Tag Archives: healthy cooking

19 हेल्दी कुकिंग ट्रिक्स (19 Smart Healthy Cooking Tricks)

* मिनटों में हेल्दी फ्रूट शेक बनाएं. अपनी पसंद का फल लें, सेब, चीकू, मोसंबी, संतरा जो भी आपको पसंद हो. इन्हें टुकड़ों में काटकर उसमें एक कप दूध, एक टीस्पून शक्कर और एक कप दही मिलाकर ब्लेंड कर लें. फ्रूट शेक को गाढ़ा करना हो, तो इसमें एक केला भी मिला सकते हैं.

* ब्रेड पर पीनट बटर लगाएं और दूसरे ब्रेड पर जैम लगाकर हेल्दी सैंडविच तैयार करें. सुबह का सबसे बेहतरीन हेल्दी नाश्ता तैयार है.

Healthy Cooking Tricks

* शरीर को स्वस्थ व तंदुरुस्त रखने के लिए सब्ज़ियों के जूस से बेहतर कुछ हो ही नहीं सकता. सुबह नाश्ते में वेजीटेबल जूस लें. आप मिक्स सब्ज़ियों में गाजर, टमाटर, बीटरूट, आंवला आदि मिलाकर इसे और भी अधिक न्यूट्रिशियस बना सकते हैं. बस, सब्ज़ियों को धोकर, अच्छी तरह से साफ़ करके कट करके उसमें टमाटर, आंवला आदि मिलाकर जूस बना लें. थोड़ा-सा नमक और कालीमिर्च पाउडर मिलाकर पीएं. विटामिन्स से भरपूर इस वेजीटेबल जूस में प्रचुर मात्रा में पोषक तत्व होते हैं, जो बॉडी को फिट व हेल्दी रखते हैं.

* अंकुरित अनाज, जैसे- मूंग, चना, मठ आदि में नींबू का रस, कालीमिर्च पाउडर, नमक, प्याज़, टमाटर, ककड़ी, गाजर, पत्तागोभी आदि बारीक़ काटकर मिक्स करके पौष्टिकता से भरपूर सलाद नाश्ते में ले सकते हैं.

* इसके अलावा ब्राउन ब्रेड के साथ स्प्राउट सलाद में सूखे मेवे मिलाकर भी सुबह ब्रेकफास्ट में ले सकते हैं. साथ में छाछ व दही लेना भी फ़ायदेमंद रहता है.

* पत्तागोभी में सेब के टुकड़े, कालीमिर्च पाउडर व नमक मिलाकर ऑलिव ऑयल में हल्का-सा भून लें. हेल्दी ब्रेकफास्ट रेडी है.

* ओट्स में सीज़नल फ्रूट्स के साथ ड्रायफ्रूट्स मिलाकर दलिया बनाकर नाश्ते में लें. दरअसल, ओट्स में पौटेशियम, फैटी एसिड, ओमेगा 3, फोलेट, फाइबर होते हैं, जो शरीर को पोषण देने के साथ-साथ कोलेस्ट्रॉल को भी संतुलित करते हैं.

यह भी पढ़े13 किचन ट्रिक्स (13 Best Kitchen Tricks)

* पोहा या उपमा बनाते समय उसमें मिक्स सब्ज़ियां, प्याज़, आलू, मटर आदि मिला लें और हेल्दी ब्रेकफास्ट एंजॉय करें.

* चुकंदर को छीलका उसमें थोड़ा-सा ऑलिव ऑयल डालकर आलू की तरह भूनकर खाएं. यह हेल्दी व टेस्टी स्नैक्स है.

* ब़र्फ के चार-पांच टुकड़े लें. इसमें थोड़ा-सा दही, नारियल का दूध और पानी मिलाकर हल्का-सा ब्लेंड कर लें. लीजिए, टेस्टी व न्यूट्रीशियस शेक तैयार है.

* अंडे को उबाल लें. ब्राउन ब्रेड पर हल्का-सा नमक छिड़ककर उसके ऊपर अंडे को कट करके रखें. फिर थोड़ा-सा शहद व मेयोनीज़ लगा दें और एन्जॉय करें प्रोटीन से भरपूर स्नैक्स.

* एक कप नाचनी के आटे में आधा कप गर्म या ठंडा दूध मिलाकर धीमी आंच पर चलाते हुए पकाएं. जब मिश्रण गाढ़ा हो जाए, तब उसमें एक चम्मच देसी घी मिलाकर थोड़ी देर तक चलाते हुए पकाकर आंच पर से उतार लें. लीजिए हेल्दी नाचनी पेय तैयार है.

* फूलगोभी की स्वादिष्ट सब्ज़ी बनाने के लिए उसे रात में ही काटकर नमक के पानी में डालकर रख दें. सुबह सब्ज़ी न केवल जल्दी बनेगी, बल्कि खिली-खिली व स़फेद भी बनेगी.

* बॉडी को हेल्दी व स्लिम बनाए रखने के लिए मूली के रस में नींबू का रस व चुटकीभर नमक मिलाकर नियमित लें.

यह भी पढ़ेपनीर की सब्ज़ी टेस्टी बनाने के लिए आजमाएं ये 10 टिप्स (Paneer Dishes: Tips To Make It Tasty)

* अदरक, प्याज़, लहसुन, पोस्तादाना और दो-चार भुने हुए बादाम पीस लें. इस पेस्ट को भूनकर रख लें. यह ग्रेवी तुरंत टेस्टी-हेल्दी सब्ज़ी बनाने में काम आएगी.

* कटी हुई मिक्स सब्ज़ियां, जैसे- ब्रोकोली, शिमला मिर्च, गाजर, हरी मटर आदि में होलवीट नूडल्स, कटी हुई हरी मिर्च व लहसुन मिलाकर धीमी आंच पर पकाएं. यह हेल्दी नूडल्स सभी को पसंद आएगा.

* फूलगोभी को ऑलिव ऑयल में पकाकर उसमें चुटकीभर हल्दी, टोमैटो सॉस और अखरोट मिलाकर खाएं.

* सेब में केला, संतरा व फ्लैक्स सीड मिलाकर हेल्दी एप्पल बनाना स्मूदी बनाएं.

* पुदीने की चटनी में थोड़ा-सा शहद मिला देने से अलग तरह का स्वाद मिलने के साथ-साथ सेहत के लिए भी फ़ायदेमंद रहता है.

– ऊषा गुप्ता

यह भी पढ़ेजब घर आएं मेहमान तो ऐसे करें रसोई की तैयारी (Guest Management: 20 Easy Cooking Ideas)

डायट सीक्रेट: बारिश के मौसम में क्या खाएं, क्या नहीं? (Diet Secret: Foods To Avoid This Monsoon)

Diet Secret

डायट सीक्रेट: बारिश के मौसम में क्या खाएं, क्या नहीं? (Diet Secret: Foods To Avoid This Monsoon)

मॉनसून में इंफेक्शन से जुड़ी बीमारी होने का ख़तरा सबसे ज़्यादा होता है. इनसे बचने के लिए खान-पान में सावधानी बरतना ज़रूरी है. फोर्टिस हॉस्पिटल, कल्याण की डायटीशियन नियति लिखिते बता रही हैं कि बारिश में क्या खाना चाहिए और किन चीज़ों से परहेज़ करना चाहिए?

 

खाएं

–    शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए एंटीऑक्सिडेंट्स से भरपूर फल, जैसे-सेब, नाशपाती और अनार इत्यादि का सेवन करें. ये हमारे शरीर में मौजूद फ्री-रेडिकल्स व टॉक्सिन्स से लड़ते हैं और हमें स्वस्थ रखते हैं.

–  इंफेक्शन से बचने के लिए स्टीम्ड सलाद ही खाएं. कच्चा सलाद हानिकारक हो सकता है. सूप और सब्ज़ी में अदरक व लहसुन का इस्तेमाल करें.

–    टमाटर, पालक, गोभी जैसी हरी सब्ज़ियों को इस्तेमाल करने से पहले उन्हें हल्के गर्म पानी से साफ़ कर लें, क्योंकि बारिश के मौसम में सब्ज़ियों को अच्छी तरह साफ़ किए बिना ही इस्तेमाल करने से इंफेक्शन होने का ख़तरा रहता है.

–    हल्दी वाला दूध पीएं. हल्दी में मौजूद करक्यूमिन इंफेक्शन के ख़तरे को कम करता है. गला ख़राब होने या कफ होने पर तुलसी, अदरक, हल्दी मिली हुई चाय या दूध पीने से काफ़ी आराम मिलता है. इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए रोज़ाना एक टीस्पून त्रिफला पाउडर ग्रहण करें.

–    भुना हुआ भुट्टा भी सेहत के लिए अच्छा होता है. साथ ही इस सीज़न में घर का बना हुआ हल्का खाना ही खाएं.

–    बारिश के मौसम में उबला या फिल्टर किया हुआ पानी ही पीएं. शरीर में पानी की कमी न होने दें. चूंकि बारिश में मौसम हल्का ठंडा होता है इसलिए हमें कम प्यास लगती है, लेकिन शरीर में मौजूद टॉक्सिन्स को निकालने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीना ज़रूरी होता है.

–    इंफेक्शन से बचने के लिए नाश्ते में गर्मागर्म दलिया, ओट्स, दूध इत्यादि का सेवन करें.

–   पेट के सुचारु  संचालन के लिए प्रोबायोटिक्स जैसे दही या याकुर्ट का सेवन कर सकते हैं.

 न खाएं

–    मछली और सी फूड खाने से बचें, क्योंकि इस मौसम में बासी मछली खाने से गंभीर इंफेक्शन हो सकता है. चिकन और मटन का सेवन करते समय भी सावधानी बरतनी चाहिए. नॉनवेज बनाकर तुरंत खाएं. फ्रिज में रखा हुआ बासी नॉनवेज नुक़सान पहुंचा सकता है. कच्चा और अधपका अंडा खाने से भी बचें.

–    भिंडी, फूलगोभी और ग्वार खाने से परहेज़ करें.

–   अदरक, इलायची, काली मिर्च व दालचीनी युक्त हर्बल टी पीएं.

–   बाज़ार से कटी हुई सब्ज़ियां ख़रीदने और अंकुरित आलू का सेवन करने से बचें.

–    ज़्यादा पानी युक्त खाद्य पदार्थ, जैसे तरबूज और खरबूज का सेवन करने से भी बचें. ऐसी चीज़ें खाने पर आप सुस्त महसूस कर सकते हैं.

–    मसालेदार, तली-भुनी और रोड पर बिकनेवाली चीज़ें न खाएं. इससे आपको एसिडिटी, पेट का इंफेक्शन व मुंहासे इत्यादि की समस्या हो सकती है.

–    बारिश के मौसम में अत्यधिक नमक व रेडी टु ईट चीज़ें खाना नुक़सानदेह हो सकता है. इससे वॉटर रिटेंशन और ब्लोटिंग जैसी समस्याएं हो सकती हैं.

–  अत्यधिक कॉफी का सेवन भी नुक़सान पहुंचा सकता है. यह शरीर को डिहाइड्रेट करता है. अल्कोहॉलिक पेय पदार्थ शरीर को डिहाइड्रेट करने के साथ एंटीऑक्सिडेंट की मात्रा को भी घटाते हैं. हालांकि रेड वाइन एंटीऑक्सिडेंट्स से भरपूर होता है इसलिए कभी-कभार इसका सेवन किया जा सकता है.

–    लोकल या सड़क पर मिलनेवाली आइसक्रीम व अन्य ठंडी चीज़ें न खाएं, क्योंकि इनमें इस्तेमाल किया हुआ पानी या दूध ख़राब हो सकता है.

यह भी पढ़ें: जानिए कितना फ़ायदेमंद है उपवास? (Know Benefits Of Fasting)