Tag Archives: Hair Removing Tips

ये 10 चीज़ें आपको कर सकती हैं बीमार (10 Things Which Can Make You Sick)

ज्यादातर लोगों को यही लगता है कि टॉयलेट सीट से ज़्यादा गंदा और घातक कुछ नहीं हो सकता. लेकिन आपको यह जानकर आश्‍चर्य होगा कि हर रोज़ उपयोग में आनेवाली कुछ ऐसी चीजें भी हैं, जो टॉयलेट सीट से भी ज़्यादा गंदी और सेहत (Health) के लिए घातक होती हैं.

हमारे लाइफस्टाइल में कई ऐसी चीज़ें शामिल हैं, जिनका इस्तेमाल हम हर रोज़ करते हैं. हालांकि इन चीज़ों की साफ़-सफ़ाई का हम ख़ासतौर पर ख़्याल भी रखते हैं, बावजूद इसके ये चीज़ें हमारी सेहत के लिए हानिकारक साबित हो सकती हैं. दरअसल, रोज़ के कामों में इस्तेमाल की जाने वाली कई ऐसी चीज़ें हैं जिन्हें हम ख़ुद साफ़ करते हैं, इसलिए इनके इस्तेमाल के दौरान हमें लगता है कि ये चीज़ें सेहत को नुक़सान नहीं पहुंचा सकतीं. ये चीज़ें भले ही दिखने में हमें साफ़ नज़र आती हैं, लेकिन सेहत के लिए घातक साबित हो सकती हैं.

1- स्मार्टफोन

Things That Make You Sick
आज के इस दौर में स्मार्टफोन हर किसी के लिए सबसे बड़ी ज़रूरत बन चुका है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि आपके मोबाइल फोन पर टॉयलेट सीट से भी ज़्यादा बैक्टीरिया हो सकते हैं. जी हां, मोबाइल फोन पर लगे जर्म्स और बैक्टीरिया भले ही आपको नज़र न आएं, लेकिन आपका फोन आपको डायरिया और पेट से जुड़ी परेशानियां दे सकता है.

2- की-बोर्ड
आपके कंप्यूटर या लैपटॉप का की-बोर्ड भी आपको बीमार कर सकता है, क्योंकि इस पर आपकी टॉयलेट सीट से 200 गुना ज़्यादा बैक्टीरिया मौजूद रहते हैं. ऐसे में की-बोर्ड का इस्तेमाल करते समय बिना हाथ धोए खाने-पीने से आप बीमार हो सकते हैं.

3- तकिया

Things That Make You Sick
जिस तकिए पर हर रोज़ रात को सिर रखकर आप सुकून भरी नींद लेते हैं, वही तकिया आपको बीमार बनाकर रातों की नींद भी हराम कर सकता है. दरअसल, तकिए में भी टॉयलेट सीट की तरह ही घातक बैक्टीरिया पाए जाते हैं, जिनमें से अधिकतर हमारे शरीर की ही देन होते हैं.

4- रिमोट कंट्रोल

 remote control
टीवी का रिमोट कंट्रोल एक ऐसा डिवाइस है, जिसे घर के सभी सदस्य छूते हैं. कई बार रिमोट कंट्रोल बेड पर पड़ा रहता है या जमीन पर गिर जाता है. ऐसे में बीमारी फैलाने वाले ढेर सारे बैक्टीरिया उस पर आ जाते हैं. बार-बार रिमोट छूने और बगैर हाथ धोए खाने से बैक्टीरिया शरीर में प्रवेश कर जाते हैं और बीमारी का कारण बनते हैं.
5- रुपया
रुपए को दिनभर में कई सारे लोग अपने हाथों से छूते हैं. इतने सारे हाथों से गुज़रने की वजह से इसमें ढेर सारे हानिकारक बैक्टीरिया चिपक जाते हैं. एक शोध के मुताबिक़, एक नोट पर लगभग 3,000 अलग-अलग तरह के बैक्टीरिया मौजूद होते हैं जो हाथों से होते हुए मुंह के जरिए पेट में पहुंच सकते हैं और आपको बीमार कर सकते हैं.
ये भी पढ़ेंः 10+ अस्थमा से जुड़े मिथकों की सच्चाई (10+ Asthma Myths Busted)

6- एटीएम
एटीएम का इस्तेमाल दिनभर में न जाने कितने लोग करते हैं, जिनके चलते एटीएम मशीन के हर बटन पर अनगिनत बैक्टीरिया पनपने लगते हैं. अगर ये बैक्टीरिया आपके किसी घाव के संपर्क में आ जाएं तो आपको इंफेक्शन भी हो सकता है.
7- पर्स
घर से बाहर जाते समय ज़्यादातर लोग पर्स या वॉलेट का इस्तेमाल करते हैं. कई बार हम पर्स को दुकान के काउंटर, बाथरूम के स्टॉल्स या कार की सीट पर रख देते हैं, जिससे इस पर ढेर सारे बैक्टीरिया आ जाते हैं. पर्स के जरिए ये बैक्टीरिया आपके शरीर में प्रवेश करके आपको बीमार कर सकते हैं.
8- स्पंज
जिस स्पंज का इस्तेमाल गंदे बर्तनों को साफ़ करने के लिए किया जाता है, उस स्पंज में भी टॉयलेट सीट से ढाई लाख गुना ज़्यादा बैक्टीरिया पाए जाते हैं. दरअसल, स्पंज ज़्यादातर समय गीला ही रहता है इसलिए ये सेहत के लिए खतरनाक भी साबित हो सकता है.
9- टूथब्रश

Toothbrush
रोज़ सुबह उठकर आप जिस ब्रश से अपने दांतों की सफ़ाई करते हैं, उसी ब्रश पर टॉयलेट के बैक्टीरिया भी मौजूद हो सकते हैं. दरअसल, जब भी हम फ्लश का इस्तेमाल करते हैं, तो उसके फोर्स से टॉयलेट के बैक्टीरिया हवा में आ जाते हैं और अगर उसी बाथरूम में आप अपना ब्रश रखते हैं तो ये बैक्टीरिया इस ब्रश पर आ जाते हैं.

10- सोप डिस्पेंसर्स
आप जिस सोप डिस्पेंसर का इस्तेमाल हाथ धोने के लिए करते हैं, वो आपको बीमार भी कर सकता है. ख़ासतौर पर पब्लिक टॉयलेट्स में लगे सोप डिस्पेंसर्स पर इतने ज़्यादा बैक्टीरिया मौजूद होते हैं कि वे अगर शरीर में पहुंच गए तो आपको पेटदर्द की तकलीफ़ हो सकती है.

ये भी पढ़ेंः क्या कवर नहीं करती आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी (What Your Health Insurance Policy Will Not Cover?)

क्या पीरियड्स के दौरान वैक्सिंग नहीं करना चाहिए? (Can We Get Waxing Done During Periods?)

क्या पीरियड्स के दौरान वैक्सिंग नहीं करना चाहिए? मैंने ये महसूस किया है कि पीरियड्स के दौरान वैक्सिंग कराने से मुझे स्किन में बहुत जलन होती है? ऐसा क्यों होता है?

Waxing

वैक्सिंग के बाद त्वचा में होनेवाली जलन से बचना चाहती हैं, तो भूल से भी पीरियड्स के दौरान वैक्सिंग न करवाएं. पीरियड्स के दौरान, ख़ासकर शुरुआती तीन दिनों में स्किन काफ़ी सेंसिटिव हो जाती है, जिससे न सिर्फ़ वैक्सिंग के दौरान, बल्कि वैक्सिंग के बाद भी त्वचा में जलन महसूस होती है. अतः हमेशा ये कोशिश करें कि पीरियड्स के दौरान वैक्सिंग न कराएं. यदि पीरियड्स के दौरान वैक्सिंग कराना ज़रूरी हो, तो वैक्सिंग के बाद त्वचा का ख़ास ध्यान रखें.

यह भी पढ़ें: मेरे नाखून बार-बार टूट क्यों जाते हैं? (10 Nail Care Tips Every One Should Know)

 

वैक्सिंग के बाद होने वाली जलन से बचने के आसान घरेलू उपाय:
* वैक्सिंग के बाद हाथोें में कोल्ड क्रीम लगाएं. ऐसा करने से आपको जलन से राहत मिलेगी.
* वैक्सिंग के बाद टी ट्री ऑयल भी लगा सकती हैं. इस तेल में एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं जो खुजली और सूजन को कम करते हैं.
* यदि वैक्सिंग के बाद त्वचा में खुजली हो रही है, तो आधा कप नारियल तेल में 1 कप चीनी डालें और इस मिश्रण को स्क्रब की तरह इस्तेमाल करें. नारियल तेल मे एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं, जिससे त्वचा में होने वाली खुजली दूर होती है. नारियल तेल स्किन कोे हाइड्रेट भी करता है.

सॉफ्ट हाथों के लिए घर पर बनाएं लेमन स्क्रब, देखें वीडियो: