Tag Archives: Health Alert

न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें… (Today’s Updates: Top 5 Breaking News)

डॉक्टर बनना हुआ आसान

अब देश में डॉक्टर बनना आसान हो जाएगा, क्योंकि केंद्र सरकार ने देशभर के हर ज़िले में मेडिकल कॉलेज खोले जाने की योजना बनाई है. पहले चरण में इसकी शुरुआत बिहार के छपरा, समस्तीपुर व पूर्णिया से हो चुकी है. इसके लिए २० राज्यों के ५८ ज़िलों का सिलेक्शन हुआ है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी के अनुसार, हर ३ संसदीय क्षेत्र में १ मेडिकल कॉलेज व हॉस्पिटल होंगे. मोदीजी का यह मानना है कि स्वच्छता अभियान सेहत से भी जुड़ा है, इसलिए उन्होंने इस तरह की योजना की पहल की है.

 

केरल बाढ़ का खुलासा

नासा ने उपग्रह से मिले आंकड़ों के अनुसार, यह खुलासा किया है कि हिमालय की भौगोलिक स्थिति व पश्चिम घाट के कारण दक्षिण-पश्चिमी इलाके में मूसलाधार बारिश व बाढ़ की स्थिति बनी है. अंधाधुंध बरसात के कारण केरल त्रासदी ने हर किसी को झकझोर कर रख दिया था. नासा के अनुसार, दक्षिण पश्चिम मॉनसून पर अरब सागर व उत्तरी हिंद महासागर से चलनेवाली गर्म हवाओं में मौजूद नमी इस पर्वत श्रेणियों से टकराती है, इसलिए ज़ोरदार बरसात होती है. आज ओणम के पावन अवसर पर हम सभी की यही कामना है कि केरलवासी जल्द से जल्द इस भयावह विपदा से उबर जाएं.

यह भी पढ़ें: न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें… (Today’s Updates: Top 5 Breaking News)

कार सीट सेंसर

अक्सर लोग थके होने के कारण कार चलाते समय सुस्त हो जाते हैं या फिर उन्हें झपकी आने लगती है, जिससे एक्सीडेंट होने का ख़तरा रहता है. इसी को ध्यान में रखते हुए आईआईटी चेन्नई के वैज्ञानिकों ने कार सीट सेंसर बनाया है. यह कार चालक की हर गतिविधियों पर नज़र रखेगा. इसमें कहीं भी गड़बड़ी होने पर, ड्राइवर के नींद आने, सुस्त होने पर वेकअप अर्लाम बजने लगेगा.

 

नकली अंडों का भ्रम

एफएसएसआई ने नकली या प्लास्टिक के अंडों को लेकर लोगों में फैल रहे अफ़वाहों व भ्रम को दूर करने के लिए गाइडलाइंस जारी की है. बकौल उनके ये सभी आशंकाएं बेबुनियाद हैं. अब तक ऐसी कोई तकनीक नहीं बनी है, जो कृत्रिम या नकली अंडे बना सके. लोग अंडे इस्तेमाल करते समय कुछ बातों का ध्यान दें, जैसे- अधिक दिनों तक अंडे को फ्रिज में न रखें, अंडे को धोकर सूखने के बाद फ्रिज में रखें, अंडों से बदबू आती हो या गंदे हो, तो न ख़रीदें. फ्रेश अंडे की पहचान के लिए उसे किसी पानी भरे मग या ग्लास में डालें. यदि अंडे नीचे बैठ जाए, तो फ्रेश हैं और ऊपर तैरने लगे तो पुराने हैं.

 

सेक्स की आज़ादी

मेक्सिको के शहर ग्वादलजारा को सार्वजनिक तौर पर प्यार करने, सेक्स करने की अनुमति मिल गई है. वहां पर अक्सर पुलिस द्वारा पैसे ऐंठने, परेशान करने की शिकायतें मिलती रहती थीं. इसी को रोकने के लिए खुले में सेक्स करने के क़ानूनी प्रस्ताव को पारित किया गया है. इस क़ानून के अनुसार, अब गार्डन, कार, पब्लिक प्लेस, अन्य खुली जगहों पर सेक्सुअल एक्टीविटीज़ को क्राइम नहीं समझा जाएगा. हां, यदि कोई व्यक्ति आपत्ति करें या शिकायत करें, तो मुनासिब कार्रवाई की जा सकती है.

 

आज का आकर्षण

* इंडोनेशिया में हो रहे एशियन गेम्स में स्क्वाश में भारत की दीपिका पल्लीकल और जोशना चिन्नपा ने कांस्य पदक जीता. बधाई!

* तजिंदर सिंह तूर शॉट पुट में स्वर्ण पदक जीते. मुबारक हो.

– ऊषा गुप्ता

बच्चों को यूं रखे जंक फूड से दूर (5 Ways To Keep Your Child Away From Junk Food)

Junk Food

जॉनी-जॉनी, यस पापा, ईटिंग शुगर, नो पापा… नर्सरी से ही बच्चों को इस पोयम के ज़रिए हेल्दी खाना खाने की आदत डालने की कोशिश पैरेंट्स करते हैं, लेकिन क्या सच में वो सफल होते हैं? नहीं ना. बच्चों की  बात छोड़िए, ख़ुद आप भी न जाने कितनी बार कोशिश करके हार चुके होंगे. तो हम बता रहे हैं कि आप कैसे बच्चों को जंक फूड से दूर रख सकते हैं? 

“सक्षम… चलो बेटा झट से दूध का ग्लास फिनिश करो, ये चिप्स का पैकेट रखो… मुझे ग़ुस्सा दिला रहे हो अब तुम, जल्दी पीओ दूध. जब देखो चिप्स खाते रहते हो, खाना खाने के नाम पर बुखार चढ़ जाता है.” 7 साल के सक्षम की मां शालिनी हर दिन बेटे के खाने को लेकर परेशान रहती हैं. स़िर्फ वो ही क्यों, हर मां-बाप ये चाहते हैं कि उनका बच्चा हेल्दी खाए, लेकिन बच्चे तो बच्चे हैं. जो मज़ा उन्हें चिप्स, पिज़्ज़ा, बर्गर आदि खाने में आता है, वो दूध, दाल-चावल खाने में नहीं. कुछ बच्चे तो इतने स्मार्ट होते हैं कि मां के सामने दूध का ग्लास पकड़ तो लेंगे, लेकिन उनके जाते ही उसे कभी गमले, कभी डॉगी, तो कभी घर के नौकर को पिला देते हैं और अंत में बचे हुए दूध से अपनी मूंछ बनाते हुए मां को दूध का ग्लास पकड़ाते हुए मां का दुलारा बन जाते हैं. इस तरह मां को लगता है कि बच्चे ने दूध पी लिया और फिर वो उसे ख़ुद ही चिप्स का पैकेट बड़े प्यार से पकड़ा देती हैं. यदि आप सचमुच बच्चे को जंक फूड से दूर रखना चाहते हैं, तो थोड़ी-सी स्मार्टनेस दिखाइए.

धीरे-धीरे करें शुरुआत

ये आप भी जानते हैं कि बच्चों की पसंद की किसी चीज़ पर अचानक रोक लगाने से वो बहुत ज़िद करने लगते हैं और आपसे नाराज़ भी हो जाते हैं. जानकार बताते हैं कि किसी भी चीज़ पर अचानक रोक लगाने की बजाय धीरे-धीरे शुरुआत करें. उदाहरण के लिए, किसी भी दिन उठकर उनके हाथ से बर्गर, पिज़्ज़ा छीनने की बजाय, उन्हें कहें कि ये आज के दिन का आख़िरी जंक फूड है. इसी तरह अगर बच्चे को दिनभर में चिप्स के कई पैकेट खाने की आदत है, तो अचानक सारे चिप्स के पैकेट छुपाने की बजाय पूरे दिन में बच्चे को 1-2 पैकेट ही दें और उसे समझाने की कोशिश करें. बाकी समय में बच्चे को हेल्दी फूड की आदत डालें.

स्मार्ट आइडिया

टिफिन में 3 दिन बच्चों की पसंद का खाना दें और 2 दिन अपनी पसंद का हेल्दी खाना.

जंक फूड ख़रीदना बंद करें

वर्किंग पैरेंट्स पर ये बात ज़्यादा लागू होती है. अक्सर ऑफिस से देर से आने पर घर में खाना बनाने का समय नहीं बचता, जिसके कारण वे बाहर से ही पिज़्ज़ा, बर्गर आदि पैक करा लाते हैं. धीरे-धीरे बच्चों को इसकी आदत पड़ जाती है और वो घर का खाना खाने की बजाय बाहर का खाना ज़्यादा पसंद करते हैं. बच्चों को अगर इससे दूर रखना है, तो आपको सबसे पहले इन्हें घर पर लाना बंद करना पड़ेगा.

स्मार्ट आइडिया

घर पर ही पिज़्ज़ा, बर्गर आदि बनाएं. बनाते समय इस बात का ध्यान रखें कि वो पूरी तरह हेल्दी हों. बर्गर की टिक्की बनाते समय उसमें सब्ज़ियां मिक्स करें.

यह भी पढ़े: पैरेंटिंग गाइड- बच्चों के लिए इम्युनिटी बूस्टर फूड 

बनाएं स्वादिष्ट खाना

वर्किंग होने के कारण मां के पास अच्छा और टेस्टी खाना बनाने का समय नहीं होता. टेस्टी न होने के कारण बच्चे खाना नहीं खाते. ऐसे में मां ये सोचती है कि बच्चा कुछ भी खा ले, जिससे उसके पेट में कुछ तो जाए, लेकिन ये कुछ तो ही आपके बच्चे को अनहेल्दी खाने की ओर आकर्षित करता है. जैसे-जैसे बच्चा बड़ा होता है, उसे इसी तरह के खाने की आदत पड़ जाती है और हमेशा वो सेहत की बजाय स्वाद को तवज्जो देता है. इस आदत को आप बदल सकती हैं.

स्मार्ट आइडिया

हर दिन न सही, लेकिन कभी-कभार टेस्टी खाना बनाएं. इसके लिए पनीर के साथ बाकी वेजीटेबल मिक्स करके चाट मसाला डालकर स्नैक्स बनाएं, फ्रूट भेल बनाएं. परांठे को टेस्टी बनाने के लिए उसमें मिक्स वेजीटेबल के साथ थोड़ा चीज़ डालें.

जंक फूड का प्रॉमिस

अक्सर बच्चे जब खाना नहीं खाते या पढ़ाई नहीं करते, तो मां उन्हें पिज़्ज़ा, चिप्स, बर्गर आदि अनहेल्दी फूड का लालच देती हैं. इस तरह  बच्चों को अनहेल्दी खाने की आदत हो जाती है और वो उसी पर डिपेंड रहने लगते हैं. आपको अपनी ओर से ऐसा करने से बचना चाहिए.

स्मार्ट आइडिया

अगर प्रॉमिस कर ही दिया है, तो बाहर खाने की बजाय उसे घर पर ही बनाएं. इससे आपकी प्रॉमिस भी पूरी हो जाएगी और जंक फूड भी थोड़ा हेल्दी बन जाएगा.

यह भी पढ़े: छोटे बच्चे की देखभाल के लिए घरेलू नुस्ख़े

ख़ुद भी फॉलो करें

बच्चे पैरेंट्स को फॉलो करते हैं. आप जैसा करते हैं, जैसा उन्हें सिखाते हैं, वैसा ही वो करते हैं. ऐसे में उन्हें जंक फूड से दूर रखने के लिए पहले ख़ुद आप हेल्दी डायट फॉलो करें. उदाहरण के लिए जब भी बच्चों के साथ बाहर जाएं, तो पानीपूरी, समंोसा आदि खाने की बजाय फ्रूट जूस, सूप आदि पीएं. इससे बच्चा भी बाहर जाने पर उसी तरह की डिमांड करेगा.

स्मार्ट आइडिया     

सुबह के नाश्ते से करें शुरुआत. एक ग्लास दूध के साथ कभी फ्रूट सलाद परोसें, तो कभी फ्रूट शेक, दूध में कटे हुए फ्रूट मिक्स करके दें.

मां के हाथ का स्वाद

कहते हैं, मां के हाथ में जादू होता है. आपने भी ये महसूस किया होगा. वास्तविकता ये है कि बचपन में मां अपने बच्चे को जो खिलाती है, बच्चे को उसकी आदत हो जाती है और बड़े होने के बाद भी उस खाने जैसा स्वाद कहीं और नहीं मिलता. आप भी इसकी शुरुआत करें. बचपन में बच्चे के रोने पर झट से उसे कुछ भी बाहरी फूड देने की बजाय घर में कुछ इंटरेस्टिंग बनाएं और बच्चे को उसकी आदत लगाएं. ऐसे में आपके बच्चे को आपके हाथ का बना खाना जितना टेस्टी लगेगा, उतना पिज़्ज़ा, बर्गर नहीं. ये ट्रिक बहुत कारगर है.

–  अनुरीता त्रिपाठी

अधिक पैरेंटिंग टिप्स के लिए यहां क्लिक करेंः Parenting Guide

क्या बच्चों की हर डिमांड पूरी करनी चाहिए? देखें वीडियो:

करौंदे की 13 औषधीय उपयोगिता (13 Powerful Health Benefits of Karonde)

करौंदे की 13 औषधीय उपयोगिता

 

करौंदे की 13 औषधीय उपयोगिता

करौंदे का कच्चा फल कड़वा, अग्निदीपक, खट्टा, स्वादिष्ट और रक्तपित्तकारक है. यह विष तथा वातनाशक भी है. यह एक छोटा-सा फल है, पर इसमें काफ़ी औषधीय गुण मौजूद हैं. उपचार के आधार से इसमें साइट्रिक एसिड और विटामिन सी समुचित मात्रा में है. इसमें कई सामान्य बीमारियों को नष्ट करने की अद्भुत क्षमता है. इसके फल, पत्तियों एवं जड़ की छाल औषधीय प्रयोग में लाई जाती है. करौंदे के फल का स्वरस 5 से 10 ग्राम, पत्तियों का रस 12 से 24 ग्राम तक, पत्तियों का काढ़ा 60 से 120 ग्राम और फलों का शर्बत 12 ग्राम की मात्रा में इस्तेमाल किया जाता है.

* करौंदे के कच्चे फल की सब्ज़ी खाने से कब्ज़ियत दूर होती है.

* बुख़ार होने पर करौंदे के पत्ते का क्वाथ पिलाना लाभदायक होता है.

* सूखी खांसी में एक चम्मच करौंदे के पत्ते का रस और एक चम्मच शहद मिलाकर सुबह-शाम सेवन करने से फ़ायदा होता है.

* इसके कच्चे फल की चटनी खाने से मसूड़ों की सूजन और दांतों की पीड़ा में लाभ मिलता है.

* करौंदे के मूल को उबालकर पिलाने से सर्प विष दूर हो जाता है.

यह भी पढ़ें: सेहत के लिए बहुत फ़ायदेमंद होता है कड़वा करेला

* करौंदे के ताज़े पत्ते लेकर उनका रस निकालें, छानकर ड्रॉपर से दो-दो बूंद आंखों में डालने से शुरुआती मोतियाबिंद ख़त्म हो जाता है.

* करौंदे के बीजों के रोगन (बीजों को पीसकर तेल में पकाया हुआ तेल) को मलने से हाथ-पैर की बिवाई होने पर बेहतर लाभ होता है.

* गर्मियों में रोज़ाना इसके मुरब्बे का सेवन करने से दिल के रोगों से बचाव होता है.

* इसको खाने से प्यास का शमन होता है और वायु दोष से छुटकारा मिलता है.

* करौंदे में लौह की मात्रा होने के कारण शरीर में रक्त की कमी की समस्या दूर होती है.

यह भी पढ़ें: हीमोग्लोबिन बढ़ाने के साथ ही इम्यूनिटी भी बूस्ट करता है पालक

* यह वायुशामक है. इसके पके फल रोज़ाना खाने से पेट की गैस की समस्या दूर होती है.

* जानवरों के कीड़े युक्त घावों में करौंदे की जड़ को पीसकर भर देने से कीड़े नष्ट होकर घाव शीघ्र भर जाते हैं.

* इसकी पत्तियों का क्वाथ सिर में लगाने से जूएं नष्ट हो जाती हैं.

हेल्थ अलर्ट
मूत्र संक्रमण से होनेवाली बीमारी मूत्रनली की सूजन में करौंदा लाभप्रद है. इज़राइल के वैज्ञानिकों द्वारा किए गए एक शोध के अनुसार, करौंदे में प्रोंथोसाइनाइडिंस नामक द्रव्य होता है, जो ई-कोली जीवाणु को मूत्राशय में चिपकने नहीं देता, जिसकी वजह से मूत्र से संबंधी बीमारियां नहीं होतीं. इतना ही नहीं, करौंदा शरीर में होनेवाले अल्सर और मुख के संक्रमण से भी बचाव करता है.

दादी मां के अन्य घरेलू नुस्ख़े/होम रेमेडीज़ जानने के लिए यहां क्लिक करें- Dadi Ma Ka Khazana

[amazon_link asins=’B01M0YLMX8,B01D6OQ88O,B0067FG1IW’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’1e4de9b8-b4a7-11e7-ac73-ad5a1a7f08c1′]