hair colour

फ़ैशन और स्टाइल में तो सभी रहना चाहते हैं लेकिन कुछ सेलेब्स ऐसे होते हैं जो मेकअप से लेकर स्टाइल ट्रेंड फ़ॉलो नहीं करते बल्कि खुद ट्रेंड सेट करते हैं. ऐसी ही हैं ख़ूबसूरत एक्ट्रेस अदा शर्मा जो अपने हेयर कलर को लेकर अक्सर चर्चा में रहती हैं. वो काफ़ी एक्सपेरिमेंटल कलर्स को भी अपनाने से पीछे नहीं हटतीं और पूरे कॉन्फ़िडेंस से ऐसे कलर्स को भी कैरी करती हैं. यक़ीन ना हो तो आप खुद देख लें.

Adah Sharma
Adah Sharma
Adah Sharma
Adah Sharma

अदा ना सिर्फ़ हिंदी बल्कि तेलुगु फ़िल्मों का भी जाना माना नाम है. फ़िल्म 1920 में उनके काम की काफ़ी सराहना हुई थी और ये फ़िल्म बड़ी हिट भी साबित हुई थी. अदा काफ़ी खूबसूरत भी लगी थीं इस फ़िल्म में. हंसी तो फंसी फ़िल्म के बाद वो साउथ की फ़िल्मों में काम करने लगीं.

Adah Sharma
Adah Sharma
Adah Sharma
Adah Sharma

अदा तमिल ब्राह्मण परिवार में जन्मी थीं और मुंबई में पली बढ़ी हैं म. वो जिमनास्ट भी हैं और ट्रेंड क्लासिकल डांसर भी. वो तीन साल की उम्र से ही डांस करती आ रही हैं और उन्होंने कत्थक में ग्रैजुएशन किया है. उन्होंने जाज़ और बैले डांस की भी ट्रेनिंग ली है.

Adah Sharma
Adah Sharma
Adah Sharma
Adah Sharma

हिंदी और तेलुगु के अलावा अदा ने कन्नड़ फ़िल्मों और वेब सीरीज़ में भी काम किया है.

Adah Sharma
Adah Sharma
Adah Sharma

अदा की डान्सिंग स्किल्स की एक बड़ी वजह यह भी हो सकती है कि उनकी मां भी क्लासिकल डांसर हैं.

Adah Sharma
Adah Sharma
Adah Sharma
Adah Sharma

अदा ने वाक़ई अनोखे अंदाज़ में अपने हेयर स्टाइल aur कलर्स से एक्सपेरिमेंt किया है. कम लोग जानते हैं कि अदा ने कई फ़िल्मों के लिए ऑडिशन दिए थे लेकिन उनके रिजेक्शन की वजह बने उनके कर्ली हेयर और बहुत ज़्यादा यंग लुक. अब अपने हेयर लुक्स के कारण ही वो काफ़ी सुर्खियाँ बटोरती हैं.

Adah Sharma
Adah Sharma
Adah Sharma
Adah Sharma

यह भी पढ़ें: छोटी आनंदी अविका गौर हो गई हैं काफ़ी बड़ी, अपने लेटेस्ट फोटोशूट में लग रही हैं बेहद हॉट और ग्लैमरस (Glamorous Photoshoot: Avika Gor Looks Chic And Hot In Her Latest Pictures)

काम का तनाव, खानपान की गलत आदतों और शरीर में पोषक तत्वों की कमी के कारण असमय बाल सफ़ेद होने लगते हैं. बालों की सफेदी को छुपाने एक तरीका हेयर कलर करना, लेकिन हेयर कलर करना इतना आसान नहीं हैं, जितना आप सोच रहे हैं. सस्ती क्वालिटी वाले हेयर कलर को लगाने से एलर्जी या स्किन इन्फेक्शन भी सकता है. इसलिए हेयर कलर कराने से पहले कुछ बातों का खास ख्याल रखना बेहद आवश्यक है-

  1. यदि आप बालों में कलर करने की सोच रहे हैं, तो सबसे पहले अपने हेयर आर्टिस्ट से बात करें. हेयर आर्टिस्ट आपको आपकी पर्सनेलिटी के अनुसार हेयर कलर चुनने में आपकी मदद करेंगे कि आपकी पर्सनेलिटी पर कौन-सा कलर अच्छा लगेगा? किस कलर से आपके बालों को नेचुरल लुक मिलेगा? किस  कंपनी का कौन-सा ब्रांड अच्छा है, जिससे बाल शाइन और हेल्दी रहें? हेयर कलर लगाने से कोई स्किन और स्कैल्प इंफेक्शन तो नहीं होगा? हेयर कलर के बारे में जो बेसिक सवाल आपके मन में उठ रहे हों, उनके बारे में हेयर आर्टिस्ट से पूछें.
Applying Hair Colour
  • आर्टिस्ट की सलाहनुसार अपनी स्किन टोन के अनुसार हेयर कलर का चुनाव करें और हर बार उसी शेड वाले कलर को बालों में लगाएं. हर बार अलग-अलग शेड वाले कलर लगाने से बालों को नुकसान हो सकता है और आपका लुक भी बदला-बदला सा लगेगा.
  • बालों के लिए शेड का चुनाव सोच-समझकर करें. एक बार हेयर कलर कराने के बाद आप इसे 5-6  महीने से पहले निकाल नहीं पाएंगे.
  • बालों के लिए लाइट शेड चुनने के बजाय डार्क शेड का चुनाव करें. क्योंकि लाइट शेड हेयर कलर बालों को ज़्यादा डैमेज करते हैं और उन्हें ड्राई बनाते हैं
Applying Hair Colour
  • कलर के बाद बालों को डैंड्रफ बेस्ड शैंपू से न धोएं. ऐसा करने से डैंड्रफ वाले शैंपू में मिश्रित केमिकल्स बालों के कलर फेड कर सकते है.
Hair Colour Tips
  • बेहतर होगा कि बालों को किसी प्रोफेशनल से कलर कराएं, क्योंकि हेल्दी हेयर के लिए कलर के बाद स्पा और सीरम ट्रीटमेंट की आवशयकता होती है. इस ट्रीटमेंट को लेने से कलर अधिक समय तक बालों में टिका रहता है.
  • अगर आप पर ग्रीन, रेड, ऑरेंज और येलो कलर वाला फैब्रिक जंचता है, तो बालों के लिए गोल्डन ब्राउन, स्ट्रॉबेरी ब्लॉन्ड और गोल्डन ब्लॉन्ड कलर ट्राई कर सकते हैं. ये कलर आपकी पर्सनेलिटी को सूट करेंगे.
Hair Colour Tips
  •  यदि आप पर ब्लैक, ग्रे और वायलेट कलर वाले कपडे अच्छे लगते हैं, तो चॉकलेट ब्राउन और सैंड ब्लॉन्ड कलर्स बालों में लगा सकते हैं.
  •  उपरोक्त कलर के अलावा अगर आप पर पाइनग्रीन, ब्लैक और ब्लू अच्छा लगता है, तो ब्राउन, ऐश ब्लॉन्ड, प्लैटिनम या बरगंडी रंग कलर आपके लुक को खूब जमेगा.
  • हेयर कलर कराने से पहले बालों को शैंपू से अच्छी तरह वाश करें. क्योंकि गंदे और चिपचिपे बालों में कलर सही तरह से नहीं लगता.
Hair Colour Tips
  • गंदे बालों में कलर लगाने पर वह ज्यादा दिन तक नहीं टिकता है.
  • मेहंदी लगे बालों को कलर न करें. जब मेहंदी पूरी तरह से उतर जाए तो तभी बालों को कलर करें. मेहंदी लगे बालों पर कलर का रंग नहीं चढ़ता है.
  •  यदि स्कैल्प पर किसी तरह का इन्फेक्शन है, तो भूल कर भी बालों में कलर न कराएं. कलर में मिक्स कैमिकल संक्रमित स्कैल्प को हानि पहुंचा सकते हैं. ऐसे स्थिति में किसी प्रोफेशनल से सलाह लें. वह आपको बालों के टेक्सचर के मुताबिक सही कलर बताएंगे.
Hair Colour Tips
  • कलर करने के बाद भी सप्ताह में एक बार हेयर स्पा ज़रूर लें. यह बालों को हेल्दी रखने के साथ ही उनका कलर फेड होने से बचाता है.
  •  बालों की नरिशिंग के लिए सप्ताह में एक बार ऑयलिंग करें. ऑयलिंग करने से बालों की डॉयनेस कम होती है और बालों का झड़ना कम हो जाता है.
  • कलर करने के बाद स्विंमिंग कर रहें हैं, तो उस दौरान बालों को अच्छी तरह से कवर करें. पूल के पानी में क्लोरीन मिक्स होता है, जिससे बालों को नुकसान होता है.

और भी पढ़ें: लॉकडाउन के दौरान यूं रखें स्किन और बालों का ख़्याल… (Perfect Way To Take Care Of Your Skin And Hair During Lockdown)

आपके बालों की ख़ूबसूरती तब तक ही बनी रहती है, जब तक उनकी तुलना काली घटाओं से होती है. जहां कहीं इनमें समय से पहले स़फेदी झलकने लगी, इनकी सुंदरता भी कम होने लगती है. हालांकि आजकल बहुत से हेयर कलर्स व ऑप्शन्स हैं, जिनसे आप बालों की स़फेदी छिपा सकती हैं, लेकिन उन्हें अपनाने से पहले ये होम रेसिपीज़ आज़माएं और फिर देखें कमाल अपने महकते गेसुओं का.

1) ब्लैक टी सोल्यूशन
सामग्री:
दो टीस्पून काली चाय की पत्ती और एक कप पानी.
विधि: चाय की पत्ती को पानी में उबाल लें और कुछ देर तक उसी पानी में उसे भीगने दें. घोल को ठंडा होने दें और इस मिश्रण को धुले हुए बालों में अप्लाई करें. आधे घंटे बाद या जब यह सूख जाए, तो सादे पानी से बाल धो लें.
यह कैसे काम करता है?
ब्लैक टी में कैफीन होता है, जो एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है. यह सोल्यूशन बालों को शाइन भी देता है और ग्रे हेयर कवर करके बालों को नुक़सान नहीं पहुंचाता, बल्कि उन्हें मज़बूत करता है.


2) आंवला और मेहंदी पैक
सामग्री:
तीन टीस्पून आंवला पाउडर, एक कप मेहंदी पेस्ट और एक टीस्पून कॉफी पाउडर.
विधि: सारी सामग्री को मिक्स कर लें और यदि पेस्ट गाढ़ा लगे, तो पानी मिला लें. इस पेस्ट को बालों में लगा लें और ध्यान रखें कि सारे ग्रे हेयर कवर हो रहे हों. एक घंटे बाद माइल्ड शैंपू से बाल धो लें.
यह कैसे काम करता है?
आंवला और मेहंदी दोनों ही बालों को पोषण पहुंचाते हैं और मॉइश्‍चराइज़ भी करते हैं. इन दोनों का मिश्रण बालों के लिए नेचुरल कलर या डाई का काम करता है.


3) आंवला और मेथी मास्क
सामग्री:
आंवला पाउडर और साबुत मेथी.
विधि: मेथी को पीसकर उसमें आंवला पाउडर मिला लें. थोड़ा पानी मिलाकर गाढ़ा पेस्ट तैयार कर लें. इसे स्काल्प व बालों पर रातभर लगा रहने दें और अगली सुबह माइल्ड शैंपू से धो लें.
यह कैसे काम करता है?
आंवला विटामिन सी के गुणों से भरपूर होता है और सदियों से आयुर्वेद में इसका इस्तेमाल बालों की समस्याओं के निदान में होता आया है. इसी तरह से मेथी भी कई पोषक तत्वों से भरपूर है. इन दोनों का मिश्रण न स़िर्फ बालों को नेचुरल कलर देता है, बल्कि बालों को पोषण भी पहुंचाता है.


4) प्याज़ का रस
सामग्री:
दो-तीन टीस्पून प्याज़ का रस, एक टीस्पून नींबू का रस और एक टीस्पून ऑलिव ऑयल.
विधि: तीनों को मिक्स करके स्काल्प और बालों में मसाज करें. आधे घंटे बाद बाल धो लें.
यह कैसे काम करता है?
बालों को ब्लैक करने का यह बेहतरीन तरीक़ा है. यह कैटालेज़ एंज़ाइम को बढ़ाता है, जिससे बाल डार्क होते हैं. नींबू के रस के साथ यह बालों को बाउंस और शाइन भी देता है.

यह भी पढ़ें: बालों में तेल कब, कैसे और कितना लगाएं (How And When To Apply Hair Oil)


5) करीपत्ता और नारियल तेल
सामग्री:
एक कप करीपत्ता और एक कप तेल.
विधि: दोनों को तब तक उबालें, जब तक कि पत्तियां काली न हो जाएं. इसे ठंडा करके छान लें और बोतल में भरकर रख लें. हफ़्ते में दो-तीन बार रात को बालों में इससे मसाज करें और सुबह बाल धो लें.
यह कैसे काम करता है?
करीपत्ता विटामिन बी से भरपूर होता है, जो हेयर फॉलिकल्स में मेलामाइन पिग्मेंट को रीस्टोर करता है, जिससे बाल स़फेद होने से बचते हैं. यह बीटा केराटिन का भी अच्छा स्रोत है, जिससे बालों का झड़ना कम होता है.


6) बादाम तेल और नींबू का रस
सामग्री:
बादाम का तेल और नींबू का रस.
विधि: तीन भाग नींबू के रस में दो भाग बादाम का तेल मिलाकर स्काल्प व बालों में मसाज करें. आधे घंटे बाद धो लें.
यह कैसे काम करता है?
आल्मंड ऑयल विटामिन ई का अच्छा स्रोत है, जो बालों के लिए काफ़ी अच्छा माना जाता है. यह जड़ों को पोषण देकर बालों को स़फेद होने से बचाता है. इसी तरह नींबू भी विटामिन सी व कई अन्य तत्वों से भरपूर होता है, जो बालों को शाइन व बाउंस देता है.


7) नारियल तेल और नींबू का रस
सामग्री:
दो टेबलस्पून नारियल तेल और एक टेबलस्पून नींबू का रस.
विधि: दोनों को मिलाकर स्काल्प व बालों की मसाज करें और आधे घंटे बाद माइल्ड शैंपू से धो लें.
यह कैसे काम करता है?
यह स़फेद बालों को भले ही काला न करता हो, लेकिन यह बालों की स़फेद होने की प्रक्रिया को धीमा कर देता है, क्योंकि यह हेयर फॉलिकल्स में पिग्मेंट सेल्स को बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है.


8) कालीमिर्च और दही
सामग्री:
आधा टीस्पून कालीमिर्च पाउडर और एक कप दही.
विधि: दोनों सामग्री को तब तक ब्लेंड करें, जब तक कि पेस्ट में ग्र्रे कलर न आ जाए. इससे स्काल्प और बालों को मसाज करें. एक घंटे बाद माइल्ड शैंपू से बाल धो लें.
यह कैसे काम करता है?
इसके लगातार प्रयोग से बालों का कलर डार्क होता है और दही बालों को मॉइश्‍चराइज़ भी करता है.

यह भी पढ़ें: बाल झड़ने की 5 वजहें और कैसे रोकें बालों का झड़ना? (5 Reasons Of Hair Loss And How To Stop Hair Fall)


9) शिकाकाई पाउडर
सामग्री:
शिकाकाई पाउडर और दही.
विधि: दोनों को मिलाकर पेस्ट बना लें. स्काल्प व बालों में मसाज करें और आधे घंटे बाद धो लें.
यह कैसे काम करता है?
शिकाकाई शैंपू के तौर पर भी काम करता है और ग्रे हेयर की समस्या को भी कम करता है. सदियों से आयुर्वेद में बालों की देखभाल के लिए इसका ज़िक्र देखा गया है. यह स्काल्प को क्लीन और हेल्दी भी रखता है.

10) आलू के छिलके
सामग्री:
छह आलू के छिलके और दो कप पानी.
विधि: छिलकों को तब तक उबालें, जब तक कि गाढ़ा स्टार्च जैसा घोल न बन जाए. ठंडा होने पर छान लें और इसे फाइनल रिंस के लिए रखें. बालों को पहले धो लें, फिर इस घोल को बालों पर डालें और उसके बाद पानी न डालें.
यह कैसे काम करता है?
दरअसल यह घोल आपके स़फेद बालों को छिपाता है. यह स्टार्ची सोल्यूशन उनके पिग्मेंटेशन को गहरा दिखाकर ग्रे हेयर कवर कर लेता है और यह सबसे आसान तरीक़ा
भी है.
– विजयलक्ष्मी

बालों की ग्रोथ न स़िर्फ हमारी लाइफस्टाइल, बल्कि अच्छी-बुरी आदतों पर भी निर्भर करती है. अच्छी आदतें जहां बालों को स्वस्थ बनाती हैं, वहीं बुरी आदतों से बाल बेजान नज़र आते हैं. आइए, जानते हैं कौन हैं बालों के दोस्त और कौन हैं दुश्मन? 

 

बालों के दोस्त

 

dreamstime_m_22805780

तेल

तेल बालों का मुख्य आहार है. इससे बाल स्वस्थ होते हैं और स्वस्थ बाल तेज़ी से बढ़ते हैं. अतः सप्ताह में 3-4 बार बालों में तेल लगाकर मसाज करें. इससे बाल जड़ से मज़बूत होते हैं.

साफ़-सफ़ाई

साफ़-सुथरे बाल तेज़ी से बढ़ते हैं. अतः जब भी ज़रूरत महसूस हो, बालों को शैम्पू ज़रूर करें. संभव हो तो रोज़ाना या एक दिन छोड़कर शैम्पू करें. स्वच्छता से बाल स्वस्थ होते हैं और स्वस्थ बाल तेज़ी से बढ़ते हैं.

संतुलित आहार

बालों को जड़ से मज़बूत बनाना हो, तो अपने आहार में अंडे, हरी सब्ज़ियां, नट्स, ऑयली फिश, बेरीज़ शामिल करें, क्योंकि अंडे में प्रोटीन, हरी सब्ज़ियों में विटामिन्स और नट्स में ज़िंक और ओमेगा3 एडिस की मौजूदगी से बाल स्वस्थ व मज़बूत बनते हैं.

healthy diet for hair

ट्रिमिंग

हेल्दी-हैप्पी हेयर के लिए बालों की ट्रिमिंग भी ज़रूरी होती है. 2-3 महीने के अंतराल पर बालों को ट्रिम कराती रहें. इससे बाल घने नज़र आते हैं और तेज़ी से बढ़ते हैं.

योग व एक्सरसाइज़

नियमित योग व एक्सरसाइज़ से भी आप बालों को स्वस्थ व तंदरुस्त बना सकती हैं. अतः रोज़ाना नियमित रूप से योग या एक्सरसाइज़ करें.

बालों के दुश्मन

2

 

 

गंदगी

बालों को धूल-मिट्टी और गंदगी से बचाएं. साथ ही तेज़ धूप के संपर्क में आने से भी परहेज़ करें, वरना बाल रूखे, बेजान व कमज़ोर बन सकते हैं.

तनाव

स्ट्रेस बालों के जानी दुश्मनों में से एक है. अतः स्ट्रेस से बचें. किसी भी मुद्दे पर बहुत ज़्यादा सोच-विचार न करें. इसका आपके बालों पर नकारात्मक असर हो सकता है.

जंक फूड

तली-भुनी, मसालेदार चीज़ों के सेवन से बचें. साथ ही जंक फूड से भी परहेज़ करें. ये न स़िर्फ आपको शारीरिक तौर पर बीमार करते हैं, बल्कि इनके सेवन से बाल भी कमज़ोर हो जाते हैं.

good for hair
केमिकलयुक्त कलर

केमिकलयुक्त हेयर कलर या हेयर स्टाइलिंग से दूर रहें. हेयर कलर के इस्तेमाल से कई बार बाल स़फेद हो जाते हैं और केमिकलयुक्त हेयर स्टाइलिंग से बाल कमज़ोर हो जाते हैं.

कॉस्मेटिक हेयर ट्रीटमेंट

कॉस्मेटिक हेयर ट्रीटमेंट लेने से बचें, वरना बाल कमज़ोर होने के साथ ही झड़ भी सकते हैं. बेहतर होगा कि आप किसी ट्रेंड डर्मेटोजॉलिस्ट की निगरानी में हेयर ट्रीटमेंट लें.