Graphology as a Career

ग्रैफोलॉजिस्ट: लिखावट से जानें व्यक्तित्व, meri saheli magazine hindi

अगर आप को अक्षरों से बहुत प्यार है. लिखावट से यदि आप किसी के व्यक्तित्व का आकलन करने लगते हैं, तो समझ जाइए कि आप आगे चलकर एक बेहतरीन लिपि विशेषज्ञ बन सकते हैं.

क्या है ग्रैफोलॉजी?

लिखावट का वैज्ञानिक और कलात्मक रूप से विश्‍लेषण करना ग्रैफोलॉजी यानी लिपि विज्ञान है. किसी भी व्यक्ति की लिखावट से आप उसके पूरे व्यक्तित्व के बारे में जान सकते हैं, जैसे- यदि कोई व्यक्ति लिखते समय बार-बार डॉट्स (बिंदियों) का प्रयोग करता है, तो उसके अंदर आत्मविश्‍वास की कमी है. इसी तरह अगर आप हिटलर के सिगनेचर (हस्ताक्षर) को ध्यान से देखें, तो पता चलेगा कि वो हमेशा ऊपर की ओर बढ़ते हुए दिखाई देंगे, जो उसकी शक्ति को दर्शाता है. ऐसे लोग हमेशा अपनी ताकत के बल पर आगे बढ़ते रहते हैं. वो दुनिया को जीत लेना चाहते हैं.

शैक्षणिक योग्यता

ग्रैफोलॉजिस्ट बनने के लिए किसी ख़ास तरह की पढ़ाई नहीं करनी पड़ती, बस, आप में सीखने की लगन, तेज़ दिमाग़ और लोगों को पढ़ना आना चाहिए. साथ ही आपमें चीज़ों को जानने की जिज्ञासा और अच्छी कम्यूनिकेशन स्किल होनी चाहिए.

संबंधित कोर्स

  • हैंडराइटिंग एनालिसिस फॉर बिगिनर्स.
  • इवैलुएटेड ट्रेट्स हैंडराइटिंग एनालिसिस कोर्स.
  • प्रीपेयरिंग ग्रैफोलॉजी स्टडीज एंड रिपोर्ट्स.
  • सॉफ्टवेयर रिक्वॉयर्ड फॉर ग्रैफोलॉजी. 
  • एडवांस हैंडराइटिंग एनालिसिस.

प्रमुख संस्थान

  • कोलकाता इंस्टीट्यूट ऑफ ग्रैफोलॉजी, कोलकाता.
  • इंटरनेशनल ग्रैफोलॉजिकल रिसर्च सेंटर (आई.जी.आर.सी.), बैंगलुरू.
  • पुणे इंस्टीट्यूट ऑफ ग्रैफ्रोलॉजी, पुणे.

और भी पढ़ें: कैसे ढूंढ़ें सोशल मीडिया पर नौकरी?

रोज़गार की संभावनाएं

  • बड़े-बड़े कॉर्पोरेट हाउस अपने कर्मचारियों को नौकरी पर रखने से पहले उनकी अच्छी तरह से थ्री डी स्क्रीनिंग ग्रैफोलॉजिस्ट से ही कराते हैं.
  • अच्छी जॉब की तलाश में भी लोग अच्छे ग्रैफोलॉजिस्ट की सलाह लेते हैं.प लीगल मैटर्स में भी ग्रैफोलॉजिस्ट की ज़रूरत होती है. 

करियर संबंधी आर्टिकल्स के लिए यहां क्लिक करें: Career-Education