Tag Archives: healthy Skin

होम रेमेडीज़ फॉर ब्यूटी

एक ख़्वाब, मोती-सा शफ्फ़ाफ़… एक ख़्याल तेरा, चांद-सा बेदाग़… महकता चंदन, तेरा बदन…
आफ़ताब-सा रौशन तेरा तन… फ़रिश्ते भी छुप-छुपकर देखते हैं तुझे… कभी ताजमहल, तो कभी कयामत कहते हैं तुझे… तेरी एक नज़र पर लाखों गुलाब खिल उठते हैं… तेरे एक लफ़्ज़ पर हज़ारों कंवल महक उठते हैं… मखमली काया तेरी, जैसे संगमरमर कोई… रेशमी ज़ुल़्फें तेरी जैसे काली घटा कोई…

 

2

स्किन केयर टिप्स

स्किन हमेशा ख़ूबसूरत और जवां बनी रहे, इसके लिए अपनाएं ये ईज़ी होम रेमेडीज़.

नींबू: क्लीन और क्लीयर स्किन के लिए नींबू सबसे बेहतरीन है. इसमें मौजूद सिट्रिक एसिड डेड सेल्स को हटाता है और इसका विटामिन सी डार्क स्पॉट्स को हटाने में मदद करता है. इसमें ब्लीचिंग प्रॉपर्टीज़ भी होती हैं, जो कॉम्प्लेक्शन को निखारती हैं.

– ताज़ा नींबू का रस पूरे चेहरे व गर्दन पर अप्लाई करें. 10 मिनट बाद गुनगुने पानी से धो लें. इसके बाद ककड़ी की स्लाइस को रब करें. स्किन एकदम स्मूद और फ्रेश हो जाएगी. यह रोज़ करें या हर दूसरे दिन.

– आधा नींबू का रस लें, उसमें 2 टेबलस्पून शहद मिलाएं. चेहरे पर लगाकर 15-20 मिनट बाद धो लें.

– एक्सफोलिएट करने के लिए 2 टीस्पून नींबू के रस में थोड़ी-सी शक्कर मिलाएं. चेहरे, गर्दन और हाथों पर गोलाई में रब करें और फिर 10 मिनट तक लगाकर रखें. यह हफ़्ते में एक बार करें और ग्लोइंग स्किन पाएं.

हल्दी: यह एंटीसेप्टिक होने के साथ-साथ दाग़-धब्बों से भी छुटकारा दिलाती है.

– 1 टेबलस्पून हल्दी पाउडर में पाइनेप्पल जूस मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें. इसे चेहरे व गर्दन पर अप्लाई करें. सूखने पर गुनगुने पानी से धो लें. इसे हफ़्ते में 2-3 बार करें, इससे डार्क स्पॉट्स से छुटकारा मिलेगा.

– हल्दी पाउडर और बेसन समान मात्रा में लेकर दूध या पानी मिक्स करें और पेस्ट तैयार कर लें. चेहरे पर लगाएं. सूखने पर गुनगुने पानी से हल्का-सा मसाज करते हुए पेस्ट हटाएं. अपनी स्किन टोन को बेहतर करने के लिए हफ़्ते में एक बार यह उपाय करें.

शहद: क्लीयर स्किन के लिए बहुत ज़रूरी है कि उसे मॉइश्‍चराइज़्ड रखा जाए. शहद बहुत ही अच्छा मॉइश्‍चराइज़र है. साथ ही इसमें एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज़ भी होती हैं.

– शहद को चेहरे पर अप्लाई करें. सूखने पर गुनगुने पानी से धो लें. स्मूद स्किन के लिए यह रोज़ करें या हर दूसरे दिन ट्राई करें.

– 1 टीस्पून शहद में 2 टीस्पून दूध और 1 टीस्पून बेसन मिलाएं. चेहरे पर अप्लाई करें. 20 मिनट बाद गुनगुने पानी से धो लें. ग्लोइंग स्किन पाने के लिए यह फेस मास्क हफ़्ते में एक बार ट्राई करें.

एलोवीरा: यह एंटी एलर्जिक, एंटीबैक्टीरियल और एंटी इंफ्लेमेट्री होता है. स्किन को हेल्दी रखता है और नए सेल्स के निर्माण की क्रिया को तेज़ करने में भी मदद करता है.

– एलोवीरा के ताज़ा पल्प को कॉटन बॉल की सहायता से फेस पर अप्लाई करें. सूखने पर गुनगुने पानी से धो लें. यह उपाय रोज़ करें.

बेकिंग सोडा: यह स्किन का पीएच बैलेंस बनाए रखता है. यह एक्सफोलिएट करके डेड सेल्स को भी हटाता है. साथ ही यह एंटीसेप्टिक भी है.

– 1 टीस्पून बेकिंग सोडा में 1 टीस्पून पानी या नींबू का रस मिलाकर पेस्ट बना लें. इससे एक्सफोलिएट करें. गुनगुने पानी से धो लें. इसे हफ़्ते में 2-3 बार करें.

– 1-1 टीस्पून बेकिंग सोडा और शहद मिला लें. फेस धो लें और हल्की गीली स्किन पर यह पेस्ट अप्लाई करके एक मिनट तक मसाज करें. गुनगुने पानी से धो लें. उसके बाद ठंडे पानी से भी धोएं. यह उपाय हफ़्ते में एक बार करें.

कुकुंबर: इसमें हाइड्रेटिंग, नरिशिंग और एस्ट्रिंजेंट प्रॉपर्टीज़ होती हैं. यह डैमेज्ड स्किन सेल्स को रिपेयर करता है.

– ककड़ी की थिक स्लाइस काटकर रात को सोने से पहले चेहरे पर रब करें. सुबह गुनगुने पानी से धो लें. यह रोज़ करें.

– ककड़ी और नींबू का रस समान मात्रा में लें. अच्छी तरह मिक्स करें और चेहरे पर अप्लाई करें. सूखने पर धो लें. यह रोज़ करें.

पपीता: स्किन का टेक्स्चर बेहतर करता है, जिससे स्किन क्लीन और क्लीयर लगती है. इसमें नेचुरल ब्लीचिंग प्रॉपर्टीज़ भी होती हैं.

– पपीते को काटकर उसमें चंदन पाउडर और शहद मिलाकर ग्राइंड कर लें. इसे चेहरे व गर्दन पर लगाएं. आधे घंटे बाद धो लें. टॉवल से थपथपाकर पोंछें और गुलाबजल लगाएं. हफ़्ते में एक बार यह रेसिपी ट्राई करें.

पुदीना: इसमें मौजूद मेंथॉल में कूलिंग प्रॉपर्टीज़ होती हैं.

– 1 टीस्पून पुदीने का पाउडर, 1 टेबलस्पून दही और थोड़ी मुल्तानी मिट्टी. सबको मिक्स करें और चेहरे व गर्दन पर अप्लाई करें. सूखने पर गुनगुने पानी से धो लें. यह मास्क हफ़्ते में एक बार लगाएं. स्किन एकदम क्लीयर लगेगी.

नारियल तेल: यह एंटी ऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है.

– नारियल तेल को गुनगुना करें और चेहरे पर लगाएं. गर्दन व हाथ-पैरों पर भी लगा सकते हैं. मसाज करें और 10 मिनट बाद गुनगुने पानी से धो लें. बेजान त्वचा भी ग्लो करने लगेगी.
3

स्किन प्रॉब्लम्स और होममेड सोल्यूशन्स

– पिंपल्स होने पर टूथपेस्ट अप्लाई करें. इससे इंस्टेंट रिलीफ मिलता है और लालिमा भी कम हो जाती है.

– पिंपल्स होने पर ब़र्फ को कपड़े में लपेटकर रब करें. ये पिंपल्स के दर्द, सूजन व लालिमा को कम करती है.

– वैसे पिंपल्स की समस्या ऑयली स्किनवालों को अधिक होती है. अगर आपकी स्किन बहुत ऑयली है, तो अंडे के स़फेद भाग में आधे नींबू का रस मिलाकर अप्लाई करें और 15 मिनट बाद धो लें. इससे स्किन में कसाव भी आएगा और अतिरिक्त ऑयल भी निकल जाएगा.

– टमाटर को काटकर स्किन पर रब करें. 15 मिनट बाद धो लें. यह भी एक्स्ट्रा ऑयल को निकालकर स्किन को हेल्दी ग्लो
देता है.

– पिंपल्स के ज़िद्दी मार्क्स से छुटकारा पाने के लिए 3 टेबलस्पून शक्कर और 1-1 टेबलस्पून मिल्क पाउडर व शहद लें. सबको मिलाकर चेहरे पर मसाज करें. थोड़ी देर स्क्रब करके 15 मिनट तक लगे रहने दें, फिर धो लें.

– थोड़ी-सी हल्दी में 1 टीस्पून एलोवीरा पल्प मिलाकर चेहरे पर लगाएं. 20 मिनट बाद धो लें. इससे भी पिंपल्स के दाग़-धब्बे कम होते हैं.

– चंदन पाउडर में गुलाबजल मिलाकर दाग़-धब्बों पर अप्लाई करें. सूखने पर धो लें. यह उपाय दिन में दो बार करें और एक हफ़्ते में ही रिज़ल्ट देखें.

– ब्लैक-व्हाइट हेड्स रिमूव करने का सबसे आसान उपाय है स्टीमिंग. 1-2 मिनट तक स्टीम लें, फिर नेचुरल एक्सफोलिएटर से स्क्रब करें.

– घर पर स्क्रब तैयार करने के लिए बादाम को पीस लें और बेसन व पानी में मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें. इससे स्क्रब करें. यह भी ब्लैक और व्हाइट हेड्स को हटाने का बेहतरीन उपाय है.

– 2 टेबलस्पून दही में नींबू का रस मिलाकर प्रभावित हिस्सों पर लगाएं.

– हेल्दी डायट लें. पानी संतुलित मात्रा में पीएं और स्ट्रेस फ्री रहें.

– बाहर जाते समय सन प्रोटेक्शन का ख़्याल ज़रूर रखें.

– गीता शर्मा

स्किन टाइप के अनुसार ब्यूटी डायट

कभी शाम ढले तुम चली आती हो मेरे दिल के आंगन में… कभी सुबह को खिल जाती हो गुलमोहर की तरह मेरे दामन में… मेरी पलकों पर जब रख देती हो तुम अपनी पलकें, तो महक उठते हैं लाखों ख़्वाब मुहब्बत के चमन में…

हुस्न के तो कई रंग होते हैं, लेकिन ये हुस्न हमेशा जवां बना रहे, इसके लिए स़िर्फ ऊपरी देखभाल ही नहीं, इंटरनल केयर भी ज़रूरी है. आप जो खाएंगे, वही आपकी स्किन पर नज़र आएगा. इसीलिए बहुत ज़रूरी है कि हेल्दी स्किन के लिए हेल्दी खाया जाए. इसका पहला स्टेप यह है कि अपनी स्किन को पहचानें और उसकी ज़रूरत के अनुसार अपनी डायट सिलेक्ट करें.

ब्यूटी डायट से पाएं ग्लोइंग स्किन

अपनी स्किन को भीतर से रिस्टोर और रिपेयर करें, ताकि आप पाएं खिली-खिली त्वचा और बेपनाह हुस्न.
हेल्दी डायट न स़िर्फ अच्छी सेहत, बल्कि अच्छी स्किन के लिए भी ज़रूरी है. लेकिन यह भी ध्यान रखें कि सभी की स्किन अलग होती है. ऐसे में हर स्किन टाइप के लिए ब्यूटी डायट भी अलग ही होगी. हम यहां स्किन टाइप के अनुसार ब्यूटी डायट की चर्चा कर रहे हैं, जिसे अपनाकर आप भी अपनी स्किन की बेहतर देखभाल कर सकेंगी.

ड्राई स्किन

– मॉइश्‍चर की कमी के चलते ड्राई स्किन पर मौसम का असर भी जल्दी होता है.

– त्वचा हमेशा खिंची-खिंची रहती है और लिप्स भी ड्राई रहते हैं.

– ऐसे में सबसे ज़रूरी है पानी. जी हां, भरपूर पानी पीने से आप हाइड्रेटेड रहेंगी, जिसका सीधा असर आपकी स्किन पर नज़र आएगा.

– अपने दिन की शुरुआत करें गुनगुने पानी में आधे नींबू के रस से. इससे शरीर के विषैले तत्व निकल जाएंगे और आपको मिलेगी ग्लोइंग स्किन.

– ऐसे फल और सब्ज़ियां खाएं, जिनमें पानी की मात्रा अधिक हो, जैसे- ककड़ी, तरबूज़, सेलरी, सलाद के पत्ते, टमाटर आदि. इनके नियमित सेवन से आपको ज़रूरी मिनरल्स और विटामिन्स भी मिलेंगे.

– गुड फैट्स भरपूर मात्रा में लें. ओमेगा-3 फैटी एसिड्स मॉइश्‍चर प्रदान करता है. इसके लिए आप ऑयली फिश, एवोकैडोज़, फ्लैक्ससीड्स, नारियल का तेल और नट्स ले सकती हैं.

– अगर स्किन क्रैक्ड और फ्लेकी लगे, तो स्किन को रिपेयर करनेवाले फूड पर ध्यान दें. ज़िंक से भरपूर आहार त्वचा को हील और टिश्यूज़ को रिपेयर करते हैं, जैसे- ऑयस्टर, कद्दू के बीज, सी फूड, बीन्स और दालें.

अवॉइड करें: अल्कोहल, कैफीन और शुगर, क्योंकि ये स्किन को डीहाइड्रेट करते हैं.

ऑयली स्किन

– विटामिन बी6 के मुख्य स्रोत हैं- साबूत अनाज, टूना, सालमन मछली, पालक, शिमला मिर्च, ब्रोकोली, असपैरागस, नट्स और लहसुन.

– सीबम के अधिक रिसाव के कारण त्वचा पर ऑयल और शाइन नज़र आता है, ख़ासतौर से टी-ज़ोन पर.

– ऑयली स्किनवाली महिलाओं को मुंहासों की भी समस्या अधिक होती है.

– आप विटामिन बी6 से भरपूर डायट लें, क्योंकि यह सीबम को कंट्रोल करता है यानी सीबम के निर्माण को कम करता है.

– लैसिथिन भी फैट सेल्स को ब्रेक करके रोमछिद्रों में जमा तेल और ऑयल के अतिरिक्त निर्माण को नियंत्रित करता है. लैसिथिन के प्रमुख स्रोत हैं- अंडा, बीज, फलियां, फूलगोभी, सोयाबीन्स.

अवॉइड करें: फ्राइड और फास्ट फूड्स, क्योंकि अधिकतर फास्ट फूड्स हाइड्रोजनेटेड वेजीटेबल ऑयल का इस्तेमाल करते हैं, जो रोमछिद्रों को बंद करके फ्री रेडिकल्स को बढ़ाते हैं. इसके अलावा प्रोसेस्ड फूड भी अवॉइड करें, क्योंकि इनमें प्रिज़र्वेटिव्स और शुगर की अधिक मात्रा होती है.

1

सेंसिटिव स्किन

– रैशेज़, ड्राईनेस, जलन, लालिमा, खुजली आदि सेंसिटिव स्किन की निशानी है.

– अमीनो एसिड्स और फैटी एसिड्स सेल्स रिन्यू करके सेंसिटिविटी को कंट्रोल करते हैं.

– सुबह अपने जूस या स्मूदी में इन्हें शामिल करें और कोशिश करें कि उन्हें अपने नेचुरल फॉर्म में लें.

अवॉइड करें: रेड मीट, कैफीन, सॉफ्ट ड्रिंक्स, अल्कोहल और स्पाइसी फूड. मोनोसोडियम ग्लूटामेट और इसके रिप्लेसमेंट्स, कलर्स, फ्लेवर्स और प्रिज़र्वेटिव्स को भी अवॉइड करें.

हेल्दी स्किन के लिए बेस्ट सुपर फूड्स

– ब्लूबेरीज़ नंबर वन फूड माना जाता है एंटीऑक्सीडेंट्स के मामले में. यह एजिंग प्रोसेस को कम करता है.

– वाइल्ड सालमन में सेलेनियम होता है, जो त्वचा का धूप से बचाव करता है. इसके अलावा सालमन में मौजूद विटामिन डी आपकी हड्डियों और दांतों को भी मज़बूती प्रदान करता है.

– पालक में मौजूद लूटीन आंखों को हेल्दी और शाइनी रखता है. पालक में विटामिन बी, सी, ई, पोटैशियम, कैल्शियम, आयरन, मैग्निशियम, ओमैगा 3 फैटी एसिड, एंटीऑक्सीडेंट्स और कई पोषक तत्व होते हैं, जो स्किन को ग्लोइंग और हेल्दी रखते हैं.

– ऑयस्टर्स में मौजूद ज़िंक सेल्स के निर्माण व रिपेयर को तेज़ करता है. इसके अलावा यह नाख़ून, बाल और आंखों को भी हेल्दी
बनाता है.

– टमाटर एंटीएजिंग एंटीऑक्सीडेंट- लाइकोपीन का बेहतरीन स्रोत है. पकने के बाद या प्रोसेस्ड टोमैटोज़ में भी लाइकोपीन नष्ट नहीं होता और हमारे शरीर द्वारा आसानी से एब्ज़ॉर्ब कर लिया जाता है.

– अखरोट विटामिन ई और ओमेगा 3 फैटी एसिड्स से भरपूर है. यह स्मूद स्किन, शाइनी हेयर, ब्राइट आईज़ और हेल्दी बोन्स देता है. मुट्ठीभर अखरोट अपने डायट में शामिल करें.

– कीवि फ्रूट विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट्स का अच्छा स्रोत है. यह झुर्रियों से बचाव करता है और त्वचा में कसाव लाता है.

– डार्क चॉकलेट स्किन को हाइड्रेटेड रखने में मदद करता है और धूप से भी बचाव करता है.

– दही कैल्शियम से भरपूर होता है और यह स्किन, दांत व नाख़ूनों को हेल्दी व शाइनी बनाता है.

– स्वीट पोटैटो में बीटा-कैरोटीन होता है, जो एक एंटीऑक्सीडेंट है और एजिंग प्रोसेस को धीमा करता है.

मुंहासोंवाली स्किन के लिए डायट

– जितना अधिक आपकी बॉडी अंदर से क्लीन होगी, उतनी ही आपकी स्किन भी क्लीन होगी.

– लिवर, पेट और आंतों को क्लीन रखने के लिए हाई फाइबरयुक्त फूड लें.

– सेब में पेक्टिन होता है. यह एक कार्बोहाइड्रेट कंपाउंड होता है, जो पेट के टॉक्सिन्स को बाहर निकालता है और आंतों को भी मज़बूत बनाता है.

– गाजर और सेलरी विटामिन सी से भरपूर होते हैं, जो त्वचा को क्लीन लुक देते हैं.

– ताज़े नींबू का रस पानी में मिलाकर सुबह पीएं. इससे सिस्टम क्लीन होता है.

मैच्योर स्किन के लिए डायट

– प्रोटीन से भरपूर आहार लें, जैसे- नट्स और ओट्स. ये ओमेगा 3 फैटी एसिड और फाइबर से भी भरपूर होते है, जो त्वचा को लूज़ होने से बचाते हैं.

– फिश बहुत ही हेल्दी होती है. आप सालमन फिश लें, जो एजिंग के प्रोसेस को धीमा करती है.

– कमलेश शर्मा

ब्यूटी जूस (Beauty Juice)

Beauty Juice

स्मूद और शाइनी स्किन के लिए सब्ज़ियों व फलों का जूस बहुत फ़ायदेमंद होता है. सब्ज़ियों के जूस में एंज़ाइम्स और मिनरल्स दोनों पाए जाते हैं, जो नाख़ून, बाल व स्किन को पूरा पोषण देतेे हैं. डायट में जूस को शामिल करते समय इन बातों का ख़्याल रखेंः

  • जूस निकालने के लिए जूसर की बजाय मिक्सर का इस्तेमाल करें.
  • सब्ज़ियों का रस निकालते समय गूदे को रस से अलग न करें. हमेशा थोड़ा पानी मिलाकर ही सब्ज़ियों का जूस बनाएं.
  • जूस बनाने के बाद 15 मिनट के भीतर ही उसका सेवन करें.
  • जूस पीते समय गूदे को अच्छी तरह चबाएं.
  • खाना खाने के बाद जूस न पीएं. खाली पेट ही जूस का सेवन करें.
  • जूस पीते समय हमेशा उसमें नींबू का रस मिलाएं.

ग्लोइंग और हेल्दी स्किन के लिए प्रतिदिन इन फलों का जूस पीएं.

1 एप्पल जूस
2 पपैया जूस
3 संतरे का जूस
4 अनार का जूस
5 कीवी जूस
6 लेमन जूस
7 बनाना जूस
8 एलोविरा जूस
9 स्ट्रॉबेरी जूस
10 सेलरी जूस

ट्राई करें ये हेल्दी जूस

एप्पल बेरी जूस

सामग्री

1/3 कप- स्ट्रॉबेरी

1 कप- ब्लूबेरी

1- एप्पल

विधि

एप्पल को छीलकर बीज निकाल लें, फिर तीनों को ब्लेंडर में पीसकर जूस बना लें. एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर स्टॉबेरी व ब्लूबेरी एंटी एजिंग का काम करता है.

कीवी पेर जूस

सामग्री

2- कीवी

3- पेर

1- एप्पल

विधि

कीवी को चाहें तो छील लें, एप्पल को छीलकर बीज निकाल लें. अब कीवी, पेर व एप्पल को एकसाथ ब्लेंड कर लें. ये जूस बहुत मीठा होता है.

स्ट्रॉबेरी ग्रेप्स ऑरेंज जूस

सामग्री

1 कप- स्ट्रॉबेरी

1 कप- अंगूर (काले वाले)

1- ऑरेंज

विधि

ऑरेंज को छील लें. फिर स्ट्रॉबेरी, अंगूर और ऑरेंज को मिक्सर में पीसकर जूस बनाएं.