Tag Archives: happy marriage

15 इफेक्टिव रेज़ोल्यूशन हैप्पी मैरिड लाइफ के लिए (15 Most Effective Resolution for Happy Married Life)

Married Life

कल थे अजनबी, आज हमसफ़र हैं… दिलों की नज़दीकियां हैं, तो सोच के फ़ासले भी कम नहीं… क्यों न कुछ ऐसा करें, कुछ तुम बढ़ो, कुछ हम बढ़ें… इसके लिए आपको कुछ रिज़ोल्यूशन यानी संकल्प भी बनाने होंगे, ताकि वैवाहिक जीवन ताउम्र ख़ुशहाल बना रहे.

 

Married Life

ज़िंदगी के सफ़र में आपके हाथों में किसी का हाथ हो और हर क़दम किसी का साथ मिल जाए, तो ज़िंदगी कितनी ख़ुशगवार हो जाती है. अब इसे प्रकृति का नियम कहें या हमारी ज़रूरत, लेकिन ज़िंदगी जीने के लिए हर किसी को एक साथी की ज़रूरत होती है. और यदि अपने जीवनसाथी के साथ ख़ुशहाल वैवाहिक जीवन बिताना है, तो कुछ रिज़ोल्यूशन भी बनाने होंगे. यहां पर हम आपको ऐसे ही 15 रिज़ोल्यूशन बता रहे हैं, जिन्हें निभाने के बाद आपके रिश्तों में जीवनभर मिठास बनी रहेगी.

1. शादी के सातों वचन निभाने का रिज़ोल्यूशनः अपनी शादी के दिन को कभी न भूलें. यह आपको हमेशा याद दिलाएगा कि आपने शादी के समय क्या वचन लिए थे. उन सातों वचनों को निभाने के लिए प्रतिबद्ध रहें. ख़ुद से वादा करें कि मैं अपने साथी के साथ किए गए विवाह की वजह अर्थात् प्रेम को कभी नहीं भूलूंगा या भूलूंगी. इसके लिए सबसे अच्छा उपाय यह है कि अपनी शादी का वीडियो साथ बैठकर देखें.

2. कम्युनिकेशन बनाए रखने का संकल्पः संवाद स़िर्फ शादीशुदा रिश्ते के लिए ही नहीं, बल्कि हर रिश्ते के लिए जादू का काम करता है. रिलेशनशिप एक्सपर्ट रेवा जोशी बताती हैं कि संवादहीनता वैवाहिक जीवन की सबसे बड़ी समस्या है. यदि आप अपने पार्टनर से नाराज़ हैं या उनसे आपकी कुछ अपेक्षाएं हैं, तो अपने साथी से प्रत्यक्ष बात करें. उनसे जुड़ी अपनी शिकायतें उनसे ही शेयर करें. उन्हें किसी और के साथ न बांटें, वरना आप दोनों के बीच में ग़लतफ़हमियां बढ़ेंगी. वैवाहिक जीवन में छोटे-मोटे झगड़े-शिकायतें सामान्य हैं और इन्हें बातचीत द्वारा ही सुलझाया जा सकता है, पर संवादहीनता धीरे-धीरे आपके रिश्ते मेें बिखराव उत्पन्न कर देती है.

3. अपने साथी को समय देनाः आज की जीवनशैली में यह रिज़ोल्यूशन सबसे महत्वपूर्ण है, वहीं इसे निभा पाना शायद आपके लिए सबसे ज़्यादा मुश्किल होगा. शहरी कपल्स की यह बहुत बड़ी समस्या है. यह सच्चाई है कि करियर व पैसे की भागदौड़ में दोनों को साथ बैठकर बातें करने के लिए पर्याप्त समय नहीं मिल पाता, लेकिन शायद आप नहीं जानते कि आप इसकी क्या क़ीमत चुका रहे हैं? आप दोनों के बीच समय की कमी मीलों के फ़ासले बना रही है. स़िर्फ साथी को समय देना ही महत्वपूर्ण नहीं है, बल्कि उसे क्वालिटी टाइम देना भी ज़रूरी है. अर्थात् जब आप अपने साथी के साथ हों, तब आप अपने तनावों के साथ न बैठें,बल्कि अपना पूरा ध्यान उसी पर केंद्रित करें. पार्टनर को ऑफ़िस ड्रॉप करें, उसे लेने जाएं या छुट्टी का पूरा दिन साथ बिताएं. अपने हर पल में अपने साथी को शामिल करने की कोशिश करें.

4. झगड़ों के समय संयम न खोनाः झगड़े वैवाहिक जीवन का अभिन्न अंग हैं, पर झगड़े के समय अपना संयम और विवेक न खोएं. ज़्यादातर समस्याएं इसलिए होती हैं, क्योंकि झग़ड़ते समय हम क्या कह रहे हैं, इस पर हमारा नियंत्रण नहीं होता है. लेकिन बाद में जब झगड़ा ख़त्म हो जाता है या यूं कहें कि हम शांत हो जाते हैं, तो हमें अपने किए पर पछतावा होता है. झगड़ते समय साथी या उसके रिश्तेदारों को अपशब्द न कहें, न ही किसी प्रकार की मार-पीट करें. नोंक-झोंक आपके रिश्ते में नमक का काम करती है, जो आपके रिश्ते का स्वाद बढ़ाती है, पर अगर नमक ज़रूरत से ज़्यादा पड़ जाए, तोे पूरा स्वाद ख़राब हो जाता है.

5. स्पर्श का जादू चलाने का वादाः व्यस्तता के बावजूद छोटे-छोटे पल चुराकर अपने साथी को स्पर्श करना न भूलें. यकीन मानिए, आपकी इस तरह की शरारतों का पार्टनर कभी भी बुरा नहीं मानेंगे, बल्कि मन ही मन ख़ुश होंगे. याद रखिए, आपके द्वारा दिया गया एक आलिंगन या उंगलियों की छुअन आपके साथी को आपके प्यार के बंधन में बांधे रखेगी और हर तनाव से मुक्त कर नया आत्मविश्‍वास पैदा करेगी.

यह भी पढ़ें: 6 AMAZING लव रूल्स हैप्पी लव लाइफ के लिए

6. मान-सम्मान देनाः आप हमेशा अपने साथी से मान-सम्मान की अपेक्षा करते हैं, पर इसके लिए आपको सबसे पहले अपने साथी को भी आदर देना होगा. उसकी भावनाओं का सम्मान करना होगा. उससे जुड़े अन्य लोगों का भी सम्मान करना होगा.

7. ग़लती को माफ़ करनाः यदि आपका साथी अपनी किसी ग़लती को स्वीकारने आपके पास आया है, तो कभी भी उसे रिजेक्ट करने या उस पर ग़ुस्सा करने की ग़लती न करें, क्योंकि आपके ऐसा करने पर वह फिर कभी भी आपसे सच कहने या माफ़ी मांगने की हिम्मत नहीं कर पाएगा. उसे समझें और माफ़ कर दें. यह न भूलें कि क्षमा करके जीवन में आगे बढ़ जाने में ही समझदारी है.

8. अभिमान न करनाः वैवाहिक जीवन में अभिमान या ईगो कभी न आने दें. चाहे आप अपने साथी से ज़्यादा कमाते हों, ज़्यादा सुपीरियर हों, ज़्यादा पढ़े-लिखे हों, पर किसी बात का ईगो न पालें, न ही घमंड करें. ईगो प्रेम और विश्‍वास को ख़त्म कर देता है.

9. शक न करनाः यदि आपके साथी का कोई स्त्री या पुरुष मित्र है, तो परेशान न हों. अगर किसी वजह से पार्टनर को ऑफ़िस से आने में देरी हो जाए, तो तुरंत अपने शक की सुई उसे न चुभोएं. रिएक्ट करने से पहले देरी से आने की वजह सुन लें. शक करना बहुत आसान है, पर विश्‍वास करना बहुत ही मुश्किल, लेकिन याद रखें विश्‍वास आपको ख़ुशहाल ज़िंदगी की ओर ले जाएगा.

10. अपमान न करनाः आप दोनों के रिश्ते के उतार-चढ़ाव नितांत निजी हैं. उसे बाकी लोगों के सामने न आने दें. अपने साथी को कभी किसी के सामने अपमानित न करें. ऐसा कोई कार्य न करें, जिससे उनका स्वाभिमान आहत हो. आपको एक-दूसरे का साथ देना है, न कि लोगों के सामने एक-दूसरे को नीचा दिखाना है. यदि आप अपने साथी को उनकी किसी ग़लती का एहसास कराना चाहते हैं, तो इसके लिए उन्हें लोगों के सामने शर्मिंदा न करें, बल्कि अकेले में बताएं.

11. ज़िम्मेदारियों से न बिदकने का संकल्पः शादीशुदा ज़िंदगी में स़िर्फ पति-पत्नी ही नहीं होते, बल्कि धीरे-धीरे कई सारी ज़िम्मेदारियां भी आ जाती हैं, जैसे- बच्चों की ज़िम्मेदारी, माता-पिता की ज़िम्मेदारी आदि. ऐसी कोई भी ज़िम्मेदारी आने पर पीछे न हटें, बल्कि उन्हें निभाने में अपने साथी का साथ दें.

12. छुट्टियों पर जानाः अपनी व्यस्त जीवनशैली से कुछ समय निकालकर कुछ दिन अपने साथी के साथ छुट्टियों पर ज़रूर जाएं. सेकंड हनीमून प्लान करने में भी कोई बुराई नहीं है.

13. पार्टनर को नज़रअंदाज़ न करनाः अपने जीवन के हर छोटे-बड़े ़फैसले में अपने साथी को शामिल करें. कहीं पर या कभी भी उसे नज़रअंदाज़ न करें. उन्हें बताएं कि आपके लिए वे कितने महत्वपूर्ण हैं.

14. बहुत प्यार करने का वादाः याद रखिए, चाहे जितने झगड़े या वाद-विवाद हों, दिन के आख़िर में जीत आपके प्यार की होनी चाहिए. अपने आपसी मतभेद सोने से पहले सुलझाने की कोशिश करें. कभी भी अपने झगड़ों के साथ सोने न जाएं. याद रहे, आपके प्रेम से ज़्यादा महत्वपूर्ण कुछ भी नहीं है.

15. सारे रिज़ोल्यूशन निभाने का रिज़ोल्यूशनः यह संकल्प सबसे ज़रूरी है. हमेशा ख़ुद से किए हर वादे या संकल्प को याद रखें और उसे पूरी ईमानदारी से निभाने की कोशिश करें.

– विजया कठाले निबंधे

यह भी पढ़ें: सेक्स रिसर्च: सेक्स से जुड़ी ये 20 Amazing बातें, जो हैरान कर देंगी आपको

सफल शादी के 25+ amazing बेनीफिट्स(25+ super amazing benefits of happy married life)

benefits of happy married life

शादी ख़ुशहाल जीवन के लिए तो ज़रूरी है ही, साथ ही एक सर्वे के अनुसार शादी व ख़ुशी (benefits of happy married life) के बीच एक पॉज़ीटिव रिलेशनशिप होता है, जिससे शादीशुदा लोग अविवाहितों की तुलना में अधिक ख़ुुश रहते हैं. सफल शादीशुदा जीवन बिताने वाले लोग ज़्यादा ख़ुश व लंबा जीवन भी जीते हैं.

benefits of happy married life

सफल शादी के बेनीफिट्स

1. सफल शादी एक सुरक्षा कवच की तरह होती है, जो पति-पत्नी दोनों को एक निश्‍चिंत जीवन जीने का आश्‍वासन देती है.
2. ऐसे कपल बहुत शांत और बेफ़िक्र ढंग से न स़िर्फ परिवार को सुखमय बनाने में क़ामयाब रहते हैं, बल्कि अपने करियर में भी निरंतर आगे बढ़ते रहते हैं.
3. सफल शादी में शेयरिंग करने से पति-पत्नी दोनों जहां एक तरफ़ अपनी सारी परेशानियों से बाहर निकल आते हैं, वहीं फ़ाइनेंशियली भी बहुत सिक्योर महसूस करते हैं.
4. शारीरिक संतुष्टि अगर एक तरफ़ उन्हें कुंठा से बचाती है, तो दूसरी ओर साथ होने का विश्‍वास व एहसास, उन्हें मानसिक रूप से भी सक्षम बनाता है.
5. सुख-दुख में कोई उनके साथ है, यह एहसास इतना स्ट्रॉन्ग होता है कि वे किसी भी तरह की चुनौती का सामना करने को तत्पर रहते हैं.
6. यदि उनके साथ कुछ ग़लत या बुरा हो भी गया, तो उनका पार्टनर उन्हें सपोर्ट करेगा और उस
स्थिति से बाहर आने में मदद करेगा, यह बात उन्हें बड़े से बड़े ़फैसले लेने में भी मदद करती है.
7, पार्टनर का साथ पति-पत्नी दोनों को एक कॉन्फ़िडेंस देता है, जिसके बल पर वे कठिन से कठिन परिस्थितियों का सामना करने के लिए भी तैयार रहते हैं.
8.सफल शादी पति-पत्नी को हमेशा ख़ुशी के एहसास से भरे रहती है, जिससे उन्हें पॉज़ीटिव इमोशन्स का अनुभव होता है और अभाव या परेशानियां होने के बावजूद वे निराश या कुंठित नहीं होते हैं.
9. उन्हें इस बात का डर नहीं सताता कि यदि कल किसी वजह से वे मुसीबत से घिर जाते हैं, तो उनका भविष्य ख़राब हो सकता है.
10. जीवनसाथी किसी प्रकार की दुविधा होने या निर्णय लेने की स्थिति में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. उस पर आंख बंद करके विश्‍वास किया जा सकता है कि वह उसका अहित नहीं करेगा, इसलिए उसके निर्णय से उलझन को सुलझाने में मदद मिलती है.
11. सफल शादी से स्ट्रेस लेवल कम होता है.
12. अकेला व्यक्ति जब घंटों किसी चीज़ में उलझा रहता है, तो उसका डिप्रेशन का शिकार होना स्वाभाविक है, पर सफल विवाहित जोड़ों के साथ ऐसा नहीं होता है.
13. उसकी ख़ुशी न स़िर्फ उसके चेहरे, हाव-भाव, बातचीत करने के ढंग आदि से झलकती है, बल्कि वह उसकी परफ़ॉर्मेंस में भी दिखाई देती है.
14. जब तनाव न हो, तो मन शांत रहता है और काम करना बोझ नहीं लगता. फिर चाहे वह घर का काम हो या ऑफ़िस का, व्यक्ति मन लगाकर करता है.
15. काम से थकने पर पार्टनर से कुछ पल बात कर वह फ्रेश हो जाता है.
16. घर का टेंशन फ्री माहौल उसे हमेशा दुखी व च़िड़चिड़ा होने से बचाता है.
17. जहां पति-पत्नी दोनों वर्किंग होते हैं, वहां एक पार्टनर के बीमार होने या नौकरी छूट जाने पर भी टेंशन नहीं होती. पार्टनर का इमोशनल सपोर्ट भी लगातार मिलने से उसका मनोबल नहीं टूटता. जो साथी काम कर रहा है, उसकी आय से घर चलता रहता है.
18. एक सर्वे के अनुसार, जिन पुरुषों का वैवाहिक जीवन सफल होता है, वे अपने वर्कप्लेस में भी सक्सेसफुल होते हैं. वे न तो ज़्यादा छुट्टियां लेते हैं और न ही ऑफ़िस देर से पहुंचते हैं.
19. सफल शादीशुदा कपल्स की मेंटल हेल्थ पऱफेक्ट होती है. स्ट्रेस-फ्री लाइफ़स्टाइल आपको फिज़िकली ही नहीं, मेंटली भी फ़िट रखता है.
20. घर में अगर तनाव नहीं रहता, तो बाहर जाकर कुछ करने में झुंझलाहट महसूस नहीं होती है. तब पति-पत्नी दोनों की प्रतिभा खुलकर सबके सामने आती है.

यह भी पढ़ें: इन 9 बेवजह के कारणों से भी होते हैं तलाक़

सफल शादीशुदा जीवन बिताने वाली पत्नियों को होनेवाले कुछ ख़ास फ़ायदे

21. जिन महिलाओं का वैवाहिक जीवन क़ामयाब रहता है, वे खुले मन और सोच के साथ काम कर पाती हैं, जिससे तरक़्क़ी करने के अवसर निरंतर उन्हें मिलते रहते हैं.
22. पति का सहयोग मिलने व उनके काम की महत्ता व मांग को समझने के कारण उन्हें रात को देर से घर पहुंचने की टेंशन नहीं होती, जिससे वे अपना 100% काम को दे पाती हैं.
23. सफल शादीशुदा जीवन का सबसे बड़ा मानसिक फ़ायदा यह है कि इस कारण पत्नी का एनर्जी लेवल हमेशा हाई रहता है.
24. जीवन के प्रति सकारात्मक नज़रिया होने के कारण उन पर प्रेशर कम होते हैं.
25. कोई घुटन या कुंठा न होने के कारण वह बेहतर ढंग से समाज में अपना योगदान दे पाती है.
26. यदि पति कॉपरेटिव हो, तो पत्नी के सोशल रिलेशनशिप बेहतर होते हैं और वे अपनी क्षमताओं का प्रयोग पूरी तरह से कर पाती हैं.
27. यदि पार्टनर समझदार हो, तो अधिक ज़िम्मेदारियां आसानी से पूरे किए जा सकते हैं. तब पत्नी घर व ऑफ़िस में बैलेंस बना पाती है, जिससे उसे मानसिक संतुष्टि होती है कि वह अपने उत्तरदायित्वों को ठीक से निभाने में सक्षम है.
28. सुखी विवाहित महिला अपने व्यवहार व मुस्कान से सबका दिल जीत लेती है और प्रशंसा का पात्र बनती है.
29. सफल विवाहित कपल्स को दूसरों को सहयोग व सम्मान देने में ख़ुशी मिलती है और इस तरह वे समाज में अपनी एक ख़ास पहचान व जगह बनाने में क़ामयाब हो पाते हैं.

– वत्सल बाजपेयी

यह भी पढ़ें: पहला अफेयर: आकर्षण

यह भी पढ़ें: सेक्स से जुड़े मिथ्स कहीं कमज़ोर न कर दें आपके रिश्ते को

 

8 बातें जो हर पत्नी अपने पति से चाहती है (8 desires of every wife from her husband)

relationship

अगर पत्नी को ख़ुश रखना चाहते हैं तो ज़रूरी है ये जानना कि वो रिश्ते में आपसे क्या उम्मीद करती है. एक बार आपने उनकी उम्मीदों के बारे में जान लिया तो उन्हें ख़ुश रखना आपके लिए ज़्यादा मुश्किल नहीं होगा.

relationship

 

1. तारीफ़ सुनना तो चाहती हैं, मगर जताती नहीं
क्या आपने कभी नोटिस किया है कि आपकी पत्नी बन-संवरकर, नए कपड़े पहनकर अपने आप को बार-बार आईने में निहारती है इस उम्मीद में कि आप उनकी तरफ़ देखें और उनकी तारीफ़ में दो शब्द कहें, मगर जब आप ऐसा नहीं करते, तो उन्हें बुरा लगता है और वो आपसे नाराज़ हो जाती है. दरअसल, आपके मुंह से अपनी तारीफ़ सुनना उन्हें अच्छा लगता है, मगर अपने दिल की ये बात वो कभी आपसे कहेंगी नहीं.
2. चाहती हैं पार्टनर केयर करे
पत्नी के बीमार होने पर क्या आप उनके पास बैठकर उनका हालचाल पूछते हैं, अपने हाथों से चाय बनाकर उनके साथ बैठकर चाय पीते हैं? शायद नहीं, ज़्यादातर पुरुष इस मामले में लापरवाह ही होते हैं, मगर वो नहीं जानते कि उनकी हमसफ़र उनसे यही तो चाहती है. पति का केयरिंग नेचर उन्हें बहुत पसंद आता है. पति की छोटी-सी पहल या पत्नी के लिए किए गए छोटे-से काम से भी वो ख़ुश हो जाती हैं. अतः आप भी यदि पत्नी को ख़ुश देखना चाहते हैं, तो उनकी केयर करें.
3. पति के बीते दिनों को जानने की इच्छा
आप मानें या न मानें लेकिन हर पत्नी अपने पति से जुड़ी हर बात जानना चाहती है, चाहे वो वर्तमान से जुड़ी हो या उनकी बीती ज़िंदगी से. यदि कभी पति मज़ाक में पत्नी से अपनी एक्स गर्लफ्रेंड का ज़िक्र कर दे, तो वो उसके बारे में सब कुछ जानने के लिए लालायित हो उठती है, मगर अपनी ये चाहत आप पर ज़ाहिर नहीं करती. पति-पत्नी का रिश्ता विश्‍वास पर ही टिका होता है, ऐसे में पति को पत्नी से कुछ भी छुपाना नहीं चाहिए. यदि पत्नी आपसे जुड़ी कोई बात जानना चाहती है, तो बेझिझक उसे सब बता दें. हमेशा सच बोलने से रिश्ता मज़बूत बनता है.
4. रोमांस की चाहत
किचन में चुपके से आकर पीछे से बाहों में भर लेना, सबकी मौजूदगी में भी आंखों के इशारे से बात करना जैसी रोमांटिक बातें शादी के कुछ सालों बाद ख़त्म हो जाती हैं, मगर हर पत्नी ऐसे पलों को हमेशा बरक़रार रखना चाहती है. वो चाहती है कि पति शादी के शुरुआती दिनों की तरह ही रोमांटिक बने रहें, मगर अपनी ये चाहत वो ज़ाहिर नहीं करती. सबके सामने जब आप पत्नी का हाथ पकड़ते हैं, तो उस व़क्त भले ही वो आपको झिड़क दे कि ये क्या कर रहे हो सब देख रहे हैं, मगर यक़ीन मानिए, आपकी ये अदा पत्नी को बहुत पसंद आती है.

यह भी पढ़ें: 5 तरह के होते हैं पुरुषः जानें उनकी पर्सनैलिटी की रोचक बातें

5. नहीं पसंद पार्टनर की सलाह
कई बार ऐसा होता है कि पत्नी की पूरी बात सुने बग़ैर ही पति उसे सलाह देने लग जाते हैं, वो पत्नी की समस्या समझते भी नहीं हैं और अपनी एक्सपर्ट राय देने लग जाते हैं. पति की ये आदत पत्नी को बिल्कुल पसंद नहीं आती, फिर भी वो पति के सामने अपनी झुंझलाहट ज़ाहिर नहीं करती. यदि आप भी कुछ ऐसा ही करते हैं, तो अब से अपनी आदत सुधार लीजिए. पहले पार्टनर की पूरी बात सुन और समझ लें, उसके बाद ही सलाह दें. यदि उस विषय की आपको समझ नहीं है, तो फिज़ूल की सलाह देने से अच्छा है कि चुप रहें.
6. सेक्स की चाह
सेक्स के मुद्दे पर महिलाएं अब भी बहुत खुली नहीं हैं, पत्नी अपनी सेक्स की चाहत कभी ज़ाहिर नहीं करती. वो चाहती है कि पार्टनर ही पहल करे. दरअसल, संकोचवश वो अपने दिल की बात पार्टनर से शेयर नहीं कर पाती. ऐसे में ज़रूरी है कि आप उसकी चाहत को समझें. इससे आपके बीच नज़दीकियां बढ़ेंगी.
7. स्पेशल फील कराने की चाहत
आपने अक्सर फिल्मों में देखा होगा कि हीरो हीरोइन के लिए कार का दरवाज़ा खोलता है या फिर उसके बैठने के लिए चेयर खींचकर पहले उसे बैठने के लिए कहता है. ऐसा करके वो हीरोइन को स्पेशल फील करवाता है. आपकी पत्नी भी चाहती है कि आप उसे स्पेशल फील करवाएं. हमेशा ऐसा करना ज़रूरी नहीं है, मगर छुट्टी के दिन या जब भी समय मिले, तो उसके लिए कुछ स्पेशल बनाइए और अपने हाथों से खिलाइए, उसे सरप्राइज़ गिफ्ट दीजिए, आपका ऐसा करना पत्नी को अच्छा लगेगा. इस तरह की छोटी-छोटी बातों से कपल्स के रिश्ते में ताज़गी और मज़बूती आती है.
8. परेशानी में चाहती है पति का साथ
महिलाएं जब भी बहुत परेशान होती हैं, तो वो चाहती हैं कि उनका पार्टनर उनके साथ रहे और उनका सपोर्ट करे. इससे उनका हौसला बढ़ता है, मगर बहुत कम पुरुष ही पत्नी की इस उनकी इस चाहत को समझ पाते हैं. यदि आजतक आपने पत्नी की इस ज़रूरत की तरफ़ ध्यान नहीं दिया है, तो अब दीजिए. जब भी वो परेशान व दुखी दिखे, तो उसे ये एहसास दिलाएं कि आप हर हाल में उसके साथ रहेंगे. इससे उसे जहां हर मुश्किल से लड़ने का हौसला मिलेगा, वहीं आपका रिश्ता भी मज़बूत बनेगा.

कंचन सिंह