Tag Archives: green tea

आपके किचन गार्डन में छिपी हैं ये 9 होम रेमेडीज़ (9 Home Remedies Straight From Your Kitchen)

Home Remedies

क्या आप जानते हैं कि आपके किचन गार्डन (Kitchen Garden) में लगे पौधे (Plants) आपकी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं (Health Problems) को दूर करने में कितने मददगार साबित होते हैं? यदि नहीं, तो हम यहां पर बता रहे हैं कुछ ऐसे हर्ब्स और स्पाइसेस के बारे में, जिनके बारे में आपको बता भी नहीं होगा.

  1. गले में दर्द के लिए थाइम हर्ब
    Thyme for throat pain

सर्दी, ज़ुकाम और गले में खराश से राहत पाने के लिए थाइम बेस्ट ऑप्शन है. एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज़ से भरपूर थाइम बंद नाक को खोलता है. 1 कप पानी में 2 टीस्पून ड्राई थाइम लीव्स डालकर 10 मिनट तक उबाल लें. छानकर पीएं. दिन में 2 बार पीने से सर्दी-ज़ुकाम में आराम मिलता है.

2. सिरदर्द के लिए पिपरमिंट

Peppermint Plant

इसमें दर्द दूर करनेवाले औषधीय गुण होते हैं, जो तनाव और माइग्रेन के कारण होनेवाले सिरदर्द में आराम देते हैं. 1 कप पानी में 7-8 पुदीने के पत्ते डालकर ढंककर 10 मिनट तक उबाल लें. छानकर पीएं.

3. कमज़ोर याद्दाश्त के लिए लेमन बाम

 Lemon balm

लेमन बाम मिंट फैमिला का एक हर्ब है, जो आसानी से बाज़ार में मिल जाता है. लेमन बाम को सेवन करने से स्मरण शक्ति बढ़ती है. 1 कप पानी में 2 टीस्पून फ्रेश लेमन बाम डालकर 5 मिनट तक उबाल लें, छानकर पीएं. दिन में 2 बार पीने से याददाश्त बढ़ती है.

4. लो ब्लड प्रेशर के लिए हिबीसकस

Hibiscus Plant

लो ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने के लिए हिबीसकस टी पीएं. इसमें ऐसे एंटीऑक्सीडेंट्स कंपाउंड्स होते हैं, जो बैड कोलेस्ट्रॉल के ऑक्सीकरण को रोकने में मदद करते हैं.1 कप पानी में 8-10 हिबिसकस की पंखुड़ियां डालकर 10 मिनट तक उबाल लें, छानकर पीएं. दिन में 2-3 बार पीने से ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है.

और भी पढ़ें: आपके खाने का स्वाद बढ़ाएंगे ये 6 होममेड मसाला रेसिपीज़ (These 6 Homemade Masala Recipes Will Increase The Taste Of Your Food)

5. वेट लॉस के ग्रीन टी

Green Tea

ग्रीन टी में ऐसे एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो कैलोरीज़ को बर्न करके वज़न कम करते हैं और मेटाबॉलिज़्म को मज़बूत बनाते हैं. 2 कप पानी में 2 टीस्पून ग्रीन टी डालकर धीमी आंच पर 10 मिनट तक उबाल लें. छानकर पीएं. दिन में 2-3 बार ग्रीन टी पीने से वेट लॉस होता है.

6. ऑर्थराइटिस के दर्द के लिए जिंजर टी

Ginger Tea

अदरक में ऐसी एंटीइनेफ्लेमेट्री प्रॉपर्टीज़ होती हैं, जो ऑर्थराइटिस व सूजन संबंधी समस्याओं को दूर करने में करता है. जिंजर टी बनाने के लिए 2 कप पानी में अदरक का 1 टुकड़ा कूट कर डालें. 5-7 मिनट तक ढंककर उबाल लें. छानकर 1 टीस्पून शहद और स्वादानुसार नींबू का रस मिलाकर पीएं. 2 हफ़्ते तक लगातार दिन में 2-3 बार जिंजर टी पीएं. तुरंत आराम मिलेगा..

7. डायरिया के लिए कैमोमाइल टी

chamomile tea

2 कप पानी में सूखे कैमोमाइल फ्लावर डालकर 5 मिनट तक उबाल लें. छानकर 1 टीस्पून शहद मिलाकर पीएं. दिन में 2-3 बार कैमोमाइल टी पीने से डायरिया में आराम मिलता है.

8. तनाव दूर करती है बेसिल लीव्स

Basil leaves
तनाव का दूर करने के लिए बेसिल टी पीएं या रोज़ाना 8-10 बेसिल लीव्स चबाएं. बेसिल लीव्स में ऐसे एंटीऑक्सीडेंट्स प्रॉपटीज़ होती हैं, जो एंज़ायटी और तनाव का दूर करती हैं.

9. जलने पर फ़ायदेमंद है ऐलोवीरा जेल

vera gel

ऐलोवीरा जेल में मौजूद एंटीइंफ्लेमेट्री प्रॉपर्टीज़ जलन को दूर करती है. इसलिए जलने में तुरंत ऐलोवीरा जेल लगाएं.

और भी पढ़ें: कुकिंग की ये 9 टेक्नीक्स बनाएंगी आपके खाने को टेस्टी (These 9 Techniques Will Make The Food Tasty)

                              – देवांश शर्मा

8 अमेजिंग! डायट टिप्स फॉर वेट लॉस (8 Amazing! Diet Tip For Weight Loss)

Diet Tip For Weight Loss

बढ़ते वज़न से लगभग हर दूसरा व्यक्ति परेशान है, लेकिन कभी समय की कमी, तो कभी व्यस्तता और थकान के कारण हम वेटलॉस के लिए कुछ एक्स्ट्रा नहीं कर पाते. पर अगर रात को सोने से पहले कुछ आसान से नुस्ख़ें आज़माएं (Diet Tip For Weight Loss), तो न स़िर्फ बढ़ते वज़न को कंट्रोल कर सकते हैं, बल्कि वज़न को कम करके फिट भी रह सकते हैं.

पुदीना
पुदीने की ख़ुशबू से भूख कम लगती है और यह कैलोरीज़ बर्न करने में भी मदद करता है, इसलिए रात के खाने में पुदीने का इस्तेमाल करें. साथ ही मिंट की ख़ुशबूवाली कैंडल बेडरूम में जलाएं व तकिए पर मिंट
ऑयल लगाएं.

ग्रीन टी
रात को सोने से पहले ग्रीन टी पीने से शरीर का मेटाबॉलिज़्म बढ़ता है. मेटाबॉलिज़्म बढ़ने से शरीर रात को भी कैलोरीज़ बर्न करने की प्रक्रिया को धीमा नहीं होने देता, जिससे शरीर में एक्स्ट्रा फैट्स नहीं बनते.

Diet Tip For Weight Loss

दूध

रोज़ाना रात को सोने से पहले एक ग्लास गुनगुना दूध ज़रूर पीएं. दूध में मौजूद कैल्शियम और प्रोटीन से पाचन बेहतर होता है. साथ ही इसमें मौजूद पोषक तत्वों से नींद अच्छी आती है और वज़न भी नियंत्रण में रहता है. इसके अलावा आपके दांत और हड्डियां भी मज़बूत होते हैं.

कालीमिर्च
कालीमिर्च में फैट बर्निंग प्रॉपर्टीज़ होती हैं, जो एक्स्ट्रा कैलोरीज़ को बर्न करने में हमारी मदद कर सकती हैं. साथ ही यह मेटाबॉलिज़्म भी बढ़ाता है, जिससे रात में भी कैलोरीज़ बर्न होती हैं. कालीमिर्च शरीर में हाइड्रोक्लोरिक एसिड की मात्रा बढ़ाता है, जिससे पाचन क्रिया बेहतर रहती है. रात के खाने में कालीमिर्च शामिल करें, ताकि रात को भी वज़न घटाने की प्रक्रिया जारी रहे.

हरी मिर्च
एक शोध में यह बात साबित हो चुकी है कि हरी मिर्च खाने से वज़न कम करने में मदद मिलती है. इसमें मौजूद रासायनिक तत्व शरीर में फैट बर्निंग प्रक्रिया को तेज़ करते हैं, जिससे पेट का फैट तेज़ी से कम होता है.

यह भी पढ़ें: 5 हाई कैलोरी फूड्स, जो वेट लॉस के लिए हैं ज़रूरी

अमीनो एसिड
अमीनो एसिड से भरपूर डायट वेटलॉस में काफ़ी फ़ायदेमंद साबित होती है. डिनर में आप अमीनो एसिड के गुणों से भरपूर चीज़ें, जैसे- फिश, चिकन, अंडे, दालें, नट्स आदि को शामिल करें. अमीनो एसिड से सुकूनभरी नींद आती है, जिससे आपकी बॉडी अच्छी तरह रिकवर भी करती है और वज़न भी कम करती है.

प्रोटीन शेक लें
रात के खाने के बाद प्रोटीन शेक लें और डिनर में भी प्रोटीन की मात्रा बढ़ा दें. दरअसल, प्रोटीन हैवी होता है, जिसे पचाने के लिए बॉडी को रात को एक्स्ट्रा फैट्स बर्न करने पड़ते हैं. इससे शरीर का मेटाबॉलिक रेट सुबह भी हाई रहता है, जिससे वज़न कम करने में मदद मिलती है.

यह भी पढ़ें: स्वादिष्ट स्मूदी वेट लॉस के लिए

                                                                                                  – शैलेंद्र सिंह

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए क्या खाएं?(Top Immunity booster food)

best Immunity booster food

हमारी इम्यूनिटी काफ़ी हद तक हमारे खान-पान व लाइफस्टाइल से जुड़ी होती है. अगर आप भी चाहते हैं कि हमेशा हेल्दी और फिट रहें और बीमारियां आपके पास आने से भी डरें, तो आप भी ऐसी चीज़ें खाएं, जिनसे आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़े.

best Immunity booster food
इम्यूनिटी बढ़ानेवाले फूड्स

दही: प्रोबायोटिक्स, जिन्हें हम गुड बैक्टीरिया भी कहते हैं, दही में भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं. इनका नियमित सेवन इम्यूनिटी बढ़ाता है.
ग्रीन टी: यह एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होती है और इम्यून सिस्टम पर इसके सकारात्मक प्रभाव से आजकल सभी वाक़िफ़ हैं. कुछ शोध बताते हैं कि इसमें मौजूद पॉलीफीनॉल्स के एक प्रकार के कारण इंफ्लूएंज़ा के वायरस का ख़ात्मा होता है. तो रोज़ाना ग्रीन टी ज़रूर पीएं. इसका पूरा फ़ायदा लेने व कड़वापन दूर करने के लिए पानी उबलने से थोड़ा पहले ग्रीन टी मिलाएं और 1-2 मिनट से ज़्यादा पानी में ग्रीन टीन को न रखें. इसके स्वाद में इज़ाफ़ा करना हो, तो नींबू का रस व शहद मिलाकर पी सकते हैं, लेकिन दूध न मिलाएं, वरना प्रोटीन्स पॉलीफीनॉल्स के साथ मिलकर उसे बेअसर कर देंगे.
विटामिन डी: अमेरिका में एक अध्ययन किया गया, जिसमें यह पता चला कि जिन बच्चों को रोज़ाना विटामिन डी सप्लीमेंट्स दिए गए, उन्हें अन्य बच्चों के मुकाबले फ्लू होने की संभावना 40% तक कम हो गई. ऐसे माना जाता है कि विटामिन डी हमारे इम्यून सेल्स को उन बैक्टीरिया व वायरस को पहचानकर ख़त्म करने में मदद करता है, जो हमें बीमार कर सकते हैं. विटामिन डी आपको धूप से मिलेगा. खाने में साल्मन जैसी फैटी फिश से भी कुछ मात्रा में विटामिन डी मिल सकता है.
चिकन सूप: अगर सर्दी है, नाक बह रही है, तो चिकन सूप बेहतरीन इलाज है. यह कफ को पतला करके वायरस व बैक्टीरिया को बाहर निकालने में मदद करता है और आपके इम्यून सिस्टम को सर्दी से लड़ने में मदद करता है. चिकन सूप में थोड़ी हरी मिर्च मिलाकर और स्पाइसी बना लें, तो दुगुना लाभ होगा.
सोल्यूबल फाइबर्स: सिट्रस फ्रूट्स, सेब, गाजर, बींस और ओट्स सोल्यूबल फाइबर्स से भरपूर होते हैं. ये शरीर को विभिन्न प्रकार के शोथों से लड़ने में मदद करते हैं.
जौ और ओट्स: इनमें बीटा-ग्लूकैन होता है, जो एक तरह का फाइबर है, जिसमें एंटीमाइक्रोबियल और एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज़ होती हैं और यह कई तरह की बीमारियों व फ्लू से रक्षा करता है. यह इम्यूनिटी तो बढ़ाता ही है, साथ ही घाव को जल्दी भरने में मदद करता है और एंटीबायोटिक्स को भी और असरकारक बनाने में मदद करता है.
लहसुन: इसमें अलाइसिन नाम का तत्व होता है, जो इंफेक्शन्स और बैक्टीरिया से लड़ता है. जो लोग लहसुन का नियमित सेवन करते हैं, उन्हें सर्दी व अन्य इंफेक्शन्स होने की संभावना काफ़ी कम रहती है. यही नहीं, जो लोग एक हफ़्ते में लहसुन की 6 कलियां खाते हैं, उन्हें कोलोरेक्टल कैंसर होने की 30% संभावना और पेट के कैंसर की संभावना 50% तक कम होती है.
ब्लैक टी: हार्वर्ड की एक स्टडी में यह पाया गया, जिन लोगों ने 2 हफ़्तों तक दिन में 5 कप ब्लैक टी पी, उनके रक्त में अन्य लोगों की अपेक्षा 10 गुना अधिक वायरस से लड़नेवाले इंटरफिरॉन यानी विषाणु अवरोधक पाए गए. दरअसल, उसमें मौजूद अमीनो एसिड इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए ज़िम्मेदार है.
मशरूम: यह सेलिनियम (एक प्रकार का मिनरल) और एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है. सेलिनियम की कमी से फ्लू की संभावना बहुत हद तक बढ़ जाती है. साथ ही इसमें राइबोफ्लेविन और नायसिन भी पाए जाते हैं, जो इम्यून सिस्टम को हेल्दी रखते हैं.
तरबूज़: इसमें बहुत ही स्ट्रॉन्ग एंटीऑक्सीडेंट- ग्लूटाथायॉन होता है, जो इम्यून सिस्टम को मज़बूत करके इंफेक्शन्स से लड़ने में मदद करता है.
पत्तागोभी: इम्यूनिटी बढ़ानेवाले तत्व ग्लूटामाइन से यह भरपूर होती है. इसका सूप भी बनाकर पी सकते हैं या सब्ज़ी बनाकर खाएं.
बादाम: विटामिन ई से भरपूर बादाम भी रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं. विटामिन ई इम्यूनिटी को बढ़ाता है, साथ ही इसमें राइबोफ्लेविन और नायसिन भी होता है, जो तनाव के कारण हुए नुक़सान से उबरने में मदद करता है.
पालक: इसे सुपर फूड कहा जाता है. यह कई तरह के पोषक तत्वों से भरपूर होता है. नई कोशिकाओं के निर्माण व डीएनए के रिपेयर में मदद करता है. हेल्दी रहने के लिए व इसका भरपूर लाभ लेने के लिए हल्का या कम पके रूप में इसका सेवन करें.
शकरकंद: एंटीऑक्सीडेंट्स और बीटाकेरोटीन से भरपूर शकरकंदरोगप्रतिरोधक शक्ति बढ़ाता है और कैंसर से भी बचाव करता है.
एंटीऑक्सीडेंट्स: ब्रोकोली, हरी मिर्च, पपीता, संतरा, कीवी, स्ट्रॉबेरी, हरी पत्तेदार सब्ज़ियां भी एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होती हैं, जो इम्यून सिस्टम को मज़बूत करके आपको हेल्दी रखती हैं.

– गीता शर्मा

हेल्दी हेयर के लिए टॉप 10 सुपरफूड

लंबे, घने, रेशमी बालों के लिए स़िर्फ शैम्पू करना और कंडीशनर लगाना काफ़ी नहीं. बालों को सही पोषण देने के लिए हेल्दी डायट भी ज़रूरी है ताकि बालों को अंदर से मज़बूती मिले. हेल्दी हेयर के लिए अपने डेली डायट में इन टॉप 10 ब्यूटी फूड ज़रूर शामिल करें.

 

food for healthy hair

1. अंडे

अंडे में भरपूर मात्रा में प्रोटीन होता है. ये बालों को सही पोषण देता है.

2. बेरीज़

ब्लूबेरी, रसबेरी, स्ट्रॉबेरी और क्रेनबेरीज़ भी बालों की सेहत के लिए फ़ायदेमंद हैं. इनसे बालों में वॉल्यूम आता है और वो घने नज़र आते हैं.

3. गाजर

विटामिन ए से भरपूर गाजर भी बालों की सेहत के लिए अच्छा है. ये स्काल्प को हेल्दी बनाता है.

4. ग्रीन टी

विटामिन सी, डी और एंटीऑक्सिटेंड युक्त ग्रीन टी बालों को मज़बूत बनाती है, जिससेेबालों का झड़ना कम हो जाता है.

green tea

5. हरी सब्ज़ियां

हरी सब्ज़ियां शरीर और त्वचा के साथ ही स्वस्थ बालों के लिए भी फ़ायदेमंद होती हैं. अतः अपने खाने में ब्रोकोली, पालक और मेथी (पत्ते) ज़रूर शामिल करें.

6. अनाज

गेहूं और सोयाबीन जैसे साबूत अनाज आयरन, विटामिन बी और ज़िंक के अच्छे स्रोत हैं. ये बालों को हेल्दी बनाते हैं.

7. नट्स

अखरोट, काजू और बादाम ज़िंक व ओमेगा3 एसिड के अच्छे स्रोत हैं. ये बालों की ग्रोथ के लिए फ़ायदेमंद होते हैं.

8. लो फैट डेयरी प्रॉडक्ट्स

लंबे और चमकदार बालों के लिए अपने डेली डायट में लो फैट दूध और दही शामिल करें. इनसे न स़िर्फ बालों को मज़बूती मिलती है, बल्कि बाल शाइनी भी नज़र आते हैं.

Hair fruits

 

 

9. ऑयली फिश

विटामिन्स से भरपूर ऑयली फिश न स़िर्फ सेहत, बल्कि बालों के लिए भी फ़ायदेमंद हैं. ऑयली फिश से बाल ब्यूटीफुल और शाइनी नज़र आते हैं.

10. एवाकाडो

ओमेगा3 फैटी एसिड, विटामिन सी और ई के गुणों से भरपूर एवाकाडो डायट में ज़रूर शामिल करें. ये बालों को शाइनी और हेल्दी बनाता है.