब्राह्मण परिवार की है. उनकी जमीदारी थी. वहीं पर वे बरसों से ख़ज़ाने की खोज  करते हैं, पर सफल नहीं हो पाते.

अपनी पहली ही फिल्म में राही अनिल बर्वे ने प्रशंसनीय निर्देशन दिया है. साथ ही सभी कलाकारों- सोहम शाह, हरीश खन्ना, रोजिनी चक्रवर्ती, मोहम्मद समद, ज्योति मालशे, अनीता दाते ने प्रभावशाली अभिनय किया है. रहस्य व रोमांच से भरपूर यह फिल्म दर्शकों को बांधे रखती है.  क्रिएटिव डायरेक्टर आनंद गांधी ने भी फिल्म को ख़ूबसूरत बनाने में पूरा योगदान दिया है. अजय-अतुल व जेस्पर कीड की म्यूज़िक लाजवाब है.

– ऊषा गुप्ता

यह भी पढ़े: शादी के बंधन में बंधे प्रिंस नरुला और युविका देखिए Pic और Video (Marriage Pics Of Prince Narula And Yuvika)

HBD Govida: देखें हीरो नंबर 1 गोविंदा के सुपरहिट डांस नंबर्स ( Happy Birthday Govinda)

Happy Birthday Govinda

90 के दशक के  हीरो नंबर 1 गोविंदा आज 54 वर्ष के हो गए. उनका जन्म 21 दिसंबर 1963 को मुंबई के विरार इलाक़े में हुआ था. गोविंदा के पिता का नाम अरुण कुमार आहूजा और मां का नाम निर्मला देवी था. गोविंदा अपने छह भाई-बहनों में सबसे छोटे हैं.

Happy Birthday Govinda

उनके पिता भी अभिनेता थे और मां गायिका थीं. पिता ने महबूब खान की 1940 की फिल्म ‘औरत’ में काम किया था. बॉलीवुड में 80 और 90 के दशक में गोविंदा ने नीलम, जूही चावला, करिश्मा कपूर, रवीना टंडन, रानी मुखर्जी, कादर खान, संजय दत्त, परेश रावल, सतीश कौशिक, जॉनी लीवर जैसे कलाकारों के साथ काम किया. गोविंदा के पिता ने ही उन्हें फिल्मों में अभिनय के लिए प्रेरित किया.  उन्होंने अभिनय के साथ-साथ डांस की कला भी सीखी. वह फिल्मकारों को अपने वीडियो कैसेट बनाकर भेजते थे. गोविंदा को अभिनेता बनने का पहला अवसर उनके मामा आनंद की फिल्म ‘तन बदन’ में मिला था. यह फिल्म बहुत हिट हुई थी और इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा. उनकी फिल्म ‘इल्जाम’ के गीत ‘स्ट्रीट डांसर’ ने उन्हें रातोंरात डासिंग स्टार बना दिया.
उनके जन्मदिन के अवसर पर सुनिए उनके सुपरहिट डांसिंग नंबर्स.
1. स्ट्रीट डांसर 

2. अंखियों से गोली मारे

3. सोना कितना सोना है

4. अ आ इ ई मेरे दिल न तोड़ो

5. हुस्न है सुहाना

6. एक लड़की चाहिए ख़ास ख़ास

7. यूपी वाला ठुमका लगाओ

8. उई अम्मा उई अम्मा

9. दिल जान ज़िगर

10. चंदा सितारे बिंदिया तुम्हारे

11. हम उनसे मोहब्बत करके

ये भी पढ़ेंः शुरू हुई तैमूर की बर्थडे पार्टी…कट किया केक, देखें बर्थडे की पिक्चर्स
[amazon_link asins=’B077PXPZHZ,B01MEBPA3G,B077PTDQ85,0241289297′ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’7f437f1a-e57a-11e7-b40c-0f21c4eef032′]

 

अनुराग की खिंचाई पर गोविंदा ने ऋषि कपूर की तारीफ़ की(“Thank You Rishi Sir, AT Last You Showed Concern”)

ऋषि कपूर द्वारा जग्गा जासूस के निर्देशक अनुराग बासु की आलोचना करने के एक दिन बाद गोविंदा ने एक अख़बार में दिए इंटरव्यू में ऋषि कपूर को धन्यवाद कहा. आपको बता दें कि ऋषि कपूर ने अनुराग बासु को फिल्म जग्गा जासूस की देरी के लिए जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने गोविंदा का केमियो रोल कटाने के लिए भी अनुराग बासु को आड़े हाथों लिया.


इस मुद्दे पर बोलते हुए गोविंदा ने कहा, “धन्यवाद ऋषि सर. अंततः आपने चिंता व्यक्त की. अच्छे लोग कभी ग़लत नहीं बोलते हैं.” ग़ौरतलब है कि ऋषि कपूर ने कहा था कि अगर अनुराग को गोविंदा का रोल रखना ही नहीं था, तो फिर उनसे पहले पूछा ही क्यों? गोविंदा ने जग्गा जासूस की शूटिंग पूरी कर ली थी, तब उन्हें बताया गया कि उनका रोल एडिट कर दिया गया है. इसके लिए गोविंदा के अनप्रोफेशनल रव्वैये को ज़िम्मेदार बताया गया था.

ये भी पढ़ें: जग्गा जासूस की नाकामी के लिए ऋषि कपूर ने अनुराग बासु को कोसा

उसके बाद गोविंदा ने बहुत-से टि्वट पोस्ट करते हुए कहा था कि मैंने जग्गा जासूस स़िर्फ ऋषि कपूर का मान रखने के लिए साइन किया था. अनप्रोफेशनल होने के इल्जाम को ग़लत बताते हुए गोविंदा ने कहा कि मुझे पता नहीं उन लोगों के दिमाग़ में क्या चल रहा था. वे अपनी ही दुनिया में मग्न थे और मुझे किसी ने कुछ बताया भी नहीं. गोविंदा ने अपने टि्वट में यह भी खुलासा किया था कि वे बीमार होने के बावजूद अपना रोल करने के लिए साउथ अफ्रिका गए थे.
बॉलीवुड और टीवी से जुड़ी और ख़बरों के लिए क्लिक करें.

फादर्स डे पर विशेष- पापा कहते हैं… (Father’s Day Special- B-Town Celebs ‘Love Messages’ For Their Fathers)

फादर्स डे
main_image-169696priyankaSunny-Deol-nice-hd-wallpapersalia-bhatt-12a160489-shahid-kapoorvivek oberoi
पिता- एक आधार, विश्‍वास, आदर्श, प्रेरणास्रोत, मार्गदर्शक, बेस्ट फ्रेंड, सुपर हीरो… हर शख़्स के दिल में अपने पिता के लिए जाने कितनी ही तरह की भावनाएं बहती रहती हैं. फिल्मी सितारे भी इससे अछूते नहीं हैं. देखें, अपने पिता के बारे में क्या कहते हैं कलाकार.

 

मिस यू…
मेरे पिता एक हैंडसम पठान थे. तमाम ख़ूबियों के बावजूद वे सादगीभरा जीवन जीने में विश्‍वास करते थे. वे मुझसे व मेरी बहन से दोस्ताना व्यवहार करते थे. बड़े-बुज़ुर्ग को मान-सम्मान देना, कड़वी बातों को भूल जाना व हालात कैसे भी हों, सच का दामन नहीं छोड़ना, ये हमने उनसे ही सीखा है. मैंने बहुत पहले उन्हें खो दिया था. आज भी उन्हें मिस करता हूं. फादर्स डे पर अपने पिता के बारे में सोचकर काफ़ी दुखी हूं कि वे आज हमारे बीच नहीं हैं, पर अपने बच्चों के बारे में सोचकर काफ़ी ख़ुश हूं कि उन्हें उतना भरपूर प्यार दे पा रहा हूं, जितना मेरे वालिद मुझे दिया करते थे.

– शाहरुख ख़ान

मेरे पापा मेरे हीरो…
सभी को फादर्स डे मुबारक हो! मेरे पापा मेरे हीरो रहे हैं. मेरी ज़िंदगी में उनकी जो जगह रही है, उसे न कोई ले सकता है और न ही कोई उनकी कमी को पूरा कर सकता है. उनसे मैंने बहुत कुछ सीखा, समझा व जाना है. वे मेरे सबसे अच्छे दोस्त भी थे. थैंक यू पापा.

– प्रियंका चोपड़ा

पापा पर हमें नाज़ है…
मेरे डैडी ऊपर से जितने मज़बूत दिखते हैं, अंदर से उतने ही नरम दिल इंसान हैं. मुझे इस बात की बेहद ख़ुशी होती है, जब लोग कहते हैं कि मैं अपने डैडी की तरह हूं. मेरा यह मानना है कि यदि मैं अपने डैडी की तरह पचास प्रतिशत भी हूं, तो मैं सफल अभिनेता हूं. डैडी को मेरा अभिनय इतना अच्छा लगता है कि यदि कोई मेरी आलोचना कर दे, तो नाराज़ हो जाते हैं.

– सनी देओल

जीने का नज़रिया डैड से सीखा…
मेरे डैड के ही कारण मैं यह समझ सका कि ज़िंदगी में आगे बढ़ना, सफल होना आसान नहीं होता, इसके लिए आपको कड़ी मेहनत करनी पड़ती है. डैड अपने काम के प्रति पूर्ण रूप से समर्पित हैं व उनमें धैर्य भी बहुत है. मैंने सही मायने में ज़िंदगी जीने का नज़रिया अपने डैड से ही सीखा है. मैं चाहता हूं कि मैं भी उनकी तरह एक नेक दिल इंसान बनूं.

– रितिक रोशन

उनके ख़्वाब को पूरा कर सका…
मैं आज जो कुछ भी हूं, उसमें मेरी मेहनत के अलावा मेरी मां-पापा की दुआएं भी शामिल हैं. मेरे पापा हमेशा कहते थे कि एक दिन मैं उनका नाम ज़रूर रोशन करूंगा. मुझे इस बात की ख़ुशी है कि इसमें मैं कुछ हद तक सफल रहा और उनके ख़्वाब को पूरा कर सका. पापा ने हमेशा ही मुझे सीख दी कि कामयाबी की बुलंदियों को छूना है, तो हमेशा सिंपल रहो यानी सफलता का गुरूर ख़ुद पर न होने दो.

– शाहिद कपूर

उनकी बेटियां सदा उनके पास रहें…
हर पिता की तरह मेरे पापा भी मेरी शादी नहीं करना चाहते हैं. पापा नहीं चाहते कि मैं और मेरी बहन शाहीन उन्हें छोड़कर कहीं जाएं. वे बहुत ही भावुक क़िस्म के इंसान हैं. वे तो हमारी शादी भी नहीं करना चाहते. उनकी बस यही चाहत है कि उनकी बेटियां सदा उनके पास रहें.

आलिया भट्ट

ख़ुद को सौभाग्यशाली मानता हूं…
पापा को अपने जीवन में पाकर मैं ख़ुद को बेहद सौभाग्यशाली मानता हूं. उन्होंने हमेशा ही न स़िर्फ मेरा मार्गदर्शन किया, बल्कि जीवन से जुड़ी खट्ठी-मीठी सच्चाइयों के बारे में बताया. उनकी ईमानदारी मुझे छूती है. वे कभी भी दिखावा नहीं करते. जब उन्होंने बर्फी देखी थी, तो उन्हें मेरा काम व फिल्म अच्छी लगी, पर उनका कहना था कि मैं आर्ट टाइप की फिल्में न करूं, क्योंकि वो सिनेमा थोड़ा अलग होता है. मैं उनकी सलाह का सम्मान करता हूं. वे बॉम्बे वेल्वेट में मेरे काम से ख़ुश हैं, जो मुझे और भी बेहतरीन करने के लिए प्रेरित करता है.

– रणबीर कपूर

भरपूर प्यार-प्रोत्साहन मिला…
मेरे पिता नंबर वन हैं. उन्होंने हम सभी के लिए अपनी ज़िंदगी में अब तक जो कुछ भी किया है, उसका कोई मोल नहीं है. उन्होंने हमेशा ही मेरा हौसला बढ़ाया है. मैंने अपने पिता को अपना आइडियल मानते हुए ही स्टंट हीरो के तौर पर अपने करियर की शुरुआत की थी. जितना प्यार और प्रोत्साहन मुझे अपने डैडी से मिला, उतना किसी से नहीं मिला. मुझे उन पर गर्व है.

– अजय देवगन

मैं भी उनकी तरह सुपरस्टार बनूं…
डैडी मुझे बेहद प्यार करते हैं. मेरी मुस्कुराहट व ख़ुशी के लिए न जाने कितने जतन करते हैं. डैडी का इतना प्यार देखकर मुझे लगता है कि दुनिया की सारी ख़ुशियां उनके क़दमों में लाकर रख दूं. मैं चाहता हूं कि मैं भी उनकी तरह ही सुपरस्टार बनूं, ताकि उन्हें भी मुझ पर वैसे ही गर्व हो, जैसे मुझे उन पर होता है.

– अभिषेक बच्चन

पिता को याद करता हूं, तो सुकून मिलता है…
मेरी ज़िंदगी में मेरे माता-पिता से बढ़कर कोई नहीं रहा, इसलिए मैंने हमेशा वही किया, जिससे उन्हें दिली ख़ुशी मिले. मेरे पिता हमेशा
चाहते थे कि मैं एक सफल अभिनेता बनूं, क्योंकि उन्होंने मुझे फिल्मों के लिए भटकते व ख़ूब संघर्ष करते हुए देखा था. लेकिन हमेशा मेरा हौसला बढ़ाते रहते थे और कहते थे कि मैं एक दिन ज़रूर कामयाब कलाकार बनूंगा. उनकी दुआओं का ही असर था कि मुझे न स़िर्फ फिल्में मिलीं, बल्कि सफल भी रहीं.

– गोविंदा

डैडी को हमेशा मुस्कुराते देखा…
अपने डैडी पर मुझे गर्व है. मैंने उनसे ही सीखा है कि यदि इरादे बुलंद हों, तो रास्ते अपने आप बनते जाते हैं. बस, आपमें कुछ कर दिखाने का जज़्बा होना चाहिए. संघर्ष के दौर में भी उन्होंने कभी हार नहीं मानी व इंडस्ट्री में अपनी एक अलग पहचान बनाई. हालात चाहे जैसे भी रहे हों, मैंने उन्हें हमेशा मुस्कुराते हुए देखा. अपने पिता की तरह मैं भी कुछ ऐसा ही करना चाहता हूं.

– विवेक ओबेरॉय

पापा को मुझ पर फ़ख़्र महसूस हो…
मेरी हमेशा यह ख़्वाहिश रहती थी कि मैं कुछ ऐसा कर दिखाऊं, जिससे मेरे पापा को मुझ पर फ़ख़्र महसूस हो. वे सख़्त स्वभाव के ज़रूर थे, पर उनका दिल बहुत कोमल था. वे जानते थे कि मैं कामयाब बन सकता हूं, पर वे चाहते थे कि मैं अपने बलबूते पर कुछ बनकर दिखाऊं. इसलिए मानसिक तौर पर भले ही उन्होंने मेरा साथ दिया, पर हीरो बनने के लिए मेहनत व संघर्ष मुझे ही करना पड़ा, लेकिन उनके इस नज़रिए ने मुझे हमेशा ही प्रभावित व प्रेरित किया.

– आमिर ख़ान

आई लव यू पापा…
मेरे पिता मेरे हीरो हैं. उनके जैसा कोई नहीं है. मुझे उनकी बेटी होने पर गर्व है. आई लव यू पापा.

– सोनम

amitabh

अमिताभ बच्चन- परिवार को जोड़े रखती हैं बेटियां…
बेटियां पिता की कमज़ोरी होती हैं व हमेशा रहेंगी. परिवार में बेटी के होने का आनंद उठाएं. बेटियां बहुत ख़ास होती हैं और वे परिवार को जोड़े रखने में भी मदद करती हैं. वे घर की आत्मा बन जाती हैं. वे उस प्यार, स्नेह व अपनेपन से हम सभी को अपना बना लेती हैं. वे विश्‍लेषण करती हैं, हिदायत देती हैं, रक्षा करती हैं, नियम बनाती हैं व उस नाज़ुक धागे को आगे बढ़ाती हैं, जो पूरे परिवार को एक साथ बांधे रखता है. वे सलाहकार हैं, ख़्याल हैं, पथ-प्रदर्शक हैं, वाक़ई में वे सर्वोच्च हैं.

– ऊषा गुप्ता

हैप्पी बर्थडे गोविंदा, हीरो नंबर 1 हुए 53 के, देखें उनके हिट गाने (Happy Birthday Govinda)

Happy Birthday Govinda

15585153_563633280509344_2900544824558488585_o (1)

हीरो नंबर 1 गोविंदा का आज है जन्मदिन. चीची हो गए हैं 53 साल के. विरार में 21 दिसंबर 1963 को जन्मे गोविंदा को विरार का छोरा कह कर भी बुलाया जाता है. रोमांस हो, कॉमेडी हो या नेगेटिव रोल हो गोविंदा ने अपने करियर में हर तरह का किरदार निभाया है. गोविंदा का पूरा नाम गोविंद अरुण आहूजा है. उनके पिता अरुण कुमार आहूजा ऐक्टर थे और उनकी मम्मी निर्मला देवी गायिका थीं. दोनों की ही ख़ूबियां गोविंदा को विरासत में मिली. चीची ना सिर्फ़ कमाल के ऐक्टर और डांसर हैं, बल्कि बहुत अच्छा गाना भी गाते हैं. गोविंदा ने एक महीने के भीतर लगभग 40 फिल्में साइन करके रिकॉर्ड भी बना दिया था. गोविंदा की फिल्मों में दूसरी पारी भी कमाल की रही है और हाल ही में गोविंदा ने दिल्ली में अपना रेस्टोरेंट भी शुरू किया है, जिसका नाम उन्होंने अपनी सुपरहिट फिल्म हीरो नंबर 1 के नाम पर रखा है.

मेरी सहेली (Meri Saheli) की ओर से गोविंदा को ए वेरी हैप्पी बर्थडे.

बर्थडे के मौक़े पर आइए, देखते हैं उनके 5 सुपरहिट गाने.

फिल्म- राजा बाबू

फिल्म- दुल्हे राजा

फिल्म- हीरो नंबर.1

फिल्म- दुलारा

फिल्म- द गैम्बलर

– प्रियंका सिंह

‘हीरो नंबर 1’ के नाम से गोविंदा ने दिल्ली में खोला रेस्टोरेंट (Govinda launches restaurant ‘Hero No.1’ in Delhi)

Govinda

Govinda

बॉलीवुड के हीरो नंबर 1 यानी गोविंदा ने अब अपनी इस फिल्म के नाम को दे दिया है होटल का रूप. गोविंदा का ये रेस्टोरेंट दिल्ली में है, जिसका उद्घाटन उन्होंने बुधवार को किया. 1997 में रिलीज़ हुई फिल्म हीरो नंबर 1 सुपरहिट थी और ये नाम सुनते ही गोविंदा की याद आ जाती है. ऐसे में इससे अच्छा नाम गोविंदा के रेस्टोरेंट के लिए हो ही नहीं सकता था. ये रेस्टोरेंट पश्चिमी दिल्ली के रजौरी गार्डन में है. इस मौक़े पर उनकी वाइफ सुनीता और बेटी टीना भी मौजूद थीं.

भाबीजी घर पर हैं में गोविंदा की ज़बरदस्त एंट्री (Govinda’s special appearance on Bhabiji ghar par hai)

mzj
कॉमेडी सीरियल्स में ‘भाबीजी घर पर हैं’ अपने अलग अंदाज़, अनोखे संवाद अदायगी के कारण शुरू से ही बहुत चर्चा में रहा है. तभी तो अधिकतर फिल्म स्टार्स अपने फिल्म के प्रमोशन के लिए इसमें आते हैं. गोविंदा अपनी फिल्म ‘आ गया हीरो’ के लिए इस शनिवार इसमें नज़र आएंगे. अब इसका प्रसारण एक दिन के लिए और बढ़ा दिया गया है यानी अब यह शनिवार को भी प्रसारित किया जाएगा. इसकी शूटिंग के दरमियान ही गोविंदा बीमार पड़ गए थे. पर इसके बावजूद न केवल उन्होंने शूटिंग पूरी की, बल्कि पूरी टीम के साथ काफ़ी वक़्त भी बिताया.

– ऊषा गुप्ता